विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अखिलेश यादव का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज, 'बदला बाबा' अब क्या करेंगे

इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने पर इसकी भरपाई के लिए जारी की गई नोटिस पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है।

17 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

अम्बेडकरनगर

सोमवार, 17 फरवरी 2020

संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ से लटका मिला युवक का शव

जलालपुर। कोतवाली क्षेत्र के पक्खरपुर गांव के बाहर तमसा नदी के किनारे शुक्रवार सुबह चिलबिल के पेड़ से एक युवक का शव संदिग्ध हालात में लटकता मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारण की स्पष्ट जानकारी हो सकेगी। हालांकि, पुलिस ने मामले में छानबीन शुरू कर दी है।
जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह कुछ ग्रामीण गांव के बाहर से होकर गुजर रही तमसा नदी की तरफ गए, तो वहां का दृश्य देखकर सन्न रह गए। एक युवक का शव लोवर के सहारे चिलबिल के पेड़ से लटक रहा था। उसकी पहचान पक्खरपुर गांव निवासी नोहर यादव (35) पुत्र रामसरन यादव के रूप में हुई। सूचना गांव तक पहुंची, तो रोते पीटते परिवारीजन भी मौके पर पहुंच गए। कुछ ही देर में बड़ी संख्या में ग्रामीण भी मौके पर एकत्र हो गए। जानकारी मिलते ही डायल 112 के सिपाही मौके पर पहुंचे।
ग्रामीणों की मदद से शव नीचे उतरवाया। इसी बीच एसओ प्रद्युम्न सिंह भी पुलिस टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए। शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसओ ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारण की स्पष्ट जानकारी हो सकेगी। अभी तक किसी भी प्रकार की तहरीर तो नहीं मिली है, लेकिन मामले में छानबीन शुरू कर दी गई है।
उधर ,मृतक की पत्नी रेखा के अनुसार गुरुवार मध्यरात्रि के बाद लगभग दो बजे उसका पति बाहर जाने के लिए उठे। जब उसने पूछा कि कहां जा रहे हो तो लघुशंका के लिए जाने की बात कही। जब काफी देर तक वह वापस नहीं लौटा तो चिंता सताने लगी। इस पर वह बगल के घर में रह रहे जेठ चंद्रभान को जानकारी दी। उसके जेठ व अन्य ने उसकी तलाश शुरू की, लेकिन रात में उसका कुछ पता नहीं चल सका। सुबह उसका शव पेड़ से लटकते हुए पाए जाने की जानकारी हुई।
... और पढ़ें

हादसे में दो की मौत

अंबेडकरनगर। बड़ी बहन की बारात के लिए मित्र के साथ मिठाई लेकर बाइक से घर जा रहे युवक को अकबरपुर कोतवाली अन्तर्गत सदरपुर चौराहे के पास गन्ना लदी ट्रैक्टर-ट्रॉली ने रौंद दिया। उसकी मौत हो गई, जबकि गंभीर रूप से घायल उसके मित्र को प्राथमिक उपचार के बाद ट्रॉमा सेंटर, लखनऊ रेफर कर दिया गया। उधर, चचेरे भाई की बारात में जा रहे बाइक सवार युवक को अकबरपुर नगर के पास अज्ञात वाहन ने रौंद दिया। उसकी भी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। घटना के बाद दोनों घरों में मातम छा गया।
जानकारी के अनुसार, अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के बावनपुर निवासी अभिषेक (22) पुत्र महेंद्र व रामसजीवन (32) पुत्र बच्चारा गुरुवार देर शाम अकबरपुर बाजार में मिठाई लेने के लिए गए थे। बताया जाता है कि अभिषेक के ताऊ की पुत्री की बारात गुरुवार देर शाम आई हुई थी। इसी के लिए मिठाई लेने के लिए वह अकबरपुर गया हुआ था।
मिठाई लेकर जब दोनों वापस घर जाने लगे तो सदरपुर चौराहा के निकट उधर से गुजर रही गन्ना लदी ट्रैक्टर ट्रॉली ने उन्हें चपेट में ले लिया। इससे दोनों को गंभीर चोटें आईं। घटना के बाद चालक वाहन छोड़कर भाग खड़ा हुआ। सांस चलने की उम्मीद में दोनों को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने अभिषेक को मृत घोषित कर दिया। हालत की गंभीरता को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद रामसजीवन को ट्रॉमा सेंटर, लखनऊ रेफर कर दिया गया।
उधर, बेवाना थाना अन्तर्गत अहेथिया किशुनपुर गांव निवासी देवेंद्र पाल (28) पुत्र गयाप्रसाद अपने मित्र विनोद (23) पुत्र रामसूरत गुरुवार रात एक ही बाइक से अकबरपुर कोतवाली अन्तर्गत बरियावन के कोरई गांव में अपने चाचा के पुत्र की बारात जा रहा था। बताया जाता है कि जब वे अकबरपुर नगर के पास पहुंचे तो इसी बीच उधर से गुजर रहे अज्ञात वाहन ने उन्हें रौंद दिया।
इससे देवेंद्र की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि विनोद को गंभीर चोटें आईं। घटना के बाद चालक वाहन लेकर भाग खड़ा हुआ। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया जबकि घायल विनोद को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। उधर घटना के बाद विवाह की खुशियां गम में बदल गईं। जल्दी जल्दी वैवाहिक आयोजन निपटाया गया।
अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के बावनपुर गांव में खुशी का माहौल था। बारातियों को नाश्ता पानी कराया जा रहा था। इसी बीच मार्ग हादसे में अभिषेक की मौत हो जाने की सूचना गांव पहुंची। अचानक ढोल नगाड़ों व डीजे पर बज रहे गीतों पर युवकों की थिरकन बंद हो गई। घर में रोना पीटना मच गया। किसी की कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि अब क्या होगा। इसी बीच दूल्हे ने सादगी के साथ विवाह की सभी प्रक्रिया पूरी कराने का फैसला लिया। जल्दी-जल्दी वैवाहिक कार्यक्रम गमगीन माहौल में निपटाया गया और रात में ही विदाई कर दी गई। शुक्रवार सुबह गमगीन माहौल में अभिषेक की अर्थी उठी।
... और पढ़ें

