विज्ञापन
विज्ञापन
श्री लक्ष्मी नारायण यज्ञ से होगी सुख-संपत्ति, धन, वैभव और समृद्धि प्राप्त, आज ही बुक करें हरिद्वार में पौष पूर्णिमा पूजन
Puja

श्री लक्ष्मी नारायण यज्ञ से होगी सुख-संपत्ति, धन, वैभव और समृद्धि प्राप्त, आज ही बुक करें हरिद्वार में पौष पूर्णिमा पूजन

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

'कोर्ट में भी देना पड़ता है' लंदन स्पा सेंटर के मालिक से बोला डीएसपी, ऑडियो वायरल

भोपाल में पुलिस की शह पर देह व्यापार का गोरखधंधा चलाए जाने का मामला सामने आया है। अभी 44 दिन पहले ही क्राइम ब्रांच ने कोलार रोड स्थित लंदन इवनिंग स्पा सेंटर पर छापा मारा था। यहां स्पा सेंटर की आड़ में देह व्यापार चल रहा था। इसमें मामले में कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच डीएसपी डीएस चौहान ने 6 लोगों को आरोपी भी बनाया था, लेकिन अब उनका ही एक ऑडियो वायरल हो रहा है जिससे वे कटघरे में आ गए हैं। 






शुरुआती जांच पूरी, पुलिस मुख्यालय भेजी रिपोर्ट
वायरल हो रहे इस ऑडियो में डीएसपी और स्पा सेंटर संचालक के बीच पैसों के लेनदेन को लेकर बात चल रही है। इसमें डीएसपी यह कहते हुए सुनाई पड़ रहे हैं कि ‘कोर्ट में भी देना पड़ता है’। ऑडियो के वायरल होने के बाद डीएसपी के खिलाफ शुरुआती जांच पूरी कर ली गई है। मामले में डीएसपी के खिलाफ आगे की कार्रवाई का फैसला शासन स्तर हो इसके लिए जांच की रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय को भेज दी गई है।

डीएसपी से नहीं कराया जा रहा कोई काम
वहीं, इस प्रकरण पर भोपाल रेंज के डीआईजी इरशाद वली ने कहा, “दस दिन पहले ही मुझे डीएसपी चौहान के संदिग्ध आचरण का पता चला था। तभी इस संबंध में पुलिस मुख्यालय को  पत्र भेज दिया गया था। ऑडियो वायरल होने के बाद मामले में प्राथमिक जांच कर एक रिपोर्ट बनाई गई है, जिसे पुलिस मुख्यालय भेजा जा रहा है। आगे की कार्रवाई शासन स्तर की जाएगी।” डीआई जी ने बताया कि डीएसपी चौहान हरदा से कुछ महीने पहले ही भोपाल क्राइम ब्रांच में पदस्थ हुए थे। दस दिनों से उनसे कोई काम भी नहीं लिया जा रहा है।   

ऑडियो में सुनाई दे रही हैं ये बातें  
डीएसपी : अरे, राजेंद्र तुम आते क्यों नहीं हो?
संचालक : अरे सर, आ ही रहा था, अनिल की वाइफ का फोन आ गया था।
डीएसपी : जल्दी से आ जाओ लेकर, जल्दी आओ। यहां खड़ा हूं, वल्लभ भवन के सामने।
संचालक : सर, मेरी बात हुई थी उनसे। वो बोल रहे थे कि उतने पैसे नहीं कर पाएंगे। थोड़े बहुत कम वम कर देंगे।
डीएसपी : यार मैं ज्यादा तो नहीं बोल रहा हूं। वो तो कम हैं, और क्या चाहिए?
संचालक : मेरे पास दस हजार रुपए नहीं हो पाएंगे। 7-8 हजार रुपए की बात कर लेता हूं। सर, अब आप कर लीजिए, 50 तो मैंने पहले ही कर दिए हैं।
डीएसपी : वो बात नहीं है यार। चालान का मामला अलग है। वो कोर्ट में भी देना पड़ता है। चल कोई बात नहीं। ले आ तू, ले आ।

... और पढ़ें

'15 साल में प्रजनन लायक हो जाती हैं लड़कियां' पर सज्जन सिंह की सफाई, कहा- भाजपा ने की साजिश

