विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

मौसम की मारः उत्तर प्रदेश में दिसंबर में ठंड ने तोड़ा रिकॉर्ड, फसलें बर्बाद और छह की मौत

प्रदेश में बुधवार और बृहस्पतिवार को हुई बूंदाबांदी के बाद शुक्रवार को मौसम और बिगड़ गया।

14 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

अम्बेडकरनगर

शनिवार, 14 दिसंबर 2019

85 हजार बच्चों को नहीं मिले स्वेटर

अंबेडकरनगर। आधा दिसंबर बीतने को है। ठंड व गलन भी ठीकठाक होने लगी है, लेकिन जिले के 1873 परिषदीय विद्यालयों में पढ़ रहे करीब 85 हजार बच्चों को अब तक स्वेटर नसीब नहीं हो पाए हैं। स्वेटर न मिलने से ठंड के बीच ठिठुरते हुए छात्र-छात्राओं को स्कूल जाने को मजबूर होना पड़ रहा है। स्वेटर वितरण को लेकर शासन-प्रशासन कितना गंभीर है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पांच विकास खंडों में अब तक स्वेटर पहुंचे ही नहीं है। चार विकास खंडों में महज 32 हजार छात्र-छात्राओं को ही स्वेटर वितरण हो सका है।
परिषदीय विद्यालयों में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं को ठंड में किसी प्रकार की मुश्किल न हो, इसके लिए शासन ने नवंबर माह के अंत तक स्वेटर वितरण करने का निर्देश दिया था। वितरण में किसी भी प्रकार की मुश्किल न हो, इसके लिए 165.50 रुपये की बोली लगाने वाली कार्यदायी संस्था, राजस्थान के हनुमानगढ़ की पीएस उद्योग को जिम्मेदारी सौंपी गई थी। साथ ही नवंबर माह के अंत तक स्वेटर वितरण का निर्देश दिया गया था। जिले के 1873 परिषदीय विद्यालयों में पढ़ रहे 1 लाख 16 हजार 171 छात्र-छात्राओं में स्वेटर वितरण किया जाना है।
बीएसए कार्यालय के लिपिक एचके मिश्र ने बताया कि रामनगर, भियांव, जहांगीरगंज, बसखारी व कटेहरी विकास खंड में अब तक स्वेटर नहीं पहुंच सके हैं। अकबरपुर, भीटी, टांडा व जलालपुर विकास खंड में चयनित संस्था द्वारा स्वेटर भेजे जा चुके हैं। जैसे-जैसे सत्यापन का काम हो रहा है, वैसे-वैसे छात्र-छात्राओं में वितरण किया जा रहा है। जिम्मेदार लोगों व चयनित संस्था की लापरवाही का ही नतीजा है कि 84 हजार 171 छात्र-छात्राओं में स्वेटर का वितरण नहीं किया जा सका है।
करीब 32 हजार छात्र-छात्राओं को ही स्वेटर का वितरण किया जा सका है। स्वेटर उपलब्ध कराने को लेकर चयनित संस्था कितनी गंभीर है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बसखारी विकास खंड में 17 हजार स्वेटर की जरूरत है, लेकिन छह हजार स्वेटर ही पहुंच सके हैं। सत्यापन के बाद इनका वितरण किया जा रहा है। इसी प्रकार जलालपुर में 20 हजार 928 स्वेटर के सापेक्ष 11 हजार 57 ही पहुंच सका। टांडा में भी स्वेटर पहुंचे तो हैं, लेकिन अब तक सत्यापन ही नहीं हो सका है।
स्वेटर उपलब्ध न होने से छात्र-छात्राओं को ठंड से ठिठुरते हुए विद्यालय जाने को मजबूर होना पड़ रहा है। अकबरपुर के अभिभावक रामअजोर व संतोष ने नाराजगी जताते हुए कहा कि लगता है कि ठंड का मौसम समाप्त होने के बाद ही छात्र-छात्राओं को स्वेटर मिलेगा। भीटी के हरीराम व राधेश्याम ने कहा कि स्वेटर तो आने की जानकारी हुई है, लेकिन अब तक सत्यापन न होने से छात्र-छात्राओं को स्वेटर नहीं मिल सका है। स्वेटर न मिलने से छात्र-छात्राओं को ठंड से ठिठुरते हुए विद्यालय जाने को मजबूर होना पड़ रहा है। छात्र-छात्राओं के हित को देखते हुए अविलंब स्वेटर का शत-प्रतिशत वितरण किया जाए।
सभी छात्र-छात्राओं में वितरण के लिए चयनित संस्था को पत्र भेजकर जल्द ही स्वेटर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। जिन विकास खंडों में स्वेटर पहुंचा है, वहां सत्यापन का कार्य तेजी से चल रहा है। जैसे-जैसे सत्यापन होता जा रहा है, वैसे-वैसे वितरण भी किया जा रहा है।
- अतुल कुमार सिंह, बीएसए
... और पढ़ें

