विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

देश के पहले कर्नल 'जैग' कपल बन लखनऊ का नाम रोशन करेंगे अनु-अमित, बधाई देने वालों का लगा तांता

लेफ्टिनेंट कर्नल अनु डोगरा जल्द कर्नल बन जाएंगी। इसके बाद वह और उनके पति लखनऊ के डालीगंज निवासी कर्नल अमित कुमार देश की सशस्त्र सेनाओं के पहले कर्नल ज...

5 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

लखनऊ

मंगलवार, 31 मार्च 2020

बसपा नेता सतीश मिश्रा सांसद निधि से देंगे एक करोड़, वक्फ राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने 50 लाख दिए

मजदूरों पर दवा का छिड़काव निंदनीय, तुरंत ध्यान दे सरकार: मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बरेली में प्रवासी मजदूरों पर दवा का छिड़काव किए जाने की निंदा की है। उन्होंने लगातार किए दो ट्वीट में कहा है कि यह अमानवीय है। सरकार को इस पर तुरंत ध्यान देना चाहिए।

मायावती ने कहा कि बेहतर होता कि केंद्र सरकार राज्यों के बॉर्डर सील कर हजारों प्रवासी मजदूरों के परिवारों को बेसहारा भूखा-प्यासा छोड़ने के बजाय दो-चार विशेष ट्रेनें चलाकर उनके घर तक जाने की मजबूरी को थोड़ा आसान कर देती।



... और पढ़ें

लखनऊः बीटेक छात्र ने फांसी लगा दी जान, ये थी वजह

लखनऊ के मड़ियांव के रपरा गांव निवासी सचिन यादव (22) ने फांसी लगा ली। प्रभारी निरीक्षक के मुताबिक, कालिका प्रसाद का बेटा सचिन तेलीबाग में अपने मामा गणेश के पास रहकर बीटेक की पढ़ाई कर रहा था।

वह एक निजी संस्थान से बीटेक द्वितीय वर्ष का छात्र था। शनिवार शाम को सचिन बीमार पिता की दवा लेकर आ रहा था। आरोप है कि रास्ते में अवध चौराहे पर पुलिस ने रोका व कार्ड न होने के कारण उसे मारापीटा।

उसके हाथ में चोट लग गई। वह पट्टी बांधकर घर पहुंचा। परिवारीजनों को मामले की जानकारी दी। पुलिस की पिटाई से वह डिप्रेशन में था, सीधे कमरे में चला गया। रात को छोटा भाई विपिन बुलाने गया तो कमरे में उसने क्रेप बैंडेज का फंदा बनाकर पंखे के कुंडे से फांसी लगा ली थी। 
... और पढ़ें

राममंदिर के भूमि पूजन पर कोरोना का साया, ट्रस्ट के महामंत्री बोले, मंदिर निर्माण के लिए करना होगा इंतजार

श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम अप्रैल के अंत में आयोजित होना था, लेकिन इस पर भी कोरोना ने ग्रहण लगा दिया है। ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने कहा कि अब भूमि पूजन कार्यक्रम कोरोना के नियंत्रण पर निर्भर करेगा।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महामंत्री चंपत राय ने कहा कि उनकी तैयारी थी कि अप्रैल के अंत में मंदिर के भूमि पूजन का कार्यक्रम आयोजित किया जाए। लेकिन आज देश में जो रोग फैला है, उस पर नियंत्रण कैसा है, कार्यक्रम का आयोजन इस पर निर्भर करेगा। उन्होंने कहा, ‘हम इसकी अनदेखी नहीं कर सकते। समाज और जनसामान्य का जीवन बहुत महत्वपूर्ण है।’ 

भूमि पूजन के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक के भी मौजूद रहने की संभावना है लेकिन, इस बारे में अंतिम निर्णय कोरोना महामारी की स्थिति को ध्यान में रख कर लिया जाएगा। 

चंपत राय ने कहा कि किसी भी कार्यक्रम के बारे में सोचना उचित नहीं है। देश प्राणघातक महामारी से जूझ रहा है। इस पर विजय प्राप्त करना पहली प्राथमिकता है। इस पर विजय प्राप्त कर लिया तो दुनिया के लिए भारत आइडियल होगा। 

उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कोविड-19 के खिलाफ भारत के एक्शन की दुनिया तारीफ करेगी। पीएम मोदी ने जिस तरह इस महामारी पर हल्ला बोला है। यदि दुनिया के बड़े महाशक्ति देश व अमेरिका प्रारंभ से ऐसा करते तो वह अपने लोगो की रक्षा ठीक से कर पाते। पीएम मोदी ने अपने समाज की रक्षा योग्य नीति से की है।
... और पढ़ें
चंपत राय चंपत राय

यूपी की सभी सीमाएं सील, जो जहां हैं उसे वहीं मदद दिलाएगी सरकार, अफसरों को दिए निर्देश

केंद्र सरकार के निर्देश पर प्रदेश सरकार ने राज्य की सभी सीमाएं सील कर दी हैं। मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने अधिकारियों से कहा है कि जो जहां है, वहीं उसे आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराएं। तिवारी सोमवार को कोविड-19 के संबंध में अन्य राज्यों में रह रहे प्रदेश के लोगों की मदद के लिए नामित नोडल अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे।

