बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
ये हैं सप्ताह की चार भाग्यशाली राशियां, धनलाभ के बनेंगे प्रबल योग
Myjyotish

ये हैं सप्ताह की चार भाग्यशाली राशियां, धनलाभ के बनेंगे प्रबल योग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

धर्मवीर को बसपा की भाईचारा कमेटी की पांच मंडलों की कमान सौंपी

पार्टी की पकड़ मजबूत बनाने के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर जाट समुदाय पर भरोसा दिखाया है। इससे पहले लोकसभा चुनाव 2019 में पार्टी ने जाट समुदाय से अजित बालियान को मैदान में उतारा था, हालांकि वह दूसरे नंबर पर रहे थे। अब पार्टी की भाई चारा कमेटी के लिए धर्मवीर चौधरी को पांच मंडलों की जिम्मेदारी सौंपी है, ताकि विधानसभा चुनाव 2022 से पहले पार्टी जमीनी स्तर पर मजबूत हो सके। मूल रूप से हाथरस के सादाबाद निवासी धर्मवीर चौधरी को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पांच मंडलों की भाईचारा कमेटी का संयोजक बनाया गया है। इसमें मेरठ, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, मुरादाबाद मंडल शामिल हैं, जिसमें जाट समुदाय का बड़ा वोट बैंक है।
धर्मवीर चौधरी कहा कि पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने जो उनको जो जिम्मेदारी दी है, उसका कर्तव्यपूर्ण निर्वहन करेंगे। पार्टी की नीतियों को आगे बढ़ाते हुए मेहनत से प्रत्याशियों को जिता कर मायावती को पांचवी बार प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाएंगे। धर्मवीर चौधरी पूर्व में गाजियाबाद के जिला महासचिव, सचिव, कोषाध्यक्ष एवं गाजियाबाद एवं हापुड़ और हाथरस के जिला प्रभारी भी रह चुके है। अलीगढ़ मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी सूरज सिंह ने बताया कि धर्मवीर चौधरी के साथ गाजियाबाद निवासी विजय कुमार को भी तैनात किया गया है। दोनों नेता पार्टी की भाईचारा कमेटी के माध्यम से संगठन को मजबूत करेंगे। जिसका पार्टी को विधानसभा चुनाव में लाभ होगा।
... और पढ़ें

कोरोना से ठीक होने के बाद कोई परेशानी हो तो बेहिचक बताएं

कोरोना से ठीक होने के बाद अगर कोई समस्या हो तो चिकित्सक को फोन कर बताएं। वह नि:शुल्क आपको परामर्श देंगे। चिकित्सकों को आप दोपहर 12 से 1 बजे के बीच फोन कर परामर्श ले सकते हैं।
संगठन के निर्देश पर भाजपा के जिला उपाध्यक्ष जयदीप गौड़ के नेतृत्व में चिकित्सकों की टीम सेवा कार्य कर रही है। दोपहर में फोन कर विशेषज्ञ चिकित्सकों से परामर्श ले सकते हैं। भाजपा द्वारा चिकित्सकों का नंबर भी जारी किया गया है। जयदीप गौड़ ने बताया कि कोविड-19 से ठीक हुए मरीजों में नए-नए लक्षण दिख रहे हैं। कमजोरी, चक्कर आना, भूख न लगना, किसी कार्य में मन न लगना आदि की शिकायतें सामने आ रही हैं। किसी भी आदमी को कोई दिक्कत हो तो डॉक्टर को फोन कर परामर्श ले सकता है।
इन डॉक्टरों के पास करें फोन -दोपहर 12 से 1 बजे-
- डॉ. एमपी सिंह, चौधरी हॉस्पिटल - 9412273434
- डॉ. संजीव शर्मा, एसजेडी हॉस्पिटल - 9412757481
- डॉ. संजीव शर्मा, सस्मित हॉस्पिटल - 9456689203
- डॉ. विभव वार्ष्णेय, द होप हॉस्पिटल - 8979426656
प्रकोष्ठ एवं मोर्चों के गठन पर चर्चा
अलीगढ़। भाजपा जिलाध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह की अध्यक्षता में क्वार्सी चौराहे के समीप स्थित सर्किट हाउस में संगठन को दुरुस्त करने को लेकर समीक्षा बैठका का आयोजन किया गया।
पोस्ट कोविड प्रबंधन से संबंधित जिम्मेदारी तय की गई। साथ ही 2022 की विधान सभा चुनाव से पहले भाजपा के विभिन्न प्रकोष्ठ, विभाग एवं मोर्चों के गठन को लेकर चर्चा की गई। संगठनात्मक संरचना को लेकर एमएलसी श्रीचंद्र शर्मा ने दिशा निर्देश दिया। हेमंत राजपूत, अनीता जैन, गोपाल माहेश्वरी, शिवनारायण शर्मा, पंकज पवार, जयदीप गौड़, मीना कुमारी, अनेकपाल सिंह, आशीष कुमार, सुरेश सिंह आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

