बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
20 जून से गुरु कुंभ राशि में चलेंगे उल्टी चाल, जानें 12 राशियों पर कैसा होगा प्रभाव
Myjyotish

20 जून से गुरु कुंभ राशि में चलेंगे उल्टी चाल, जानें 12 राशियों पर कैसा होगा प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

हरेश पचौरी हत्याकांड: दस्तावेज लेखक के आरोपियों पर बड़ी कार्रवाई, गैंगस्टर विष्णु रावत की 24.51 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त

राजपुर चुंगी के दस्तावेज लेखक हरेश पचौरी हत्याकांड के मास्टरमाइंड विष्णु प्रकाश रावत की 24.51 करोड़ रुपये कीमत की संपत्ति मंगलवार को जब्त कर ली गई। पुलिस ने आरोपी को जेल भेजने के बाद गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई की है। इनमें व्यावसायिक बिल्डिंग, स्कूूल, दो फ्लैट, जमीन को कुर्क करने के बाद इन पर सील लगाई गई। पुलिस की इस कार्रवाई को अपराधियों पर सबसे बड़ी कार्रवाई माना जा रहा है। 

एसएसपी मुनिराज जी ने बताया कि गांव कहरई, ताजगंज निवासी विष्णु प्रकाश रावत कई वर्ष से अपराध जगत में है। उसने धोखाधड़ी, जान से मारने की धमकी के अपराध में संलिप्त होकर अकूत संपत्ति कमाई। उसने अपना रुतबा कायम करने के लिए 19 दिसंबर 2020 को हरेश पचौरी की हत्या कर दी। वह जमीनों की खरीदफरोख्त में रोड़ा बन रहे थे। इस हत्याकांड को शूटरों की मदद से अंजाम दिया गया। पुलिस ने नौ आरोपियों को जेल भेजा। इसके बाद गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई की गई।

इस मामले के बाद पुलिस ने विष्णु प्रकाश की चल और अचल संपत्ति को चिह्नित किया। इसके लिए एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद को लगाया गया। सीओ सदर राजीव कुमार और प्रभारी निरीक्षक थाना सदर अजय कौशल ने संपत्ति को चिह्नित करने के बाद अपनी रिपोर्ट दी। मंगलवार को एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद की मौजूदगी में आवासीय व व्यवसायिक भवन, शिक्षक संस्थान, फ्लैट और जमीन को कुर्क किया गया।    

अनलॉक: दो महीने बाद 16 जून को खुलेगा ताजमहल, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने जारी की सूचना
... और पढ़ें

साइबर अपराध: अपराधियों ने बनाई एडीजी जोन की फर्जी फेसबुक आईडी, मांगे रुपये

साइबर अपराधियों ने फेसबुक पर एडीजी जोन आगरा के नाम से फर्जी आईडी बना ली। इस पर एडीजी राजीव कृष्ण का फोटो भी लगा लिया। इसके बाद लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने के बाद मदद के नाम पर रुपये की मांग की। मगर, लोगों को समझते हुए देर नहीं लगी। साइबर सेल को 30 मिनट बाद ही मामले की जानकारी हो गई। फर्जी आईडी से जिन लोगों को मैसेज किए गए थे, उनको सचेत कर झांसे में नहीं आने की सलाह दी गई। साइबर सेल आईडी बनाने वाले के बारे में पता कर रही है। इस संबंध में एडीजी ने मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई निर्देश दिए हैं। फर्जी आईडी को ब्लाक कर दिया गया है। 

मंगलवार दोपहर तकरीबन 12 बजे यह आईडी बनाई गई थी। यह एडीजी जोन आगरा के नाम से थी। इस पर एडीजी जोन राजीव कृष्ण के दो फोटो भी लगाए गए थे। कुछ लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी गई। नौ लोगों ने फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार की, उनसे कुछ ही देर में दस से 12 हजार रुपये ई-वॉलेट के माध्यम से ट्रांसफर करने के लिए कहा गया। इस तरह से रकम मांगने से लोगों को शक हो गया। उन्होंने पुलिस से संपर्क किया। किसी ने खाते में रकम ट्रांसफर नहीं की। 

