विज्ञापन
विज्ञापन
फ्री जन्मकुंडली बनवाएं और जानें शनि मार्गी किस प्रकार करेगा आपके करियर को प्रभावित !
astrology

फ्री जन्मकुंडली बनवाएं और जानें शनि मार्गी किस प्रकार करेगा आपके करियर को प्रभावित !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

पूर्व विधायक बंबर ठाकुर की पत्नी पर केस दर्ज, पढ़ें पूरा मामला

कोरोना पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल परिसर में हंगामा करने और कोरोना नियम तोड़ने पर कांग्रेस के पूर्व विधायक बंबर ठाकुर की पत्नी के खिलाफ पुलिस ने सदर थाने में मामला दर्ज कर लिया है। 28 अगस्त को भावना ठाकुर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उसे स्वास्थ्य विभाग ने आईसोलेट कर दिया, लेकिन 29 अगस्त शनिवार को आईसोलेशन नियम दरकिनार कर भावना जिला अस्पताल की आपात ओपीडी में पहुंच गईं और कोरोना रिपोर्ट को गलत बताते हुए जमकर हंगामा किया।

उस दौरान ओपीडी के बाहर इलाज के लिए 50 से ज्यादा गर्भवती महिलाएं खड़ीं थीं। महिला के हंगामे के तुरंत बाद अस्पताल प्रबंधन ने दावा किया था कि उन्होंने इसकी शिकायत एसपी को भेज दी है। एसपी बिलासपुर को शिकायत बुधवार को प्राप्त हुई। इसके बाद उन्होंने पूरे मामले की छानबीन की और सदर थाना प्रभारी को केस दर्ज करने के आदेश दिए। एसपी बिलासपुर दिवाकर शर्मा ने इसकी पुष्टि की।
... और पढ़ें

मासूम बेटी से दुष्कर्म के आरोप में पिता गिरफ्तार

नाबालिग बेटी से दुष्कर्म के आरोप में पिता के खिलाफ ठियोग थाने में मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पीड़ित बच्ची की मां की कुछ साल पहले मौत हो चुकी है। आरोपी मजदूरी का काम करता है और वह 9 साल की बेटी और एक छोटे बेटे के साथ रहता है। आरोपी पिछले कुछ समय से बेटी के साथ दुष्कर्म कर रहा था। खुद पीड़ित बच्ची ने पुलिस के समक्ष इस बात का खुलासा किया है।

वह रायबरेली का रहने वाला है। जिला बाल संरक्षण अधिकारी रमा कंवर ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही वे टीम के साथ थाने पहुंचे और प्रभारी से मामले से जुड़े दस्तावेज लेकर कार्रवाई की जा रही है। उधर, डीएसपी ठियोग कुलविंद्र सिंह ने बताया कि मासूम बेटी के साथ दुष्कर्म के आरोप में पिता को गिरफ्तार किया है। उसके विरुद्ध आईपीसी की धारा 376 एवं पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। 
... और पढ़ें

नाबालिग बेटी से दुष्कर्म के बाद पिता ने फंदा लगाकर दी जान

श्री नयनादेवी जी क्षेत्र में नशेड़ी पिता ने अपनी 12 वर्षीय नाबालिग बेटी के साथ दुष्कर्म के बाद फंदा लगाकर जान दे दी। नाबालिग ने परिजनों को इसकी जानकारी दी तो आरोपी पिता ने बंद कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। पीड़ित नाबालिग की मां कहीं और रह रही हैं। पिता के साथ दो बेटियां और एक बेटा रहता था जबकि एक बेटी अपने नाना-नानी के पास रहती है। 

परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस थाना कोट की टीम ने मौके पर पहुंचकर परिजनों और पीड़िता के बयान दर्ज कर लिए हैं। मृतक के शव को भी कब्जे में ले लिया है। डीएसपी संजय शर्मा ने बताया कि इस संबंध में पुलिस थाना कोट में आईपीसी की धारा 376, 506 और पोक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।  
... और पढ़ें

