बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
श्मशान में चिता पर बना है देवी माँ का ये प्राचीन मंदिर
Myjyotish

श्मशान में चिता पर बना है देवी माँ का ये प्राचीन मंदिर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

भाजपा का सियासी दांव: आगरा के डॉ. रामबाबू हरित बने यूपी एससीएसटी आयोग के अध्यक्ष

भाजपा संगठन में विभिन्न पदों पर रहे आगरा के डॉ. रामबाबू हरित को लंबे समय बाद बड़ी जिम्मेदारी मिली है। डॉ. हरित को उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (एससीएसटी) आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने डॉ. हरित के मनोनयन पर हर्ष जताया है। 

पेशे से एमबीबीएस चिकित्सक डॉ. रामबाबू हरित वर्तमान में भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य हैं। शाहगंज के रहने वाले डॉ. हरित का राजनीतिक सफर 1989 में भाजपा से सभासद का चुनाव जीतने के साथ शुरू हुआ था। 1992 में वह डिप्टी मेयर बने। आगरा पश्चिम विधानसभा सीट से तीन बार विधायक चुने गए। इस दौरान राजनाथ सिंह सरकार में स्वास्थ्य राज्य मंत्री भी रहे। 

वह वर्ष 2007 में विधानसभा चुनाव हारने के बाद बसपा में शामिल हो गए लेकिन कुछ ही समय बाद उन्होंने भाजपा में वापसी कर ली। तभी से वह संगठन में रहकर कार्य कर रहे थे। अब उन्हें आयोग के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी गई है। इसके पहले आगरा के सांसद रहे डॉ. रामशंकर कठेरिया (अब इटावा के सांसद) राष्ट्रीय एससीएसटी आयोग के अध्यक्ष रह चुके हैं। 
... और पढ़ें

आत्मदाह का प्रयास: आगरा में पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपी पर नहीं की कार्रवाई तो युवती ने उठाया यह कदम

आगरा कलक्ट्रेट में गुरुवार दोपहर को एक युवती ने अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आत्मदाह का प्रयास किया। उस पर कुछ पुलिसकर्मियों की नजर पड़ गई। उन्होंने उसे रोक लिया। इसके बाद उससे समस्या पूछी। युवती ने बताया कि एक युवक उसका शारीरिक शोषण कर रहा था। पुलिस कार्रवाई ना होने से वह आहत थी। इस कारण आत्मदाह करना चाहती थी। एसएसपी ने शाहगंज पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। 

थाना रकाबगंज क्षेत्र की रहने वाली युवती के प्रेम संबंध 10 साल से शाहगंज क्षेत्र के युवक से चल रहे थे। युवती का आरोप है कि युवक ने शादी करने का वादा किया था। तब से उसका शारीरिक शोषण कर रहा था। अब उसने शादी से इंकार कर दिया। दूसरी युवती से शादी की तैयारी कर रहा है। इस बात की शिकायत पुलिस से की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इससे वह तनाव में थी। 

गुरुवार दोपहर को युवती कलक्ट्रेट आई थी। इस दौरान अपने साथ एक थैली में बोतल में मिट्टी का तेल लेकर आई थी। उसने अचानक बोतल निकाल कर मिट्टी का तेल डाल लिया। यह देखकर एसएसपी ऑफिस पर तैनात पुलिसकर्मी दौड़ पड़े। उसे रोक लिया। इसके बाद एसएसपी के सामने ले गए। एसएसपी मुनिराज जी ने मामले में थाना शाहगंज पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।
... और पढ़ें

श्री पारस अस्पताल प्रकरण: लखनऊ तक मची है खलबली, डिप्टी सीएम ने कहा- जांच रिपोर्ट का करिए इंतजार

श्री पारस अस्पताल में दमघोंटू मॉकड्रिल मामले में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। जांच रिपोर्ट का इंतजार करिए। अस्पताल सील है। संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज है। पूरे प्रकरण की जांच चल रही है। 

बता दें कि 26 अप्रैल को कथित मॉकड्रिल के वीडियो वायरल होने पर आगरा से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मचा था। मुख्यमंत्री ने संज्ञान लेकर जिलाधिकारी को कार्रवाई के निर्देश दिए थे। जिसके बाद डीएम ने अस्पताल सील कर उसका लाइसेंस निलंबित कर दिया। डॉ. अरिन्जय जैन के विरुद्ध मुकदमा दर्ज है। हालांकि आठ दिन बाद भी मुकदमे में कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। इधर, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सर्किट हाउस में श्री पारस प्रकरण में सख्त कार्रवाई के संकेत दिए हैं। 

