विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उन्नाव कांड के खिलाफ विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश, कहा-'वो जिंदा रहना चाहती थी'

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के गेट के बाहर धरने पर बैठ गए हैं।

7 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

अलीगढ़

शनिवार, 7 दिसंबर 2019

विदेशी छात्रों को भा रही है एएमयू

दीपक शर्मा
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय पहले की अपेक्षा अब विदेशी छात्रों को अधिक आकर्षित कर रहा है। पिछले पांच वर्षों में यहां पर पढ़ने वाले विदेशी छात्रों की संख्या में दो गुना इजाफा हुआ है। पांच वर्ष पहले करीब 350 विदेशी छात्र यहां पढ़ते थे, जबकि अब यह संख्या 715 तक पहुंच गई है। सबसे अधिक विदेशी छात्र यमन और थाईलैंड के हैं। पाकिस्तान की भी एक छात्र यहां पर अध्ययन कर रही है।
एएमयू में पढ़ने वाले विदेशी छात्रों की बात करें तो यहां पर अफगानिस्तान के 42 छात्र पढ़ रहे हैं। अमेरिका के दो, बांग्लादेश के 60, कनाडा के 3, मिश्र के 7, एकोडोरिया के 2, ईरान के 15, इंडोनेशिया के 66, ईराक के 29, जार्डन के 49, लीबिया के 2, मॉरीशस के 8, नेपाल के 20, न्यूजीलैंड के 1, नाइजीरिया का 1, फलस्तीन के 13, पाकिस्तान की 1, सूडान के 3, सोमालिया से 1, सीरिया से 1, थाईलैंड से 117, तुर्कमेनिस्तान से 21, यमन से 151 विद्यार्थी यहां पर पढ़ रहे हैं। इनमें 153 छात्राएं हैं। इसके अलावा 170 एनआरआई विद्यार्थी भी हैं, इनमें 65 छात्राएं हैं।
431 विद्यार्थी ग्रेजुएशन कर रहे हैं। पोस्ट ग्रेजुएशन में 125 और रिसर्च में 229 विद्यार्थी हैं। इस तरह विदेशी विद्यार्थियों को सर सैयद का यह चमन खूब रास आ रहा है।
जब किसी विश्वविद्यालय की रैंकिंग बढ़ती है तो इसका बेहद सकारात्मक असर पड़ता है। इसके अलावा विश्वविद्यालय में शैक्षणिक माहौल बना रहे। शांति की स्थिति रहे तो विदेशी छात्र आकर्षित होते हैं। पिछले कुछ वर्षों में विश्वविद्यालय में अनुशासन की स्थिति में भी सुधार हुआ है। इसके अलावा भारत के जिन देशों के साथ संबंध बेहतर हो रहे हैं, उन देशों के विद्यार्थी भी यहां पर पढ़ने आ रहे हैं।’
- डॉ. राहत अबरार, एसोसिएशन एमआईसी, एएमयू।
... और पढ़ें

जागते रहो! कहीं खेत से प्याज की फसल न हो जाए चोरी

बख्श लाइलपुरी का एक शेर है-
हमारे ख्वाब चोरी हो गए हैं
हमें रातों को नींद नहीं आती है
शायर का हाल तो शायर ही जाने, लेकिन अलीगढ़ में आजकल सब्जी वालों को नींद नहीं आती। जी हां, अगर आपके पास भी प्याज है तो यह खबर पढ़कर आपकी नींद भी हराम होने वाली है। क्योंकि आपके प्याज पर चोरों की नजर है। प्याज के बढ़ते दामों की वजह से चोरों को भी प्याज की चोरी लुभाने लगी है। फिर चाहे मंडी में रखा प्याज हो या खेत में खड़ी प्याज की फसल। देशभर में कई जगहों से प्याज की चोरी के मामलों की खबर सुनकर धनीपुर मंडी में प्याज के आढ़ती, प्याज की खेती करने वाले किसान रातभर जागकर प्याज की रखवाली कर रहे हैं। 

जिले में होती है छह सौ हेक्टेयर में प्याज: रबी के सीजन में जिले में 600 हेक्टेयर में एएलआर प्रजाति की प्याज की खेती होता है। एनएचआरडीएफ सब्सिडी पर किसानों को बीज उपलब्ध कराती है। प्रदेश सरकार की ओर सभी मंडी सचिवों को अपने अपने जिले में नो लॉस नो प्रोफिट पर प्याज बेचने के लिए आदेश दिए हैं। लेकिन जनपद में अभी तक इस तरह की एक भी दुकान नहीं खोली गई है।
हंगर इंडेस्क  में 102वें नंबर पर भारत ःअंतराष्ट्रीय हंगर इंडेक्स द्वारा जारी आंकड़े के अनुसार भारत 102वें नंबर पर है। भारत अच्छी हालत बांग्लादेश और पाकिस्तान की है। खुशियों के इंडेक्श में हमारी गिनती दुनिया के सबसे ज्यादा परेशान लोगों में होती है। एक वजह यह भी है, इसलिए यहां प्याज व लहसुन जैसी चीजों की चोरी होती है।
 

