विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

बिजली गिरने और ओला-बारिश से उत्तर प्रदेश में आठ लोगों की मौत, फसलों को नुकसान

प्रदेश में बृहस्पतिवार रात से ही अचानक मौसम बदल गया। कई जिलों में आंधी और बारिश हुई। शुक्रवार को भी दिनभर ऐसा ही दौर रहा।

22 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रयागराज

शनिवार, 22 फरवरी 2020

प्रयागराज में बेखौफ बदमाशों ने बीच शहर गोली मारकर सराफ से लाखों लूटे 

यूपी बोर्ड परीक्षा: दूसरे दिन नहीं मिला एक भी नकलची 

प्रयागराज से देहरादून और भोपाल के लिए फ्लाइट की मिली मंजूरी

संगम पर महाशिवरात्रि की डुबकी से माघ मेला पूरा, लाखों श्रद्धालु उमड़े

prayagraj news prayagraj news

प्रयागराज में पीएम मोदी के कार्यक्रम पर आईसीसीसी रखेगा नजर

कुंभ आयोजन के बाद परेड में बना इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) से प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम पर नजर रखी जाएगी। प्रधानमंत्री के 29 फरवरी के कार्यक्रम को लेकर आईसीसीसी में शुक्रवार को बैठक भी हुई। इसमें सुरक्षा के अलावा तैयारी के अन्य बिंदुओं पर चर्चा हुई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 फरवरी को 26 हजार से अधिक वृद्धजनों और दिव्यांगों को उपकरण वितरित करेंगे। इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। शुुक्रवार को महाशिवरात्रि स्नान पर्व के साथ माघ मेला संपन्न हो गया। इसके साथ ही मेला क्षेत्र और परेड मैदान खाली हो गया है। ऐसे में शनिवार से परेड में तैयारी शुरू हो जाएगी। जमीन समतलीकरण का काम करीब पूरा हो चुका है। अब वहां पंडाल आदि का निर्माण शुरू हो जाएगा। लाभार्थियों की ब्लाकवार सूची तैयार की गई है। उसी के अनुसार उन्हें बैठाया भी जाएगा।

उपकरणों की असेंबलिंग शुरू, बारिश से बाधा
प्रधानमंत्री 26 हजार से अधिक लाभार्थियों को 56 हजार उपकरण वितरित करेंगे। इनमें मोटराइज्ड ट्राईसाइकिल, ट्राईसाइकिल आदि उपकरण भी शामिल हैं। इनके अलग-अलग पार्ट पहुंच गए हैं। मिंटो पार्क में उनकी असेंबलिंग भी शुरू हो गई है। इसके लिए एल्मिको की टीम ने यहां कैंप कर रखा है। चूंकि, असेंबलिंग का काम खुले आसमान के नीचे हो रहा है। ऐसे में बारिश होने से काफी परेशानी हुई। आगे भी मौसम खराब रहा तथा तेज बारिश हुई तो मुश्किलें ज्यादा बढ़ जाएंगी। 

पंजीकरण के लिए आखिरी मौका आज
छूटे हुए दिव्यांग लाभार्थियों को पंजीकरण के लिए शनिवार को एक और मौका मिलने जा रहा है। कलक्ट्रेट के नजदीक स्थित मेरी लूकस कालेज में विशेष कैंप लगाया जाएगा। प्रशासन की ओर से सात फरवरी को भी विशेष कैंप लगाया गया था लेकिन विधायकों का कहना था कि उनके कई परिचितों का रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है। ऐसे में फिर से कैंप लगाया जा रहा है।
... और पढ़ें

प्रयागराज में आर्केस्ट्रा डांसरों से छेड़खानी पर युवक की पीट-पीटकर हत्या

prayagraj news

इलाहाबाद जंक्शन नहीं, अब कहिए प्रयागराज जंक्शन, शहर के कई और स्टेशनों के नाम बदले

प्रयागराजः एडीएम के पास भागते हुई आई महिला कर्मी, कहा साहब बचाओ, वह मेरे ऊपर तेजाब फेंक देगा

कलेक्ट्रेट में बृहस्पतिवार की दोपहर उस समय हड़कंप मच गया जब एक महिला कर्मचारी भागते हुए एडीएम वित्त एमपी सिंह के पैरों पर आकर गिर गई। बदहवास महिला कर्मी ने रोते हुए कहा कि साहब मुझे बचा लो, नहीं तो एक कर्मचारी मेरे ऊपर एसिड फेंक देगा। महिला कर्मी की यह बात सुनते ही एडीएम वित्त सकते में आ गए। उन्होंने मौके पर आरोपी कर्मचारी को तलब किया। साथ ही इस पूरे प्रकरण की जांच डीपीआरओ रेनू श्रीवास्तव को सौंप दी।

कलेक्ट्रेट में दिन में 12 बजे के आसपास हुआ यह वाकया दिन भर खासा चर्चा में रहा। महिला कर्मचारी ने आरोप लगाया कि कलेक्ट्रेट में तैनात एक कर्मचारी उसे लगातार फोन पर परेशान कर रहा है। आरोप लगाया कि वह उससे छेड़खानी भी करता है। बृहस्पतिवार को संबंधित कर्मचारी ने महिला के मोबाइल पर फोन कर उसके ऊपर एसिड फेंकने की धमकी दी। महिला के आरोप पर एडीएम वित्त ने मौके पर संबंधित कर्मचारी को तलब किया। हालांकि वहां उसी नाम का दूसरा बुजुर्ग कर्मचारी आया। उसने खुद को दिल का मरीज भी बताया।

यह भी कहा कि उसने महिला से कभी कोई बात नहीं की है। महिला ने भी कहा कि यह वह कर्मचारी नहीं है। बाद में आरोपी कर्मचारी को वहां लाया गया। उसने एडीएम के समक्ष फोन करने की बात तो कबूली लेकिन, एसिड फेंकने की धमकी से वह मुकर गया। मामले की गंभीरता तो देखते हुए एडीएम वित्त ने इस संबंध में डीपीआरओ रेनू श्रीवास्तव से जांच करने को कहा। एडीएम वित्त एमपी सिंह ने बताया कि डीपीआरओ अभी जांच कर रही हैं। उनकी रिपोर्ट मिलने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। 
... और पढ़ें

163 वर्ष पुराना इलाहाबाद जंक्शन अब  ‘प्रयागराज जंक्शन’

ईस्ट इंडियन रेलवे द्वारा बनाया गया इलाहाबाद जंक्शन अब इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया है। 163 वर्ष पुराना यह स्टेशन अब प्रयागराज जंक्शन के नाम से जाना जाएगा। इस स्टेशन का नाम बदले जाने की अधिसूचना बृहस्पतिवार की शाम जारी हो गई। अब स्टेशन पर हर जगह इलाहाबाद की जगह प्रयागराज जंक्शन ही यात्रियों को लिखा नजर आएगा। स्टेशन पर नाम बदले जाने की प्रक्रिया शुक्रवार 21 फरवरी से शुरू हो जाएगी। 

इलाहाबाद जंक्शन उत्तर भारत का पहला फंक्शनल स्टेशन माना जाता है। फरवरी 1857 में यहां से कानपुर की तरफ 41.8 किलोमीटर ट्रेन ट्रायल के रूप में चलाई गई थी। तभी से यह स्टेशन अस्तित्व में आ गया, लेकिन प्रथम स्वाधीनता संग्राम के दौरान इलाहाबाद से कानपुर तक लाइन बिछाने का काम रुक गया। बाद में यह काम शुरू हुआ और तीन मार्च 1859 में इलाहाबाद से कानपुर के बीच ट्रेन संचालन शुरू होने के साथ ही यात्रियों की आवाजाही शुरू हो गई। देश आजाद होने के बाद स्टेशन को नए सिरे से बनाया गया। इसकी आधार शिला 22 मार्च 1955 को देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने रखी। उस दौरान जंक्शन पर 108 ट्रेनों की आवाजाही दोनों ओर से होती थी। इस नए भवन के आर्किटेक्ट नारीमन श्राफ थे। उन्होंने ही नई दिल्ली स्टेशन का भी प्लान बनाया था। 

स्टेशन कोड बदलने के साथ ट्रेनों में भी लिखा जाएगा प्रयागराज

इलाहाबाद जंक्शन, इलाहाबाद सिटी, इलाहाबाद छिवकी, प्रयागघाट स्टेशन का नाम बदलने के साथ ही अब इन स्टेशनों के कोड भी बदले जाएंगे। यह काम रेलवे बोर्ड को करना है। बताया जा रहा है कि रेलवे बोर्ड द्वारा इसी माह में इन स्टेशनों के कोड बदले जाने की कार्रवाई की जाएगी। इन चारों स्टेशन के कोड बदले जाने के लिए रेलवे के क्रिस सॉफ्टवेयर में भी बदलाव किया जाएगा।
 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us