विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: निजामुद्दीन मरकज में शामिल तीन लोग लखनऊ में मिले, अन्य की हो रही तलाश

देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों से अच्छी और कहीं से बुरी खबरें आ रही हैं। मंगलवार सुबह बरेली में पांच नए मरीज मिले हैं जिनके बाद सूबे में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 102 हो गई है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बाराबंकी

मंगलवार, 31 मार्च 2020

घर-घर दूध -दही व छांछ पहुंचाएगा पराग

बाराबंकी। लॉक डाउन के दौरान 14 अप्रैल तक लोगों को दूध, दही व छाछ उनके घरों पर मिलेगा। इसके लिए लोगों को कोई अतिरिक्त चार्ज भी नहीं देना होगा। पराग दुग्ध संघ अयोध्या के अध्यक्ष आनंद सिंह मोनी ने बताया कि लोग घरों में रहकर प्रधानमंत्री के लॉकडाउन को सफल बनाएं। संकट की घड़ी में लोगों को दूध दही व छाछ की कोई दिक्कत नहीं होने दी जाएगी।
इसको लेकर प्रशासन के साथ बैठक कर ली गई है। जिले के सभी पराग के बूथ इस दौरान खुले रहेंगे। प्रत्येक वार्ड में घर-घर तक दूध पहुंचाने के लिए 10-10 रिक्शा लगाए गए हैं। जो वार्ड के सभासद व उनके सहयोगियों की मदद से एक-एक गली वघर-घर जाकर दूध दही व छाछ तय कीमत पर उपलब्ध कराएंगे। कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लिया जाएगा।
... और पढ़ें

सड़कों पर दिखा सन्नटा, कई जगह लगाए गए बैरियर

बाराबंकी। शहर की सूनी सड़कें.. बाइक व साइकिल सवार या पैदल जाते इक्का दुक्का लोग, भीड़ से भरे रहने वाले धनोखर, घंटाघर की बाजारों में लॉक डाउन ने पहले दिन ऐसा सन्नाटा बिखेरा कि गलियों तक में मुश्किल से ही लोग दिखे। सड़कों पर सिर्फ पुलिस के वाहन या फिर एंबुलेंस ही सन्नाटा तोड़ते दिखाई दिए। वहीं कई जगह नागरिकों ने बाहर से कोई न आ सके इसके लिए बैरियर लगा दिए हैं।
शहर से लेकर गांव तक जहां भी बेवजह लोग मिले उनकी जमकर क्लास लगाई गई। जिसके बाद लोग घरों में दुबक गए। मॉर्निंग वॉक करने के लिए लोग भी नहीं दिखाई दिए। मोहल्लों में इक्का-दुक्का ही लोग सुबह टहलते दिखे। लॉक डाउन को लेकर श्रीराम कॉलोनी में प्रवेश द्वार पर लगे बैरियर को गिरा दिया गया है। मौजूद चौकीदार द्वारा आने जाने वाले लोगों से जानकारी ली जा रही है।
वहीं पहाड़ापुर में ग्रामीणों ने बैरियर लगाकर बाहरी लोगों के न आने के लिए पोस्टर लगा दिए हैं। टड़िया गांव और सफेदाबाद में बैरियर लगा कर बाहर से आने वाले लोगों के लिए ग्रामीणों ने रोक लगा दी है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए ग्रामीण घरों पर ही रहकर कोरोना के खिलाफ जंग में सहयोग कर रहे हैं। असंद्रा के ग्राम किठैया में ग्राम प्रधान राजेश कुमार और एसआई गजेंद्र सिंह ने मास्क का वितरण किया और लोगों से घरों में ही रहने और लॉक डाउन नियमों का पालन करने की सलाह दी। आनंद विहार वार्ड में प्रदीप मौर्या ने निजी पैसे से वार्ड में कीटनाशक दवा का छिड़काव कराया।
... और पढ़ें

