विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

लुधियानाः कर्फ्यू के बीच दीवार फांदकर फरार हो गए चार कैदी, पुलिस अफसरों के हाथ-पैर फूले

पंजाब के लुधियाना में कर्फ्यू के बीच एक बड़ी घटना होने की खबर है। शुक्रवार रात यहां की सेंट्रल जेल से चार कैदी फरार हो गए।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

पटियाला

रविवार, 29 मार्च 2020

सड़क हादसे में एक की मौत, दूसरा घायल

राजपुरा-बनूड़ मार्ग पर हुए सड़क हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई और दूसरा घायल हो गया। घायल को स्थानीय अस्पताल में दाखिल करवाया गया। पुलिस को दिए गए बयान मं झारखंड निवासी माधव ने बताया कि वह तेपला स्थित अग्रवाल पोल्ट्री फार्म काम करता है और वहीं रहता है। गत दिवस पोल्ट्री फार्म में कार्यरत अशोक सरदार निवासी हरीपुर जिला मोहाली के साथ बाइक पर सवार होकर बनूड़ गया था। बाइक अशोक सरदार चला रहा था। इस दौरान बनूड़ के नजदीक ट्रैक्टर ट्राली ने बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में अशोक सरदार की मौत हो गई और वह गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस ने बयान के आधार पर अज्ञात चालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। ... और पढ़ें

कोरोना वायरस: पंजाब में बस-ऑटो कल रात 12 बजे से बंद, होटलों-रेस्टोरेंट ढाबों में खाने पर रोक

पंजाब में कोरोना वायरस से पहली मौत सामने आई है। एसबीएस नगर (नवांशहर) में हुई इस मौत के साथ ही देश में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या चार पहुंच गई है। इसके अलावा राज्य में शुक्रवार यानी 20 मार्च को आधी रात 12 बजे से सभी सार्वजनिक परिवहन (सरकारी-निजी बसे और ऑटो) का संचालन बंद करने का फैसला किया गया है। पंजाब बोर्ड की 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाएं भी 31 मार्च तक स्थगित कर दी गई है। 

होटलों, रेस्टोरेंट व ढाबों में खाने पर रोक
पंजाब में कोरोना के खतरे से निपटने के लिए गठित किए गए मंत्री समूह ने गुरुवार को कई अहम फैसले लिए। स्थानीय निकाय मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा की अध्यक्षता में हुई मंत्री समूह की बैठक में बोर्ड की सभी परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय लिया है। इसके अलावा सरकारी कार्यालयों में सभी प्रकार की ‘पब्लिक डीलिंग’ पर भी तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है।

मंत्री समूह ने सभी उपायुक्तों, एसएसपी, सीएमओ, एसएमओ को स्टेशन न छोड़ने के लिए निर्देश दिए हैं। राज्य में मैरिज पैलेस, बैंक्वेट हालों में कांफ्रेंस, सेमिनार व समारोहों पर रोक लगाने का फैसला किया है। इसके अलावा होटल, रेस्टोरेंट और ढाबों में खाने-पीने पर भी रोक लगा दी गई है। हालांकि घर पर ऑनलाइन खाना मंगाने या खाना पैक करके ले जाने की छूट रहेगी।
 
... और पढ़ें

Corona Virus: पंजाब में हनीमून से लौटे युवक में मिले लक्षण, जानिए किस जिले में कैसे हैं हालात

फगवाड़ा में इंग्लैंड से आए एक व्यक्ति की संदिग्ध मौत के बाद कोरोना से मौत और मृतक के इलाके पटेल नगर को सील करने की अफवाह फैल गई। हालांकि सीएमओ डॉ. जसमीत वावा ने कहा कि एनआरआई शुगर का मरीज था और उसका इलाज निजी अस्पताल में चल रहा था। सेहत विभाग उसकी कोरोना वायरस से मरने की पुष्टि नहीं करता। 

