विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अनोखा विरोध: कलक्ट्रेट के बाहर 25 रुपये प्रति किलो बेचा प्याज, खरीदारों की उमड़ी भीड़

वरिष्ठ कांग्रेसजन संघर्ष समिति के लोगों ने कलक्ट्रेट के गेट पर महंगाई के विरोध प्याज की सेल लगाई।

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

अलीगढ़

मंगलवार, 10 दिसंबर 2019

महिला प्रोफेसर का पर्स चुराते दो महिलाएं दबोची

सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के बाजार अमीर निशां में शनिवार को बेटी संग खरीदारी करने आईं भोपाल की महिला प्रोफेसर का पर्स पार करते हुए दो शातिर महिलाओं को दबोच लिया गया। इस दौरान गुस्साए लोगों ने दोनों महिलाओं की पिटाई करने साथ उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने पीड़ित पक्ष की तहरीर के आधार पर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर रविवार को जेल भेज दिया।
भोपाल निवासी महिला प्रोफेसर नफीस बानो की बेटी समरा यहां एएमयू से बीएससी कर रही हैं। दो दिन पहले मां अपनी बेटी से मिलने अलीगढ़ आई थीं। शनिवार दोपहर वह बेटी के साथ अमीर निशा में खरीदारी करने गई थीं। जैसे ही वह कपड़े की दुकान पर पहुंचीं, तभी पास में खड़ी एक महिला ने उनके पर्स में हाथ डाल दिया और चार हजार रुपये पार कर दिए। शक होते ही नफीस बानो ने शोर मचा दिया। शोरशराबा सुनकर भीड़ ने दोनों महिलाओं को पकड़ लिया। तलाशी ली तो रुपये मिल गए। लोगों ने दोनों महिलाओं की पिटाई कर दी। पूछताछ में दोनों महिलाओं ने अपने नाम अलबीना पत्नी मो.गुलफाम और हुमा पुत्री मो.आलम निवासी मीना नगर मुरादाबाद बताए। रविवार को पुलिस ने दोनों को रिमांड मजिस्ट्रेट के समक्ष पेशी के बाद जेल भेज दिया।
शिक्षिका से तस्वीर महल के पास लूट, तहरीर दी
महानगर के सिविल लाइंस के ही तस्वीर महल के पास शनिवार शाम एक शिक्षिका से बाइक सवारों ने पर्स लूट लिया। घटना के संबंध में थाने में तहरीर दे दी गई है। घटनाक्रम के अनुसार सौकत मंजिल निवासी सपा नेता शाकिर अंसारी की पत्नी हजरा नाहिद पनैठी के बेसिक स्कूल में शिक्षिका हैं। शनिवार शाम वह किसी काम से स्कूटी पर सवार होकर बाजार गई थीं। वहां से लौटते समय तस्वीर महल के पास बाइक सवारों ने झपट्टा मारकर उनका पर्स लूट लिया। इस पर्स में सोने की अंगूठी, चांदी की अंगूठी के अलावा 15 हजार रुपये नकदी, कुछ जरूरी कागजात रखे हुए थे। पुलिस ने तहरीर के आधार पर कार्रवाई शुरू कर दी है।
मोबाइल लूटकर भाग रहे लुटेरे को दबोचा
सासनीगेट क्षेत्र के महेन्द्र नगर निवासी एक युवक शुक्रवार शाम घर के बाहर फोन पर बातचीत करते हुए घूम रहा था। तभी पीछे से आए बाइक सवार युवक ने मोबाइल पर झपट्टा मार दिया। लुटेरा मोबाइल लेकर भागने लगा। मगर भीड़ ने पीछा कर आरोपी को दबोच लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। पूछताछ में युवक ने अपना नाम आकाश पुत्र धर्मवीर निवासी गंभीरपुरा सासनीगेट बताया। रविवार को पुलिस ने उसे रिमांड मजिस्ट्रेट के समक्ष पेशी के बाद जेल भेज दिया।
... और पढ़ें

