बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
गुरुवार को इन चार राशियों की चमकेगी किस्मत, ग्रह-नक्षत्र दे रहे हैं संकेत
Myjyotish

गुरुवार को इन चार राशियों की चमकेगी किस्मत, ग्रह-नक्षत्र दे रहे हैं संकेत

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अयोध्या: समाजसेवी बने कोतवाल ने तिहुरा मांझा गांव लिया गोद, शिक्षा, स्वास्थ्य सहित इन मुद्दों पर होगा काम

कोरोना काल में अभाव की जिंदगी जी रहे ग्रामीणों की मदद करने के लिए अयोध्या कोतवाल अशोक सिंह आगे आए हैं। उन्होंने मानवता का फर्ज निभाते हुए कोतवाली क्षे...

12 जून 2021

विज्ञापन
Digital Edition

यूपी चुनाव 2022: मायावती बोलीं- सपा की हालत खराब, प्रभावहीन नेताओं को शामिल कर रहे पार्टी में

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बसपा विधायकों के सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात करने को लेकर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सपा की हालत इतनी खराब हो चुकी है कि सपा दूसरी पार्टी से निष्कासित और प्रभावहीन हो चुके लोगों को अपनी पार्टी में शामिल करवा रही है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि सपा की हालत इतनी ज्यादा खराब हो गई है कि अब आएदिन मीडिया में बने रहने के लिए दूसरी पार्टी से निष्कासित व अपने क्षेत्र में प्रभावहीन हो चुके पूर्व विधायकों व छोटे-छोटे कार्यकर्ताओं आदि तक को भी सपा मुखिया को उन्हें कई-कई बार खुद पार्टी में शामिल कराना पड़ रहा है।

ऐसा लगता है कि सपा मुखिया को अब अपने स्थानीय नेताओं पर भरोसा नहीं रहा है, जबकि अन्य पार्टियों के साथ-साथ खासकर सपा के ऐसे लोगों की छानबीन करके उनमें से केवल सही लोगों को बीएसपी के स्थानीय नेता आए दिन बीएसपी में शामिल कराते रहते है, जो यह सर्वविदित है।





बता दें कि बीते दिनों बसपा के कई विधायकों ने सपा में शामिल होने को लेकर अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। वहीं, युपी चुनाव को लेकर सपा में शामिल होने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है।
... और पढ़ें
बसपा सुप्रीमो मायावती। बसपा सुप्रीमो मायावती।

खुशखबरी: 53 हजार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की भर्ती प्रक्रिया शुरू, 28 जिलों ने जारी किया विज्ञापन

उत्तर प्रदेश में आंगनबाड़ी, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं के रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू हो गई है। अब तक 28 जिलों ने इसके लिए विज्ञापन जारी कर दिया है।  प्रदेश के सभी 75 जिलों में तीनों श्रेणी के लगभग 53 हजार पदों पर भर्ती होनी है। तीन जुलाई तक सभी जिलों को विज्ञापन जारी करने के निर्देश दिए गए हैं।

गौरतलब है कि पिछले 10-12 साल से आंगनबाड़ी व सहायिकाओं के पदों पर भर्ती नहीं हो पाई है। इससे प्रदेश के सभी जिलों में तीनों श्रेणी के लगभग 53 हजार से अधिक पद रिक्त हैं। राज्य सरकार ने चुनावी साल को देखते हुए सभी जिलों में आंगनबाड़ी के रिक्त पदों पर भर्ती करने का निर्देश दिया था।

इसके मद्देनजर बाल विकास विभाग ने 29 जनवरी को ही भर्ती की प्रक्रिया का निर्धारण करते हुए चयन समिति का गठन कर दिया था। साथ ही सभी जिलों को आनलाइन आवेदन के लिए प्रारूप भी उपलब्ध कराए गए थे। लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से भर्ती प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई थी।
... और पढ़ें