बयान दर्ज कराने नहीं पहुंचे पीड़ित
कलक्ट्रेट में एडीएम सिटी के समक्ष बुधवार को बयान दर्ज कराने के लिए पीड़ित नहीं आए। पूर्व मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी पश्चिमपुरी निवासी लक्ष्मी नारायण की पत्नी की श्री पारस अस्पताल में मौत हो गई थी। आरोप था कि ऑक्सीजन कमी से मरीज की जान चली गई। एडीएम सिटी डॉ. प्रभाकांत अवस्थी ने बताया कि बयान दर्ज कराने से इनकार करते हुए पीड़ित ने कहा, उनके प्रार्थनापत्र को ही अंतिम बयान मान लिया जाए। प्रार्थनापत्र में लिखे तथ्यों के आधार पर जांच की जाए। एडीएम सिटी को 10 शिकायतें मिलीं थीं। जिनमें आठ मृतकों के सात परिजनों ने ऑक्सीजन व अस्पताल की लापरवाही से मौतों के आरोप लगाए हैं। छह पीड़ितों के बयान दर्ज हो चुके हैं। एडीएम सिटी ने बताया कि दो दिन में जांच रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपी जाएगी।

डेथ ऑडिट भी अधूरा
प्रशासन ने 26 और 27 अप्रैल को सात मौत होने की बात कही। प्रत्यावेदन देने वाले नरेश पारस ने 22 मौतों के आरोप लगाए हैं। संदिग्ध मरीजों की मौतों की जांच के लिए डीएम ने एसएन के चार चिकित्सकों टीम बनाई है। तीन बार टीम अस्पताल जाकर जांच कर चुकी हैं। चार दिन बाद भी डेथ ऑडिट पूरा नहीं हो सका है।

श्री पारस अस्पताल प्रकरण: छह मृतकों के परिजनों ने बताया भयावह दिन का सच, ऑक्सीजन खत्म हो गई मरीज ले जाइए...
 
... और पढ़ें

आगरा: तीन दिन बंद रहेगा ताजमहल, वीकेंड पर आने का प्लान बना रहे हैं तो पढ़िए ये खबर

अगर शनिवार और रविवार को ताजमहल, आगरा किला, फतेहपुर सीकरी स्मारक घूमने की योजना बना रहे हैं तो रुक जाइये। शनिवार और रविवार को ताजमहल समेत सभी स्मारक बंद रहेंगे। वीक एंड कोरोना कर्फ्यू के कारण भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने यह फैसला लिया है। ताजमहल के दरवाजे आम पर्यटकों के लिए बुधवार को खोल दिए गए, लेकिन आज शुक्रवार बंदी के कारण ताज बंद रहेगा, लेकिन अन्य स्मारक खुले रहेंगे। ताजमहल अगले तीन दिनों तक यानी शुक्रवार, शनिवार और रविवार को बंद रहेगा। अन्य स्मारकों को शनिवार और रविवार को बंद रखा जाएगा। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधीक्षण पुरातत्वविद वसंत कुमार स्वर्णकार ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू के कारण शनिवार-रविवार को आम पर्यटकों का प्रवेश बंद रहेगा। इसके अलावा स्मारकों का समय भी नाइट कर्फ़्यू के कारण बदला गया है। सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक ही स्मारकों में प्रवेश किया जा सकेगा। पूर्व में सूर्योदय से सूर्यास्त तक स्मारकों को खोलने की व्यवस्था थी, लेकिन नाइट कर्फ्यू के नियमों के कारण समय में बदलाव किया गया है।
... और पढ़ें
आगरा: ताजमहल पर आए सैलानी आगरा: ताजमहल पर आए सैलानी

आगरा कोरोना वायरस: कम हुआ संक्रमण, छह मरीज ठीक हुए, तीन नए और मिले, ब्लैक फंगस के दो ऑपरेशन

आगरा में मिल रहे नए संक्रमितों की संख्या और कम हुई है। गुरुवार को 24 घंटे में 7,743 लोगों की जांच में सिर्फ तीन नए मरीज मिले हैं। छह मरीज ठीक हुए हैं। जिले में अब 155 सक्रिय मरीज हैं। 450 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

