बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस गायत्री जयंती फ्री में कराएं गायत्री मंत्र का जाप एवं हवन,  दूर होंगी समस्त विपदाएं - रजिस्टर करें
Myjyotish

इस गायत्री जयंती फ्री में कराएं गायत्री मंत्र का जाप एवं हवन, दूर होंगी समस्त विपदाएं - रजिस्टर करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट की वैधता को चुनौती

वक्फ बोर्ड द्वारा गठित इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट की वैधता को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। याचिका में कहा गया है कि ट्रस्ट के गठन के दस्तावेज मांगा कर रद्द किया जाए। कोर्ट ने कहा कि जिन दस्तावेजों को रद्द करने की मांग की गई है, वे याचिका के साथ दाखिल ही नहीं हैं। ऐसे में जो दस्तावेज कोर्ट में है ही नहीं उन्हें रद्द करने पर विचार नहीं किया जा सकता।

कोर्ट ने दस्तावेज तलब करने की मांग अस्वीकार कर दिया किंतु न्याय हित में याची को चार हफ्ते में दस्तावेज दाखिल करने का समय दिया है। साथ ही स्पष्ट कर दिया है कि यदि दस्तावेज दाखिल नहीं किए गए तो याचिका स्वत: खारिज हो जाएगी। याचिका की अगली सुनवाई 26 जुलाई को होगी। यह आदेश मुख्य न्यायाधीश संजय यादव तथा न्यायमूर्ति प्रकाश पाडिया की खंडपीठ ने नदीम अहमद व अन्य की जनहित याचिका पर दिया है। याचिका में एक जुलाई 20 को जारी अधिसूचना को भी रद्द किए जाने की मांग की गई है। इसपर कोर्ट ने कहा कि अन्य जनहित याचिका में इसे वैध करार दिया जा चुका है।
... और पढ़ें

गंगा किनारे शवों को दफनाने से रोकने की मांग हाईकोर्ट ने की खारिज

गंगा किनारे शवों को दफनाने से रोकने और दफनाए गए शवों का दाह संस्कार करने की मांग में दाखिल जनहित याचिका इलाहाबाद हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। कोर्ट ने याची को छूट दी है कि वह विभिन्न समुदायों में अंतिम संस्कार को लेकर परंपराओं और रीति रिवाज पर शोध व अध्ययन करके नए सिरे से बेहतर याचिका दाखिल कर सकता है। 

प्रनवेश की जनहित याचिका पर मुख्य न्यायमूर्ति संजय यादव और न्यायमूर्ति प्रकाश पाडिया की पीठ ने सुनवाई की। जनहित याचिका में मांग की गई थी कि बड़ी संख्या में गंगा के किनारे दफनाए गए शवों को निकाल कर उनका दाह संस्कार किया जाए और गंगा के किनारे शवों को दफनाने से रोका जाए। कोर्ट ने कहा कि याचिका देखने से ऐसा लगता है कि याची ने विभिन्न समुदायों की परंपराओं और रीति रिवाजों का अध्ययन किए बिना ही याचिका दाखिल कर दी है। याचिका खारिज करते हुए नए सिरे से बेहतर याचिका दाखिल करने की छूट दी है।
... और पढ़ें

सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड चुनाव की वैधता पर जवाब तलब, सुनवाई नौ जुलाई को

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के 11 मार्च 21 को हुए चुनाव की वैधता के खिलाफ याचिका पर नोटिस जारी कर राज्य सरकार सहित विपक्षियों से जवाब मांगा है। याचिका की अगली सुनवाई नौ जुलाई को होगी।