कोरोना से जंग: योगी बोले- लापरवाही बन सकती है चुनौती, ट्रेसिंग, टेस्टिंग व ट्रीटमेंट में न हो ढिलाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में कोविड संक्रमण कम हुआ है, खत्म नहीं हुआ है। ऐसे में किसी स्तर पर लापरवाही चुनौती बन सकती है। इसलिए संक्रमितों की ट्रेसिंग, टेस्टिंग व ट्रीटमेंट में कोई ढिलाई नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने ये निर्देश बुधवार को टीम-9 की समीक्षा बैठक में दिए। उन्होंने कहा कि पहले की तरह ज्यादा से ज्यादा लोगों की कोविड जांच होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि बाजारों व अन्य सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ एकत्र न होने पाए। इसके लिए प्रभावी प्रयास किए जाएं। आवागमन को सुचारु बनाए रखने के साथ ही कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराने के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम का प्रयोग किया जाए।

उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर के प्रति पूरी तौर पर सजगता रखनी होगी। घर-घर मेडिकल किट वितरण का विशेष अभियान शुरू किया गया है। वहीं, प्रदेश में टीकाकरण लगातार बढ़ाया जा रहा है। जून में एक करोड़ टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था, जिसे महज 14 दिन में पूरा कर लिया गया है। इस तरह प्रदेश में अब तक 2.38 करोड़ से अधिक डोज दी जा चुकी है। बीते 24 घंटे में 4,08,731 लोगों ने वैक्सीन लगाई गई। अगस्त महीने  के अंत तक 10 करोड़ लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि टीकाकरण में यूपी ने महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, राजस्थान और केरल को पीछे छोड़ दिया है। अगले चरण में गांवों में टीकाकरण महाअभियान चलाया जाएगा। उन्होंने इस अभियान की तैयारी की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि यूपी में पिछले 24 घंटों में 14 नए ऑक्सीजन प्लांट शुरू किए गए। जबकि 436 स्वीकृत ऑक्सीजन प्लांट में से 100 पहले ही स्थापित किए जा चुके हैं।
... और पढ़ें

चेतावनी: प्री मानसून बारिश से भीगेगा पश्चिमी यूपी, भारी बरसात के लिए रहें तैयार

बाराबंकी, शाहजहांपुर, गोरखपुर, वाराणसी समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश को भिगो रहा मानसून बुधवार को भी वहीं ठहरा रहा। मौसम विभाग का कहना है कि फिलहाल इसके आगे बढ़ने के संकेत नहीं मिले।

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र से जारी मौसम बुलेटिन में पूर्वी उत्तर प्रदेश में बृहस्पतिवार को भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। जबकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों को प्री-मानसूनी बौछारें भिगोतीं रहेंगी। गोरखपुर में बुधवार को 8.7 मिमी और बलिया में 12.2 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई है।

वहीं, लखनऊ में मानसून के इंतजार में मौसम कई रंग दिखा रहा है। तेज धूप और उमस परेशान कर रही है तो कभी बादल और हवा मौसम सुहाना बना रही है। बुधवार दोपहर को थोड़ी धूप रही, लेकिन शाम से पहले बादलों ने डेरा डाला और 30 किमी के करीब की रफ्तार से चली हवा ने पारे के तेवर ढीले कर दिए।

मौसम विभाग ने कुछ इलाकों में .2 मिमी की बारिश भी रिकॉर्ड की है। मौसम बुलेटिन के मुताबिक बृहस्पतिवार को बूंदाबांदी के आसार हैं। पारा 33 और 27 डिग्री के आसपास रहेगा।

वहीं, बुधवार को दिन का अधिकतम तापमान 35.5 और न्यूनतम 26.5 डिग्री सेल्सियस रहा। आर्द्रता 95 प्रतिशत रही। आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के निदेशक जेपी गुप्ता के मुताबिक, मानसून जहां रुका था, अभी वहीं है। ऐेसे में इसके लखनऊ पहुंचने के लिए इंतजार करना पड़ेगा।
... और पढ़ें

अयोध्या: अविमुक्तेश्वरानंद बोले- ट्रस्ट पर लगे घोटाले के आरोप की निष्पक्ष जांच हो, तब तक हटाए जाएं चंपत राय