एक संदिग्ध भर्ती, 568 को किया गया होम क्वारंटीन, सात पर केस

बाराबंकी। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को लेकर प्रशासन भी पूरी तरह से सख्त है। एक युवक संदिग्ध पाए जाने पर जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। जबकि गैर प्रांतों और विदेशों से आने वाले अब तक 568 लोगों को जहां होम क्वारंटीन किया गया है। होम क्वारंटीन किए जाने के बाद भी घरों के बाहर घूमते पाए जाने पर अलग-अलग क्षेत्रों में सात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है।
जिला प्रशासन द्वारा जारी प्रेस नोट में बताया गया है कि अब तक आठ लोगों को कोरोना का संदिग्ध मानते हुए आइसोलेेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था। इनमें से सात की जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद सभी को घर भेज दिया गया है। जबकि सूरतगंज क्षेत्र का एक युवक संदिग्ध पाए जाने पर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती है। जिसके ब्लड का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है।
अलग-अलग क्वारंटीन वार्ड में सात लोग अभी भी निगरानी में हैं। 568 को होम क्वारंटीन कराया गया है। इनको सख्त हिदायत दी गई है कि यदि ये लोग निर्धारित अवधि 14 दिनों से पहले अपने-अपने घरों से बाहर निकले तो इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एएसपी आरएस गौतम में बताया कि होम क्वारंटीन कराए जाने के बाद भी अलग-अलग स्थानों पर सात लोग अपने घरों से बाहर घूमते पाए जाने पर इनके खिलाफ केस दर्ज कराकर कार्रवाई की जा रही है।
जिले की जनता लॉकडाउन का पूरी तरह से अनुपालन करे। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। यदि किसी को बहुत जरूरी कार्य से बाहर निकलना पड़ रहा है तो वह सोशल डिस्टिसिंग का पालन जरूर करे। इस दौरान किसी को परेशान होने की कोई जरूरत नहीं जनता को सभी प्रकार की सुविधाएं मुहैया हो सके इसके लिए प्रशासन पूरी तरह से कार्य कर रहा है।- डॉ. आदर्श सिंह, जिलाधिकारी
... और पढ़ें

दुकानों पर नहीं मिल पा रहीं जरूरी वस्तुएं

बाराबंकी। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते लागू किए गए लॉकडाउन का समय गुजरने के साथ फुटकर दुकानों पर दैनिक उपभोग की वस्तुओं की कमी हो रही है। इससे लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उधर दुकानदारों का कहना है कि होलसेल मार्केट बंद होने से जरूरी सामान नहीं आ पा रहा है। सामान स्टॉक करने वाले बड़े व्यापारी निर्धारित मूल्य से अधिक दाम मांग रहे हैं। इसके चलते भी दैनिक उपभोग की वस्तुएं नहीं मिल पा रही है। उनकी उपलब्धता सुनिश्चित कराना प्रशासन के लिए एक बड़ी चुनौती है।
लखपेड़ाबाग में किराने की दुकान चलाने वाले दिनेश बतातें हैं कि साबुन, तेल, हल्दी, मिर्चा, टूथपेस्ट समेत कई प्रकार के मसाले, आटा, चावल व दाल का स्टॉक खत्म हो गया। होलसेल मार्केट बंद होने के चलते सामान मिल नहीं पा रहा है। रामसेवक चौराहे पर किराने की दुकान चलाने वाले अमन बताते हैं कि नवरात्र में देशी घी, मूंगफली दाना, मखाना कूट्टू और सिंधाडे़ के आटे की मांग अधिक है। दुकान में उपलब्ध सामान बिक गया है। बाजार में ये सामान मिल नहीं पा रहा है। लखनऊ व अन्य बड़ी बाजार से माल आ नहीं रहा है।
लखपेड़ाबाग निवासी बबलू सिंह बताते हैं कि दैनिक उपभोग की अधिकांश वस्तुएं दुकानों पर नहीं मिल पा रही हैं। लॉकडाउन के पांचवें दिन से ही सामान की कमी होने लगी है। ऐसे में प्रशासन को दैनिक उपभोग की वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने केे लिए ठोस कदम उठाने होंगे। उधर अपर जिलाधिकारी संदीप गुप्ता का कहना है कि आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के आपूति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

