विज्ञापन
विज्ञापन
प्रतिष्ठित ज्योतिषाचार्य से वीडियो कॉल पर करियर की सारी समस्या का समाधान स्या
Astrology

प्रतिष्ठित ज्योतिषाचार्य से वीडियो कॉल पर करियर की सारी समस्या का समाधान स्या

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

कैंब्रिज के काव्य पाठ में शामिल होंगे पंकज प्रसून, बोले- कवि मन की वैक्सीन बनाता है

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी इंडिया सोसायटी की ओर से गणतंत्र दिवस के अवसर पर होने वाले आयोजन में बैसवारे के कवि पंकज प्रसून भी शामिल होंगे।

19 जनवरी 2021

विज्ञापन
Digital Edition

जानिए अपनी बहन को सांड़ से बचाने वाले दिव्यांश से क्या बोले पीएम मोदी

तीन साल पहले सांड़ के एक हमले में अपनी पांच वर्षीय बहन की जान बचाने वाले बाराबंकी शहर के निवासी कुंवर दिव्यांश सिंह ने सोमवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बात की।

प्रधानमंत्री मोदी से बातचीत से उत्साहित दिव्यांश ने मीडिया को बताया कि प्रधानमंत्री ने हमें प्रेरित और उत्साह बढ़ाया। उन्होंने कहा कि साल में एक जीवनी जरूर पढ़ें और जीवन को बेहतर बनाने के लिए जो भी विचार मन में आएं उन पर अमल करें और असफल होने से कभी न डरें। दिव्यांश ने बताया कि पहले तो काफी घबराहट हो रही थी लेकिन जब बातचीत शुरू हुई तो बहुत अच्छा लगा।

बता दें कि बाराबंकी निवासी 16 वर्षीय कुंवर दिव्यांश सिंह को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है। जिस पर पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से बात कर दिव्यांश को आशीर्वाद दिया और उनका उत्साह बढ़ाया। दिव्यांश को यह पुरस्कार तीन साल पहले अपनी बहन की सांड़ के हमले से भिड़कर जान बचाने के लिए दिया जा रहा है। इससे पहले भी दिव्यांश को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पूर्व राज्यपाल रामनाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सम्मानित कर चुके हैं।
... और पढ़ें
पीएम नरेंद्र मोदी व कुंवर दिव्यांश सिंह। पीएम नरेंद्र मोदी व कुंवर दिव्यांश सिंह।

मायावती ने किसानों के समर्थन में अपनी मांग दोहराई, कहा- कृषि बिल वापस ले सरकार

बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर केंद्र सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि बसपा का केन्द्र सरकार से पुनः अनुरोध है कि आंदोलित किसानों की कृषि बिल वापस लेने की मांग सरकार को मान लेनी चाहिए जिससे कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर किसी नई परंपरा की शुरूआत न हो तथा न ही दिल्ली पुलिस के संदेह के मुताबिक कोई गलत व अनहोनी हो सके।

... और पढ़ें

पशुधन फर्जीवाड़े में फरार आईपीएस अरविंद सेन की जमानत याचिका खारिज

पशुधन विभाग में ठेका दिलाने के नाम पर जालसाजी के आरोपी आईपीएस अरविंद सेन की अग्रिम जमानत याचिका हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है । इस मामले में वह फरार चल रहे हैं। पुलिस ने उन पर 50000 रुपये का इनाम भी घोषित किया है।

हजरतगंज थाने में दर्ज पशुधन विभाग में करोड़ों रुपए के ठेके दिलाने के नाम पर ठगी के मुकदमे में आईपीएस अरविंद सेन यादव आरोपी हैं। इस मामले में उनको निलंबित किया जा चुका है।

गिरफ्तारी के डर से अरविंद सेन काफी दिनों से फरार चल रहे हैं। पुलिस ने लखनऊ और उनके पैतृक आवास अयोध्या में डुगडुगी पिटवा कर उन्हें फरार घोषित कर दिया है। गिरफ्तारी के डर से उन्होंने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी। जिसे सोमवार को खारिज कर दिया गया।