एडीजी राजीव कृष्ण ने बताया कि साइबर सेल को जांच दी गई है। थाना रकाबगंज में मुकदमा भी दर्ज कराया गया है। आईडी बनाने वाले के बारे में पता किया जा रहा है। प्राथमिक जांच में पता चला है कि वह आगरा से बाहर का है। फर्जी आईडी को ब्लॉक करा दिया गया है। जिन लोगों से रकम मांगी गई, उनको मैसेज भेजकर फर्जी आईडी की जानकारी दी गई है। उन्हें झांसे में नहीं आने की सलाह दी गई है। इस मामले में जोन साइबर सेल प्रभारी अमित कुमार की ओर से रकाबगंज थाने में आईटी एक्ट और धोखाधड़ी की धारा में मुकदमा दर्ज कराया गया है। 

पहले भी बन चुकी हैं फर्जी आईडी
साइबर अपराधी पहले भी पुलिस अधिकारियों और नेताओं के नाम पर फर्जी आईडी बना चुके हैं। तत्कालीन एसएसपी बबलू कुमार, सीओ ताज सुरक्षा मोहसिन खान के नाम पर भी फर्जी आईडी बनाकर रकम की मांग की गई थी। पुलिस ने आईडी को बंद करा दिया। मगर, साइबर अपराधी आज तक नहीं पकड़े जा सके। इसी तरह थाना हरीपर्वत के प्रभारी निरीक्षक अरविंद कुमार, जगदीशपुरा के प्रभारी निरीक्षक राजेश कुमार पांडेय के नाम पर भी फर्जी आईडी बन चुकी हैं। वहीं सांसद राजकुमार चाहर, पूर्व विधायक धर्मपाल सिंह के नाम पर भी आईडी बनाकर रकम मांगी। इसके बावजूद आरोपी नहीं पकड़े जा सके। इन केस में क्या जांच हुई, यह आज तक पता नहीं चल सका।
... और पढ़ें

पंचायत उपचुनाव: आगरा के परिणाम घोषित, सास के निधन पर बहू, पति के निधन पर पत्नी बनीं प्रधान

आगरा जैतपुरकलां की मढ़ेपुरा ग्राम पंचायत में सास के निधन पर उपचुनाव में बहू जीती। खंदौली की कुबेरपुर ग्राम पंचायत में पति के निधान से खाली हुए प्रधान पद पर पत्नी जीत गई। फतेहपुर सीकरी की रसूलपुर पंचायत में पिता के निधन से रिक्त हुए प्रधान पद बेटा पहले ही निर्विरोध जीत चुका है। बिचपुरी की ग्राम पंचायत बरारा में रजनी देवी प्रधान पर जीती हैं। सोमवार को हुई मतगणना के बाद शाम छह बजे तक तीन प्रधान, एक क्षेत्र पंचायत सदस्य, 156 ग्राम सदस्य सहित सभी 160 रिक्त पदों का परिणाम घोषित हो गया।

 मढ़ेपुरा गांव में सीमा देवी की प्रधान बनने से पहले ही मृत्यु हो गई। 15 अप्रैल को हुए मतदान में उन्हें 139 वोटों से जीत मिली थी, लेकिन मतगणना से पहले ही उनका निधन हो गया। परिणाम आने के बाद उपचुनाव में ग्रामीणों ने सीमा की बहू सोना देवी को उपचुनाव में उतारा। यहां दो उम्मीदवार थे। सोमवार को दोपहर तक मढ़ेपुरा पंचायत प्रधान की तस्वीर साफ हो गई। सोना देवी ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी गुड्डी देवी को 436 वोट से हरा दिया। सोना देवी को 1117 वोट मिले। जबकि गुड्डी को 681 मत प्राप्त हुए हैं।

सास सीमा देवी की जगह अब उनकी बहू सोना देवी प्रधान होगी। दूसरी तरफ खंदौली की कुबेरपुर ग्राम पंचायत में पति जसवीर सिंह सिकरवार के निधन से रिक्त हुए प्रधान पद पर उपचुनाव में उनकी पत्नी गीता देवी जीत गई। यहां चार प्रत्याशियों के बीच मुकाबला था। गीता के पति जसवीर की चुनाव परिणाम आने से पहले ही मृत्यु हो गई थी। गीता ने 228 वोट से अमित प्रताप को हराया। गीता को 1235 वोट मिले जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी अमित को 1007 मत मिले।
... और पढ़ें