दूसरे शहरों से लौटे 540 लोग, घरों में रहने की हिदायत

बाराबंकी। कोरोना वायरस का संक्रमण नियंत्रित करने को किए गए लॉकडाउन के बाद परदेस से बड़ी संख्या में लोगों के पहुंचने से प्रशासन की धड़कनें बढ़ गई हैं। लोगों का दिन-रात आने का क्रम जारी रहने से प्रशासन सतर्क हो गया है। प्रशासन के अधिकारियों के साथ स्वास्थ्य टीम लगाकर आने वाले लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है। भीड़ अधिक होने के कारण कई वाहनों में सवार लोगों को बिना स्वास्थ्य परीक्षण के ही रवाना कर दिया गया। रविवार को डीएम व एसपी समेत अन्य अधिकारियों ने बस स्टेशन समेत अन्य जगहों पर निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। प्रशासन के मुताबिक रविवार को बाहर से लौटने वाले 540 और लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है।
लॉकडाउन के पांचवें दिन बाहर से आने वालों की भीड़ बढ़ गई। इसके मद्देनजर प्रशासन सतर्क हो गया। कई स्थानों पर बैरियर लगाकर एसडीएम के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीम को निगरानी के लिए तैनात किया गया। जिले की सीमा में प्रवेश करने वालों की स्वास्थ्य विभाग की टीमें जांच कर रही हैं। उसके बाद ही उन्हें घरों को जाने दिया गया। रविवार को सफेदाबाद बैरियर पर यह काफी भीड़ रही। बैरियर पर बाहरी से आने वालों की जांच के साथ लंच पैकेट का वितरण किया गया। भीड़ बढ़ने के कारण कई वाहनों पर सवार लोगों की जांच ही नहीं हो सकी। उन्हें बिना जांच के ही जाने दिया गया। इस भीड़ में बड़ी संख्या में बहराइच, गोंडा, श्रावस्ती, देवीपाटन, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, गोरखपुर के रहने वाले दिहाड़ी मजदूर थे।
उन्होंने बताया कि काम की तलाश में दिल्ली, पंजाब, हरियाणा आदि राज्यों में गए थे। लॉकडाउन के चलते काम बंद हो गया। इसके चलते रहने व खाने की दिक्कत हो गई। ऐसे में घर लौटने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा। दूसरे राज्यों व शहरों से करीब 540 लोग जिले में भी आए। जांच के बाद बसों से उन्हें घरों को भेज गया। उन्हें अपने घरों में रहने की हिदायत दी गई है।
जिला प्रशासन ने एक विज्ञप्ति में बताया कि रविवार को बाहर से लौटने वाले 540 और लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है। इसके साथ यह संख्या 2269 हो गई है। अब तक नौ लोगों को संदिग्ध मानते हुए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर जांच की गई। उनकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया है।
... और पढ़ें

