विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: संक्रमितों की संख्या 100 से ज्यादा, दौरे स्थगित कर लखनऊ रवाना हुए मुख्यमंत्री योगी

देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों से अच्छी और कहीं से बुरी खबरें आ रही हैं। मंगलवार सुबह बरेली में पांच नए मरीज मिले हैं जिनके बाद सूबे में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 102 हो गई है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

आगरा

मंगलवार, 31 मार्च 2020

कोरोना की जंग में दो जिलों के अफसर आपस में ही लड़ बैठे, हाईवे पर जाम में फंसी रही एंबुलेंस

नहीं रुके पांव... सीमाओं को लांघ बढ़ता गया मजदूरों का कारवां, हाईवे पर पहुंची हजारों की भीड़

आगरा। दिल्ली, हरियाणा, मध्य प्रदेश और राजस्थान से आए 50 हजार से ज्यादा मजदूरों को बसों, ट्रकों और यहां तक कि सेना के वाहनों से भी घर भिजवा दिए जाने के बाद सोमवार को भी कारवां थमा नहीं। जिले और राज्य की सीमाएं कागजों पर ही सील की गई, मजदूरों का रेला आगे बढ़ता ही रहा।

आगरा में अंतरराज्जीय बस अड्डे पर दिन भर भारी भीड़ रही तो एत्मादपुर कस्बा में शाम को ये लोग कस्बा के अंदर घुसने लगे। इसका स्थानीय लोगों ने विरोध किया।

आगरा जिले से राजस्थान के भरतपुर, मध्य प्रदेश के भिंड की सीमाएं लगती हैं। जिलों में हाथरस, मथुरा, फिरोजाबाद की सीमाएं लगती हैं। इन सभी जगह सोमवार सुबह पुलिस तैनात की गई लेकिन हजारों की संख्या में आ रहे मजदूरों को पुलिसवाले रोक नहीं पाए। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस पर भी भारी भीड़ उमड़ पड़ी।
... और पढ़ें

मानसिक आरोग्यशाला परिसर में मिले प्रतिबंधित पशु के अवशेष, हंगामा

थाना जगदीशपुरा क्षेत्र के नगला बेर से सोमवार तड़के घर के बाहर बंधे पशु को गोकश चोरी कर ले गए और मानसिक आरोग्यशाला के पिछले हिस्से में गोकशी कर दी।

इसकी जानकारी पर पहुंचे विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया। सूचना पर पहुंची थाना जगदीशपुरा और हरीपर्वत की पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन देकर उन्हें शांत किया।

भीम नगर, नगला बेर निवासी सुनील कुमार के पास कई पशु हैं। सुनील ने थाना हरीपर्वत पुलिस को बताया कि घर के बाहर बंधे पशुओं में से एक सोमवार तड़के चोरी हो गया। नगला बेर के पास टूटी पड़ी मानसिक आरोग्यशाला की दीवार के पास गोकशी कर दी गई।

मानसिक आरोग्यशाला परिसर में अवशेष मिले। सुनील ने थाना हरीपर्वत में तहरीर दी। कैलाश प्रखंड के अध्यक्ष करन गर्ग ने बताया कि शहर में असामाजिक तत्व माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं।

लॉकडाउन में भी गोकशी कर रहे हैं। इस दौरान प्रदीप शर्मा, शिवम दुबे, गौरव यादव, नवीन पचौरी, मनीष गौतम, अंकित कठेरिया, सारांश, शिवम अग्रवाल, मनोज कुमार आदि पहुंचे। थाना हरीपर्वत के प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि तहरीर मिल गई है। मामले में कार्रवाई थाना जगदीशपुरा में की जाएगी।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में घर नहीं जा पाया तो दी जान, सुसाइड नोट में लिखा- मालिकन ने नहीं की मदद