भोपाल: कार के पास खेल रही थी पांच साल की मासूम, पीट-पीटकर किया खून से लथपथ

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के अयोध्या नगर इलाके में इंजीनियरिंग के एक छात्र को अपनी कार के पास पांच साल की मासूम बच्ची का खेलना फूटी आंख न सुहाया। छात्र को कार के पास उस छेटी से बच्ची का खेलना इतन नागवार गुजरा कि उसने मार-मार कर बच्ची का बुरा हाल कर दिया। ऐसे में जब घायल बच्ची अपने घर की ओर भागने लगी, तब भी आरोपी का मन नहीं भरा। उसने बच्ची को दौड़ाकर पकड़ लिया और फिर से उसकी पिटाई कर दी। उसकी क्रूरता यहीं पर खत्म नहीं होती, आरोपी ने बच्ची के घर में घुसकर भी उसे चांटे मारे। 

बेरहमी से की पिटाई
पुलिस के मुताबिक, अयोध्या नगर की इंडस मुस्कान कॉलोनी में अपने परिवार के साथ रहने वाली बच्ची बुधवार शाम करीब छह बजे अपने पड़ोसी शिवराज की कार के पास खेल रही थी। तभी शिवराज का बेटा राहुल आया और बच्ची को चांटे मारने लगा। इससे मासूम बच्ची जमीन पर गिर गई। इसके बाद उसने बच्ची की पिटाई भी कर दी। ऐसे में वह अपने घर की ओर भागी तो आरोपी वहां भी पहुंच गया और दोबारा उसे पीटने लगा।

मार-मारकर बहाया खून, केस दर्ज
पांच साल की मासूम की चीख-पुकार जब उसके घर वालों ने सुनी तो उसकी हालत देखकर दंग रह गए। उनकी बच्ची खून से लथपथ थी। इस घटना से गुस्साए बच्ची के परिजन अयोध्या नगर थाने पहुंचे और आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कराया। पुलिस ने बताया कि इस मामले में राहुल के अलावा उसके पिता को भी आरोपी बनाया गया है, क्योंकि घटना के समय वह भी मौजूद थे, लेकिन उन्होंने अपने बेटे को नहीं रोका। 

सेना से रिटायर हो चुका है आरोपी का पिता
पुलिस ने बताया कि आरोपी राहुल 22 साल का है। वह बच्ची के पड़ोस में ही रहकर इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है जबकि आरोपी के पिता शिवराज सिंह सेना से रिटायर हो चुका है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

... और पढ़ें

‘तांडव’ विवाद : शिवराज सिंह चौहान ने की ओटीटी प्लेफॉर्म पर अंकुश लगाने की वकालत

वेब सीरीज तांडव को लेकर उठे विवाद के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी ओटीटी प्लेटफॉर्म को लेकर सवाल उठाए हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने सोमवार को ओटीटी प्लेटफॉर्म की निगरानी करने और इस पर अंकुश लगाने की वकालत की है। 

शिवराज सिंह चौहान ने अपने बयान में कहा कि हमारी आस्था पर चोट करने का अधिकार किसी को नहीं है। ओटीटी प्लेटफॉर्म पर निगरानी की जरूरत है। इस प्लेटफॉर्म पर जो अश्लीलता परोसी जा रही है, वह हमारे किशोरों को गलत दिशा में ले जा रही है। इस पर अंकुश जरूरी है। उन्होंने कहा कि इसे लेकर भारत सरकार काफी गंभीर है।

बता दें कि अमेजन प्राइम वीडियो पर प्रसारित ‘तांडव’ वेब सीरीज के एक दृश्य को लेकर शुरू हुए विवाद के मामले में इसके निर्माताओं ने सोमवार को बिना शर्त माफी मांगी और कहा कि उनका किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाने का कोई इरादा नहीं था। वेब सीरीज के एक एपिसोड में कथित तौर पर 'धार्मिक भावनाएं' आहत होने की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई गई थी।

‘तांडव’ के कास्ट एवं क्रू की ओर से जारी आधिकारिक वक्तव्य में कहा गया कि वेब सीरीज तांडव पर दर्शकों की प्रतिक्रिया पर हम करीब से नजर रख रहे हैं और आज एक चर्चा के दौरान सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने हमें बताया कि उन्हें वेब सीरीज के विभिन्न पहलुओं को लेकर बड़ी संख्या में शिकायतें और अर्जियां मिली हैं जो इसकी सामग्री द्वारा लोगों की भावनाओं को आहत करने संबंधी गंभीर चिंताओं और आशंकाओं के बारे में हैं।

