विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत के लिए खास तैयारी, ताजनगरी इस अंदाज में बोलेगी- 'नमस्ते ट्रंप'

ताजनगरी में अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत खास अंदाज में होगा। हवाई अड्डे से ताजमहल तक रास्ते में ट्रंप-मोदी के कटआउट लगेंगे।

17 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रयागराज

सोमवार, 17 फरवरी 2020

अप्रैल में लखनऊ से गाजियाबाद, बरेली समेत पांच शहरों की हवाई यात्रा शुरू

लखनऊ से प्रयागराज, वाराणसी, बरेली, हिंडन और आजमगढ़ की हवाई यात्रा का इंतजार अब खत्म होने जा रहा है। नागरिक उड्डयन विभाग ने अप्रैल में राजधानी से प्रदेश के पांच प्रमुख शहरों से हवाई यात्रा शुरू करने की तैयारी की है।

लखनऊ से प्रदेश के प्रमुख शहरों के लिए अभी नियमित हवाई सेवा संचालित नहीं है जबकि बरेली, हिंडन, प्रयागराज, वाराणसी, आगरा, गोरखपुर, आजमगढ़ और मुरादाबाद के लिए फ्लाइट की मांग की जा रही थी। 

विभाग ने लखनऊ से बरेली, हिंडन, प्रयागराज, वाराणसी और आजमगढ़ हवाई सेवा शुरू करने के लिए टर्बो एविएशन से अनुबंध किया है। टर्बो एविएशन ने हालही में हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड से दो छोटे हवाई जहाज खरीद के लिए एमओयू किया है। 

मार्च के अंत तक एचएएल से दो जहाज टर्बो एविएशन को मिलने की उम्मीद है। एविएशन के पायलट की ट्रेनिंग भी शुरू हो गई है। राजधानी से पांच शहरों की हवाई सेवा शुरू होने के बाद अधिकतम एक घंटे में इन पांच शहरों का सफर तय हो सकेगा। 

विभाग के निदेशक सुरेंद्र सिंह ने बताया कि अप्रैल से लखनऊ से प्रतिदिन पांच शहरों के लिए फ्लाइट शुरू होगी। इसके बाद दूसरे चरण में आगरा, गोरखपुर और मुरादाबाद के लिए फ्लाइट शुरू की जाएगी।
... और पढ़ें

यूपीपीएससी ने की अनारक्षित सीट की गलत व्याख्या, भड़के अभ्यर्थी सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) की परीक्षाओं में आरक्षित वर्ग की चयन प्रक्रिया में किए गए बदलाव का विरोध तेज हो गया है। शुक्रवार को आयोग के सामने जुटे आरक्षण समर्थक छात्रों ने धरना-प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि आयोग ने अनारक्षित सीट की गलत व्याख्या करते हुए आरक्षित वर्ग को उसके अधिकार से वंचित किया है।

छात्रों ने कहा कि किसी भी स्तर पर आरक्षण का लाभ पाने वाले अभ्यर्थियों को अनारक्षित वर्ग में चयनित न किए जाने का निर्णय संविधान की मूल भावना के खिलाफ है। आयोग ने अनारक्षित वर्ग की सीट की गलत व्याख्या की है। अनारक्षित का मतलब यह है कि जो किसी के लिए आरक्षित नहीं है। किसी भी वर्ग का अभ्यर्थी अनारक्षित वर्ग के कटऑफ की अर्हता प्राप्त करता है तो वह अनारक्षित में चयनित होने का हकदार है। छात्रों ने चेतावनी दी कि अगर आयोग ने अपना निर्णय वापस नहीं लिया तो राष्ट्रव्यापी आंदोलन होगा। छात्रों ने आयोग में अध्यक्ष को संबोधित ज्ञापन भी सौंपा।
... और पढ़ें

कार्य परिषद में ही होगा रजिस्ट्रार, एफओ पर निर्णय

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) के कुलपति से रजिस्ट्रार प्रो. एनके शुक्ला और वित्त अधिकारी (एफओ) डॉ. सुनीत कांत मिश्र को पद से हटाए जाने की संस्तुति की है। हालांकि इन दोनों अफसरों पर कार्य परिषद ही कोई निर्णय ले सकती है और अभी कार्य परिषद बैठक की कोई तिथि तय नहीं है।