पर पशुपालन विभाग में आपूर्ति के नाम पर इंदौर के व्यापारी से करोड़ों रुपये हड़पने के आरोपियों को बचाने के लिए 35 लाख रुपये लेने के आरोप हैं। भ्रष्टाचार निवारण के विशेष न्यायाधीश संदीप गुप्ता ने कहा था कि सेन लगातार फरार चल रहे हैं और पुलिस की पकड़ से दूर हैं, लिहाजा उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया जाए। इससे पहले अरविंद सेन के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने की मांग वाली अर्जी दी गई थी।

विवेचक श्वेता श्रीवास्तव ने कोर्ट में कहा था कि इंदौर के व्यापारी और वादी मंजीत सिंह भाटिया उर्फ रिंकू ने 13 जून को हजरतगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें कहा गया था कि अप्रैल 2018 में उनके छोटे भाई के दोस्त वैभव शुक्ला अपने साथी संतोष शर्मा के साथ इंदौर स्थित आवास पर आए और बताया कि पशुपालन मंत्री के करीबी और उपनिदेशक पशुपालन एसके मित्तल आपको पार्टी हित में गेहूं, आटा, शक्कर और दाल की सप्लाई का ठेका देना चाहते हैं।
... और पढ़ें

यूपी में छह लीटर से ज्यादा शराब घर पर रखने के लिए लेना होगा 'होम लाइसेंस'

यूपी सरकार द्वारा 2021-22 के लिए जारी की गई नई आबकारी नीति के अनुसार, अब घर में छह लीटर से ज्यादा शराब रखने व लाने-ले जाने के लिए आबकारी विभाग से होम लाइसेंस लेना जरूरी होगा। इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

शराब रखने के लिए होम लाइसेंस जिलाधिकारी जारी करेंगे जो कि एक वर्ष तक के लिए मान्य होगा। इस निर्णय के बाद अब घर पर बार का इंतजाम रखने वालों के लिए होम लाइसेंस जरूरी हो गया है। प्रदेश सरकार द्वारा इस नीति को कैबिनेट बाई सर्कुलेशन 8 जनवरी को मंजूरी दी जा चुकी है।

बता दें कि वर्ष 2021-22 में सरकार ने आबकारी विभाग से 34500 करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य रखा है जिसके तहत प्रदेश में शराब उत्पादन का प्रोत्साहन किया गया है। उपभोक्ताओं को सस्ती व गुणवत्तापूर्ण शराब उपलब्ध करवाने के लिए ग्रेन ई.एन.ए. से निर्मित उच्च गुणवत्ता युक्त यूपी मेड लिकर की टेट्रा पैक में बिक्री देशी शराब की दुकानों से अधिकतम फुटकर विक्रय मूल्य 85 रुपये में होगी। वहीं, देशी शराब के अधिकतम फुटकर विक्रय मूल्य में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की गई है।

नई नीति के तहत, वर्ष 2021-22 में आबकारी विभाग की समस्त प्रक्रियाओं को कम्प्यूटराज्ड कर इंटीग्रेटेड सप्लाई चेन मैनेजमेंट सिस्टम (IESCMS) लागू होगा। फुटकर दुकानों से बिक्री पीओएस मशीन से करने की व्यवस्था भी लागू होगी।  इसके अलावा फुटकर दुकानों पर भी ई पोस मशीन अब अनिवार्य होगी।

प्रदेश में शराब उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश में उत्पादित फल से प्रदेश में निर्मित शराब आगामी पांच साल के लिए प्रतिफल शुल्क से मुक्त होगी। विंटनरी अपने परिसर में स्थानीय उत्पादित वाइन की फुटकर बिक्री कर सकेगी। विंटनरी परिसर में एक 'वाइन टैवर्न' जहां वाइन को पसंद करने वालों को वाइन टेस्टिंग की अनुमति होगी, स्थापित किया जाएगा।

