विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

पंजाब

शुक्रवार, 10 अप्रैल 2020

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, कोरोना मरीजों के इलाज में लगे कर्मचारियों का वेतन किया दोगुना

हरियाणा सरकार ने कोरोना संक्रमितों के इलाज में जुटे डॉक्टर, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मियों समेत अन्य कर्मचारियों के लिए बड़ी घोषणा की है। सरकार कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे सभी अग्रणी कर्मचारियों को दोगुना वेतन देगी। सरकार के अगले आदेशों तक दोगुना वेतन मिलता रहेगा।

सीएम मनोहर लाल ने डॉक्टरों, आईएमए पदाधिकारियों, हेल्थ यूनिवर्सिटी के वीसी, मेदांता अस्पताल के डॉक्टर नरेश त्रेहन व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों संग बैठक कर यह निर्णय लिया है। कोरोना से आगे की लड़ाई के लिए गुरुवार को उन्होंने स्वास्थ्य सिस्टम व तैयारियों का मूल्यांकन किया। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की मौजूदगी में कोरोना से लड़ाई की तैयारियों पर संतोष जताया। बैठक के दौरान सीएम ने आइसोलेशन वार्ड में काम करने वाले डॉक्टरों व नर्स के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बात की और उनका मनोबल बढ़ाया।

इस दौरान डॉ. सोनिया ने कोरोना से लड़ रहे डॉक्टरों के सामने चुनौतियों व उनके बीमा का विषय उठाया। जिस पर सीएम मनोहर लाल ने कहा कि उन्हें सबकी चिंता है। वे अपना काम पूरी तन्मयता से करें, हम अपना कर रहे हैं। डॉक्टरों व अन्य स्टाफ की एक्सग्रेसिया राशि पहले ही बढ़ाई जा चुकी है। समय-समय पर हर जरूरी निर्णय लेंगे। 
... और पढ़ें

Coronavirus: मानसा में एक दिन में छह नए केस, संगरूर में कोरोना की दस्तक, इन जगहों पर मिले पॉजिटिव

बुढलाडा में गुरुवार को दो बच्चों समेत छह लोग कोरोना वायरस से संक्रमित मिले है। इससे पहले मरकज से लौटे पांच लोग एक मस्जिद में रुके थे और वे पॉजिटिव मिले थे। सभी को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने जमातियों और संपर्क में आने वाले 49 लोगों के सैंपल पटियाला भेजे थे। इसमें 11 लोग पॉजिटिव मिले हैं।

गुरुवार को जिन छह लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है, उनमें दो बच्चों के अलावा एक दंपती और दो अन्य महिलाएं शामिल हैं। बताया जा रहा है कि दिल्ली मरकज से लौटने वाले व्यक्ति इनके घरों में रुके थे। यह लोग शहर के वार्ड 2 के निवासी हैं, जबकि इससे पहले शहर के वार्ड- 4 को कोरोना पॉजिटिव मिलने पर पूरी तरह सील किया गया था।

पठानकोट में कोरोना पीड़ित महिला की मौत और पति समेत 6 पारिवारिक सदस्यों के पॉजिटिव आने के बाद गुरुवार को राहत की खबर आई। परिवार और उनके संपर्क में आए 62 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। वहीं पठानकोट में कोरोना संक्रमण की शुरुआत एक शादी में आए विदेशी मेहमान से हुई थी। 
... और पढ़ें

बेहद खास है साइबर स्कूल मैनेजर एप, 20 हजार टीचर और ढाई लाख बच्चे हैं जुड़े, ऐसे लग रही वर्चुअल क्लास

