विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्रि पर कन्या पूजन से होंगी मां प्रसन्न, करेंगी सभी मनोकामनाएं पूरी
Astrology Services

नवरात्रि पर कन्या पूजन से होंगी मां प्रसन्न, करेंगी सभी मनोकामनाएं पूरी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

यूपी: संक्रमितों की संख्या बढ़कर 118, बस्ती में सामने आया नया मामला

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच उत्तर प्रदेश में गुरुवार सुबह एक नया मामला सामने आया है। बुधवार को बस्ती जिले के मरीज की मौत के बाद आज सुबह एक अन्य व्यक्ति को कोरोना संक्रमित पाया गया है।

2 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बलिया

गुरूवार, 2 अप्रैल 2020

नहीं मिली एंबुलेंस, ठेला पर ले गए शव

बलिया। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है। इसमें एक व्यक्ति के शव ठेले पर लादकर परिजन जिला अस्पताल से घर जा रहे हैं। आरोप है कि जिला अस्पताल प्रशासन की ओर से एंबुलेंस नहीं उपलब्ध कराने के कारण उन्हें ठेला पर ले जाना पड़ा। जानकारी होने पर जिलाधिकारी ने मामले की जांच का आदेश दिया है।
वायरल वीडियो के अनुसार गत 28 मार्च को शहर कोतवाली के काजीपुरा मोहल्ले के मुहम्मद रियाज के ससुर मुनीर 70 की तबीयत बिगड़ गई । वह अपने ससुर को उपचार के लिए लेकर जिला अस्पताल गया, वहां समय से उपचार नहीं किया गया। तकरीबन तीन घंटे बाद चिकित्सक ने इंजेक्शन लगाया, तब तक उसके ससुर का देहांत हो गया। पेशे से राजमिस्त्री रियाज ने बताया कि मृत्यु के बाद उसने अस्पताल के अधिकारी को एंबुलेंस उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। जिला अस्पताल के एक चिकित्सक ने उसके प्रार्थना पत्र को फाड़कर फेंक दिया। उसने व्यक्तिगत रूप से एंबुलेंस के चालक से सम्पर्क किया तो उससे पहले सात सौ रुपये की मांग की गई, फिर छह सौ रुपये देने को कहा गया। रियाज ने बताया कि उसने फोनकर मोहल्ले से ठेला मंगाया तथा ठेला पर लादकर अपने ससुर के शव को घर ले आया। जिलाधिकारी श्री हरि प्रताप शाही ने बताया कि उनको मीडिया के जरिये प्रकरण की जानकारी मिली है। उन्होंने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। संयुक्त मजिस्ट्रेट व मुख्य चिकित्सा अधिकारी इसकी जांच करेंगे।
... और पढ़ें

फांसी लगाकर हेल्थ वर्कर ने की आत्महत्या

बलिया। कोतवाली थाना क्षेत्र के घुरहू नारायण के छपरा मोहल्ले में सोमवार की सुबह एक हेल्थ वर्कर ने किसी बात से क्षुब्ध होकर फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली।
कोतवाली क्षेत्र के घुरहू नारायण का छापरा निवासी राजीव शाह (28) पुत्र जितेंद्र नाथ शाह वायना पीएचसी पर तैनात था। सोमवार की सुबह करीब 10 बजे अपने घर के कमरे में पंखे के हुक से रस्सी बांधा और फंदा लगाकर जान दे दी। जानकारी होने पर परिजन उसे जिला अस्पताल ले गए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों का कहना है कि घर में किसी प्रकार की कोई कमी भी नहीं थी और न ही घर में किसी बात को लेकर पारिवारिक कलह था। उसने क्यों ऐसा कदम उठाया, समझ में नहीं आ रहा है। राजीव दो भाई में छोटा था। उसकी शादी करीब पांच साल पूर्व सिकंदरपुर क्षेत्र में हुई थी और उसका एक आठ माह का पुत्र है। मृतक की पत्नी समेत परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। सूचना पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
... और पढ़ें