अपराजिताः महिलाओं को समझाया, कैसे करें खुद की सुरक्षा

अपराजिता 100 मिलियन स्माइल्स अभियान के तहत रविवार को आईटीआई रोड स्थित समर्थ अपार्टमेंट में महिलाओं के लिए आत्मरक्षा शिविर का आयोजन किया गया। यहां महिलाओं को विपरीत परिस्थिति के दौरान सजग रहने और खुद की सुरक्षा करना सिखाया गया।
ताइक्वांडो ट्रेनर मो. अहमद और अफीदा ने महिलाओं को बताया कि आत्मविश्वास और दिमाग के सही संतुलन के जरिए विपरीत परिस्थितियों से वह कैसे अपने आप को सुरक्षित कर सकती हैं। इतना ही नहीं आरोपी को एक झटके में तकनीक व शारीरिक ज्ञान से धूल भी चटा सकती हैं। अगर कोई पकड़ने आए तो बच्चे किस प्रकार खुद को सुरक्षित करते हुए आरोपी को पिटवा सकते हैं। यह तकनीक बच्चों को भी सिखायी। इस मौके पर राजेश उपाध्याय, शकुंतला शर्मा, अंजू महेश्वरी, पवन वार्ष्णेय, दीपेश वार्ष्णेय आदि मौजूद रहे।
अपार्टमेंट में ये सुविधाएं हैं मौजूद
रीयल स्टेट के चेयरमैन शेखर सराफ के प्रोजेक्टों में से एक समर्थ अपार्टमेंट में तीन ब्लॉक के अंतर्गत 72 फ्लैट बने हुए हैं। यहां स्वीमिंग पूल, फाउंटेन, फव्वारा, सिक्योरिटी गार्ड, सीसीटीवी कैमरे, 24 घंटे पावर बैकअप की सुविधा मौजूद है। अपार्टमेंट में डॉक्टर, व्यवसायी, अधिकारी वर्ग के परिवार रहते हैं। तीन पार्क, पार्किंग व्यवस्था, तीन लिफ्ट, अच्छा इंफ्राक्ट्रचर, फायर सिस्टम भी है।
ये बोलीं महिलाएं
- कार्यक्रम काफी अच्छा था, बच्चों को इससे जरूर जागरूक करना चाहिए। - संध्या सिंह।
- आत्मरक्षा के गुर सीखना युवतियों तथा महिलाओं को जरूर सीखना चाहिए। - रूबी अग्रवाल।
- कार्यक्रम से काफी कुछ समझने को मिला है। अब सतर्क कैसे रहना है यह सीख लिया। - कविता अग्रवाल।
- प्रत्येक बच्चे तथा महिलाओं को अपराजिता से जुड़ना चाहिए। इससे नुकसान नहीं, फायदा बहुत है। - निशी वार्ष्णेय।
- अपराजिता कार्यक्रम एक अनूठी पहल है। इससे अधिक से अधिक महिलाएं जुड़ें, इसके लिए मैं भी प्रयासरत हूं। - शेखर सराफ।
... और पढ़ें

विहिप नेता ने दिया विवादित बयान, बोले- राम मंदिर के रास्ते में कोई आया तो ढांचे की तरह उड़ जाएगा

विश्व हिंदू परिषद के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के क्षेत्रीय संगठन मंत्री मनोज वर्मा ने रविवार को अलीगढ़ में कहा कि राम मंदिर निर्माण के रास्ते में कोई आएगा तो वैसे ही उड़ जाएगा, जिस तरह ढांचा उड़ा था। क्षेत्रीय संगठन मंत्री मनोज वर्मा रविवार को केपी इंटर कॉलेज के बजरंग हॉल में बजरंग दल महानगर द्वारा आयोजित कार सेवक गौर सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे।

इस मौके पर कार सेवा के दौरान पुलिस की गोली से मारे गए भगवान सिंह के परिजनों सहित 146 कार्यकर्ताओं और उनके परिजनों को सम्मानित किया गया। मनोज वर्मा ने कहा कि अयोध्या में खड़ा ढांचा चिढ़ाता था कि तुम पराजित हिंदू हो। 1992 के बाद से किसी ने ढांचा नहीं देखा।

उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का नाम लिए बिना इशारे-इशारे में कहा कि मुख्यमंत्री ने चेतावनी दी थी कि परिंदा भी पर नहीं मार सकता। कार सेवकों ने उनका घमंड चकनाचूर कर दिया। मनोज वर्मा ने कहा कि भारत हिंदू राष्ट्र है। यह सपना पूरा होगा, यह निश्चित है।

संघ (आरएसएस) वाले संघ के आधार पर अपने सपने को साकार करने की ताकत रखते हैं। विश्व में शांति हिंदू संस्कृति के आधार पर मिलेगी। 

अयोध्या में सम्मानित होना चाहते है स्व. भगवान सिंह के परिजन
कार सेवा के दौरान 2 नवंबर, 1990 को जनपद के भगवान सिंह की पुलिस की गोली लगने से मृत्यु हुई थी। सम्मान समारोह में भगवान सिंह के परिजन शामिल हुए थे। विहिप नेताओं ने स्व. भगवान सिंह को शहीद के रूप में पेश किया। परिजनों ने इच्छा व्यक्त की कि मंदिर बनने के बाद अयोध्या में भगवान सिंह को याद किया जाए।
... और पढ़ें

सांड़ ने सींगों से उठाकर महिला को पटका, मौत

सांड़ ने सोमवार को एक बैलगाड़ी को पलट दिया। इससे एक महिला बैलगाड़ी के नीचे दब गई। इसी दौरान सांड़ ने दूसरी महिला पर हमला बोल दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। घायल महिला को परिवार वालों ने निजी अस्पताल में इलाज कराया जहां से देर शाम छुट्टी दे दी गई।
जानकारी के अनुसार, सोमवार को नगला माधौ निवासी रिषिपाल सिंह अपनी भाभी रामवती देवी (52) पत्नी राजेंद्र सिंह और पड़ोसी रजनी देवी पत्नी तेजेंद्र सिंह को बैलगाड़ी में साथ लेकर गहलऊ स्थित सरकारी कोटे की दुकान पर राशन लेने गए थे। राशन न मिलने पर तीनों अपने गांव लौट रहे थे। नगला माधौ गांव के किनारे ही एक छुट्टा सांड़ ने उनकी बैलगाड़ी पर हमला बोल दिया। सांड़ ने बैलगाड़ी को पलटा दिया, जिससे रजनी देवी नीचे दब र्गइं और रिषिपाल उछलकर दूर जा गिरे।
उधर, जमीन पर गिरीं रामवती को सांड़ ने सींगों से उठाकर जमीन पर पटका, जिससे उनकी रीढ़ की हड्डी टूट गई और मौके पर ही उनकी मौत हो गई। इसके बाद भी सांड़ उन पर लगातार हमलावर रहा। उधर, सांड़ के हमला करते ही रिषिपाल और रजनी ने शोर मचाया जिस पर गांव किनारे के निवासी लाठी-डंडे लेकर दौड़े। इस पर सांड़ भाग गया। घायल रजनी को इगलास के निजी अस्पताल ले गए थे। उधर सूचना पर देर शाम पुलिस गांव पहुंच गई।
... और पढ़ें
रामवती देवी का फाइल फोटो रामवती देवी का फाइल फोटो