90 एमएल की बोतलों में विदेशी शराब की बिक्री रेगुलर श्रेणी में अनुमन्य होगी। कम तीव्रता के मादक पेय (एल.ए.बी.) की बिक्री बीयर की दुकानों के अतिरिक्त विदेशी शराब फुटकर दुकानों, मॉडल शाप और प्रीमियम रिटेल वेंड में अनुमन्य होगी।
बीयर की एम.आर.पी. पड़ोसी राज्यों से अधिक होने और कोविड के कारण बीयर की खपत पर प्रभाव को देखते हुए बीयर पर प्रतिफल शुल्क को कम किया गया है। बीयर की शेल्फ लाइफ नौ महीने की होगी।
... और पढ़ें

बसंत पंचमी से सभी मंडलों में शुरू होंगे अभ्युदय कोचिंग सेंटर : योगी 

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले प्रदेश के युवाओं के लिए सभी 18 मंडल मुख्यालयों में निशुल्क अभ्युदय कोचिंग सेंटर बसंत पंचमी (16 फरवरी) से शुरू हो जाएंगी। वहीं, देश-दुनिया में प्रदेश का नाम रोशन करने वाली पांच प्रतिभाओं को हर वर्ष यूपी गौरव सम्मान दिया जाएगा। प्रत्येक जिले में स्थापना दिवस महोत्सव मनाए जाएंगे। कामगारों-श्रमिकों को आर्थिक व सामाजिक सुरक्षा देने और प्रदेश के साथ हर जिले की जीडीपी गणना भी की जाएगी। 

 युवाओं को रोजगार, श्रमिकों को सुरक्षा, प्रतिभाओं के सम्मान व जिलों के विकास के लिए यह पांचों घोषणाएं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी के 71वें स्थापना दिवस के अवसर पर रविवार को यहां अवध शिल्पग्राम में कीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार अपने युवाओं को नया मंच देकर नई उड़ान के साथ आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करेगी।

अफसर चलाएंगे कोचिंग 
मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान प्रयागराज व राजस्थान के कोटा में कोचिंग कर रहे 30 हजार युवाओं को सुरक्षित उनके घर पहुंचाया गया। तभी यह तय किया था कि भविष्य में प्रदेश के युवाओं को कोचिंग के लिए अपने जिले या प्रदेश से बाहर न जाना पड़े। बसंत पंचमी के दिन से सरकार पहले चरण में 18 मंडल मुख्यालयों पर अभ्युदय कोचिंग सेंटर शुरू करने जा रही है। राज्य विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों के भवनों में संचालित इन कोचिंग सेंटरों में नीट, र्जेईई, एनडीए, सीडीएस व यूपीएससी के लिए निशुल्क शिक्षा दी जाएगी। अभ्युदय देश की सबसे अच्छी कोचिंग व्यवस्था होगी जहां पर प्रदेश के अधिकारी अपनी सेवाएं देंगे। इसके लिए विषय विशेषज्ञों का पैनल तैयार किया जा रहा है। यहां से विद्यार्थी वर्चुअल कोचिंग भी प्राप्त कर सकेंगेे।  

गौरव सम्मान के लिए कमेटी गठित 
योगी ने कहा कि कला, संस्कृति, खेल, विज्ञान-प्रौद्योगिक सहित अन्य क्षेत्रों में यूपी को नई पहचान दिलाने वाली तीन से पांच प्रतिभाओं को हर वर्ष यूपी गौरव सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। प्रतिभाओं के चयन के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी गठित की गई है। इसी साल से राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के हाथों यह पुरस्कार दिलाए जाएंगे। 

जिलों के स्थापना दिवस पर प्रतिभा का सम्मान
24 जनवरी, 1950 को यूपी की स्थापना हुई थी। इसलिए 24 से 26 जनवरी तक यूपी दिवस मनाया जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक जिले में स्थापना दिवस जैसे महोत्सव आयोजित कर हर फील्ड में अच्छा काम करने वालों को सम्मानित कर उनकी ऊर्जा का प्रदेश के विकास में उपयोग किया जा सकता है।  