कोर्ट ने फौरी राहत न देते हुए कहा है कि इस दौरान जो भी कार्यवाही होगी वह याचिका के निर्णय पर निर्भर करेगी। यह आदेश न्यायमूर्ति  डॉ. कौशल जयेन्द्र ठाकुर तथा न्यायमूर्ति दिनेश पाठक की खंडपीठ ने अल्लामा जमीर नकवी व अन्य की याचिका पर दिया है। याचिका पर वरिष्ठ अधिवक्ता एसएफ ए नकवी ने बहस की। इनका कहना था कि पूर्व सदस्य जफर फारूकी बोर्ड के चेयरमैन चुने गए हैं। जब ये सदस्य थे, वक्फ की जमीन अवैध रूप से बेच डाली। 2009 में केस दर्ज कराया गया है। चेयरमैन चुने जाने के बाद इन्होंने अपने पक्ष में केस वापस लेने का आदेश दिया है।
 
याचिका में यह भी कहा गया है कि दशकों से बोर्ड के खाते का आडिट नहीं कराया जा रहा है। जबकि चेयरमैन मुतवल्ली भी हैं। वक्फ एक्ट की धारा 46 व 47 में हर वर्ष आडिट कराने का उपबंध है, जिसकी अनदेखी कर जमीनों की अवैध बिक्री व घोटाला किया जा रहा है। इस पर रोक लगाई जाए। कोर्ट ने विपक्षियों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।
... और पढ़ें

फाफामऊ घाट पर रेत से फिर बाहर आया शव, अब तक मिल चुकी हैं 26 लाशें

prayagraj news : लगातार हो रही बारिश और गंगा के जलस्तर में हो रही वृद्धि के कारण फाफमऊ घाट पर दफन शव बाहर आ रहे हैं। prayagraj news : लगातार हो रही बारिश और गंगा के जलस्तर में हो रही वृद्धि के कारण फाफमऊ घाट पर दफन शव बाहर आ रहे हैं।

Prayagraj Corona Update: संक्रमित हुए कम बढ़ रही लापरवाही, 14 नए पॉजिटिव,15 हुए स्वस्थ

प्रयागराज में तैयार हो रही हॉकी खिलाड़ियों की ‘नर्सरी’, कई खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर नाम कर रहे रौशन

शहर में हॉकी के सुनहरे अतीत के साथ ही भविष्य के लिए बेहतरीन खिलाड़ियों की नर्सरी तैयार हो रही है। कई खिलाड़ी विभिन्न टीमों में राष्ट्रीय स्तर पर खेल रहे हैं। इतना ही नहीं शहर के आठ खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर कैग की टीम में शामिल हैं। इन खिलाड़ियों के दम पर कैग की टीम ने रेलवे को हराकर गत वर्ष राष्ट्रीय चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया। 

शहर में हॉकी खिलाड़ियों का गौरवशाली अतीत रहा है। शहर के रहने वाले सुजीत कुमार और दानिश मुजतबा ओलंपिक में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। इसके साथ ही जूनियर वर्ल्ड कप में जहीरुद्दीन, एसए आब्दी, आमिर खान, इमरान खान राष्ट्रीय टीम से खेल चुके हैं। जबकि, आतिश इदरीश, मनोज गुप्ता, सुनील कुमार भारतीय टेस्ट के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेले।
... और पढ़ें

टीजीटी सामाजिक विज्ञान 2016 के छूटे अभ्यर्थियों का साक्षात्कार की तारीख घोषित

hockey logo

अपहरण में एक को जेल, अपहृत शिक्षक ठगी में गिरफ्तार

कटरा में मनमोहन पार्क के पास से शिक्षक के अपहरण मामले में गिरफ्तार मुख्य आरोपी श्याम नारायण पांडेय जेल भेज दिया गया। चौंकाने वाली बात यह रही कि अपहृत शिक्षक रजनीकांत शुक्ला को भी 13 लाख रुपये की ठगी के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया। उसके खिलाफ औद्योगिक क्षेत्र पुलिस ने मुकदमा लिखकर यह कार्रवाई की। उधर कर्नलगंज पुलिस देर रात तक अपहरण के अन्य आरोपियों की तलाश में जुटी रही। 