वक्तव्य में कहा गया है कि तांडव एक काल्पनिक कहानी पर आधारित है और किसी भी गतिविधि, व्यक्ति या घटना से इसकी समानता होना विशुद्ध रूप से संयोग है। इसके निर्माताओं और कलाकारों का किसी व्यक्ति, जाति, समुदाय, धर्म की भावनाओं या धार्मिक आस्थाओं को आहत करने या किसी संस्था, राजनीतिक दल अथवा व्यक्ति (जीवित या मृत) का अपमान करने का कोई इरादा नहीं था।

इसमें कहा गया कि तांडव की पूरी यूनिट लोगों द्वारा जताई गई चिंताओं पर संज्ञान लेती है और यदि इससे गैर-इरादतन तरीके से किसी व्यक्ति की भावनाओं को चोट पहुंची है तो हम बिना शर्त माफी मांगते हैं।
... और पढ़ें
शिवराज सिंह चौहान शिवराज सिंह चौहान

मध्यप्रदेश: 24 घंटों में भोपाल में कोरोना के सबसे ज्यादा 65 मरीज, इंदौर में भी 43 नए संक्रमित

मध्य प्रदेश में रविवार को 23816 मरीजों की जांच में कोरोना संक्रमण के 355 मामले सामने आए हैं। इसके अलावा बीते 24 घंटों में कोरोना से दो मरीजों की मौत हो गई। भोपाल में पॉजिटिव मरीजों की संख्या में हर दिन कमी होती जा रहा है। पिछले हफ्ते से भोपाल में मरीजों का आंकड़ा कम ही रहा है।

भोपाल में 1200 से ज्यादा मरीजों का चल रहा इलाज
यहां रविवार को सबसे ज्यादा कोरोना के 65 मामले मिले हैं और एक मरीज की मौत हुई है। भोपाल में रविवार को 2,799 सैंपल लिए गए थे। फिलहाल शहर में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 1971 है। इनमें 480 मरीज हाेम आइसोलेशन में हैं और 1200 से ज्यादा मरीजों का शहर के सरकारी और प्राइवेट कोरोना अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

इंदौर में  43 नए कोरोना मरीज सामने आए
कोरोना के नए मरीजों के मामले में इंदौर दूसरे नंबर पर रहा। यहां बीते 24 घंटों में 43 नए कोरोना संक्रमण से पीड़ित मरीज सामने आए हैं जबकि एक मरीज की मौत हो गई है। गनीमत है कि इन दोनों शहरों के अलावा मध्य प्रदेश में कोरोना की वजह से एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है। ऐसे में नगर निगम मास्क न पहनने पर व शारीरिक दूरी बनाए रखने के नियम का उल्लंघन करने वालों पर चालान नहीं कर रहा है। साथ ही अब घरों में सैनिटाइजेशन का कार्य भी नहीं किया जा रहा है। 

मध्य प्रदेश में 3753 लोगों की हुई मौत
निगमायुक्त वीएस चौधरी कोलसानी ने बताया कि राज्य में कोरोना संक्रमण का प्रभाव कम हो गया है इसलिए व्यापक स्तर पर सैनिटाइजेशन कार्य को फिलहाल के लिए बंद कर दिया गया है। बता दें, प्रदेश में अब तक कोरोना के 251578 मामले सामने आ चुके हैं जबकि 3753 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा  6399  लोगों का इलाज चल रहा है।

... और पढ़ें

भोपाल: रातभर बनाई गई दीवार, लेकिन धारा 144 लागू, इन इलाकों से हटा कर्फ्यू

भोपाल के हनुमानगंज थाना क्षेत्र स्थित राजदेव कॉलोनी में प्लॉट को लेकर तनाव की स्थिति बनी हुई है। हालांकि, रविवार रात भर इस प्लॉट पर दीवार बनाने का काम जारी रहा, जो सोमवार को भी चल रहा है। माना जा रहा है कि दीवार बनाने का काम मंगलवार शाम तक पूरा हो जाएगा। फिलहाल, शहर के अधिकतर इलाकों में धारा 144 लागू है, लेकिन तीन थाना क्षेत्रों हनुमानगंज, गौतम नगर और टीला जमालपुर से कर्फ्यू हटा दिया गया है। यहां लोगों को आने-जाने से तो नहीं रोका जा रहा, लेकिन वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध बरकरार है।