मांगें पूरी नहीं हुई तो सड़क पर उतरकर आंदोलन करेंगे सफाईकर्मी : बिल्लू

स्थानीय निकाय सफाई मजदूर संघ उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष मानिक लाल नागर एवं महामंत्री बिल्लू चौहान ने कहा कि प्रदेश की सरकार सफाई कर्मचारी एवं वाल्मीकि समाज विरोधी है। 20 अगस्त तक 14 सूत्री मांगें नहीं मानी गईं तो सफाई कर्मचारी सड़क पर उतरकर आंदोलन एवं विधानसभा का घेराव करेंगे।
प्रांतीय महामंत्री बिल्लू चौहान ने बताया कि रविवार को नगर पालिका परिषद टाउन हॉल अमरोहा में संघ की प्रांतीय बैठक आयोजित की गई। इसमें 14 सूत्री मांगपत्र पारित किया गया। सरकार 20 अगस्त तक मांगें पूरी नहीं करती है तो प्रदेश के सफाई कर्मचारी सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरकर आंदोलन और विधानसभा का घेराव करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों की वजह से वाल्मीकि समाज के युवाओं को मिलने वाले रोजगार में नुकसान हुआ है और बेरोजगारी बढ़ रही है। प्रमुख मांगों में एक लाख सफाई कर्मचारियों की स्थायी भर्ती करने, संविदा सफाई कर्मचारियों को स्थायी करने, ठेका सफाई कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन 18000 प्रतिमाह देने, पुरानी पेंशन नियमावली बहाल करने, शिक्षित सफाई कर्मचारियों को पदोन्नत करने, कोविड-19 से मरने वाले सफाई कर्मचारियों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी एवं 50 लाख रुपये मुआवजा देने आदि शामिल है।
... और पढ़ें

अलीगढ़ शराब कांड : मिथाइल का ठिकाना बताने में पुलिस को गुमराह कर रहा है विजेंद्र कपूर

जहरीली शराब कांड की जड़ में पहुंचने में जुटी पुलिस को केमिकल कारोबारी विजेंद्र कपूर फिर गुमराह कर रहा है। वह पुलिस को मिथाइल अल्कोहल की सप्लाई देने वाले ठिकाने तक नहीं पहुंचा रहा है। रविवार को दिन में पुलिस उसे बरेली तक लेकर गई। लेकिन वहां से भी मिथाइल सप्लाई के साक्ष्य नहीं मिले। हां, वहां से कपूर को एसडीएस केमिकल की सप्लाई होती थी। वह भी सब एक नंबर में। इसलिए देर शाम पुलिस वहां से कपूर को लेकर वापस लौट आई। अब रात में फिर नए सिरे से पूछताछ की तैयारी है। हालांकि कपूर के खिलाफ पुलिस के पास पर्याप्त साक्ष्य हैं। पुलिस का प्रयास है कि यूपी में अवैध रूप से मिथाइल सप्लाई देने वाला ठिकाना उजागर होता है तो यह और बेहतर होगा।

जहरीली शराब कांड की जांच में जुटी पुलिस को जब यह पता चला कि इस सिंडिकेट को मिथाइल अल्कोहल की सप्लाई तालानगरी में सैनिटाइजर व स्याही फैक्टरी चलाने वाले मशहूर कारोबारी विजेंद्र कपूर देते हैं तो उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। उनकी फैक्टरी से काफी मात्रा में मिथाइल व इथाइल अल्कोहल मिला। उसी समय उन्होंने बरेली से खुद को सप्लाई मिलने की बात कही थी। इसके बाद रिमांड के दौरान पुलिस ने पूछताछ की तब भी वहीं से सप्लाई मिलने की बात स्वीकारी। इस पर पुलिस ने तय किया कि कपूर को बरेली लेकर जाया जाए।

इसी क्रम में दूसरी बार फिर कपूर को दो दिन के रिमांड पर लिया गया और रविवार को पुलिस कपूर को लेकर बरेली गई। पुलिस सूत्रों के अनुसार कपूर पुलिस को बरेली के रामपुर रोड स्थित सीबीगंज के एक एसडीएस केमिकल सप्लायर तक ले गया। मगर, वहां से उसे सप्लाई एक नंबर में बिल बाउचर पर मिली है। उसके साक्ष्य बरेली के सप्लायर ने दिखाए हैं। चूंकि कपूर के पास सॉल्वेंट का लाइसेंस है। इसलिए उसमें कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई है। इसके बाद कपूर फिर मिथाइल देने वाले ठिकाने को लेकर गुमराह करता रहा और घंटों माथापच्ची के बाद पुलिस उसे वापस ले आई। अब रात में फिर पूछताछ की जाएगी। इसके बाद सोमवार सुबह 10 बजे रिमांड अवधि पूरी होने पर उसे जेल में दाखिल किया जाएगा।