आगरा में एक रेस्टोरेंट में कर्मचारी ने खुदकशी कर ली। मंगलवार की सुबह उसका शव फंदे से लटका मिला। मरने से पहले उसने अपने मोबाइल से शिलांग में रिश्तेदारों को इसकी जानकारी दी। 

वाट्सएप पर भेजे सुसाइड नोट में लिखा कि लॉकडाउन में घर जाने के लिए मालिकन से मदद मांगी, लेकिन मदद नहीं की। मेघालय की एडीजी कानून व्यवस्था ने आगरा के एडीजी अजय आनंद को वो मैसेज फॉरवर्ड करते हुए मामले की जानकारी दी। 

इसके बाद मंगलवार सुबह पुलिस ने रेस्टोरेंट की छत से उसका शव बरामद कर लिया। मेघालय के शिलांग निवासी एल्ड्रिन लिंगदोह सिकंदरा क्षेत्र में स्थित रेस्टोरेंट में नौकरी करता था। यह रेस्टोरेंट प्रदेश के राज्यमंत्री के पुत्र का है। 
... और पढ़ें
होटल कर्मचारी का फाइल फोटो होटल कर्मचारी का फाइल फोटो

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आगरा दौरा हुआ निरस्त

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आगरा दौरा निरस्त हो गया है। जिलाधिकारी प्रभू एन सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब गाजियाबाद से सीधे लखनऊ जाएंगे। आगरा नहीं आएंगे।

मुख्यमंत्री योगी आज कोरोना वायरस से बचाव के कार्यों की समीक्षा करने के लिए आने वाले थे। सोमवार शाम प्रशासन को उनका मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम का विवरण मिला था। 

मंगलवार को अचानक मुख्यमंत्री के कार्यक्रम निरस्त होने की सूचना आ गई। इससे पूर्व प्रशासन व्यवस्थाओं को दुरस्त करने में जुटा हुआ था। जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड को सैनिटाइज किया। 

इससे पूर्व जिला प्रशासन सोमवार दोपहर से ही तैयारियों में जुटा था। रातभर तैयारियां चलती रहीं। मंगलवार सुबह जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड समेत कई स्थानों को सैनिटाइज किया गया। 
... और पढ़ें

कोरोना का खौफ: खांसी-जुकाम ठीक नहीं हुआ तो युवक ने कर ली आत्महत्या, कुएं में मिला शव

मथुरा जिले के गांव मुंडेसी में कुएं में सोमवार को युवक का शव मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची थाना हाईवे पुलिस ने कुएं से शव को निकाला। इसके बाद पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। 

युवक रविवार की रात तीन बजे घर से निकला था। गांव में चर्चा है कि युवक को काफी दिनों से खांसी और जुकाम था। उसने कोरोना की आशंका पर जान दे दी। पुलिस के अनुसार प्रथम दृष्ट्या युवक ने आत्महत्या की है। 

थाना हाईवे के गांव मुंडेसी निवासी महेंद्र (36) पुत्र कारे रविवार की रात घर से निकला, फिर वापस घर नहीं आया। परिवार ने सोमवार की सुबह युवक की तलाश की तो कुएं के पास युवक की चप्पल, मोबाइल मिला। 
... और पढ़ें

मैनपुरी: मामूली विवाद में बहा खून, गोली मारकर युवक की हत्या

महेंद्र का फाइल फोटो
मैनपुरी जिले के गांव तिलियानी में लेजम (खेतों में सिंचाई के लिए इस्तेमाल होने वाला पाइप) बिछाने को लेकर हुए विवाद के बाद युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक के भाई ने थाना करहल में पांच लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। 
 
करहल क्षेत्र के गांव कैरावली निवासी धर्मेंद्र प्रताप अपने भाई नीरज प्रताप के साथ सोमवार शाम खेत में सिंचाई करने के लिए तिलियानी गांव गए थे। लेजम बिछाने को लेकर यहां उनका विवाद दिलीप यादव और उनके भाइयों के साथ हो गया।  

