विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

लुधियानाः कर्फ्यू के बीच दीवार फांदकर फरार हो गए चार कैदी, पुलिस अफसरों के हाथ-पैर फूले

पंजाब के लुधियाना में कर्फ्यू के बीच एक बड़ी घटना होने की खबर है। शुक्रवार रात यहां की सेंट्रल जेल से चार कैदी फरार हो गए।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

अमृतसर

रविवार, 29 मार्च 2020

कोरोना वायरसः एसजीपीसी का बजट अधिवेशन स्थगित हो सकता है, खर्च चलाने में होगी मुश्किल

कोरोना वायरस की परछाई सिखों की सर्वोच्च धार्मिक संस्था शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के बजट अधिवेशन पर भी पड़ सकती है। एसजीपीसी के लगभग 1250 करोड़ रुपये के अधिक के बजट के प्रावधानों पर चर्चा करने और उसे पास करवाने के लिए 28 मार्च को साधारण सभा की एक बैठक तेजा सिंह समुंद्री हॉल में बुलाई गई थी। कोरोना के कारण मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रदेश में 31 मार्च तक लॉक डाउन की घोषणा कर दी है। ऐसे में 28 मार्च का बजट इजलास स्थगित होने की संभावना बढ़ गई है।

बजट पास न होने के कारण एसजीपीसी को आगामी वित्तीय वर्ष में खर्च करने के लिए कई समस्याएं पैदा होंगी। गुरुद्वारा एक्ट के अनुसार एसजीपीसी को नए वित्तीय वर्ष के लिए बजट पास करवाना जरूरी है। एसजीपीसी के साधारण सभा में कुल 190 सदस्य है। इसमें से 170 सदस्य पंजाब, हरियाणा, हिमाचल और चंडीगढ़ से निर्वाचित होकर आते हैं। 15 सदस्य मनोनीत होते हैं। यह मनोनीत सदस्य देश के कई राज्यों से आते हैं। पांच सिंह साहिबान भी साधारण सभा के सदस्य हैं, लेकिन इन्हें वोट देने का अधिकार नहीं होता।

कोरोना वायरस के कारण पैदा हुई स्थिति में एसजीपीसी सदस्यों का बजट अधिवेशन में पहुंचना आसान नहीं है। एसजीपीसी के सदस्य अपने साथ कई समर्थकों को भी ले आते हैं। एसजीपीसी अध्यक्ष गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने स्वीकार किया कि कोरोना वायरस को देखते हुए एसजीपीसी का 28 मार्च का बजट अधिवेशन स्थगित किया जा सकता है। कानूनी विशेषज्ञों से संपर्क स्थापित किया जा रहा है। यदि संभव हुआ तो अधिवेशन की तारीख आगे कर दी जाएगी।

गुरुद्वारा डेरा साहिब के मुख्य ग्रंथी ने मर्यादा का किया उल्लंघन
एसजीपीसी के अध्यक्ष गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने पाकिस्तान के ऐतिहासिक गुरुद्वारा डेरा साहिब लाहौर के मुख्य ग्रंथी द्वारा हाथों में दस्ताने व मुंह पर मास्क पहन कर श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी का प्रकाश करने की निंदा की है। उन्होंने कहा कि ग्रंथी सिंह को अपने हजूरिये (गले में डाला गमछा) के साथ सुरक्षा करनी चाहिए।
... और पढ़ें

पंजाब में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 21 हुई, 22 की रिपोर्ट का इंतजार

पंजाब सरकार के कठोर प्रयासों के बावजूद प्रदेश में कोरोना वायरस लगातार पांव पसार रहा है। रविवार को प्रदेश में कोरोना से पीड़ित लोगों की संख्या 13 से बढ़कर 21 हो गई। राज्य सरकार की ओर से जारी बुलेटिन में बताया गया है कि प्रदेश में 203 संदिग्ध मामलों के सैंपल लिए गए, जिनमें से 160 लोग नेगेटिव पाए गए हैं। 22 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार है।
 