एनसीबी ने नाके पर सेब पेटियों में छिपाई साढ़े तीन किलो चरस पकड़ी

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो चंडीगढ़ की टीम ने कुल्लू से पंजाब की तरफ जा रही हरियाणा नंबर की सेब से भरी पिकअप से चरस की बड़ी खेप पकड़ी है। मामले में तीन लोगों को स्वारघाट के समीप गिरफ्तार किया गया है। टीम आरोपियों को चंडीगढ़ ले गई है। एनसीबी से मिली जानकारी के अनुसार शातिर बड़ी चालाकी से सेब की पेटियों में चरस को छिपाकर पंजाब और हरियाणा की तरफ ले जा रहे थे। एनसीबी की टीम ने पिकअप से सेब की पेटियों में छिपाई 3 किलो 650 किलो चरस बरामद की है। बता दें कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो चंडीगढ़ की विशेष टीम चार-पांच दिन से कुल्लू जिले में सक्रिय थी। 

शनिवार देर रात को टीम आरोपियों को स्वारघाट से चंडीगढ़ की तरफ ले गई है। तीनों आरोपियों के नाम और पते गुप्त रखे गए हैं, जिससे आरोपियों से जुड़े अन्य लोगों तक पहुंचा जा सके। इस मामले के तार अंतरराज्यीय चरस तस्कर गिरोह के साथ तार जुड़े होने की आशंका भी जताई जा रही है। मामले में कई और भी गिरफ्तारियां जल्द हो सकती हैं। एनसीबी जोनल ऑफिस चंडीगढ़ की टीम में इंस्पेक्टर रजनीश, सब इंस्पेक्टर संजीव कुमार, हेड कांस्टेबल लोकेंद्र, कांस्टेबल आनंद सिंह व कुलविंद्र सिंह और चालक गुरदेव सिंह शामिल हैं। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो जोनल कार्यालय चंडीगढ़ के निदेशक ज्ञानेंद्र सिंह ने इसकी पुष्टि की है।
... और पढ़ें
पिकअप से चरस की बड़ी खेप पकड़ी। पिकअप से चरस की बड़ी खेप पकड़ी।

फर्जी डिग्री मामला: 14 दिन की न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा केवल शर्मा

चार लाख फर्जी डिग्री बंचने के आरोप में फंसे मानव भारती विश्वविद्यालय से फर्जी डिग्री हासिल करने के आरोपी दिल्ली निवासी केवल शर्मा को सोलन की जेएमआईसी-1 कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। सीआईडी ने केवल को दिल्ली के मालवीय नगर से गिरफ्तार किया था। पकड़े जाने से पहले उसने बताया था कि उसने विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर डिग्री हासिल की है, लेकिन जांच में उसकी डिग्री फर्जी मिली थी।

सीआईडी उसके बिचौलिये की भूमिका की जांच कर रही है। साथ ही डिग्री हासिल करने के लिए पैसे देने की प्रक्रिया को भी अधिकारी जांच रहे हैं। बताया जा रहा है कि तीन दिन की रिमांड के दौरान उसने कई महत्वपूर्ण जानकारियां एजेंसी के साथ साझा की हैं। उस जानकारी से अब पहले पकड़े गए विश्वविद्यालय के प्रबंधन से जुड़े लोगों से पूछताछ कर चेक किया जाएगा। बता दें, तीन दिन पहले सीआईडी ने केवल शर्मा को दिल्ली के मालवीय नगर से गिरफ्तार किया था।
... और पढ़ें

हिमाचल: फर्जी डिग्री मामले में पहली गिरफ्तारी

मानव भारती विश्वविद्यालय में चार लाख से ज्यादा फर्जी डिग्रियां बेचने के मामले में एडीजी सीआईडी एन वेणुगोपाल की अध्यक्षता वाली एसआईटी ने पहली बड़ी कार्रवाई की है। एसआईटी ने दिल्ली से केवल शर्मा नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। युवक ने दावा किया था कि 2010-2013 के बीच उसने विश्वविद्यालय से बीकॉम की डिग्री हासिल की है। लेकिन, जांच में यह डिग्री फर्जी पाई गई है। इस पहली गिरफ्तारी के साथ ही एसआईटी ने पैसे देकर फर्जी डिग्री हासिल करने वालों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। इस गिरफ्तारी को रैकेट के तार से जोड़कर देखा जा रहा है। 