आग से पांच परिवारों की झोपड़ी व गृहस्थी का सामान राख

सिकंदरपुर/ रसड़ा/ चितबड़ागांव। थाना क्षेत्र के लिलकर गांव निवासी रामबचन बिंद की झोपड़ी में सोमवार को अपराहन में आग लग गई।
बताया जाता है कि उसके परिवार की महिलाएं खाना बना रही थी। इसी दौरान चूल्हे से अचानक चिंगारी निकली और झोपड़ी को अपने आगोश में ले लिया। तेज हवा के कारण आग ने विकराल रूप ले लिया जिससे झोपड़ी में रखे घर गृहस्थी का सारा सामान जलकर राख हो गया। आसपास के लोगों ने प्रयास कर आग पर काबू पाया।
उधर, रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के फिरोजपुर गांव निवासी रामनाथ राजभर के सभी परिवार के लोग बाहर थे। केवल लव कुमार घर पर था जो खाना खाकर सोया हुआ था। चूल्हे से निकली चिंगारी से झोपड़ी में आग लग गई। आग की गर्मी से जब लव कुमार नींद खुली तो झोपड़ी में आग लगा देख बाहर निकल कर शोर मचाया। आसपास के लोग इकट्ठा होते और कुछ करते तब तक आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और दो अन्य झोपड़ियों को भी अपने आगोश में ले लिया। सूचना पर पहुंची अग्निशमन एवं ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाया गया।
चितबड़ागांव थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत महरेंव के रतनपुरा मौजे में सोमवार की सुबह अज्ञात कारणों से आग लग गई। आग में मुकेश राजभर पुत्र स्व. गणेश राजभर, चंद्रशेखर राजभर पुत्र चंद्रिका राजभर एवं सुरेश राजभर पुत्र स्व. पारस राजभर की झोपड़ियों के साथ ही गृहस्थी का सारा साजमान जलकर राख हो गया। आग में एक बकरी भी जलकर मर गई। आसपास के लोगों के अथक प्रयास से आग पर काबू पाया गया। मौके पर पहुंचे ग्राम प्रधान मोती चंद गुप्ता ने पीड़ित परिवारों को एक-एक हजार रुपया एवं खाद्यान्न बांटा।
... और पढ़ें

#Corona के भय से पति ने मायके से आई पत्नी संग किया कुछ ऐसा कि बेचारी पहुंच गई अस्पताल

पति ने कोरोना के खौफ से मायके से दो माह बाद आई अपनी पत्नी को घर पर रखने से ही इंकार कर दिया। निराश पत्नी ने पहले तो अपने पति से खूब विनती की, लेकिन जब पति नहीं माना तो वह विवश होकर जिला अस्पताल में आकर रहने लग गई थी। जिसे दो दिन बाद अस्पताल प्रशासन की ओर से उसे फिलहाल बर्न वार्ड में रहने की व्यवस्था करा दी गई है। जिसे सुबह-शाम भोजन भी दिया जा रहा है तथा समय-समय पर अस्पताल के चिकित्सक तथा कर्मचारी उसका हालचाल भी ले रहे हैं।
 
मिली जानकारी के अनुसार बिहार के सीवान जिला के राजानगर निवासी बबिता देवी की शादी पांच साल पहले शहर कोतवाली क्षेत्र के गुरुद्वारा रोड निवासी गणेश प्रसाद के साथ हुई थी। वह दो माह बाद जब अपने ससुराल पहुंची तो उसके पति ने कोरोना के भय के कारण घर में रखने से मना कर दिया। पति द्वारा घर पर रखने से इंकार किए जाने के बाद महिला मजबूर होकर जिला अस्पताल पहुंची, जहां अस्पताल प्रशासन द्वारा उसे दो दिन बाद रहने व खाने की व्यवस्था की गई।

महिला ने दुखड़ा सुनाते हुए बताया कि वे दो माह पूर्व अपने मायके सीवान के राजानगर गई थी। दो महीना वहां रहने के बाद बीते शनिवार को कोरोना के संकट के बीच अपने पति व अपनी चार वर्षीय बच्ची की देखभाल करने के लिए वह निजी साधन से बलिया आ गई और सीधे गुरूद्वारा रोड स्थित अपने ससुराल पहुंची।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।

लोगों के बीच किया जरूरी सामानों का वितरण

बलिया। महामारी कोरोना से परेशान लोगों की सेवा में युवा चेतना सक्रिय है। माल्देपुर मोड़ पर जरुरतमंद लोगों के बीच युवा चेतना द्वारा भोजन, साबुन, सैनिटाइजर और मास्क का वितरण किया गया। युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह के 30वें जन्मदिन पर समारोह का आयोजन नहीं किया गया। उन्होंने घर में बना 30 किलो का केक स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी की उपस्थिति में काटा। फिर इसे आसपास के लोगों में बांटा गया। अभिषेक ब्रह्मचारी ने रोहित को दीर्घायु और यशस्वी होने का आशीर्वाद दिया। उन्होंने कहा कि युवा चेतना पूरी ता़कत से जरुरतमंद लोगों की सेवा कर रही है।
रोहित कुमार सिंह ने कहा की हम गरीब के उत्थान हेतु प्रतिबद्ध हैं। लाकडाउन से परेशान लोगों का हर संभव सहयोग युवा चेतना कर रही है। युवा चेतना का संकल्प है की कोई भूखा ना रहे। जन्मदिन से महत्वपूर्ण देश है। पिछले 15 दिनों से युवा चेतना बिना स्वार्थ जनता की सेवा कर रही है। डीएम, एसपी, स्वास्थकर्मी, पुलिसकर्मी, मीडियाकर्मी जनता के बीच घूम रहे हैं तो फिर जनप्रतिनिधि क्यों सक्रिय नहीं हैं। इस अवसर पर अजय राय मुन्ना, मोहन सिंह, बैजू राय, अजय ओझा, पीयूष सिंह, चंद्रकेश राय, प्रियांशु राय निरहुआ, आलोक राय, राहुल राय, रविशंकर राय पप्पू, प्रशांत राय, नीलकांत वर्मा आदि उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

मंडलायुक्त ने की कोरोना से निपटने की तैयारियों की समीक्षा

बलिया। कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने की तैयारियों की समीक्षा मंडलायुक्त कनक त्रिपाठी एवं डीआईजी सुभाष चंद्र दुबे ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में की। उन्होंने लॉकडाउन का अनुपालन व इस बीच चल रही व्यवस्था संबंधी भी जानकारी ली। अधिकारी द्वय ने यहां की तैयारियों पर संतोष जताते हुए डीएम, एसपी, संयुक्त मजिस्ट्रेट विपिन जैन व अन्नपूर्णा गर्ग समेत पूरी टीम को शाबाशी दी।
कमिश्नर ने कहा कि लाकडाउन में आवश्यक वस्तुओं की कमी न हो और हर जरूरतमंद तक हर जरूरी सामग्री पहुंच भी जाए। हर राशन, फल, सब्जी की दुकान पर रेट सूची लगी हो, ताकि कालाबाजारी की शिकायत न मिले। डीएसओ व डिप्टी आरएमओ इसकी लगातार चेकिंग करते रहे। मंडी सचिव से थोक व फुटकर खरीद से जुड़ी जानकारी ली। निर्देश दिया कि मंडी में माइक से हमेशा एनाउन्स होता रहे और स्वयं वहां सुबह मौजूद रहे। मंडी में व्यक्तिगत या फुटकर खरीद करने कोई न जाने पाए। संयुक्त मजिस्ट्रेट विपिन जैन ने चिकित्सा टीम के कार्यों और तैयारियों के संबंध में विस्तार से बताया। आश्वस्त किया कि चिकित्सा व्यवस्था में कोई कमी नहीं दिखेगी। मंडलायुक्त ने क्वारंटीन व्यवस्था से जुड़ी विस्तृत जानकारी डीडीओ शशिमौली मिश्र से ली। कहा कि ग्राम स्तरीय कर्मियों को भी गांव में बाहर से आए लोगों को क्वारंटीन करने के लिए सक्रिय करें। ध्यान रहे कि उन केंद्रों पर लोगों को कोई दिक्कत न हो। सीएमओ को निर्देश दिया कि डॉक्टर की टीम लगातर क्वारंटीन सेंटरों में मॉनिटरिंग करते रहे। नगर क्षेत्र के वार्डों में सेनेटाइज और सफाई व्यवस्था के बारे में सभी ईओ से पूछताछ की। इससे पहले लॉक डाउन के बीच सुचारू रूप से चल रही व्यवस्था की पूरी जानकारी डीएम श्रीहरि प्रताप शाही ने दी। बताया कि 31 वाहनों ओर मोबाइल दुकान संचालित है। सभी वार्डों में किराना, फल, सब्जी की एक एक दुकान 7 से 10 बजे तक खुल रही है। उचित दर और सोशल डिस्टेंस का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। बताया कि 11 बड़े स्कूल, 73 परिषदीय विद्यालयों व 23 पंचायत भवन को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। इनके खाने, पीने की समुचित व्यवस्था की गई है। बताया कि जिला अस्पताल में 10 बेड का आइसोलेशन सेंटर बना है और 14-14 सदस्यों की टीम वहां तैनात हैं। संयुक्त मजिस्ट्रेट विपिन जैन व अन्नपूर्णा गर्ग लगातार व्यवस्था पर नजर बनाए हुए हैं। इस मौके पर डीएम श्रीहरि प्रताप शाही, पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ, अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार समेत अन्य पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।
कोई भी कमजोर जरूरतमंद सहायता से वंचित न रहे: डीआईजी
बलिया। डीआईजी सुभाष चंद दूबे ने कहा कि लॉकडाउन का पूरी तरह पालन हो। जरूरत पड़े तो सख्ती भी बरतें। लेकिन, इस बीच सबसे ध्यान रखने वाली बात यह है कि कोई कमजोर, गरीब या जरूरतमंद व्यक्ति सहायता पाने से छूट न जाए। डीआईजी ने कहा कि राशन की कालाबाजारी, ओवररेटिंग और जमाखोरी पर विशेष ध्यान रखना है। मीडिया से अपील करें कि रेट सूची लगातार अखबारों में छापते रहें। उससे आम आदमी को सही जानकारी रोज मिलती रहेगी। ज्यादा दाम पर सामान बेचने की शिकायत मिलते ही अगर कोई दोषी मिलता है तो कड़ी कारवाई करें। हर हाल में कालाबाजारी जमाखोरी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि गांवों में राशन हर जरूरतमंद को मिले। कोई ऐसा असहाय न हो जिसके पास राशनकार्ड नहीं है। अगर ऐसा कोई है तो उसे चिन्हित कर राशन दें। बाहर से अपने जिले में आ चुके लोग जो शेल्टर होम में हैं, वहां नजर रखी जाए। अगर वहां से कोई चला भी जाए तो उनको उनके ही गांव में पंचायत भवन, प्राथमिक विद्यालय पर अलग रखने की व्यवस्था करें। वहां व्यवस्था भी आसानी से मिल जाएगी। कहा कि जागरूकता पर भी ज्यादा ध्यान देना है। सोशल डिस्टेंस और साफ सफाई के प्रति ज्यादा से ज्यादा लोग जागरूक होंगे तभी इसका प्रसार रोका जा सकता है।
... और पढ़ें

नगर को सैनिटाइज करने को नपा प्रशासन ने कसी कमर

बलिया। लाक डाउन के दौरान नगर को सैनिटाइज रखने के लिए नगर पालिका परिषद प्रशासन द्वारा व्यापक तौर पर अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत शहर की सड़कों और गलियों में चूना, एंटी लारवा दवाओं का छिड़काव कराया जा रहा है।कोरोना वायरस बचाव के उद्देश्य से नगर पालिका परिषद द्वारा किये जा रहे उपायों की जानकारी देते हुए अधिशासी अधिकारी दिनेश कुमार विश्वकर्मा ने बताया कि कोरोना के संक्रमण रोकने के लिए पालिका प्रशासन द्वारा पच्चीस वार्डो में बकायदा अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत सुबह में एंटी लारवा दवाओं का छिड़काव और शाम को फागिंग कराई जा रही है। बताया कि इसके लिए 25 हस्त चलित व एक मशीन चलित मशीन की व्यवस्था कराई गयी है। इसके अलावा दस मशीनों दस मशीनों को रिजर्व रखा गया है। ईओ ने बताया कि इसके अलावा शहर में स्थित सार्वजनिक स्थलों, सरकारी कार्यालयों,रेलवे स्टेशन, रोडवेज बस अड्डा आदि स्थलों को सैनिटाइज करने के लिए पांच हजार लीटर की क्षमता वाले टैंकर में सोडियम हैइपो क्लोराइड का मिश्रण तैयार किया गया है। जिसका मोबाइल वैन के तौर पर प्रयोग करते हुए चिहिंत स्थलों पर तत्काल छिड़काव किया जा रहा है। अधिशासी अधिकारी ने बताया कि सभी वार्डो में सभासदों की निगरानी में चूना, एंटी लारवा केमिकल, मैलाथीन के अलावा ब्लींचिंग पाउडर का भी निरंतर छिड़काव किया जा रहा है। ताकि कोरोना के संक्रमण की संभावना को समाप्त किया जा सकें। बताया कि इसके अलावा नगर से बाहर निकलने वाले सभी नालों की व्यापक सफाई की जा रही है। ताकि कहीं गंदगी का नामोनिशान न रहें। ... और पढ़ें

कोई पांचवे तो छठवें दिन पहुंचा सीमावर्ती गांवों में, अभी बाकी है सफर

जयप्रकाश नगर। लॉकडाउन के बाद से ही विभिन्न शहरों से मजदूरों का पलायन जारी है। रोजाना मजदूरों का काफिला मांझी घाट पहुंच बिहार राज्य में प्रवेश कर रहा है। वहीं, बिहार की तरफ से यूपी में भी मजदूरों का काफिला पहुंच रहा है। कोई पैदल ही सैकड़ों किमी की दूूरी तय करके तो कोई किसी न किसी मदद से कुछ दूर वाहन का प्रयोग करते आ जा रहे हैं। कई तो तीन से चार दिनों तक पैदल चलते आ जा रहे हैं और इस दौरान सड़क पर ही उनका रहना आ और आराम करना होता है। बुधवार की सुबह भी ऐसा ही कुछ नजारा सीमावर्ती क्षेत्रों में देखने को मिला।
पटना जनपद के मायाविघा गांव निवासी गुड्डू कुमार महतो राजस्थान प्रांत के भिवाड़ी जनपद के टप्पूकूड़ा बाजार से पैदल चलते छठवें दिन यहां पहुंचा और पैदल ही बिहार जाएगा। उसने अपने पांच दिनों के सफर की आपबीती बताई। कहा कि एक कम्पनी में कार्य करता था और लॉकडाउन होते ही मालिक कंपनी बंद कर इन मजदूरों बिना पैसा दिए छोड़ दिया। कहा कि वहां रखने व खाने की समस्या खड़ी हो लिहाजा वह पैदल ही घर के लए शुक्रवार की शाम को चल दिया। रास्ते में कहीं कहीं लोगों ने निजी वाहनों से कुछ दूर पहुंचाया भी। बुधवार को वह एनएच 31 पर स्थित मठ योगेंद्र गिरि चट्टी पर पहुंचा और बताया कि रास्ते में कहीं भोजन नहीं मिला लेकिन कुछ पैसा रखा था उसी से कहीं बिस्किट या अन्य चीजें खरीद कर खाता रहा। उधर, ठेकहां गांव के पास बुधवार को बिहार के भोजपुर जनपद के कारनामेपुर गांव निवासी चार युवक राकेश पासवान, पवन पासवान, नारायण पासवान व विशाल पासवान शहादरा (दिल्ली) से कंपनी बन्द होने पर 27 मार्च की सुबह से पैदल चलते हुए पहुंचे। बताया कि रास्ते में कुछ दूर कोई न कोई अपने वाहनों से कुछ दूर पहुंचा देता था।
... और पढ़ें

कोटे की दुकानों पर वितरण शुरु, अधिकांश दुकानों पर नहीं पहुंची सूची

बैरिया। शासन के निर्देश पर बुधवार को कोटे की दुकानों पर गरीबों को राशन वितरण शुरु कर दिया गया। लेकिन इन्हें केवल रोटी व चावल से ही भूख मिटाना पड़ेगा क्योंकि अभी तक दाल उपलब्ध नहीं हो सका है।
कोटे की दुकानों पर अन्त्योदय कार्डधारकों, पात्र गृहस्थी के वैसे कार्डधारक जिनका नाम जॉब कार्ड या श्रम विभाग की सूची में उन्हें निशुल्क राशन वितरण शुरु किया गया। लेकिन पहले दिन पूर्व के नियमानुसार ई-पॉस मशीन में जिन अन्त्योदय व पात्र गृहस्थी कार्डधारकों की सूची फीड है उन्हीं को राशन मिल सका। क्योंकि मनरेगा जॉब कार्डधारक या श्रम विभाग के की पंजीकृत सूची कोटेदारों को विभाग की ओर से उपलब्ध नहीं दी गई है। इसको लेकर लोगों में आक्रोश है। उधर, बुधवार इंटरनेट ने दुकानदारों को दिन भर रुलाया। कोटेदारों ने बताया कि स्पीड काफी कम होने के कारण ई-पॉस मशीन नहीं चल पा रही थी। हेमंतपुर के कोटेदार उमेश यादव ने बताया कि सुबह सात बजे तो मशीन ठीक चली उस समय 30 कार्डधारकों को राशन दिया गया लेकिन बाद में सर्वर खराब हो गया। मधुबनी के कोटदार पवन सिंह ने कहा कि मोबाइल से कनेक्ट कर किसी तरह काम चलाया जा रहा है। कुछ इसी तरह की शिकायत दुर्जनपुर के कोटेदार धनलाल यादव ने भी की।
अन्त्योदय कार्डधारकों को 35 किलो राशन फ्री में देना है, पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को राशन वितरण के समय ख्याल रखना है कि कहीं उनका नाम मनरेगा जॉबकार्ड या श्रम मजदूर के लिस्ट में यदि है तो उनको प्रति यूनिट पांच किलो के हिसाब से फ्री में देना है। अन्य पात्रगृहस्थी कार्डधारक को पूर्व की तरह पैसे लेकर राशन देना है। फिलहाल दाल या अन्य कोई राशन नहीं आया है उपलब्ध होने पर पुन: वितरण कराया जाएगा।
- कृष्ण गोपाल पांडेय, डीएसओ, बलिया।
फोटो लेने के बाद गायब हो गए नोडल अधिकारी
सुखपुरा। शासन की ओर से कोटे की दुकानों पर नोडल अधिकारी की मौजूदगी में वितरण कराने का निर्देश दिया गया है। इसके तहत बुधवार को सुखपुरा में लेखपाल व ग्राम पंचायत अधिकारी की तैनाती की गई थी ताकि कोई समस्या आए तो इनके द्वारा निस्तारित किया जा सके। लेकिन यहां कर्मचारी आए तो थे जरुर लेकिन फोटो खींच कर चले गए।
... और पढ़ें

कोई बांट रहा राहत पैकेट तो कोई मॉस्क व सैनिटाइजर

बलिया। कोराना वॉयरस का संक्रमण रोकने को लेकर देश में लॉकडाउन लागू किया गया है। इसके चलते अधिकांश लोग घरों में रह रहे हैं। खासकर गरीब व मजूदर वर्ग के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसको लेकर कोई राहत पैकेट बांट रहा है तो दूसरी ओर कुछ लोग मास्क व सैनिटाइजर बांट कर लोगों को कोरोना के प्रति जागरुक कर रहे हैं।
प्रधानों की ओर से किया जा विभिन्न सामग्रियों का वितरण
बैरिया। लॉक डाउन से बढ़ी परेशानियों के बीच ई प्रधानों ने भी हाथ बढ़ा दिया है। टेंगरही प्रधान शुभम् सिंह को अखिल भारतीय प्रधान संगठन के द्वारा एंटी कोरोना टास्क फोर्स का जनपदीय प्रवक्ता बनाया गया है। उनके द्वारा गांव में मॉस्क, साबुन वितरण किया गया। बताया कि गरीबों को भूखे नहीं मरने दिया जाएगा। ग्राम पंचायत चकिया के प्रधान प्रतिनिधि अरुण सिंह, केहरपुर प्रधान विजयकांत पांण्डेय, श्रीनगर प्रधान राजेश यादव, नवकागांव प्रधान लक्ष्मीना देवी, गोपालनगर प्रधान प्रदीप यादव आदि ने अपने ग्राम पंचायत में मॉस्क, साबुन के अलावा जरुरतमंदों को राहत पैकेट का वितरण किया गया। वहीं, नगर पंचायत प्रतिनिधि मंटन वर्मा की ओर से पूरे नगर पंचायत को सैनिटाइज कर ब्लिचिंग पाउडर का छिड़काव तथा तीन हजार जरूरतमंदों में राहत पैकेट बांटा गया है।
पूर्व विधायक के पुत्र ने बांटे राहत पैकेट
बैरिया। लॉक डाउन की वजह से रोज कमाने खाने वाले मजदूरों के सामने रोटी की समस्या है। इसे देखते हुए द्वाबा के पूर्व विधायक विक्रम सिंह के छोटे पुत्र रवि प्रकाश सिंह ने बुधवार को कोटवा ग्राम पंचायत के अलग - अलग गांवो में तीन हजार गरीबों राहत पैकेट का वितरण किया। उन्होंने लोगों से कोरोना से लड़ने के लिए लॉकडाउन का पालन करने आह्वान भी किया।
गांवों में क्वारंटीन सेंटर नहीं होने से लोग सशंकित
बैरिया। गांवों को सैनिटाइज कराने व लोगोंको मॉस्क वितरण व क्वारंटीन सेंटर बनाकर बाहर से आने वाले लोगों को खाने-पीने आदि के लिए सरकार का निर्देश है। लेकिन अधिकांश ग्राम पंचायतों में कोरोना नियंत्रण के लिए धरातल पर अपेक्षित काम नहीं हो रहा है। जिससे लोग सशंकित रहते हैं। बैरिया व मुरली छपरा विकास खंडों के ग्राम पंचायत अधिकारियों ने बताया कि कोई भी ग्राम पंचायत ऐसा नहीं है, जहां कोरोना नियंत्रण के लिए ऐतिहायातन कार्य कराने के लिए धन का अभाव है। इस बाबत खण्ड विकास अधिकारी संतोष कुमार यादव ने कहा राज्य वित्त या 14 वें वित्त का धन कोरोना के लिए खर्च करने सम्बंधित आदेश नहीं आया है।
ग्रामीणों को बांटे मॉस्क
घोघा। बाजारों में मॉस्क उपलब्ध न होने के कारण आदर निवासी एवं कोटेदार संघ की महामंत्री अनिता सिंह ने बुधवार को अपने ग्राम सभा में 200 ग्रामीणों को गमछा का वितरण किया। उन्होंने सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की अपील की।
नौ लोगों के स्वास्थ्य की जांच, घर में रहने की सलाह
घोघा। प्रदेश के विभिन्न शहरों से आए व्यक्तियों के बारे में जानकारी तथा उनके स्वास्थ्य जांच के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हुसैनाबाद के चिकित्सकीय टीम ने बुधवार को क्षेत्र में जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जांच की। टीम ने इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को भेजते हुए नौ लोगों को घर में ही रहने का सुझाव दिया। टीम में डॉ अनिल कुमार वर्मा, राम प्रताप यादव, वीरेंद्र कुमार आदि रहे।
250 ग्रामीणों को बांटा मॉस्क
रेवती । युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव रूपेश चौबे के नेतृत्व में ग्राम सभा चौबे छपरा में 250 ग्रामीणों को घर-घर जाकर मॉस्क का वितरण किया गया। इस दौरान अपने घरों से बाहर नहीं निकलने, आपसी दूरी बनाए रखने तथा मॉस्क को पहन कर ही बाहर निकलने आदि की अपील की गई। इस मौके पर बरमेश्वर चौबे, मंदीप चौबे, सौरभ पाण्डेय, हरीश चौबे, प्रदीप शुक्ला, आदर्श चौबे आदि रहे।
... और पढ़ें

फ्री गैस सिलिंडरों की होगी होम डिलेवरी,करनी होगी आनलाइन बुकिंग


बलिया। कोरोना महामारी के कारण पूरे देश में हुए लाक डाउन और इस दौरान लोगों में आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति के तहत सरकार द्वारा उज्जवला योजना के तहत रसोई गैसे के उपभोक्ताओं की तीन माह तक फ्री गैस सिलिंडर की आपूर्ति के फरमान पर अमल करने क्रम में गैस ऐजेसिंयों ने तैयारी शुरू कर दी है। इसकी जानकारी देते हुए इंडियन आयल कारपोरेशन लिमिटेड(एलपीजी) के एरिया मैनेजर अनूप चंद्र गुप्ता ने दी। वे शहर के वरदान गैस ऐजेंसी पर मुलाकात के दौरान बताया कि एक अप्रैल से तीस जून के मध्य उज्जवला के लाभार्थियों को तीन सिलिंडर होम डिलीवरी के माध्यम से उपलब्ध कराया जायेगा। शर्त यह है कि इसके लिए उपभोक्ता को आन लाइन बुकिंग करनी होगी। बताया कि 15 दिन के बाद उपभोक्ता चाहें तो दूसरी बुकिंग कर सकतें है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि इसके लिए उपभोक्ताओं को धबराने की आवश्यकता नहीं है। बल्कि वे व्हाटस एप नंबर 7588888824 पर अथवा आन लाइन या आईवीआरएस के माध्यम से आपूर्ति के लिए बुकिंग करायें। बताया कि इस बाबत जिला प्रशासन की से अनुमति मिल गई है। वरदान गैस ऐजेंसी के सह संचालक प्रशांत पाठक ने बताया कि रसोई गैस सिलिंडर की होम डिलीवरी के लिए आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई है। लाक डाउन के दौरान उपभोक्ताओं को पूर्णतया होम डिलीवरी की जायेगी।
... और पढ़ें

बीस वर्ष बाद सूनी और विरान हुई हैं शहर की सड़कें

बलिया। तकरीबन एक सप्ताह पूर्व शहर की सड़कें वाहनों की आवाजाही और शोरगुल से जहां गुंजायमान रहा करती थी वहीं लाक डाउन से अब सियापा पसरा है। आलम यह है कि इन रास्तों पर अगर इक्का-दुक्का वाहन दिखाई भी देते हैं तो उनमें अधिक तर प्रशासनिक अधिकारियों के और कुछेक आवश्यक सामानों की आपूर्ति में जुटी गाडि़यां है। इसके अलावा कभी-कभार बाइक भी दिख जाती है, जो पहले यानी आम दिनों में इन्हीं सड़कों पर जाम में फंस कर कराहती थी। अब यही वीरान और सूनी सड़कें लोग की राह तकती रहती हैं। यदि शहर के प्रमुख मार्गों व स्थलों का जिक्र करें तो नगर की ह्दयस्थली कहा जानें वाले शहीद चौक पार्क लाक डाउन के दौरान पूरी तरह खामोशी की चादर ओड़े हुए है। जबकि पूर्व में यहां दिन भर जाम के कारण वाहनों के बीच धक्का-मुक्की होती रहती है। इसके अलावा पटरी दुकानदारों और ठेला खोमचा वालों की आवाजों से माहौल गुलजार रहता था, वहीं अब यहां मात्र प्रशासन के लोगों की चहलकदमी ही नजर आती है। यहां से निकलने वाले सिनेमा रोड, आर्यसमाज रोड, लोहापट्टी रोड, गुदरीबाजार रोड़, कासिम बाजार रोड़ और सिनेमा रोड वीरान हैं। इसके अलावा कोरोना का कहर माडल रेलवे स्टेशन पर स्पष्ट तौर पर दिखाई दे रहा है। जहां पहले रेल यात्रियों की आवाजाही से माहौल गुलजार हुआ करता था, वहीं लाकडाउन के दौरान ट्रेनों का परिचालन ठप्प होने से रेलवे स्टेशन परिसर में सियापा पसरा है। ना तो कोई आने वाला है और ना कोई जानें चाहत रखता है। इसके अलावा सामान्य दिनों में जाम का प्रमुख प्वाइंट चित्तू पांडेय चौराहा अब केवल पुलिस कर्मियों की आश्रय स्थली बन कर सिमट गया है। जबकि रोडवेज बस अड्डे का तो और बुरा हाल है। जहां न कोई मुसाफिर है और ना ही कोई गतंव्य को ले जाने वाली बस। नगर का राजीतिक केंद्र कहा जाने वाला टीडी कालेज चौराहा तो लाक डाउन के दौरान अपने किस्मत पर आंसू बहा रहा है। यही हाल कलेक्ट्रेट परिसर और कचहरी का भी है। पूरे परिसर में सन्नाटा पसरा हुआ है। ... और पढ़ें

दिल्ली से आए वाराणसी, जाना था सासाराम पहुंच गए मनियर

मनियर। लॉक डाउन में पैदल घरों को आने वाले लोग रास्ता भटक कर परेशान हो रहए हैं। दिल्ली से बस से सोमवार को वाराणसी आए कुछ मजदूर सासाराम के लिए वाराणसी से पैदल रवाना हुए। उन्हें जाना था जीटी रोड से लेकिन दूसरा रास्ता पकड़कर सासाराम की जगह मनियर गांव पहुंच गए।
जब उन्हें पता चला कि वे मनियर आ गए हैं तो परेशान हो गए और मंगलवार को सुबह इनकी यात्रा फिर मनियर से सासाराम के लिए वाया बलिया-बक्सर शुरू हुई। मंगलवार को मनियर पहुंचे करीब दो दर्जन मजदूरों ने बताया कि पैदल ही झारखंड के पलामू 284 किलोमीटर की दूरी तय करने के लिए सोमवार को निकल पड़े। शनिवार को आनंद विहार दिल्ली से बस से वाराणसी आए। वहां से रास्ता भटककर बेल्थरारोड पहुंच गए। साधन के अभाव में यहां से पैदल झारखंड के लिए चले हैं। हमें किसी प्रकार की सहायता नहीं मिली। न ही बिहार एवं झारखंड सरकार से कोई उम्मीद है। जब पुलिस से मदद के लिए आग्रह किया तो कहा गया कि हम लोग कोई सहायता नहीं कर सकते आगे बढ़ते जाओ । मजदूरों ने बताया कि राह में भोजन कोई दे दिया तो ले लिये नहीं तो बैग में रखें बिस्कुट खाकर पानी पीते हुए रास्ता तय कर रहे हैं। उनके चेहरे पर भय भूख का असर साफ झलक रहा था। मजदूरों में ब्रजेश कुमार सिंह, अमित कुमार सिंह, राजू डाल्टनगंज झारखंड, संजय पलामू, अनिल मेहता सोनू, राजेश आदि शामिल थें।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
deshara coopan
DIWALI COOPAN

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us