पावर कार्पोरेशन ने बनाया कंट्रोलरूम, तुरंत दूर होगी शिकायत

लीड
पावर कार्पोरेशन ने बनाया कंट्रोल
रूम, तुरंत दूर होगी शिकायत
क्रासर
- 24 घंटे खुला रहेगा कंट्रोल रूम, जारी किए गए एसडीओ व एक्सईएन के नंबर
- कंट्रोल नंबर - 8004922307 पर चौबीस घंटे दर्ज होगी शिकायत
फोटो- 55 पी
संवाद न्यूज एजेंसी
बाराबंकी। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लॉकडाउन चल रहा है। ऐसे में पावर कार्पोरेशन ने घोसियाना स्थित बिजली दफ्तर में कंट्रोलरूम बनाया है जो 24 घंटे खुला रहेगा। कंट्रोल रूम का नंबर जारी कर दिया गया है। इसके साथ ही टीमें बनाई गई हैं। यह टीम शिकायत आने पर फाल्ट को तुरंत दुरुस्त करेगी। पावर कार्पोरेशन के अधीक्षण अभियंता संजीव राणा ने एरियाइज अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दी है। उपभोक्ता को कंट्रोल रूम के नंबर पर अपनी शिकायत दर्ज करानी होगी। किसी कारण से कंट्रोल रूम में शिकायत दर्ज नहीं होती है तो उपभोक्ता अपने एरिया से संबंधित एसडीओ व अधिशासी अभियंता के मोबाइल नंबर पर शिकायत दर्ज करा सकते है। एसडीओ व एक्सईएन इसकी सूचना अवर अभियंता को देकर शिकायत दूर कराएंगे।
पावर कार्पोरेशन-- कंट्रोल रूम का नंबर-- 8004922307
अधिशासी अभियंता बाराबंकी डिवीजन प्रथम- आरके मिश्र- 9415901597
अधिशासी अभियंता रामनगर- हर्षित श्रीवास्तव -9415099184
अधिशासी अभियंता रासनेहीघाट- संतोष कुमार पांडेय- 9415901600
अधिशासी अभियंता फतेहपुर - राधेश्याम भास्कर- 8004922315
अधिशासी अभियंता हैदरगढ़ - सत्येंद्र पांडेय- 9415099167
उपखंड अधिकारी- ओबरी, जेपी नगर- अंबिका प्रसाद- 9415901599
उपखंड अधिकारी - पल्हरी, बड़ेल, सतरिख- अमितेश्वर गोस्वामी-9453005255
उपखंड अधिकारी- चंदौली, देवा, बंकी- दिव्य कुमार- 9415901598
उपखंड अधिकारी- रामनगर, सूरतगंज- विकास सोनी- 8005489232
उपखंड अधिकारी- मसौली- पीपी सिंह- 9415901602
उपखंड अधिकारी- रामसनेहीघाट- बृजेश कुमार- 9415901601
... और पढ़ें

लॉक डाउन के चौथे दिन सड़कों पर दिखी घर पहुंचने वालों की कतार

बाराबंकी। लॉकडाउन के चौथे दिन जिले की सड़कों पर दूर-दूर से पैदल व ट्रक तथा डीसीएम से जाने वालों की कतार दिखी। इन सभी के चेहरे पर घर पहुंचने का जज्बे के साथ भूख, प्यास का संकट भी दिखा। वहीं शनिवार को पूरे दिन लॉकडाउन का पालन कराने के साथ प्रशासन लोगों के घरों तक आवश्यक वस्तुओं के पहुंचाने की तैयारियों का सच परखने में जुटा रहा।
वहीं जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक के साथ शहर के साथ ही नवीन सब्जी मंडी का भ्रमण कर मौके पर मौजूद अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। वहीं शनिवार को दो लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है तथा 4 लोगों को शांतिभंग की धारा में कार्रवाई करते हुए जेल भेजा गया है।
शहर में पैदल आने वाले मजदूर देवा तिराहे, स्टेडियम व जेब्रा पार्क के पास दिखे। यह मजदूर कानपुर व लखनऊ से पैदल अपने घरों के लिए निकले हैं। इसमें अरविंद, शिव कुमार व भगोले ने बताया कि साहब पेट का परिवार पालने के लिए मेहनत मजदूरी करने होली के बाद गया था। अभी पहले का एडवांस ही नहीं चुका पाया था। ऐसे में लाकडाउन के समय काम न मिलने से खाने की दिक्कत सामने आ गई थी।
इस दशा में घर पर पहुंचना ही जरूरी है। वहीं जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह ने शनिवार को पुलिस अधीक्षक डॉ. अरविंद चतुर्वेदी के साथ शहर के अलावा नवीन सब्जी मंडी पहुंच मंडी सचिव को आवश्यक निर्देश देेते हुए कहा कि बाजार में सब्जियों की उपलब्ध सुनिश्चित कराने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएं इसमें कोई लापरवाही न बरती जाए।
... और पढ़ें