जिलों की जीडीपी गणना से बढ़ेगी प्रतिस्पर्धा 
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक जिले में अपनी जीडीपी बढ़ाने की क्षमता है। यदि इनके बीच जीडीपी की स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होगी तो गौतमबुद्धनगर और बलरामपुर में जो अंतर अभी देखने को मिलता है वह नहीं मिलेगा। इस माध्यम से विकास की बहुत सी संभावनाओं को आगे बढ़ाया जा सकता है।  

आपदा में सामाजिक व आर्थिक सुरक्षा जरूरी 
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार दुनिया में कहीं भी काम कर रहे यूपी के कामगारों-श्रमिकों को सामाजिक व आर्थिक सुरक्षा की गारंटी देने के लिए रोजगार एवं सेवा योजना आयोग के माध्यम से नई योजना शुरू करने जा रही है। आयोग के पोर्टल पर पंजीकृत श्रमिकों को भविष्य में महामारी के समय सरकार यह सुरक्षा प्रदान करेगी। सरकार की ओर से मिलने वाली आर्थिक सहायता उनका सबसे बड़ा सुरक्षा चक्र बनेगी। 
... और पढ़ें

यूपी स्थापना दिवस: 70 साल का हुआ उत्तर प्रदेश, पीएम मोदी से लेकर सीएम योगी तक इन नेताओं ने दी बधाई

उत्तर प्रदेश का आज स्थापना दिवस है। यूपी आज 70 साल का हो गया। 24 जनवरी के दिन यूपी स्थापना दिवस मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत अन्य कई नेताओं ने शुभकामनाएं दीं हैं। ट्विटर पर भी उत्तर प्रदेश ट्रेंड कर रहा है। 

आपको बता दें कि 24 जनवरी 1950 को उत्तर प्रदेश को यह नाम मिला था। वहीं, पूर्व राज्यपाल राम नाईक की पहल पर पहला दिवस मनाया गया था। आज यूपी का तीसरा स्थापना दिवस मनाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज लखनऊ में राज्य के स्थापना दिवस समारोह में हिस्सा लिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस पर राज्य के सभी लोगों को हार्दिक शुभकामनाएं। त्याग, तप, परंपरा और संस्कृति की पावन भूमि रहा यह राज्य आज आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। मेरी कामना है कि चौतरफा विकास की ओर अग्रसर यह प्रदेश यूं ही नई ऊंचाइयों को छूता रहे।




रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने यूपी के स्थापना दिवस पर बधाई देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के मेरे सभी भाइयों एवं बहनों को ‘स्थापना दिवस’ की हार्दिक शुभकामनाएं। प्रदेश में विकास की अपार संभावनाएं हैं, जिन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में बड़े पैमाने पर काम हो रहा है। उत्तर प्रदेश निरंतर समृद्ध और विकसित हो, यही ईश्वर से मेरी कामना है।
 

स्थापना दिवस पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दीं हैं। उन्होंने रविवार सुबह कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम और लीलाधर श्रीकृष्ण की पावन जन्मभूमि का प्रदेश, भारत का हृदय प्रदेश, भारतीय संस्कृति का उद्गम स्थल, उ.प्र. के स्थापना दिवस पर सभी निवासियों को हार्दिक बधाई। 
 


लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने भी बधाई दी। उन्होंने लिखा कि 'भारत के इतिहास, संस्कृति, आध्यात्म, कला, साहित्य, स्थापत्य, पर्यटन सहित सभी क्षेत्रों में उत्तर प्रदेश का सदैव अद्भुत योगदान और विशिष्ट स्थान रहा है। आज उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस पर प्रदेश को इस गौरव यात्रा पर गतिमान रहने तथा प्रदेशवासियों की उन्नति व खुशहाली की कामना है।
 


आपको बता दें कि यूपी दिवस का उद्घाटन रविवार को अवध शिल्पग्राम में किया जाएगा। समारोह की अध्यक्षता राज्यपाल आनंदी बेन पटेल करेंगी जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्य अतिथि होंगे। यह यूपी दिवस का चौथा संस्करण होगा जो 24 जनवरी से 26 जनवरी तक चलेगा।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस बार लखनऊ के साथ-साथ नोएडा में भी मनाया जाएगा।  इसके तहत गौतमबुद्धनगर स्थित नोएडा हाट में  24 जनवरी से 10 फरवरी तक एक जिला एक उत्पाद योजना पर आधारित प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। औपचारिक उद्घाटन के लिए कल सीएम योगी नोएडा आएंगे। 