सुबह फैक्टरी भी ले गई पुलिस, मौजूद हैं पर्याप्त साक्ष्य
बेशक कपूर पुलिस को मिथाइल की सप्लाई देने वाले ठिकाने तक नहीं पहुंचा रहा। मगर, पुलिस के पास उसके खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य हैं। उसके मालिकाना हक वाली फैक्टरी से दो बार में भारी मात्रा में मिथाइल मिलना। पहले सैंपल की जांच में मिथाइल की पुष्टि होना। दस्तावेजों में हेरफेर होना। बिना लाइसेंस इतनी मात्रा में माल रखना और लोगों को बेखौफ बेचना। यह पर्याप्त साक्ष्य हैं। आयुर्वेदिक सैनिटाइजर व सॉल्वेंट लाइसेंस की आड़ में ये सब गोरखधंधा करना उसकी काली करतूतों को उजागर करता है। इधर, रविवार को बरेली ले जाने से पहले पुलिस एक बार फिर उसे उसकी फैक्टरी पर लेकर गई। जहां से उसके बताए अनुसार कुछ और प्रपत्र पुलिस ने कब्जे में लिए हैं। अब रात में होने वाली पूछताछ के बाद पुलिस उसकी कारगुजारियों पर अंतिम मुहर लगाएगी।

आखिर किस बड़े नाम वाले बचा रहा कपूर
बिना किसी लाइसेंस के कपूर को इतनी मात्रा में मिथाइल मिलता रहा। वह उसे धड़ल्ले से नकली शराब सिंडिकेट को बेचता रहा। आबकारी महकमे के अनुसार मिथाइल की बिक्री का पश्चिम बंगाल में वैध सप्लाई का ठिकाना है। वहीं से मिथाइल औद्योगिक प्रयोग के लिए किसी भी कारोबारी को मिल सकती है। वह भी निर्धारित मानक, निर्धारित दस्तावेजों पर ही मिलेगी। हां, इथाइल अल्कोहल, एसडीएस जरूर बरेली से मिल सकता है। ऐसे में सवाल खड़ा हो रहा है कि यूपी में कपूर को इतनी मात्रा में कहां से माल मिल रहा था। वह किसे इस झंझट से बचा रहा है। वह क्यों पुलिस को सही जानकारी नहीं दे रहा है। कुल मिलाकर कोई बड़े नाम वाला तो ऐसा है, जिससे या तो खुद कपूर डर रहा है या फिर किसी अन्य वजह से वह उसे बचा रहा है।

तस्कर ऋषि को भी आज दाखिल करेगी पुलिस
जहरीली शराब कांड के मुख्य आरोपियों में शामिल तस्कर ऋषि शर्मा भी तीन दिन के पुलिस रिमांड पर है। उससे पूछताछ के बाद उससे माल बरामदगी कर ली गई है। उसने कुछ नाम बताए हैं, जिन्हें पुलिस लगातार तलाश रही है। रविवार को बरामद माल को न्यायालय में पेश किया गया और ऋषि का रिमांड बनवाया गया। चूंकि उसकी रिमांड अवधि अभी सोमवार सुबह तक की है। इसलिए वह पुलिस अभिरक्षा में है और कुछ अन्य पहलुओं पर व कुछ फरार लोगों तक पहुंचने के प्रयास में पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। सोमवार सुबह उसे भी जेल दाखिल कर दिया जाएगा।

नकली घी फैक्टरी संचालक से पूछताछ जारी
जहरीली शराब कांड के मामले में केमिकल कारोबारी विजेंद्र कपूर व शराब सिंडिकेट के बीच की कड़ी बना तालानगरी में नकली घी फैक्टरी चलाने वाला बुलंदशहर निवासी गौतम अभी पुलिस हिरासत में है। उससे पुलिस पूछताछ में जुटी है। पुलिस उससे यह जानने का प्रयास कर रही है कि वह अपनी फैक्टरी में घी की आड़ में बनने वाली शराब की सप्लाई किन-किन ठिकानों पर देता था। उम्मीद है कि उसे भी सोमवार को जेल भेजा जाएगा।
शराब कांड में रिमांड पर लिए गए ऋषि व कपूर से पूछताछ में काफी कुछ स्पष्ट हुआ है। जो नए नाम प्रकाश में आए हैं, उनकी तलाश जारी है। हां, विवेचना की मजबूती की दृष्टि से कपूर को बरेली लेकर जाया गया था। अभी वहां से कुछ तथ्यपरक जानकारी नहीं मिली है। अभी रात में पूछताछ के बाद काफी कुछ स्पष्ट होगा।
-कलानिधि नैथानी, एसएसपी
... और पढ़ें
मौके पर जांच करती पुलिस मौके पर जांच करती पुलिस