जिला प्रशासन की रिपोर्ट के मुताबिक गुरुवार तक जनपद में 10.75 लाख लोगों की जांच हो चुकी है। जिले में अब तक कुल 25,813 मरीज मिले हैं। इनमें से 25,205 संक्रमित ठीक हो चुके हैं। मरीजों के स्वस्थ होने की दर 97.66 फीसदी है। 

डीएम प्रभु एन सिंह ने बताया कि संक्रमण में कमी आई है। लोग मास्क व उचित दूरी का पालन करते हुए काम करें। कोविड नियमों को अपने व्यावहारिक जीवन में अपनाएं। तभी इस महामारी से लंबे समय तक बचाव हो सकता है।
... और पढ़ें

रिश्तों में शक : पत्नी की जासूसी के लिए सहायक प्रोफेसर बना 'लड़की', फेसबुक पर सहेलियों संग की चैटिंग और फिर...

एक कन्या महाविद्यालय की सहायक प्रोफेसर का ससुराल में उत्पीड़न किया गया। आरोप है कि पति घर खर्च के लिए उनसे ही रुपये लेता था। शक भी करने लगा। मोबाइल कॉल फारवर्ड पर लगा दिया। विरोध पर मारपीट की। वह अलग रहने लगी तो पति ने फेसबुक पर युवती के नाम से आईडी बना ली। उनकी सहेलियों से चैटिंग करने लगा। निजी फोटो और वीडियो भी शेयर कर दिए। पीड़िता ने महिला थाना में मुकदमा दर्ज कराया। मगर, अब तक विवेचना पूरी नहीं हो सकी है। पीड़िता ने एसएसपी आफिस में प्रार्थना पत्र दिया है।

मूलरूप से गोरखपुर की रहने वाली सहायक प्रोफेसर एक महाविद्यालय में कार्यरत हैं। उनकी शादी वर्ष 2019 में वाराणसी के एक महाविद्यालय के सहायक प्रोफेसर से हुई थी। आरोप है कि शादी के बाद से ही पति का व्यवहार ठीक नहीं था। वह छोटी-छोटी बात पर गुस्सा करते थे। मारपीट तक करते। पति बिना बताए उनका फोन चेक करते थे। उनसे ही घर का खर्च चलाने को कहते थे। विरोध करने पर तलाक की धमकी देते थे। 

जनवरी 2020 में वह आगरा आ गईं। इस पर पति ने उनकी जासूसी शुरू कर दी। युवती के नाम से फेसबुक पर आईडी बनाई। पीड़िता के दोस्तों से उनके बारे में जानकारी लेने लगा। उनकी सहेलियों और अपने कालेज की छात्राओं से भी जानकारी करता। फोटो और वीडियो भी शेयर कर दिए। पीड़िता ने महिला थाना में अक्तूबर 2020 में मुकदमा दर्ज कराया। मगर, अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। 

पीड़िता का आरोप है कि पिछले दिनों पुलिस ने आरोपी पति का एक मोबाइल कब्जे में लिया है। मगर, यह वो मोबाइल नहीं है, जिससे फेसबुक पर युवती के नाम से आईडी बनाई गई। यह मोबाइल हाल ही में खरीदा गया है। उन्होंने मामले की जानकारी महिला थाना प्रभारी निरीक्षक को दी है। उधर, एसएसपी आफिस में भी शिकायती पत्र दिया है।

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय: प्रवेश प्रक्रिया की तारीख घोषित, वेब रजिस्ट्रेशन अनिवार्य
... और पढ़ें

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय: प्रवेश प्रक्रिया की तारीख घोषित, वेब रजिस्ट्रेशन अनिवार्य

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय की प्रवेश प्रक्रिया 26 जून से शुरू हो जाएगी और 25 अगस्त तक चलेगी। प्रवेश प्रक्रिया गत वर्ष जैसी ही रहेगी, इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। पहले छात्र-छात्राओं को विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर वेब रजिस्ट्रेशन कराना होगा। स्नातक प्रथम वर्ष के पाठ्यक्रमों में फिलहाल राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप सेमेस्टर व्यवस्था के तहत ही प्रवेश लिए जाएंगे। बाद में शासनादेश के अनुरूप कोई निर्णय लिया जाएगा। गुरुवार को विश्वविद्यालय में हुई प्रवेश समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। 