इस वर्ष उत्तर प्रदेश दिवस की थीम आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश, महिला युवा किसान, सबका विकास सबका सम्मान है। उद्घाटन समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देने वालों को सम्मानित किया जाएगा। इसके तहत खेल जगत में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाले पुरुष एवं महिला खिलाड़ियों को लक्ष्मण पुरस्कार तथा रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार दिया जाएगा।  दुग्ध उत्पादकों को गोकुल पुरस्कार एवं नन्द बाबा पुरस्कार दिए जाएंगे। कृषि विभाग द्वारा तीन किसानों को भी पुरस्कृत किया जाएगा।
  ... और पढ़ें

लखनऊ विश्वविद्यालय : 25 केंद्रों पर होगी बीबीए की परीक्षा, बीसीए और बीकॉम ऑनर्स के परीक्षा केंद्रों की भी सूची जारी

लखनऊ विश्वविद्यालय ने बीबीए, बीसीए और बीकॉम ऑनर्स की परीक्षा केंद्र की सूची रविवार को जारी कर दी। बीबीए की परीक्षा 25 केंद्रों, बीसीए की 13 व बीकॉम ऑनर्स की परीक्षा 14 केंद्रों पर होगी। लविवि ने परीक्षा केंद्रों के साथ ही शिफ्टिंग सूची भी जारी कर दी है। इन पाठ्यक्रमों की परीक्षा 29 जनवरी से प्रस्तावित है। लविवि परीक्षा नियंत्रक ने इनका परीक्षा कार्यक्रम पहले ही जारी कर दिया है। कार्यक्रम व परीक्षा केंद्र की सूची लविवि की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं।

बीसीए के परीक्षा केंद्र
1- लविवि न्यू कैंपस- लविवि फैकल्टी ऑफ इंजीनियरिंग
2- नेताजी सुभाष चंद्र बोस डिग्री कॉलेज- लाल बहादुर शास्त्री गर्ल्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट
3- कैरियर कान्वेंट गर्ल्स डिग्री कॉलेज- इंटीग्रल एंड इनोवेशन सस्टेनेबल एजुकेशन कॉलेज
4- हीरालाल यादव गर्ल्स डिग्री कॉलेज- आजाद डिग्री कॉलेज
5- रजत पीजी कॉलेज- श्री रामस्वरूप मेमोरियल कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट
6-अर्जुनगंज विद्या मंदिर- स्कूल ऑफ मैनेजमेंट साइंस, श्री शारदा इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज
7- एसकेडी एकेडमी- श्रीकृष्ण दत्त एकेडमी, महाराणा प्रताप कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड कॉमर्स
8- इरम गर्ल्स डिग्री कॉलेज इंदिरानगर- शेरवुड कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल मैनेजमेंट
9- ज्ञानोदय डिग्री कॉलेज- ज्ञानोदय डिग्री कॉलेज 10-टेक्नो इंस्टीट्यूट ऑफ हायर स्टडीज- गोयल इंस्टीट्यूट ऑफ हायर स्टडीज, टेक्नो इंस्टीट्यूट ऑफ हायर स्टडीज
11- सीडी गर्ल्स डिग्री कॉलेज- सिटी कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट।
12- लखनऊ पब्लिक कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज- लखनऊ पब्लिक कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज, मॉडर्न गर्ल्स कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज, कॉलेज ऑफ इनोवेटिव मैनेजमेंट
13- आरएएस गर्ल्स डिग्री कॉलेज- द स्टडी हॉल कॉलेज

