विज्ञापन

एलडीए में ओटीएस पर ही बना हुआ संकट

Amarujala Local Bureauअमर उजाला लोकल ब्यूरो Updated Thu, 26 Mar 2020 07:21 PM IST
विज्ञापन
- फोटो : AMAR UJALA
ख़बर सुनें
एलडीए में ओटीएस पर ही बना हुआ संकट - आवेदन ऑफ़लाइन बन्द, ऑनलाइन पर हो नहीं रहा - तारीख बढ़ाने का प्रस्ताव भेजेगा एलडीए माई सिटी रिपोर्टर लखनऊ। कोरोना की वजह से बंद चल रहे एलडीए में डिफॉल्टर आवंटियों को एकमुश्त भुगतान की सुविधा पर संकट आ गया है। काउंटर बंद होने से जहां ऑफ लाइन आवेदन नहीं हो पा रहे हैं। वहीं ऑनलाइन की प्रक्रिया आसान नहीं होने की वजह से एलडीए को आवेदन नहीं मिल रहे हैं। एलडीए के वित्त नियंत्रक राजीव कुमार सिंह ने बताया कि एलडीए अगले आदेश बंद चल रहा है। ऐसे में ओटीएस के लिए आवेदन भी नहीं आ रहे हैं। इस योजना में सालों से पैसा नहीं जमा कर रहे आवंटियों को बिना जुर्माना साधारण ब्याज देकर भुगतान का मौका है। कोरोना का असर कम होने के बाद जब प्राधिकरण खुलेगा, उसके बाद इसकी अंतिम तारीख बढ़ाने के लिए एक प्रस्ताव भेजा जाएगा। यह मौजूद हालात को देखते हुए जरूरी है। 1200 डिफाल्टर, 50 से कम आवेदन एलडीए में सम्पत्ति का आवंटन होने के बाद पैसा जमा करने वालों की संख्या करीब 1200 है। वहीं अभी तक एलडीए को केवल 50 ही आवेदन मिले हैं। जिनमे से केवल दो आवेदन ऑनलाइन हो सके हैं। बाकी काउंटर पर ही एलडीए में जमा हुए।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us