मुख्य सचिव ने कहा कि फोन कॉल पर घर वापस आने का अनुरोध किए जाने पर उन्हें विनम्रतापूर्वक समझाया जाए कि केंद्र सरकार के निर्देशानुसार यूपी का बॉर्डर सील कर दिया गया है। ऐसे में जो जहां हो, वह वहीं रुके, तभी लॉकडाउन का मकसद सफल होगा। यात्रा के अलावा उनकी हर समस्या का समाधान उसी स्थान पर करा दिया जाएगा।

उन्हें यह भी बताएं कि केंद्र सरकार के निर्देशानुसार लॉकडाउन की वजह से काम पर न जाने तथा वर्क फ्रॉम होम की दशा में उनको वेतन और मजदूरी भी दी जाएगी। मकान मालिक किराया भी नहीं लेगा। अन्य राज्यों के यूपी में रह रहे लोगों की भी हरसंभव सहायता की जाए।
... और पढ़ें

रसायुक्त पानी से लोगों को सैनिटाइज करने पर अखिलेश यादव ने उठाए सवाल, जिलाधिकारी ने लिया एक्शन

स्कूलों में क्वारंटीन किए गए लोग
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बरेली में लोगों को सड़क पर बैठाकर और उन्हें सैनिटाइज करने के लिए उन पर रसायुक्त पानी का इस्तेमाल करने को लेकर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। हालांकि, बरेली के जिलाधिकारी ने इसे फायर ब्रिगेड और नगर निगम की 'अतिसक्रियता' बताते हुए गलती स्वीकार की है।

जिलाधिकारी ने कहा कि मामले की पड़ताल की जा रही है। प्रभावित लोगों का चीफ मेडिकल ऑफिसर बरेली की देखरेख में इलाज किया जा रहा है। संबंधित लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इसके पहले अखिलेश यादव ने ट्वीट कर सवाल उठाए कि
- क्या इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन के निर्देश हैं?
- केमिकल से हो रही जलन का क्या इलाज है?
- भीगे लोगों के कपड़े बदलने की क्या व्यवस्था है?
- साथ में भीगे खाने के सामान की क्या वैकल्पिक व्यवस्था है?

बता दें कि ये सभी यात्री दिल्ली से बरेली पहुंचे थे जिन्हें सैनिटाइज करने के लिए नगर निगम व फायर ब्रिगेड की टीमों ने उन पर केमिकलयुक्त पानी की बौछार कर दी।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: बुजुर्ग ने फोन कर पुलिस से कहा, मेरा शुगर लो है रसगुल्ला उपलब्ध करा दीजिए, फौरन मिली मदद

लॉकडाउन की घोषणा के बाद एक तरफ जहां पूरा देश कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए घरों में बैठा है। वहीं, पुलिस-प्रशासन अपनी तरफ से हरसंभव कोशिश कर रहा है कि आम लोगों को मुश्किल न हो। उन्हें आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति हर हाल में की जाए।

रविवार को इसका नजारा लखनऊ के हजरतगंज में देखने को मिला। हजरतगंज इंस्पेक्टर संतोष कुमार सिंह के सीयूजी पर एक कॉल आई। कॉल करने वाले 88 साल के आरसी केसरवानी थे।

उन्होंने कहा कि वह शुगर के मरीज हैं। उनका शुगर लेवल काफी कम हो गया है। परिवार में कोई नहीं है। बहू व बेटा अमेरिका में रहते हैं। बुजुर्ग ने कहा कि संकोच हो रहा है लेकिन मजबूर हूं। अगर आप रसगुल्ला उपलब्ध करा दें तो उनकी जिंदगी बच जाएगी।

इंस्पेक्टर ने तत्काल नरही चौकी प्रभारी भूपेंद्र सिंह को बुजुर्ग की डिमांड के बारे मे बताया। आनन-फानन में मिठाई की दुकान खुलवाकर रसगुल्ला मंगाया गया। इंस्पेक्टर व चौकी प्रभारी दोनों बुजुर्ग के फ्लैट पर गये। वहां उसे रसगुल्ला खिलाया फिर शुगर लेवल की जांच कराई।
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री योगी का अफसरों को निर्देश, प्रदेश के हर हिस्से में जरूरतमंद तक भोजन व पानी पहुंचाएं

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लॉकडाउन के बाद लोगों के मदद के लिए बनाई गई टीम 11 के अफसरों के साथ बैठक की और उन्हें प्रदेश के हर कोने में जरूरतमंदों की मदद करने के निर्देश दिए।

- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के हर हिस्से में हर ज़रूरतमंद तक भोजन और शुद्ध जल हर हाल में पहुँचे।

- मुख्यमंत्री ने कहा कि बड़े शहरों की पुलिस लाइन में कम से कम 2 हज़ार पैकेट और छोटे शहर की पुलिस लाइन कम से कम एक हज़ार पैकेट भोजन तैयार करवाकर जिला प्रशासन के सहयोग से बँटवाने का प्रयास करें।