प्याज की देखभाल के लिए रखा चौकीदार

देशभर में प्याज के दाम आसमान पर हैं। 100 से 120 रुपये किलो तक प्याज के भाव पहुंच गए हैं। धनीपुर मंडी में प्याज की आढ़त करने वाले जय किशोर का कहना है कि साहब! पहले चोर सोने - चांदी और पैसे पर हाथ साफ किया करते थे, लेकिन आज कल प्याज की भी चोरी होने लगी है। रातभर जागकर प्याज की रखवाली करनी पड़ रही है। प्याज की देखभाल के लिए चौकीदार रखना पड़ रहा है।
 

 

खेत में खड़ी प्याज की चोरी का सता रहा डर

प्याज की खेती करने वाले हरदुआगंज के किसान जितेंद्र कुमार ने बताया कि छुट्टा गोवंश से पहले से ही परेशान थे, अब फसल चोरी होने का डर सताने लगा है। उन्होंने कहा कि जबसे प्याज मंहगी हुई है, चोर रात में खेत से प्याज खोद कर ले जाते हैं और मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में खेत में खड़ी प्याज की फसल की चोरी के बारे में सुना है। तबसे चिंता सताने लगी है। ठंड में रातभर जागकर फसल की देखभाल करनी पड़ती है। 

... और पढ़ें

#KabTakNirbhaya: स्वच्छता और इज्जत घर नहीं, महिलाओं की सुरक्षा चाहिए

हैदराबाद की हैवानियत पर युवतियों व महिलाओं के जहन में उठी विरोध के स्वर की चिंगारी अभी बुझने का नाम नहीं ले रही है। हैवानियत पर उबाल की झलकी बुधवार को मडराक स्थित जिला शिक्षा व प्रशिक्षण संस्थान में # कब तक निर्भया अमर उजाला अपराजिता के तहत आयोजित फोकस ग्रुप में डीएलएड प्रशिक्षु व प्रवक्ताओं में दिखी। यहां प्रशिक्षुओं ने कहा कि सरकार से हमें इज्जत घर, स्वच्छता जैसे अभियान नहीं चाहिए। महिलाओं की सुरक्षा का अभियान ही हमको समानता का अधिकार दिलाएगा।
प्रवक्ता गरिमा रानी ने कहा कि छोटे-छोटे प्रकरण तो राजनीतिक दबाव या बड़ी हस्तियों की सिफारिशों पर दबा दिए जाते हैं। यही वजह है कि ऐसे हादसे बढ़ते जा रहे हैं। प्रवक्ता साधना बघेल ने कहा कि अरब देशों जैसे कड़े कानून बनने चाहिए।
प्रवक्ता आयशा परवीन ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ नारे को बदलकर बेटा पढ़ाओ बेटा सुधारो मुहिम चलाई जाए। डीएलएड प्रशिक्षु वंदना गौड़ ने कहा कि ऐसे कानून बनाए जाएं, जिसमें जल्द से जल्द फैसला हो। आरती वर्मा ने कहा कि लड़कों में संस्कार और खौफ डालने की बहुत जरूरत है। सूफिया खातून ने कहा कि पीड़िता का फोटो और नाम सोशल मीडिया पर ट्रोल नहीं किया जाना चाहिए। निर्भया, कठुआ और उन्नाव जैसे प्रकरण सुनकर गुस्सा आता है। पूर्णिमा सारस्वत ने कहा कि पीड़िता तथा उसके परिवार को समाज हीन भावना से देखता है। जैसे उसकी ही गलती हो, लेकिन छोटी बच्चियों का क्या दोष है। इसका जवाब किसी के पास नहीं होगा।
रीमा यादव ने कहा कि दुष्कर्म के आरोपियों को तो जिंदा जला देना चाहिए। नीलम यादव ने कहा कि मंदिर, मस्जिद के अलावा बेटियों की सुरक्षा ही बड़ा मुद्दा है। रिया यादव ने कहा कि लड़कियों को सुरक्षा के गुर सीखने चाहिए। क्योंकि जो करना है अब तो खुद ही करना है। साक्षी जैन ने कहा कि नजर का इलाज संभव है, नजरिये का नहीं है। कनीज फातिमा खान ने कहा कि दोषियों का चेहरा सामने नहीं आता और वह फोर्स के साथ अलग से ले जाया जाता है। नीलम रानी ने कहा कि घटना के बाद पीड़िता व परिवार को और परेशान किया जाता है।
राधा देवी ने कहा कि अगर हैदराबाद वाली पशु चिकित्सक की बेटी किसी पीएम, सीएम या भारत सरकार के उच्च पदस्थ वाले व्यक्ति की होती तो अब तक अनुच्छेद ही बदल दिया गया होता, लेकिन अफसोस यह किसी आम आदमी की बेटी है। कीर्ति नंदिनी गौड़ ने कहा कि न्यायपालिका के निर्णय देरी से आते हैं। ऐसे में कैसे लड़कों के मन में खौफ पैदा होगा। स्वाति यादव ने कहा कि विश्व में इंडिया ही ऐसा देश है, जहां सबसे ज्यादा महिलाएं असुरक्षित हैं।
कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि देते बच्चे।
कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि देते बच्चे।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