लॉकडाउन के बावजूद कुछ स्कूलों की पढ़ाई निर्बाध जारी है। वह भी घर बैठे। जिस तरह स्कूलों से क्लास लगती थी, उसी तरह से हर टीचर आज भी अपने विषय की क्लास लेते हैं और बच्चे भी अटेंड करते हैं। यह सब सॉफ्टवेयर इंजीनियर पुनीत वर्मा की वजह से संभव हो सका है। उनकी कंपनी साइब्रेन साफ्टवेयर साल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड ने साइबर स्कूल मैनेजर एडवांस एप तैयार किया है, जो छात्र व अभिभावक को स्कूल व शिक्षकों के साथ बहुत ही कुशल तरीके से जोड़ता है। 

पुनीत इस कंपनी के डायरेक्टर हैं और वे अमर उजाला बेस (बिजनेस एकेडमिक एंड सोशल एंटरप्रेन्योर) से भी जुड़े हैं। ट्राइसिटी सहित पंजाब व हिमाचल के कई स्कूल एप के माध्यम से जुड़े हैं। दस दिनों के भीतर 20 से ज्यादा स्कूलों को ट्रेनिंग दी जा चुकी हैं और स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई भी शुरू हो चुकी है।

पुनीत के मुताबिक एप डाउनलोड करने के बाद कंपनी की ओर से टीचर को ट्रेनिंग दी जाती है कि एप को कैसे संचालित करना है। इस समय एप से करीब ढाई लाख बच्चे, 200 से ज्यादा स्कूल, 20 हजार टीचर व स्टाफ जुड़ा हुआ है। खास बात यह है कि पुनीत लॉकडाउन के दौरान मुफ्त में ही ट्रेनिंग व अन्य कार्य कर रहे हैं। 
... और पढ़ें

Coronavirus in Punjab: 11 लोगों की मौत, एक दिन में 15 नए केस, पीड़ितों की संख्या 130 हुई

पंजाब में जैसे-जैसे लॉकडाउन और कर्फ्यू की अवधि समाप्त होने का दिन नजदीक आ रहा है, वैसे ही कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। गुरुवार को राज्य में इस घातक रोग से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़कर 130 तक पहुंच गई। बीते 24 घंटे के दौरान कुल 24 नए मामले सामने आए, जिनमें से 9 केस कल देर रात कंफर्म हो गए थे। शेष 15 पीड़ितों की रिपोर्ट गुरुवार दिन में पॉजिटिव आई है। 

वहीं, कल रात रोपड़ में एक कोरोना पीड़ित की मौत के बाद गुरुवार दिन में बरनाला और जालंधर में भी एक-एक कोरोना पीड़ित की मौत हो गई और इसके साथ ही राज्य में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा भी 11 हो गया है। बीते 24 घंटे में चार लोगों के ठीक होने की भी खबर है, जिससे राज्य में इस वायरस पर जीत दर्ज करने वालों की संख्या बढ़कर 18 हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, गुरुवार को बरनाला और जालंधर में एक-एक रोगी की मौत हुई। इससे पहले बुधवार देर रात रोपड़ में एक रोगी की मौत हो गई थी। राज्य में अब तक 3192 संदिग्ध लोगों के सैंपलों की जांच की गई है, जिनमें से 2777 लोगों के सैंपल निगेटिव पाए गए, जबकि 285 की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। इस समय 130 पॉजिटिव केसों में से 101 लोग आइसोलेशन वार्डों में दाखिल हैं। 

गुरुवार को लुधियाना में चार पॉजिटिव केस सामने आए जिनमें से दो कल देर रात के हैं। इनमें दो केस के अलावा मुक्तसर का 1 और मानसा के 6 पॉजिटिव केस तब्लीगी जमात से लौटे लोगों के हैं। इनके अलावा मोहाली में 7 नए पॉजिटिव केस सामने आए, जिनमें से चार केस कल रात कंफर्म हो गए थे। अन्य जिलों में, जालंधर से 4 केस (इनमें 2 केस कल देर रात कंफर्म हुए), बरनाला और संगरूर से 1-1 केस पॉजिटिव पाया गया है। 
... और पढ़ें
कोरोना, लॉकडाउन और बढ़ते मामले कोरोना, लॉकडाउन और बढ़ते मामले