विरोध के चलते बैरंग लौटी अवैध कब्जा हटाने गई टीम

टांडा। नागरिकों के विरोध के चलते अवैध कब्जा हटाने गई नगर पालिका की टीम को बैरंग वापस लौटना पड़ा। असल में नगर पालिका परिषद के वार्ड संख्या-आठ अलहादादपुर में करीब आधा दर्जन नागरिकों द्वारा रास्ते में अवैध रूप से शौचालय व नल आदि लगा लिया गया है। इसकी शिकायत मिलने के बाद नगर पालिका प्रशासन ने बीते पास पांच नवंबर को नोटिस जारी कर अवैध कब्जेदारों से कब्जा हटाने का निर्देश दिया था, लेकिन अवैध कब्जेदारों ने कब्जा नहीं हटाया।
बताते चलें कि अलीगंज पुलिस चौकी के पीछे वर्षों पूर्व से बसी आबादी में कई परिवार रहते हैं। आरोप है कि इनमें से कई नागरिकों द्वारा रास्ते की भूमि पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया गया है। संबंधित भूमि पर स्थायी निर्माण भी कर लिया गया है। बीते दिनों शिकायत मिलने के के बाद पालिका प्रशासन ने संबंधित कब्जेदारों के विरुद्ध नोटिस जारी किया, लेकिन उक्त लोगों ने अवैध कब्जा नहीं हटाया।
इस पर मंगलवार देरशाम नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी मनोज कुमार सिंह के निर्देश पर टीम मौके पर पहुंची, और पैमाइश कर अवैध कब्जा हटाने का प्रयास किया। नागरिकों के आक्रोश प्रकट करने के चलते टीम को बैरंग वापस लौटना पड़ा। ईओ ने बताया कि जल्द ही पुलिस टीम भी मौके पर भेजी जाएगी। जिससे कोई विवाद न उत्पन्न हो। कब्जेदारों ने यदि अवैध कब्जा हटाने में अवरोध पैदा किया तो कार्रवाई भी की जाएगी।
... और पढ़ें

मार्ग प्रकाश की व्यवस्था न होने से मेलार्थियों को रही मुश्किल

बसखारी (अंबेडकरनगर)। मार्ग प्रकाश की व्यवस्था न होने से गोविंद साहब मेले में पहुंचने से पहले श्रद्धालुओं को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। एनएच 233 के बन जाने के बाद दूरदराज के क्षेत्रों से आने वाले श्रद्धालुओं को वाहन चालक न्यौरी बाजार से 500 मीटर पहले ओवरब्रिज पर ही उतार देते हैं। इसके बाद श्रद्धालुओं को पैदल न्यौरी बाजार तक आना पड़ता है। यहां से टैक्सी आदि के माध्यम से श्रद्धालु गोविंद साहब धाम पहुंचते हैं।
बताते चलें कि गोविंद साहब धाम में गोविंद दशमी के स्नान के साथ माह भर चलने वाले मेले का शुभारंभ हो गया है। मेले में न सिर्फ अंबेडकरनगर से श्रद्धालु पहुंच रहे हैं, बल्कि पास पड़ोस जिले के भी मेलार्थी पहुंच रहे हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग बन जाने के चलते अब यात्री बस न्यौरी बाजार में न आकर बाजार से करीब 500 मीटर पहले ही एनएच पर न्यौरी के पास बने ओवरब्रिज पर ही उतार देते हैं।
मेलार्थियों को बस पकड़नी होती है तो उन्हें न्यौरी बाजार से पैदल ओवरव्रिज पहुंचना पड़ रहा है। दिन में यात्रियों को आवागमन में मुश्किल नहीं होती, लेकिन रात के समय मार्ग प्रकाश की व्यवस्था न होने से काफी दिक्कत हो रही है। रात के समय सड़क पर अंधेरा होने के चलते असुरक्षा का माहौल रहता है।
एनएच मार्ग पर स्ट्रीट लाइट लगी हैं, लेकिन अभी चालू नहीं किया गया है। गोविंद साहब मेले को देखते हुए जिला उद्योग व्यापार मंडल अध्यक्ष शिवकुमार गुप्त ने प्रशासन से मार्ग प्रकाश की व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने की मांग की है। कहा कि श्रद्धालुओं की सुविधा व सुरक्षा का पूरा ख्याल रखा जाए।
... और पढ़ें