बंदूकों वाले वीआईपी पुलिस के 30 लाख के कर्जदार, वसूली के नोटिस

पुलिस सुरक्षा लेने में एड़ी चोटी को जोर लगाने वाले नेता अब उसका शुल्क नहीं दे पा रहे हैं। सत्तारूढ़ भाजपा नेताओं की तादाद इसमें सर्वाधिक हो गई है। भाजपा के आठ, सपा के चार और तीन वीआईपी महीनों बाद भी सुरक्षा का शुल्क अदा नहीं कर पा रहे हैं। 

मजबूरन पुलिस उनको नोटिस देकर सुरक्षा शुल्क अदा करने अन्यथा की स्थिति में सुरक्षा वापस लेने का नोटिस भेज रही है। हाल ही में पुलिस लाइन के आरआई ने एसएसपी आकाश कुलहरि को इसकी विस्तृत रिपोर्ट भेजी है। 

जिस पर एसएसपी आकाश कुलहरि ने नोटिस जारी कर वसूली करने का निर्देश दे दिया है। पुलिस कार्यालय स्तर से अब इनको नोटिस जारी किए जा रहे हैं। निर्धारित अवधि में नोटिस का जवाब नहीं देने, बकाया शुल्क जमा नहीं करने पर सुरक्षा वापस ली जा सकती है।

25 नवंबर की तक की स्थिति---
भाजपा नेता
1-राजवीर सिंह राजू एटा सांसद पर चौथे से दसवें महीने के बीच 161076 रुपये।
2-विधायक ठा. दलवीर सिंह पर 17 मई 2017 से 6 सितंबर 19 तक 651036 रुपये।
3-विजय कुमार सिंह (नाती-दलवीर) पर 4 सितंबर 2017 से 30 सितंबर 2019 तक 541499 रुपये।
4-पूर्व विधायक रामसखी कठेरिया पर सितंबर 2018 के 128881 रुपये।
5-ठा. गोपाल सिंह पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा पर दो अलग अलग समय के 154865 और 327905 रुपये।
6-चौ. देवराज सिंह पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा पर दो अलग अलग समय के 280027 और 23390 रुपये
7-शकुंतला भारती पूर्व मेयर पर अलग अलग समय के दौरान 99300 रुपये।
8-ओमप्रकाश नायक पर 13 अक्तूबर से 13 नवंबर 2018 तक के 23718 रुपये।
--------
सपा नेता
9- पूर्व महानगर अध्यक्ष अज्जू इस्हाक पर 26 नवंबर 2015 से 15 जून 2017 तक 200680 रुपये।
10- युवजन सभा प्रदेश सचिव सलमान शाहिद पर नवंबर महीने का 26846।
11- निवर्तमान जिलाध्यक्ष अशोक यादव पर 88497 रुपये
12- पूर्व विधायक जमीरउल्लाह खां पर 60622 रुपये
---------
प्रमुख लोग
13- ठा. सुनील सिंह रीयल स्टेट कारोबारी पर वर्ष 2018 के आठवें महीने का 62384 रुपये
14- अवसार किदवई पूर्व डीजीसी पर 136429 रुपये
15- अमित हरकुट कारोबारी पर 83845 रुपये


जिन प्रमुख लोगों के पास पुलिस सुरक्षा है या पूर्व में रही है और उन पर बकाया है, तो सभी को नोटिस जारी किए जा रहे हैं। इनमें जिले के प्रमुख राजनीतिक व अन्य प्रमुख लोग शामिल हैं।
- आकाश कुलहरि, एसएसपी
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

गर्भवती महिला से दुष्कर्म का आरोपी दोषी करार

इगलास क्षेत्र के गांव जवार में आठ साल पहले खेत पर गई गर्भवती महिला से दुष्कर्म के मुकदमे में आरोपी को अदालत ने दोषी करार दिया है। यह फैसला एडीजे-फास्ट ट्रैक कोर्ट प्रथम के न्यायालय से सुनाया गया है और सजा पर सुनवाई के लिए शनिवार की तारीख नियत की गई है।
अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता एडीजीसी प्रमेंद्र जैन के अनुसार घटना 30 सितंबर 2011 की सुबह चार बजे की है। गांव की गर्भवती महिला जंगल शौच के लिए गई थी। तभी नामजद भूरा खां ने उसे खेत में अकेला पाकर दबोच लिया और तमंचे के बल पर उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। जब महिला ने शोर मचाया और अन्य महिलाएं व गांव के लोग मौके पर पहुंचे तो वह धमकाता हुआ और लोगों पर तमंचा तानकर डराता धमकाता हुआ भाग गया। प्रकरण में मुकदमा पति की ओर से दर्ज कराया गया और चार्जशीट के बाद अदालत में ट्रायल शुरू हुआ। जहां साक्ष्यों व गवाही के आधार पर आरोपी को शुक्रवार को दोषी करार देते हुए सजा के बिंदु पर शनिवार की तारीख नियत की है।
अकेली महिला संग दुष्कर्म की कोशिश, दी शिकायत
महानगर के क्वार्सी क्षेत्र के रामघाट रोड इलाके में 2 दिसंबर की सुबह घर में अकेली मौजूद महिला संग पड़ोसी ने तमंचे के बल पर दुष्कर्म की कोशिश की और विरोध पर मारपीट करते हुए भाग गया। घटना की एसएसपी दफ्तर में शिकायत देते हुए महिला ने कहा है कि उसका पति सुबह दवा लेने गया था। वह बच्चों सहित घर में अकेली सो रही थी। तभी नामजद घुस आया और उसके साथ दुष्कर्म की कोशिश करते हुए विरोध करने पर मारपीट कर धमकी देते हुए भाग गया। मामले में थाना स्तर से मदद न मिलने पर एसएसपी कार्यालय में शिकायत दी गई है।
... और पढ़ें