वाह ताज: ऐतिहासिक स्मारक के 'ताले' खुले, ब्राजील की पर्यटक ने सबसे पहले देखा ताजमहल, जानें टिकट और नियम की व्यवस्था

कोरोना के खौफ पर ताजमहल का जादू ज्यादा भारी पड़ा। बुधवार की सुबह जैसे ही ताजमहल के दरवाजे आम पर्यटकों के लिए खोले गए तो दो महीने से 'संगमरमरी ख्वाब' ताजमहल के दीदार का इंतजार कर रहे सैलानी आने लगे। ब्राजील की पर्यटक मेलिशा ने 61 दिन बाद खोले गए ताजमहल में सबसे पहले प्रवेश किया। वह दो महीने से लखनऊ, ऋषिकेश, वाराणसी में रहने के बाद ताजमहल के दीदार के लिए मंगलवार शाम को ही आगरा पहुंची थी और सुनहरी आभा लिए संगमरमरी ताजमहल के दीदार की ख्वाहिश पूरी करने के लिए अलसुबह ही ताज पूर्वी गेट पर पहुंच गईं। ताज के दीदार के बाद मेलिशा ने कहा- धन्यवाद इंडिया। कोरोना संक्रमण के कारण 61 दिनों से बंद ताजमहल को बुधवार सुबह पांच बजे पर्यटकों के लिए खोल दिया गया। गौरतलब है कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के साथ वार्ता कर जिला प्रशासन ने स्मारकों पर पर्यटकों की संख्या मंगलवार को तय कर दी थी। एएसआई की टिकट तीन घंटे के लिए मान्य होगी। न केवल ताज, बल्कि आगरा किला, फतेहपुर सीकरी, अकबर का मकबरा, एत्माद्दौला स्मारक में भी 650 पर्यटकों को एक बार में प्रवेश मिल सकेगा।
... और पढ़ें
ताजमहल: अनलॉक की प्रक्रिया के बाद खुला ताजमहल, ब्राजील की पर्यटक ने देखा ताजमहल ताजमहल: अनलॉक की प्रक्रिया के बाद खुला ताजमहल, ब्राजील की पर्यटक ने देखा ताजमहल

यूपी: राम मंदिर प्रकरण पर उपमुख्यमंत्री का विपक्ष पर निशाना, रामभक्तों के खून से होली खेलने वाले कर रहे दुष्प्रचार

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ने आगरा से विपक्ष पर निशाना साधा है। आगरा में आए केशव प्रसाद मौर्य ने श्रीराम मंदिर भूमि जमीन विवाद पर कहा कि जिन्होंने रामभक्तों पर गोलियां चलवाईं। उनके खून से होली खेली। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद मंदिर बनने से जिनकी छाती फट रही है वो जमीन खरीद को लेकर दुष्प्रचार कर रहे हैं।

गाजियाबाद में दाढ़ी काटने के मामले में उन्होंने कहा कि एक ही समुदाय के लोगों ने हिन्दू संगठनों को बदनाम करने के लिए फर्जी वीडियो ट्वीट किया। जिसे ट्वीटर ने नहीं हटाया। पुलिस विवेचना कर रही है। 
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पांच हजार ऐसे गांव हैं जिनकी आबादी 250 से अधिक है। उन्हें मुख्य मार्गों से जोड़ने का काम शुरू हो गया है। कहा कि सड़कों पर लोक निर्माण विभाग 10 लाख पौधे लगाएगा। हर्बल पार्क बनाए जा रहे हैं। लोक निर्माण मंत्री केशव प्रसाद ने बुधवार को आगरा व मथुरा में 483 करोड़ रुपये के कार्यों का शिलान्यास व लोकर्पण किया है।
... और पढ़ें

हत्या या आत्महत्या: रेलवे लाइन पर मिले युवक और युवती के शव, छानबीन में जुटी आगरा पुलिस