घटना एक दिन पहले हुई थी जब दिनदहाड़े असलहे के बल पर जूनियर हाईस्कूल के शिक्षक रजनीकांत शुक्ला को कार में खींचकर अगवा कर लिया गया था। जिसके बाद पुलिस ने करेली में घेराबंदी कर उसे मुक्त कराया था। मामले में देर रात कर्नलगंज पुलिस ने मुकदमा लिखा। मुकदमा भुक्तभोगी के साथी व सहकर्मी स्कूल लिपिक सचिन कुमार मिश्रा की तहरीर पर लिखा गया। जिसमें उसने आरोप लगया कि अपहरण में श्यामनारायण पांडेय व राहुल पांडेय समेत नौ लोग शामिल थे। पुलिस ने श्याम नारायण को मौके से ही गिरफ्तार किया था जिसे शुक्रवार को जेल भेज दिया गया। कर्नलगंज इंस्पेक्टर विनीत सिंह ने बताया कि घटना में प्रयुक्त कार सीज कर दी गई है। प्रयुक्त असलहे के बारे में जानकारी मिली है कि वह श्याम नारायण के बेटे का है, जिसकी तलाश की जा रही है। अन्य आरोपियों की तलाश भी जारी है। 

रुपये लेकर मुकरा, खुद करा ली नियुक्ति
उधर अपहरण के मामले में जेल भेज गए श्याम नारायण के भाई के दामाद सुनील कुमार शुक्ला की ओर से शिक्षक रजनीकांत पर 13 लाख की धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कराया गया। आरोप है कि उनके चचिया ससुर श्याम नारायण ने 13 लाख रुपये अपनी पुत्री की नियुक्ति के लिए दिए। जिस पर रजनीकांत ने उक्त पद पर अपनी नियुक्ति करा ली। आरोप है कि दो दिन पहले खुद रजनीकांत ने उनके चाचा को रुपये वापस करने के लिए बुलाया था। इसी क्रम में जब बृहस्पतिवार को वह गए तो वहां कहासुनी हो गई। जिसके बाद उसने खुद घर चलकर बात करने की बात कही। सीओ करछना राजेश यादव ने बताया कि आरोपी के खिलाफ मुकदमा लिखकर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।
... और पढ़ें

राजकीय आश्रम पद्धति इंटर कॉलेजों में 124 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन शुरू 

राजकीय आश्रम पद्धति इंटर कॉलेजों में प्रवक्ता के पदों पर अब सीधी भर्ती नहीं होगी। प्रवक्ता के पदों पर चयन के लिए अभ्यर्थियों को प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा देनी होगी। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने शुक्रवार को चार विषयों में प्रवक्ता के 124 पदों पर भर्ती के लिए अपनी वेबसाइट पर विस्तृत विज्ञापन जारी कर दिया, जिसमें प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा के लिए परीक्षा योजना एवं पाठ्यक्रम के बारे में भी जानकारी दी गई है। इसी के साथ प्रवक्ता के पदों पर भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है।

प्रवक्ता पद भर्ती के लिए पहली बार लिखित परीक्षा आयोजित होने जा रही है। इससे पहले सीधे इंटरव्यू के माध्यम से भर्ती होती थी, लेकिन शासन की ओर से अराजपत्रित पदों पर भर्ती के लिए इंटरव्यू समापन नियमावली लागू किए जाने के बाद अब प्रवक्ता पद पर भर्ती के लिए प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा होगी। मुख्य परीक्षा के आधार पर अभ्यर्थियों को अंतिम रूप से चयनित घोषित किया जाएगा।
... और पढ़ें

अश्लील तस्वीर भेजकर विवाहिता को किया ब्लैकमेल, मुकदमा दर्ज कर छानबीन में जुटी पुलिस