प्रेम-विवाह में रोड़ा बना दरोगा, कप्तान दफ्तर पर बखेड़ा

महानगर के देहली गेट इलाके के एक प्रेमी जोड़े की शादी में जब दरोगा रोड़ा बना तो प्रेमी जोड़ा शुक्रवार को एसएसपी दफ्तर पहुंच गया। यहां दरोगा पर रुपये न मिलने पर समझौता पत्र न देने और शादी न होने देने का आरोप लगाया। प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए एसपी क्राइम ने तत्काल देहली गेट इंस्पेक्टर को निर्देश दिए कि दोनों का समझौता पत्र वापस किया जाए। साथ में उनकी शादी में भी सहयोग किया जाए।
वाकया इस तरह है कि देहली गेट थाना इलाके के एक प्रेमी युगल ने जब परिवारों के खिलाफ जाकर शादी की प्लानिंग की तो युवती के घर वाले विरोध में आ गए। इस पर युवती अपने प्रेमी के घर पहुंच गई और वहीं रहने लगी। बात पुलिस तक पहुंची तो चौकी पर दोनों के परिवारों को बुलाया गया। जहां समाज की सहमति व प्रेमी जोड़े के बालिग होने के चलते दोनों के परिवार शादी को राजी हो गए और लिखित में चौकी पर समझौता भी हुआ।
शुक्रवार को हाथों में मेहंदी लगी दुल्हन व उसका प्रेमी एसएसपी कार्यालय पहुंचे। जहां उन्होंने एसपी क्राइम के सामने चौकी इंचार्ज पर आरोप लगाया कि समझौता पत्र देने के नाम पर पैसे की मांग की है। प्रेमी युगल ने यह भी आरोप लगाया कि दरोगा जी धमकी दे रहे हैं, अगर पैसे नहीं दिए तो शादी नहीं होने देंगे। मात्र 13 हजार रुपये की डिमांड की जा रही है। एसपी क्राइम ने मामले में कोतवाल को निर्देशित कर प्रेमी युगल की मदद के निर्देश दिए।
शादी समारोह में जेवर चोरी, ससुरालियों ने घर से निकाला
महानगर के गांधीपार्क इलाके के एक गेस्ट हाउस में आयोजित शादी समारोह के दौरान दुल्हन के जेवरात-नकदी का बैग चोरी होने के मामले में इसकी सजा दुल्हन को इस तरह दी जा रही है कि उसे ससुराल से निकाल दिया गया है। अब वह मायके में रह रही है। इस संबंध में पीड़ित युवती शुक्रवार को एसएसपी दफ्तर पहुंचकर एसपी क्राइम से मिली।
युवती उर्मिला उर्फ चारू निवासी मुल्ला कॉलोनी ग्रेटर कैलाश नोएडा ने बताया कि उसकी शादी 30 जनवरी को गांधीपार्क निवासी युवक से यहां सिंधौली के अंगूरी पैलेस में हुई थी, जहां शादी में उनके ससुर का जेवर व नकदी का बैग चोरी चला गया, जिसका मुकदमा थाने में दर्ज है और जांच बन्नादेवी पुलिस कर रही है। अब ससुराली उसके परिवार पर दोष मढ़ते हुए रकम वापस मांग रहे हैं। न दे पाने पर उसे ससुराल से मायके छोड़ दिया है। मामले में विवेचक स्तर से आज तक सीसीटीवी फुटेज तक नहीं देखी जा रही है। ताकि सच्चाई उजागर हो जाए और उसका जीवन सुचारु चले। मामले में एसपी क्राइम ने थाना पुलिस को निर्देशित किया है।
... और पढ़ें