प्रतीकात्मक तस्वीर
रामालय ट्रस्ट के अविमुक्तेश्वरानंद बुधवार को अयोध्या पहुंचे। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि राममंदिर के लिए आए पैसे से ट्रस्ट जमीन व मंदिर खरीद रहा है। मंदिर के पैसे से भ्रष्टाचार किया जा रहा है। ट्रस्ट पर लगे घोटाले के आरोप की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। जब तक जांच होती है तब तक केंद्र सरकार रिसीवर नियुक्त करे या फिर ट्रस्ट के अध्यक्ष को अधिकार दे। इसके साथ ही घोटाले के आरोपी ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय व ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र को पद से हटाया जाए।

अयोध्या के बाग बिजेशी में 1.20 हेक्टेयर भूमि खरीददारी को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने ट्रस्ट पर दो करोड़ की भूमि पर 18.5 करोड़ खर्च करने का बड़ा आरोप लगाया है। अब इस मामले में रामालय ट्रस्ट भी सामने आ गया है।

रामालय ट्रस्ट के ट्रस्टी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए कई वर्षों से हमारे पूर्वज संघर्ष करते रहे हैं। सबकी इच्छा थी कि रामजन्मभूमि मुक्त हो, भव्य मंदिर बने यह कार्य शुरू भी हुआ तो बीच में राजनीतिक लोग आ गए हैं। यह ठीक नहीं है, हम लोग चाहते थे कि धर्म का कार्य है इसे धर्माचार्य ही करें। जिन संतों ने राममंदिर की लड़ाई लड़ी, उन्हें ट्रस्ट में शामिल नहीं किया गया, भूमिपूजन में भी आमंत्रित नहीं किया गया। उस पर भी हम लोगों ने संतोष किया कि कुछ कार्य आगे बढ़े। लेकिन अब मंदिर बनाने के लिए भक्तों से जो पैसा लिया गया है उससे भ्रष्टाचार किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जिनको ट्रस्ट में जगह दी गई, उनका कोई हक नहीं बनता था। मंदिरों को तोड़ने व खरीदने की जगह रामनगरी के मंदिरों का ट्रस्ट को जीर्णोद्धार कराना चाहिए। इस दौरान अधिवक्ता रणजीत लाल वर्मा, महंत जन्मेजय शरण भी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

यूपी चुनाव 2022: शिवपाल यादव ने भाजपा पर साधा निशाना, भतीजे अखिलेश के प्रति दिखाई हमदर्दी

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने भाजपा पर जमकर हमला बोला। महंगाई और किसानों के मुद्दे पर घेरते हुए जनविरोधी करार दिया। बसपा और कांग्रेस को फ्लाप बताया, लेकिन सपा के प्रति हमदर्दी साफ दिखी। मौका था प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का।

शिवपाल ने प्रदेश कार्यालय में चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं को लामबंद रहने का आह्वान किया। अपने राजनीतिक जीवन के अनुभव साझा करते हुए कहा शिवपाल ने कहा कि कि सत्ता तक पहुंचने के लिए संगठन को ताकतवर बनाना होगा। चुनाव लड़ने से पहले खुद का आकलन करें। चुनाव लड़ना बड़ी बात नहीं है बल्कि जनता का दिल जीतना जरूरी है। उन्होंने कहा कि संगठन की ताकत से चुनाव में 100 सीटें जीतने की स्थिति में होंगे तो सत्ता में मुंहमांगी भागीदारी मिलेगी।

शिवपाल सिंह ने कार्यकर्ताओं को बेवजह बयानबाजी से भी बचने की नसीहत दी। कांग्रेस और बसपा का नाम लिए बगैर इशारा किया कि जनता की बेकद्री करने का नतीजा सामने है। सपा के प्रति नरमी दिखाते हुए कहा कि उन लोगों के सत्ता में रहते वक्त ढेर सारे विकास कार्य हुए हैं। गठबंधन की बात चल रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से विमर्श करने के बाद समान विचारधारा वालों से गठबंधन होगा।

उन्होंने भाजपा को जनविरोधी करार दिया। कहा कि भाजपा सरकार ने बेरोजगारी बढ़ाई है। व्यापारी, किसान सहित हर वर्ग परेशान हैं। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष सुंदर लाल लोधी, शादाब फातिमा, शिव कुमार बेरिया, आदित्य यादव, दीपक मिश्रा, अभिषेक यादव आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

