आज का शब्द

219 Poems

                                                                           हिंदी हैं हम शब्द-श्रृंखला में आज का शब्द है वत्सल जिसका अर्थ है 1. संतान के प्रति उत्पन्न स्नेह या प्रेम का भाव 2. प्रेम। कवि गोपाल सिंह नेपाली ने अपनी कविता में इस शब्द का प्रयोग किया है। 

कितना कोमल,
कितना वत्सल,
...और पढ़ें
2 hours ago
                                                                           'कृतज्ञ' का अर्थ होता है- अपने साथ किया हुआ उपकार मानने वाला या एहसान मानने वाला। अमर उजाला 'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- कृतज्ञ। प्रस्तुत है हरिवंशराय बच्चन की कविता: क्या करूँ संवेदना लेकर तुम्हारी

क...और पढ़ें
1 day ago
                                                                           'धरा' का अर्थ होता है- पृथ्वी, जमीन या संसार। अमर उजाला 'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- धरा। प्रस्तुत है धर्मवीर भारती की कविता: थके हुए कलाकार से....

सृजन की थकन भूल जा देवता! 
अभी तो पड़ी है धराऔर पढ़ें
2 days ago
                                                                           धवल यानि- श्वेत या उजला,  इसका एक अर्थ निर्मल और सुंदर भी होता है। अमर उजाला 'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- धवल। प्रस्तुत है बाबा नागार्जुन की सुप्रसिद्ध कविता: बादल को घिरते देखा है

अमल धवल गिरि के शिखरों पर...और पढ़ें
3 days ago
                                                                           'शिखर' का अर्थ होता है- सिरा, चोटी, पहाड़ की चोटी, मंदिर या मकान ऊपर का नुकीला भाग, कंगूरा, कलश, मंडप, गुंबद, सर्वोच्च स्थान या पद। अमर उजाला 'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- शिखर। प्रस्तुत है त्रिलोक सिंह ठकुरेला की कव...और पढ़ें
                                                
4 days ago
                                                                           'वेदना' का अर्थ है उग्र या तीव्र, हार्दिक या मानसिक पीड़ा अथवा व्यथा। अमर उजाला 'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- वेदना। प्रस्तुत है जानकीवल्लभ शास्त्री की कविता: ज़िंदगी की कहानी

ज़िंदगी की कहानी रही अनकह...और पढ़ें
4 days ago
                                                                           रास्ता चलने वाले यात्री को बटोही कहते हैं।  दूसरे शब्दों में इसे पथिक भी कहते हैं। अमर उजाला 'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- बटोही। प्रस्तुत है बलबीर सिंह 'रंग' की कविता: मिलना तो मन का होता है

मिलना तो...और पढ़ें
6 days ago
                                                                           हिंदी हैं हम शब्द-श्रृंखला में आज का शब्द है 'देहरी' जिसका अर्थ है 1. द्वार की चौखट के नीचे लगने वाली लकड़ी या पत्थर जो ज़मीन पर रहती है 2. दहलीज़ 3. घर के मुख्य द्वार का बाहरी भाग। कवि सर्वेश्वरदयाल सक्सेना ने अपनी कविता में इस शब्द का प्रयो...और पढ़ें
                                                
6 days ago
                                                                           हिंदी हैं हम शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है नीर जिसका अर्थ पानी या जल से है। रवीन्द्र जैन अपने एक गीत में इस शब्द का प्रयोग यूं करते हैं। 

ऐ मेरे उदास मन
चल दोनों कहीं दूर चले
मेरे हमदम तेरी मंज़िल
ये नहीं ये नहीं...और पढ़ें
1 week ago
                                                                           हिंदी हैं हम शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है अस्ति जिसका अर्थ है  1. वर्तमान होने की अवस्था या भाव 2. सत्ता, विद्यमानता। कवि माखनलाल चतुर्वदी ने अपनी इस कविता में इस शब्द का प्रयोग किया है। 

गगन पर दो सितारे: एक तुम हो,
धरा पर द...और पढ़ें
1 week ago
X