धूमनगंज निवासी विवाहिता को उसके ही जानने वाले ने ब्लैकमेल किया। अश्लील तस्वीर वायरल करने की धमकी देकर अपने पास आने को कहा। पीड़िता की तहरीर पर नामजद मुकदमा दर्ज कर पुलिस जांच में जुटी है। पीड़िता ने तहरीर में आरोप लगाया है कि वह दो साल पहले तक स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर काम करती थी। वहां उसे अंबुज मिश्रा निवासी सुल्तानपुर मिला जो अकाउंटेंट था।

इसी दौरान वह उससे फोन पर बातचीत करने लगा। एक दिन फोन से अश्लील तस्वीर खींच ली और फिर उसे ब्लैकमेल करने लगा। आरोप है कि अब वह उसे धमका रहा है। कहता है कि ससुराल छोडक़र मेरे पास आ जाओ वरना तस्वीरें वायरल कर बदनाम कर दूंगा। यही नहीं ससुरावालों को जान से मारने की धमकी भी दे रहा है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 
... और पढ़ें

प्रयागराज : विवाह में सामूहिक हर्ष फायरिंग के मामले में सात नामजद, अतीक के करीबी बताए जा रहे

सामूहिक हर्ष फायरिंग के एक दिन पहले वायरल वीडियो के मामले में पुलिस ने सात लोगों पर नामजद मुकदमा दर्ज किया है। यह सभी नवाबगंज क्षेत्र के रहने वाले बताए जा रहे हैं और अतीक अहमद के समर्थक के परिजन हैं। वीडियो के आधार पर चिह्नित कर पुलिस ने उनकी तलाश शुरू कर दी हैै। 
एक दिन पहले घटना का वीडियो वायरल होने के बाद जिले में हड़कंप मच गया था। इसमें आधा दर्जन से ज्यादा युवक राइफल व अन्य बंदूकों से एक साथ फायरिंग करते नजर आ रहे थे।

मामले की जानकारी पर पुलिस अफसरों ने जांच शुरू कराई और देर रात इस मामले में सात लोगों को नामजद करते हुए केस दर्ज किया गया। इनमें नवाबगंज निवासी वैश, फैज, असहद, अजहद, फरहान, अदनान के अलावा एक अन्य शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि यह सभी असलम के परिवारीजन हैं जो अतीक के करीबी मुजफ्फर का भाई है। एसपी गंगापार धवल जायसवाल ने बताया कि सभी आरोपियों की तलाश की जा रही है। उनसे पूछताछ के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा कि घटनास्थल कहां का है। आरोपियों की तलाश में पुलिस की कई टीमें लगाई गई हैं। 

प्रोफेशनल शूटरों जैसी फायरिंग, कहां से मिली ट्रेनिंग
वायरल वीडियो में जिस तरह से 18-20 साल के युवक प्रोफेशनल शूटरों की तरह फायरिंग करते नजर आ रहे हैं, उसे लेकर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। बड़ा सवाल यह है कि इनमें से किसी के नाम लाइसेंसी असलहा नहीं है। आखिर में इन्हें शस्त्र चलाने की ऐसी ट्रेनिंग कहां से मिली। गौरतलब है कि वीडियो में सभी कुर्सी पर बैठकर ताबड़तोड़ गोलियां दागते नजर आ रहे हैं। 

गैंगस्टर की कार्रवाई लंबित
पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जिस असलम के घर हुए शादी समारोह के दौरान सामूहिक हर्ष फायरिंग की गई, उसके और उसके तीन भाईयों के शस्त्र लाइसेंस निरस्तीकरण के लिए रिपोर्ट 15 दिन पहले ही भेजी जा चुकी है। लेकिन अब तक जिला प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं हुई है। उधर असलम के भाई मुजफ्फर के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई भी शुरू हो गई है। वह फतेहपुर में गोकशी और पुलिस पर हमले के मामले में वांछित है। मामले में पुलिस अफसरों का कहना है कि कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us