सनसनी: दिनदहाड़े नकाबपोश बदमाशों ने दुकान में घुसकर सर्राफा कारोबारी को मारी गोली, हालत गंभीर

लखनऊ के सरोजनीनगर के बिजनौर इलाके के सरवननगर में रहने वाले सर्राफा कारोबारी नरेंद्र कुमार यादव (45) को बुधवार शाम 4.30 बजे बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार दी। वारदात के वक्त वह दुकान के अंदर बैठे थे। स्थनीय लोगों के मुताबिक बदमाशों ने चार से पांच राउंड की फायरिंग की है। तीन गोली नरेंद्र को लगने की बात सामने आई है। बदमाशों ने मास्क से अपना चेहरा ढंक रखा था। वारदात को अंजाम देकर बदमाश बाइक से भाग निकले।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दिया है। वहीं, घायल कारोबारी को परिजनों ने सुशांत गोल्फ सिटी इलाके के एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया है। पुलिस का दावा है कि सीसीटीवी फुटेज में बदमाशों की साफ तस्वीर दिखी है। उसके आधार पर तलाश शुरू कर दी गई है। खुलासे के लिए चार टीमों को लगाया गया है।

सरोजनीनगर के बिजनौर इलाके में सरवन नगर निवासी नरेंद्र कुमार यादव ने तीन मंजिला भवन के नीचले हिस्से में एसएस ज्वेलर्स के नाम से दुकान खोल रखी है। दुकान करीब 6 महीने पहले खोला था। इसके साथ ही नरेंद्र मुकुंद रियल एस्टेट के नाम से प्रॉपर्टी का कारोबार भी करते हैं। दुकान के ऊपरी हिस्से में वह परिवार सहित रहते भी है।

बुधवार शाम करीब 4.30 बजे वह दुकान में अपनी पत्नी विनोद कुमारी के साथ बैठे थे। इसी बीच दो नकाबपोश बदमाश बेधड़क दुकान के अंदर घुसे। इस दौरान दुकान में मौजूद नौकर आकाश ने दोनों को बाहर जूता निकालकर आने को कहा लेकिन बदमाशों ने नौकर की बात अनसुना कर दिया और अंदर दाखिल हो गये।

दोनों के हाथ में थे असलहे
नौकर आकाश ने पुलिस को बताया कि दोनों बदमाशों के हाथ में असलहे थे। दुकान के अंदर दाखिल होते ही बदमाशों ने कारोबारी की पत्नी विनोद कुमारी को निशाना बनाते हुए फायर कर दिया। लेकिन वह काउंटर के पीछे बैठी थी और नीचे की तरफ झुक गई जिससे वह बच गई और गोली पीछे शीशे में जा धंसी। इसके बाद बदमाशों ने ताबड़तोड़ कई राउंड फायरिंग की। नरेंद्र कुछ समझ पाता तब तक उसे गोली लग चुकी थी। गोली नरेंद्र के सिर में जा धंसी। वह खून से लथपथ होकर जमीन पर गिर गया। गोली मारने के बाद बदमाश वहां से बंगला बाजार की तरफ बाइक से भाग निकले।
... और पढ़ें

कोरोना से जंग: यूपी के 16 जिलों में नहीं मिला एक भी संक्रमित, पॉजिटिविटी दर 0.1 और रिकवरी दर 98.3 प्रतिशत

उत्तर प्रदेश में कोविड वायरस का संक्रमण लगातार कम हो रहा है। बुधवार को 16 जिलों में एक भी संक्रमित नहीं मिला है। लखनऊ छोड़ अन्य सभी जिलों में एक्टिव केस तीन सौ से कम हो गए हैं। कुल एक्टिव केस 6496 हैं। वर्तमान में प्रदेश में पॉजिटिविटी दर 0.1 और रिकवरी दर 98.3 प्रतिशत है।

