मदरसा परिषद के नतीजे घोषित, 81.99 फीसदी छात्र पास, टॉपर्स को मिलेंगे 1 लाख रुपये और टैबलेट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Wed, 01 Jul 2020 09:09 PM IST
विज्ञापन
मदरसा
मदरसा - फोटो : Twitter

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद की वर्ष 2020 की परीक्षाओं के नतीजे में भी लड़कियों ने बाजी मारी। 84.42 फीसद लड़कियां तथा 79.86 फीसद लड़के उत्तीर्ण हुए। इन परीक्षाओं में कुल 81.99 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए। 
विज्ञापन

अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने बुधवार को प्राग नारायण रोड स्थित समाज कल्याण निदेशालय में मदरसा परिषद की परीक्षाओं का रिजल्ट घोषित किया। उन्होंने सेकंडरी (मुंशी/मौलवी), सीनियर सेकंडरी (आलिम), कामिल और फाजिल की परीक्षा में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले 10-10 टॉपर्स को एक लाख रुपये, टैबलेट, मेडल एवं प्रशस्ति पत्र दिए जाने की घोषणा की। सेकंडरी और सीनियर सेकंडरी के गणित व विज्ञान विषय में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को 51 हजार रुपये, एक टैबलेट, मेडल एवं प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया जाएगा। इसका खर्च मदरसा विकास निधि से वहन किया जाएगा। 
नंदी ने कहा कि ये परीक्षाएं 25 फरवरी से 5 मार्च के बीच 552 परीक्षा केंद्रों पर हुई थीं। इसमें कुल 1,82,259 परीक्षार्थी शामिल हुए। इनमें 97,348 छात्र और 84,911 छात्राएं थीं। 1,38,241 संस्थागत और 44,017 व्यक्तिगत परीक्षार्थी के रूप में शामिल हुए। 41,207 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे और कुल 1,41,052 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। 1,15,650 परीक्षार्थी उत्तीर्ण और 25,402 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण हुए। मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के कारण मूल्यांकन कार्य प्रभावित हुआ। नतीजतन रिजल्ट घोषित करने में थोड़ी देरी हुई। इस मौके पर प्रमुख सचिव अल्पसंख्यक कल्याण मनोज सिंह, निदेशक जेपी सिंह, मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार आरपी सिंह मौजूद रहे।
एक हाथ में कुरान तो दूसरे में होगा लैपटॉप 
नंदी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संकल्प है कि मदरसे में पढ़ने वाले छात्र के एक हाथ में कुरान और दूसरे हाथ में लैपटॉप हो। हमारी प्रतिबद्धता है कि मदरसे में पढ़ने वाले छात्रों को मजहबी तालीम के साथ-साथ विज्ञान, तकनीक और आधुनिक विषयों की भी अच्छी जानकारी हो, जिससे वे समाज की मुख्य धारा में शामिल हो सकें। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में हमारी सरकार मदरसों के आधुनिकीकरण और इनमें पढ़ने वाले छात्रों को श्रेष्ठ शिक्षा व संसाधन मुहैया कराने के हरसंभव प्रयास कर रही है। 

इन्होंने किया टॉप
मुंशी मौलवी परीक्षा में कानपुर नगर के एमयू कैफ  खान ने 89.42 फीसद अंक हासिल कर प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया। दूसरे नंबर पर रहीं बस्ती की हसीना खातून को 88.50 फीसद अंक मिले। 88.17 फीसद अंक के साथ कासगंज के गुलशन तीसरे नंबर पर रहे। आलिम की परीक्षा में 96.80 फीसद अंक के साथ रायबरेली के मोहम्मद नईम और अमेठी की शबनूर ने प्रदेश में टॉप किया। 92 फीसद के साथ शाहजहांपुर के मोहम्मद राशिद दूसरे नंबर पर रहे। कामिल की परीक्षा में बदायूं के मोहम्मद अदील खान 83.06 फीसद अंक हासिल कर पहले स्थान पर रहे। 82.94 फीसद अंक के साथ कन्नौज की जस्मीन बानो और मोहम्मद अफजाल दूसरे स्थान पर रहे। फाजिल में बदायूं के सलीम अख्तर 83.75 अंक लेकर पहले स्थान पर और रामपुर के मोहम्मद शाकिर 83.25 फीसद अंक के साथ दूसरे नंबर पर रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us