जीएसटी चोरी का फंडा...49,999

आशीष निगम
जीएसटी में कर चोरी का नया फंडा 49999 का है। यानी 50 हजार रुपये मूल्य से कम का बिल बना कर माल कहीं भेजा जा रहा है तो उसका ई वे बिल बनाना जरूरी है। ऐसे में माल भेजने वाली पार्टी साधारण बिल इस्तेमाल करती हैं। चेकिंग में 50 हजार रुपये से मूल्य (49999 रुपये) तक का बिल होने पर ई वे बिल मांगा नहीं जाता।
चेकिंग टीम माल भेजने और माल मंगवाने वाली दोनों पार्टियों का जीएसटी नंबर मिलान करती है। दोनों जीएसटी नंबर सही मिलने के बाद जांच टीम माल छोड़ कर पीछे हट जाती है, क्योंकि नियमानुसार ऐसा माल नहीं रोका जा सकता है। इसके बाद गंतव्य पर पहुंचने पर माल के साथ भेजा गया बिल फाड़ कर फेंक दिया जाता है और बस जीएसटी खत्म..। जी हां कर चोरों ने आज कल यही फार्मूला अपना लिया है। जिसमें कारोबारी और अधिकांश ट्रांसपोर्टर शामिल हैं, क्योंकि बिना ट्रांसपोर्टर की मिलीभगत के ऐसा संभव नहीं है।
वाणिज्य कर विभाग की एसआईबी टीम जो भी ट्रक जांच के लिए रोक रही है। उसमें पांच से सात लाख रुपये का माल ऐसा ही मिल रहा है, जिसमें 50 हजार रुपये से कम मूल्य का बिल लगाया गया है। आलम ये है कि दिल्ली से आने वाला सर्वाधिक माल इसी फंडे पर आ रहा है। अलीगढ़ से भी ताला और हार्डवेयर को टुकड़ों में भेजा जा रहा है। जिससे विभाग को करोड़ों रुपये की चपत लग रही है। दिल्ली और अलीगढ़ ही नहीं प्रदेश और पूरे देश में यही फार्मूला अपनाया जा रहा है। गौर हो कि ई वे बिल बनवाने में कारोबारी को 100 से 200 रुपये तक खर्च करना होता है, इसलिए भी लोग इससे बच रहे हैं।
50 हजार से कम मूल्य का बिल लगा कर कर चोरी करने की प्रवृत्ति लगातार बढ़ रही है। ट्रकों में 50 हजार से कम मूल्य के कई माल मिल रहे हैं। इनकी संख्या सैकड़ों में है। पूरे देश में अचानक ऐसे माल की संख्या बढ़ रही है। अब प्रदेश स्तर पर इसके लिए सघन जांच अभियान चलाया जाएगा।
-एके माहेश्वरी, एडिशनल कमिश्नर एसआईबी वाणिज्य कर विभाग
छह महीने में 5.96 करोड़ का माल सील, 2.46 करोड़ वसूले
वाणिज्य कर विभाग की एसआईबी टीम ने चालू वित्तीय वर्ष 2019-20 में छह महीने में ताबड़तोड़ कार्रवाई की है। जिससे वाहनों पर साढ़े तीन सौ से ज्यादा छापों में विभाग को लगभग तीन करोड़ रुपये की कर एवं अर्थदंड प्राप्ति हुई है। इस अवधि में कर चोरी के संदेह में 275 वाहनों को कब्जों में लिया। जिसमें 5.96 करोड़ रुपये की कर चोरी पकड़ी गई।
इन वाहन स्वामियों से 2.47 करोड़ रुपये कर और अर्थदंड में वसूले गए। इसी क्रम में खराब छवि के ट्रांसपोर्टरों के 27 वाहनों की जांच हुई, जिसमें 41.95 लाख रुपये की कर एवं अर्थदंड वसूली हुई। वाणिज्य कर विभाग की एसआईबी टीम के एडिशनल कमिश्नर एके माहेश्वरी ने बताया कि लगातार प्रवर्तन की कार्रवाई जारी है। संदेह या सटीक सूचना पर वाहनों को रोक कर उनकी जांच हो रही है। अब 50 हजार रुपये से कम मूल्य के बिल की माल की भी जांच होगी। ये जांच किसी भी जगह से शुरू हो सकती है। जिसके बाद उसके पूरे कारोबार को जांचा जाएगा। दोषी मिलने पर कर वसूली और अर्थदंड दोनों लगेगा।
... और पढ़ें

अलीगढ़ः हैदराबाद एनकाउंटर पर सीओ ने बांटे लड्डू

दुबे का पड़ाव पर ट्रक में माल लोड़ करते कर्मचारी।
हैदराबाद में महिला चिकित्सक के हत्यारों के एनकाउंटर पर सीओ तृतीय अनिल समानिया ने जिला पुलिस मुख्यालय स्थित अपने कार्यालय में लड्डू बांट दिया। उन्होंने पुलिस जिंदाबाद के नारे लगाते हुए अधीनस्थ कर्मचारियों और दफ्तर में आए फरियादियों को बुला-बुलाकर लड्डू खिलाए। वहीं, यूपी व तेलंगाना पुलिस जिंदाबाद के नारे भी लगाए।
शुक्रवार सुबह जब सीओ अनिल समानिया पुलिस कार्यालय पहुंचे, तो वह काफी खुश थे। उन्होंने वहां पहुंचते ही लड्डुओं का डिब्बा मंगाया। कार्यालय से बाहर आकर अधीनस्थों को लड्डू खिलाने के साथ यूपी पुलिस जिंदाबाद के नारे भी लगाते रहे। इसी बीच किसी ने कहा कि तेलंगाना पुलिस, इस पर वो बोले ‘पुलिस इज पुलिस’, तेलंगाना पुलिस जिंदाबाद।
कहा, जब बदमाश मारे जाते हैं, तब खुशी की बात होती है। बदमाश का मारा जाना बहुत अच्छा है। काफी देर तक वो पुलिस जिंदाबाद के नारे लगाते रहे। वहीं, सोशल मीडिया पर सीओ का लड्डू बांटने का वीडियो भी वायरल हो गया है। उधर, लड्डू बांटे जाने के संबंध में सीओ तृतीय अनिल समानिया ने कहा कि यह मन की भावना है। मुझे अच्छा लगा और लड्डू बांट दिया। अपराधियों के साथ ऐसा होना ही चाहिए।
... और पढ़ें