बीते 24 घंटे में दो लाख 86 हजार 396 सैंपल की जांच की गई। इनमें से 310 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस तरह प्रदेश भर में अब तक पांच करोड़ 41 लाख 45 हजार 947 सैंपल की जांच हो चुकी है।

बुधवार को नौ जिलों में 10 से अधिक, 50 जिलों में 10 से कम और 16 जिलों में एक भी मरीज नहीं मिला है। लखनऊ में 29, मेरठ में 22, गाजियाबाद में 17, वाराणसी व प्रयागराज में 16-16, रायबरेली में 12, बुलंदशहर में 9,  आगरा में 8, कानपुर में 7 और गौतमबुद्ध नगर में 6 संक्रमित मिले हैं।

प्रदेश भर में 50 संक्रमितों की मौत
बुधवार को 50 संक्रमित की मौत के साथ प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 21,963 हो गई है। हालांकि  50 जिलों में किसी भी संक्रमित की मौत नहीं हुई है। मरने वालों में लखनऊ में सर्वाधिक 10, शाहजहांपुर में 4, लखीमपुर खीरी, झांसी व गाजीपुर में 3-3 और सोनभद्र, गोरखपुर, कुशीनगर, अयोध्या, संतकबीरनगर में 2-2 मरीज शामिल हैं।
... और पढ़ें

यूपी : बीते 24 घंटे में सिर्फ 310 कोरोना केस मिले, 2.38 करोड़ लोगों का हो चुका है वैक्सीनेशन

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण लगातार कम हो रहा है। बीते 24 घंटे में कोरोना के 310 नए मरीज मिले हैं। अब प्रदेश में कुल छह हजार से भी कम एक्टिव केस हैं। बीते 24 घंटे में 2,83,000 कोविड सैंपल की जांच की गई। इस तरह अब तक पांच करोड़ से ज्यादा सैंपल की जांच हो चुकी है। अब तक यूपी में 2.38 करोड़ लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है। उधर, यूपी से आधी आबादी वाले महाराष्ट्र में कल 6900, तमिलनाडु में 14000 केस आए।

वहीं, टीम-9 के साथ बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेशवासियों को टीका-कवर प्रदान करने की प्रक्रिया और तेज करने की आवश्यकता है। ब्लॉक स्तर पर गांवों के अलग-अलग क्लस्टर बनाकर सघन टीकाकरण अभियान चलाया जाए। लोगों को ग्राम पंचायत भवन अथवा निकटतम सीएचसी पर ही वैक्सीनेशन की सुविधा दी जाए। जिस दिन टीकाकरण होना है, उस तिथि के बारे में लोगों को पहले से जानकारी हो।

उन्होंने कहा कि पढ़ाई, नौकरी अथवा खेल प्रतिस्पर्धाओं के कारण विदेश यात्रा पर जाने वाले ऐसे लोग, जिन्होंने कोविशील्ड वैक्सीन की पहली डोज प्राप्त कर ली है और 28 दिन का समय पूर्ण हो चुका है, वह दूसरी डोज लगवा सकते हैं। ऐसे लोगों के लिए जिला अस्पतालों में विशेष टीकाकरण बूथ बनाए जाएं। इनके प्रपत्रों की पड़ताल कर सुगमतापूर्वक टीकाकरण कराया जाए।

कोरोना महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों के भरण-पोषण व शिक्षा-दीक्षा के प्रबंधन के लिए प्रारंभ "मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना" में ₹4,000 मासिक सहायता राशि प्रॉप्त करने के लिए परिवार की न्यूनतम आय को ₹2 लाख से बढ़ाकर ₹3 लाख किया जाए। यही नहीं, यदि बच्चे की माता जीवित हैं तो उन्हें निराश्रित महिला पेंशन व अन्य पात्र योजनाओं से भी लाभान्वित कराया जाए।

उन्होंने कहा कि बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से घर-घर मेडिकल किट वितरण का विशेष अभियान शुरू हो गया है। जिलों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों के माध्यम से निगरानी समितियों को दवाइयों का पैकेट दिलाया जाए। लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा के प्रति जागरूक करें। अभियान के सुचारू क्रियान्वयन के लिए सतत मॉनीटरिंग की जाए।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us