कोरोना पर चार राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, पंजाब में 10 लाख लोगों की होगी स्क्रीनिंग

पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और पुडूचेरी के स्वास्थ्य मंत्रियों ने गुरुवार देर शाम वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिये कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए अपने-अपने राज्यों में अपनाए गए तरीकों को साझा किया। मंत्रियों ने अपने राज्यों की रणनीति सामने रखी और कोरोना के मामलों में विस्तार को देखते ट्रेसिंग और टेस्टिंग को बढ़ाने की जरूरत पर सहमति जताई। 

स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने अन्य मंत्रियों को अवगत करवाया कि पंजाब ने जरूरी मशीनों की खरीद के साथ टेस्टिंग क्षमता को दस गुणा बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने 10 लाख लोगों की स्क्रीनिंग करने के उद्देश्य से रैपिड टेस्टिंग मुहिम शुरू करने का फैसला लिया है। इसके अलावा पंजाब कैबिनेट की तरफ से 10 लाख रैपिड टेस्टिंग किट (आरटीके) खरीदने की मंजूरी मिलने के बाद आईसीएमआर को एक लाख किटों का आर्डर दे दिया गया है। 

उन्होंने बताया कि पटियाला और अमृतसर के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में वायरल रिसर्च डायगनोस्टिक लैब (वीआरडीएल) की टेस्टिंग क्षमता बढ़ाई गई है। इसके अलावा भारत सरकार से जीएमसी फरीदकोट, डीएमसी और सीएमसी लुधियाना में टेस्टिंग के लिए मंजूरी मांगी गई है। सिद्धू ने बताया कि लुधियाना में पीपीई किट बनाने का काम किया जा रहा है। इसके एक बार चालू होने से न सिर्फ पंजाब अपनी जरूरत को पूरा कर सकेगा बल्कि अन्य राज्यों को आपूर्ति की किटें बना लेगा।

स्वास्थ्य मंत्रियों ने कोविड-19 मामलों में तेजी से वृद्धि की हालत में प्रत्येक जिला मुख्यालय में जांच सुविधा स्थापित करने की सलाह दी। सिद्धू ने कहा कि हालांकि भारत सरकार से जीएमसी फरीदकोट, डीएमसी और सीएमसी लुधियाना में टेस्टिंग को मंजूरी मिलने से पंजाब इस हालात से निपटने की उम्मीद कर रहा है। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के दौरान मनीष तिवारी और शशि थरूर और सैम पित्रोदा भी शामिल हुए। 
... और पढ़ें

Coronavirus: मोहाली में कोरोना का एक और पॉजिटिव मिला, जिले में 37 में से 21 मामले जवाहरपुर गांव के

डेराबस्सी के गांव जवाहरपुर में मिले नये कोरोना पॉजिटिव केस के साथ ही मरीजों की संख्या 22 पहुंच गई है। जो पंजाब के कई जिलों से अधिक है। गुरुवार को एक दुकानदार की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ गई है। जिसने प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। 

यह दुकानदार डेराबस्सी निवासी है और गांव में मनियारी की दुकान करता है। प्रशासनिक अधिकारियों में पहले यह राहत की खबर थी कि सारे मरीज गांव के ही निकल रहे हैं, जिसके चलते गांव को सील कर दिया गया था। उनकी पूरी कोशिश थी कि कोरोना की चेन को गांव से बाहर नहीं जाने देंगे।

लेकिन उनकी यह कोशिश नाकाम रही और गांव के बाहर पहला पॉजिटिव केस सामने आ चुका है, जो पूरे इलाके के लिए बड़ा खतरा बन सकता है। अब प्रशासन दुकानदार के संपर्क में आए लोगों को तलाशना शुरू कर दिया है। जानकारी के अनुसार कोरोना पॉजिटिव दुकानदार डेराबस्सी पुलिस स्टेशन के पीछे शक्ति नगर में रहता है। 