बीबीए के परीक्षा केंद्र
1- लविवि पुराना परिसर- लखनऊ विश्वविद्यालय
2- जेएनपीजी कॉलेज- जेएनपीजी कॉलेज
3- कालीचरण डिग्री कॉलेज- भालचंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन एंड मैनेजमेंट
4- सरदार भगत सिंह कॉलेज ऑफ एजुकेशन- सरदार भगत सिंह कॉलेज ऑफ हायर एजुकेशन
5- शिया डिग्री कॉलेज- शिया पीजी कॉलेज, लखनऊ कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड एजुकेशन
6- गौतम बुद्ध डिग्री कॉलेज- गौतम बुद्ध डिग्री कॉलेज, आर्यकुल कॉलेज ऑफ एजुकेशन
7- नेताजी सुभाष चंद्र डिग्री कॉलेज- लाल बहादुर शास्त्री गर्ल्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट
8- लाला महादेव प्रसाद वर्मा बालिका महाविद्यालय- सूर्या कॉलेज बिजनेस मैनेजमेंट, श्री शारदा इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज
9- भारतीय विद्या भवन- कॉलेज ऑफ इनोवेटिव मैनेजमेंट एंड साइंस, मॉडर्न गर्ल्स कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज।
10- बोरा इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट साइंस- बोरा इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट साइंस
11- कॅरियर कॉन्वेंट गर्ल्स डिग्री कॉलेज- इंस्टीट्यूट ऑफ कोऑपरेटिव रिसर्च एंड ट्रेनिंग, इंटीग्रल एंड इनोवेटिव सस्टेनेबल एजुकेशन कॉलेज
12- हीरालाल यादव गर्ल्स डिग्री कॉलेज- जीएसआरएम मेमोरियल पीजी कॉलेज
13- रजत पीजी कॉलेज- रजत वूमेंस कॉलेज ऑफ एजुकेशन एंड मैनेजमेंट, श्री रामस्वरूप मेमोरियल कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट तिवारीगंज
14- रामा डिग्री कॉलेज डिग्री कॉलेज चिनहट- रामा डिग्री कॉलेज, नर्वदेश्वर डिग्री कॉलेज
15- श्रीगुरु नानक गर्ल्स डिग्री कॉलेज- श्री गुरुनानक गर्ल्स डिग्री कॉलेज
16- अर्जुनगंज विद्या मंदिर- स्कूल ऑफ मैनेजमेंट साइंस कासिमपुर, दयाल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन
17 - एसकेडी एकेडमी- सिटी गर्ल्स कॉलेज, महाराणा प्रताप कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड कॉमर्स
18- इरम गर्ल्स डिग्री कॉलेज- शेरवुड कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल मैनेजमेंट
19- ज्ञानोदय डिग्री कॉलेज- ज्ञानोदय डिग्री कॉलेज
20- टेक्नो इंस्टीट्यूट ऑफ हायर स्टडीज- गोयल इंस्टीट्यूट ऑफ हायर स्टडीज, टेक्नो इंस्टीट्यूट ऑफ हायर स्टडीज
21- सीडी गर्ल्स डिग्री कॉलेज- सिटी एकेडमी डिग्री कॉलेज तिवारीगंज, सिटी कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट तिवारीगंज।
22- डीएसएन महिला महाविद्यालय- आईटीएम कॉलेज ऑफ एजुकेशन, एसएस इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेंट, जीसीआरजी मेमोरियल ट्रस्ट ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस
23- यूनिटी डिग्री कॉलेज- यूनिटी डिग्री कॉलेज
24- लखनऊ पब्लिक कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज- लखनऊ पब्लिक कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज, मॉडर्न गर्ल्स कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज
25- आरएएस डिग्री कॉलेज- आजाद डिग्री कॉलेज