एसआईटी तीन दर्ज मामलों की संयुक्त तफ्तीश कर रही है। अब तक की जांच में फर्जी डिग्रियां जारी कर करोड़ों रुपये कमाने की बात सामने आ चुकी है। पता चला है कि इस पैसे से मानव भारती चैरिटेबल ट्रस्ट ने राजस्थान में भी माधव विश्वविद्यालय स्थापित किया और वहां भी फर्जी डिग्री का धंधा चलाया है। इस गड़बड़झाले की तफ्तीश में वित्तीय लेनदेन की जांच के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और इनकम टैक्स के अधिकारी भी एसआईटी की मदद कर रहे हैं। ईडी ने अलग से 17 सितंबर को मामला दर्ज कर जांच भी शुरू कर दी है। जांच में जो तथ्य सामने आए हैं, उनसे यह तय है कि विश्वविद्यालय के मालिक राजकुमार राणा ने देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी संपत्तियां बनाई हैं। 
... और पढ़ें

हिमाचल: नकाबपोशों ने कबाड़ के गोदाम पर बरसाईं गोलियां, बाल-बाल बचा संचालक

नालागढ़ के राजपुरा (मूसेवाल) में एक कबाड़ के गोदाम पर दोपहर बाद बाइक पर सवार दो नकाबपोशों ने गोदाम के कार्यालय पर गोलियां बरसा दीं। इससे कबाड़ गोदाम का संचालक बाल-बाल बच गया। तीन फायर करने के बाद नकाबपोश मौके से फरार हो गए। सूचना मिलते ही बद्दी से एएसपी नरेंद्र कुमार, डीएसपी नवदीप सिंह, डीएसपी विवेक व नालागढ़ के थाना प्रभारी निर्मल सिंह मौके पर पहुंचे।

पुलिस के अनुसार यह घटना मंगलवार दोपहर पौने दो बजे की है। कबाड़ के संचालक बलविंद्र सिंह इस दौरान गोदाम पर नहीं थे। उनके छोटे भाई साहिब सिंह गोदाम के कार्यालय में बैठे थे। इस बीच, बिना नंबर प्लेट की बाइक पहले नालागढ़ की ओर गई और साथ ही वापस आ गई। उसमें सवार दो लोगों ने कार्यालय पर गोलियां दाग दीं। कार्यालय में बैठे साहिब सिंह के कान के बिल्कुल पास से गोली निकली और वह बाल-बाल बच गए।

कार्यालय में दो छोटे बच्चे भी बैठे थे, लेकिन खुशकिस्मती से ये तीन गोलियां किसी को नहीं लगीं। गोली चलाने के बाद आरोपी मौके से भाग गए। साहिब सिंह ने बताया कि नकाबपोश उनके बड़े भाई को मारना चाहते थे। वह उस दौरान गोदाम पर नहीं थे। उधर, सूचना मिलते ही बलविंद्र सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि इससे पहले भी उन्हें इस तरह की धमकियां मिलती रही हैं। इसकी शिकायत उन्होंने बद्दी और नालागढ़ पुलिस को दी है। एएसपी नरेंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।
... और पढ़ें

टैक्सी चालक हत्या मामला: थाने के कार्यकारी प्रभारी, मुंशी समेत 15 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