बैठक की अध्यक्षता कुलपति प्रो. अशोक मित्तल ने की। बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रवेश प्रक्रिया 26 जून से 25 अगस्त तक चलेगी। शासन के दिशा-निर्देश के अनुरूप आखिरी तिथि में बदलाव भी हो सकता है। विश्वविद्यालय के आवासीय परिसर के संस्थानों व संबद्ध कॉलेजों की प्रवेश प्रक्रिया एक साथ शुरू होगी। सेमेस्टर व्यवस्था में प्रवेश लेने और पढ़ाई कराने के संबंध में शासन की ओर से स्पष्ट दिशा-निर्देश जारी नहीं किए गए हैं, ऐसे में बैठक में निर्णय लिया गया कि स्नातक कक्षाओं में सेमेस्टर/प्रथम वर्ष में छात्र-छात्राओं को प्रवेश दिया जाएगा और इस संबंध में समय-समय पर प्राप्त होने वाले शासन के आदेशों को प्रवेश प्रक्रिया में शामिल कर लिया जाएगा।  

 बैठक में कुलसचिव डॉ. अंजनी कुमार मिश्र, वित्त अधिकारी एके सिंह, प्रवेश समिति के समन्वयक प्रो. अनिल वर्मा, सह समन्वयक प्रो. मनु प्रताप सिंह, प्रो. मनोज श्रीवास्तव, प्रो. अचला गक्खड़, डॉ. प्रीति जौहरी, डॉ. निर्मला यादव और डॉ. अनुराधा गुप्ता की उपस्थिति रही।

कोरोना वैक्सीन लगवाने की जानकारी देनी होगी 
विश्वविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए वेब रजिस्ट्रेशन कराते समय छात्र-छात्राओं को कोरोना वैक्सीन लगवाने के संबंध में जानकारी देनी होगी। विश्वविद्यालय के जन संपर्क अधिकारी प्रो. प्रदीप श्रीधर का कहना है कि इस व्यवस्था को बनाने के पीछे उद्देश्य छात्र-छात्राओं में टीकाकरण की स्थिति का पता लगाना है। वेब रजिस्ट्रेशन के लिए टीकाकरण अनिवार्य नहीं किया गया है। हां या ना में जानकारी ही देनी है। 

दूसरी लहर: एक सदस्य से पूरा परिवार हुआ संक्रमित, आंतरिक बदलाव कर वायरस हुआ घातक, पढ़िए पूरी खबर
... और पढ़ें

दूसरी लहर: एक सदस्य से पूरा परिवार हुआ संक्रमित, रूप बदलकर और घातक हुआ वायरस, पढ़िए पूरी खबर

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा
कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने खूब कहर बरपाया। एक के संक्रमित होने पर पूरे परिवार की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। ऑक्सीजन का स्तर कम होने पर संक्रमित हर पांचवें परिवार में किसी एक सदस्य के अस्पताल में भर्ती होना पड़ा।  
मई तक 15 हजार संक्रमित मरीज मिले
सीएमओ डॉ. आरसी पांडेय ने बताया कि पहली लहर में मार्च 2020 से मार्च 2021 करीब 10500 लोग संक्रमित हुए, इनमें से लगभग 20 से 25वें परिवार में सामूहिक रूप से संक्रमित मिल रहे थे और परिवार के एक सदस्य को अस्पताल में भर्ती होने की नौबत पड़ रही थी, दूसरी लहर की बात करें तो अप्रैल से मई तक 15000 संक्रमित मरीज मिले और लगभग पूरा परिवार ही कोरोना की चपेट में आया, संक्रमित हर पांचवें परिवार में से एक सदस्य को अस्पताल भर्ती होना पड़ा। फेफडे़ खराब होने से मौतें भी ज्यादा हुईं

रिपोर्ट निगेटिव पर फेफड़ों में मिला संक्रमण
एसएन मेडिकल कॉलेज के वक्ष एवं क्षय रोग विभाग के डॉ. जीवी सिंह ने बताया कि कोविड अस्पताल में ऐसे कई मरीज भर्ती हुए, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आई, लेकिन फेफड़ों में संक्रमण मिला। इसी कारण कई मरीज देर से भी अस्पताल पहुंचे। सांस तक नहीं ले पा रहे थे, तत्काल आईसीयू में शिफ्ट करना पड़ा। 