आयोग अध्यक्ष ने आशंका व्यक्त की थी कि पूर्व कुलपति प्रो. रतन लाल हांगलू के खिलाफ मंत्रालय की ओर से कराई जा रही जांच को ये दोनों अफसर प्रभावित कर सकते हैं। इसके अलावा आयोग की अध्यक्ष ने कुलपति से यह भी पूछा था कि आयोग की अंतरिम रिपोर्ट में महिला अधीक्षकों को हटाए जाने के लिए जो संस्तुति की गई थी, उस पर क्या निर्णय हुआ।

कुलपति ने कुछ हॉस्टलों की अधीक्षिकाओं को तो बदल दिया है लेकिन कुछ हॉस्टल में बदलाव नहीं हुआ है। चर्चा है कि आयोग की टीम के लौटने के बाद इविवि प्रशासन इस दिशा में भी बड़ा बदलाव कर सकता है। इसके अलावा आयोग की सिफारिश पर इविवि प्रशासन छात्राओं की समस्याएं सुनने और त्वरित निस्तारण के लिए कमेटी का गठन भी जल्द करेगा।

आयोग की टीम अब हर माह महिला हॉस्टलों का निरीक्षण करने आएगी। ऐसे में इविवि प्रशासन के पास हॉस्टलों में सुधार के लिए वक्त भी कम रह गया है। साथ ही विश्वविद्यालय प्रशासन को आयोग की सिफारिश पर महिला हॉस्टल में आने-जाने का समय भी नए सिरे से निर्धारित करना है।
... और पढ़ें

प्रयागराजः मुगलकालीन स्थापत्य कला का बेजोड़ नमूना है खुसरो बाग

khusaro bagh prayagraj khusaro bagh prayagraj

झूंसी मर्डर केसः दूरी बनाने पर बौखला गया था अरसान

झूंसी के आरकेपुरम में छात्रा की हत्या के बाद युवक की खुदकुशी मामले में रविवार को अहम खुलासा हुआ। घटना के चश्मदीद रहे संदिग्ध युवक से पूछताछ में सामने आया है कि मृतक छात्रा सौम्या अरसान से दूरी बनाना चाहती थी, जिससे बौखलाकर उसने खूनी खेल खेला। पुलिस को दो और संदिग्धों का नाम पता चल गया है, जिनकी तलाश में देर रात तक दबिश दी जाती रही। 

वारदात एक दिन पहले हुई थी, जिसमें गंगोत्री हवेलिया निवासी बीकॉम छात्रा सौम्या की हत्या करने के बाद अरसान ने खुद को गोली से उड़ा लिया था। सीसीटीवी फुटेज से पता चला था कि वारदात के दौरान कुछ दूर पर खड़ी कार के पीछे तीन संदिग्ध युवक खड़े थे, जो गोली चलते ही बाइक पर सवार होकर भाग निकले। पुलिस ने रविवार दोपहर झूंसी कोहना निवासी इस युवक को पकड़ लिया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, थाने लाकर पूछताछ की गई तो उसने बताया कि कार के पीछे वह झूंसी कोहना निवासी ही अपने दो साथियों संग छिपा था। बताया कि अरसान व मृतक छात्रा के बीच बातचीत होती थी लेकिन वह उससे संबंध नहीं रखना चाहती थी।

शनिवार को छात्रा की दूरी बनाने की बात सुनकर अरसान बौखला गया और इसी के बाद उसने खौफनाक वारदात को अंजाम दिया। पुलिस के मुताबिक, युवक ने पूछताछ में यह भी बताया कि उसका कुछ पैसा बकाया था जिसे देने के लिए ही अरसान ने उसे बुलाया था। वह मौके पर पहुंचा तो उसे मोबाइल व नकदी थमाकर अरसान सौम्या से बातचीत करने लगा। काफी देर तक चली बातचीत के दौरान हुए विवाद के बाद अरसान ने तमंचा निकालकर छात्रा को गोली मार दी। साथ ही गली से निकलकर खुद को भी गोली से उड़ा लिया। पूछताछ में उसने बताया कि मोबाइल उसने अपने साथियों को दे दिया था। हिरासत में लिए गए युवक की निशानदेही पर देर रात तक उसके दोनों साथियों की तलाश की जाती रही। उधर, मामले में पुलिस अधिकृत तौर पर कुछ भी कहने से इंकार करती रही। झूंसी इंस्पेक्टर ने इतना ही कहा कि तीनों संदिग्ध युवकों का पता चल गया है और उनकी तलाश की जा रही है। जांच पड़ताल में कुछ अन्य अहम बातें सामने आई हैं। 