डिग्गी रोड पर हुक्काबार में छापा, 33 हिसारत में

थाना सिविल लाइन क्षेत्र में डिग्गी मार्ग पर एक रेस्टोरेंट में पुलिस ने छापा मारकर हुक्का बार संचालित होता पकड़ लिया। इस दौरान रेस्टोरेंट मालिक और स्टाफ सहित 33 लोगों को हिरासत में लिया गया, जिसमें से 31 छात्र हैं, जो अलग-अलग शिक्षण संस्थानों में पढ़ते हैं। साथ ही फ्लेवर्ड तंबाकू, हुक्के, शराब की बोतलें भी बरामद की हैं। हिरासत में लिए गए लोगों में कुछ एएमयू छात्र भी हैं जिनका कहना है कि वह वहां पर खाना लेने आए थे।
थाना सिविल लाइन के इंस्पेक्टर अमित कुमार ने बताया कि डिग्गी रोड पर अब्दुल्ला कॉलेज के पास अल फलक कैफे और रेस्टोरेंट है, जिसका मालिक तल्हा शिवानी है। इसमें हुक्का बार संचालित होने की जानकारी मिली थी। इस पर सोमवार की रात वह अपने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। यहां पर पाया गया कि हल्की रोशनी में तमाम लोग हुक्का का सेवन कर रहे हैं। इस रेस्टोरेंट में खाना और स्नैक्स भी मिलता है लेकिन यहां पर हुक्का बार भी चलता पाया गया। पुलिस को देखकर कुछ लोग भागने लगे लेकिन उन्हें दबोच लिया गया। यहां से पुलिस को शराब की बोतलें, फ्लेवर्ड तंबाकू व 6 हुक्के बरामद हुए। बरामद माल की सैंपलिंग कर जांच को भेजा जाएगा। सभी 33 लोगों को हिरासत में लेकर थाने लाया गया। इन सभी का चालान काटा गया है। जबकि मालिक और स्टाफ के लोगों के खिलाफ अलग से मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।
‘एक वर्ष पहले भी यही हुक्का बार संचालक सेंटर प्वाइंट पर हुक्का बार चलाते हुए ही पकड़ा गया था। यह पेशेवर नशाखोरी का सरगना है। इसके खिलाफ गैर कानूनी कामों और अवैध रूप से नशे का धंधा करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। इसी के आधार पर कार्रवाई होगी’
- अमित कुमार, इंस्पेक्टर, थाना सिविल लाइन
कोर्ड वर्ड में हुक्के को शीशा कहते थे
पुलिस को पूछताछ में हिरासत में लिए एक युवक ने बताया कि लोग व्हाटस एप या अन्य माध्यम से दोस्तों को हुक्का बार में इकट्ठा होने का मैसेज दे देते हैं। अक्सर इसके लिए कोर्ड वर्ड का इस्तेमाल भी करते हैं। यह लोग सोशल मीडिया या व्हाट्सएप पर हुक्के का फोटो खींचकर मैसेज भी कर दिया करते थे। कोड वर्ड में हुक्के को शीशा भी कहते हैं। यहां पर प्रीमियर शीशे के लिए 500 रुपये और कंबाइंड शीशे के लिए 600 रुपये खर्च करने पड़ते हैं। फ्लेवर के लिए टिकिया डाली जाती है। ढाई सौ से दो हजार तक के खर्च में अलग अलग तरह के हुक्के यहां पर थे।
यह हैं हुक्के के नुकसान (जैसा जिला अस्पताल के फिजीशियन डॉ. यशपाल रावल ने बताया)
- हुक्के के तंबाकू में पाया जाने वाला एक हानिकारक पदार्थ निकोटीन हाथ पैरों की खून की नलियों में कमजोरी और सिकुड़न पैदा करता है।
- इसका पानी धुएं को फिल्टर नहीं करता बल्कि इसके धुएं में 4 हजार तरह के जहरीले रसायन होते हैं।
- सिगरेट की तरह इसमें भी निकोटिन होता है, जिससे इसकी लत लग जाती है।
- हर्बल शीशा या हुक्का व्यक्ति के अंदर कैंसर पैदा करने वाले तत्वों को भर देता है।
- जितनी बार भी हुक्के को शेयर किया जाता है उतनी ही बार संक्रमण, हार्पीस और अन्य बीमारियां फैलने का खतरा बढ़ जाता है
इस तरह तैयार करते हैं फ्लेवर
ठंडा अहसास कराने के लिए तंबाकू में मिंट मिलाया जाता है।
मीठे कसैले स्वाद के लिए तंबाकू में फलों का फ्लेवर मिक्स।
ठंडे और गर्म असर के लिए दो फ्लेवरों का मिक्स होता है।
रोमांटिक मूड के लिए आडू या संतरे के फ्लेवर वाला तंबाकू।
... और पढ़ें