शातिर सीसीटीवी में कैद
हिमाचल के बिलासपुर जिले के कंदरौर में टैक्सी चालक की हत्या के मामले में लापरवाही बरतने पर एसपी बिलासपुर दिवाकर शर्मा ने स्वारघाट थाना के कार्यकारी प्रभारी, एमएचसी मुंशी समेत 15 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया है। एसपी ने इस मामले की जांच डीएसपी श्री नयनादेवी जी संजय शर्मा को सौंप दी है। उन्हें सात दिन के भीतर इसकी रिपोर्ट देनी होगी। इसके अलावा डीएसपी को थाने में नए स्टाफ की तैनाती के आदेश दिए गए हैं। 
15 सितंबर को टैक्सी चालक की हत्या के बाद चारों अभियुक्त लूटी गई कार में थाना स्वारघाट के सामने से रात 3:25 बजे नालागढ़ की ओर निकले।

कार को पकड़ने के लिए कंट्रोल रूम से  रात 1:15 बजे ही सूचना दे दी गई थी। दूसरी बार रात 2:40 बजे सभी थानों को फिर अलर्ट किया गया। लेकिन स्वारघाट पुलिस की लापरवाही का आलम यह रहा कि सूचना मिलने के बाद भी आरोपी प्रदेश की सीमा से बाहर निकलने में कामयाब हो गए। बताया जा रहा है कि स्वारघाट थाना के प्रभारी इस दौरान सात दिन के अवकाश पर थे। इसलिए उन्हें फिलहाल तब्दील नहीं किया गया है। डीएसपी संजय शर्मा को जांच रिपोर्ट में एसएचओ स्वारघाट पर भी टिप्पणी देने को कहा गया है।
... और पढ़ें

पतलीकूहल के हिमरी गांव में 16 वर्षीय लड़के की गोली मारकर हत्या

कुल्लू जिले की ऊझी घाटी की ग्राम पंचायत देवगढ़ के गांव हिमरी में एक लड़के की गोली मारकर हत्या कर दी गई। लड़के के शव पर कई जगह पर बंदूक के छर्रे मिले हैं। पुलिस ने मृतक के परिजनों की शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार देवगढ़ पंचायत के हिमरी गांव में एक 16 वर्षीय लड़का गांव के कुछ अन्य बच्चों के साथ खेलने के लिए निकला था। 

बताया जा रहा है कि इस दौरान मक्की के खेत में पहले से ही बंदरों की पहरेदारी कर रहे गांव के एक व्यक्ति ने बंदर समझकर फायर कर दिया। लेकिन यह गोली किशन पुत्र छिटू राम (16) को लग गई और उसकी मौके पर मौत हो गई है। सेब के बगीचे व मक्की के खेतों के साथ जंगल होने से यहां बंदर फसल को नुकसान पहुंचाने के लिए आते हैं। ऐसे में ग्रामीण पहरा देते हैं। हत्या का संगीन केस होने के चलते तुरंत इसकी सूचना एसपी कुल्लू और डीएसपी मनाली संजीव कुमार को दी गई।

पुलिस टीम हिमरी पहुंची ही थी कि इतने में एसपी और डीएसपी भी घटनास्थल पर पहुंच गए। जहां पता चला कि वीरवार दोपहर बाद करीब तीन बजे ठिनू राम गांव हिमरी ने अपने खेत में 12 बोर की बंदूक से फायर किया जिसमें 16 साल के लड़के की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह और एसडीपीओ मनाली ने मौके पर जाकर शव का निरीक्षण किया तो उन्होंने युवक के शरीर के कई अंगों पर गोली के छर्रों के निशान पाए। पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने मामले की पुष्टि की है।

कहा कि यह हादसा है या आपसी रंजिश है, सभी पहलुओं पर इसकी जांच की जा रही है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या तथा आर्म्स एक्ट की धारा 25 के तहत केस दर्ज कर आर आरोपी को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया जा रहा है। 
... और पढ़ें

टैक्सी चालक की हत्या कर लूटी कार, पांचों आरोपी गिरफ्तार

धर्मशाला-शिमला एनएच पर कंदरौर के पास सोमवार देर रात पांच लोगों ने तेजधार हथियारों से एक टैक्सी चालक की हत्या कर दी। आरोपी उसी टैक्सी को लेकर फरार हो गए। एक ट्रक चालक ने पुलिस को इस घटना की सूचना दी। पुलिस ने आठ घंटे के अंदर आरोपियों को हरियाणा के पानीपत से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों में दो जम्मू, एक हरियाणा और एक दिल्ली का है।