आगरा के रेलवे लाइन पर बुधवार सुबह युवक और युवती के शव मिलने से सनसनी फैल गई। रेलवे लाइन पर दो शव होने की सूचना पर मौके पर भीड़ जुट गई। वहीं स्थानीय पुलिस और रेलवे पुलिस को इसकी सूचना दी गई। मौके पर थाना हरीपर्वत और जीआरपी पहुंची और आसपड़ोस के लोगों से शवों के पहचान कराने की कोशिश की लेकिन कोई पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस ने शव पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम गृह में रखवाए हैं।

मामला बिल्लोचपुरा रेलवे लाइन का है। स्थानीय लोगों ने यहां बुधवार को युवक और युवती के शव देखे। इस घटना की जानकारी पर लोग पहुंच गए। संभावनाएं व्यक्त की जा रही हैं कि दोनों प्रेमी युगल हो सकते हैं। दोनों शवों की पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस स्थानीय लोगों से इनकी पहचान कराने के प्रयास कर रही है। पुलिस का कहना है कि आत्महत्या की आशंका है लेकिन अभी छानबीन के बाद ही पूरी घटना का पता लग सकेगा।
... और पढ़ें

राहत: एसएन के कोविड वार्ड में तीन और आईसीयू में अब चार ही कोरोना संक्रमित,

दूसरी लहर में कोविड अस्पताल में संक्रमितों के ओवर लोड झेल चुका एसएन मेडिकल कॉलेज प्रशासन अब राहत महसूस कर रहा है। यहां पर लगातार भर्ती मरीजों की संख्या कम हो रही है। अब महज सात मरीज ही कोविड अस्पताल में भर्ती हैं। 

संक्रमितों का इलाज करने वाले डॉ. अजित चाहर ने बताया कि तीन संक्रमित आइसोलेशन वार्ड और चार मरीज आईसीयू में भर्ती हैं। पांच अप्रैल से 20 मई तक लगभग 200 बेड के दो आइसोलेशन वार्ड फुल हो गए थे। 90 से 95 फीसदी मरीजों के फेफड़ों तक संक्रमित पहुंच चुका था। अब संक्रमण की दर कम हुई है तो गंभीर मरीजों की संख्या भी घटने लगी है। बीते चार दिन में भर्ती मरीजों की संख्या आधी रह गई है। 

युवाओं के फेफड़ें 80 फीसदी तक हो गए थे खराब: डॉ. राजीव पुरी
कोविड आईसीयू के प्रभारी डॉ. राजीव पुरी ने बताया कि 30 से 40 साल के युवाओं के भी फेफड़े 80 फीसदी तक खराब हो गए थे। सांस उखड़ रही थी। ऐसी हालत थी कि वेंटिलेटर लगाने पर भी मरीज को आराम नहीं मिल रहा था। 150 बेड का आइसीयू तक फुल हो गया था, अब चार मरीज हैं, इससे चिकित्सकों को बड़ी राहत है।

पहली लहर के बाद जैसी न करें गलती, टीका जरूर लगवाएं: डॉ. संजय काला
प्राचार्य डॉ. संजय काला का कहना है कि पहली लहर के बाद टीका लगवाने में लोग पीछे रहे, इससे काफी संख्या में वैक्सीन की डोज बर्बाद हुइं। मास्क पहनने में लापरवाही की और सामाजिक दूरी भी नहीं अपनाई। तीसरी लहर से बचना है तो टीका जरूर लगवा लें और बिना मास्क के घर से नहीं निकलें।

165 ही सक्रिय मरीज, 28 करा रहे अस्पताल में इलाज
अब जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या 165 रह गई हैं। इसमें से 28 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं, बाकी के मरीज घर पर ही इलाज करा रहे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि इस महीने के अंत तक अस्पतालों में भर्ती मरीजों की संख्या शून्य हो सकती है।

ये भी पढ़ें:
आगरा कोरोना वायरस: 450वीं मौत, चार नए मरीज मिले, 165 हुई सक्रिय मरीजों की संख्या

अनलॉक: दो महीने बाद 16 जून को खुलेगा ताजमहल, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने जारी की सूचना
 
... और पढ़ें

टीका ही बचाएगा जान: आगरा देहात के गांवों में टीकाकरण का जानिए क्या है हाल, पढ़िए ये खास रिपोर्ट