वायरस आंतरिक बदलाव कर बना घातक
एसएन मेडिकल कॉलेज के माइक्रो बायोलॉजी विभाग के डॉ. संजीव सिंह ने बताया कि पहली लहर में संक्रमित मरीज से एक या दो ही लोग ही चपेट में आ रहे थे, लेकिन दूसरी लहर में यह कई गुना और तेजी से लोगों को संक्रमित करने लगा, इसकी वजह यह रही कि पहली लहर में के बाद वायरस ने आंतरिक बदलाव कर घातक रूप धर लिया, इससे संक्रमण की दर और मौतें ज्यादा हुईं। 

ये भी पढ़ें: 
आगरा कोरोना वायरस: 450वीं मौत, चार नए मरीज मिले, 165 हुई सक्रिय मरीजों की संख्या
 
... और पढ़ें

मैनपुरी कोरोना वायरस: घटने लगी संक्रमण की रफ्तार, पांच मिले कोरोना संक्रमित

मैनपुरी जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में गुरुवार को पांच कोरोना संक्रमित मिले। सभी को होम आइसोलेट किया गया है। इसके साथ ही जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 9922 पहुंच गई है। बृहस्पतिवार को जिले के 42 केंद्रों पर 2800 लोगों का टीकाकरण किया गया। 

पिछले कुछ दिनों से जिले में कोरोना संक्रमण से राहत है। गुरुवार को भी जिले में पांच नए संक्रमित मिले। सीएमओ के निर्देश पर पांचो को होम आइसोलेट किया गया है। सीएमओ डॉ. एके पांडेय ने निर्देश दिए कि संक्रमितों के संपर्क में आने वालों की जांच कराई जाए। सीएमओ के निर्देश पर जिले में जांच के साथ ही टीकाकरण का कार्य भी जारी है। जिले 42 केंद्रों पर चल रहे टीकाकरण के दौरान बृहस्पतिवार को 2800 लोगों का टीकाकरण किया गया।

नोडल अधिकारी अपने क्षेत्र में करते रहें भ्रमण 
सीएमओ डॉ. एके पांडेय ने कहा कि टीकाकरण की गति बढ़ाने के लिए प्रत्येक विकास खंड के लिए एक-एक नोडल अधिकारी नियुक्ति किया गया है। टीकाकरण का प्रतिशत बढ़ाने के लिए क्षेत्रीय चिकित्साधिकारियों और जन प्रतिनिधियों से वार्ता कर लोगों को प्रोत्साहित करें। 
डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय: प्रवेश प्रक्रिया की तारीख घोषित, वेब रजिस्ट्रेशन अनिवार्य
रिश्तों में शक: सहायक प्रोफेसर पत्नी पर जासूसी के लिए बना 'लड़की', फेसबुक पर सहेलियों संग की चैटिंग और फिर...
... और पढ़ें

मथुरा: युवक की हरकत से दहशत में आया किशोरी का परिवार, फोटो भेजकर दी दुष्कर्म की धमकी

व्हाट्सएप पर किशोरी की फोटो भेजकर 50 हजार की मांग न मानने पर फोटो वायरल करने और अपहरण कर दुष्कर्म करने की धमकी दी है। किशोरी के पिता की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।

वृंदावन की मथुरागेट चौकी अंतर्गत एक कॉलोनी निवासी ने कोतवाली में दर्ज कराई। रिपोर्ट के अनुसार शेरगढ़ गांव निवासी युवक उनकी 17 वर्षीय किशोरी के गंदे फोटो उनकी बड़ी बेटी के व्हाट्सएप पर भेजकर उसे परेशान कर रहा है। 50 हजार रुपये की चौथ न देने पर तस्वीरें रिश्तेदार और सोशल साइट पर वायरल करने की धमकी दे रहा है। कोतवाल शशि प्रकाश शर्मा ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

मथुरा: दिनदहाड़े बदमाशों ने हथियारों के बल पर दो दंपतियों को लूटा, ग्रामीणों ने पकड़कर पीटा

मथुरा जनपद के बलदेव थाना क्षेत्र में अलग-अलग दो स्थानों पर हुई लूट की घटनाओं में बदमाश हथियारों के बल पर बाइक सवार दो दंपतियों से लाखों रुपये के आभूषण एवं नकदी लूट ले गए। दूसरी घटना के पीड़ित ने फोन से अपने गांव के लोगों को लूट की सूचना दे दी। ग्रामीणों ने दोनों बदमाशों को पकड़ लिया और जमकर पिटाई कर पुलिस के हवाले कर दिया। 