खन्ना: इटली से आए युवक की रिपोर्ट निगेटिव 
इटली से आया एक युवक गुरुवार सुबह अपने घर पहुंचा तो लोग सहम गए। युवक के पिता की मौत पांच दिन पहले हुई थी। वीजा न मिलने के कारण युवक आज अपने घर पहुंचा। कुछ देर बाद एसएमओ रजिंदर गुलाटी अपनी टीम के साथ युवक के घर पहुंचे और लोगों को बताया कि युवक की एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग की गई थी, जिसमें उसका रिजल्ट निगेटिव आया था। इसी के बाद उसे घर जाने की अनुमति मिली।  फिर भी युवक को 14 दिन के लिए अलग कमरे में रहने की सलाह दी गई है। हर रोज सरकारी अस्पताल से एक डॉक्टर युवक के घर जाएगा और परिजनों से बात करेगा। 

बटाला: कोरोना संदिग्ध पति-पत्नी का सैंपल जांच के लिए भेजा
एक हफ्ते पहले विदेश से लौटे पति-पत्नी को कोरोना वायरस के संदिग्ध होने का मामला सामने आया है। दोनों के सैंपल लेकर सेहत विभाग ने भेज दिए हैं। सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉ. संजीव भल्ला ने बताया कि कुछ दिन पहले विदेश से लौटे पति-पत्नी बटाला में आए थे। 

दोनों को खांसी, जुकाम और हल्का बुखार होने पर परिवार के लोग उन्हें सिविल अस्पताल लेकर आए थे। अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा दोनों की गहन जांच की गई है। कोरोना वायरस से मिलते जुलते लक्षण दिखाई देने पर दोनों के सैंपल लेकर अमृतसर भेज दिए गए हैं, जहां से करीब 72 घंटों में रिपोर्ट आने से संभावना है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति साफ हो सकेगी। 

 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर के 121 लोगों को स्पेशल बसों से भेजा घर

जम्मू-कश्मीर से पटियाला आए 121 लोगों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के आदेशों पर मेयर संजीव शर्मा बिट्टू ने डीसी कुमार अमित के माध्यम से चार स्पेशल बसें पटियाला से जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना की। इन बसों को रवाना करने के लिए लक्कड़ मंडी पहुंचे मेयर बिट्टू ने बताया कि जम्मू-कश्मीर से आए 121 लोगों की एक सूची तैयार की गई थी। इन सभी को तय दूरी पर बिठाकर जरूरी सामान के साथ शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना कर दिया गया है। इसके बाद उत्तरप्रदेश और बिहार से आए लोगों के लिए भी इसी प्रकार का प्रयास पंजाब सरकार की ओर से किया जाएगा। इसके लिए घर लौटने के इच्छुक लोगों की सूची तैयार की जा रही है।
मेयर ने कहा कि बेशक जम्मू-कश्मीर से काम के लिए पटियाला आए लोगों को खाने और रहने की कोई दिक्कत नहीं हो रही थी, लेकिन लॉक डाउन के बाद वहां के लोगों को अपने परिजनों की फिक्र हो रही थी। लोगों की भावनाओं को समझते हुए उन्हें उनके घर तक पहुंचाने के लिए पंजाब सरकार ने चार स्पेशल बसें जम्मू के लिए रवाना करने का आदेश दिया।
... और पढ़ें

पंजाब: पुलिस और सामाजिक संस्थाएं बनी मसीहा, लोगों तक यूं पहुंचाया खाना, गांवों को अभी भी इंतजार

केंद्र व पंजाब सरकार ने भी देश में लॉकडाउन को लेकर जरूरतमंद लोगों को सुविधा देने का एलान किया है। शुक्रवार को एसएसपी संदीप गोयल ने कर्फ्यू के दौरान पुलिस कर्मचारियों व एनजीओ के सहयोग से जरूरतमंद लोगों को राशन के एक हजार पैकेट बांटे। खाने की सामग्री के ट्रक को महिला पुलिस कांस्टेबल व होमगार्ड के कर्मचारियों से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 