खैर में नाबालिग छात्रा से छेड़खानी, विरोध पर परिवारीजनों को पीटा

उन्नाव, प्रतापगढ़ और हैदराबाद में रेप की घटनाओं के बाद उमड़े जन आक्रोश पर भी जनपद की पुलिस सबक नहीं ले रही है। सोमवार को खैर थाना क्षेत्र में स्कूल से लौट रही एक नाबालिग छात्रा के साथ उसी के गांव के युवकों ने छेड़खानी कर दी। छात्रा ने परिवार से शिकायत की तो परिवार वाले आरोपियों के घर शिकायत करने गए। वहां उनके साथ मारपीट कर फायरिंग कर दी गई। मामले की जानकारी थाना पुलिस को दी गई। मगर, पुलिस चार घंटे तक पीड़ितों को घुमाती रही। इसी बीच आरोपी पक्ष ने देर रात को फिर से पीड़ित पक्ष के साथ मारपीट कर दी। इससे गांव वाले आक्रोशित होकर थाने पर पहुंचकर हंगामा काटने लगे। सीओ-इंस्पेक्टर ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आश्वासन देकर हंगामे को शांत कराया।
पीड़ित परिवार के मुताबिक उनकी 14 साल की बेटी गांव के ही एक स्कूल से 10वीं की पढ़ाई कर रही है। वाकया सोमवार दोपहर का है। बेटी साइकिल लेकर स्कूल से घर आ रही थी। तभी गांव के चार युवकों ने उसे रास्ते में रोक लिया। छेड़खानी करने के साथ ही मोबाइल नंबर मांगते हुए दोस्ती का दबाव बनाने लगे। बेटी ने विरोध किया तो उसे खींचकर ले जाने की कोशिश की। जैसे-तैसे बेटी आरोपियों के चुंगल से छूटकर भागी और घर पहुंचते ही चाचा-चाची को पूरी घटना बताई। चाचा-चाची भतीजी की शिकायत पर आरोपियों के घर पहुंचे, जहां शिकायत करने पर उनके साथ मारपीट की गई। मामले की शिकायत पुलिस कंट्रोल रूम से की गई। पुलिस गांव पहुंची और एक आरोपी को थाने ले गई।
इधर, परिवार वालों ने थाना पुलिस को आरोपियों को नामजद करते हुए तहरीर दी। मगर, पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने से इंकार करते हुए आरोपी को छोड़ दिया। करीब पांच घंटे तक टहलाती रही। रात करीब नौ बजे परिवार के लोग घर पर थे कि तभी आरोपी आए और परिवारीजनों के साथ लाठी-डंडों के मारपीट करते हुए कई राउंड फायरिंग कर दी। चीख पुकार पर गांव वालों ने जान बचाई। इसके विरोध में गांव वालों ने थाने पहुंचकर हंगामा काटना शुरू कर दिया। सूचना पर पहुंचे सीओ खैर संजीव दीक्षित ने मामला संभाला और पूरा वाकया जानने के बाद हंगामे को शांत कराते हुए आरोपियों के खिलाफ तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज करने का आश्वासन दिया। सीओ के मुताबिक आरोपियों के खिलाफ मिली तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। थाना पुलिस को लापरवाही को लेकर फटकार भी लगाई है। फिलहाल गांव में शांति कायम है।
... और पढ़ें

फुटबॉल के फाइनल मुकाबले में एएमयू की रोमांचक जीत


अलबरकात पब्लिक स्कूल में हुई जहीर अख्तर रिजवी (गामा भाई) मेमोरियल इंटर स्कूल फुटबॉल प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में पैनल्टी शूट आउट में अलबरकात पब्लिक स्कूल को 5-4 से हराकर सैयद हामिद सीनियर सेकेंडरी एएमयू की टीम विजेता रही।
दोनों टीमों की बीच काफी रोमांचित मुकाबला हुआ। अंतिम गोल से हारने पर अलबरकात के विद्यार्थी मायूस हो गए। मुख्य अतिथि ने दोनों टीमों के खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन कर ट्राफी बांटी। इससे पहले पूरे मैच में दर्शकों का उत्साह सर चढ़कर बोला। छात्र-छात्राओं ने अपनी टीम के उत्साह बढ़ाने के लिए नारे लगाकर हूटिंग भी की।
समापन के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा कि दोनों ही टीमों का प्रदर्शन अच्छा रहा है। हार जीत से ज्यादा महत्वपूर्ण प्रतियोगिता में भाग लेना होता है। विशिष्ट अतिथि के रूप में पहुंची स्वास्तिराव कुलहरि ने कहा कि आज के इस दौर में शिक्षा के साथ-साथ खेलों का भी बहुत महत्व है। जिससे बच्चों का सर्वांगीण विकास होता है। पूर्व अंतरराष्ट्रीय फुटबाल खिलाड़ी एवं कोच शाहिद हकीम साहब ने कहा कि खेलों से प्रत्येक खिलाड़ी के मन में खेल भावना का विकास होता है। एक अच्छा खिलाड़ी एक अच्छा अनुशासक बनता है। एएमयू के डिप्टी डायरेक्टर ऑफ एजूकेशन मानद अतिथि प्रोफेसर शाह फजल ने कहा कि अलबरकात भी सर सैयद अहमद खां के मिशन को लेकर आगे बढ़ रहा है। दोनों ही टीमें अच्छे प्रदर्शन के चलते बधाई की पात्र हैं। विद्यालय प्रशासन तथा मुख्य अतिथियों ने दोनों टीमों के खिलाड़ियों को प्रशस्ति पत्र शील्ड बांटी।
ये रहे मौजूद
डॉ. अहमद मुजतबा सिद्दीकी, प्रधानाचार्या सबीहा खान, वसीम अहमद, सफीउर्रहमान, शाह मुहम्मद राशिद, असलम खान सूरी, उप प्रधानाचार्या ताहिरा हुसैन, प्रधानाध्यापिका तबस्सुम सकलैन, डॉ. समीना फाजली, ताब अनवर आदि मौजूद रहे।
अल बरकात पब्लिक स्कूल में आयोजित प्रोफेसर अखतर रिज़वी मेमोरियल इंटर स्कूल फुटबॉल टूर्नामेंट मे?
अल बरकात पब्लिक स्कूल में आयोजित प्रोफेसर अखतर रिज़वी मेमोरियल इंटर स्कूल फुटबॉल टूर्नामेंट मे?- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

