आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   "ye aafat bahut bhaari hai"

मेरे अल्फाज़

"ये आफ़त बहुत भारी है"

saurav mishra

1 कविता

419 Views
सलाह मानो तो रहो अपने घरों में
ये आफ़त बहुत भारी है
नाम इसका कोरोना
ये बड़ी महामारी है
संक्रमण से है फैलता
ना जाति धर्म को देखता
इटली,चीन,अमेरिका जैसे
देशों की हालत बिगाड़ी है
नाम इसका कोरोना
ये बड़ी महामारी है।
अब भारत में घुसने
की इसकी तैयारी है
सभी को लड़ना है मिलकर
ये हम सब की जिम्मेदारी है
नाम इसका कोरोना
ये बड़ी महामारी है।

- हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!