कई इलाकों में नहीं खुलीं दुकानें
जानकारी के मुताबिक, शहर में हुए तनाव का असर सोमवार को भी नजर आया। इस दौरान कर्फ्यू हटने के बाद भी रेलवे स्टेशन से लेकर हमीदिया रोड, नादरा बस स्टैंड, भोपाल टॉकीज, छोला मंदिरा रोड और सिंधी कॉलोनी समेत कुछ इलाकों में दुकानें नहीं खुलीं। अब सिर्फ हनुमानगंज, टीला जमालपुरा और गौतम नगर थाना क्षेत्र में ही धारा 144 लागू है।


दो दिन रहेगी सख्ती
जानकारी के मुताबिक, शहर में हालात पर काबू रखने के लिए पुलिस और प्रशासन लगातार नजर बनाए हुए हैं। माना जा रहा है कि अगले दो दिन शहर के कई इलाकों में सख्ती जारी रहेगी। इनमें कबाड़खाना के आसपास के इलाकों पर खासतौर से नजर रखी जाएगी। 

इस वजह से हुआ था विवाद
बता दें कि हनुमानगंज थाना क्षेत्र के कबाड़खाना में 30 हजार वर्गफीट जमीन पर कब्जे को लेकर विवाद हुआ था। इसके बाद कलेक्टर अविनाश लवानिया के आदेश पर रविवार सुबह 9 बजे से कर्फ्यू लगा दिया गया। हालात पर काबू पाने के लिए 4 हजार से अधिक जवान तैनात किए गए थे। गौरतलब है कि विवाद का असर शहर के 15 से अधिक थाना क्षेत्रों शाजहांनाबाद, मंगलवारा, हनुमानगंज, निशातपुरा, अशोका गार्डन, जहांगीराबाद, तलैया, कोतवाली, गौतम नगर, टीलाजमालपुरा और छोला मंदिर आदि में नजर आया। 
 
... और पढ़ें

भोपाल: तेज रफ्तार एसयूवी ने बाइक सवार तीन भाइयों को मारी टक्कर, दो की मौत, एक गंभीर

भोपाल में धारा 144 लागू

भोपाल के रातीबड़ थाना इलाके में शनिवार की सुबह तेज रफ्तार एसयूवी ने बाइक पर सवार होकर आ रहे तीन भाइयों को इतनी जोरदार टक्कर मार दी कि उनकी बाइक करीब सौ फीट दूर जा गिरी। इस भीषण सड़क हादसे में बाइक पर सवार दो भाइयों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि तीसरे की हालत नाजुक बनी हुई है। 

रातीबड़ थाना पुलिस ने बताया कि राजपुरा में बिलकिसगंज का रहने वाला बृजमोहन मीणा और उसका परिवार निर्माणाधीन मकानों में छत ढलाई का ठेका लेते हैं। बृजमोहन शनिवार की सुबह करीब साढ़े आठ बजे अपने बड़े भाई रामबाबू और प्रेमनारायण मीणा के साथ एक ही बाइक पर सवार होकर साइट पर काम करने के लिए निकला था। इस दौरान रातीबड़ से बिलकिसगंज जाने वाली सड़क पर सामने से आ रही तेज रफ्तार एसयूवी ने उनकी बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। 

घटनास्थल पर लगे सीसीसटीवी फुटेज को देखने के बाद पुलिस ने बताया कि  कुत्ते को बचाने के लिए ड्राइवर ने एसयूवी सड़क से नीचे उतारी फिर दोबारा सड़क पर लौटते वक्त सामने से आ रहे बाइक सवारों को टक्कर मार दी। दुर्घटना इतनी भीषण थी कि रामबाबू और प्रेमनारायण 20 फीट ऊपर उछले और सड़क पर आ गिरे। इस कारण मौके पर ही उनकी मौत हो गई। जबिक उनकी बाइक उछल कर करीब सौ फीट दूर जा गिरी। 

पुलिस के अनुसार इस हादसे के पल भर बाद ही एसयूवी ने दूसरी बाइक पर बिलकिसगंज से भोपाल लौट रहे मां-बेटे को भी टक्कर मारकर जख्मी कर दिया। एसयूवी इतनी अनियंत्रित हो चुकी थी कि सड़क किनारे लगे पेड़ से टकरा गई। हादसे के बाद आरोपी ड्राइवर पीछे से आ रही दूसरी कार में सवार होकर फरार हो गया। पुलिस को कार में क्रिकेट का सामान मिला है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि आरोपी फेथ क्रिकेट क्लब में प्रैक्टिस करके लौट रहा होगा।