मिनी ट्रक पलटा, दो की मौत, 32 घायल

अल बरकात पब्लिक स्कूल में आयोजित प्रोफेसर अखतर रिज़वी मेमोरियल इंटर स्कूल फुटबॉल टूर्नामेंट मे?
गोंडा थाना क्षेत्र के गांव बिरखु नगरिया के पास सोमवार की देर रात 35 लोगों से भरा मिनी ट्रक अनियंत्रित होकर 10 फीट गड्ढे में जा गिरा। हादसे में दो लोगों की मौत हो गई जबकि 32 लोग घायल हो गए। सभी लोग एक ही परिवार के हैं। सभी मथुरा में अपने भांजे के यहां लोगों को भात पहनाकर लौट रहे थे। घायलों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है।
हादसे के बाद घटनास्थल पर चीख पुकार मच गई। मौके पर पहुंचे लोगों ने घायलों को गाड़ी से निकाला और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने घायलों को गोंडा के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया। वहीं अन्य को मलखान सिंह जिला अस्पताल और जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हादसे की सूचना पर मथुरा और खैर से भी लोग अस्पतालों में पहुंच गए।
खैर थाना क्षेत्र के गांव सेवा नगला निवासी नेत्रपाल के भांजे अमित और सुमित निवासी भरतपुर रोड थाना हाईवे मथुरा की सोमवार को लग्न एवं टीका था। नेत्रपाल के परिवार के लोग टाटा 407 गाड़ी से भात पहनाने के लिए वहां गए थे। देर रात को समारोह से लौटते समय मिनी ट्रक चालक ने शराब पी रखी थी। घायलों ने बताया कि वह गाड़ी काफी तेज रफ्तार से चला रहा था। गाड़ी जैसे ही रात साढ़े नौ बजे के लगभग गोंडा के बिरखु नगला गांव के पास पहुंची तो अनियंत्रित होकर मील के पत्थर से टकरा गई।
टक्कर के बाद गाड़ी गहरे गड्ढे में जा गिरी। गाड़ी पलटते ही चालक कूदकर फरार हो गया। गाड़ी में सवार सभी लोग दब गए। लोगों ने चीख पुकार सुनकर सभी को गाड़ी से बाहर निकाला और पुलिस को सूचना दी। पुलिस के पहुंचने से पहले ही लोकेश (25) पुत्र स्व. बनवारी लाल निवासी सेवा नगला खैर और उनके रिश्ते के भतीजे राकेश (24) पुत्र मोहनलाल की मौत हो गई। गोंडा थाना इंस्पेक्टर अजब सिंह ने बताया कि शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
... और पढ़ें

एएमयू में छात्रों ने नागरिकता संशोधन बिल की प्रतियां फूंकी, हिंदुत्व विरोधी नारे लगाए