गुरुवार को बरौली नगला अकोस जाने वाले मार्ग पर बाइक सवार बदमाशों ने तमंचे की नोंक पर दंपती से लाखों रुपये के आभूषण व नकदी लूट ली। तेज सिंह पुत्र राजन सिंह निवासी गढ़ी बैरू थाना सादाबाद पत्नी पूनम के साथ रिश्तेदारी गांव कासिमपुर में गाय खरीदने आया था। गाय का भाव तय कर दोनों बरौली की ओर बाइक से जा रहे थे।
यमुना एक्सप्रेसवे के सर्विस रोड के सहारे गांव भूड़ा में मजार के निकट बाइक सवार दो बदमाशों ने तमंचा दिखा कर उनकी बाइक को रुकवा लिया। बदमाशों ने तेज सिंह पर तमंचा तान दिया और पूनम से सोने के कुंडल, बाली, पैंडल, पांच हजार रुपये, मोबाइल व बाइक की चाबी लूट ली और अकोस की ओर भागने लगे। पीड़ित महिला के गिड़गिड़ाने पर बदमाश थोड़ी दूर पर बाइक की चाबी व मोबाइल फेंक गए। 
... और पढ़ें

एटा: आधे घंटे की बारिश से शहर हुआ 'जलमग्न', घर और दुकानों में भरा पानी, तस्वीरें

एटा जनपद में गुरुवार दोपहर 1.45 बजे से जोरदार बारिश शुरू हुई। कुल आधे घंटे की बारिश में पूरे शहर में जलभराव हो गया। सड़कें, गलियां, बाजारों के अलावा घरों-दुकानों के अंदर तक पानी भर गया। कई इलाकों से शाम तक पानी निकल पाया। इससे पालिका के नाला सफाई कार्य की पोल खुल गई। इसके अलावा देहात क्षेत्रों में भी जमकर पानी बरसा और लोगों को गर्मी से राहत के साथ ही जलभराव, कीचड़ जैसी समस्या से भी जूझना पड़ा। गुरुवार दोपहर 12 बजे से आसमान में बादल छा गए। कुछ देर बाद धूल भरी आंधी चली और बड़ी-बड़ी बूंदों के साथ बरसात शुरू हो गई। चंद मिनटों में झमाझम बारिश होने लगी। सड़कों पर निकलने वाले लोग जहां के तहां ठहर गए। आधे घंटे बारिश के बाद शहर की सूरत बदल गई। हाथी गेट, गांधी मार्केट, घंटाघर, बाबूगंज आदि में जलभराव हो गया। 
... और पढ़ें

आगरा में दर्दनाक हादसा: ट्रक की चपेट में आने से बाइक सवार युवक और महिला की मौत

आगरा में राष्ट्रीय राजमार्ग-2 पर गुरुद्वारा गुरु का ताल के सामने बाइक सवार लाखन (32) और उनकी सास मीना (40) की टैंकर की चपेट में आने से मौत हो गई। हादसा करने वाले टैंकर को लेकर चालक भाग निकला। परिजनों ने बताया कि लाखन साले की शादी के कार्ड बांटने सास के साथ जा रहा था। 

भंकरपुर बसेला, राया, मथुरा निवासी लाखन पुत्र राजकुमार ट्रक चलाता था। परिजनों ने पुलिस को बताया कि लाखन के साले अमन की 28 जून को शादी है। इसके लिए शादी की तैयारियां चल रही थीं। लाखन की ससुराल हाथरस के सादाबाद स्थित गांव मंसेया में है। वह गुरुवार को ससुराल गया था। यहां से साले के शादी के कार्ड बांटने सास मीना के साथ निकला था। वह रिश्तेदारों के यहां शादी के कार्ड बांटते हुए दोपहर तकरीबन साढ़े तीन बजे बाइक से मथुरा की जा रहे थे।

थाना सिकंदरा के प्रभारी निरीक्षक कमलेश सिंह ने बताया कि गुरुद्वारा गुरु का ताल के सामने पत्थर घोड़ा पर पीछे से आते टैंकर की बाइक में टक्कर लग गई। हादसे में लाखन और मीना हाईवे पर गिर गए, जिससे टैंकर की चपेट में आ गए। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। चालक टैंकर को लेकर भागने में सफल रहा। हादसे की जानकारी पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। वहीं पहचान होने पर परिजनों को सूचना दी। हादसा टैंकर के तेज गति में होने की वजह से हुआ। टैंकर की तलाश के लिए पुलिस टीम को लगाया गया है। सीसीटीवी फुटेज से पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us