रविवार को वायरस से पीड़ितों के जो 7 नए मामले सामने आए हैं, उनमें पांच मामले नवांशहर से संबंधित हैं, जिसमें कोरोना के कारण 70 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई थी। मृतक के पांच और करीबी लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है। नवांशहर में जर्मनी से इटली के रास्ते पहुंचे दो लोगों को पॉजिटिव पाए जाने पर आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया गया है।

इन सभी मामलों में पीड़ितों की हालत स्थिर बताई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग में इनके रिश्तेदारों और इनके संपर्क में आए अन्य लोगों को भी घरों में एकांतवास में रखते हुए उनकी निगरानी शुरू कर दी है। इन लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए गए हैं।

कुल पॉजिटिव केस
नवांशहर में 14
मोहाली में चार
होशियारपुर में दो
अमृतसर में एक
... और पढ़ें

बटाला में बहन के ससुर को मार डाला

जालंधर रोड स्थित गांव जाहदपुर में शनिवार की रात युवक ने बहन के ससुर की हत्या कर दी। मृतक की पहचान सुखराज सिंह( 55) निवासी गांव जाहदपुर के रूप में हुई। थाना रंगड नंगल पुलिस ने आरोपी और उसके दो अज्ञात साथियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करके आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।
एसएचओ बलजीत कौरके मुताबिक पुलिस को दिए बयान में संदीप सिंह निवासी जाहदपुर ने बताया कि वह और उसका पिता सुखराज सिंह अपने घर में शनिवार की रात को शराब पी रहे थे। इसी दौरान उसका साला हरमिंदर सिंह निवासी गांव बाबोवाल अपने दो साथियों समेत उसके घर में आ धमका। उसने बताया कि उसके साले को उसका शराब पीना पसंद नही था। उसके साले का उसका शराब पीना अच्छा नही लगा और उसने गुस्से में आकर उसके पिता सुखराज सिंह के सिर में लकड़ी का दस्ता मार दिया।
डर के मारे वह और उसकी पत्नी घर से जान बचाने के लिए बाहर भाग खड़े हुए। कुछ समय के बाद वह घर आए तो देखा कि उसका पिता मृत हालत में जमीन पर पड़ा था। इस संबंध में उसने तुरंत सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए के सिविल अस्पताल भेजा। एसएचओ ने बताया कि मृतक के बेटे संदीप सिंह के बयान पर हरमिंदर सिंह और दो अज्ञात साथियों पर केस दर्ज कर उनकी तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

अफगानी सिखों के पुनर्वास में मदद करेगी एसजीपीसी

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने कहा कि अफगानिस्तान केे गुरुद्वारा साहिब में हुए आतंकी हमले के बाद यदि वहां के सिख भारत में शरण के लिए आते हैं तो एसजीपीसी उनके पुनर्वास का हर संभव प्रबंध करेगी। एसजीपीसी अफगानिस्तान से आए सिखों और उनके बच्चों को उनकी शिक्षा और योग्यता के अनुसार रोजगार का प्रबंध भी करेगी। लौंगोवाल ने उक्त घोषणा उस समय की, जब आतंकी संगठनों की तरफ से अफगानिस्तान में बसे सिखों को दस दिन में देश छोड़ने की धमकी दी गई है।
लौंगोवाल ने कहा कि केंद्र सरकार को अफगानिस्तान में बसे सिखों की मदद के लिए गंभीरता से कदम उठाने चाहिए। गुरुद्वारा साहिब में आतंकी हमले के बाद सिखों को अफगानिस्तान छोड़ देने की धमकियां बार-बार मिल रही है। यह चिंता का विषय है। आतंकवादियों की धमकियों के कारण वहां के सिख असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। केंद्र को सिखों की जानमाल की रक्षा के लिए यह मामला संयुक्त राष्ट्र संघ में उठाना चाहिए। केंद्र सरकार अफगानिस्तान के सिखों को भारत में बसाने की पहलकदमी करे। अफगानिस्तान के सिख यदि भारत आते हैं तो एसजीपीसी उनको पूरा सहयोग देगी। लौंगोवाल ने अफगानिस्तान में हुए आतंकी हमले में मारे गए सिखों के परिजनों को एक-एक लाख और जख्मियों को 50-50 हजार रुपये की राशि देने की घोषणा की।
बीते तीन दशकों से अफगानी सिख कई बार पलायन कर भारत पहुंचे
पिछले तीन दशक के दौरान अफगानिस्तान में सिखों पर जितनी बार भी आतंकी हमले हुए है, तब-तब वहां से सिख बड़ी संख्या में पलायन कर अटारी रेलवे स्टेशन या अटारी सड़क सीमा के रास्ते भारत पहुंचे हैं। केंद्र सरकार द्वारा सीएए लागू करने के बाद अफगानिस्तान से पलायन कर आए सभी हिंदुओं व सिखों को भारत की नागरिकता मिल जाएगी। हालांकि कोरोना वायरस के कारण अटारी-वाघा सड़क सीमा पर स्थित इंटरनेशनल गेट भी बंद कर दिए गए हैं। इसलिए अफगानी सिखों का भारत में शरण के लिए आना अभी कठिन लगता है। पलायन कर भारत आने वाले सिखों को एसजीपीसी पहले भी आर्थिक मदद देती रही है।
... और पढ़ें