बीकॉम ऑनर्स के परीक्षा केंद्र
1- लविवि पुराना परिसर- लखनऊ विश्वविद्यालय
2- जेएनपीजी कॉलेज- जेएनपीजी कॉलेज
3- नेताजी सुभाष चंद्र बोस डिग्री कॉलेज- लाल बहादुर शास्त्री कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट
4- भारतीय विद्या भवन गर्ल्स डिग्री कॉलेज- मॉडर्न गर्ल्स कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज
5- बोरा इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेंट कॉलेज- सिटी वूमंस कॉलेज जानकीपुरम
6- कॅरियर कान्वेंट गर्ल्स डिग्री कॉलेज- इंस्टीट्यूट ऑफ कोऑपरेटिव एंड कॉरपोरेट मैनेजमेंट रिसर्च एंड ट्रेनिंग
7- हीरालाल यादव गर्ल्स डिग्री कॉलेज- हीरालाल यादव गर्ल्स डिग्री कॉलेज, मॉडर्न कॉलेज ऑफ एजुकेशन
8- रजत पीजी कॉलेज कमता- रजत वुमेन्स कॉलेज ऑफ एजुकेशन एंड मैनेजमेंट
9- रामा गर्ल्स डिग्री कॉलेज- सिटी एकेडमी डिग्री कॉलेज तिवारीगंज
10- श्री गुरुनानक गर्ल्स डिग्री कॉलेज- श्री गुरुनानक गर्ल्स डिग्री कॉलेज
11- अर्जुनगंज विद्या मंदिर - स्कूल ऑफ मैनेजमेंट साइंसेज, दयाल ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस
12- इरम गर्ल्स डिग्री कॉलेज- शेरवुड कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल मैनेजमेंट
13- टेक्नो इंस्टीट्यूट ऑफ हायर स्टडीज- गोयल इंस्टीट्यूट ऑफ हायर स्टडीज, टेक्नो इंस्टीट्यूट ऑफ हायर स्टडीज
14- लखनऊ पब्लिक कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज- लखनऊ पब्लिक कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज, कॉलेज ऑफ इनोवेटिव मैनेजमेंट एंड साइंस
... और पढ़ें

सूचना का अधिकार से जुड़े आवेदनों के निस्तारण में ढिलाई पर सीएम सख्त

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूचना अधिकार अधिनियम (आरटीआई) के अंतर्गत प्राप्त आवेदनों पर कार्यवाही में शिथिलता पर नाराजगी जताई है। उन्होंने 50 प्रतिशत से अधिक लंबित आवेदन पत्र वाले विभागों के नोडल अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करने का फरमान सुना दिया है।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर केंद्र सरकार की तरह प्रदेश में भी आरटीआई के अंतर्गत आवेदनों व प्रथम अपीलों को ऑनलाइन प्राप्त कर निस्तारित करने के लिए एनआईसी की मदद से एक वेबपोर्टल (https://rtionline.up.gov.in) विकसित किया गया है। इस पोर्टल पर कार्य करने के लिए विभिन्न स्तरों के कार्यालयों में समन्वय (नोडल) जन सूचना अधिकारी नािमत किए गए हैं। इन्हें ऑनलाइन कार्य के लिए आईडी व पासवर्ड उपलब्ध कराए गए हैं।

पिछले दिनों मुख्यमंत्री कार्यालय में इस पोर्टल पर प्राप्त आवेदनों व अपीलों के निस्तारण की समीक्षा की गई। पता चला कि तमाम विभागों के नोडल अधिकारियों ने इस पोर्टल पर काम ही नहीं शुरू किया। कई जगह शुरू भी किया गया तो उनके स्तर पर लंबित जनसूचना आवेदनों की संख्या 50 प्रतिशत से अधिक है।

अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल ने ऐसे 38 विभागों के अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों व सचिवों को पत्र लिखा है जिनके विभागों के नोडल अधिकारियों ने काम शुरू नहीं किया या शुरू किया तो 50 प्रतिशत से अधिक आवेदन लंबित हैं। इन 38 विभागों में से 30 ने एक भी आवेदन का निस्तारण नहीं किया है। उन्होंने इस स्थिति पर मुख्यमंत्री की अप्रसन्नता का हवाला देते हुए समस्त लंबित आवेदन पत्रों का निस्तारण तय समयसीमा में कराने का निर्देश दिया है। साथ ही अब तक काम शुरू न करने वाले नोडल अधिकारियों का उत्तदायित्व तय करने को कहा है।