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में सोमवार रात एएमयू छात्रों ने विश्वविद्यालय कैंटीन पर सभा कर बिल की सांकेतिक प्रतियों को फूंक दिया। छात्र नेताओं ने इसे बंटवारा करने वाला और असंवैधानिक बिल बताते हुए इसकी निंदा की।
सोमवार रात एएमयू छात्र लाइब्रेरी के पीछे कैंटीन पर इकट्ठा हुए। छात्रों ने यहां पर एक सभा की। साथ ही केंद्र सरकार विरोधी नारे लगाए। छात्र नेता फैजुल हसन ने कहा कि जो नागरिकता संशोधन बिल अमित शाह ने संसद में प्रस्तुत किया है, वह वैसा ही है जैसे सन 1947 में देश का बंटवारा हुआ था। भाजपा चाहती है कि फिर से हिंदू और मुसलमानों का बंटवारा हो जाए। यह देश का दुर्भाग्य है कि गृहमंत्री अमित शाह मुसलमानों का नाम नहीं लेकर सीधे सीधे अन्य सभी का नाम ले रहे हैं। इससे साफ है कि गृहमंत्री मुसलमानों के खिलाफ हैं। इसलिए इस बिल को अस्वीकार करते हैं।
एएयमू में छात्रों ने इस बिल की सांकेतिक प्रतियों को जलाया। नारे लगाए गए कि यह देश विरोधी है। संविधान विरोधी है। छात्रों ने कहा कि जिन लोगों ने अखंड भारत का, संवैधानिक समानता का सपना देखा था, बाबा साहेब ने जिस भारत की बुनियाद रखी थी, यह उसके खिलाफ है। राज्यसभा में जो भी विपक्षी पार्टियां हैं, उनसे अपील है कि इसे राज्यसभा में पास नहीं होने दिया जाए। इस बिल के मध्यम से मुसलमानों को दोयम दर्जे का नागरिक बनाने का षड्यंत्र किया जा रहा है। इसके बाद बिल के विरोध में नारेबाजी करते हुए बिल की सांकेतिक प्रतियां जला दीं। इस अवसर पर सैकड़ों छात्र मौजूद थे।
इस तरह लगाए गए नारे
बिल की सांकेतिक प्रतियां फूंकने के दौरान अमित शाह और मोदी शर्म करो...शर्म करो। डूब मरो...डूब मरो। हिंदुत्व मुर्दाबाद...एनआरसी मुर्दाबाद...नागरिकता संशोधन बिल वापस लो...वापस लो। फासीवाद सरकार मुर्दाबाद...तानाशाही नहीं चलेगी, नहीं चलेगी। कम्युनलिज्म डाउन...डाउन। छात्र एकता जिंदाबाद जैसे नारे छात्रों ने लगाए।
एएमयू में बिल की प्रतियां जलाई गईं और नारेबाजी हुई। इसके बाद कुछ छात्र अलग से इकट्ठा हुए और अपना रोष जाहिर किया। लेकिन हिंदुत्व विरोधी नारेबाजी की बात सही नहीं है।
- डॉ. अफीक उल्लाह प्रॉक्टर, एएमयू
... और पढ़ें

एएमयू में नागरिकता संशोधन बिल की प्रतियां फूंकी, छात्र नेताओं ने की नारेबाजी

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में सोमवार रात एएमयू छात्रों ने विश्वविद्यालय कैंटीन पर सभा कर बिल की सांकेतिक प्रतियों को फूंक दिया। छात्र नेताओं ने इसे बंटवारा करने वाला और असंवैधानिक बिल बताते हुए इसकी निंदा की। 

सोमवार रात एएमयू छात्र लाइब्रेरी के पीछे कैंटीन पर इकट्ठा हुए। छात्रों ने यहां पर एक सभा की। साथ ही केंद्र सरकार विरोधी नारे लगाए। छात्र नेता फैजुल हसन ने कहा कि जो नागरिकता संशोधन बिल अमित शाह ने संसद में प्रस्तुत किया है, वह वैसा ही है जैसे सन 1947 में देश का बंटवारा हुआ था।

भाजपा चाहती है कि फिर से हिंदू और मुसलमानों का बंटवारा हो जाए। यह देश का दुर्भाग्य है कि गृहमंत्री अमित शाह मुसलमानों का नाम नहीं लेकर सीधे सीधे अन्य सभी का नाम ले रहे हैं। इससे साफ है कि गृहमंत्री मुसलमानों के खिलाफ हैं। इसलिए इस बिल को अस्वीकार करते हैं। 

एएयमू में छात्रों ने इस बिल की सांकेतिक प्रतियों को जलाया। नारे लगाए गए कि यह देश विरोधी है। संविधान विरोधी है। छात्रों ने कहा कि जिन लोगों ने अखंड भारत का, संवैधानिक समानता का सपना देखा था, बाबा साहेब ने जिस भारत की बुनियाद रखी थी, यह उसके खिलाफ है। 

राज्यसभा में जो भी विपक्षी पार्टियां हैं, उनसे अपील है कि इसे राज्यसभा में पास नहीं होने दिया जाए। इस बिल के मध्यम से मुसलमानों को दोयम दर्जे का नागरिक बनाने का षड्यंत्र किया जा रहा है। इसके बाद बिल के विरोध में नारेबाजी करते हुए बिल की सांकेतिक प्रतियां जला दीं। इस अवसर पर सैकड़ों छात्र मौजूद थे।
... और पढ़ें