कोरोना वायरस: जांच कराने पहुंची युवती का सैंपल लेता कर्मचारी
दूसरी लहर में देहात क्षेत्र में कोरोना संक्रमण की दर अधिक रही। अब हालात नियंत्रण में हैं लेकिन शहर के मुकाबले देहात क्षेत्र की आबादी में टीकाकरण की दर कम है। पहली डोज के आधार पर तुलना करें तो शहर में करीब 3.25 लाख लोगों ने टीका लगवाया है जबकि देहात के 15 ब्लॉक में 2.16 लाख लोगों ने ही कोरोना से सुरक्षा का कवच पहना है। देहात के 15 ब्लॉक में टीकाकरण में अछनेरा के लोग सबसे आगे है। जैतपुर कलां, पिनाहट ब्लॉक फिसड्डी हैं। 

शहर में जहां टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ के कारण लोगों को लौटना पड़ रहा है वहीं देहात के केंद्रों पर कॉलम पूरा नहीं हो पा रहा है। अफवाहों और जागरूकता की कमी टीकाकरण को रफ्तार नहीं पकड़ने दे रही।

देहात के 15 ब्लॉक में करीब 22 लाख आबादी है। 15 ब्लॉक में 62 स्वास्थ्य केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन लगवाने की व्यवस्था की गई है। प्रत्येक केंद्र पर एक हजार ग्रामीणों के लिए टीके की खुराक उपलब्ध है। जिले में मंगलवार तक 5,40,992 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है।
... और पढ़ें

श्री पारस अस्पताल प्रकरण: छह मृतकों के परिजनों ने बताया भयावह दिन का सच, ऑक्सीजन खत्म हो गई मरीज ले जाइए...

मेरा पास सुबह चार बजे अस्पताल से फोन आया, ऑक्सीजन खत्म हो गई है... मरीज को ले जाइए या सिलिंडर का इंतजाम करिए। फतेहाबाद से सिलिंडर लेकर शाम तीन बजे अस्पताल पहुंचे। उस समय वहां बहुत अफरातफरी मची थी। लोग रो रहे थे। चीख रहे थे। हमने अपने मरीज से मिलने के लिए कहा तो स्टाफ ने पीपीई किट लाने को बोल दिया। पीपीई किट लेकर आए तो स्टाफ ने मरीज से मिलाने से मना कर दिया। रात आठ बजे हमें बताया कि तुम्हारा मरीज नहीं रहा। ये बयान मंगलवार को मालवीय कुंज निवासी गीतिमा ग्रोवर ने एडीएम सिटी डॉ. प्रभाकांत अवस्थी को दर्ज कराया है। श्री पारस अस्पताल की दमघोंटू मॉकड्रिल मामले की जांच में मंगलवार को दूसरे दिन तीन मृतकों के परिजनों ने बयान दर्ज कराए हैं। सुबह 11 बजे गीतिमा ग्रोवर ने सबसे पहले बयान दर्ज कराए।
... और पढ़ें

अमर उजाला पड़ताल: बारिश में तीन लाख लोगों को परेशान करेंगी सड़कें, आठ महीने बाद भी 'बदहाल'

आगरा में जगदीशपुरा, बोदला, जीवनी मंडी, ताजनगरी में खोदी सड़कें करेंगी करीब तीन लाख लोगों को और परेशान करेंगी। जलनिगम और स्मार्ट सिटी कंपनी ने पानी और सीवर की लाइनों के कारण शहर की सड़कों की खोदाई करने के बाद गड्ढे छोड़ दिए, जो लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर रहे हैं। अब मानसून से उनकी मुसीबत और बढ़ जाएगी।

इसकी बानगी मंगलवार शाम को देखने को मिली जब हल्की बारिश हुई तो इन जगहों पर फिसलन और कीचड़ हो गई। खोदाई के बाद आठ किमी लंबी सड़कें खोदकर छोड़ दी गईं हैं। इनमें लोहमंडी-जगदीशपुरा रोड, बोदला-मारुति एस्टेट रोड, जीवनी मंडी और ताजनगरी में हालात सबसे ज्यादा खराब हैं। 