अज्ञात कारणों से पोल्टी फार्म में लगी आग

जहांगीरगंज। थाना अन्तर्गत अशरफाबाद गांव के बाहर स्थित पोल्ट्री फार्म में शुक्रवार सुबह आग लग गई। आग की उठती लपटें देख मौके पर हड़कंप मच गया। बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। सूचना पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू में करने का प्रयास शुरू कर दिया। लगभग एक घंटे के अथक प्रयास के बाद आग पर काबू पाया गया, लेकिन तब तक 10 हजार से अधिक मुर्गी के बच्चों की आग से झुलसकर मौत हो चुकी थी। पीड़ित के अनुसार लगभग पांच लाख रुपये की संपत्ति को नुकसान हुआ। बाद में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर जायजा लिया और जरूरी जानकारी प्राप्त की। आग के कारणों की स्पष्ट जानकारी नहीं हो सकी।
जानकारी के अनुसार अशरफाबाद निवासी राजेश सिंह का गांव के बाहर पोल्ट्री फार्म है। प्रतिदिन की तरह शुक्रवार सुबह साफ सफाई व मुर्गी के बच्चों को दाना पानी देने का कार्य चल रहा था। इसी बीच अचानक आग की लपटें उठने लगीं। इससे मौके पर भगदड़ गई। वहां कार्य कर रहे कर्मचारी गुहार मचाते हुए बाहर की तरफ भाग खड़े हुए। चीख पुकार सुन बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर एकत्र हो गए। आग तेजी से चारों तरफ फैलने लगी थी। ग्रामीणों ने मुर्गी के बच्चों को बचाने के लिए आग पर काबू करने का प्रयास शुरू कर दिया। हालांकि आग तेजी से रौद्र रूप अपना चुकी थी।
इस बीच जानकारी होने पर आलापुर से फायर ब्रिगेड की टीम भी मौके पर पहुंच गई। टीम ने ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाने का प्रयास शुरू कर दिया। लगभग एक घंटे के अथक प्रयास के बाद आग पर काबू पाया गया, लेकिन तब तक समूचा फार्म हाउस पूरी तरह जलकर राख हो चुका था। आग में 10 हजार से अधिक मुर्गी के बच्चों की झुलसकर मौत हो चुकी थी। पीड़ित के अनुसार लगभग 5 लाख की संपत्ति को नुकसान हुआ है। आग कैस लगी, इस बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं हो सकी। बाद में एसडीएम आलापुर भरतलाल सरोज व थानाध्यक्ष जहांगीरगंज विवेक वर्मा भी घटनास्थल पर पहुंच गए। अधिकारियों ने घटना के बारे में जरूरी जानकारी हासिल की और सभी संभव मदद दिलाए जाने का भरोसा दिलाया।
... और पढ़ें

जन आरोग्य मेले में 4794 मरीजों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण

अंबेडकरनगर। जिले के 32 सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों पर जन आरोग्य मेले का आयोजन हुआ। इसमें चिकित्सकों की टीम ने विभिन्न बीमारियों से पीड़ित 4 हजार 794 मरीजों के स्वास्थ्य का परीक्षण करने के साथ ही उन्हें दवा व परामर्श दिया। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व चिकित्सकों ने आम नागरिकों से इस निशुल्क स्वास्थ्य जांच मेले का लाभ उठाने की अपील की। कहा कि सरकार के इस प्रयास से गरीबों तक स्वास्थ्य सेवाएं तेजी से पहुंच रही हैं। ऐसे में सभी नागरिकों को इसका लाभ उठाना चाहिए।
अकबरपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर जन आरोग्य मेले का शुुभारंभ राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कॉलेज सद्दरपुर के प्राचार्य डॉ. पीके सिंह ने किया। बाद में सीएमओ डॉ. अशोक कुमार भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने सरकार द्वारा चलायी जा रही इस महत्वपूर्ण योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कहा कि आम नागरिकों को स्वास्थ्य मेले में पहुंचकर अपने स्वास्थ्य की निशुल्क जांच करानी चाहिए। आवश्यकतानुसार चिकित्सक उन्हें दवा व परामर्श देंगे। मेले में डॉ. हेमंत कुमार, डॉ. नवनिधि मिश्र, डॉ. सुभाष, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी एनसी राम आदि मौजूद रहे।
आलापुर प्रतिनिधि के अनुसार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर रविवार को स्वास्थ्य मेले का आयोजन हुआ। भाजपा जिला उपाध्यक्ष दशरथ यादव ने मेले का शुभारंभ किया। उन्होंने सरकार के इस प्रयास की सराहना की। कहा कि इससे गरीबों तक आसानी से सरकार की स्वास्थ्य सेवाएं पहुंच रही हैं। आम नागरिकों को सरकार की इस योजना का लाभ उठाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए यह योजना वरदान साबित हो रही है। जल्द ही सरकार के दिशा-निर्देश पर मेले में आयुष्मान योजना के कार्ड बनाने की भी सुविधा मिलेगी। इस दौरान प्रभारी डॉ. मुन्नीलाल निगम, डॉ. सुनील मौर्य, डॉ. एमपी मौर्य, बीपीएम विनोद कुमार, फार्मासिस्ट अरविंद, चंद्रिका, वबिता देवी व सूर्यमोहन आदि मौजूद रहे।
जलालपुर प्रतिनिधि के अनुसार नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बड़ेपुर, धवरुआ, मालीपुर, कासिमपुर कर्बला एवं महिला अस्पताल में जन आरोग्य मेले का आयोजन हुआ। मरीजों की जांच के साथ ही चिकित्सकों ने आम नागरिकों को कई महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। सीएचसी अधीक्षक डॉ. जावेद आलम, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी अनिल त्रिपाठी व सीडीपीओ बलराम सिंह ने विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण किया।
सीएमओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि रविवार को अलग-अलग स्वास्थ्य केंद्रों से आयी रिपोर्ट के अनुसार 32 केंद्रों पर आयोजित स्वास्थ्य मेले में 4 हजार 794 मरीजों की जांच हुई। इसमें सांस के 466, एनीमिया के 174, रक्तचाप के 281, गर्भवती 158, चर्मरोग के 502, ब्लड शुगर के 295, गैस्ट्रो के 846 व अन्य विभिन्न बीमारियों से परेशान 2769 मरीजों की जांच हुई।
... और पढ़ें

परिवार में अविश्वास की बजाए चीजों को मिल बैठकर समझने पर दें जोर

अंबेडकरनगर। पुलिस कार्यालय सभागार में रविवार को परिवार परामर्श केंद्र में पारिवारिक विवादों की काउंसलिंग हुई। इसमें कुल 25 मामले आए। इनमें से तीन का निस्तारण हुआ जबकि एक मामले में सुलह-समझौता के आधार पर पति-पत्नी साथ रहने को राजी हुए।
दोनों को अधिकारियों ने परामर्श केंद्र से ही उनके घर रवाना किया। केंद्र पर आयी महिलाओं व पुरुषों को समझाया गया कि छोटे-छोटे विवादों को तूल देने के बजाय आपस में समझने तथा चीजों को सामान्य ढंग से लेने की आदत डाली जाए।
पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी के निर्देश पर रविवार को परिवार विवादों की काउंसलिंग की गई। इसमें कुल 25 मामले आए। मौके पर तीन प्रकरण का निस्तारण कराया गया जबकि एक मामले में एक जोड़े को सुलह-समझौता के आधार पर घर भेजा गया। उपजिलाधिकारी भूमिका यादव ने परामर्श केंद्र पहुंचे पुरुषों व महिलाओं को समझाया कि जीवन में आपसी सामंजस्य को बनाए रखें। इससे बड़ी सी बड़ी समस्या को हल किया जा सकता है।
उन्होंने समझाया कि छोटी-छोटी बातों को तूल देने के बजाय उन्हें मिल बैठकर परिवार में समझना चाहिए। एक-दूसरे पर अविश्वास करने के बजाय किसी भी मुद्दे पर आपस में बैठकर बात करने पर कई बार गलतफहमियां दूर हो जाया करती हैं।
उपजिलाधिकारी गिरीश कुमार द्विवेदी ने परिवार परामर्श केंद्र की स्थापना के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। कहा कि गुस्से व तनाव में आकर कोई भी निर्णय नहीं लेना चाहिए। ऐसा प्रत्येक निर्णय न सिर्फ खुद के लिए बल्कि परिवार के लिए भी कई तरह की मुसीबत खड़ा करता है।
इस मौके पर प्रभारी निरीक्षक महिला सहायता प्रकोष्ठ संगीता सक्सेना, बीएन इंटर कॉलेज के प्राचार्य विपिन कुमार सिंह, महिला आरक्षी मंजू तिवारी, महिला आरक्षी रीता यादव समेत कई अन्य सदस्य मौजूद रहे।
... और पढ़ें