उसकी दुकान गांव जवाहरपुर में सबसे पहले आए पॉजिटिव मरीज के घर के सामने है। हो सकता है कि दुकानदार उसके संपर्क में आने के बाद ही कोरोना का शिकार हुआ हो। हालांकि उसके अभी तक कोई लक्षण सामने नहीं आए थे। लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने पहले लिए गए 118 सैंपलों में उसका भी सैंपल लिया था, जिसकी रिपोर्ट बीती रात पॉजिटिव आई है। प्रशासन ने शक्ति नगर और नजदीकी क्षेत्र को सील कर दिया है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: पंजाब में अब मास्क पहनना हुआ अनिवार्य, 15 जून को खुलेगा जलियांवाला बाग

पंजाब में अब हर किसी को मास्क पहनना अनिवार्य हो गया है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार रात ट्वीट कर कहा कि पंजाब में अब मास्क लगाना अनिवार्य होगा। उन्होंने स्वास्थ्य सचिव को यह निर्देश भी दे दिए हैं कि राज्य के सभी सार्वजनिक स्थानों पर लोगों को मास्क पहनना अनिवार्य किए जाने संबंधी एडवायजरी भी जारी की जाए।

मुख्यमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा- आप साधारण कपड़े का मास्क भी इस्तेमाल कर सकते हो और आपसे अपील है कि कपड़े के मास्क को हर रोज साबुन या डिटर्जेंट से धोएं। जब भी घर से बाहर जाएं तो मास्क पहनकर ही जाएं। कैप्टन ने आह्वान किया-आओ सभी मिलकर अपनी सुरक्षा और साफ-सफाई को यकीनी बनाएं और कोविड-19 से अपना और अपने लोगों का बचाव करें।

अब 15 जून को खुलेंगे जलियांवाला बाग के किवाड़
कोरोना वायरस के संक्रमण कारण जलियांवाला बाग में पर्यटकों के प्रवेश पर लगी पाबंदी बढ़ा दी गई है। अब जलियांवाला बाग 15 जून को खुलेंगे। पहले इसे 11 अप्रैल तक ही बंद रखने के आदेश थे। जलियांवाला बाग के सचिव एस. मुखर्जी ने बताया कि नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन इस एतिहासिक स्थल के विरासती ढांचे, लैंड स्कैपिंग, सिंचाई व्यवस्था, म्यूजियम के जीर्णोद्धार, लाइट एंड साउंड शो सहित कई कार्य कर रहा है। 

कोरोना संक्रमण के कारण रख-रखाव एवं मरम्मत का काम प्रभावित हुआ है। इसलिए जलियांवाला बाग 15 जून को खोला जाएगा। वहीं जलियांवाला बाग में शताब्दी समारोह के समापन समारोह के आयोजन के बारे में अभी जिला प्रशासन की तरफ से कोई जानकारी नहीं दी गई है। संभावना है कि कोरोना के कारण समापन समारोह के कार्यक्रम नहीं होंगे।
... और पढ़ें

श्मशान घाट में अस्थियां रखने को जगह पड़ी कम, लोग पंखे के हुक में टांगने को मजबूर

कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)
कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ी जा रही जंग के बीच श्मशान घाट में मृतकों का अंतिम संस्कार करने के बाद उनकी अस्थियों को रखने के लिए जगह कम पड़ गई। जिस कारण मृतकों के वारिस मृतक की अस्थियों को छत के साथ लगी हुक और लॉकरों के ऊपर रखकर जाने को मजबूर है।

शहर निवासी राहुल ने बताया कि उसके दोस्त की सोमवार को मौत हो गई थी। जिसके बाद उसका अंतिम संस्कार दाना मंडी वाले श्मशान घाट में मंगलवार को कर दिया था। उसने बताया कि एक दिन बाद गुरुवार को जब उसके दोस्त के परिजनों ने चिता से अस्थियां निकालकर अस्थि घर में रखनी चाही तो वहां उन्हें लॉकर नहीं मिला। जिस कारण मृतक के परिजनों ने अस्थियों की गठड़ी को छत पर लगी हुक से टांग दिया। 