झूलते तारों से बस में फैला करंट, क्लीनर की मौत

झूलती एचटी लाइन की वजह से शुक्रवार की सुबह भोजपुर के समीप एक बस क्लीनर करंट की चपेट में आ गया। इससे क्लीनर की मौत हो गई। यह बस शादी समारोह में शामिल होने के लिए लोगों को लेकर मथुरा जा रही थी। चालक ने लघुशंका के लिए गाड़ी सड़क किनारे रोकी थी, तभी ऊपर से निकली एचटी लाइन बस में छू गई थी।
शुक्रवार को पूर्वाह्न करीब साढ़े 11 बजे गंजडुडवारा से मथुरा जा रही बस सड़क किनारे रुकी थी। तभी बस में एचटी लाइन का तार छूने से करंट प्रवाहित हो उठा। बस रुकते ही एक महिला नीचे उतरी। उसके पीछे से क्लीनर गणेश का पैर बस के नीचे जमीन पर छुआ तो वह करंट की चपेट में आ गए। गणेश की हालत देख महिला चीखते हुए पीछे हट गई। आनन फानन में बस को हटाया गया। लोगों ने क्लीनर के पैरों की मालिश की लेकिन उसकी मौत हो चुकी थी। चालक गणेश को लेकर जिला अस्पताल पहुंचा जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। थाना पुलिस के अनुसार तहरीर नहीं मिली है।
... और पढ़ें

प्रियंका रेड्डी को मिले इंसाफ के बाद यूपी पुलिस भी दिखी खुश, बांटे लड्डू

तेलंगाना के हैदराबाद में दुष्कर्म के आरोपियों की पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने के बाद देशभर में खुशी का माहौल है। लोग पुलिसवालों को बधाई दे रहे हैं। तो वहीं पुलिस भी खुशी का इजहार करते हुए लड्डू बांटते हुए नजर आई।

शुक्रवार को अलीगढ़ के एसएसपी कार्यालय स्थित सीओ ऑफिस में लड्डू बांटे गए। सर्किल ऑफिसर डॉक्टर अनिल समानिया ने एक बार नहीं अनेकों बार लड्डू बांटे। साथ ही यूपी पुलिस जिंदाबाद, तेलंगाना पुलिस ने बहुत अच्छा किया, यूपी पुलिस जैसी पूरी देश में कोई पुलिस नहीं है जैसे नारे भी लगाए गए। इन नारों से पुलिसकर्मी का सीना गर्व से चौड़ा हो गया।   

बता दें कि हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया। तेलंगाना पुलिस के अनुसार आरोपियों को राष्ट्रीय राजमार्ग-44 पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए ले जाया गया था। इस दौरान आरोपियों ने पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस ने उनपर गोलियां चला दीं। इस मुठभेड़ में चारों आरोपियों की मौके पर ही मौत हो गई।
... और पढ़ें