यूपी बोर्ड बोर्ड परीक्षा कल से, तैयारियां अंतिम चरण में

अंबेडकरनगर। जिले के 117 परीक्षा केंद्रों पर 18 फरवरी से प्रारंभ हो रही यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा को सकुशल व नकलविहीन निपटाने को लेकर सभी जरूरी तैयारियों को डीआईओएस कार्यालय ने पूर्ण कर लिए जाने का दावा किया है। विभाग के अनुसार बीते दिनों जो त्रुटिपूर्ण प्रवेशपत्र पहुंचे थे, उन्हें दुरुस्त कराकर संबंधित छात्र-छात्राओं को उपलब्ध करा दिया गया है।
79 हजार 361 परीक्षार्थियों को कोई समस्या न हो, इसके लिए परीक्षा केंद्रों पर शौचालय, पेयजल, प्रकाश व फर्नीचर आदि की व्यवस्थाएं पूरी कर ली गईं हैं। नकलविहीन परीक्षा के लिए पहली बार दो सुपर जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती जहां की गई है, वहीं पहली बार डीआईओएस कार्यालय में स्थित कंट्रोल रूम में ऑनलाइन परीक्षा पर नजर रखी जाएगी। इसके अलावा विगत वर्ष जहां छह सचल दल थे, वहीं इस बार सात सचल दल परीक्षा पर पैनी निगाह रखेंगे।
यूपी बोर्ड परीक्षा 18 फरवरी मंगलवार से प्रारंभ हो रही है। इस बार की परीक्षा में जहां परीक्षार्थियों की संख्या में कमी आई है, वहीं परीक्षा केंद्र बढ़ाए गए हैं। विगत वर्ष लगभग 82 हजार परीक्षार्थियों ने 115 केंद्रों पर परीक्षा दी थी। इस पर परीक्षार्थियों की संख्या घटकर 79 हजार 361 हो गई जबकि इनके लिए 117 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।
परीक्षा को सकुशल निपटाने के लिए परीक्षा केंद्रों पर शौचालय, पेयजल, प्रकाश व फर्नीचर आदि की व्यवस्थाएं पूरी कर लिए जाने का दावा डीआईओएस कार्यालय ने किया है। इसके साथ ही बीते दिनों लापरवाही के चलते त्रुटिपूर्ण प्रवेश पत्र पहुंच जाने से छात्र-छात्राओं में उहापोह की जो स्थिति थी, उसे दूर कराने का दावा भी विभाग ने किया है।
बताया गया कि त्रुटियों को दूर कराकर नया प्रवेश पत्र संबंधित छात्र-छात्राओं को उपलब्ध करा दिया गया है। नकलविहीन परीक्षा निपटाने को लेकर भी शासन के निर्देश पर प्रशासन ने मजबूत कार्ययोजना तैयार की है।
डीआईओएस कार्यालय के अनुसार पहली बार दो सुपर जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। इसके अलावा पहली बार राउटर के माध्यम से सभी परीक्षा केंद्रों में लगे सीसीटीवी कैमरे को डीआईओएस कार्यालय में स्थापित कंट्रोल रूम से जोड़ा गया है जिससे यहां बैठकर ही परीक्षा पर ऑनलाइन नजर रखी जा सकेगी।
विगत वर्ष परीक्षा को सकुशल निपटाने के लिए छह सचल दलों का गठन किया गया था जबकि इस बार इनकी संख्या बढ़ाकर सात कर दी गई है। सचल दल को परीक्षा केंद्रों का जायजा लेने के लिए किसी प्रकार की समस्या न हो, इसके लिए वाहन की भी व्यवस्था कर दी गई है।
डीआईओएस विनोद सिंह ने बताया कि यूपी बोर्ड परीक्षा को सकुशल व नकलविहीन निपटाने के लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई हैं। लगातार परीक्षा केंद्रों का जायजा लेकर दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं।
... और पढ़ें

पॉलिथीन पर रोक के लिए निकली टांडा नगर में जागरूकता रैली

विद्युतनगर। पॉलिथीन की रोकथाम तथा आम जनमानस के बीच जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से रविवार को नगर पालिका परिषद टांडा से रैली निकाली गई। पालिका के अधिशाषी अधिकारी के नेतृत्व में निकली रैली ने नगर के विभिन्न स्थानों का भ्रमण किया। इस बीच नागरिकों को पॉलिथीन का प्रयोग न करने व उससे होने वाली हानि के बारे में जानकारी दी गई। वक्ताओं ने कहा कि बेहतर स्वास्थ्य व स्वच्छ समाज स्थापना के लिए पॉलिथीन के प्रयोग से सभी को बचना होगा।
अधिशाषी अधिकारी मनोज कुमार सिंह के नेतृत्व में निकली रैली नगर के अलीगंज, छोटी बाजार, सिकंदराबाद तथा मीरानपुर होते हुए घंटा घर चौक पर पहुंचकर समाप्त हुई। इस दौरान अधिशाषी अधिकारी ने दुकानदारों व प्रतिष्ठान संचालकों को पॉलिथीन का प्रयोग न करने की सलाह दी। कहा कि पॉलिथीन हर तरह से समाज को दूषित कर रही है। इसको नष्ट करना काफी कठिन है। यह समाज के साथ-साथ लोगों के स्वास्थ्य को भी खराब कर रही है। इसलिए पॉलिथीन के प्रयोग को लेकर सभी को जागरूक होना होगा।
वक्ताओं ने दुकानदारों व आम जनमानस से अपील की कि सभी लोग पॉलिथीन के स्थान पर कपड़े के थैलों का प्रयोग करें। यह सुरक्षित होती है। सभी के प्रयासों से ही पॉलिथीन के प्रयोग पर अंकुश लगाया जा सकेगा। इस मौके पर अवर अभियंता नीतू कुमारी, सफाई निरीक्षक द्वारिका नाथ, मोहम्मद हुसैन, मो. अहमद, जलील अहमद, इशांत पांडेय, सुरेश पांडेय के अलावा समस्त सफाई नायक मौजूद रहे।
... और पढ़ें

रेल समपार व मानवरहित क्रासिंग बंद होने की प्रक्रिया शुरू

कटेहरी। रेल लाइन दोहरीकरण कार्य में तेजी सुनिश्चित करने तथा दुर्घटनाओं को रोकने के लिए उत्तर रेलवे ने अकबरपुर व गोशाइगंज तथा अकबरपुर व टांडा के बीच कुल 12 समपार को पूरी तरह बंद किए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए जिला प्रशासन को पत्र भेजकर जरूरी रिपोर्ट उपलब्ध कराने को कहा गया है।
गौरतलब है कि अकबरपुर से लेकर गोशाईगंज तथा अकबरपुर व टांडा के बीच लगभग एक दर्जन समपार हैं। इन जगहों से होकर प्रतिदिन हजारों ग्रामीण रेल लाइन पार करते हैं। क्रॉसिंग न होने तथा गेटमैन का इंतजाम न होने के चलते हादसे की आशंका बनी रहती है। हादसों को कम करने के लिए ही रेलवे न सिर्फ ऐसे स्थानों पर अधिकृत क्रॉसिंग का प्रबंध कर रहा है वरन ऐसे समपार को समाप्त करने पर भी काम कर रहा है।
इस बीच जफराबाद से लेकर अकबरपुर होते हुए बाराबंकी तक के रेल लाइन को दोहरीकरण किए जाने का कार्य मंजूर हो चुका है। यह काम प्रगति पर भी है। इन्हीं सबके बीच अब गोशाईगंज से अकबरपुर तथा टांडा से अकबरपुर के बीच स्थित 12 समपार को बंद किए जाने की प्रक्रिया शुरू हुई है। इस बारे में उत्तर रेलवे की तरफ से प्रशासन को पत्र भी भेजा गया है। पत्र में रेलवे क्रॉसिंग को लेकर जरूरी रिपोर्ट उपलब्ध कराने की अपेक्षा प्रकट की गई है तथा क्रॉसिंग बंद करने की दशा में सहयोग भी मांगा गया है।
इस बीच रेलवे समपार को बंद किए जाने का विरोध भी शुरू हो गया है। मखदूमनगर में रेलवे क्रॉसिंग को बंद किए जाने का विरोध जताते हुए पूर्व विधायक जयशंकर पांडेय तथा सपा नेता आशीष पांडेय दीपू ने आंदोलन की चेतावनी दी है। कहा है कि डीएम से मिलकर ज्ञापन सौंपा जाएगा।
... और पढ़ें