शराब कांड: पांच और शराब तस्कर दबोचे, इनामी मदन की घेराबंदी तेज

जहरीली शराब कांड में गिरफ्तारी अभियान एक बार फिर तेज हो गया है। पिछले 48 घंटे के प्रयास में पुलिस टीमों ने पांच और शराब तस्कर गिरफ्तार किए हैं। वहीं इनामी मदन गोपाल की तलाश में हरियाणा में डेरा डाले टीमों ने घेराबंदी तेज कर दी है। उम्मीद है कि सोमवार को बड़ी सफलता हाथ लगेगी।
एसएसपी कलानिधि नैथानी के अनुसार शराब कांड में अकराबाद से वांछित सुमित उर्फ सोनी पुत्र सुरेशपाल सिंह निवासी दरनगर अकराबाद को दबोचा गया है। वहीं इसी थाने से वांछित अवधेश कुमार पुत्र कृपाल सिंह निवासी सिकंदरपुर अकराबाद को दबोचा गया है। पिसावा से वांछित संदीप कुमार उर्फ अर्जुन पुत्र मुनेश निवासी शादीपुर व वीरपाल पुत्र लोहरे सिंह निवासी शादीपुर को दबोचा गया है। इसके अलावा क्वार्सी से वांछित नवरत्न नाथ पुत्र प्रताप नाथ निवासी चंदनिया को दबोचा गया है। उन्होंने गिरफ्तारी अभियान में जुटी टीमों को स्पष्ट हिदायत दी है कि जो भी इस कांड में फरार हैं, उनकी जल्द से जल्द गिरफ्तारी की जाए। वहीं हरियाणा में छिपे बैठे मदन की तलाश में टीम वहां डेरा डाले हुए हैं। बता दें कि इस कांड में अब तक 70 गिरफ्तारी हो चुकी हैं। जिनमें आधा दर्जन मुख्य आरोपी हैं। बाकी उनके सहायक हैं।
गैंगेस्टर सहित दो गिरफ्तार
पुलिस के गिरफ्तारी अभियान के तहत क्वार्सी पुलिस द्वारा तालानगरी में पकड़ी गई शराब फैक्टरी कांड में गैंगेस्टर में वांछित सोमू उर्फ हेमन्त पुत्र मही सिंह निवासी ताऊ का नगला सासनीरोड इगलास को सिविल लाइंस पुलिस ने दबोचा है। वहीं क्वार्सी पुलिस ने हमले का आरोपी शाहरुख निवासी रजनानगर दबोचा है।
... और पढ़ें

नशा मुक्ति केंद्र में युवक की मौत, हत्या का आरोप

महानगर के गांधीपार्क क्षेत्र के नशा मुक्ति परामर्श एवं पुनर्वास केंद्र में भर्ती युवक की रविवार को संदिग्ध हालत में जेएन मेडिकल कालेज में मौत हो गई। परिवार ने केंद्र संचालकों पर मारपीट कर हत्या का आरोप लगाया है। मूल रूप से छतारी बुलंदशहर के गांव बरकातपुर निवासी 38 वर्षीय राजकुमार सिंह पुत्र विजयपाल सिंह को परिजनों ने नशा करने की आदत से परेशान होकर 10 जून को बौनेर स्थित नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया था। युवक राजकुमार के भाई सूरजपाल के अनुसार शनिवार देर शाम केंद्र से उनके पास फोन पहुंचा कि राजकुमार की तबीयत खराब हो गई है और उसे जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती कराया है।
इस खबर पर परिजन मेडिकल कॉलेज आए तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। परिवार के अनुसार उसके शरीर पर मारपीट से आई चोटों के निशान भी थे। वहां नशा मुक्ति केंद्र का कोई व्यक्ति भी नहीं था। उसकी मारपीट कर हत्या का आरोप लगाया गया है। गांधीपार्क पुलिस के अनुसार मामले में जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे कार्रवाई तय की जाएगी।
... और पढ़ें

पंचायत चुनावः मतगणना आज, खुलेगा 434 प्रत्याशियों के भाग्य का पिटारा

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत हुए उप चुनाव में 434 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला आज होगा। 12 ब्लाकों के मुख्यालयों पर आज मतगणना होगी। जिला निर्वाचन कार्यालय की ओर से सभी 12 ब्लाक में 19 टेबल लगाई गईं हैं। प्रत्येक एक टेबल पर गणना पर्यवेक्षक के साथ तीन गणना अधिकारी रहेंगे। वहीं, पुलिस की ओर से सुरक्षा व्यवस्था व जिला प्रशासन की ओर से कानून व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी निभाई जाएगी।
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में खाली रहे ग्राम पंचायत सदस्य पदों, दो बीडीसी और एक प्रधान पद के लिए 12 जून को उप चुनाव की प्रक्रिया के तहत वोटिंग हुई थी। इसमें 61.39 प्रतिशत मतदान हुआ था। बादबामिनी में प्रधान पद के लिए हुए मतदान के दौरान फर्जी वोटरों को लेकर हंगामा भी हुआ था। इसके अलावा धनीपुर के वार्ड 72 में बीडीसी और जवां के वार्ड 52 में बीडीसी प्रत्याशियों सहित जिलेभर के 431 ग्राम पंचायत सदस्यों के पदों के लिए मतदान हुआ था। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल कुमार ने बताया कि मतगणना शांतिपूर्ण और व्यवस्थित रुप से कराने के लिए संपूर्ण कार्रवाई पूरी कर ली गई है। सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू होगी, जैसे-जैसे विजेताओं के नामों का एलान होता जाएगा, उनको प्रमाणपत्र सौंप दिए जाएंगे। मतगणना स्थलों पर कोरोना के चलते प्रत्याशियों को सख्त हिदायत दी गई है कि वह विजयी जुलूस नहीं निकालेंगे। इसके साथ ही केंद्रों पर भीड़ भी नहीं जुटाएंगे।
... और पढ़ें