बेनी प्रसाद वर्मा ने दोस्ती के लिए छोड़ दी थी मुख्यमंत्री की कुर्सी, नहीं बनी बात तो बना ली थी नई पार्टी

14 तक ट्रोल फ्री, फास्टैग के स्कैनर बंद

बाराबंकी। लॉकडाउन के चलते अयोध्या हाईवे के अहमदपुर के साथ सुल्तानपुर और बहराइच हाईवे के टोला प्लाजा को 14 अप्रैल तक वाहनों के लिए फ्री कर दिया गया हैं। टोल के फास्टैग स्कैनर को बंद करने के साथ वाहनों को रोकने के लिए लगे बूम को भी हटा दिया गया है।
कोरोना वायरस से बचाव के चलते लॉकडाउन घोषित होने के बाद सामान्य वाहनों का आवागमन बंद है। इसको देखते हुए एनएचएआई के निर्देश पर अहमदपुर टोल प्लाजा को 14 अप्रैल से फ्री कर दिया गया है। टोल प्रशासन की ओर से सभी दस लेन पर लगे बूम को भी हटा दिया गया। फास्टैग के स्कैनर को बंद कर दिया गया है। यही सुल्तानपुर और बहराइच हाईवे के टोला प्लाजा पर भी किया गया है। अहमदपुर टोल प्लाजा के मैनेजर एएस चौहान के मुताबिक कोरोना वायरस को देखते हुए एनएचएआई के निर्देश पर 14 अप्रैल तक गुजरने वाले आवश्यक वाहनों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।
... और पढ़ें

लॉकडाउन का तीसरा दिन, तीन को भेजा गया जेल

बाराबंकी। जिले में लॉकडाउन का तीसरे दिन भी शहर से लेकर गांव तक पूरा असर दिखाई दिया। सड़कों पर पसरे सन्नाटे को पुलिस- प्रशासन के वाहनों की सायरन से ही टूट रहा था। लॉकडाउन की हिदायत न मानने वाले 23 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनमें तीन लोगों को पुलिस ने जेल भेज दिया है। शुक्रवार को डीएम डॉ. आदर्श सिंह व एसपी डॉ. अरविंद चतुर्वेदी के साथ शुक्रवार को शहर का जायजा लिया और दुकानों पर मौजूद लोगों को सोशल डिस्टेंस का पालन करने की हिदायत दी।
पुलिस-प्रशासन की सख्ती और कोरोना वायरस को लेकर बढ़ते खौफ के चलते शहर के लोगों में लॉकडाउन का असर दिखाई देने लगा है। इसकी वजह से सड़कों पर भी सन्नाटा दिखाई दे रहा है। लोग अनावश्यक घर से निकलने से बच रहे हैं। सड़क पर निकलने वालों को पुलिस के जवान समझा रहे हैं। उनकी बात न मानने वालों के साथ सख्ती भी हो रही है। ग्रामीण क्षेत्र में इसका असर कम दिखाई दे रहा है। इसके चलते डीएम ने सभी एसडीएम और सीओ को लॉकडाउन का पालन कड़ाई से कराने के आदेश दिए हैं। डीएम ने शुक्रवार को शहर का भ्रमण किया और जगह-जगह तैनात पुलिस कर्मियों व अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। शहर में दवा की दुकान पर लोगों की मौजूदगी देख सोशल डिस्टेंस का पालन करने का आदेश दिया। देवा तिराहा, नाका सतरिख, बड़ेल चौराहा और रामनगर तिराहे पर तैनात पुलिस कर्मी मुस्तैद रहे। डीएम के आदेश पर शुक्रवार को निर्धारित समय के अनुसार राशन और आवश्यक सामग्री की दुकानें खुलीं और सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए लोगों ने खरीदारी की।
1366 वाहनों की हुई जांच, 25 सीज
एएसपी आरएस गौतम ने बताया कि लॉकडाउन का उल्लघंन करने वाले 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से 13 लोगों के खिलाफ मुकदमा लिखा गया था। तीन लोगों को जेल भेज दिया गया है। इसके साथ ही 1366 वाहनों की जांच की गई। इनमें से 559 वाहनों का चालान किया गया। 25 वाहनों को सीज किया गया है। 154 जरुरतमंद वाहन चालकों को पास निर्गत किए गए हैं।
... और पढ़ें