कैसे हो मनोरंजन, टूटे पड़े हैं झूले तो सूखी है झील

अंबेडकरनगर। जिला मुख्यालय स्थित राजकीय उद्यान पार्क की बदहाली को लेकर बेफिक्री पसरी है। न तो उद्यान विभाग व और न ही प्रशासन समेत जनप्रतिनिधियों को यह फिक्र है कि बच्चों के मनोरंजन के लिए बने एक मात्र राजकीय पार्क में लगाए गए ज्यादातर झूले क्षतिग्रस्त हो गए हैं। पार्क में बोटिंग के लिए बनायी गई झील लगभग पांच वर्ष से सूखी पड़ी है।
उसमें फिर से नाव चलाने के लिए पानी तथा नई नाव के प्रबंध की सुध किसी को नहीं है। पार्क में आकर्षक लाइटिंग से लेकर मनोरंजन के अन्य साधनों में वृद्धि करने की जरूरत भी लंबे समय से कोई महसूस नहीं कर पाया है। नतीजतन प्रतिदिन यहां पहुंचने वाले बच्चों को निराश होकर ही लौटना पड़ता है।
गौरतलब है कि लगभग डेढ़ दशक पहले जिला मुख्यालय पर एक मात्र राजकीय पार्क की स्थापना तत्कालीन बसपा सरकार में मुख्यमंत्री मायावती ने करायी थी। पार्क की सौगात मिलने पर नागरिकों ने भारी खुशी का इजहार किया। पार्क में बच्चों के लिए झूले का प्रबंध हुआ। कुछ समय बाद एनटीपीसी के सहयोग से न सिर्फ फव्वारा लगा वरन प्रशासन ने तमसा नदी के किनारे पार्क होने का लाभ दिलाने के लिए झील का निर्माण भी कराया।
एनटीपीसी के सहयोग से नाव का प्रबंध हुआ। इसके बाद झील में बच्चों को बोटिंग की सुविधा भी मिलने लगी। पार्क का लाभ न सिर्फ अकबरपुर नगर व आसपास बल्कि टांडा, जलालपुर व बसखारी आदि क्षेत्रों के बच्चों ने भी उठाना शुरू कर दिया। कुछ वर्षों तक सबकुछ ठीक ठाक चला।
बाद में डीएम विवेक ने यहां बच्चों की ट्रेन चलाने से लेकर पार्क की सुविधाओं में बढ़ोतरी आदि का प्रस्ताव तैयार कराया लेकिन उनके स्थानांतरण के साथ ही यह सबकुछ अधर में पड़ गया। उद्यान विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही से बाद में पार्क लगातार बदहाल होने लगा।
नतीजतन पार्क में बच्चों के मनोरंजन के लिए लगे ज्यादातर झूले पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं। इन्हें दुरुस्त कराने की सुध उद्यान विभाग को नहीं है। प्रशासनिक अधिकारी भी इस तरफ कोई ध्यान अब तक नहीं दे पाए हैं। नागरिकों ने कई जनप्रतिनिधियों के सामने भी बदहाली की यह समस्या उठाई लेकिन कोई नतीजा नहीं मिला।
पार्क में बनी झील भी लगभग पांच वर्ष से सूखी पड़ी है। बोटिंग के लिए मंगाई गई दोनों नावें जर्जर हो गई हैं। बोटिंग के नाम पर अब सिर्फ सूखी हुई झील ही यहां बच्चों व महिलाओं आदि को देखने को मिलती है। पार्क में आकर्षक लाइटिंग समेत रेस्टोरेंट की सुविधा दिए जाने की मांग भी अनसुनी ही बनी हुई है। इन सबके चलते पार्क आने वाले बच्चों को निराश होकर ही लौटना पड़ रहा है।
जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने बताया कि पार्क में जो भी कमियां हैं, सभी दुरुस्त करायी जाएंगी। सुविधाओं में बढ़ोतरी कराई जाएगी। जो भी जरूरी इंतजाम संभव होंगे, वे सभी जल्द से जल्द कराए जाएंगे।
... और पढ़ें

मां से अभद्रता पर ईंट से कूच कूचकर युवक की हत्या

जलालपुर। मां के साथ अभद्रता किए जाने से आक्रोशित किशोर ने ईंट से कूंचकर युवक की हत्या कर दी। शनिवार रात सम्मनपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत बड़ेपुर के पुरवा ममरखापुर दलित बस्ती में हुई घटना से हड़कंप मच गया। वारदात को अंजाम देने के बाद किशोर मौके से भाग निकला।
सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसपी आलोक प्रियदर्शी ने भी घटनास्थल का जायजा लिया। उन्होंने ग्रामीणों से जानकारी हासिल की। पुलिस किशोर की मां को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।
पुलिस से की गई शिकायत के अनुसार शनिवार देर रात सम्मनपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत कटघरमूसा निवासी संग्राम (38) पुत्र जगन्नाथ बड़ेपुर के पुरवा निवासी इसरावती के घर पहुंचा। नशे में धुत संग्राम इसरावती के साथ अभद्रता करने लगा। आरोप है कि वह उसके साथ मारपीट पर उतारू हो गया। इस पर इसरावती के 17 वर्षीय पुत्र राहुल ने उसका विरोध किया और ऐसा न करने को कहा।
संग्राम जब नहीं माना तो मां के साथ अभद्रता किए जाने से नाराज राहुल ने उससे हाथापाई शुरू कर दी। बताया जाता है कि राहुल उसे घर के बाहर ले गया और जमीन पर पटक दिया। इसके बाद वहां रखे ईंट से संग्राम के सिर पर ताबड़तोड़ वार करने लगा। वह तब तक उसके सिर पर प्रहार करता रहा जब तक संग्राम की मौत नहीं हो गई।
घटना से मौके पर हड़कंप मच गया। कुछ देर बाद राहुल मौके से भाग निकला। भोर में ग्रामीणों की सूचना पर एसओ वकील सिंह यादव दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस बीच एसपी आलोक प्रियदर्शी व सीओ सदर धर्मेंद्र सचान भी घटनास्थल पर पहुंचे। घटनास्थल का जायजा लेने के साथ ही उन्होंने ग्रामीणों से जरूरी पूछताछ की।
बताया जाता है कि पुलिस मौके से राहुल की मां इसरावती को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। हालांकि पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है। थानाध्यक्ष ने बताया कि शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। चौकीदार इंद्रजीत यादव की तहरीर पर राहुल के विरुद्ध हत्या का केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है।
इसरावती के पति छोटेलाल का लगभग आठ वर्ष पूर्व निधन हो गया था। संग्राम लगभग छह वर्ष से इसरावती के घर आता-जाता था। वह मजदूरी करता था। ग्रामीणों के अनुसार वह अक्सर रात में नशे में धुत होकर आता था और इसरावती के साथ अभद्रता करता था। शनिवार रात भी वह नशे में धुत होकर अभद्रता कर रहा था जिससे नाराज होकर राहुल ने घटना को अंजाम दिया।
एसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि मामले में हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। आरोपी नाबालिग है। उसकी तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