वहीं, घटना के प्रत्यक्षदर्शियों ने कार में तोड़फोड़ कर दी। इसके पहले कि वे एसयूवी को आग के हवाले कर देते, सूचना मिलते ही  मौके पर पुलिस पहुंच गई और कार को जब्त कर लिया। हादसे में गंभीर रूप से घायल बृजमोहन को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालात गंभीर बनी हुई है। हादसे की सूचना से राजपुरा गांव में मातम मचा हुआ है।


 
... और पढ़ें

भोपाल में जिला प्रशासन को है हड़कंप की आशंका, तीन थाना क्षेत्रों में लगाया कर्फ्यू तो 11 में धारा 144 लागू

भोपाल में आज यानी रविवार को तीन इलाकों में प्रशासन द्वारा कर्फ्यू लगा दिया गया है। यह तीन इलाके जमालपुरा, हनुमानगंज और गौतम नगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं। इतना ही नहीं, शहर के 11 थाना क्षेत्रों में में धारा 144 भी लागू कर दी गई है। यह आदेश रविवार सुबह 9:00 बजे से आगामी आदेश तक लागू रहेगा। दरअसल, आज शहर में एक समुदाय विशेष निर्माण कार्य कर रहा है। इसे देखते हुए एहतियातन जिला प्रशासन ने यह फैसला तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया है।

बता दें, हाइकोर्ट ने हाल-फिलहाल में भोपाल के कबाड़खाना क्षेत्र में स्थित लगभग 30 हजार वर्ग फीट भूमि के विवाद को लेकर संघ कार्यालय 'केशव नीडम' के पक्ष में फैसला दिया था। इस फैसले के बाद 'केशव नीडम' के पदाधिकारी आज उक्त जमीन पर चारदीवारी का निर्माण करा रहे हैं। ऐसे में आशंका है कि स्थानीय नागरिक हंगामा कर सकते हैं। इसलिए क्षेत्र में शांति बनाए रखने के लिए यह फैसला लिया गया है। 

इस कड़ी में पुराने भोपाल की कुछ सड़कों को सील कर दिया गया है और चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल पहरा दे रही है। साथ ही लोगों को घरों में ही रहने को कहा गया है। जिला प्रशासन का आदेश है कि इस दौरान सभी व्यावसायिक संस्थान, दुकानें, उद्योग आदि बंद रहेंगे जबकि अस्पताल और दवाइयों की दुकानें खुली रह सकती हैं। 

गौरतलब है कि पुराने भोपाल में कर्फ्यू लगने का असर भारत टॉकिज चौराहा, पुरानी सब्जी मंडी, तलैया थाना क्षेत्र, हमीदिया रोड, शाहजहांनाबाद थाना रोड, सेफिया कॉलेज रोड, रेलवे स्टेशन प्लेटफॉर्म नंबर-6, भारत टॉकिज ओवरब्रिज, निशातपुरा से हनुमानगंज जैसे इलाकों में रहेगा। इन इलाकों की तरफ आने वाले मार्गों पर कोई भी व्यक्ति बिना अति आवश्यक कार्य के नहीं पहुंच पाएगा। 

हालांकि, ये आदेश शासकीय सेवक पुलिसकर्मी सशस्त्र बल पर और शैक्षणिक या प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों पर लागू नहीं होगा। यह आदेश इन परीक्षाओं की ड्यूटी में लगे कर्मचारियों पर भी लागू नहीं होगा। यह लोग प्रवेश पत्र व आइडी कार्ड दिखाने पर आगमन कर सकेंगे।

... और पढ़ें

मध्यप्रदेश: अब ऑनलाइन भी बिकेगी शराब, सरकार खुद कराएगी घर-घर डिलीवरी

छत्तीसगढ़ के बाद अब मध्य प्रदेश में भी ऑनलाइन शराब बिकेगी। प्रदेश सरकार शराब की ऑनलाइन बिक्री को मंजूरी देने की तैयारी में है। इसके लिए वाणिज्य कर विभाग ने एक प्रस्ताव मुख्यमंत्री सचिवालय को भेज है। अब जैसे ही सचिवालय से प्रस्ताव पास होता है, इसे कैबिनेट में लाया जाएगा।

मीडिया से बात करते हुए राज्य के आबकारी मंत्री जगदीश देवड़ा ने कहा कि सरकार राज्य में शराब की ऑनलाइन बिक्री पर विचार कर रही है। ऐसा प्रदेश में शराब का अवैध कारोबार रोकने और रेवेन्यू को बढ़ाने के लिए किया जा रहा है। हालांकि, इस प्रस्ताव पर आखिरी फैसला मुख्यमंत्री को ही लेना है।