बाबरी विध्वंस की बरसी पर एएमयू में छात्रों ने की सभा, भड़के भाजपाई

छह दिसंबर को बाबरी मस्जिद की शहादत की बरसी के अवसर पर एएमयू के कैनेडी हाल के पास छात्रों ने शाम को एक सभा का आयोजन किया। इसमें बाबरी मस्जिद की शहादत पर गम का इजहार किया। वक्ताओं ने इस दिन को इंसानियत को दागदार करने वाली घटना वाला दिन बताते हुए आने वाली नस्लों को भी इससे अवगत कराने का आह्वान किया।
छात्र नेता फैजुल हसन ने बताया कि 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट का फैसला अयोध्या के संबंध में आया। इस फैसले को पूरे देश ने स्वीकार किया। अदालत ने अपने फैसले में यह कहीं नहीं कहा कि मंदिर को तोड़कर मस्जिद बनाई गई थी। बल्कि कहा है कि जो फैसला दिया गया है वह आस्था के आधार पर दिया गया है। इसके अलावा जो पुनर्विचार याचिका दायर की गई है वह संवैधानिक प्रावधान के तहत की गई है। यही संविधान की भावना भी है, लेकिन देखने में आ रहा है कि बात बात पर मुसलमानों को ही लक्ष्य बनाकर निशाना बनाया जा रहा है। एनआरसी के प्रावधानों में कहा जा रहा है कि इसमें मुसलमानों को छोड़कर सभी को नागरिकता दी जाएगी।
यह देश के गृहमंत्री को शोभा नहीं देता है। सरकार का फर्ज सभी कोे इंसाफ देना और सभी के हितों को सुरक्षित रखना है। शाम को जो सभा की गई है उसमें भी बेहद शांति और सलीके के साथ सभी ने अपनी बात कही है। विश्वविद्यालय के कैंपस मुद्दों पर चर्चा के लिए होते हैं। यही काम छात्रों ने किया है क्योंकि स्वस्थ समाज में सभी मुद्दों पर खुलकर बात होनी चाहिए। वही काम यहां पर हुआ है। इस अवसर पर तल्हा मन्नान, सरजील उस्मानी, अहमद मुस्तबा फैराज, बरदा बेग आदि मौजूद थे।
एएमयू में सभा और आडवाणी की पोस्ट पर भड़के भाजपाई
एएमयू में छह दिसंबर को लेकर शाम छह बजे कैंपस में कैनेडी हाल के पास एक सभा होनी है। इसकी सूचना शुक्रवार को सोशल मीडिया पर दी गई और साथ में एक चित्र भी पोस्ट किया गया जिसमें लाल कृष्ण आडवाणी को बाबरी मस्जिद के संदर्भ में दिखाया गया। इस पोस्ट में आडवाणी के चित्रण को लेकर भाजयुमो पदाधिकारियों ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई और थाना सिविल लाइन में तहरीर दी दी। जिसके बाद दो छात्रों के खिलाफ 67 आईटी एक्ट के तहत नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है।
भाजयुमो के जिला प्रवक्ता प्रतीक चौहान की ओर से दर्ज कराए गए मुकदमे में कहा गया है कि शुक्रवार को एएमयू के कुछ छात्रों द्वारा देश के पूर्व गृहमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी के चित्र के साथ आपत्तिजनक छेड़छाड़ कर माहौल के बिगाड़ने का पुरजोर प्रयास किया गया। जहां देश के प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और जिले के उच्च अधिकारी आपस में माहौल शांत बनाये रखने की अपील कर रहे हैं, वहीं एक बार फिर एएमयू के अंदर के कुछ छात्र बाबरी मस्जिद गिरने एवं उस पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को गलत बताते हुए उस पर मीटिंग का आयोजन कर माहौल को बिगाड़ने का प्रयास कर रहे हैं।
इस संबंध में थाना सिविल लाइन के सीओ अनिल समानिया, एसीएम द्वितीय रंजीत सिंह को तहरीर दी गई। इस अवसर पर हिंदू युवा वाहिनी के उपाध्यक्ष सुधीर सिंह जादौन, आलोक प्रताप सिंह, अमन गुप्ता, अंकित खत्री, राहुल सागर, दीपक कुमार, शशांक वार्ष्णेय आदि मौजूद थे। बाद में इस तहरीर पर तल्हा मन्नान खान और सरजील उस्मानी के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
बाबरी मस्जिद की बरसी पर एएमयू कैंडी हॉल के पास सभा करते हुए एएमयू छात्र।
बाबरी मस्जिद की बरसी पर एएमयू कैंडी हॉल के पास सभा करते हुए एएमयू छात्र।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

हरकतों से नहीं बाज आया युवक तो परिजनों ने जंजीरों से जकड़ा, जानें पुलिस ने क्या किया

शराब के नशे का आदि होने के कारण परिजनों ने युवक को जंजीरों से बांध दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस उसे थाने लेकर आई जिसके बाद परिजनों के गुहार के बाद उसे छोड़ दिया गया।

बता दें कि दिलीप अलीगढ़ सासनी गेट क्षेत्र का रहने वाला है। दिलीप आरके पुरम रोड एडीए कॉलोनी निवासी भगवती शर्मा का पुत्र है। वह हर रोज शराब पीकर घर में हंगामा और मारपीट करता था जिससे तंग आकर घर वालों ने उसे जंजीरों में जकड़ दिया। 

मौके पर पहुंची पुलिस ने दिलीप को जंजीर से मुक्त कराया और उसे थाने लेकर आई। इस मामले को लेकर दारोगा का कहना है कि दिलीप ने परिजनों से मांफी मांग ली है। उसने यह भी भरोसा दिलाया है कि आगे से ऐसी हरकतें नहीं करेगा। साथ ही उसे कड़ी हिदायत देकर छोड़ दिया गया है। 
... और पढ़ें

छह दिसंबरः आज कड़ी चौकसी के बीच रहेगा शहर, हर तरफ नजर

सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या विवाद पर फैसले के बाद आज 6 दिसंबर महानगर में हाई अलर्ट के तहत कड़ी चौकसी के बीच मनाया जाएगा। सूबे के 12 अतिसंवेदनशील शहरों में शामिल अपने शहर में निषेधाज्ञा लगाकर ग्रीन स्कीम के तहत सेक्टर स्कीम लागू कर शहर को 26 सेक्टरों में बांटा गया है।

यह व्यवस्था बृहस्पतिवार से ही लागू कर दी गई है और शनिवार तक लागू रहेगी। इस दौरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनाती के साथ-साथ सर्वाधिक निगरानी सोशल मीडिया पर रखी जा रही है और जिले में सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले कुल 278 लोगों की लगातार निगरानी रखी जा रही है।