आठ पाकिस्तानी बार्डर पर फंसे धार्मिक यात्रा पर आए थे भारत

कोरोना वायरस के कारण भारत-पाकिस्तान सरकार द्वारा अटारी-वाघा सड़क सीमा पर स्थित इंटरनेशनल गेट बंद कर दिए जाने के बाद धार्मिक यात्रा पर भारत आए आठ पाकिस्तानी हिंदू शनिवार को वतन नहीं लौट सके। पुलिस ने इन सभी को अटारी सड़क सीमा से दो किलोमीटर की दूरी पर लगाए नाके पर रोक दिया। इन लोगों के डेढ़ वर्ष का छोटा बच्चा भी था।
पाकिस्तान से आए लोगों ने कहा कि 13 फरवरी को हरिद्वार जाने के लिए आए थे। कुछ दिन हरिद्वार में बिताने के बाद वह राजस्थान में रहने वाले अपने एक रिश्तेदार के यहां चले गए थे। 22 मार्च को अमृतसर पहुंचे और एक गुरुद्वारे में शरण ली। वीजा की अवधि समाप्त होने वाली है, इसलिए वह शनिवार को पैदल ही अमृतसर से चलकर अटारी पहुंचे। रास्ते में किसी ने भी उनको नहीं रोका। अटारी सीमा के नजदीक उनको पुलिस ने रोक लिया। उन्होंने मांग की कि या तो सरकार उन्हें पाकिस्तान जाने दे या अमृतसर में रहने की व्यवस्था करे। वह सुबह से से भूखे थे और बच्चे के लिए दूध भी नहीं है। जिला प्रशासन पाकिस्तान जाने वाले लोगों को रेडक्रॉस भवन में शरण दे रहा है। पाकिस्तान जाने वाली एक महिला खदीजा भी रेडक्रॉस भवन में है। एसएचओ अटारी किरपाल सिंह ने बताया कि पूरा मामला अधिकारियों के संज्ञान में ला दिया गया है। अधिकारी जो भी आदेश देंगे, उस पर अमल किया जाएगा।
... और पढ़ें

पंजाब: पुलिस और सामाजिक संस्थाएं बनी मसीहा, लोगों तक यूं पहुंचाया खाना, गांवों को अभी भी इंतजार

केंद्र व पंजाब सरकार ने भी देश में लॉकडाउन को लेकर जरूरतमंद लोगों को सुविधा देने का एलान किया है। शुक्रवार को एसएसपी संदीप गोयल ने कर्फ्यू के दौरान पुलिस कर्मचारियों व एनजीओ के सहयोग से जरूरतमंद लोगों को राशन के एक हजार पैकेट बांटे। खाने की सामग्री के ट्रक को महिला पुलिस कांस्टेबल व होमगार्ड के कर्मचारियों से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 

एसएसपी गोयल ने कहा जरूरतमंद परिवारों की पहचान की जा रही है, ताकि उनको भी राशन मुहैया करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि अगर आम लोगों को कोई जरूरतमंद दिखाई देता है तो उसकी जानकारी सीधे तौर पर पुलिस को दी जाए या फिर 112 नंबर पर बताया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पैकेट में एक किलो चीनी, एक किलो चावल, एक किलो दाल, दो किला आटा, 250 सो ग्राम चाय पत्ती, नमक एक थैली, मिर्च, हल्दी, सब्जी मसाला, के पैकेट बनाकर एक हजार जरूरतमंद लोगों की पहचान करके हंडिआया व बरनाला में बांटे गए हैं।
... और पढ़ें

दवाओ की होम डिलीवरी के दावे फेल

अमृतसर जिला प्रशासन द्वारा कर्फ्यू के दौरान घर में बीमारों और मरीजों के लिए दवाओं की फ्री होम डिलीवरी का दावा लगभग फेल हो गया है। प्रशासन की तरफ से दवाओं की खरीद के लिए जिन मेडिकल स्टोर के नंबर जारी किए गए थे, वह या तो स्विच ऑफ हैं या रेंज से बाहर हैं।
मेडिकल एन्क्लेव निवासी शाम सुंदर ने बताया कि वह फतेहगढ़ चुरियन रोड पर रहता है और अपनी मां के लिए दवा चाहता था। उन्होंने रतन सिंह चौक, नंगली और लोहरका रोड स्थित उन मेडिकल स्टोर में फोन किए, जिनके नंबर प्रशासन ने दिए थे। फोन या तो बंद थे, या लगभग तीन घंटे तक स्थायी रूप से व्यस्त रहे। प्रशासन ने इन नंबरों को जारी करते समय इस बात का ध्यान नहीं रखा कि इन मेडिकल स्टोर के पास घर-घर दवाई पहुंचाने की व्यवस्था भी है या नहीं।
सूरज एवेन्यू की गृहिणी रश्मि ने बताया कि उन्होंने कम से कम चार केमिस्ट की दुकानों पर कॉल किया लेकिन उनका नंबर हर बार व्यस्त था। इसके बाद अमर उजाला प्रतिनिधि ने अपने स्तर पर रतन सिंह चौक, लोहरका रोड, नंगली, रानी का बाग, प्रताप बाजार में दो और रंजीत एवेन्यू में सात केमिस्टों को फोन किए, लेकिन नंबर या तो लगातार व्यस्त थे या बंद थे। एक घंटे लगातार कोशिश के बाद भी फोन नहीं मिले।
डीसी शिवदुलार सिंह ढिल्लों ने कहा कि ड्रग कंट्रोलर ने पहले 35 केमिस्टों को नामांकित किया था, लेकिन इन मेडिकल स्टोर के मालिकों को काम के दबाव की जानकारी नहीं थी। प्रशासन ने 111 केमिस्टों को और शामिल किया है जिनके मोबाइल नंबर जनता के साथ साझा किए जाएंगे।
मदद फाउंडेशन ने पुलिस कर्मियों के खाने की व्यवस्था की
खन्ना पेपर मिल द्वारा संचालित मदद फाउंडेशन ने शुक्रवार को राशन के 200 डिब्बे अमृतसर पुलिस (देहाती) को सौंपे। पुलिस के जवानों ने यह डिब्बे सीमावर्ती गांवों के उन परिवारों में बांटे जो आर्थिक रूप से बहुत कमजोर थे। पेपर मिल के डायरेक्टर सुनीत कोच्चर ने बताया कि इस डिब्बे में 10 किलोग्राम आटा, पांच किलोग्राम चावल, घी, सरसों का तेल, मसाले और अन्य घरेलू सामान है। साथ ही मदद फाउंडेशन ने 14 अप्रैल तक उन सभी पुलिस मुलाजिमों के लिए लंच व डिनर का प्रबंध करने की घोषणा की है जो 24 घंटे ड्यूटी कर रहे हैं। यह खाना मुलाजिमों की ड्यूटी स्थल पर पहुंचाया जाएगा। वहीं पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने अपने विधानसभा के आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को घरेलू सामान बांटा। उन्होंने लोगों से अपील की कि वह अपने आसपास रहने वाले कमजोर लोगों की मदद के लिए आगे आएं।
... और पढ़ें