लेखपालों ने प्रदर्शनकर जताया विरोध

अंबेडकरनगर। पुरानी पेंशन बहाली, पदोन्नति, अतिरिक्त कार्य न लिए जाने समेत विभिन्न मांगों को लेकर शुक्रवार को उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ के तत्वावधान में सभी तहसीलों के लेखपालों ने कलेक्ट्रेट के पास धरना दिया। कहा कि उनकी समस्याओं को लेकर जिम्मेदार लोगों की ओर से गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है। चेतावनी दी गई कि यदि 15 दिसंबर तक मांगों का निस्तारण नहीं हुआ तो लखनऊ में धरना-प्रदर्शन किया जाएगा।
बीते 10 से 12 दिसंबर तक हर तहसील मुख्यालय पर लेखपालों ने हड़ताल कर प्रदर्शन किया था। मांगें पूरी न होने पर पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, शुक्रवार 13 दिसंबर से कलेक्ट्रेट के पास सभी तहसीलों के लेखपालों ने पहुंचकर धरना-प्रदर्शन किया। 15 दिसंबर तक कलेक्ट्रेट के पास चलने वाले प्रदर्शन के पहले दिन जिलाध्यक्ष रामचरन दुबे ने कहा कि बीते तीन दिनों तक तहसील मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन के बावजूद जिम्मेदार लोगों ने किसी भी प्रकार की गंभीरता नहीं दिखाई।
ऐसे में मजबूर होकर कलेक्ट्रेट के पास धरना देना पड़ रहा है। 15 दिसंबर तक यहां धरना दिया जाएगा। यदि इसके बाद भी मांगों का निस्तारण नहीं किया गया तो लखनऊ में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। वक्ताओं ने कहा कि पुरानी पेंशन बहाली की मांग लंबे समय से की जा रही है, लेकिन इसे लेकर जिम्मेदार लोगों द्वारा तनिक भी गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है। अतिरिक्त कार्य न लिए जाने की मांग को भी नजरअंदाज किया जा रहा है।
इस प्रकार की उपेक्षा अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जायज मांगों को लेकर जो संघर्ष छेड़ा गया है उसे अब अंजाम तक पहुंचाया जाएगा। इस दौरान रामशेष, उमापति उपाध्याय, अमजद अली, अजय कुमार, गरिमा, अमित, सत्यम आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

जलभराव से मुश्किल, बैंक शाखा व दुकानों में घुसा पानी

भीटी। विकास खंड भीटी क्षेत्र के चनहा चौराहे से ब्लॉक तिराहे तक निर्मित टू लेन सड़क के दोनों किनारे पर बारिश के चलते जलभराव हो जाने से आम लोगों को शुक्रवार को आवागमन में मुश्किलों का सामना करना पड़ा। बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा के अलावा कई दुकानों में भी पानी पहुंच गया। इससे स्थानीय नागरिकों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा।
बता दें कि भीटी विकासखंड क्षेत्र के चनहा चौराहे से ब्लॉक तिराहे तक सांसद निधि से टू लेन सड़क का निर्माण हुआ है। इससे आवागमन में लोगों को राहत तो मिल गई, लेकिन सड़क के दोनों किनारों पर जल निकासी का कोई समुचित प्रबंध नहीं किया गया। इस बीच कुछ दिनों पहले नाली का निर्माण शुरू करा दिया गया है। इस बीच गुरुवार रात हुई बारिश के चलते समुचित जल निकासी न होने से जहां आसपास के दुकानों में पानी घुस गया वहीं बाजार स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा में पानी भर गया।
गेट के अंदर तक पानी जमा हो जाने से शुक्रवार सुबह बैंक आए उपभोक्ताओं को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा तो आसपास के दुकानदारों को काफी दिक्कत हुई। स्थानीय दुकानदारों का कहना है कि सड़क निर्माण के साथ ही यदि नाली का निर्माण हुआ होता तो ऐसी समस्या न उत्पन्न होती है, लेकिन जिम्मेदरों ने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। नाली का निर्माण शुरू कराया गया है लेकिन वह भी सुस्त रफ्तारी का शिकार है। ऐसे में दुकानदारों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।
... और पढ़ें

छापामारी कर लिए पनीर, दूध व छेना के पांच नमूने

अंबेडकरनगर। मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री पर अंकुश लगाने के लिए खाद्य सुरक्षा व औषधि प्रशासन की टीम ने सघन जांच अभियान चलाकर दूध, पनीर व छेना के पांच नमूने लिए। बाद में सभी नमूनों को जांच के लिए भेज दिया गया। दुकानदारों को मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री न करने की चेतावनी दी गई।
डीएम के निर्देश पर शुक्रवार को भी सघन जांच अभियान जारी रहा। शुक्रवार को अभिहित अधिकारी राजवंश श्रीवास्तव व मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी केके उपाध्याय के नेतृत्व में टीम ने सघन जांच अभियान चलाया। टीम ने बसखारी रोड पर दुग्ध विक्रेता मंतराम, रामलाल व वेदप्रकाश से दूध का नमूना लिया। टीम ने इसके बाद कुर्की बाजार स्थित शंकर मिष्ठान भंडार का जायजा लिया।
मिलावट के संदेह में छेने का नमूना लिया। बसखारी बाजार स्थित गौरव डेयरी का निरीक्षण किया। यहां से मिलावट के संदेह में पनीर का नमूना लिया। बाद में सभी नमूनों को जांच के लिए भेज दिया गया। अभिहित अधिकारी ने कहा कि मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री पर अंकुश लगाने के लिए जांच अभियान लगातार जारी रहेगा। बताया कि दुकानदारों को आगाह किया गया कि वे कतई मिलावटी व नकली खाद्य पदार्थों की बिक्री न करें।
... और पढ़ें

बाइक सवार को बचाने में पेड़ से टकरायी स्कूल बस

राजेसुल्तानपुर (अंबेडकरनगर)। बाइक सवार को बचाने के प्रयास में शुक्रवार सुबह बेकाबू होकर स्कूली बस पेड़ से टकरा गई। गनीमत रही कि उस समय बस में बच्चे सवार नहीं थे। घटना में चालक व परिचालक को चोटें आईं हैं। सूचना के बावजूद विलंब से एंबुलेंस के पहुंचने पर लोगों ने कड़ी नाराजगी जाहिर की। इसके बाद दोनों घायलों को निजी वाहन से आजमगढ़ अस्पताल पहुंचाया। जानकारी मिलने पर राजेसुल्तानपुर पुलिस भी मौके पर पहुंची। नाराज लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया।
शुक्रवार को राजेसुल्तानपुर थाना क्षेत्र के बांसगांव सेंट जेवियर्स स्कूल की बस सुबह बच्चों के लेने के लिए विद्यालय से सिंघलपट्टी रोड पर जा रही थी। अचानक कस्तूरीपुर मोड़ के निकट एक बाइक सवार आ गया। उसे बचाने के चक्कर में बेकाबू होकर सड़क के किनारे पेड़ से टकरा गई। इसमें बस चालक मोहम्मद रफीक (25) निवासी राजेपुर व सहायक साजिद (20) निवासी राजेपुर थाना राजेसुल्तानपुर घायल हो गए।
घायल चालक व सहायक दोनों को ग्रामीणों ने बाहर निकाला। गनीमत रही कि घटना के समय बस में बच्चे नहीं बैठे थे। ग्रामीणों का आरोप था कि सूचना देने के काफी देर तक एंबुलेंस नहीं पहुंची। इस पर सामाजिक कार्यकर्ता मित्रसेन यादव ने अपने निजी वाहन से दोनों घायलों को आजमगढ़ जिला अस्पताल पहुंचाया। बाद में एंबुलेंस पहुंची तो ग्रामीणों ने कड़ी नाराजगी जाहिर की। इस बीच एसओ राजेसुल्तानपुर रामलखन पटेल मौके पर पहुंचे, और ग्रामीणों को समझा बुझाकर शांत कराया।
... और पढ़ें

बढ़ते अतिक्रमण से गहरा रहा रामनगर में जाम का संकट

आलापुर। सड़क की पटरियों पर बढ़ता अतिक्रमण रामनगर बाजार में जाम का सबब बनता जा रहा है। आए दिन बाजार में लग रहे जाम से राहगीरों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। पुलिस प्रशासन द्वारा सख्ती न बरते जाने के चलते यह समस्या लाइलाज होती जा रही है। नागरिकों ने प्रशासन से अविलंब अभियान चलाकर पटरियों को अतिक्रमण मुक्त कराए जाने की मांग की है। कहा कि आए दिन लगने वाले जाम से काफी दिक्कत हो रही है। जाम की वजह से कई बार विवाद की भी स्थिति उत्पन्न हो जाती है।
बताते चलें कि रामनगर बाजार आलापुर मुख्यालय की मुख्य बाजार है। समय के साथ-साथ बाजार का दायरा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में यहां पहुंचने वाले यात्रियों व ग्राहकों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। कई स्कूल कॉलेजों के होने के चलते छात्र छात्राओं का आवागमन रामनगर बाजार में बड़ी संख्या में होता है।
यही नहीं वाहनों की संख्या में हो रहे इजाफे से रामनगर बाजार की तंग सड़कें सुचारु आवागमन में नाकाफी साबित हो रही हैं। जाम की मुख्य वजह पटरियों पर अतिक्रमण भी है। सुबह होने के साथ ही पटरियों पर दुकानें सज जाती हैं, जिससे बड़े वाहनों के आ जाने पर पास लेने में काफी दिक्कत होती है। ऐसे में बाजार की यातायात व्यवस्था रेंगना शुुरु कर देती है। सुबह से शुरु होने वाला यह सिलासिला लगभग पूरे दिन चलता है। रामनगर चौक से बसखारी, जहांगीरगंज, न्यौरी, आजमगढ़, बिड़हरघाट, संतकबीरनगर व राजेसुल्तानपुर आदि स्थानों के लिए वाहन गुजरते हैं। ये सभी बड़े बाजार हैं और यहां के लिए बड़ी संख्या में नागरिक आवागमन करते हैं। इससे रामनगर चौक क्षेत्र में हमेशा वाहनों की भीड़ लगी रहती है।
वैसे भी रामनगर में एक दर्जन से अधिक विद्यालय होने के चलते स्कूल वाहनों का भी दबाव बना रहता है। सुबह स्कूल खुलने के समय तथा बंद होने के समय यातायात व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो जाती है। इससे कई बार बच्चों को भी जाम में घंटों फंसना पड़ता है। चौक क्षेत्र में यातायात पुलिसकर्मियों की ड्यूटी न होने के चलते भी जाम की समस्या आम हो गई है। पुलिसकर्मी अक्सर तभी मौके पर पहुंचते हैं, जब जाम विकराल रूप ले लेता है।
भाजपा मंडल अध्यक्ष भगवान पांडेय, सामाजिक कार्यकर्ता मिथिलेश शुक्ला, रमेश गुप्त आदि का कहना है कि जब तक प्रशासन सख्ती के साथ पटरियों से अतिक्रमण नहीं हटाएगा, तब तक व्यवस्था में सुधार नही हो सकता। इसके साथ ही प्रशासन को चौक क्षेत्र में यातायात को सुचारु बनाए रखने के लिए यातायात या फिर थाने के पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगायी जानी चाहिए। जाम के संकट से न सिर्फ नागरिकों को मुश्किल होती है, बल्कि व्यापार पर भी इसका प्रतिकूल असर पड़ता है।
रामनगर में यातायात व्यवस्था को दुरुस्त बनाए रखने के लिए पुलिस कर्मियों को निर्देश हैं। पटरियों से अतिक्रमण हटाने के लिए जल्द ही अभियान भी चलाया जाएगा। व्यापारियों से भी आग्रह है कि वे खुद अतिक्रमण हटा लें।
- जगदीश लाल, क्षेत्राधिकारी, आलापुर
... और पढ़ें