जरूरत महसूस हुई तो इन्हें घर में ही नजरबंद भी किया जाएगा। किसी को किसी भी तरह की गड़बड़ी, कोई आयोजन या किसी तरह की बयानबाजी जारी करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। किसी ने कोई हरकत की तो सीधे रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी।

छह दिसंबर को दोनों पक्ष अब तक अपने-अपने तरीके से काला दिवस व शौर्य दिवस के रूप में मनाते आए हैं। यह पहला मौका है, जब विवाद पर फैसला आ गया है और 2 दिसंबर को डीएम-एसएसपी की मौजूदगी में हुई बैठक में यह तय हुआ है कि कोई किसी पक्ष से आयोजन नहीं होगा। बावजूद इसके एहतियातन शहर में कड़े सुरखा इंतजाम रखे जा रहे हैं।

बृहस्पतिवार से ही शहर में सेक्टर स्कीम लागू कर दी गई है। सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट/पुलिस अधिकारी अपने-अपने इलाकों में भ्रमणशील हैं। शांतिपूर्ण दिन बीतने के बाद अधिकारियों ने देर रात को शुक्रवार की रणनीति तय की। सुरक्षा के लिहाज से दो कंपनी अतिरिक्त आरएएफ, दो कंपनी पीएसी के अलावा देहात से थाना प्रभारियों व पुलिस दफ्तरों से ड्यूटी लगाई गई हैं।

एडीएम सिटी के कार्यालय को कंट्रोल रूम बनाया गया। जहां से पल-पल की रिपोर्ट मजिस्ट्रेटों से ली गई। रेलवे स्टेशन, बस अड्डों, धार्मिक स्थलों के पास खुफिया पुलिस तैनात रही। डीएम चंद्रभूषण सिंह व एसएसपी आकाश कुलहरि ने सोशल मीडिया के माध्यम से जनपदवासियों से शांति व्यवस्था कायम रखने की अपील की। उन्होंने अपील की कि अराजक तत्वों का साथ न दें। सोशल मीडिया पर सद्भाव का प्रचार करें। जिस प्रकार अयोध्या फैसले के बाद शांति व्यवस्था कायम रख नजीर पेश की थी, एक बार फिर से उसी नजीर को दोहराने का समय है।

इसके साथ ही छह सेक्टर मजिस्ट्रेट रिजर्व में रखे गए हैं। सभी तरह का जुलूस, प्रदर्शन, जश्न, विरोध पूरी तरह से प्रतिबंधित किया जा चुका है। इन आदेशों की अवहेलना करने और अराजकता फैलाने वालों पर सीधे रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी। सोशल मीडिया पर भी भ्रामक प्रचार-प्रसार करने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी। संवेदनशील और मिश्रित आबादी वाले इलाकों में ड्रोन कैमरे से निगरानी कराए जाने की व्यवस्था की गई है। धार्मिक स्थलों पर खुफिया पुलिस को तैनात कराया गया है। इधर, पुराने शहर में पुलिस की पैदल गश्त भी कराई गई।
- जनपद में धारा 144 लागू है। पीस कमेटियों की बैठक थानावार कराई जा चुकी हैं। शहर को 26 सेक्टरों में बांटा गया है। किसी तरह के आयोजन की किसी पक्ष को अनुमति नहीं है। कोई करता है तो सीधे कार्रवाई होगी।
-चंद्रभूषण सिंह, डीएम
- शहर में सर्किल वार सोशल मीडिया सेल एक्टिव हैं। कुल 278 ऐसे लोग हैं, जिनके सोशल मीडिया एकाउंट व उनकी निजी गतिविधियां पुलिस के रडार पर हैं। उनकी किसी गलत गतिविधि पर उन्हें नजरबंद भी किया जा सकता है। यह लोग पाबंद भी किए जा सकते हैं।
-आकाश कुलहरि, एसएसपी

रेलवे स्टेशन, बस अड्डों पर निगरानी
जिले की सभी सीमाओं और सभी प्रमुख हाईवे पर पेट्रोलिंग बढ़ाने के साथ ही शहर व देहात के सभी रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, होटलों, सरायों, आउट स्कर्ट में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। किसी भी प्रकार की जरूरत महसूस होने पर इंटरनेट सेवा, स्कूल और कॉलेजों को बंद कराया जा सकता है। ग्रामीण इलाकों में शांति व्यवस्था की कमान एसडीएम, तहसीलदारों को सौंपी गई है। जीआरपी इंस्पेक्टर यशपाल सिंह के मुताबिक रेलवे जंक्शन पर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। जीआरपी और आरपीएफ ने ट्रेनों में अतिरिक्त सुरक्षा बल की तैनाती के साथ ही स्टेशन पर निगरानी। यात्रियों पर सतर्क निगाह रखना शुरू कर दिया है। पटरियों पर आकर प्रदर्शन करने या रेल संचालन में किसी भी प्रकार से बाधा पैदा करने वालों पर सीधे रासुका की कार्रवाई करने का निर्देश हुआ है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election