पानी की निकासी के तकरार को लेकर पड़ोसी पर किए हवाई फायर

पानी की निकासी को लेकर शुक्रवार को एक पड़ोसी ने दूसरे को डराने के लिए अपने घर के अंदर से ही हवाई फायर कर दिए। थाना सिविल लाइन पुलिस ने फायर करने वाले पड़ोसी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस को दी गई शिकायत केवल कटोच निवासी जवाहर नगर बटाला ने बताया कि उसके घर के सामने पानी की निकासी का एक पाइप है। उस पाइप के लीक होने की वजह से उसके पड़ोसी रमेश कुमार के घर का पानी उसके घर के सामने जमा रहता है। इसी संबंध में वह शुक्रवार को पड़ोसी रमेश कुमार के घर कहने गया था कि वह इस समस्या का हल करवाए। इसको लेकर जब वह और उसका साला उसके घर के बाहर खड़े थे तो गुस्से में रमेश ने अपने घर के अंदर से हवाई फायर करने शुरू कर दिए। गोली चलती देख वह और उसका साला वहां से भाग निकले और अपनी जान बचाई।
केवल कटोच ने आरोप लगाते हुए बताया कि इससे पहले भी कई बार उन्होंने इस पानी की निकासी के बारे में कहा है लेकिन हर बार उसका पड़ोसी उसे बुरा भला कहता है। गोलियां चलने के बाद उसने तुरंत पुलिस को सूचना दी है। सूचना मिलने के बाद एसएचओ सिविल लाइनमौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया है। अतिरिक्त एसएचओ मनबीर सिंह ने बताया कि पुलिस ने केवल कटोच के बयान पर रमेश कुमार के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे काबू कर लिया गया है।
... और पढ़ें

अच्छी खबर: पंजाब के पहले मरीज ने जीती कोरोना से जंग, नई जांच रिपोर्ट आई निगेटिव

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच एक अच्छी खबर है। अमृतसर में मिले पंजाब के पहले कोरोना संक्रमित मरीज ने इस महामारी को मात दे दी है और जिंदगी की जंग जीत ली है। होशियारपुर निवासी 43 वर्षीय व्यक्ति इलाज के बाद कोरोना वायरस से मुक्त हो गया है। यह व्यक्ति चार मार्च को जर्मनी से आया था। वह मूलरूप से होशियारपुर का रहनेवाला है।

अमृतसर के सरकारी मेडिकल कॉलेज स्थित इंफ्लुएंजा लैब के टेस्ट में यह व्यक्ति कोरोना वायरस से मुक्त पाया गया है। पिछले 21 दिनों से अमृतसर के श्री गुरुनानक देव अस्पताल के आइसोलेशन वॉर्ड में उपचाराधीन था। इस शख्स का पहला टेस्ट दिल्ली एम्स से करवाया गया था और इसमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। इसके बाद पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में हुए टेस्ट में भी पॉजिटिव पाया गया था। हालांकि बेटे और पत्नी के सैंपल निगेटिव आए थे।

आइसोलेशन वॉर्ड में इस शख्स पर डॉक्टरों की टीम लगातार नजर रख रही थी।  दवाओं का असर और डॉक्टरों की मेहनत रंग लाई। बीते बुधवार को मरीज का सैंपल इंफ्लुएंजा लैब भेजा गया था। इस दौरान उसकी प्राथमिक एवं कन्फर्मेशन रिपोर्ट निगेटिव आई। इसके बाद गुरुवार को भी उसका थ्रोड स्वैब लेकर इंफ्लुएंजा लैब लाया गया। 

दो चरणों में हुए टेस्ट के पहले चरण में ई-जीन की जांच की गई और दूसरे चरण में ओआरएफबी टेस्ट हुआ। दोनों टेस्टों की रिपोर्ट निगेटिव आई। यह डॉक्टरों के लिए अविस्मरणीय पल था। 
 
... और पढ़ें

कोरोना वायरसः पाकिस्तान में गुरुद्वारा तंबू साहिब का यात्री निवास बना क्वारंटीन केंद्र, खुला है स्वर्ण मंदिर

पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने श्री ननकाना साहिब के पास स्थित ऐतिहासिक गुरुद्वारा तंबू साहिब के यात्री निवास को क्वारंटीन केंद्र में तबदील कर दिया है। ऐसा करने वाला यह पहला गुरुद्वारा बन गया है। पाकिस्तान सिख संगत के अनुसार यदि जरूरत पड़ी तो गुरुद्वारा श्री ननकाना साहिब के यात्री निवास को भी आईसोलेशन वार्ड या क्वारंटीन केंद्र में बदल दिया जाएगा।

गुरुद्वारा साहिब के इस यात्री निवास में 160 कमरे हैं। जिनमें 600 से अधिक मरीजों के लिए व्यवस्था की गई है। गुरुद्वारा साहिब में हर कमरे में दो-दो बेड का इंतजाम कर दिया गया है। हर कमरे में वाशरूम के साथ-साथ बाकी भी सभी प्रबंध हैं। यहां मरीजों के लिए खाने-पीने का भी प्रबंध किया जाएगा।

श्री ननकाना साहिब के प्रशासन ने स्थानीय सिख संगत का धन्यवाद करते हुए कहा कि गुरुद्वारा साहिब के लंगर हॉल के एक हिस्से का भी प्रयोग जरूरत पड़ने पर किया जा सकता है। जिला प्रशासन ने इस यात्री निवास का निरीक्षण किया। इस अवसर पर खालिस्तानी समर्थक गोपाल चावला भी मौजूद थे।

श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने तीन दिन पहले दुनिया भर की गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटियों को निर्देश दिए थे कि कोरोना वायरस के पीड़ित मरीजों के लिए गुरुद्वारा साहिबान की सरायों में क्वारंटीन केंद्र के स्थापना की जाए।
... और पढ़ें

यूट्यूब के बाद नवजोत सिद्धू ने शुरू किया नया ट्विटर अकाउंट, कुछ ऐसे सत्ताधारियों पर बरसे

'जित्तेगा पंजाब' यूट्यूब चैनल लांच करने के बाद पूर्व मंत्री नवजोत सिद्धू ने गुरुवार को एक नया ट्विटर हैंडल 'जित्तेगा पंजाब एनएस' शुरू कर दिया है। सिद्धू ने पहले ट्वीट में अफगानिस्तान के काबुल शहर के ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिबान में हुए आतंकी हमले की निंदा करते हुए लिखा है कि अन्याय करना पाप है और अन्याय सहना उससे भी बड़ा पाप है।

दूसरे टवीट में सिद्धू ने लिखा है कि सिख पूरी दुनिया में भाईचारे के साथ रहते हैं। सिख धर्म सार्वभौमिक भाईचारे, सहिष्णुता और करुणा के लिए खड़ा है। हम अत्याचार से लड़ते हैं। यह हमला हमारे मूल्यों को हिला नहीं सकता। सिद्धू ने दावा किया कि वह इस ट्विटर हैंडल के माध्यम से पंजाब के ज्वलंत मुद्दों पर लोगों के साथ चर्चा करेंगे।

सिद्धू ने कहा कि लोगों के साथ बातचीत करने के लिए एक प्लेटफॉर्म की जरूरत थी। ट्विटर हैंडल शुरू करने से यह काम पूरा हो गया है। सिद्धू ने एक बार फिर श्री गुरु नानक देव जी के रास्ते पर चलने का वादा करते हुए कहा कि बाबा नानक ने राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक संदेश दिए। उन्होंने वंड छको और सिमरन करो का संदेश दिया। यही पंजाबियों की पहचान है।  
... और पढ़ें

Coronavirus: तख्त श्री हजूर साहिब के दर्शनों को गए 400 श्रद्धालु फंसे, मुख्यमंत्री से मांगी मदद

कोरोना वायरस के कारण महाराष्ट्र और पंजाब में लगे कर्फ्यू के कारण तख्त श्री हजूर साहिब में दर्शनों के लिए गए पंजाब के 400 से अधिक श्रद्धालु वहीं फंस गए हैं। एसजीपीसी अध्यक्ष गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को पत्र लिख कर मांग की है कि वह केंद्र सरकार से बातचीत कर इन श्रद्धालुओं को वहां से निकालने का प्रबंध करें।