राहुल ने मांग की श्मशान घाट प्रबंधकों को अस्थियां रखने के लिए प्रबंध करना चाहिए, जब तक हालात ठीक नहीं हो जाते और ट्रेन नहीं चलने लगती। श्मशान घाट के प्रबंधक राजन गर्ग ने कहा कि मामला ध्यान में आया था। जिस के बाद उन्होंने मृतकों की अस्थियों को रखने के लिए दो कमरों का और प्रबंध कर दिया है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: पंजाब सरकार पर बरसे नवजोत सिंह सिद्धू, बोले- आबादी तीन करोड़, टेस्ट सिर्फ 2200

पंजाब के कांग्रेस विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कोरोना वायरस के खिलाफ सूबे में लड़ी जा रही जंग को लेकर पंजाब सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। अपने यूट्यूब चैनल 'जीतेगा पंजाब' पर गुरुवार को अपलोड किए वीडियो में सिद्धू कोरोना वायरस पर पंजाब के लोगों से बातचीत करते दिखाई दिए और राज्य सरकार पर कई सवाल खड़े किए। 

उन्होंने कहा कि बेशक भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की मृत्यु दर 2.7 प्रतिशत ही है लेकिन 133 करोड़ की आबादी में अब तक लगभग 1.17 लाख लोगों का ही टेस्ट हो सका है। इसलिए यह कहना मुश्किल है कि हम और हमारा देश आज कहां खड़े हैं। उन्होंने कहा कि अगर हम पंजाब की बात करें तो सूबे की कुल तीन करोड़ आबादी हैं लेकिन अब तक सरकार 2200 लोगों के ही टेस्ट कर पाई है। जिनमें से 115 लोग संक्रमित मिले हैं और 10 लोगों की मौत हो चुकी हैं। ऐसे में हमारा राज्य और देश विश्व के अन्य देशों के मुकाबले बहुत पीछे है। 

उन्होंने आगे कहा कि दक्षिण कोरिया और सिंगापुर ने कोरोना को हराया है। दक्षिण कोरिया ने लगातार टेस्टिंग करके अपने देश में फैल रहे वायरस के ग्राफ को रोक दिया। वहां की कुल आबादी पांच करोड़ हैं, जिसमें से उन्होंने 4.5 करोड़ के टेस्ट कर डाले और कोरोना के संक्रमण को रोक दिया। वहीं सिंगापुर जैसे देश ने भी वैसा ही किया। 

सिद्धू ने आगे कहा कि दक्षिण कोरिया और सिंगापुर ने कोरोना वायरस पॉजिटिव केसों की पहचान की। उन्हें आइसोलेट किया और ये सब कुछ टेस्टिंग से ही संभव हुआ है। इसलिए बिना टेस्टिंग के कोरोना के ग्राफ का सही पता लगाना शायद उचित नहीं होगा। सिद्धू ने कहा कि पंजाब में अब तक बहुत कम लोगों का टेस्ट हुआ है।  सरकार को इस ओर विशेष ध्यान देना चाहिए। तभी इस वैश्विक महामारी के संक्रमण पर रोक संभव हो सकेगी।
... और पढ़ें

जालंधर में कोरोना से बुजुर्ग की मौत, अंतिम संस्कार में बाधा डालने वाले 60 लोगों पर केस, तीन नए मामले भी

कोरोना वायरस से गुरुवार को जालंधर में पहली मौत हो गई। गुरुवार सुबह 60 वर्षीय बुजुर्ग ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वह जालंधर के कोरोना सेंटर में वेंटिलेटर पर थे। वहीं गुरुवार को तीन नए मरीज पॉजिटिव आए हैं। वहीं चिकित्सक इस बात से हैरान हैं कि चारों में कोरोना कहां से आया। इन चारों का कोई यात्रा इतिहास नहीं है और संक्रमित लोगों से उनका कोई संपर्क भी नहीं था। 

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने मृतक के पांच पारिवारिक सदस्यों के अलावा नौकरानी और दूध सप्लाई करने वाले को भी आइसोलेट कर दिया है। उनके सैंपल लेकर जांच को अमृतसर मेडिकल कॉलेज भेज दिए गए हैं। इसके अलावा जालंधर उत्तर से विधायक बावा हेनरी के अलावा उनके पिता पूर्व मंत्री अवतार हेनरी समेत करीब 48 कांग्रेसी नेताओं को क्वारंटीन किया गया है। दरअसल, मृतक का बेटा कांग्रेसी नेता है।

मृतक को बुधवार शाम को ही कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला था। इसके बाद से वह सिविल अस्पताल के कोरोना वार्ड में वेंटिलेटर पर थे। गुरुवार सुबह उनकी मौत हो गई। कैलाश फार्मेसी के संचालक प्रवीण कुमार शर्मा की मौत के बाद मिट्ठा बाजार के लोगों में दहशत फैल गई। गुरुवार को तीन नए केस पॉजिटिव मिले। तीनों को ट्रॉमा में शिफ्ट कर दिया गया है। इनमें मकसूदां क्षेत्र से 50 वर्षीय पुरुष, पुरानी सब्जी मंडी पटेल चौक निवासी महिला (60) और भैरों बाजार से एक महिला (65) पॉजिटिव पाई गई हैं। 
... और पढ़ें

पंजाब: फोन करने के डेढ़ घंटे बाद पहुंची एंबुलेंस, अशोक चक्र विजेता पूर्व नेवी कैप्टन की मौत

अदम्य साहस के लिए पूर्व राष्ट्रपति डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन से अशोक चक्र हासिल करने वाले कैप्टन जसवंत सिंह बावा सिस्टम के आगे हार गए। 108 एंबुलेंस के देर से पहुंचने के चलते 80 वर्षीय पूर्व नेवी कैप्टन की शुगर बढ़ने से मौत हो गई। परिवार ने आरोप लगाया कि कंट्रोल रूम में फोन करने के करीब डेढ़ घंटे बाद एंबुलेंस पहुंची। 

पंजाब के कपूरथला के गांव धालीवाल चौक में रहने वाले हरमिंदर सिंह बावा ने बताया कि उनके चाचा पूर्व नेवी कैप्टन जसवंत सिंह बावा को अदम्य साहस और वीरता के लिए तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने अशोक चक्र से सम्मानित किया था। वह शुगर से पीड़ित थे। बुधवार देर रात करीब 11 बजे शुगर बढ़ने के चलते उनकी हालत बिगड़ गई। उनको अस्पताल ले जाने के लिए घर में कोई भी साधन नहीं था इसलिए एंबुलेंस के लिए फोन किया गया। 

कई बार सूचित किए जाने के बावजूद एंबुलेंस नहीं पहुंची तो उन्होंने कंट्रोल रूम पर पुलिस को भी सूचित किया। तबीयत खराब होने के करीब डेढ़ घंटे बाद एंबुलेंस उनके घर पहुंची। तब तक उनके चाचा दम तोड़ चुके थे। वहीं 108 एंबुलेंस सर्विस के इंचार्ज अमित कुमार ने कहा कि यह मामला उनके ध्यान में आ चुका है। इस मामले की जांच की जाएगी। जो भी आरोपी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

हरियाणा: पंचकूला में कोरोना के तीन नए मामले, इनमें 18 साल का युवक, 80 साल का बुजुर्ग भी संक्रमित

राजस्थान मरकज में शामिल तब्लीगी जमात के तीन लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें एक 18 साल का युवक और 80 साल का बुजुर्ग भी शामिल है। तीनों को सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। एक मरीज कालका के खुदाबख्श गांव का है जबकि दूसरा पिंजौर के बक्शीवाला का। 

इसी के साथ अब पंचकूला में कोरोना के मरीजों की संख्या पांच हो गई है। पीजीआई की रिपोर्ट के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इसकी पुष्टि की है। पंचकूला जिला स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी राजीव नरवाल ने बताया कि तीनों मरीजों की पूरी निगरानी रखी जा रही है।

177 जमातियों के भेजे गए थे सैंपल
पंचकूला स्वास्थ्य विभाग की ओर से 177 जमातियों को गुरुद्वारा श्री नाडा साहिब व गांव मौली समेत कई जगह क्वारंटीन किया गया है। इसमें सभी के सैंपल टेस्टिंग के लिए पीजीआई भेजे गए थे। अभी तीन के सैंपल पॉजिटिव आए हैं। 

सामने आए सभी जमातियों के कराए जा रहे टेस्ट
सिविल अस्पताल सेक्टर- 6 के सीएमओ डॉक्टर जसजीत कौर ने बताया कि जमात के जो लोग अभी तक सामने आए हैं,  हम सभी के टेस्ट करा रहे हैं। सभी को क्वारंटीन किया गया है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: चंडीगढ़ में बिना मास्क घर से निकले तो होगी जेल, गाड़ी के अंदर और ऑफिस में भी अनिवार्य

यूटी प्रशासन ने मंगलवार को मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया था लेकिन गुरुवार को इस बारे में नोटिफिकेशन जारी कर दी गई है। प्रशासन के आदेश के अनुसार अगर अब कोई भी व्यक्ति घर से बाहर बिना मास्क पहने निकलता है तो उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी और उसे तुरंत गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। प्रशासन ने इन आदेशों के सख्ती से पालन के निर्देश दिए हैं।

आदेश में कहा गया है कि चंडीगढ़ में कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बरकरार है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को वैश्विक महामारी घोषित किया है। भारत सरकार ने इसको देखते हुए 25 मार्च से 14 अप्रैल मध्य रात्रि तक लॉकडाउन की घोषणा की है। विभिन्न तरह के अध्ययन में यह सामने आया है कि चेहरे का मास्क कोरोना वायरस के खतरे को काफी कम कर देता है। 

सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा कोरोना को रोकने में यह काफी मददगार साबित होता है, इसलिए प्रशासन ने निर्णय लिया है कि शहर के प्रत्येक व्यक्ति को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। कोई भी व्यक्ति अगर वह घर से बाहर किसी भी काम के लिए निकल रहा है तो उसके चेहरे पर मास्क होना चाहिए।

गाड़ी के अंदर सफर कर रहे हैं तो भी मास्क जरूरी
प्रशासन ने यह आदेश डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 के सेक्शन 22 के तहत जारी किए हैं। इसमें किसी भी अस्पताल, सड़क, ऑफिस, मार्केट आदि जाने पर थ्री प्लाई मास्क पहनना अनिवार्य है। कोई भी व्यक्ति अगर पैदल या गाड़ी के अंदर भी सफर कर रहा है तो उसको भी मास्क पहनना पड़ेगा। 

इसके अलावा किसी भी ऑफिस या अन्य स्थानों पर काम करने वाले व्यक्ति को भी मास्क पहनना जरूरी है। कोई भी बैठक चाहे वह सरकारी हो या गैर सरकारी मास्क के बिना नहीं हो सकती। यह मास्क किसी भी केमिस्ट शॉप या घर में बनाए भी हो सकते हैं। प्रशासन ने कहा है कि अगर इन नियमों का उल्लंघन हुआ है तो आईपीसी की धारा 188 के अनुसार व्यक्ति को तुरंत गिरफ्तार किया जा सकता है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन