विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

चंडीगढ़: मनीमाजरा में मिलीं मां और बेटा-बेटी की गला कटी लाशें, इलाके में फैली सनसनी

मनीमाजरा में महिला और बेटा-बेटी की निर्मम हत्या, तीनों का गला काटा, इलाके में सनसनी

23 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

अमृतसर

गुरूवार, 23 जनवरी 2020

4000 नशीली गोलियों सहित व्यक्ति गिरफ्तार

थाना सदर की पुलिस ने एक युवक को चार हजार नशीली गोलियों सहित गिरफ्तार किया है। युवक से ट्रामाडोल तथा क्लोविडोल नामक गोलियां बरामद की गई है। एएसआई हरमिंदर सिंह ने बताया कि वह थाना सदर में मौजूद था कि उन्हें नारकोटिक्स सेल गुरदासपुर में तैनात दविंदर सिंह ने फोन कर बताया कि उन्होंने गश्त के दौरान हरदोछन्नी चौक बाईपास से एक युवक को पकड़ा है। जिसकी पहचान जरनैल सिंह उर्फ हैप्पी पुत्र हरद्याल सिंह निवासी नई आबादा हयातनगर के रूप में हुई है। इस युवक के पास कोई नशीला पदार्थ होने का शक है। जिसके चलते वह मौके पर पहुंचे तथा डीएसपी कुलविंदर कुमार की मौजूदगी में आरोपी की तलाशी ली गई। तलाशी के दौरान उक्त युवक से 8 डिब्बों की पैकिंग में चार हजार नशीली गोलियां ट्रामाडोल तथा क्लोविडोल की बरामद की गई। इस संबंधी युवक को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ एनडीपीएस की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। ... और पढ़ें

फ्रांस की संगत ने विवादित प्रचारक ढढरियांवाले व हरिंदर सिंह का किया बायकॉट

फ्रांस की संगत ने विवादित प्रचारक ढढरियांवाले व हरिंदर सिंह का किया बायकॉट
फ्रांस में किसी भी गुरुद्वारा साहिब में नहीं का सकेंगे प्रचार, दमदमी टकसाल के प्रवक्ता को भेजा पत्र
अमर उजाला ब्यूरो
अमृतसर। फ्रांस की सिख संगत ने विवादित प्रचारक रंजीत सिंह ढढरियांवाले और उनके साथी हरिंदर सिंह (निरवैर खालसा जत्था यूके) पर फ्रांस के किसी भी गुरुद्वारे में प्रचार करने पर पाबंदी लगा दी है। हरिंदर सिंह श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व को लेकर की गई आपत्तिजनक टिप्पणियों के बाद विवादों में आए थे। फ्रांस की सिख संस्थाओं ने इस संदर्भ में दमदमी टकसाल के प्रवक्ता प्रोफेसर सरचांद सिंह को दोनों विवादित प्रचारकों पर लगई पाबंदी का पात्र भेजा है। सरचांद सिंह ने पत्र की कॉपी मीडिया को जारी करते हुए कहा कि रंजीत सिंह ढढरियांवाले व हरिंदर सिंह के बायकॉट का फैसला गुरुद्वारा सिंह सभा बोंबिनी फ्रांस ने संगत की बैठक के बाद लिया है। इसमें संगत की उपस्थिति में गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने प्रस्ताव पारित कर फैसला किया कि जब तक दोनों प्रचारक श्री अकाल तख्त साहिब के समक्ष पेश होकर अपना पक्ष नहीं रखते और श्री अकाल तख्त साहिब की मर्यादायों व परंपराओं के अनुसार दोषमुक्त नहीं हो जाते तब तक फ्रांस की संगत इन दोनों प्रचारकों का बायकॉट जारी रखेगी। बता दें कि इंग्लैंड की सिख संगत ने प्रस्ताव पारित कर दोनों प्रचारकों पर इंग्लैंड के सभी गुरुद्वारों पर इनके प्रचार पर पाबंदी लगाई हुई है।
श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने ढढरियांवाले पर आगे आरोपों की जांच के लिए पांच सदस्यीय कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी ने ढढरियांवाले को 22 दिसंबर को पटियाला स्थित गुरुद्वारा दुख निवारण की मीटिंग हाल में पेश होने के लिए पत्र लिख था। लेकिन ढढरियांवाले ने कमेटी के आगे पेश होने से इंकार कर दिया और कहा कि वह शिकागो में एक कार्यक्रम में जा रहे हैं। यदि वह देश में भी होते तो इस कमेटी के समक्ष पेश न होते। ढढरियांवाले ने कहा था कि बेशक श्री अकाल तख्त उन्हें पंथ से निष्काषित कर दे।
इस बैठक में गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी बोंबिनी के साथ-साथ गुरुद्वारा बाबा मक्खन शाह लुबाणा, गुरुद्वारा संत बाबा प्रेम सिंह जी, गुरुद्वारा सचखंड श्री गुरु तेग बहादुर जी व गुरुद्वारा रवि दास जी टेंपल के प्रबंधकीय सदस्य सुखदेव सिंह, रघबीर सिंह, परमजीत सिंह, प्रीतम सिंह, शमशेर सिंह, करनैल सिंह व गुरमीत सिंह मौजूद थे।
... और पढ़ें

विदेश भेजने के नाम पर 11 लाख की ठगी

थाना सिटी की पुलिस ने विदेश भेजने के नाम पर 11 लाख 36 हजार रुपये कह्म् धोखाधड़ी करने के आरोप में तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस को दी गई शिकायत में जोगिंदर सिंह निवासी चौड़ा खुर्द ने बताया कि रोहित कुमार निवासी खजानचियां मोहल्ला पुराना बाजार की हरदोछन्नी रोड पर हलवाई व चाय की दुकान है। वहां वह चाय पीने के लिए जाता था। साल 2015 में रोहित कुमार ने उसे बताया वह एजेंट जतिनपाल सिंह के माध्यम से लोगों को विदेश भेजता है। रोहित ने उसके बेटे मनिंदर सिंह को विदेश स्वीडन वाया फिनलैंड के माध्यम से रशिया व फिर आबुधाबी से तुर्की देश टूरिस्ट वीजा के माध्यम से भेजने का प्लान बनाया और इसके एवज में 11 लाख 36 हजार रुपये लिए। बाद में बेटे को न विदेश भेजा और न ही पैसे वापस किए। मामले की जांच कर रहे डीएसपी सुखपाल सिंह ने बताया कि पीड़ित के बयान पर जतिनपाल सिंह, हरसिमरत कौर पत्नी जतिनपाल सिंह निवासी भाई रणधीर सिंह लुधियाना व रोहित कुमार के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। ... और पढ़ें

बुत न हटाने पर सिख संगठनों ने अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू किया

सचखंड श्री हरमंदिर साहिब की तरफ जाने वाले विरासती मार्ग में स्थापित सभ्याचारक बुतों को हटाने के लिए कई सिख संगठनों के सैकड़ों सदस्यों ने इन बुतों के बाहर चोंकड़ा (पालथी) मार अनिश्चितकाल धरना व प्रदर्शन शुरू कर दिया है। हाथों में बैनर उठाये संगठनों की मांग थी कि सचखंड श्री हरमंदिर साहिब को जाने वाले रास्ते से इन बुतों को हटाकर सिख इतिहास के साथ जुड़े प्रसंगों के आधार पर बुत स्थापित किये जाएं। साथ ही संगठनों के नेताओं ने बुतों को तोड़ने के मामले में अरेस्ट किये 9 सिख नौजवानों की रिहाई की मांग भी की। श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने अपील की कि वह इन बुतों को हटाने के लिए कौम को निर्देश जारी करें। बुतों को हटाने के लिए कई बार धरने लगाए गए, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।
बुतों को हटाने के लिए संघर्ष कर रही श्री गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार कमेटी के अध्यक्ष बलबीर सिंह मुछल ने कहा की प्रशासन सिखों के साथ अन्याय कर रहा है। अभी तक न तो पुलिस ने और न ही प्रशासनिक अधिकारी ने इन बुतों को हटाने के लिए सिख संगठनों के साथ बातचीत करने के लिए कोई न्योता दिया है। उन्होंने आरोप लगाया की एसएचओ कोतवाली ने गिरफ्तार नौजवानों के ककारों की बेअदबी की है। इस एसएचओ ने सिख नौजवानों को बेरहमी से पीटा है। इसके विरुद्ध भी मामला दर्ज करवाया जाएगा। एक सिख नेता ने कहा कि जब तक बुत नहीं हटाए जाते तब तक यही चोंकड़ा (पालथी) मार कर धरने पर बैठे रहेंगे। इस नेता खालिस्तान की स्थापना के लिए संघर्ष करने की आवाज भी उठाई। इस अवसर पर उन पुलिस अधिकारियों के साथ कोई भी संबंध न रखने की मांग की गई जो सिख नौजवानों के ककारों की बेअदबी के दोषी है। इस अवसर पर एसजीपीसी का घेराव करने का प्रस्ताव भी रखा गया।
बुतों को हटाने के लिए सबसे पहले आवाज उठाने वाली बीबी मंजीत कौर ने कहा कि इन बुतों के पास युवा श्री हरिमंदर साहिब में जाकर टिक टोक बनाकर बेअदबी कर रहे हैं। इन बुतों को हटाकर यहां पर सिख धर्म के चिह्न स्थापित किये जाने चाहिए। प्रचारक बताएं कि ये बुत कौन सा धार्मिक संदेश देते हैं।
जत्थेदार ने बुतों के मामले को सुलझाने के लिए गठित की तीन सदस्यीय कमेटी
सचखंड श्री हरमंदिर साहिब की तरफ जाने वाले हैरिटेज स्ट्रीट के रास्ते में स्थित धर्म सिंह मार्केट के बाहर स्थापित सभ्याचार बुतों के मामले को सुलझाने के लिए श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने एक सब-कमेटी का गठन किया है। इस कमेटी में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सीनियर उपाध्यक्ष राजिंदर सिंह मेहता, एसजीपीसी के मुख्य सचिव डॉ. रूप सिंह व चीफ खालसा दीवान के अध्यक्ष निर्मल सिंह को शामिल किया गया है। इस कमेटी के साथ तालमेल स्थापित करने की जिम्मेदारी एसजीपीसी के अतिरिक्त सचिव सुखदेव सिंह भुराकोना को दी गई है। जानकारी देते हुए भुराकोना ने बताया की जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह के आदेश के बाद गठित की कमेटी की बैठक 23 जनवरी शाम चार बजे एसजीपीसी के मुख्य दफ्तर में बुलाई गई है। कमेटी के सदस्य इस मामले पर चर्चा करने के बाद श्री अकाल तख्त साहिब को रिपोर्ट पेश करेंगे। दो दिन पूर्व ही ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने इन बुतों पर अपने विचार प्रकट करते हुए कहा था कि सचखंड के रास्ते में इस प्रकार के बुत स्थापित नहीं किये जाने चाहिए। पंजाबी सभ्याचार व सिख विरासत में बड़ा अंतर है।
अमृतसर में दरबार साहिब को जाने वाले रास्ते में हेरिटेज स्ट्रीट पर धरने पर बैठे निहंग सिंह जत्थे ब
अमृतसर में दरबार साहिब को जाने वाले रास्ते में हेरिटेज स्ट्रीट पर धरने पर बैठे निहंग सिंह जत्थे ब- फोटो : AMRITSAR
अमृतसर में दरबार साहिब को जाने वाले रास्ते में हेरिटेज स्ट्रीट पर धरने पर बैठे निहंग सिंह जत्थे ब
अमृतसर में दरबार साहिब को जाने वाले रास्ते में हेरिटेज स्ट्रीट पर धरने पर बैठे निहंग सिंह जत्थे ब- फोटो : AMRITSAR
अमृतसर में दरबार साहिब को जाने वाले रास्ते में हेरिटेज स्ट्रीट पर धरने पर बैठे निहंग सिंह जत्थे ब
अमृतसर में दरबार साहिब को जाने वाले रास्ते में हेरिटेज स्ट्रीट पर धरने पर बैठे निहंग सिंह जत्थे ब- फोटो : AMRITSAR
... और पढ़ें
अमृतसर में दरबार साहिब को जाने वाले रास्ते में हेरिटेज स्ट्रीट पर धरने पर बैठे निहंग सिंह जत्थे ब अमृतसर में दरबार साहिब को जाने वाले रास्ते में हेरिटेज स्ट्रीट पर धरने पर बैठे निहंग सिंह जत्थे ब

धन्यवाद!मेरे गावं वालों,इस प्यार का मूल्य में कभी नहीं लोटा सकता

अपने पूर्वजों के गांव मंसूरा पाकिस्तान के पुस्तैनी मकान सजदा कर पॉलीवुड स्टार गिप्पी ग्रेवाल ने एक फोटो पोस्ट करके कहा कि बहुत- बहुत धन्यवाद मेरे गांव वालों , मैं आपके इस दिए गए प्यार के मूल्य को कभी लौटा नहीं सकता है। ग्रेवाल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के सलाहकार जुल्फी बुखारी के न्योते पर पाकिस्तान गए थे। गिप्पी मंगलवार को अटारी सड़क सीमा के रास्ते लाहौर पहुंचे थे। जहां पर गिपी ग्रेवाल को कड़ी सुरक्षा में पाकिस्तान पंजाब के राज्यपाल चौधरी मोहम्मद सरवर के निवास स्थान पर पहुंचाया गया। ग्रेवाल ने यहां अपने दादा के दोस्त अनवर मोहम्मद के साथ बातचीत की। महमूद ने ग्रेवाल को उनका पुस्तैनी मकान दिखाया। ग्रेवाल ने इस घर की जमीन का सजदा किया और करीब आधे घंटे तक इसी गांवों में रहे। गिप्पी ने इसके बाद गिप्पी गुरुद्वारा श्री ननकाना साहिब के लिए रवाना हुए। उन्होंने वहां पर माथा टेका और मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि उनके उनके दादा आजादी से पहले इसी गांव में रहते थे। पाकिस्तान का दौरा करते हुए मुझे बहुत अच्छा लगा। अगली बार वे अपने परिवार के साथ पाकिस्तान आएंगे। ... और पढ़ें

दिल्ली में शिअद-भाजपा में दरार से सुखबीर बादल का सपना 'मिशन 2022' खतरे में, टूट सकता है

दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के साथ समझौता टूटना शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल के 'मिशन 2022' के सपने पर एक बड़ा राजनीतिक प्रहार है।

सांसद सुखदेव सिंह ढींढसा व उनके बेटे विधायक परमिंदर सिंह ढींढसा के शिअद (बादल) की राजनीतिक बस से उतरने के बाद प्रदेश की सिख सियासत में आए नए सियासी भूचाल के थपेड़ों को सुखबीर बादल अभी झेल ही रहे थे कि दिल्ली चुनाव में भाजपा ने उनके साथ कोई भी समझौता न करने के स्पष्ट संकेत दे दिए।

ऐसे में इसका प्रभाव 2022 चुनाव पर पड़ सकता है। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में अकाली दल के साथ समझौता न करने का फैसला पंजाब में सिख राजनीति के बदल रहे समीकरणों का अध्ययन करने के बाद ही लिया है।
... और पढ़ें

अमेरिका के 106 गुरुद्वारा साहिब के प्रतिनिधि बोले- सभ्याचारक बुतों को स्थापित करना ही बड़ी गलती

सचखंड श्री हरमंदिर साहिब के रास्ते में स्थापित सभ्याचारक बुतों को गिराने की कोशिश की गूंज अमरीका में भी सुनाई देने लगी है। इस संदर्भ में सिख कोआर्डिनेशन कमेटी ईस्ट कॉस्ट और अमेरिकन गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्यों के बीच एक टेली कांफ्रेंस हुई। इस दौरान अमेरिका में स्थित 106 गुरुद्वारा साहिब के प्रतिनिधियों ने कई पंथक मुद्दों पर चर्चा की।

इस टेली कांफ्रेंस में श्री हरमंदिर साहिब के रास्ते में स्थापित किए गए बुतों, नागरिकता संशोधन कानून, निजी चैनल द्वारा श्री हरमंदिर साहिब में प्रसारित हुकमनामे और गुरबाणी कीर्तन पर अपना हक जताने और अमरीका में जनगणना के दौरान सिखों की गिनती को अलग करने के मुद्दों पर सभी प्रतिनिधियों ने अपने विचार रखे।

सिख संगठनों के प्रतिनिधियों ने एक सुर में कहा कि श्री हरमंदिर साहिब के मुख्य रास्ते में बुतों को स्थापित करना बहुत बड़ी गलती थी। जिन सिख नौजवानों ने इन बुतों को गिराने की कोशिश की, उन्होंने इस गलती को सुधारने का प्रयास किया है। इन नौजवानों को अरेस्ट नहीं किया जाना चाहिए था। इस दौरान पंजाब सरकार के रवैये पर चिंता जताई गई।

कोऑर्डिनेटर हिम्मत सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार अभी तक बेअदबी के आरोपियों को अरेस्ट करने में असफल रही है जबकि इन नौजवानो पर तुरंत मुकदमा दायर कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