किसी ने खरीदीं कहानी की किताबें तो किसी ने दिखाई साहित्य में रुचि

अंबेडकरनगर। सर्वसेवा संघ प्रकाशन के तत्वावधान में अकबरपुर नगर के बीएन इंटर कॉलेज के सामने चल रही गांधी पुस्तक मेले में गुरुवार को सदाए दिल, लोक व्यवहार, प्रभावशाली व्यक्तित्व की कला जैसी पुस्तकों की लोगों ने जमकर खरीददारी की। वहीं, छोटी-छोटी कहानियों से जुड़ी पुस्तकों की छात्र-छात्राओं ने बढ़ चढ़कर खरीददारी की।
गांधी पुस्तक प्रदर्शनी में पुस्तक प्रेमियों के पहुंचने का सिलसिला लगातार जारी है। गुरुवार को न सिर्फ अकबरपुर, बल्कि इर्दगिर्द के क्षेत्रों से भी लोगों के आने का सिलसिला शुरू हो गया है। गुरुवार को खराब मौसम के बावजूद पुस्तक प्रेमियों के साथ साथ विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने पहुंचकर मनपसंद पुस्तकों की खरीददारी की। युवा अवधेश कुमार व जितेंद्र ने कहा कि उन्होंने अरशद जमाल की सदाए दिल पुस्तक की खरीददारी की है। इसकी कहानी दिल को छू लेने वाली है। एमए की छात्रा रोजी व मंजीरी द्विवेदी ने कहा कि उन्होंने लोक व्यवहार व प्रभावशाली व्यक्तित्व की कला नामक पुस्तक की खरीददारी की है।
छात्र रोहित व विमलेश ने कहा कि उन्होंने जीना सीखो व मधुशाला पुस्तक की खरीददारी की। सेवानिवृत्त कर्मचारी इम्तियाज ने कहा कि उन्होंने नमक का दरोगा व गुनाहों के देवता पुस्तक की खरीददारी की, तो सेवानिवृत्त शिक्षक रामलाल यादव ने अध्यात्मिक जीवन नामक पुस्तक की खरीददारी की। इसके अलावा विभिन्न विद्यालयों से आए छात्र-छात्राओं ने छोटी छोटी कहानियों से जुड़ी पुस्तक की बढ़ चढ़कर खरीददारी की। आयोजक अजय कुमार यादव ने कहा कि जिस प्रकार से प्रदर्शनी में आने वालों की संख्या प्रतिदिन बढ़ रही है, उससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि साहित्य के प्रति लोगों की रुचि लगातार बढ़ रही है।
... और पढ़ें

लेखपालों की हड़ताल तीसरे दिन भी जारी

अंबेडकरनगर। लेखपालों की हड़ताल से गुरुवार को तीसरे दिन भी जारी रही। एक तरफ लेखपाल खुद के पीड़ित होने का दावा करते रहे। साथ में मांगे न माने जाने तक हड़ताल जारी रखने की चेतावनी भी देते रहे। वहीं, यहां विभिन्न कामों से आने वाले आम लोग लगातार परेशान हो रहे हैं। लोगों को आय, जाति, निवास प्रमाणपत्र के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। संपूर्ण समाधान दिवस व थाना दिवस में लंबित शिकायतों का निस्तारण भी नहीं हो पा रहा है।
तीन दिन से लेखपाल हड़ताल पर हैं। इससे तहसील के कई काम ठप पड़े हैं। आय, जाति व निवास प्रमाणपत्र के लिए लोग भटकने को मजबूर हैं। गुरुवार को आय, जाति व निवास प्रमाणपत्र के लिए पहुंचे बेवाना के राहुल, अकबरपुर की सुनीता व शहजादपुर के दिलशेर ने कहा कि वह बीते एक सप्ताह से तहसील का चक्कर लगा रहा है, लेकिन लेखपाल की रिपोर्ट न लगने के चलते प्रमाणपत्र नहीं मिल पा रहा है। लेखपालों की हड़ताल को देखते हुए जिम्मेदार अधिकारियों को वैकल्पिक व्यवस्था करनी चाहिए। इसके अलावा खतौनी की नकल भी नहीं निकल पा रही है। संपूर्ण समाधान दिवस व संपूर्ण थाना दिवस में लंबित समस्याओं का निस्तारण भी लेखपालों की हड़ताल के चलते नहीं हो पा रहा है। इससे नागरिकों को विभिन्न प्रकार की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।
उधर, गुरुवार को भी विभिन्न मांगों को लेकर लेखपाल हड़ताल पर डटे रहे। अकबरपुर तहसील में हड़ताली लेखपालों को संबोधित करते हुए तहसील अध्यक्ष अमजद अली ने कहा कि मांगों को जायज बताया। चेतावनी दी गई कि जब तक मांगों का निस्तारण नहीं होता तब तक हड़ताल जारी रहेगी। इस दौरान इस दौरान उमापति उपाध्याय, रामजीत, कुलदीप, गरिमा, अतुल, अमित, सत्यम आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

राज्य कर्मचारियों ने की पुरानी पेंशन बहाल करने की मांग

अंबेडकरनगर। उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रतिनिधि मंडल ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट में विभिन्न मांगों से संबंधित प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा। कहा गया कि यदि उनकी मांगों का निस्तारण नहीं किया गया तो आंदोलन करने को विवश होंगे।
तहसीलदार को सौंपे ज्ञापन में संयोजक रविश्याम पटेल ने कहा कि कर्मचारी अपनी जिम्मेदारी का निर्वह्न पूरी ईमानदारी के साथ कर रहे हैं। इसके बावजूद उनकी लगातार उपेक्षा की जा रही है। जब भी मागों को लेकर आवाज बुलंद की जाती है, तो सिर्फ आश्वासन ही दिया जाता है। इससे आगे प्रक्रिया नहीं बढ़ती। कहा कि पुरानी पेंशन बहाली की मांग लंबे समय से की जा रही है। इसे लेकर कई बार धरना प्रदर्शन भी किया गया, लेकिन कोई ठोस कदम अब तक नहीं उठाया जा सका है। इससे कर्मचारियों का हित मारा जा रहा है। नई पेंशन व्यवस्था से कर्मचारियों का भविष्य सुरक्षित नहीं होने वाला है। ऐसे में कर्मचारियों के हित को देखते हुए अति शीघ्र पुरानी पेंशन बहाल की जाए।
वक्ताओं ने कहा कि रिक्त स्थानों पर तैनाती की मांग को भी नजरअंदाज किया जा रहा है। आउट सोर्सिंग पर रखे जाने वाले कर्मचारियों को समान कार्य, समान वेतन दिए जाने, केंद्रीय कर्मचारियों की तरह ही उन्हें भी भत्ता दिए जाने, ग्रेड पे बढ़ाए जाने की मांग भी लंबे समय से की जा रही है, लेकिन जिम्मेदार लोगों द्वारा इसे लेकर गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है। चेतावनी दी गई कि यदि शीघ्र ही उनकी मागों का निस्तारण नहीं हुआ तो आंदोलन छेड़ने के लिए विवश होंगे। इस दौरान रामलाल वर्मा, नरेंद्र वर्मा, मंजू सिंह, बांके प्रसाद, योगेंद्र सिंह, रमेश कुमार, शैलेंद्र त्रिपाठी, दिनेश यादव, पारसनाथ आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

छात्र-छात्राओं को मुहैया कराया जाएगा खेल का सामान

अंबेडकरनगर। जिले के 1873 परिषदीय विद्यालयों में करीब सवा करोड़ की लागत से छात्र-छात्राओं को खेल के उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे। इसका लाभ इन विद्यालयों में पढ़ने वाले दो लाख 11 हजार छात्र-छात्राओं को मिलेेगा। न सिर्फ इंडोर बल्कि आउट डोर खेल का आनंद बच्चे उठा सकेंगे। साथ ही महापुरुषों के जीवन पर प्रकाश डालने वाली पुस्तकों समेत अन्य ज्ञानवर्धक किताबें भी पढ़ने के लिए उन्हें विद्यालय में उपलब्ध करायी जाएंगी। इस बीच खेल सामग्रियों के लिए एक करोड़ 19 लाख 65 हजार रुपये की राशि बीएसए कार्यालय को मिली है। इसे विद्यालय प्रबंध समिति के खाते में भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।
परिषदीय विद्यालयों की तरफ छात्र-छात्राओं व उनके अभिभावकों की रुचि बनी रहे, इसके लिए केंद्र व प्रदेश सरकारों द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। इसमें दोपहर का भोजन देने के साथ ही पुस्तकें, जूता मोजा, स्वेटर, स्कूली बैग भी निशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। इन सबके बीच अब शासन ने छात्र-छात्राओं को विद्यालय परिसर में ही खेल का आनंद लेने के लिए जरूरी खेल सामग्री उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। साथ ही विद्यालय में ही पुस्तकालय की भी स्थापना किए जाने का निर्णय लिया, जिसमें न सिर्फ महापुरुषों के जीवन पर प्रकाश डालती पुस्तकें होंगी, बल्कि संगीत व प्रतियोगी परीक्षाओं की भी महत्वपूर्ण पुस्तकें शामिल होंगी। बताते चलें कि जिले के विभिन्न क्षेत्रों में कुल 1873 परिषदीय विद्यालय संचालित हैं, जिसमें दो लाख 11 हजार छात्र-छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।
बीएसए कार्यालय के वरिष्ठ लिपिक देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि खेलकूद सामग्री के लिए गत दिवस ही शासन से 1 करोड़ 19 लाख 65 हजार रुपये की राशि उपलब्ध हो चुकी है। इसमें 520 उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 10 हजार रुपये प्रति विद्यालय की दर से 52 लाख, जबकि 1353 प्राथमिक विद्यालयों में 5 हजार रुपये की दर से 67 लाख 65 हजार रुपये भेजे जाएंगे। जिला समन्वयक डॉ. हरिश्चंद्र शुक्ला ने बताया कि विद्यालय प्रबंध समिति के खाते में राशि भेजे जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। प्रबंध समिति को निर्देशित किया गया है कि विद्यालय में खेल मैदान को देखते हुए ही खेल सामग्रियों की खरीददारी की जाए।
वरिष्ठ लिपिक डीपी सिंह ने बताया कि जिले में संचालित सभी 1873 परिषदीय विद्यालयों में पुस्तकालय की भी व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए भी शासन से 1 करोड़ 19 लाख 65 हजार रुपये की राशि शीघ्र ही शासन से उपलब्ध हो जाएगी। बताया कि पुस्तकालय में महापुरुषों के जीवन पर प्रकाश डालती पुस्तकों के साथ ही संगीत संबंधित पुस्तकें भी उपलब्ध होंगी। इसके अलावा बाल कहानियां व प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित पुस्तकें भी लाइब्रेरी में उपलब्ध रहेंगी। पुस्तकों की खरीददारी भी विद्यालय प्रबंध समिति द्वारा किया जाएगा।
खेल सामग्रियों की खरीददारी के लिए शासन से 1 करोड़ 19 लाख 65 हजार रुपये की राशि प्राप्त हो गई है। खेल सामग्रियों की खरीददारी की जा सके, इसके लिए शीघ्र ही विद्यालय प्रबंध समिति के खाते में राशि भेज दी जाएगी। इसके अलावा पुस्तकालय के लिए भी शीघ्र ही शासन से राशि उपलब्ध हो जाएगी।
- अतुल कुमार सिंह, बीएसए
... और पढ़ें

बरवा बैरमपुर उपकेंद्र से जुड़े उपभोक्ताओं की बढ़ीं मुश्किलें

अंबेडकरनगर। विद्युत उपकेंद्र बैरमपुर बरवां से जुड़े उपभोक्ताओं को पर्याप्त बिजली नहीं मिल पा रही है। इससे उनमें गुस्सा है। उनका कहना है कि निर्धारित 20 घंटे के रोस्टर के बजाए 14 घंटे ही बिजली मिल रही है। इसके चलते पेयजल समस्या के साथ तमाम तरह की दिक्कतें हो रही हैं।
विद्युत उपकेंद्र बरवा बैरमपुर से जुड़े उपभोक्ताओं को पिछले कुछ दिनों से सुचारु विद्युत आपूर्ति नहीं मिल पा रही। उपभोक्ताओं की मानें तो भोर में ही बिजली काट दी जाती है। इसके बाद सुबह आठ बजे आपूर्ति की जाती है। करीब दस बजे दोबारा कटौती कर ली जाती है। इसी तरह से दिन में कई चक्र में बिजली की कटौती होती रहती है। नतीजा यह होता है कि जहां पेयजल के लिए लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, वहीं बिजली से होने वाले कई अन्य कार्य भी प्रभावित होते रहते हैं। पॉवर कार्पोरेशन के अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही का खामियाजा दर्जनों गांवों के उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ता है।
उपभोक्ताओं का कहना है कि दिन के समय में होने वाले कटौती से कई कार्य प्रभावित होते हैं। इसके अलावा खेती से भी जुड़े कई कार्य समय से नहीं हो पाते। वहीं सरकार आये दिन बिजली की दरों में बढ़ोत्तरी करती रहती है, लेकिन अनियमित कटौती को दूर करने को लेकर कोई कदम नहीं उठाया जाता। उपभोक्ताओं ने पॉवर कार्पोरेशन के अधिकारियों से बिजली आपूर्ति सुचारु करने की मांग की है। उधर अधिशाषी अभियंता वीके पटेल ने बताया कि कई बार तकनीकी गड़बड़ी या मरम्मत कार्यों के चलते आपूर्ति प्रभावित होती है, लेकिन जानकारी मिलते ही तत्परतापूर्वक उसे दूर कराया जाता है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us