अलीगढ़ जहरीली शराब कांड : आगरा फोरेंसिक लैब में विसरा की जांच शुरू, 109 लोगों की गई थी जान

अलीगढ़ में जहरीली शराब से 109 लोगों की जान चली गई। विसरा जांच के लिए फोरेंसिक लैब में भेजे गए हैं। अब इन विसरा की जांच शुरू हो गई है। वैज्ञानिक यह पता लगाएंगे कि शराब में कौन सा केमिकल मिलाया गया। जहरीली शराब से अलीगढ़ में 109 लोगों की जान गई है। इस मामले में पुलिस ने सरगना सहित 65 की गिरफ्तारी की थी।

अब भी कार्रवाई जारी है। मृतकों के विसरा की जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजे गए हैं। वैज्ञानिकों की चार टीम जांच कर रही हैं। विसरा की रिपोर्ट जांच में अहम है। यह कोर्ट में साक्ष्य बनेगी। वैज्ञानिक यह पता लगाएंगे कि शराब में कौन सा केमिकल मिलाया गया था, जिससे मौत हो गईं।
 
एक्शन में अधिकारी, 23 सिपाही लाइन हाजिर,137 के तबादले

जहरीली शराब कांड के बाद जिला पुलिस सिस्टम में सुधार के लिए एसएसपी स्तर से लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। विगत 11 जून को जिले के अलग अलग थानों से ऐसे 23 सिपाही लाइन हाजिर किये गए हैं, जिनकी भूमिका को लेकर सवाल उठ रहे थे। साथ में एक साल से थानों पर जमे 137 सिपाही इधर उधर किये गए हैं।

एसएसपी कलानिधि नैथानी के अनुसार जिले के ऐसे सिपाहियों की समीक्षा की गई जो  एक ही थाने पर 1 वर्ष या इससे अधिक समय से जमे हुए हैं। इस क्रम में कुल 137 मुख्य आरक्षी/आरक्षियों को इधर से उधर किया गया है। बता दें कि इसी 3 जून को दो साल से अधिक समय वाले 366 सिपाहियों के तबादले किये गए थे। तबादला से पहले समीक्षा में उनके क्रियाकलाप, अपराध नियंत्रण आदि के काम को भी देखा गया था। 

इसके अलावा इसी समीक्षा में 23 सिपाही संदिग्ध क्रियाकलाप वाले चिन्हित किये गए। इन सभी को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इनके कार्यकलापों को लेकर सीओ स्तर से रिपोर्ट मांगी गई थी। इसी रिपोर्ट के आधार पर सभी को लाइन हाजिर किया गया है। इनको लेकर सीओ लाइन को इनके आचरण में सुधार लाने के लिए प्रशिक्षण के निर्देश दिए गए हैं।
 
इनके किये तबादले---
कोतवाली नगर  -10
सासनीगेट - 06
देहलीगेट- 08
गांधीपार्क- 10
बन्नादेवी- 08
सिविल लाइन- 05
क्वार्सी- 05
जवां- 01
गभाना- 06
लोधा- 07
अतरौली- 06 
पालीमुकीमपुर- 05
हरदुआगंज- 03
दादों- 02
इगलास- 14
मडराक- 10
गौण्डा- 06
खैर- 07
टप्पल- 12
पिसावा- 02
अकराबाद- 01
गंगीरी- 01
छर्रा- 01
विजयगढ़- 01

ये किये लाइन हाजिर---
थाना देहलीगेट – 05
थाना सासनीगेट – 02
थाना सिविल लाइन – 02
थाना क्वार्सी – 02
थाना अतरौली – 02
थाना अकराबाद – 02
थाना लोधा  - 02
थाना गांधीपार्क – 01
थाना दादों – 01
थाना खैर – 01
थाना मडराक – 01
थाना इगलास – 01
थाना गोण्डा - 01

जहरीली शराब कांड : ऋषि के फार्म हाउस और तालानगरी की घी फैक्टरी में भी बनती थी नकली शराब
... और पढ़ें

किशोरी से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

गोधा थाना क्षेत्र में रविवार को खेत पर चारा लेने गई 15 साल की किशोरी के साथ युवक ने दुष्कर्म को अंजाम दिया। किशोरी ने घर लौटकर परिजनों को आपबीती बताई। परिजनों ने थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
रविवार सुबह नौ बजे किशोरी पशुओं के लिए चारा लेने गई थी। उसके पीछे से युवक भी पहुंच गया। जंगल में बंबा के पास किशोरी को मौका पाकर दबोच लिया। उसके साथ दुष्कर्म किया, इसके बाद उसे धमकाते हुए भाग गया। किशोरी रोती बिलखती हुई घर पर पहुंची। परिजनों को आपबीती बताई। माता-पिता किशोरी को लेकर थाने पहुंचे। आरोपी युवक टिंकू पुत्र नंदकिशोर के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने किशोरी को डॉक्टरी परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इंस्पेक्टर राम सिया मौर्य ने बताया कि मौके पर फॉरेंसिक टीम को भी बुलवा लिया गया था। पीड़िता की मां ने टिंकू पुत्र नंदकिशोर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
... और पढ़ें