50 या इससे अधिक आवेदन वाले विभागों की स्थिति
विभाग                                कुल आवेदन   लंबित आवेदन

गृह                                         628           454
उच्च शिक्षा                                  489           254
माध्यमिक शिक्षा                             362           362
अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास         237           236
सिचंाई व जल संसाधन                     229           128
स्टांप रजिस्ट्रेशन                            217            217
नियुक्ति                                     136            136
बैंकिंग                                       150            150 
श्रम                                          126            126
न्याय                                         137            73
आयुष                                         57             57
वाणिज्य कर                                   63             63
आईटी एवं इलेक्ट्रानिक्स                      58              52
चिकित्सा शिक्षा                                50             50
महिला कल्याण, बाल विकास-पुष्टाहार       82              82

50 से कम आवेदन वाले विभाग
कृषि शिक्षा व अनुसंधान, पशुधन, सिविल डिफेंस, गोपन, उपभोक्ता संरक्षण व बांट-माप, समन्वय, संस्कृति, वाह्य सहायतित परियोजना, होमगार्ड, लघु सिंचाई, एनआरआई, राष्ट्रीय एकीकरण, नियोजन, राजनीतिक पेंशन, कार्यक्रम क्रियान्वयन, सार्वजनिक उद्यम, धमार्थ कार्य, सैनिक कल्याण, खेल, चीनी उद्योग व गन्ना, वस्त्र व हथकरघा, शहरी विकास एवं गरीबी उन्मूलन, परती भूमि सुधार।
 
... और पढ़ें

पेशेवर और खानदानी अपराधियों पर लगाम कसने का संकल्प लिया : योगी  

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार ने पेशेवर और खानदानी अपराधियों पर लगाम कसने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि अपराधियों और माफियाओं पर लगाम कसने से देश में प्रदेश के प्रति धारणा बदली है और प्रदेश में निवेश और रोजगार बढ़ा है। अवध शिल्प ग्राम में रविवार को आयोजित उतर प्रदेश दिवस समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा उनका संकल्प केवल अपराधी और माफिया पर लगाम कसना ही नहीं बल्कि पेशेवर और खानदानी अपराधियों पर भी लगाम कसना है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश अपनी धारणा को बदलकर नए बदलाव के मोड पर आया है। उन्होंने कहा कि अब यूपी की पहचान अपराधग्रस्त या दंगाग्रस्त प्रदेश के रूप नहीं बल्कि बेहतर कानून व्यवस्था वाले प्रदेश के रूप में होती है। उन्होंने कहा कि स्थिति यह है कि अन्य प्रदेशों में भी यूपी के मॉडल को अपनाने की उत्सुकता बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ 24 करोड़ जनता की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।

उन्होंने कहा कि सरकार के इस जज्बे ने यूपी के प्रति धारणा को बदला है। इससे निवेश बढ़ा, निवेश ने नौकरी और रोजगार की संभावना को आगे बढ़ाया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पौने चार लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी गई है। प्रदेश में निजी क्षेत्र में हुए निवेश से 15 लाख युवाओं को रोजगार मिला है। केंद्र और प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं के जरिए 15 करोड़ युवाओं को रोजगार और स्वत: रोजगार से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश कृषि, खाद्यान और जल संसाधन सहित अन्य क्षेत्रों में आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है। 

छात्रवृति योजना की शुरुआत
यूपी दिवस के अवसर पर समाज कल्याण विभाग की ओर से सामान्य, एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए छात्रवृति योजना शुरू की गई। मुख्यमंत्री ने लैपटाप का बटन दबाकर एक लाख 43 हजार 929 विद्यार्थियों के खाते में कुल 39 करोड़ रुपये छात्रवृति की राशि हस्तांतरित की। 

प्रदेश के गीत का लोकार्पण 
मुख्यमंत्री ने उतर प्रदेश में हुए बदलाव और विकास पर आधारित गीत ...अब यूपी की बात ही अलग है गीत का भी लोकार्पण किया। गायक कैलाश खैर की इस गीत को आवाज दी है। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X