अमर उजाला फाउंडेशनः आगरा और दिल्ली में हुआ था नजरिया 2018 का आयोजन

अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 07 Sep 2019 07:42 PM IST
विज्ञापन
Nazariya 2018 know about the guest of programme
- फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से नजरिया-2019 का आयोजन 17 सितंबर 2019 को चंडीगढ़ में होने जा रहा है। अपने द्वितीय वर्ष में प्रवेश कर चुके इस आयोजन में इस वर्ष भी जीवन और समाज के विविध क्षेत्रों के लिए नये नजरिये के साथ सार्थक काम कर चुके व्यक्तित्व अपने विचार रखेंगे। 
विज्ञापन


इस वर्ष आयोजन में शिक्षाविद्, वैज्ञानिक और इंजीनियर सोनम वांगचुक, पानी के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम कर रहे बेंगलुरू के आनंद मल्लिग्वाद जो सूखती झीलों के मसीहा माने जाते हैं वे शामिल होंगे और अपने समाज जीवन के अनुभवों को शामिल करेंगे। इसके अतिरिक्त राष्ट्रीय पुरस्कार जीतने वाली फिल्म अंधाधुन के निर्माता संजय राउतरे  शामिल होंगे जो एक वक्ता के रूप में अपने जीवन अनुभवों को श्रोताओं से साझा करेंगे।
अमर उजाला फाउंडेशन नजरिया 2019ः रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू, मिस्ड कॉल देकर करें पंजीकरण  

कैसा रहा 2018 का कार्यक्रम  
25 मार्च 2018 को अमर उजाला फाउंडेशन द्वारा कार्यक्रम की पहली कड़ी में आगरा में देश में अपनी तरह का सबसे अलग और अनूठा कार्यक्रम था। यह हिंदी में आयोजित होने वाला पहला ऐसा कार्यक्रम था जिसमें अमर उजाला ने अंतरराष्ट्रीय स्तर के वक्ताओं को युवाओं को सुनने का मौका मिला। इस कार्यक्रम में रक्षित टंडन, मनिका बत्रा, मनोज मुतशिर, पायल ठाकुर और इम्तियाज अली शामिल हुए। मनोरंजन, टेक्नॉलॉजी, साइबर सुरक्षा, नागरिक अधिकार, स्वास्थ्य, परिवार और समाज जीवन जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर व्याख्यान दिए। 

इस कार्यक्रम में पवन दुग्गल भी शामिल हुए जो दुनिया के चार सबसे सम्मानित और जानकार साइबर वकीलों में से एक माने जाते हैं। बता दें कि पवन दुग्गल ने दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट में वकालत करते हुए साइबर कानूनों के क्षेत्र में लगातार बेहद अहम काम किया। इसी तरह मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में अग्रणी शैक्षणिक विशेषज्ञों में से एक और फोर्टिस हेल्थकेयर के मानसिक स्वास्थ्य और व्यवहार विज्ञान विभाग के निदेशक डॉ. समीर पारीख भी शामिल हुए।  इसके अतिरिक्त कथक कलाकार दिव्या गोस्वामी दीक्षित शामिल हुईं थीं। 

कार्यक्रम की दूसरी कड़ी में 26 मई 2018 को दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में मनोज मुतशिर, पायल ठाकुर, इसरो के वैज्ञानिक इम्तियाज अली, और साउथ कोरियाई विवि के प्रोफेसर राजेश राज वक्ता के रूप में शामिल हुए। वहीं गायिका के तौर पर पायल ठाकुर ने अपनी प्रस्तुति दी।   
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us