गड्ढा खोद रहे जेसीबी के सामने लेट गए वैश्य समाज के लोग

क्वार्सी थाना क्षेत्र के रावणटीला-सुरेंद्र नगर के पास खाली जमीन पर गड्ढा खोद रहे नगर निगम के जेसीबी मशीन के सामने वैश्य समाज के लोग लेट गए। इसको लेकर वहां तीन घंटे से अधिक समय तक हंगामा होता रहा। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिस फोर्स बुला ली गई। नगर निगम एवं स्थानीय विधायक के खिलाफ भी नारेबाजी हुई। विरोध-प्रदर्शन करने वाले अधिकतर लोग भाजपाई थे। आरोप है कि एक भाजपा विधायक के दबाव में नगर निगम ट्रस्ट की भूमि को कब्जाने की कोशिश कर रही है।
रावण टीला-सुरेंद्र नगर पानी की टंकी के पास खाली जमीन है। कुछ लोग उसे पोखर भी बताते हैं। यहां पर नगर निगम एवं माहौर वैश्य विद्या प्रचार ट्रस्ट की जमीन है। रविवार को नगर निगम की टीम पॉकलैंड मशीन, जेसीबी एवं ट्रैक्टर आदि के साथ पहुंची और खाली स्थान पर खुदाई एवं सफाई करने लगी। धीरे-धीरे वहां पर भीड़ जुटने लगी। माहौर वैश्य विद्या प्रचार ट्रस्ट के पदाधिकारी भी वहां पहुंच गए। उनके समर्थन में आसपास के लोग भी आ गए। ट्रस्ट का स्कूल भी पानी टंकी के पास है। ट्रस्ट के सचिव एवं भाजपा के मंडल अध्यक्ष जगदीश महाजन, महेंद्र कुमार गुप्ता, दिनेश गुप्ता, अजय गुप्ता आदि पहुंच गए और नगर निगम की कार्यवाही का विरोध करने लगे। ट्रस्ट के कई पदाधिकारी एवं सदस्य खुदाई कर रहे जेसीबी मशीन के सामने आकर बैठ गए। सूचना के बाद भारी संख्या में पुलिस एवं पीएसी के जवान पहुंच गए। सहायक नगर आयुक्त राजबहादुर सिंह एवं भाजपा नेताओं के बीच जमकर नोकझोंक हुई। देर शाम जाकर मामला शांत हुुआ। इस संबंध में सोमवार को नगर निगम के अधिकारियों ने ट्रस्ट के पदाधिकारियों को बातचीत के लिए बुलाया है।
क्या कहना है ट्रस्ट के लोगों का
ट्रस्ट के पदाधिकारियों का कहना है कि खाली भूमि -विवादित भूमि ग्राम कुकडीखेड़ा गाटा संख्या 11 एवं 13 स्कूल की संपत्ति है, जो राजस्व अभिलेखों में दर्ज है। इससे संबंधित कागजात एवं नक्शा विद्यालय के पास है। अभी यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है। नगर निगम के अधिकारी एवं कर्मचारी सफाई के बहाने जमीन पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं।
क्या कहना है नगर निगम को
सहायक नगर आयुक्त राजबहादुर सिंह का कहना है कि हमारी टीम साफ-सफाई के लिए गई थी। आठ फीट गहरा गड्ढा खोदने की बात सही नहीं है। आसपास के लोगों को जलभराव से दिक्कत होती है। इसलिए सफाई के लिए टीम गई थी। वहां की शिकायतें भी बहुत आती है। हमारा उद्देश्य किसी जमीन पर कब्जा करना नहीं है। हमारी और उनकी जमीन मिली हुई है। पैमाइश का मामला है। मिलबैठक हल निकाल लेंगे।
- राजबहादुर सिंह, सहायक नगर आयुक्त
किसी के बहकावे में आकर माहौश्र वैश्य विद्या प्रचार ट्रस्ट की भूमि को कब्जाने का प्रयास किया जा रहा है। पूरा प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन है। नगर निगम का कृत्य निंदनीय है।
- अजय गुप्ता, भाजपा नेता
सफाई के बहाने नगर निगम की टीम पोकलैंड एवं जेसीबी के माध्यम से 8 फीट गहरे गड्ढे खोद रही थी। गड्ढे से निकली मिट्टी को कही और भेजा जा रहा था। हमने कागजात दिखाकर मना किया तो पुलिस-फोर्स को बुला लिया गया। नगर निगम के अधिकारी एवं कर्मचारी बदतमीजी भी कर रहे थे। स्थानीय विधायक अनिल पाराशर को फोन लगाया तो रिसीव नहीं हुआ। समाज के एक हजार लोग पत्र लिखकर मुख्यमंत्री एवं प्रदेश अध्यक्ष से शिकायत करेंगे।
- जगदीश महाजन, सचिव, माहौर वैश्य विद्या प्रचार ट्रस्ट
नगर निगम के विरोध में सीना तान खड़े थे भाजपाई
विवाद के दौरान अजीबो-गरीब नजारा था। ट्रस्ट के अधिकतर लोग भाजपा से जुड़े थे और उनके समर्थन में आए अधिकतर लोग भी भाजपाई थे। विरोध भी नगर निगम के साथ भाजपा विधायक अनिल पाराशर का हो रहा था। भाजपा के बड़े नेता एवं जन प्रतिनिधि तो इज्जत बचाकर मौके पर नहीं पहुंचे। जो पहुंचे थे उसमें मानव महाजन, संजय शर्मा, नितिन सुपारी, सौरभ माहेश्वरी, दिनेश गुप्ता, नारायण हरि गुप्ता आदि प्रमुख थे।
यह मामला नगर निगम एवं ट्रस्ट का है। इसमें मेरा कोई लेना-देना नहीं है। जनता की मांग पर जलभराव को देखते हुए नगर निगम की टीम वहां गई थी। जिस समय ट्रस्ट के सचिव एवं भाजपा के मंडल अध्यक्ष का फोन आया था, उस समय गमी में बैठा था। वह वक्त फोन उठाकर बात करने का नहीं था।
- अनिल पाराशर, विधायक, कोल विधानसभा
... और पढ़ें

शराब कांडः सात दिन पहले ही पकड़ी गई थी गौतम की नकली घी बनाने की फैक्टरी

जहरीली शराब कांड के मुख्य आरोपी ऋषि और केमिकल कारोबारी विजेंद्र कपूर के मध्यस्थ के तौर पर सामने आए गौतम की तालानगरी स्थित नकली घी बनाने की फैक्टरी पर खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग की टीम ने बीते सोमवार की रात को ही कार्रवाई की थी। इस कार्रवाई के पीछे विभाग ने मुखबिरी को आधार बताया है। एफडीए की टीम को तालानगरी की फैक्टरी में छह से सात किलो नकली घी मिला था। इसके अलावा पॉम ऑयल के 20 खाली टिन, छोटे खाली डिब्बे मिले थे। यह फैक्टरी गौतम के बेटे लकी के नाम पर संचालित है। यहां से विभाग ने घी का नमूना भी भरा था, जिसे लखनऊ की प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजा है।
जिला अभिहित अधिकारी ने बताया कि फैक्टरी से खाली पॉम ऑयल के टिन मिलने से ही साफ हो गया था कि यहां नकली घी बनाने का अवैध धंधा किया जा रहा था। हालांकि किसी प्रकार से उसे कार्रवाई की भनक लग गई, जिसके चलते उसने नकली घी की बड़ी खेप को या तो कहीं छिपा दिया है या फिर नष्ट कर दिया है। सोमवार रात को हुई कार्रवाई के दौरान हरदुआगंज थाने की पुलिस भी साथ थी। विभाग की ओर से आगे की कार्रवाई घी की जांच रिपोर्ट आने के बाद होगी। अगर, घी मिलावटी पाया गया तो आरोपी के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
... और पढ़ें

अब नहीं बिक सकेगा सम्मिश्रित सरसों का तेल

अब सरसों के तेल में किसी दूसरे खाद्य तेल की मिलावट नहीं होगी। बाजार में सिर्फ शुद्ध सरसों का तेल बिकेगा। विभिन्न स्रोत वाले तेलों से तैयार किए जाने वाले खाद्य वनस्पति तेल (एमएसईवीओ) के उत्पादन व पैकिंग में सरसों तेल को मिलाने पर रोक भारत सरकार की ओर से लगाए जाने के बाद जिले में स्थापित तीनों यूनिटों को नोटिस जारी हो गया है।
जिला अभिहित अधिकारी सर्वेश कुमार मिश्रा ने बताया कि एमएसईवीओ के उत्पादन में सरसों तेल को मिलाने के बारे में पैकर्स को जो अनुमति अथवा मंजूरी दी गई थी उसे वापस ले लिया गया है। इसके अनुसार अब सरसों तेल को दूसरे स्रोत के खाद्य तेलों के साथ सम्मिश्रित नहीं किया जा सकेगा।
उन्होंने बताया कि अलीगढ़ में केंद्र सरकार की ओर से तीन लाइसेंस जारी हैं, जिनमें पहली यूनिट श्री वनस्पति प्रोडक्ट्स इंडिया लिमिटेड, दूसरी यूनिट मलूकचंद फूड प्राइवेट लिमिटेड है। यह दोनों मडराक में हैं। इसके अलावा तीसरी यूनिट मलूकचंद कॉटन एंड ऑयल मिल पत्थर बाजार में है। इन तीनों को आदेश जारी हो गया है कि अब सरसों के तेल में किसी अन्य खाद्य तेल की मिलावट नहीं की जाएगी। शुद्ध सरसों का तेल ही बाजार में बेचा जा सकेगा।
... और पढ़ें