लोहामंडी-जगदीशपुरा रोड
आठ महीने से चार किमी लंबी ये सड़क गहरी सीवर लाइन के कारण खोदकर छोड़ दी गई है। जगदीशपुरा, किशोरपुरा, गढ़ी भदौरिया और इससे सटी गलियों में सीवर लाइन बिछाने के बाद सड़कों पर गिट्टियां भी नहीं बिछाई गई हैं। यहां लोग पहले धूल मिट्टी के गुबार से और अब कीचड़, दलदल से परेशान हैं।
... और पढ़ें

बच्चों की चहक चीत्कार में बदली: छत ढही...घर की खुशियां मलबे में दब गईं, गमगीन माहौल में हुए अंतिम संस्कार

आगरा के कागारौल क्षेत्र में बारिश के दौरान हाकिम के निर्माणाधीन मकान की छत धमाके की आवाज के साथ गिरी। जो बच्चे थोड़ी देर पहले तक चहक रहे थे, छत के नीचे दबने से उनकी चहक चीत्कार में बदल गई। घर बनने की जो खुशियां थीं वह छत के मलबे के नीचे ही दब गईं। बुधवार सुबह तीनों बच्चों के शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान गांव में मातम का माहौल था।

आसपास के लोगों ने बताया कि पहले तो कुछ समझ में ही नहीं आया कि क्या हुआ है। इसके बाद जब चीखें और रोने की आवाज सुनाई दी, तब लोगों को घर गिरने का पता चला। इसके बाद बस्ती के लोग भागकर मौके पर पहुंचे। छत टूटी और  मलबे में परिवार के सभी लोगों के दबे होने की जानकारी से लोग सन्न रह गए।  आनन-फानन में मलबा हटाने में पूरी बस्ती जुट गई। साथ ही पुलिस को जानकारी दी गई। इसके बाद थाने की पुलिस, दमकलकर्मी, एसडीएम पहुंचीं। देर रात एसएसपी मुनिराज ने भी पहुंचकर मौका मुआयना किया। एसओ के मुताबिक पत्थरों की बनाई गई बीम टूटने से यह हादसा हुआ है। 

नहीं थम रहे मां के आंसू, परिजन बेहाल
कागारौल कस्बे में मंगलवार की रात हाकिम सिंह वाल्मीकि के परिवार पर भारी पड़ी। निर्माणाधीन मकान की छत गिरने से परिवार के तीन बच्चे काल के गाल में समा गए। बच्चों की मौत से उनकी मां के आंसू नहीं थम रहे हैं। वहीं अन्य परिजन भी बेहाल हैं। हादसे के बाद जुटे लोग भी इससे स्तब्ध रह गए। हादसे में मयंक पुत्र राकेश, रोशनी पुत्र अनिल और प्राची पुत्री राजेश की मौत से पूरा परिवार गमगीन है। एसएम मेडिकल की इमरजेंसी में लाए गए बच्चों को मृत घोषित करते ही उनकी मां दहाड़े मारकर रो पड़ीं। उनके आंसू नहीं थम रहे थे। अस्पताल आए परिवार और मोहल्ले के लोगों ने उन्हें संभाला।  

यूपी: आगरा में बारिश से निर्माणाधीन मकान की छत गिरी, तीन बच्चों की मौत, परिवार के छह सदस्य घायल
  ... और पढ़ें

हादसा: मैनपुरी जीटी रोड पर डिवाइडर से टकराए बाइक सवार, तीन लोगों की मौत

जीटी रोड पर बुधवार सुबह दर्दनाक हादसा घटित हो गया। मैनपुरी में जीटी रोड स्थित फर्दपुर मार्ग के समीप मंगलवार की रात बाइक सवारों को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। दो लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि तीसरे ने जिला अस्पताल में दम तोड़ दिया। मरने वालों में दो लोग बिछवां और एक जनपद एटा का रहने वाला था। बुधवार को पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम कराया।

