बॉक्सर विजेंदर का दोस्त राम सिंह पंजाब पुलिस से बर्खास्त

चंडीगढ़/अमर उजाला ब्यूरो Updated Fri, 29 Mar 2013 10:55 AM IST
विज्ञापन
Boxer Vijender Singh's friend ram singh dismissed from Punjab Police

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
पंजाब के जीरकपुर में 130 करोड़ रुपये की हेरोइन बरामदगी के मामले में पंजाब सरकार ने कड़ा फैसला लेते हुए पीएपी में हेड कांस्टेबल राम सिंह और पंजाब पुलिस में सब इंस्पेक्टर सरबजीत सिंह को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। राम सिंह अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर विजेंदर सिंह का दोस्त है और उसने विजेंदर के साथ दो-तीन बार हेरोइन लेने की बात स्वीकारी थी। गृह विभाग की देर रात जारी विज्ञप्ति में उसकी बर्खास्तगी की जानकारी दी गई।
विज्ञापन

फतेहगढ़ साहिब पुलिस की एक टीम ने इससे पहले वीरवार को चंडीगढ़ के नजदीक नया गांव में एक सब इंस्पेक्टर सरबजीत सिंह के घर छापामारी की। घर पर सरबजीत तो नहीं मिला लेकिन वहां से 2.6 किलोग्राम अफीम, एक किलोग्राम सफेद पाउडर, 11 मोबाइल फोन, एके-47 के कारतूस के दस खोल और 12 बोर की बंदूक बरामद की है। वहां मौजूद एक व्यक्ति को भी हिरासत में लिया गया है।
लुधियाना रेंज के डीआईजी एमएफ फारुकी ने बताया कि एसआई सरबजीत सिंह फरार है और उसके घर से ड्रग्स बरामद हुई हैं। जिस समय पुलिस की टीमें तस्करी नेटवर्क के सरगना एवं पंजाब पुलिस का पूर्व डीएसपी जगदीश भोला की तलाश में छापामारी कर रही थीं, उसी समय सरबजीत ने भोला को अपने घर में पनाह दी थी। आसपास पूछताछ में पता चला कि सरबजीत कई दिनों से घर नहीं आया है। सब इंस्पेक्टर पंजाब पुलिस के एक आईजी के साथ अटैच बताया जाता है।
एक को हिरासत में लिया
छापामारी के दौरान सरबजीत के घर से एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। उसके पास से 12 बोर की बंदूक मिली है जिसका वह लाइसेंस नहीं दिखा पाया। उससे पूछताछ के दौरान पता चला है कि पूर्व डीएसपी जगदीश भोला ने सरबजीत के घर पनाह ली और उसकी पत्नी के मोबाइल फोन से अपने सहयोगियों से संपर्क साधा।

हाल में हुआ है बहाल
फारुकी ने बताया कि एसआई सरबजीत सिंह काफी समय तक नशीली दवाओं के एक मामले में डिसमिस रहा है और हाल ही में बहाल हुआ है। वहीं पुलिस एसआई की तलाश में पंजाब और हरियाणा में कई जगह छापामारी कर रही है। पुलिस को यकीन है कि सरबजीत को भोला की लोकेशन का पक्का पता होगा।

तीन-तीन गनमैन रखता था एसआई
एसआई सरबजीत सिंह इससे पहले फिरोजपुर और फरीदकोट जिले में सीआईए इंचार्ज रहा है। सरबजीत के साथ पुलिस के ही तीन सुरक्षाकर्मी हमेशा रहते थे जबकि वह इन्हें रखने का उसके पास कोई अधिकार नहीं था।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us