शासन की आपत्ति से खटाई में बारहद्वारी शॉपिंग कांप्लेक्स परियोजना

स्मार्ट सिटी के अंतर्गत करीब 48 करोड़ रुपये की लागत से प्रस्तावित बारहद्वारी शापिंग कांप्लेक्स पर रोक लगाने से महत्वाकांक्षी परियोजना खटाई में पड़ने की आशंका है। बारहद्वारी स्थित नगर निगम की जमीन पर स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत शॉपिंग कांप्लेक्स कम पार्किंग प्रस्तावित है। शासन को प्रस्तावित परियोजना में दुकानों पर आपत्ति है। शासन पार्किंग बनाने के पक्ष में तो है, लेकिन करोड़ों रुपये खर्च कर दुकानें बनाने पर एतराज है। परियोजना के अंतर्गत मल्टीस्टोरी बिल्डिंग में तीन फ्लोर पर पार्किंग और दो फ्लोर पर दुकानें प्रस्तावित है। उत्तरप्रदेश राजकीय निर्माण निगम निर्माण एजेंसी है।
सिर्फ पार्किंग से समझौते का उल्लंघन
बारहद्वारी शॉपिंग कांप्लेक्स बनाने के लिए नगर निगम एवं स्मार्ट सिटी लि. में एमओयू साइन हुआ है। नगर निगम एवं स्मार्ट सिटी लि. के बोर्ड द्वारा उसका अनुमोदन किया गया है। समझौते के अनुसार नगर निगम की जमीन पर मल्टी स्टोरी बिल्डिंग एवं पार्किंग बनने हैं। अब समझौता तोड़ कर सिर्फ पार्किंग स्थल नहीं बनाया जा सकता है।
परियोजना को बचाने के लिए अधिकारी लगा रहे एड़ी-चोटी का जोड़
परियोजना को बचाने के लिए स्मार्ट सिटी, नगर निगम एवं उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के अधिकारी एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए हैं। यूपी राजकीय निर्माण निगम द्वारा लखनऊ में शासन के समक्ष प्रजेंटेशन भी दिया जा चुका है। इसका असर शासन पर हुआ भी है। शासन द्वारा नए सिरे से प्रोजेक्ट मांगा गया है। स्मार्ट सिटी एवं निर्माण एजेंसी के अधिकारी प्रोजेक्ट बनाने में जुटे हैं।
जनवरी 2020 में हुआ था भूमि पूजन
जनवरी 2020 में तत्कालीन नगर आयुक्त सत्य प्रकाश पटेल के समय में बारहद्वारी शॉपिंग कांप्लेक्स का भूमि पूजन हुआ था। भूमि पूजन के दौरान वहां लगाए गए बैनर पर महापौर मो. फुरकान का फोटो एवं नाम गायब होने पर स्मार्ट सिटी की किरकिरी भी हुई थी। बैनर पर विधायक संजीव राजा का फोटो एवं नाम जरूर अंकित था। महापौर ने इशारे-इशारे में विरोध भी दर्ज कर दिया था। बाद में नगर आयुक्त बनकर आए प्रेमरंजन सिंह ने भी शॉपिंग कांप्लेक्स का भूमि पूजन किया था। वर्तमान मंडलायुक्त गौरव दयाल भी प्रोजेक्ट को लेकर बेहद गंभीर है।
बारहद्वारी शॉपिंग कांप्लेक्स पर शासन ने रोक लगा दी है। शासन को दुकानें बनाने पर आपत्ति है। पार्किंग बनाने पर किसी तरह का एतराज नहीं है। शासन के समक्ष परियोजना से संबंधित पक्ष रख दिया गया है। नए सिरे से प्रस्ताव बनाकर विचार के लिए मांगा गया है। शॉपिंग कांप्लेक्स की उम्मीद अभी खत्म नहीं हुई है।
- प्रेमरंजन सिंह, नगर आयुक्त
प्रोजेक्ट पर रोक से व्यवसायी दुखी.....
बारहद्वारी में शॉपिंग कांप्लेक्स बनने से शहर में चार-चांद लग जाता। इस पर रोक लगने की बात सुनकर मन दुखी है।
- राजीव ख्यालीराम, व्यापारी
शॉपिंग कांप्लेक्स पर रोक की खबर से मन व्यथित है। ऐसा नहीं होना चाहिए था। शहरवासी उम्मीद के साथ इस प्रोजेक्ट को देख रहे थे।
- जयगोपाल वीआईपी, व्यापारी
शॉपिंग कांप्लेक्स बनने से बारहद्वारी एवं आसपास के क्षेत्रों को जाम की समस्या से निजात मिलती। इस पर रोक दुखद है।
- दीपक वार्ष्णेय, युवा व्यापारी
शॉपिंग कांप्लेक्स के निर्माण पर रोक से शहरवासियों के उम्मीदों को झटका लगा है। परियोजना पूरा होने पर कई तरह की समस्याओं से मुक्ति मिलती।
- अवनीश चंद्र वार्ष्णेय, व्यापारी
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us