बाइक पर सवार थे तीन लोग, अज्ञात वाहन ने मारी टक्कर
थाना बिछवां क्षेत्र के गांव नगला कुंदन निवासी 35 वर्षीय सर्वेश कुमार पुत्र बहुरन सिंह यादव मंगलवार की शाम गांव नगला हीरे निवासी वीरेंद्र सिंह की पुत्री के लग्नोत्सव कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। उसके साथ रविंद्र यादव (40) पुत्र मुलायम सिंह निवासी गांव चिर्रा थाना बिछवां और बहनोई का भाई विश्राम सिंह (55) पुत्र मुलायम सिंह निवासी नगला बिरियनपुर थाना जसरथपुर एटा भी थे। मंगलवार देर रात करीब 10:30 बजे तीनों बाइक से वापस गांव नगला कुंदन लौट रहे थे। बाइक जब फर्दपुर जाने वाले मार्ग के पास पहुंची, तभी अज्ञात वाहन ने बाइक सवारों को टक्कर मार दी। 
तीनों शवों का हुआ पोस्टमार्टम
हादसे में सर्वेश और विश्राम सिंह की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। रविंद्र घायल हो गया। सूचना पर पहुंची ने घायल को जिला अस्पताल भेजा। जहां चिकित्सकों ने रविंद्र को भी मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने बुधवार को तीनों शवों का पोस्टमार्टम कराया।

सड़क हादसे में तीन लोगों की मौत हुई है। परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है।  -अशोक कुमार राय, एसपी

ये भी पढ़ें:
वाह ताज: ऐतिहासिक स्मारक के 'ताले' खुले, ब्राजील की पर्यटक ने सबसे पहले देखा ताजमहल, जानें टिकट और नियम की व्यवस्था

हिंसा की साजिश का मामला: शांति भंग के आरोपों से पीएफआई के सदस्य मुक्त, फिर भी रिहा नहीं होंगे
 
... और पढ़ें

मैनपुरी: फिर सुर्खियों में आया छात्रा हत्याकांड, एसपी ने देखा क्राइम सीन, नवोदय स्टाफ से की पूछताछ

मैनपुरी में नवोदय छात्रा की कथित हत्या व दुष्कर्म का मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है।  एसपी ने सोमवार की शाम घटनास्थल का निरीक्षण किया। इस मामले को लेकर प्रभारी निरीक्षक को दिशा-निर्देश दिए। करीब एक घंटा रुकने के बाद एसपी वापस लौट गए। पुलिस उक्त मामले को खुदकुशी की धाराओं में तरमीम कर चुकी है।

नवोदय छात्रा की कथित हत्या के मामले में जांच कर रही एसआईटी इसे खुदकुशी का मामला मान चुकी है। वहीं हाल ही में डीएनए जांच को भेजे गए 10 सैंपल की रिपोर्ट भी निगेटिव आने के बाद विद्यालय प्रबंधन व जांच से जुड़े लोगों ने राहत की सांस ली है। सोमवार को एसपी अशोक कुमार राय नवोदय विद्यालय पहुंचे और करीब एक घंटा तक रुके। इस दौरान उन्होंने घटनास्थल का निरीक्षण करने के साथ ही नवोदय स्टाफ के लोगों से भी जानकारी ली। पुलिस की ओर से अधिकारिक तौर पर इस मामले में कोई जानकारी नहीं दी गई। 

यह था पूरा घटनाक्रम
नवोदय में पढ़ने वाली कक्षा 11 की छात्रा का शव 16 सितंबर 2019 को छात्रावास की गैलरी में फंदे पर लटका मिला था। छात्रा के परिजनों ने प्रधानाचार्य, वार्डन व दो छात्रों पर हत्या का आरोप लगाया था। साथ ही दुष्कर्म की संभावना जताते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जांच में स्थानीय पुलिस की कार्यशैली से असंतुष्ट परिजनों की मांग पर मामले की जांच एसआईटी को सौंपी गई थी। हाल ही में इस मामले को आत्महत्या की धाराओं में तरमीम किया जा चुका है। पुलिस अभी तक इस मामले में करीब 110 से अधिक लोगों से पूछताछ कर चुकी है। उक्त मामले में एसपी के निरीक्षण की वजह क्या है और इस मामले में क्या होने वाला है यह भी जल्द ही सामने आ जाएगा।

ये भी पढ़ें:
 नवोदय में छात्रा की मौत का मामला: एसआईटी ने तीसरी बार की मृतका के परिजनों से पूछताछ
 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us