एसएसपी गोयल ने कहा जरूरतमंद परिवारों की पहचान की जा रही है, ताकि उनको भी राशन मुहैया करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि अगर आम लोगों को कोई जरूरतमंद दिखाई देता है तो उसकी जानकारी सीधे तौर पर पुलिस को दी जाए या फिर 112 नंबर पर बताया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पैकेट में एक किलो चीनी, एक किलो चावल, एक किलो दाल, दो किला आटा, 250 सो ग्राम चाय पत्ती, नमक एक थैली, मिर्च, हल्दी, सब्जी मसाला, के पैकेट बनाकर एक हजार जरूरतमंद लोगों की पहचान करके हंडिआया व बरनाला में बांटे गए हैं।
... और पढ़ें

सांसद परनीत कौर का बड़ा एलान, सीएम राहत कोष में 50 लाख और प्रशासन को 20 लाख देंगी

कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए पूर्ण लॉकडाउन को सही बताते हुए पटियाला से सांसद परनीत कौर ने प्रशासन की सबसे बड़ी प्राथमिकता बेघर और गरीब लोगों को भोजन मुहैया करवाना और रोजमर्रा की जरूरी चीजों की घर -घर सप्लाई को यकीनी बनाना बताया। साथ ही परनीत कौर ने सांसद निधि से 50 लाख रुपये मुख्यमंत्री कोविड राहत फंड के लिए जारी करने का भी एलान किया। इसके अलावा 20 लाख रुपये और एक महीने का वेतन पटियाला रेड क्रास कोविड फंड में देने का एलान किया।

परनीत ने बताया कि हमने पहले ही क्षेत्रों के आधार पर विक्रेताओं की सूची जारी कर दी है, जिनके साथ सिर्फ फोन पर संपर्क करने पर वह आपके घरों में सामान पहुंचाएंगे। उन्होंने लोगों को भरोसा दिलाया कि दूध या सब्जियों की बिल्कुल भी कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने बताया कि मेरे लिए दूसरी प्राथमिकता यह यकीनी बनाना है कि मेरे जिले में कोई भी बेघर गरीब या दैनिक वेतन भोगी खाने के बिना न सोए, जिसके लिए हम पहले ही उन्हें सरकारी और समाज सेवी वालंटियरों मेा खाने के पैकेट पहुंचाने शुरू कर दिए हैं।

उन्होंने बताया कि दवाओं के लिए संबंधित केमिस्ट एसोसिएशनों के साथ मिल कर काम किया जा रहा है, जिससे फोन पर आर्डर देकर ही घर तक उनकी सुपुर्दगी की जा सके। उन्होंने डिप्टी कमिश्नर को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि किसी को भी किसी इमरजेंसी के लिए तालाबंदी दौरान बाहर जाने में कोई मुश्किल पेश ना आए, परनीत कौर ने अधिकारियों को कहा कि वे ऐसी स्थिति में लोगों को अपनाए जाने वाले ढंग -तरीकों बारे अवगत करवाते रहें। 
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: पटियाला में घर-घर पहुंचेगी सब्जी, ज्यादा पैसे वसूलने पर वेंडर का रद्द होगा कर्फ्यू पास

सांसद परनीत कौर
कर्फ्यू में शहरवासियों के घर-घर सब्जी पहुंचाने का काम शुरू कर दिया गया है। लोगों के घरों तक सब्जी पहुंचाने वाले वेंडरों को जिला प्रशासन की ओर से कर्फ्यू पास जारी किए गए हैं। निगम कमिश्नर पूनमदीप कौर ने अपनी अपील में कहा है कि यदि कोई वेंटर लोगों से सब्जी के अतिरिक्त पैसे लेता है तो उसके खिलाफ निगम की ई-मेल पर शिकायत की जा सकती है। इसके अतिरिक्त निगम शिकायत के लिए कुछ अतिरिक्त नंबरों को जल्द जारी करने जा रहा है।