देवड़ा के मुताबिक, इस फैसले का मुख्य उद्देश्य सरकार की आय को बढ़ाना और राज्य में  शराब के अवैध कारोबार को रोकाना है। इसलिए  सरकार आबकारी नीति में कई बड़े बदलाव भी करने जा रही है। उन्होंने आगे कहा, मध्य में दूसरे राज्यों की तुलना में शराब महंगी बिकती है। इसकी वजह से प्रदेश से सटे दूसरे राज्यों से शराब की बड़े स्तर पर तस्करी होती है, लेकिन इस फैसले के बाद इसमें भारी गिरावट देखने को मिलेगी। 

आबकारी मंत्री ने कहा कि हमने नकली शराब और अवैध कारोबार को रोकने के लिए आबकारी विभाग के बड़े अफसरों की जिम्मेदारी तय कर दी है। सभी को बता दिया गया है कि राज्य में हर हाल में अवैध शराब के कारोबार को खत्म करना है। हालांकि, इसके बाद ही अगर कहीं कोई घटना होगी तो उसके लिए विभाग के अधिकारी सहित जिला प्रशासन के अफसर भी जिम्मेदार होंगे।   

उन्होंने मुरैना में नकली शराब पीने से हुई मौतों पर भी बीत की। देवड़ा ने कहा कि घटना की जांच चल रही है। सरकार को जांच कमेटी की रिपोर्ट का इंतजार है। जैसे ही सरकार के पास रिपोर्ट आती है, इस मामले में तुरंत एक्शन लिया जाएगा।
... और पढ़ें

राजेश साहू मर्डर केस: बेहोशी का इंजेक्शन देकर कार में लगाई थी आग, प्रॉपर्टी डीलर गिरफ्तार

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में 27 दिसंबर को कार में मृत पाए गए रिटायर्ड एयरफोर्स अधिकारी राजेश साहू की हत्या की गुत्थी सुलझ गई है। पुलिस ने मामले से पर्दा उठाते हुए गुरुवार को बताया कि राजेश की हत्या पैसों के लिए हुई थी। भोपाल से हत्या के छह आरोपियों को पकड़ने के साथ ही पुलिस ने उनके कब्जे से 2 लाख से अधिक रुपए, 9 मोबाइल फोन और एक कार जब्त किया है। 

पुलिस ने बताया कि मृतक राजेश और नरेश साथ में प्रॉपर्टी का कारोबार करते थे।  5 करोड़ के लेनदेन को लेकर उनके बीच विवाद चल रहा था। राजेश ने जुलाई में नरेश के खिलाफ धोखाधड़ी का एक केस भी दर्ज करवाया था, लेकिन पुलिस ने गिरफ्तारी नहीं की थी। इस मामले में पुलिस ने कहा कि केस तकनीकी रूप से काफी जटिल था। इसकी जांच चल रही थी। 

छिंदवाड़ा पुलिस ने बताया कि एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन के पद से वीआरएस ले चुके 54 साल के राजेश छिंदवाड़ा के तिरुपति अभिनव होम्स में रहते थे। उनका अधजला शव 27 दिसंबर को रैनीखेड़ा से बरामद हुआ था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार उनकी मौत दम घुटने से हुई थी। नरेश और उसके कर्मचारी अशोक ने राजेश के डॉक्टर महादीप व अन्य तीन लोगों को भी अपने साथ मिला लिया था । 26 दिसंबर की रात आरोपी उन्हें नींद का हैवी डोज देकर भोपाल से छिंदवाड़ा ले गए। वहां उन्होंने बेहोश राजेश को उनकी कार में बिठाकर खाई में धक्का दे दिया। फिर पेट्रोल छिड़ककर कार को आग लगा दी थी। 

पूछताछ में नरेश ने एसआईटी की टीम को कुछ देर तक गुमराह किया। हालांकि, सख्ती दिखाने पर उसने अपने साथियों का नाम बता दिया। राजेश की हत्या के जुर्म में पुलिस ने नरेश गुर्जर, अशोक अग्रवाल, मो. इस्माईल, महादीप डेहरिया, शाहरुख खान और शाहवर खान को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या में साथ देने के लिए नरेश और अशोक ने सभी आरोपियों को 50-50 हजार रुपए दिए थे।

... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X