 
... और पढ़ें

श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार बोले- पंजाबी और सिख सभ्याचार में बहुत अंतर

फाइल फोटो
श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा कि हम पंजाबी भी हैं, सिख भी हैं। पंजाबी सभ्याचार का सम्मान है लेकिन सिख सभ्याचार और पंजाबी सभ्याचार के बीच बहुत बड़ा अंतर है। जिन सिख युवकों पर श्री हरमंदिर साहिब को जाने वाली हेरिटेज स्ट्रीट पर लगे बुतों को तोड़ने के आरोप में 307 का पर्चा दर्ज किया गया है, उसे रद्द किया जाना चाहिए।

इस मामले पर अभी तक चुप्पी साधे ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सचखंड श्री हरमंदिर साहिब की तरफ जाने वाले रास्तों में सिख भावनाओं को दर्शाने वाली वस्तुएं ही स्थापित की जानी चाहिए थी। इन युवकों ने भावुक होकर यह कदम उठाया है। जिस स्थान पर बुत स्थापित किए गए हैं, वहां सिख सभ्याचार की पेशकारी होनी चाहिए थी, न कि पंजाबी सभ्याचार को दिखाने वाले बुतों की। पंजाबी सभ्याचार तो पंजाब में रहने वाले सभी धर्मों के लोगों का साझा है लेकिन सिख विरासत और संस्कृति पर सिखों का अधिकार है। श्री हरमंदिर साहिब सिखों का केंद्र है। इस कारण वहां के रास्ते में इस प्रकार के बुत स्थापित नहीं किए जाने चाहिए थे। 

सिख प्रचारकों का विवाद सुलझाएगा श्री अकाल तख्त साहिब 
ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि जिस प्रचारक श्रेणी को सिख मानसिकता के भीतर गुरमत का ज्ञान व गुरमत के प्रति श्रद्धा भाव भरना है, वही आपस में जुबानी जंग में उलझे हुए हैं। यह ठीक नहीं है। श्री अकाल तख्त साहिब जल्द इन सभी प्रचारकों से संवाद करने का प्रयास करेगा। इनके आपसी विवाद को भी सुलझाया जाएगा। 

एक सवाल के जवाब में ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा कि रंजीत सिंह ढढरियांवाले के विरुद्ध जांच के लिए गठित कमेटी अपना काम कर रही है। इस कमेटी ने ढढरियांवाले को उन पर लगे आरोपों का स्पष्टीकरण देने के लिए गुरुद्वारा दुख निवारण साहिब में आने को कहा था ताकि स्थिति स्पष्ट हो सके। उन्हें अपना पक्ष पांच सदस्यीय कमेटी के समक्ष रखना चाहिए।
... और पढ़ें

बटालाः भाभी से लूट के विरोध पर देवर को मारी गोली, लुटेरे 40 हजार लेकर हुए फरार

बटाला के कस्बा अलीवाल के गांव गुज्जरपुरा के नजदीक सोमवार की देर शाम दो अज्ञात हथियारबंद लुटेरों ने एक महिला से 40 हजार रुपये लूट लिए। भाभी से लूट का विरोध करने पर लुटेरों ने देवर की टांग में गोली मार दी। घायल को बटाला से अमृतसर रेफर कर दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लुटेरों की तलाश शुरू कर दी है।

गोली लगने से घायल हुए मोती लाल निवासी गांव गुज्जरपुरा ने बताया कि वह रिक्शा चलाता है और सोमवार की शाम को उसका भाई हरबंस लाल और भाभी मनजीत कौर को लेकर अलीवाल में पंजाब नेशनल बैंक से पैसे निकलवाने गया था। खाते से 40 हजार रुपये निकलवाने के बाद वह दोनों को रिक्शा से घर छोड़ने जा रहा था। गांव के पास पीछे से आई एक कार ने ओवरटेक करके उसे रोक लिया। 

कार से दो युवक उतरे और उसकी भाभी के हाथ से रुपये वाला बैग छीनने लगे। जब उसने उनका विरोध किया तो एक लुटेरे ने उसकी टांग में गोली मार दी। गोली चलने पर उसका भाई अपनी जान बचाने के लिए खेतों की तरफ भाग निकला। लुटेरे उसकी भाभी से 40 हजार रुपये लूटकर फरार हो गए। सूचना मिलने पर डीएसपी फतेहगढ़ चूड़ियां बलबीर सिंह मौके पर पहुंचे। डीएसपी ने बताया कि थाना घन्नियां के बांगर में पुलिस ने दो अज्ञात लुटेरों के खिलाफ मामला दर्ज करके उनकी तलाश शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

आरएसएस का पंजाब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा को खास मशविरा- सबको साथ लेकर चलो

अश्वनी शर्मा को दोबारा पंजाब भाजपा प्रदेश प्रधान बनाने में आरएसएस के तीन महारथियों का आशीर्वाद रहा, जिसे पार्टी हाईकमान टाल नहीं पाया। आरएसएस के तीनों दिग्गजों ने अश्वनी शर्मा को पास बैठाकर सलाह भी दी कि है कि पंजाब में अकेले चलो की राजनीति को खत्म कर सबको साथ लेकर चलो की राजनीति को दोबारा से लेकर आना है, क्योंकि पार्टी में गुटबाजी से हालात काफी खराब हैं और वर्कर अवसाद में हैं।

दरअसल, अश्वनी शर्मा को 2010 में पंजाब के प्रधान बने थे तो पंजाब में शिरोमणि अकाली दल भाजपा की सत्ता थी। किसी को यकीन नहीं था कि 2012 में गठबंधन पंजाब में दोबारा सरकार रिपीट कर सकता है क्योंकि पंजाब का राजनीतिक इतिहास इस बात का साक्षी है कि पंजाब में लगातार दो बार किसी पार्टी की सरकार नहीं बनी। अश्वनी शर्मा ने वर्करों के बीच जाकर उनकी दिल की भड़ास को निकाला और सरकार विरोधी बातों को सुनकर सूबे में एंटी इनकंबेंसी को काफी हद तक खत्म किया और नतीजन भाजपा को को 23 में से 12 सीट हासिल हुई।

अश्वनी शर्मा खुद भी चुनाव लड़कर विधायक बन गए। इसके बाद भाजपा में जबरदस्त गुटबाजी का आगाज हुआ और पार्टी का वोट बैंक पंजाब में लगातार गिरता गया। पीएम मोदी की लोकप्रियता को भी पंजाब की भाजपा भुना नहीं पाई। पार्टी में पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय सांपला- मनोरंजन कालिया का गुट, तीक्ष्ण सूद और केंद्रीय राज्यमंत्री सोमप्रकाश का गुट, श्वेत मलिक-राकेश राठौर का गुट बन गया।
... और पढ़ें

विदेश में सेटल करवाने के नाम पर 4.30 लाख ठगे

गांव मरहाणा निवासी युवक का अपनी बेटी से विवाह करवाकर विदेश में सेटल करने के नाम पर 4.30 लाख की ठगी करने का मामला सामने आया है। लड़के के पिता की शिकायत पर पुलिस ने दंपती समेत तीन लोगों के विरुद्ध केस दर्ज किया है। आरोपी फिरोजपुर जिले के गांव खुराला के रहने वाले हैं।
थाना चोहला साहिब के गांव मरहाणा निवासी सुखचैन सिंह ने 26 जुलाई 2019 को आईजी सुरिंदरपाल परमार को शिकायत देते हुए आरोप लगाया कि फिरोजपुर जिले के गांव खुराला निवासी गुरदीप सिंह ने अपनी पत्नी परमजीत कौर और रिश्तेदार जसबीर सिंह के साथ मिलकर उसके लड़के के साथ अपनी लड़की का रिश्ता किया था। विवाह के बाद सुखचैन सिंह के लड़के को भी विदेश लेकर जाना था। गुरदीप सिंह ने वादाखिलाफी करते हुए 4.30 लाख की ठगी कर ली। जांच के बाद थाना चोहला साहिब पुलिस ने आरोपियों के विरुद्ध केस दर्ज कर लिया है।
... और पढ़ें

दिल्ली चुनावः एक मंच पर आए बादल परिवार विरोधी, ढींढसा बोले- हमारे संपर्क में हैं कई पूर्व मंत्री

शिरोमणि अकाली दल से बगावत का झंडा बुलंद करने वाले सुखदेव सिंह ढींढसा अब दिल्ली विधानसभा चुनाव में बादलों को चुनौती दे सकते हैं। ढींढसा ग्रुप दिल्ली विधानसभा चुनाव में शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार का विरोध कर सकता है।