रिश्तेदारों के साथ मिलकर साले ने जीजा को पीट-पीट कर मार डाला

संवाद न्यूज एजेंसी, हाथरस।
कोतवाली हाथरस गेट क्षेत्र के गांव टुकसान में सोमवार को साले ने अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर अपने जीजा को पीट-पीट कर मार डाला। पुलिस मौके पर पहुंच गई और मामले की छानबीन कर रही थी। इस घटना को लेकर मृतक के बेटे ने अपने मामा व अन्य नामजदों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है।
कोतवाली हाथरस गेट क्षेत्र के गांव टुकसान निवासी अयूब खां (60 वर्ष) पुत्र रसूली खां की कुछ दिन पहले अपने साले बैजू पुत्र इमामी खां निवासी इस्लामनगर थाना एत्माउद्दौला, आगरा से मोबाइल फोन पर कहासुनी हो गई थी। बाद में पिता ने मामा से फोन पर ही माफी भी मांग ली थी। सलमान के मुताबिक, पिता के माफी मांगने के बाद भी मामा बैजू नाराज था। आरोप है कि बैजू अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ सोमवार की शाम छह बजे के लगभग गांव टुकसान में अपने जीजा के यहां आ गया और उसने आते ही अपने अयूब व भांजे आमिर के साथ मारपीट कर दी।
मारपीट करने वालों में बैजू के अलावा बैजू की पत्नी रहीसा बेगम, उनका दामाद वसीम खां निवासी नगला देवी रामबाग आगरा व कई अन्य लोग भी शामिल थे। इन लोगों ने अयूब खां को जमकर पीटा। इससे अयूब गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल अयूब को जिला अस्पताल लाया गया। वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। इस घटना को लेकर मृतक के बेटे सलमान ने मामा बैजू व अन्य नामजदों के खिलाफ तहरीर दी है। इधर, इस मामले में कोतवाली हाथरस गेट के प्रभारी एसएचओ रवेंद्र कुमार ने बताया कि इस मामले में अभी तक तहरीर प्राप्त नहीं हुई है। तहरीर के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।
... और पढ़ें

एएमयू में नागरिकता संशोधन बिल की प्रतियां फूंकी, छात्रों ने की नारेबाजी

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में सोमवार रात एएमयू छात्रों ने विश्वविद्यालय कैंटीन पर सभा कर बिल की सांकेतिक प्रतियों को फूंक दिया। छात्र नेताओं ने इसे बंटवारा करने वाला और असंवैधानिक बिल बताते हुए इसकी निंदा की।
सोमवार रात एएमयू छात्र लाइब्रेरी के पीछे कैंटीन पर इकट्ठा हुए। छात्रों ने यहां पर एक सभा की। साथ ही केंद्र सरकार विरोधी नारे लगाए। छात्र नेता फैजुल हसन ने कहा कि जो नागरिकता संशोधन बिल अमित शाह ने संसद में प्रस्तुत किया है, वह वैसा ही है जैसे सन 1947 में देश का बंटवारा हुआ था। भाजपा चाहती है कि फिर से हिंदू और मुसलमानों का बंटवारा हो जाए। यह देश का दुर्भाग्य है कि गृहमंत्री अमित शाह मुसलमानों का नाम नहीं लेकर सीधे सीधे अन्य सभी का नाम ले रहे हैं। इससे साफ है कि गृहमंत्री मुसलमानों के खिलाफ हैं। इसलिए इस बिल को अस्वीकार करते हैं।
एएयमू में छात्रों ने इस बिल की सांकेतिक प्रतियों को जलाया। नारे लगाए गए कि यह देश विरोधी है। संविधान विरोधी है। छात्रों ने कहा कि जिन लोगों ने अखंड भारत का, संवैधानिक समानता का सपना देखा था, बाबा साहेब ने जिस भारत की बुनियाद रखी थी, यह उसके खिलाफ है। राज्यसभा में जो भी विपक्षी पार्टियां हैं, उनसे अपील है कि इसे राज्यसभा में पास नहीं होने दिया जाए। इस बिल के मध्यम से मुसलमानों को दोयम दर्जे का नागरिक बनाने का षड्यंत्र किया जा रहा है। इसके बाद बिल के विरोध में नारेबाजी करते हुए बिल की सांकेतिक प्रतियां जला दीं। इस अवसर पर सैकड़ों छात्र मौजूद थे।
एएमयू में नागरिकता संशोधन बिल को लेकर विरोध करते छात्र।
एएमयू में नागरिकता संशोधन बिल को लेकर विरोध करते छात्र।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