पांचवें आरोपी का अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस के अनुसार देवेंद्र सिंह ने पुलिस को इस संबंध में शिकायत दर्ज करवाई है। उसने पुलिस को बताया कि जब वह ट्रक में सीमेंट लोड करके दाड़लाघाट से सुजानपुर जा रहा था, उसी दौरान सोमवार देर रात करीब 12:30 बजे देलग से आगे और कंदरौर चौक से थोड़ा पीछे सड़क किनारे खड़ी एक ऑल्टो कार में से एक व्यक्ति दौड़ता हुआ ट्रक के आगे आया। उसने उसे रुकने का इशारा किया।

उसने ट्रक की स्पीड धीरे की तो कंडक्टर साइड वाली खिड़की के साथ लटक कर वह व्यक्ति कहने लगा कि मुझे बचा लो। जैसे ही उसने ट्रक रोका तो उक्त व्यक्ति ट्रक के अंदर आ गया। उसने कहा कि पुलिस को फोन लगाओ और उसके तुरंत बाद वह बेहोश हो गया। थोड़ी देर में पुलिस मौके पर पहुंच गई। वहीं पुलिस ट्रक चालक सहित घायल को जिला अस्पताल लेकर आई। वहीं पुलिस ने इसके बयान दर्ज किए। 

एसपी बिलासपुर दिवाकर शर्मा ने बताया कि मृतक की पहचान हरीश कुमार पुत्र सुंदर लाल गांव कांसी पट्टा, डाकघर निहाला कंडाघाट जिला सोलन के रूप में हुई है। बताया कि मृतक चार लोगों को टैक्सी में कंडाघाट से चिंतपूर्णी लेकर जा रहा था। उन्होंने खुद जाकर घटना स्थल का जायजा लिया है। पुलिस ने आरोपियों को पानीपत पुलिस की मदद से  गिरफ्तार कर लिया है। बिलासपुर पुलिस की टीम एएसपी अमित शर्मा की अगुवाई में आरोपियों को लाने के लिए पानीपत रवाना हो गई है।
... और पढ़ें

मां ने प्रेमी संग नौ साल के बेटे की कर डाली हत्या, मासूम ने आपत्तिजनक हालत में देखा था दोनों को

नालागढ़ के निक्कूवाल में मां ने अपने नौ साल के बेटे की प्रेमी के साथ मिलकर हत्या कर दी। बेटे ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था। इस पर दोनों ने उसकी दुपट्टे से गला घोंटकर हत्या कर दी और शव को खेत में फेंक दिया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार घटना 14 सितंबर की है। उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले के गांव मुल्ला खेड़ा निवासी राम आसरा ने पुलिस में दर्ज रिपोर्ट में बताया कि वह तीन साल से किराये के मकान में रहता है।

उसके चार लड़के और एक लड़की है। 9 साल का बेटा तीसरी कक्षा में पढ़ता था। यह 14 सितंबर को अचानक गायब हो गया। जब उसने पत्नी से पूछा तो उसने बताया कि वो बुआ के घर गया है। 15 सितंबर को उसने बुआ से बेटे के बारे में पूछताछ की तो उसने बताया कि 14 सितंबर को वो उसके घर आया ही नहीं। इस पर 16 सितंबर को दूसरे बेटे अमनदीप और अन्य लोगों की मदद से बेटे की खोज शुरू की। इसी दौरान उसका शव खेतों में मिला। 

सीसीटीवी से हुआ वारदात का खुलासा 
बेटे का शव मिलने के बाद बाद राम आसरा ने आकाश अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग को देखा। इसमें आरोपी और उसकी पत्नी दिखते हैं। अशोक उसके घर की ओर आता है और उसके बाद उसका 9 वर्षीय बेटा भी घर की ओर आता हुआ कैमरे में दिखाई देता है। इसके बाद बेटा वापस बाहर नहीं आया। बाद में उसका शव खेत में मिला। एसपी रोहित मालपानी ने बताया कि हत्या का मामला दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।
... और पढ़ें