पूर्व वित्त मंत्री परमिंदर ढींढसा ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के बारे में अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं है। अकाली दल की तस्वीर भी साफ नहीं है कि भाजपा के साथ मिलकर लड़ेंगे या अकेले। दिल्ली चुनाव के बारे में कोई भी फैसला परमजीत सिंह सरना और मनजीत सिंह जीके लेंगे। दिल्ली के सिख जो भी चाहेंगे, वह करेंगे।

हम तो इसी बात की लड़ाई लड़ रहे हैं कि फैसले सर्व-सम्मति से हों। अकाली दल 2015 में चार सीटों पर चुनाव लड़ा था। इनमें दो अपने सिंबल पर और दो भाजपा के चुनाव निशान पर लड़ा था। इस बार वह छह सीटों पर दावा जता रहा है।

पंथ और पंजाब हितैषी कई पूर्व मंत्री हमारे संपर्क में
र्व वित्त मंत्री परमिंदर सिंह ढींढसा ने दावा किया कि पंथ और पंजाब हितैषी कई पूर्व मंत्री, वर्तमान और पूर्व विधायक सांसद सुखदेव सिंह ढींढसा के संपर्क में हैं।
... और पढ़ें

अमृतसरः एचडीएफसी बैंक की शाखा से पांच मिनट में सात लाख की लूट, अपराधी फरार

पांच हथियारबंद बदमाश अमृतसर-जंडियाला बाईपास के कस्बा बंडाला में स्थित एचडीएफसी बैंक से छह लाख की राशि लूट ले गए। पंजाब में लगातार दूसरे दिन बैंक लूट की वारदात हुई। लूट का तरीका मिलता-जुलता है। यही कारण है कि शुक्रवार को लूट में शामिल बदमाशों पर पुलिस को शक है। ग्रामीण आंचल की इस बैंक शाखा में सुरक्षा कर्मचारी तो था, लेकिन उसके पास कोई भी हथियार नहीं था।

शनिवार को चार लुटेरे दोपहर लगभग डेढ़ बजे बैंक में आराम से घुसे। एक लुटेरे ने बैंक मैनेजर पुनीत कुमार की कनपटी पर पिस्तौल तानी और दो ने कैशियर के केबिन में जाकर वहां काउंटर में रखे सात लाख रुपये की राशि लूट ली। लुटेरों ने मात्र पांच मिनट में लूट को अंजाम दिया।

बैंक के बाहर पहले से इंतजार कर रहे स्विफ्ट कार में बैठे लुटरे के साथ सभी बदमाश फरार हो गए। जब लुटेरे कैशियर के केबिन से सात लाख की राशि लूट रहे थे, उस समय बैंक में सात ग्राहक भी थे। लुटेरों के पास हथियार होने के कारण किसी बैंक कर्मचारी व ग्राहक ने विरोध की कोशिश नहीं की। लूट के दौरान कर्मचारी व ग्राहक दुबककर बैठे रहे। लुटेरे अपने साथ बैंक में लगे सीसीटीवी कमरों की डीवीआर भी ले गए हैं।

वारदात स्थल पर एसएसपी देहाती विक्रमजीत दुग्गल भारी फोर्स के साथ पहुंचे। उन्होंने बैंक का दौरा कर कर्मचारियों व ग्राहकों के साथ भी बातचीत की। पुलिस की फोरेंसिक टीम ने लुटरों के फिंगर प्रिंट लिए है। पुलिस की डॉग स्क्वॉएड टीम भी जांच के लिए पहुंची। एसएसपी ने कहा कि जल्दी ही लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

एक माह में तीन बैंकों के एटीएम लुटे

बीते एक महीने में ब्यास के नजदीक स्थित बैंकों के तीन एटीएम लूटने की वारदात हो चुकी है। शुक्रवार को तरनतारन के गांव ठट्ठियां महंता में बिना सुरक्षा गार्ड वाले एक्सिस बैंक की शाखा को स्विफ्ट कार सवार पांच लुटेरों ने निशाना बनाकर सात लाख की राशि लूटी थी। ठट्ठियां महंता व बंडाला में हुई लूट में एक ही गरोह के शामिल होने का पुलिस को शक है। क्योंकि वारदात का तरीका एक ही है। तरनतारन में लूट के मामले में भी स्विफ्ट गाड़ी का इस्तेमाल किया गया था।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us