सात नए अस्पतालों में अब होगा प्रधानमंत्री आरोग्य योजना में इलाज

अंबेडकरनगर। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से जुड़े डेढ़ लाख से अधिक पात्र परिवारों के लिए खुशखबरी है। छह नए सरकारी तथा एक नए निजी अस्पताल में भी अब योजना के तहत पात्र निशुल्क इलाज करा सकेंगे। इसके लिए शासन ने हरी झंडी दे दी है।
अब तक पांच सरकारी व दो निजी अस्पतालों को ही इस योजना के तहत मरीजों का उपचार करने की सुविधा दी गई थी। लंबे समय से अस्पतालों की संख्या बढ़ाए जाने की मांग की जा रही थी ताकि अधिकाधिक मरीजों को इसका लाभ मिल सके। अब इस नए निर्णय से पात्रों को अधिक राहत मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।
प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ अधिक से अधिक पात्रों को मिल सके, इसके लिए शासन लगातार ठोस कदम उठा रहा है। योजना के तहत परिवार के पांच सदस्यों को पांच लाख रुपये की राशि तक के इलाज की सुविधा देने के लिए बीते दिनों जिले के पांच सरकारी व दो निजी अस्पतालों को अनुमति दी गई।
इनमें राजकीय मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल, सीएचसी बसखारी, जलालपुर व टांडा के अलावा दो निजी अस्पताल कनक ट्रॉमा अस्पताल अकबरपुर व रामा अस्पताल अकबरपुर शामिल किए गए। दोनों निजी अस्पतालों ने योजना के तहत उपचार शुरू किया लेकिन पूरा भुगतान न मिल पाने से इलाज से किनारा करना शुरू कर दिया। ऐसे में पांच संबंधित सरकारी अस्पतालों में ही मरीजों को इलाज की सुविधा मिल पा रही है।
योजना के तहत और अधिक अस्पतालों को संबद्ध किए जाने की मांग लगातार मरीजों व तीमारदारों द्वारा की जा रही थी। ऐसा इसलिए ताकि बिना ज्यादा भागदौड़ के नजदीकी अस्पतालों में ही इलाज की सुविधा मिल सके।
इस बीच योजना का अधिक से अधिक पात्रों को लाभ मिल सके, इसके लिए शासन ने सात नए अस्पतालों में योजना का संचालन करने की घोषणा की। इसमें छह सरकारी व एक निजी अस्पताल शामिल हैं। जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. मुकुल त्रिपाठी ने बताया कि मरीजों को योजना के तहत इलाज के लिए इधर-उधर न भटकना पड़े, इसके लिए अब इसका लाभ सीएचसी जहांगीरगंज, पीएचसी रामनगर, सीएचसी कटेहरी, सीएचसी भीटी, संयुक्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अकबरपुर व सीएचसी नगपुर के साथ ही एक निजी अस्पताल साकेत मेडिकल सेंटर अकबरपुर में भी मरीज उठा सकेंगे।
योजना का संचालन सुचारु रूप से हो सके, इसके लिए चयनित सरकारी अस्पतालों में आईटी किट के लिए जरूरी राशि भी उपलब्ध करा दी गई है। बताया कि योजना के सुचारु संचालन के लिए आयुष्मान मित्र को ट्रेनिंग दिए जाने का कार्य भी पूर्ण कर लिया गया है। शीघ्र ही नए चयनित अस्पतालों में योजना का संचालन प्रारंभ कर दिया जाएगा।
आयुष्मान भारत के जिला नोडल अधिकारी आशुतोष सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत छह सरकारी व एक निजी अस्पताल का चयन किया गया है। सभी औपचारिकताएं पूरी कर संबंधित अस्पतालों को योजना के संचालन की अनुमति भी प्रदान कर दी गई है। शीघ्र ही संबंधित अस्पतालों में योजना का संचालन प्रारंभ हो जाएगा।
... और पढ़ें