केंद्र द्वारा 24 मार्च की रात से सभी घरेलू उड़ानों पर पाबंदी लगाने के बाद इन श्रद्धालुओं के लिए और समस्याएं खड़ी हो गई हैं। एसजीपीसी ने इस सभी श्रद्धालुओं से अपील की है कि वह कुछ समय गुरुद्वारा श्री हजूर साहिब में शरण में रहें। लौंगोवाल ने सीएम को लिखे पत्र में कहा है कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एसजीपीसी पंजाब सरकार को हर संभव सहयोग के लिए तैयार है।

एसजीपीसी आइसोलेशन वार्ड स्थापित करने के लिए सेहत विभाग को अपनी सराय देने के लिए तैयार है। एसजीपीसी द्वारा संचालित श्री गुरु ग्रंथ साहिब विश्व यूनिवर्सिटी सहित सभी सराय में आईसोलेशन वार्ड स्थापित करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं।

गुरुद्वारा साहिब के सभी प्रबंधकों को सैनिटाइजर और मास्क श्रद्धालुओं को हर समय उपलब्ध करवाने के आदेश दिए गए हैं। कर्फ्यू में ड्यूटी कर रहे सरकारी व गैर सरकारी कर्मचारियों के साथ-साथ पुलिस मुलाजिमों को लंगर पहुंचाने के प्रबंध किए गए हैं।

हजूर साहिब से लौटे 40 ग्रामीणों को गांव में घुसने से रोका
पटियाला के नजदीकी गांव चमारहेड़ी व द्रोण कलां में महाराष्ट्र में हजूर साहिब से लौटे 40 लोगों को ग्रामीणों ने गांव में नहीं घुसने दिया। सेहत विभाग को सूचित कर पहले सबका चेकअप करवाया गया। रिपोर्ट सही आने पर ही सभी को घरों में जाने दिया गया।
... और पढ़ें

अमृतसर में मेडिकल कॉलेज के दो डॉक्टरों में कोरोना के लक्षण, लेकिन इन जिलों से आई राहत भरी खबर

सरकारी मेडिकल कॉलेज में कार्यरत दो पीजी डॉक्टरों को खांसी-जुकाम होने पर आइसोलेशन वॉर्ड में दाखिल करवाया गया है। दोनों डॉक्टरों के थ्रोट स्वैब लेकर सरकारी मेडिकल कॉलेज स्थित इंफ्लुएंजा लैब भेजे जा रहे हैं। रिपोर्ट बुधवार को आएगी। मेडिकल कॉलेज श्री गुरुनानक देव जी अस्पताल में आर्थो एवं मेडिसिन विभाग के दो पीजी डॉक्टरों में कोरोना के लक्षण मिले हैं। 

मंगलवार को पीजी डॉक्टरों ने सरकारी मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. सुजाता शर्मा को शिकायत दी कि कॉलेज प्रशासन ने उन्हें पर्सनल प्रोटेक्शन किट उपलब्ध नहीं करवाई। कुछ पीजी डॉक्टर आइसोलेशन वॉर्ड में भी काम कर रहे हैं। दो पीजी डॉक्टरों को खांसी जुकाम भी है। प्रिंसिपल डॉ. सुजाता शर्मा ने कहा कि अभी उनके पास 200 किट्स आई हैं। ये किट उनके लिए हैं जो आइसोलेशन वॉर्ड में ड्यूटी कर रहे हैं। 

इसके अलावा जो डॉक्टर आइसोलेशन के आस-पास काम कर रहे हैं, उन्हें किट दी जाएगी। डॉक्टरों ने कहा कि हम हर वक्त मरीजों के संपर्क में रहते हैं। हमें भी संक्रमण हो सकता है। यदि प्रशासन हमें किट नहीं देगा तो वह इसका तीखा विरोध दर्ज करेंगे। डॉ. सुजाता शर्मा ने कहा कि दोनों डॉक्टरों को आइसोलेशन वॉर्ड में दाखिल करवाया दिया गया है। सैंपलों को जांच के लिए भेजा जा रहा है। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us