सहेली का लिया था फोन, कॉल कर बुलाया भी था
पुलिस सूत्रों के मुताबिक, वारदात के वक्त मृतका सौम्या की आरकेपुरम निवासी एक सहेली भी मौके पर मौजूद थी, जिसे उसने फोन कर बुलाया था। पुलिस ने उस सहेली से पूछताछ की तो उसने बताया कि मृतक छात्रा घर से फोन लेकर नहीं आई थी। सीसीटीवी फुटेज में जिस फोन से वह बात करते दिखाई दे रही है, वह किराये पर रहने वाली मिर्जापुर निवासी एक अन्य सहेली का था। बताया कि छात्रा को गोली मारने के बाद आरोपी भागा तो वह फोन उठाकर भागते हुए मिर्जापुर निवासी सहेली के घर पहुंची और उसे घटना की जानकारी दी। जिसके बाद लोग जुटे लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। 


क्या था पूरा मामला यहां पढ़ें- ... और पढ़ें

काशी महाकाल में टूर पैकेज की भी सुविधा, जानिए क्या-क्या हैं ट्रेन की खासियतें

prayagraj news

इकतरफा इश्क के जुनून में 7 मिनट के भीतर 2 जिंदगियां फना

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के रिजल्ट के लिए मुख्यमंत्री को हजारों ट्वीट 

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के तहत हिंदी और सामाजिक विज्ञान का रिजल्ट जारी किए जाने की मांग को लेकर रविवार शाम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हजारों ट्वीट किए गए। परिणाम के लिए सोशल मीडिया पर अभियान भी चलाया जा रहा है। अभ्यर्थियों ने इस बार आरपारा की लड़ाई का निर्णय लिया है, सो 18 फरवरी को प्रदेश भर से अभ्यर्थी यहां जुटेेंगे और उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग का घेराव करेंगे।

एलटी ग्रेड शिक्षकों के 10768 पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा 29 जुलाई 2018 को आयोजित की गई थी। दो सबसे प्रमुख विषयों हिंदी और सामाजिक विज्ञान का रिजल्ट आयोग ने अब तक जारी नहीं किया है। इन दोनों विषयों की परीक्षा में पेपर आउट प्रकरण की जांच कर रही एसटीएफ अब तक किसी नतीजे तक नहीं पहुंची। वहीं, कई आयोग अध्यक्ष डॉ. प्रभात कुमार और अभ्यर्थियों के बीच हुई कई चरणों की वार्ता के बाद भी अभ्यर्थियों को कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला है।

अभ्यर्थी 18 फरवरी से बेमियादी आंदोलन शुरू करने जा रहे हैं। इससे पहले रविवार की शाम एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के हजारों अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री को ट्वीट कर हिंदी और सामाजिक विज्ञान का रिजल्ट जारी किए जाने की मांग की। तमाम अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री को ईमेल भी भेजा है। इसके अलावा प्रधानमंत्री को भी रिजल्ट के लिए ट्वीट किया गया। सोशल मीडिया पर प्रदेश के अलग-अलग जिलों में अभ्यर्थियों से अपील की कि वे 18 फरवरी को प्रयारागज पहुंचे। रिजल्ट के लिए 18 को आयोग का घेराव किया जाएगा और इसके साथ ही बेमियादी आंदोलन शुरू किया जाएगा। एलटी समर्थक मोर्चा के संयोजक विक्की खान और मोर्चा प्रतिनिधि अनिल उपाध्याय का कहना है कि इस बार आरपार की लड़ाई होगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us