सड़क हादसों में चार घायल, एक गंभीर

अंबेडकरनगर। अलग-अलग थाना क्षेत्र में हुए मार्ग हादसों में कुल चार लोग घायल हो गए। सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां एक की हालत गंभीर बनी हुई है।
जिला अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार जलालपुर थाना अन्तर्गत कैथा निवासी राहुल (26) पुत्र रामकेवल शुक्रवार देर शाम बाइक से जलालपुर से घर जाते समय गांव के निकट ट्रैक्टर-ट्रॉली की टक्कर लगने से घायल हो गया। स्थानीय इलाज के बाद जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।
उधर, अहिरौली थाना अन्तर्गत कुर्मीडीहा निवासी शिवनाथ (45) पुत्र नागेश्वर शुक्रवार देर शाम बाइक से अकबरपुर से घर जाते समय अन्नावां बाजार में बाइक की टक्कर लगने से घायल हो गया। वहीं, बेवाना थाना क्षेत्र अन्तर्गत ताराखुर्द निवासी अच्छेलाल (28) पुत्र जितेंद्र शुक्रवार देर शाम रामपुर सकरवारी बाजार में जीप की टक्कर लगने से घायल हो गया।
महरुआ थाना क्षेत्र अन्तर्गत महरुआ निवासी सीताराम (35) पुत्र रामकुमार शुक्रवार देर शाम बाइक से महरुआ से घर जाते समय गांव के निकट ट्रैक्टर-ट्रॉली की टक्कर लगने से घायल हो गया। सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार बाइक सवार घायलों ने हेलमेट नहीं लगा रखा था।
... और पढ़ें

25 आंगनबाड़ी केंद्रों को जल्द ही मिलेगा अपना भवन

अंबेडकरनगर। जिले के विभिन्न क्षेत्रों में संचालित 25 आंगनबाड़ी केंद्रों को जल्द ही अपना भवन नसीब होने वाला है। करीब दो करोड़ रुपये की लागत से बनकर तैयार आंगनबाड़ी केंद्रों के नए भवन को कार्यदायी संस्था द्वारा जिला कार्यक्रम अधिकारी कार्यालय को हैंडओवर कर दिया जाएगा। नए भवन में आंगनबाड़ी केंद्रों के संचालन से करीब 25 हजार से अधिक आबादी को लाभ मिलेगा।
पुष्टाहार योजना के साथ ही अन्य कई प्रकार की योजनाओं का संचालन करने वाले आंगनबाड़ी केंद्रों की दशा व दिशा सुधारने का कार्य तेजी से चल रहा है। प्राथमिक विद्यालय, पंचायत भवन व किराए के भवन में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों को अपना भवन मिल सके, इसके लिए शासन द्वारा लगातार ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। बताते चलें कि जिले के विभिन्न क्षेत्रों में 2548 आंगनबाड़ी केंद्र संचालित हैं। इनमें से मात्र 235 केंद्रों को ही अपना भवन मिल सका है। 1719 केंद्र प्राथमिक विद्यालय में, 436 केंद्र पंचायत भवन में संचालित हो रहे हैं। 158 आंगनबाड़ी केंद्र ऐसे हैं जो किराए के भवन में लंबे समय से संचालित हो रहे हैं।
वर्ष 1018-19 में शासन ने 45 आंगनबाड़ी केंद्र को अपना भवन उपलब्ध कराने की मंजूरी प्रदान की थी। 7 लाख 52 हजार रुपये की लागत से निर्मित होने वाले प्रत्येक भवन के निर्माण की जिम्मेदारी कार्यदायी संस्था आरईएस व पीडब्लूडी को दी गई। जिला कार्यक्रम अधिकारी कार्यालय के अनुसार, 25 भवन के निर्माण की जिम्मेदारी कार्यदायी संस्था आरईएस जबकि 20 की जिम्मेदारी पीडब्ल्यूडी को दी गई। इसमें भी 5 भवन की जिम्मेदारी प्रांतीय खंड, जबकि 15 भवन के निर्माण की जिम्मेदारी कार्यदायी संस्था निर्माण खंड को सौंपी गई। इस बीच मौजूदा समय में 25 आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। इसमें पीडब्लूडी के 12 जबकि आरईएस के 13 भवन शामिल हैं। मौजूदा समय में संबंधित भवनों के रंगरोगन का कार्य चल रहा है। नए भवन में केंद्र के संचालन से लगभग 25 हजार की आबादी को लाभ मिलेगा।
25 आंगनबाड़ी केंद्रों के नए भवन का निर्माण कार्य कार्यदायी संस्था द्वारा पूर्ण कर लिया गया है। रंगरोगन का कार्य चल रहा है। जल्द ही कार्यदायी संस्था द्वारा विभाग को नया भवन हैंडओवर कर दिया जाएगा।
- विनोद कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us