विकास पुरुष के रूप में जाने जाते थे बेनी बाबू

बाराबंकी। बेनी प्रसाद वर्मा की जिले में विकास पुरुष के रूप में भी पहचान थी। वह किसी भी दल में रहे हो लेकिन हर वर्ग के लोगों में लोकप्रिय थे। उनका निधन जिले की राजनीति के लिए बड़ी क्षति मानी जा रही है। निधन की सूचना मिलते ही लोग शोक में डूब गए। शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का देरशाम से ही उनके कंपनी बाग स्थित आवास पर आने का सिलसिला शुरू हो गया।
बेनी प्रसाद वर्मा का जन्म जिले की सिरौलीगौसपुर तहसील के सिरौलीगौसपुर गांव में 11 फरवरी 1941 को हुआ था। इनके पिता का नाम मोहनलाल वर्मा तथा माता का नाम रामकली वर्मा था। आपका विवाह वर्ष 1956 में मालती देवी से हुआ था। उनके तीन पुत्र और दो पुत्रियां हैं। बेनी बाबू की प्रारंभिक शिक्षा जिले में हुई। उसके लखनऊ से बीए व एलएलबी की पढ़ाई पूर कर राजनीति में कूद गए। उन्होंने वर्ष 1974 में दरियाबाद विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा और पहली बार विधायक बने। इस बीच वह मसौली विधानसभा से 1977, 1980 और 19 85 में चुनाव जीता। मुलायम सिंह यादव की सरकार में दो नंबर के नेता रहे। संसदीय कार्य, लोक निर्माण, आबकारी समेत कई विभागों के मंत्री भी रहे। इसके बाद 1996 में कैसरगंज से लोकसभा का चुनाव लड़ा और केंद्र में संचार मंत्री बनाए गए। वर्ष 1998, 1999 और 2004 के चुनाव में भी जीत हासिल की।
वर्ष 2007 में सपा से हुई अनबन के बाद उन्होंने राष्ट्रीय क्रांति दल के नाम से अलग पार्टी बनाई और प्रदेश में विधानसभा का चुनाव भी लड़ा। वर्ष 2009 में वे कांग्रेस में शामिल हुए और गोंडा जिले से लोकसभा चुनाव लड़ा। जीत हासिल करने के बाद केंद्र में इस्पात मंत्री बनाए गए। इसके बाद वर्ष 2016 में वह फिर सपा में वापस आ गए और राज्यसभा सांसद बनाए गए। जिले में सड़कों का जाल बिछाने और संचार सुविधाएं गांव-गांव तक पहुंचाने में बेनी बाबू की विशेष भूमिका रही। उन्होंने जिले के बरदरी में चरण सिंह महाविद्यालय तथा शहर में मोहनलाल वर्मा महाविद्यालय की स्थापना भी की। उनका पसंदीदा खेल शतरंज रहा। उन्होंने यूनाइटेड किंगडम, जर्मनी, फ्रांस, सिंगापुर, चीन स्विटरजलैंड आदि देशों की यात्राएं भी की। इनके पुत्र राकेश वर्मा प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं। बेनी बाबू के निधन की सूचना मिलते ही जिले के लोग डूब गए।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us