- उन्होंने यह भी कहा कि इमरजेंसी सेवाओं में जो भी डॉक्टर पैरामेडिकल स्टाफ़ पुलिसकर्मी लगे हैं उनके स्वास्थ्य की हिफ़ाज़त का पूरा ध्यान रखा जाए। उनकी सुविधाओं का भी पूरा ध्यान रखा जाए साथ ही उनकी आवश्यक ज़रूरतों की भी चिंता करते रहा जाए।

- उन्होंने कहा कि हर कर्मचारी, संविदा कर्मी, चिकित्साकर्मियों, एम्बुलेंसकर्मियों, सफ़ाई कर्मियों, पुलिसकर्मियों आदि का वेतन बिलकुल समय से उनके खातों में पहुँच जाए, साथ ही किसी भी तरह के सरकारी निर्माण कार्यों में योगदान देने वाले श्रमिकों को भी हर हाल में सारा भुगतान सुनिश्चित करा लिया जाए।
... और पढ़ें

यूपी में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 81, सरकार का आदेश, बाहर से आने वालों को रखा जाएगा क्वारंटीन में

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर देश में लगातार बढ़ता जा रहा है। यूपी में संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। रविवार को भी पांच संक्रमित मरीज मिले। प्रदेश में अब तक 81 लोग पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं गौतमबुद्धनगर में अब तक सबसे ज्यादा कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति मिले हैं, यहां संक्रमितों की संख्या 32 हो गई है।
 

इस बीच लॉकडाउन के दौरान विभिन्न प्रदेशों से यूपी आ रहे सभी लोगों को क्वारंटीन करने का निर्देश दिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर मुख्य सचिव ने सभी जिलों के डीएम, पुलिस आयुक्त व पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिया है कि ऐसे व्यक्तियों को सीधे उनके घर ले जाने के बजाय धर्मशालाओं, हॉस्टलों इत्यादि में क्वारंटीन करने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। वहीं, उनका चिकित्सीय परीक्षण किया जाय और खान-पान की भी व्यवस्था की जाय।

मुख्यमंत्री ने सभी डीएम-एसएसपी तथा सीएमओ को आपस में संवाद बनाकर कोरोना नियंत्रण पर प्रभावी कार्रवाई कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने पिछले तीन दिनों में आए लोगों चिह्नित कर स्वास्थ्य परीक्षण के बाद होम क्वारंटीन के भी निर्देश दिए। उन्होंने नोडल अफसरों से कहा कि वे विभिन्न राज्यों में रह रहे यूपी के लोगों को लॉकडाउन के दौरान वहीं रोकें।

उन्हें बताएं कि इसी में सभी की सुरक्षा व भलाई है। उन्होंने अफसरों को संबंधित राज्यों से समन्वय कर यूपी के लोगों के रहने-खाने की व्यवस्था कराने को कहा। कोई समस्या होने पर यूपी सरकार खुद व्यवस्था करेगी।

मकान मालिक दिहाड़ी मजदूरों से न लें एक माह का किराया
मुख्यमंत्री ने मकान मालिकों से दिहाड़ी मजदूरों तथा दैनिक वेतन भोगी कर्मियों से एक माह का किराया न लेने की अपील की है। अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बिजली व पानी का कनेक्शन एक माह तक न काटा जाए और आपूर्ति सुनिश्चित की जाए।

यह भी दिए निर्देश
- प्रदेश में आइसोलेशन वार्ड बढ़ाएं, आर्मी अस्पताल को जोड़ें
- सेवानिवृत चिकित्सकों की सेवा लेने का दिया निर्देश
... और पढ़ें

लखनऊ यूनिवर्सिटीः ई-कंटेंट के बाद अब ऑनलाइन पढ़ाई की शुरुआत, शिक्षकों ने संभाली सिलेबस पूरा कराने की जिम्मेदारी

लखनऊ विश्वविद्यालय में ई-कंटेंट तैयार होने का असर अब पढ़ाई पर भी नजर आने लगा है। काफी शिक्षकों ने ई-कंटेंट अपलोड करने के साथ ही ऑनलाइन क्लास लेनी भी शुरू कर दी हैं।

शिक्षकों ने वाट्सएप ग्रुप पर सवाल पूछने और जवाब देने का सिलसिला पहले ही शुरू कर दिया था। ऑनलाइन क्लास से छात्रों को वास्तविक कक्षा में होने का आभास होता है।

लविवि प्रवक्ता डॉ. दुर्गेश श्रीवास्तव ने बताया कि बायोकेमिस्ट्री विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. सुधीर मेहरोत्रा ने रविवार को भी अपनी कक्षाएं पढ़ाना जारी रखा। रविवार को उन्होंने इनवॉयरमेंटल साइंस की क्लास ली।

इसी तरह इसी विभाग के शिक्षक प्रो. आरके मिश्रा ने भी विद्यार्थियों की समस्याओं का ऑनलाइन समाधान किया। ये शिक्षक विद्यार्थियों से निर्धारित समय अवधि के दौरान जूम सॉफ्टवेयर पर भी जुड़ते हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us