चरस तस्करी के मुख्य आरोपी की 42 लाख की संपत्ति सीज

हिमाचल की कुल्लू पुलिस ने चरस तस्करी के मुख्य आरोपी की 42 लाख की संपत्ति को सीज किया है। आरोपी के बैंक खाते से 28 लाख का लेनदेन हुआ था। आरोपी बंजार में दर्जी की दुकान चलाता है। बावजूद इसके आरोपी ने 2018 में करीब 8.5 लाख रुपये में कार खरीदी जबकि मई 2019 में पटवार सर्किल चैहणी में 4 बीघा जमीन करीब 7.41 लाख रुपये में खरीदी है। आरोपी ने तीन मंजिला नया घर भी बनाया है।  पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने कहा कि इतने कम समय में इतनी संपत्ति अर्जित करना व लाखों का लेनदेन आरोपी की आय के अनुरूप नहीं है।

आरोपी की 42 लाख की संपत्ति को सीज व फ्रीज किया गया है। अब तक एनडीपीएस के 10 मामलों में 16 आरोपियों की दो करोड़ 52 लाख रुपये की संपत्ति को जब्त किया जा चुका है। पुलिस के अनुसार 13 जुलाई 2020 को बंजार पुलिस ने 4.766 किलो चरस के साथ आरोपी सुरेंद्र सिंह को पकड़ा था। बाद में पुलिस मुख्य सप्लायर आरोपी नोक सिंह निवासी दाडूधर पुजाली बंजार तक पहुंची। छानबीन में पता चला कि नोक सिंह दूरदराज गांव में अपनी मां, पत्नी और चार बच्चों के साथ रहता है। बंजार में दर्जी की दुकान चलाता है। इसके परिवार में कोई भी सदस्य सरकारी या प्राइवेट नौकरी में नहीं है। कोई बगीचा भी नहीं है। आय का कोई स्थायी साधन नहीं है। बावजूद इसके कम समय में लाखों रुपये की प्रॉपर्टी बना ली है। 
... और पढ़ें

फर्जी डिग्री मामले की जांच का जिम्मा सीआईडी को सौंपा

मानव भारती विश्वविद्यालय सोलन के फर्जी डिग्री मामले की जांच का जिम्मा सरकार ने सीआईडी को सौंप दिया।  जांच के लिए एडीजीपी वेणुगोपाल की अध्यक्षता वाली 19 सदस्यीय टीम का गठन कर दिया गया है। यह जानकारी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शुक्रवार को विधानसभा में कांग्रेस विधायक राजेंद्र राणा की ओर से उठाए सवाल के जवाब में दी। सीएम ने कहा कि इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और आयकर विभाग से भी संपर्क किया गया। उन्होंने कहा कि फर्जी डिग्रियां बांटने से बड़ा हिमाचल में कोई पाप नहीं हो सकता। एक आकलन है कि फर्जी डिग्रियां हजारों में नहीं, लाखों में देश-विदेश में बांटी गईं हैं।

राणा ने मामला सीबीआई को नहीं देने पर अफसोस जताया। इस पर सीएम ने कहा कि वह किसी भी सरकार पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते। पूर्व में गलत चीजें हुई हैं। जहां  लग रहा है कि गड़बड़ी हुई है, वहां कार्रवाई की जा रही है। टेक्नोमैक मामले का उदाहरण आपके सामने हैं, आरोपी विदेश चला गया। सरकार ने छोड़ा नहीं। मुख्यमंत्री ने विपक्ष पर तंज कसा कि कांग्रेस सरकार अपने समय में इस गड़बड़ी को पकड़ नहीं पाई। विवि मालिक राजकुमार राणा और रजिस्ट्रार केके सिंह समेत पांच लोग गिरफ्तार किए गए हैं। दोनों ही न्यायिक हिरासत में हैं।
... और पढ़ें
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन