विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

मेरठ में हॉटस्पॉट इलाकों की ड्रॉन से निगरानी, यूपी में 427 हुई संक्रमितों की संख्या

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के मरीज मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा है। शुक्रवार की सुबह आगरा में पांच नए मामले सामने आए हैं। यूपी में संक्रमितों की संख्या 427 पहुंच गई है।

10 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बाराबंकी

शुक्रवार, 10 अप्रैल 2020

थाने में सूचना देने पर आशा बहू को पीटा

बाराबंकी। लॉकडाउन के दौरान बाहर लौट लोगों के बारे में पुलिस को सूचना देने वाली आशा बहू की पिटाई कर दी गई। पीड़िता ने मारपीट करने वालों के खिलाफ कोतवाली में तहरीर देकर कार्रवाई करने की मांग की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
दरियाबाद क्षेत्र की ग्राम पंचायत तेलमा में 26 मार्च को तीन लोग दिल्ली से और एक व्यक्ति गोंडा से लौटा था। उनके स्वास्थ्य परीक्षण का काम होना था। गांव में तैनात आशा बहू ने बाहर से आये लोगों की सूचना कोतवाली और स्थानीय सीएचसी पर दी थी। इस पर संबंधित लोग नाराज हो गए और झगड़े पर उतारू हो गए। आरोप है कि बाहर से लौटे मुकेश, राजनाथ, विवेक और विशाल ने आशा बहू विनोदनी गुप्ता, नीलम के साथ सहकर्मी प्रदीप व अश्वनी के साथ मारपीट की। आशा बहू ने स्थानीय कोतवाली में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। थाना प्रभारी शिवाजी सिंह ने बताया कि टीम ने दो लोगों की जांच की थी। इसके बाद मारपीट की सूचना मिली है। जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

प्रवेश शुल्क के लिए नहीं डाल सकते दबाव

नकली बनाने व खाद बेचने वाले दो गिरफ्तार

बाराबंकी। नकली खाद बेचने के आरोप में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। उनके पास भारी मात्रा में नकली खाद भी बरामद हुई है।
पुलिस ने रामनगर क्षेत्र के खालिसपुर गांव निवासी अतुल कुमार सिंह व जीतनगर कोतवाली शहर निवासी विवेक सिंह को गिरफ्तार नकली खाद बेचने के आरोप पकड़ा है। एसपी डॉ. अरविंद चतुर्वेदी के मुताबिक पूछताछ में दोनों ने बताया कि वे नकली खाद तैयार कर उसकी आपूर्ति धर्मेंद्र यादव की खाद की दो लाइसेंसी दुकानों पर करते थे। दोनों के बताए ठिकानों से पुलिस ने 243 बोरी नकली खाद,18 बोरी सल्फर, एक सिलाई मशीन, दो बंडल धागा व 239 बोरी खाली नवरत्न एनपीके बरामद किया है। पुलिस ने खाद की दोनों दुकानों को सीज कर दिया है। सूचना पर जिला कृषि अधिकारी मौके पर पहुंचे और खाद व अन्य सामग्री का सैंपल लिया। रामनगर प्रभारी के मुताबिक अतुल कुमार सिंह व विवेक सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।
... और पढ़ें

ग्राम्य विकास के कर्मचारियों ने दिया एक दिन का वेतन

गांव में दो दिन का और बढ़ा कर्फ्यू, 39 और क्वारंटीन

बाराबंकी। बदोसराय क्षेत्र के उस गांव में कर्फ्यू की सीमा दो दिन और बढ़ा दी गई जहां गत दिनों कोरोना पॉजिटिव युवक मिला था। इस गांव में संदिग्धों के मिलने की वजह प्रशासन ने ऐसा किया है। पुलिस-प्रशासन की टीम गांव पर नजर रखे हुए हैं। डीएम व एसपी मोबाइल फोन के जरिए गांव की निगरानी कर रहे हैं। इस गांव में अब तक 28 संदिग्ध पाए गए जिन्हें अलग-अलग स्थानों पर क्वारंटीन कराया गया है। इसके साथ जिले में 39 और लोगों को क्वारंटीन किया गया है।
लॉकडाउन के 16वें दिन डीएम डॉ. आदर्श सिंह ने एसपी डॉ. अरिवंद चतुर्वेदी के साथ शहर का भ्रमण कर बैरियरों पर तैनात पुलिस कर्मियों को लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिए। लॉकडाउन के चलते गुरुवार को सड़कों पर पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस के वाहन ही सड़कों पर दौड़ते नजर आए। डीएम डॉ. आदर्श सिंह ने बताया कि बदोसराय क्षेत्र के उस गांव में कर्फ्यू दो दिन और बढ़ा दिया गया जहां का युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। गांव के जिन 19 लोगों के सैंपल जांच को भेजे गए थे उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। गांव को नियमित रुप से सेनिटाइज कराया जा रहा है। एसडीएम सिरौलीगौसपुर प्रतिपाल सिंह अन्य अधिकारियों के साथ पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।
डीएम ने बताया कि गांव की स्थिति को देखते हुए कर्फ्यू 11 अप्रैल की सुबह दस बजे तक बढ़ा दिया गया है। इस दौरान लोगों से अपने-अपने घरों में ही रहने की अपील की गई है। सभी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति लोगों में कराई जा रही है। उधर गुरुवार को जिले के अलग-अलग स्थानों से 39 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। जिले में अब तक 6282 लोगों को क्वारंटीन किया जा चुका है। उन पर पुलिस, स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के अधिकारी नजर रखे हुए हैं।
... और पढ़ें

सेनिटाइजेशन के बाद सील कराया गया बैंक, 10 हुए क्वारंटीन

बाराबंकी। कोरोना पॉजिटिव मिले युवक के संपर्क में आने वाले पांच बैंक कर्मियों के साथ ही उसके पांच दोस्तों को भी क्वारंटीन कर दिया गया। इसके अलावा युवक ने जिस बैंक से लेन-देन किया था उस बैक को सैनिटाइज कराने के बाद सील कर दिया गया है। इसके अलावा दिल्ली से लौटकर आई चार महिला समेत 12 लोगों को भी क्वारंटीन किया गया है।
वहीं जांच में लगी टीम युवक के संपर्क में आने वालों की हिस्ट्री तलाश रही है। डीएम, एसपी तथा एसडीएम क्षेत्र पर बराबर नजर रखे हुए हैं। लेकिन राहत की खबर ये है कि पॉजिटिव पाए गए युवक की पहली रिपोर्ट निगेटिव आई है। ये युवक जमाती के संपर्क में आया था। वहीं लॉकडाउन के 15वें दिन प्रशासन के तेवर सख्त रहे।
बदोसरायं क्षेत्र के गांव का निवासी एक युवक कोरोना पाजिटिव पाया गया जो जमाती के संपर्क में आया था। जांच रिपोर्ट आने के बाद प्रशासन हरकत में आ गया और पूरे गांव को सील कर दिया गया। जांच में लगी टीम युवक के संपर्क में आने वालों की पूरी हिस्ट्री तलाश रही है। युवक के परिवार के 12 तथा गांव के 18 अन्य लोगों को क्वारंटीन में रखा गया है। बुधवार को एसडीएम सिरौलीगौसपुर प्रतिपाल सिंह के नेतृत्व में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौलाबाद स्थित बैंक को सेनिटाइज कराए जाने के बाद सील कर दिया गया है।
एसडीएम के मुताबिक युवक ने बैंक में लेनदेन किया था और पांच बैंक कर्मियों के संपर्क में भी आया था। इसके अलावा युवक के पांच दोस्तों समेत सभी दस लोगों को क्वारंटीन करा दिया गया है। जिला प्रशासन के मुताबिक युवक के परिवार के सभी 12 सदस्यों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि जिन 18 लोगों को क्वारंटीन किया गया था उनके ब्लड का नमूना जांच के लिए भेजा गया है।
... और पढ़ें

92 संदिग्ध कराए गए क्वारंटीन, एक पर केस

बाराबंकी। जिले में कोरोना संदिग्ध मिले 92 लोगों को अलग-अलग स्थानों पर क्वारंटीन किया गया है। इनमें 18 लोग उस गांव व आसपास के हैं, जहां का युवक कोरोना पॉजिटिव मिला। युवक के खिलाफ मंगलवार शाम केस दर्ज कराया है। इसके साथ प्रशासन का पहरा और सख्त हो गया है। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक गांव की हर गतिविधि पर नजर रखे हुए हैं। वहीं पाजिटिव पाए गए युवक के संपर्क में आने वालों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही। ऐसे लोगों को भी क्वारंटीन किया जाएगा। वहीं लॉकडाउन के 14वें दिन प्रशासन के तेवर सख्त रहे। इससे सड़कों पर पूरी तरह से सन्नाटा रहा। उधर क्वारंटीन का उल्लघंन करने पर एक युवक के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है।
कोरोना पॉजिटिव मिले बदोसराय क्षेत्र के युवक को सीएचसी में भर्ती कराने के साथ प्रशासन ने उसके परिवार के 12 सदस्यों को गदिया स्थित एक निजी अस्पताल में क्वारंटीन किया है। युवक के खिलाफ मंगलवार शाम केस दर्ज किया गया है। गांव को सीलकर प्रशासन पूरी नजर रखे है। उस गांव के झोलाछाप समेत 18 और संदिग्ध पाए जाने पर उन्हें मंगलवार को सीएचसी सिरौलीगौसपुर में भर्ती कराया गया है। हालात को देखते हुए प्रशासन ने पहरा और सख्त कर दिया है। सिर्फ दूध और सब्जी वालों को ही गांव में प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं झोलाछाप से इलाज कराने वालों के साथ पॉजिटिव मिले युवक के संपर्क में आने वालों की तलाश की जा रही है। क्वारंटीन किए गए युवक घर के बाहर घूमने पर उसके खिलाफ मसौली थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।
जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह ने एक विज्ञप्ति में बताया कि मंगलवार को 92 लोगों को अलग-अलग स्थानों पर क्वारंटीन कराया गया है। इनमें बदोसराय क्षेत्र के उस गांव के लोग भी शामिल हैं जहां का युवक कोरोना पाजिटिव पाया गया। इस तरह से अब तक 6282 लोग क्वारंटीन पर हैं। इन पर कंट्रोल रुम के माध्यम से बराबर नजर रखी जा रही है।
... और पढ़ें

कोरोना मरीजों के लिए सात अस्पतालों में दो सौ बेड तैयार

बाराबंकी। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए जिला प्रशासन अपनी तैयारियों में जुटा है। इसके तहत पांच सरकारी समेत सात अस्पतालों में दो सौ बेड आरक्षित किए गए हैं। इसके साथ 121 डॉक्टरों और कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई हैं।
जिले में कोरोना वायरस का एक पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासनिक तैैयारियां और तेज हो गई हैं। जिला अस्पताल, सीएचसी जहांगीराबाद और सीएचसी सिरौलीगौसपुर को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। संदिग्ध पाए जाने वालों को इन अस्पतालों में 14 दिनों के लिए क्वारंटीन किया जा रहा है। वहीं बदोसरायं क्षेत्र के एक युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे सतरिख सीएचसी में भर्ती कराकर चिकित्सकों द्वारा उसका उपचार किया जा रहा है। वहीं बड़ागांव को भी कोविड अस्पताल बनाए जाने की तैयारी चल रही है।
इसके अलावा हिंद अस्पताल और मेयो अस्पताल में 50-50 बेड के दो आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। इन अस्पतालों में संदिग्धों को भर्ती करने के लिए करीब दो सौ बेड आरक्षित किए गए हैं। जिले के 121 डॉक्टरों और कर्मचारियों को लगाया गया है। इसके अलावा जनेस्मा को भी क्वारंटीन सेंटर बनाए जाने की प्रक्रिया चल रही हैं। प्राथमिक विद्यालयों के साथ ही मैरिज लॉन को भी क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। जिले में संदिग्ध लोगों के मिलने से जिला प्रशासन अपनी हर तैयारी करने में जुटा है।
... और पढ़ें

चीनी मिल बंद, साढ़े 42 लाख क्विंटल हुई गन्ने की पेराई

बाराबंकी। जिले की एक मात्र हैदरगढ़ चीनी में इस सीजन में 42 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई हुई है। साढ़े नौ हजार हेक्टेयर में पैदा किए गए गन्ने की शत प्रतिशत पेराई के बाद चीनी मिल में पेराई सत्र समाप्त हो गया है। मिल प्रशासन द्वारा अभी भी 23 करोड़ का भुगतान गन्ना किसानों को किया जाना बाकी है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार जल्द ही शेष बकाया भुगतान कराने की बात कह रहे हैं।
बीते 26 नवंबर 2019 से जिले की हैदरगढ़ चीनी मिल में पेराई सत्र शुरू हुआ था। इससे पहले जिले के करीब 16 हजार पंजीकृत गन्ना किसानों ने साढ़े नौ हजार हेक्टेयर में गन्ने की पैदावर की थी। इसके बाद शासन की नई व्यवस्था से ऑनलाइन पर्ची के आधार पर किसानों ने बारी-बारी से अपना गन्ना चीनी मिल को सप्लाई किया था। करीब चार माह तक चली हैदरगढ़ चीनी मिल में साढ़े 42 लाख क्विंटल गन्ने की पराई की गई है। जिससे चीनी और शीरा तैयार किया गया है। विभाग का दावा है इस बार की पेराई सत्र में पहली बार गन्ना किसानों की शिकायतें न के बराबर रहीं।
हैदरगढ़ चीनी मिल प्रशासन ने अभी तक मात्र 29 फरवरी तक ही गन्ना किसानों का भुगतान किया है जो कि एक अरब दस करोड़ 87 लाख रुपये हैं। अभी भी करीब 23 करोड़ से अधिक का भुगतान करना बाकी है। मिल बंद होने के बाद शेष बचे करीब दो से तीन हजार गन्ना किसान बकाया भुगतान पाने की राह ताक रहे हैं। गन्ना विभाग का दावा है कि अप्रैल माह तक शत प्रतिशत भुगतान करा दिया जाएगा।
गन्ना पैदावार के मामले में जिले के कुछ किसान अपने गन्ने को अयोध्या जिले के रोजा गांव में सप्लाई करते हैं। इसमें दरियाबाद विधान सभा क्षेत्र के किसान प्रमूूख हैं। चीनी मिल काफी नजदीक होने के चलते करीब दो हजार किसान इस चीनी मिल को अपना गन्ना बेचते हैं। रोजागांव चीनी मिल में अभी पेराई सत्र चालू हैं।
जिला गन्ना अधिकारी रत्नेश्वर त्रिपाठी ने बताया कि हैदरगढ़ चीनी मिल की पेराई सत्र पूरी हो गई है। पूरे सत्र में साढ़े 42 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई की गई है। मिल प्रशासन द्वारा 110.87 करोड़ रुपये का गन्ना भुगतान कर दिया गया है। शेष भुगतान जल्द कर दिया जाएगा।
... और पढ़ें

खेत में मृत मिला राष्ट्रीय पक्षी मोर

हैदरगढ़ (बाराबंकी)। कोतवाली के घीसा का पुरवा मजरे रौनी में राष्ट्रीय पक्षी मोर मृत अवस्था में पड़ा मिला। खेत गए किसान की सूचना पर वनकर्मी मौके पर पहुंच मोर के शव को कब्जे में लेकर जांच कर रहे हैं।
सोमवार को घीसा का पुरवा मजरे रौनी में गोमती के करीब खेत में मोर का शव मिला। सुबह खेत पहुंचे गांव के किसान शुभम वर्मा की सूचना पर वनकर्मियों ने मोर का शव गड्ढ़े में दबाने की सलाह दी। लेकिन ग्रामीणों ने मामले की सूचना डीएफओ को फोन पर दी जिसके बाद पहुंचे वन कर्मियों ने मोर के मौत की जांच के लिए शव को पशु चिकित्सालय पहुंचाया। फारेस्ट गार्ड संतोष कुमार ने बताया पोस्टमार्टम से मौत का कारण पता चलने पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

फर्जी आईडी से बाइक खरीद फरोख्त कर बेंचने वाला गिरोह पकड़ा,77 बाइकें बरामद, चार गिरफ्तार

बाराबंकी। फर्जी कागजातों से बैंक से बाइक फाइनेंस करवाकर उन्हें औने-पौने दामों पर बेचने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश का दावा पुलिस ने किया है। पुलिस ने चार जालसाजों को गिरफ्तार कर उनके पास से 77 बाइक बरामद की है। एसपी डॉ अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि इस गिरोह ने करीब छह सौ से अधिक बाइकें फर्जी तरीके से बेची है। पुलिस इस गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में भी पता लगा रही है।
एसपी डॉ अरविंद चतुर्वेदी ने सोमवार को पुलिस लाइन सभागार में पत्रकार वार्ता में बताया कि मोहम्मदपुर खाला थानाध्यक्ष मनोज शर्मा ने पुलिस टीम के साथ एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है जो एक बैंक के माध्यम से फर्जी कागजात लगाकर बाइकें फाइनेंस करवाकर उन्हें सस्ते दामों पर बेचने का काम करते है।
पुलिस ने इस गिरोह के सुरेंद्र कुमार निवासी ग्राम बरैया थाना जैदपुर, कफील अहमद निवासी ग्राम टेसवा सलमेचक थाना जैदपुर, अंजर निवासी मोहल्ला पीरबटावन कोतवाली शहर, पुन्ना निवासी ग्राम बेलहरा को पुलिस ने पकड़ा है। पुलिस ने इनके पास से 77 बाइकें भी बरामद की है। चारों आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर उन्हें कोर्ट में पेश किया जहां से वह जेल भेजे गए है।
एसपी ने बताया कि इस गिरोह का सरगना लखनऊ के हुसैनगंज इलाके का रहने वाला रवि मसीह है। आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि यह लोग एक निजी बैंक के माध्यम से लखनऊ में ही फर्जी कागजात तैयार कर फर्जी आईडी व फोटो लगाकर कई बाइक शोरूम से स्कूटी, बाइक व बुलेट फाइनेंस करवाने का काम करते है। इसके बाद यह बाइकें बाराबंकी में विभिन्न इलाकों में सस्ते दामों पर बेंच देते थे।
आरोपियों ने बताया है कि वह करीब छह सौ से भी अधिक बाइकें इसी तरह से बाराबंकी, लखनऊ आदि जगहों पर बेंच चुके है। अब पुलिस इस गिरोह से जुड़े अन्य लोगों की भी तलाश में जुट गई है। एसपी ने बताया कि यह सभी आरोपी लखनऊ आरटीओ कार्यालय के कुछ कर्मचारियों से भी मिलीभगत किए हुए है। यह आरोपी आरटीओ कार्यालय से ही फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बाइकों के कागजात तैयार करवाते थे।
... और पढ़ें

तीसरी आंख से रखी जा रही ग्रामीणों की गतिविधियों पर नजर

सिरौलीगौसपुर (बाराबंकी)। क्षेत्र के एक गांव निवासी युवक के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद प्रशासन काफी सतर्क हो गया है। गांव में कर्फ्यू लगाने के बाद सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। गांव के लोगों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इस गांव में करीब छह सौ घर हैं और यहां का आबादी करीब साढ़े पांच हजार है। ग्रामीणों को किसी प्रकार की असुविधा न हो, इस बात का विशेष ख्याल भी तहसील प्रशासन रख रहा है। एसडीएम का कहना है कि गांव को अब तक तीन बार सैनिटाइज कराया जा चुका है।
कोतवाली क्षेत्र बदोसराय के एक गांव में जमातियों के संपर्क में आया एक युवक कोरोना पाजिटिव पाया गया। इसके बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। जांच रिपोर्ट आने के बाद से ही प्रशासन हरकत में आ गया है। जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह से मिले आदेश के बाद एसडीएम सिरौलीगौसपुर प्रतिपाल सिंह ने गांव की सभी सीमाओं को सील कराते हुए कर्फ्यू लगा दिया है। पाजिटिव पाए गए युवक को सतरिख सीएचसी में भर्ती कराया गया जबकि परिवार के अन्य 12 सदस्यों को गदिया स्थित एक निजी अस्पताल में क्वारंटीन करा दिया गया है।
गांव के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है और गांव के हर व्यक्ति पर सीसीटीवी कैमरे से नजर रखी जा रही है। एसडीएम ने बताया कि गांव के लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो, इस बात का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। अब तक गांव को तीन बार सैनिटाइज कराया गया है। युवक के संपर्क में आने वालों की हिस्ट्री जानने के लिए छह टीमें लगाई गई हैं।
गांव में पुलिस के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की दस टीमें लगाई गई हैं जो घर-घर जाकर सर्वे कर रही हैं। गांव में कर्फ्यू लगे करीब 48 घंटे बीत गए हैं। ऐसे में लोग घर में ही रह रहे हैं।
युवक के कोरोना पाजिटिव होने की पुष्टि होने के बाद पास-पड़ोस के ग्रामीण काफी भयभीत दिखाई दे रहे हैं। सैदनपुर, उटवा, दुर्जनपुर व करोरा आदि गांवों के ग्रामीणों ने अपने गांव के मुख्य मार्गों पर बैरिकेडिंग कर के बाहर से आने वाले लोगों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी है और बराबर निगरानी कर रहे हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us