सीटैट परीक्षा में आसान प्रश्नों में उलझे अभ्यर्थी

शहर के 41 परीक्षा केंद्रों पर सीबीएसई द्वारा आयोजित की गई सीटेट (केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा) का प्रश्नपत्र परीक्षार्थियों को आसान लगा। लेकिन कुछ विषयों के प्रश्नों ने अभ्यर्थियों को उलझाया भी। डीएस इंटर कॉलेज परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थियों ने बताया कि प्रश्नपत्र पाठ्यक्रम से ही आया है। पेपर अच्छा गया है, अब बेहतर परिणाम का इंतजार है।
महर्षि विद्या मंदिर में शाम की पाली में उच्च प्राइमरी शिक्षण स्तर की परीक्षा देकर निकले अभ्यर्थियों ने बताया कि पेपर अच्छा था। लेकिन गणित व विज्ञान के प्रश्न थोड़े कठिन थे। फिर भी पूरा प्रश्नपत्र बेहतर तरीके से हल करके आए हैं। डीएस इंटर कालेज से पहली पाली में प्राइमरी शिक्षण वर्ग की परीक्षा देकर निकले परीक्षार्थियों ने बताया कि ईवीएस, बाल विकास के प्रश्नों ने उलझाया।
प्रश्न पाठ्यक्रम से ही पूछे गए, लेकिन प्रश्न सीधे एक बार में समझे नहीं जा सकते थे। घुमावदार प्रश्न तो काफी देर बाद समझ में आए। अंत में अंग्रेजी विषय के पेपर को हल करने के लिए कम समय बचा था। प्रश्नपत्र में तमिलनाडु के निकटवर्ती राज्य पूछे जाने वाला प्रश्न फिर से आ गया। अभ्यर्थियों ने इस प्रश्न का अभ्यास कई बार किया होगा। बाजार में उपलब्ध अनसॉल्वड पेपर में भी यह प्रश्न कई वर्षों के सेट में है, यह दावा अभ्यर्थियों ने किया। साथ ही बच्चों के ज्ञान के विकास में सक्रिय जिज्ञासु के रूप में देखते हुए उनमें चिंतन पर सामाजिक एवं सांस्कृतिक विषय वस्तुओं के प्रभाव का महत्व बताने वाले मनोवैज्ञानिक का नाम भी दोबारा से पूछा गया है।
शहर में 35 हजार अभ्यर्थियों की भीड़
रामघाट रोड-जीटी रोड पर लगा जाम
सीटेट शहर में दो पालियों में आयोजित हुई थी। पहली परीक्षा सुबह साढ़े नौ बजे से 12 बजे तो दूसरी परीक्षा दो बजे से साढ़े चार बजे तक हुई। दोपहर 12 बजे और शाम साढ़े चार बजे एकाएक तकरीबन 35 हजार अभ्यर्थियों के परीक्षा केंद्र से बाहर निकलने पर जीटी रोड व रामघाट रोड पर जाम की स्थिति बनी रही। दोपहर 12 बजे के बाद से लेकर शाम सात बजे तक जगह-जगह जाम लगा रहा। परीक्षा छूटने के दो घंटे बाद तो वाहन रेंग-रेंगकर चले। हालांकि, जाम को खुलवाने के लिए यातायात पुलिस ने भी काफी मशक्कत की। लगभग तीन बजे जैसे हालात सामान्य हुए। इसके बाद साढ़े चार बजे के बाद फिर से जाम लग गया। पैदल, दोपहिया, चार पहिया, ऑटो तथा अन्य वाहनों के जल्दी निकलने की होड़ के कारण घंटों तक लोग जाम में फंसे रहे।
सुबह साढ़े नौ बजे से शुरू हुई पहली पाली की सीटेट परीक्षा दोपहर 12 बजे छूटी। सबसे ज्यादा परीक्षा केंद्र जीटी रोड व रामघाट रोड पर ही थे। इसलिए इन दोनों मार्गों के परीक्षा केंद्रों से अधिकांश संख्या में परीक्षार्थी सड़कों पर निकले। दो पहिया, चार पहिया, ऑटो व पैदल निकली भीड़ के चलते आईआईएमटी नाला चौराहा, क्वार्सी चौराहा, किशनपुर तिराहा, गांधी आई हास्पिटल, मीनाक्षी पुल, दुबे पड़ाव, छर्रा अड्डा पुल, गांधी पार्क बस स्टैंड, रसलगंज चौराहा, सारसौल चौराहे पर लगभग दो बजे तक जाम जैसी स्थिति बनी रही। वाहन काफी धीमी रफ्तार में चले। बेतरतीब वाहन चलाने के चलते चौराहों पर जाम लग गया। आगरा रोड पर मदारगेट, हाथरस अड्डा तथा सासनीगेट पर भी वाहन रेंगते हुए चले। यही स्थिति शाम को 4.30 बजे दूसरी पाली की परीक्षा छूटने के बाद भी रही। लोग लगभग सात बजे तक जाम से निजात पा सके। ट्रैफिक पुलिसकर्मियों के साथ जाम के दौरान तो कुछ गाड़ियों से निकले व्यक्तियों ने जाम खुलवाने का काफी प्रयास भी किया।
बसों और रेलवे स्टेशन पर उमड़ी भीड़
सीटेट परीक्षार्थी आसपास के जिलों से भी आए थे। परीक्षा छूटने के बाद अभ्यर्थियों ने रेलवे स्टेशन तथा बस स्टैंड की ओर रुख किया। छात्र-छात्राओं ने सीट न मिलने पर खड़े होकर ही सफर किया। वहीं, देर शाम तक वाहन न मिलने के चलते कुछ इंतजार भी करते रहे।
- पेपर अच्छा आया है। कुछ सवालों ने थोड़ा परेशान किया। लेकिन कुछ भी सिलेबस से बाहर नहीं था। अच्छे नंबर ही आने की ही उम्मीद है। - ईशिका शर्मा, हाथरस।
- पेपर ज्यादा कठिन नहीं था, लेकिन समय भी सीमित था। इसलिए सही निर्णय लेते हुए हर किया है। उत्तर कुंजी मिलाने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। - प्राप्ति शर्मा, कासगंज।
CTET: student confused in easy question.
CTET: student confused in easy question.- फोटो : CITY OFFICE
सीटैट की परीक्षा छूटने के रामघाट रोड पर लगे जाम में फँसे वाहन।
सीटैट की परीक्षा छूटने के रामघाट रोड पर लगे जाम में फँसे वाहन।- फोटो : CITY OFFICE
डीएस कॉलेज से टैट की परीक्षा छूटने के बाद बाहर निकलते अभ्यार्थी।
डीएस कॉलेज से टैट की परीक्षा छूटने के बाद बाहर निकलते अभ्यार्थी।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election