आरोपियों ने नीरज प्रताप को तमंचे से गोली मार दी। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गए। गंभीर रूप से घायल नीरज को परिजन आनन-फानन में सैफई मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंचे। यहां इलाज के दौरान नीरज ने दम तोड़ दिया।

मृतक के भाई धर्मेंद्र प्रताप ने तिलियानी निवासी हनुमंत यादव और उनके पुत्र दिलीप यादव, विमल यादव, रामनिवास, रामसेवक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। तहरीर में कहा गया है कि विवाद के बाद पिता पुत्रों ने नीरज और धर्मेंद्र के साथ मारपीट की। इसी बीच विमल ने तमंचे के नीरज को गोली मार दी। 
... और पढ़ें

#LadengeCoronaSe: आगरा की युवती का कोरोना आया नेगेटिव, एसएन के इलाज से हुई स्वस्थ्य

एसएन मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने कोरोना के मरीज को संक्रमण मुक्त करने में सफलता हासिल की है। रेलवे अधिकारी की 14 मार्च से भर्ती बेटी की तीन रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उसे सोमवार को संक्रमण मुक्त घोषित कर छुट्टी दे दी गई। उसके उपचार की सबसे खास बात यह रही कि उसे कोई दवा नहीं दी गई। पौष्टिक आहार और गर्म पानी से ही उसने कोरोना से जंग जीत ली।

आगरा कैंट क्षेत्र में रहने वाली युवती में 13 मार्च को कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी। इसे जिला अस्पताल के आइसोलेशलन वार्ड से एसएन मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में 14 मार्च को शिफ्ट किया गया था। इसके बाद चिकित्सकों की टीम इसके इलाज में जुट गई।




16 दिन तक सात-सात दिन के रोस्टर प्लान के तहत छह-छह डॉक्टरों की टीम ने इलाज किया। मरीज के बीते तीन नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद देर शाम इसे डिस्चार्ज कर दिया गया है।
... और पढ़ें

सरकार ! संकट में आगरावासी, लॉकडाउन में हो रही कालाबाजारी, आटा मिला नहीं...कीमतें बेकाबू

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को आगरा में होंगे। वह कोरोना से बचाव कार्यों की समीक्षा करेंगे। लोगों तक आवश्यक वस्तुएं पहुंचाने के इंतजाम की भी जानकारी लेंगे।

कंट्रोल रूम से लेकर नोडल अफसरों तक लोग लगातार यह शिकायत कर रहे हैं कि शहर में आटा नहीं मिल रहा है। फल, सब्जियों और दालों की कीमत प्रशासन ने तय तो कर दी है लेकिन कालाबाजारी हो रही है। इस पर कार्रवाई भी नहीं हुई है।

चार दिन में आटा न मिलने की 50 से अधिक शिकायतें कंट्रोल रूम में आई हैं। नौबस्ता, लोहामंडी, प्रेम नगर में महिलाएं आटा न मिलने की शिकायत लेकर हंगामा कर चुकी हैं। घटिया आजम खां में आटे के लिए इतनी भीड़ उमड़ी कि नियंत्रण के लिए पुलिस लगानी पड़ी। फल और सब्जियों के दाम अधिक वसूले जाने की भी शिकायतें हैं। मुख्यमंत्री कंट्रोल रूम भी जाएंगे।
 
... और पढ़ें

वृंदावन में घूमते हजारों भिक्षुकों से संक्रमण का डर, इनके पास न मास्क न साबुन

न मास्क न सैनिटाइजर, न हाथ धोने के लिए साबुन और बीमार होने की स्थिति में चिकित्सा की सुविधा भी नहीं। जी हां, कोरोना के कारण प्रधानमंत्री ने पूरे देश को लॉकडाउन कर रखा है लेकिन इन दिनों में भी वृंदावन में करीब पांच हजार से अधिक भिक्षुक बाबा सड़कों पर या उनक किनारे बने फुटपाथों पर सोते हुए मिल जाएंगे। ये एक-दूसरे के इतने नजदीक रहते हैं कि यदि इनमें कोरोना का संक्रमण हुआ तो पूरा वृंदावन चपेट में आ जाएगा। इनकी तरफ प्रशासन, पुलिस तथा अन्य सामाजिक संस्थाएं भी ध्यान नहीं दे रही हैं।

वृंदावन मेें विभिन्न अन्न क्षेत्रों तथा दान करने वाले श्रद्धालुओं के सहारे गुजर बसर करने वाले बेघर भिक्षुक बाबाओं की इस समय जान पर बन आई है। पूरा देश इस समय लॉकडाउन में है लेकिन यह बाबा सड़कों के किनारे मिल जाएंगे। लॉकडाउन की शुरुआत में इन्हें भोजन की भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। अब इन्हें भोजन तो पर्याप्त मात्रा में मिल रहा है लेकिन कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए इनके पास न तो मास्क हैं और न ही इनके पास बार-बार हाथ साफ करने के लिए साबुन और हाथ धोने की सुविधा।

सबसे बड़ी बात इसके लिए इन्हें जागरूक भी नहीं किया जा रहा है। रात हो या दिन वृंदावन के विभिन्न क्षेत्रों में सड़क किनारे बने फुटपाथ या फिर मार्केट आदि के पास अपने स्थान बना रखे हैं। यह सभी वहीं ग्रुप में रहते हैं। यदि इनमें से किसी एक को संक्रमण हुआ तो यह संक्रमण पूरे क्षेत्र में फैलेगा। भिक्षुक बाबा केसी घाट, विद्यापीठ, इस्कॉन के आसपास तथा अन्य स्थानों पर रह रहे हैं।

रह रहे कई मजदूर भी
इन बाबाओं के बीच कई ऐसे मजदूर भी रह रहे हैं जिनके पास कुछ दिन पहले तक वृंदावन में काफी काम होता था लेकिन अब उनके पास कोई काम नहीं है। वह भी इनके बीच ही रह रहे हैं। मध्य प्रदेश दमोहा के रहने वाले एक मजदूर सुनील ने बताया कि वह फुटपाथ पर बाबाओं के बीच रहकर समय गुजार रहा है। उसे मालूम ही नहीं है कि रैन बेसरा कहां हैं।

दो भिक्षुक बाबाओं को आया बुखार
विगत तीन दिनों से दो भिक्षुक बाबाओं को बुखार आया हुआ है। इसकी जानकारी रविवार को कोरोना कंट्रोल पर भी दी गई लेकिन कोई भी इन्हें लेने नहीं आया। मध्य प्रदेश के रहने वाले कोमल तथा धर्मेंद्र ने बताया कि उन्हें तीन दिन से बुखार आ रहा है। उनकी कोई सुनने वाला नहीं है।

निगम के कोरोना कैंप में नहीं आया कोई विस्थापित
नगर निगम द्वारा कोरोना के कारण मजदूरी आदि छोड़कर घरों की तरफ जाने वाले लोगों के लिए दो स्थानों पर रैन बसेरा में कैंप लगवाए हैं। यह कैंप शहीद लक्ष्मण पार्क तथा परशुराम पार्क के निकट बने हैं। इन पार्कों में कुल 21 बेड डाले गए हैं। सोमवार सुबह इन्हें तैयार कर दिया गया था। शाम तक इन रैन बसेरा में कोई भी व्यक्ति नहीं आया था। रैन बसेरा में निगम का एक-एक कर्मचारी भी तैनात किया गया है। यह कर्मचारी हर आने वाले व्यक्ति का रिकॉर्ड भी रखेगा। इन रैन बसेरा को सैनिटाइज भी किया गया है। अपर नगर आयुक्त सतेंद्र तिवारी ने बताया कि यह रैन बसेरा को कैंप का रूप दे दिया गया है। इनमें रहने के इच्छुक व्यक्ति यहां आकर रह सकते हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Test

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us