सब्जीमंडी आढ़ती वेलफेयर सोसायटी के प्रधान विवेक मल्होत्रा ने बताया कि इस समय जिला प्रशासन 280 से अधिक लोगों को सब्जी वेंडर का कर्फ्यू पास जारी कर चुका है। सभी पास उनके माध्यम से तैयार हुए हैं। उन्होंने कहा कि इस मुश्किल की घड़ी में यदि कोई व्यक्ति लूट करने का प्रयास करता है तो वह उसके कर्फ्यू पास को रद्द करने की सिफारिश खुद करेंगे।

उन्होंने कहा कोई सब्जी वेंडर कालाबाजारी करने का प्रयास करता है तो उसकी शिकायत शहरवासी उनके मोबाइल नंबर 99146-00021 पर शिकायत दे सकते हैं। हरेक शिकायत पर कार्रवाई करवाने के लिए वह खुद निगम अधिकारियों के पास सिफारिश करेंगे। 
... और पढ़ें

प्रशासन कर रहा कार्रवाई की बात लेकिन दोगुने दाम में बिक रही सब्जी, अदरक 200, गोभी 40 रुपये पहुंची

कर्फ्यू के इस समय में प्रशासन दावे कर रहा है कि सख्त ताकीद की गई है कि कोई भी दुकानदार या सब्जी विक्रेता किसी भी ग्राहक के साथ कालाबाजारी नहीं करेगा लेकिन इन दावों की सच्चाई यह है कि लोगों को दोगुने रेटों में सब्जियां, राशन व आटा मिल रहा है। जिससे लोगों की जेबों पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ रहा है। लेकिन मजबूरीवश लोग यह सामान खरीदने को मजबूर हैं।

कर्फ्यू से पहले तक जहां आलू 20 रुपये, प्याज 35 रुपये, गोभी 20 रुपये, गाजर 20 रुपये, अदरक 120 रुपये, लहसुन 120 रुपये, भिंडी 50 रुपये, मटर 50 रुपये किलो तक मिल रहा था, वहीं अब आलू का रेच 50 रुपये, प्याज 60 रुपये, गोभी 40 रुपये, गाजर 40 रुपये, अदरक 200, लहसुन 200, भिंडी 120, मटर 100 रुपये प्रति किलो तक बिकने लगा है।

यही नहीं दुकानदारों की ओर से राशन भी महंगे दामों पर बेचा जा रहा है। पांच किलो आटा 350 रुपये तक मिल रहा है। इससे लोग काफी रोष में है। लोगों का कहना है कि भले ही सरकार कर्फ्यू लगाकर उन्हें कोरोना वायरस से बचा रही है, लेकिन उनकी जेबें ढीली हो रही हैं।

गृहिणी राधा ने कहा कि जैसे ही लॉकडाउन या कर्फ्यू खत्म होगा, बच्चों की नई क्लासों की एडमिशन करानी है, ऐसे में अगर ऐसे ही राशन व सब्जियों पर ज्यादा खर्च होता रहा, तो पैसे कहां बचेंगे। एडमिशन कहां से कराएंगे। सतनाम सिंह का कहना है कि अगर हम हेल्पलाइन नंबर पर इसकी कंपलेंट करने को फोन करते हैं, तो या तो कोई उठाता नहीं, अगर उठाते हैं, तो गलत नंबर कहकर काट दिया जाता है। ऐसे में हम आम लोग कहां जाएं। उधर, डीसी लगातार कह रहे हैं कि कालाबाजारी किसी भी कीमत पर होने नहीं दी जाएगी। अगर कोई दुकानदार ज्यादा रेटों पर चीजें बेचेगा, तो कार्रवाई होगी।
... और पढ़ें

पंजाब: थाली बजाते हुए निकाला मार्च, 40 पर केस, विदेश से लौटे लोगों के घरों पर लगाए पोस्टर

सीएम सिटी में प्रशासन की ओर से इकट्ठ करने पर लगी रोक के बावजूद रविवार रात करीब 40 लोग इकट्ठा होकर तालियां पीट-पीट कर मार्च निकाल रहे थे। इस मामले में कार्रवाई करते हुए कोतवाली थाना पुलिस ने सभी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

थाना इंचार्ज सुखदेव सिंह के मुताबिक रविवार को जनता कर्फ्यू लगा था। रात करीब सवा आठ बजे ए टैंक पटियाला के पास करीब 40 लोग इकट्ठा होकर थालियां पीट पीट कर मार्च निकालने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही पुलिस पार्टी मौके पर पहुंची और इस मार्च को तितर-बितर करके लोगों को घरों को भेज दिया गया। इस मामले में सभी के खिलाफ धारा 188 आईपीसी तहत केस दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों की पहचान की जा रही है, जिसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

इस तरह जनता कर्फ्यू के बावजूद इकट्ठा होकर शराब पीने के आरोप में अनाज मंडी थाना पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पार्टी जनता कर्फ्यू के दौरान गांव अलीपुर पास मौजूद थी। सूचना मिलने पर फोकल प्वाइंट झुग्गियों पास रेड करके मौके से इंद्रपाल निवासी पटियाला, खत्री राम निवासी अलीपुर अराइयां बाजीगर बस्ती, बचन सिंह निवासी गांव मीरांपुर को काबू किया गया, जो प्रशासन के आदेशों के बावजूद इकट्ठे होकर शराब पी रहे थे। मौके से 650 एमएल शराब व शराब पीने के बर्तन बरामद किए गए।

संगरूर: मैरिज पैलेस के मैनेजर के खिलाफ केस दर्ज
कोरोना वायरस को रोकने के लिएपंजाब सरकार की हिदायतों का उल्लंघन करने पर मालेरकोटला के नजदीकी गांवकुप खुर्द के समीप स्थित एक मैरिज पैलेस में विवाह समागम करने वाले पैलेस के मैनेजर खिलाफ पुलिस थाना अहमदगढ़ में मामला दर्ज किया गया है। वहीं बच्चों की परीक्षा कराने वाले स्कूल के खिलाफ की मान्यता रद्द करने की सिफारिश की गई है। 
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: पंजाब में ग्रामीणों ने कई गांवों को किया आइसोलेट, नाका लगा आने-जाने पर लगाई पाबंदी

इस समय लोग कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखकर भी अनजान बनकर कर्फ्यू का भी उल्लंघन करने से गुरेज नहीं कर रहे हैं, वहीं पटियाला जिले के नाभा के कुछ गांव ऐसे भी हैं, जिनमें लोगों ने अपने स्तर पर चंदा इकट्ठा करके जहां गांवों को सैनिटाइज किया है। वहीं लोगों में मास्क बांटे हैं। इसके साथ ही गांवों में आने-जाने पर भी पाबंदी लगा दी गई है। नाके लगाकर गांवों के नौजवानों ठीकरी पहरे दे रहे हैं।

नाभा के गांव अगेता के ग्रामीणों ने बाहर के लोगों से दूरी बना ली है। 750 लोगों की आबादी वाले इस गांव में पढ़े-लिखे तो गिनती के हैं लेकिन यहां के लोगों ने कोरोना से निपटने के लिए खुद गांव को बचाने की ठानी है। गांव के किसान हरविंदर सिंह ने बताया कि सभी लोगों ने अपने स्तर पर चंदा इकट्ठा किया और फिर उससे बाजार से सैनिटाइजर लाए और गांव की हर गली, मंदिर, गुरुद्वारे आदि में छिड़काव किया।

लोगों में मास्क भी बांटे गए हैं। साथ ही बताया कि पूरे गांव की सहमति के बाद गांव को नाभा शहर से जोड़ती सभी सड़के खुद ही बैरीकेड लगाकर बंद कर दी हैं। आने-जाने वाले लोगों पर नजर रखी जा रही है। इसके लिए बारी-बारी ठीकरी पहरे दिए जा रहे हैं। 

ऐसा ही कुछ गांव अजनौदा, मांगेवाल और भादसों में भी किया गया है। अगेती की तरह इन गांवों में भी नियम बनाए गए हैं कि इमरजेंसी में दवा लेने गांव से बाहर जा सकते हैं, बशर्ते उन्हें कोरोना वायरस संबंधी रजिस्टर में जाने की वजह, समय और वापसी आने की समय सीमा दर्ज करनी होगी। अगर किसी को कोई जरूरी सामान, नकदी व अन्य कोई दूसरी सेवा चाहिए, तो वह गांव के अंदर मुहैया कराई जाएगी।
... और पढ़ें

अफवाह फैलाने के आरोप में दो नामजद

गांव साहल के रहने वाले एक 70 साल के बुजुर्ग की मौत हार्ट अटैक से हो गई, लेकिन इस मौत का कारण कोरोना वायरस बताकर लोगों में झूठी अफवाह फैलाने के आरोप में थाना खेड़ी गंड़ियां की पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया है। हालांकि अभी तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।
जसपाल सिंह निवासी गांव साहल ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसके घर पर रहने वाले राज सिंह (70) निवासी फतेहपुर वेहड़ा की मौत 21 मार्च की सुबह हार्ट अटैक से हो गई थी। लेकिन आरोपी मंगत सिंह निवासी गांव चलहेड़ी ने बुजुर्ग राज सिंह की मौत कोरोना वायरस से होने का एक गलत वीडियो वायरल कर दिया। इस वीडियो की वजह से झूठी अफवाह फैल गई। पुलिस ने शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर लिया गया है।
इसी तरह से एक अन्य केस में राजपुरा के सरकारी अस्पताल में कोरोना वायरस का एक संदिग्ध केस आने की झूठी अफवाह फैलाने के आरोप में सिटी राजपुरा पुलिस ने एक व्यक्ति खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक अभी तक राजपुरा के एपी जैन सिविल अस्पताल में कोरोना वायरस का एक भी संदिग्ध केस नहीं आया है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: एसएसपी बोले- पिकनिक या तमाशा नहीं, देश संकट में है, यहां पढ़ें- जिलों का हाल

जनता कर्फ्यू के बाद सोमवार को ढील के बाद मानसा प्रशासन ने दोपहर को फिर से सख्ती लागू कर दी। सुबह के समय प्रशासन दवाएं, सब्जी और करियाने की दुकानें खोलने की मोहलत दी थी लेकिन दुकानें बंद करवाकर कर्फ्यू लागू कर दिया गया। इस दौरान मुनादी भी करवाई गई कि कोई व्यक्ति घरों से बाहर नहीं निकलेगा। ऐसा होने पर कानूनी कार्रवाई करने का प्रावधान रखा गया है। 

रविवार व सोमवार को पुलिस ने सड़कों पर निकलने वाले वाहनों के करीब 150 चलान काटे। दूसरी ओर बंद के दौरान जिला प्रशासन व सेहत विभाग कोरोना के संदिग्ध संबंधी जानकारी नहीं दे रहा है। पता चला है कि रविवार शाम गांव दलिएवाली से विदेश से आई एक महिला में उक्त बीमारी के लक्षण पाए जाने पर उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इसके अलावा कुछ पुलिस मुलाजिमों और अन्य संदिग्ध मरीजों का चेकअप भी किया गया है। 

डीसी गुरपाल सिंह चहल, एसडीएम सर्वजीत कौर और एसएसपी डॉ. नरिंदर भार्गव ने बताया कि लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए फिर से कर्फ्यू लगाने की जरूरत पड़ी। एसडीएम सर्वजीत कौर ने टीम समेत बाजार का जायजा लिया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us