विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

गोरखपुर की हर खबर अब अमर उजाला डिजिटल पर, कल सीएम योगी करेंगे लोकार्पण

अमर उजाला गोरखपुर के हाइपर लोकल ‘डिजिटल संस्करण’ की शुरुआत शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लैपटॉप पर एक क्लिक करके करेंगे।

17 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बरेली

शुक्रवार, 17 जनवरी 2020

पुलिस भर्ती: बिना वार्मअप हुए अचानक दौड़ना पड़ा भारी

अभ्यर्थी की मौत का मामला
लिखित परीक्षा में फेल छात्राओं को मेरिट गिराकर अचानक बुलाने से हुई समस्या
बरेली। पीएसी ग्राउंड में सिपाही भर्ती दौड़ के दौरान बुधवार को एक महिला अभ्यर्थी की मौत अनायास नहीं थी। दरअसल, लड़कियों को वार्मअप होने का मौका दिए बगैर दौड़ा दिया गया, इससे कई लड़कियां बेहोश हो गईं। लिखित परीक्षा में पहले फेल हो चुकीं छात्राओं को अचानक बुलाने से यह समस्या हुई। आने वाले दिनों में होने वाली दौड़ में भी लड़कियों के साथ ऐसी समस्या हो सकती है।
बुधवार को टारगेट पूरा करने के बाद बेसुध होकर गिरी महिला अभ्यर्थी की हार्टअटैक से मौत हो गई थी। कुछ और लड़कियां भी बेहोश हुई थीं। दरअसल, दौड़ में पास होने वाली लड़कियों का प्रतिशत करीब 50 फीसदी तक था, जबकि लड़कों का पास प्रतिशत 80 से 85 फीसदी तक रहा। लड़कियों का भर्ती लक्ष्य पूरा न होने से करीब दो महीने पहले लिखित परीक्षा में फेल हुई लड़कियों को मेरिट गिराकर दौड़ के लिए बुलाया जा रहा है। यह लड़कियां रिजल्ट आने के बाद से दौड़ का अभ्यास बंद कर चुकी हैं। कुछेक ही अगली प्रतियोगी परीक्षाओं के लिहाज से दौड़ रहीं हैं। अब अचानक इनके पास दौड़ में शामिल होने के लेटर पहुंच रहे हैं। उसमें भी इन्हें वार्मअप होने का मौका दिए बगैर ही दौड़ाया जा रहा है, इससे उनकी तबीयत खराब हो रही है।
 
लड़कों का भर्ती लक्ष्य काफी हद तक पूरा हो चुका है, जबकि लड़कियों का अधूरा है। इसलिए मुख्यालय से ही मेरिट गिराकर लड़कियों को बुलाया गया है। लड़कियों को सही तैयारी करके दौड़ में हिस्सा लेना चाहिए। संयम रखकर टारगेट पूरा करने का प्रयास करें, हड़बड़ी से बचें। - सीमा यादव, सीओ टू (भर्ती बोर्ड की सदस्य)
... और पढ़ें

फिर मिले कटे कनेक्शन, लाइन मैन हटाए गए

अफसरों को बचाया, तीन लाइनमैन की संविदा खत्म
बकायेदारों के कनेक्शन जोड़ने पर एक्शन के अगले दिन फिर पांच पकड़े
- गुरुवार तड़के हुई चेकिंग, एसडीओ राजेंद्रनगर मामले की करेंगे जांच
अमर उजाला ब्यूरो
बरेली। बकायेदारी में काटे गए कनेक्शन चलते मिले मामले में हुए एक्शन के बाद अगले दिन ही चेकिंग में फिर पांच पकड़े गए। इससे विभाग में अफरातफरी मची हुई है। आनन फानन में अफसरों ने तीन संविदा लाइनमैनों की बर्खास्त कर दिया। साथ ही अवैध रुप से कनेक्शन जोड़ने आदि मामलों की छानबीन के लिए एसडीओ राजेंद्रनगर जांच अधिकारी नामित किया गया है।
अवैध ई- रिक्शा चार्जिंग स्टेशन और अचानक चेकिंग में बकायेदारी में कटे कनेक्शन चालू मिलने पर मुख्यालय सख्त होता नजर आ रहा है। यहां बता दें कि बीते शनिवार देर शाम पावर कॉरपोरेशन के निदेशक विजय कुमार ने अचानक चेकिंग कराई थी तो बकायेदारी में काटे गए और दूसरे दिन अवैध चार्जिंग के मामले पकड़े गए थे। उन्होंने कनेक्शन जोड़ने वाले स्टॉफ पर सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए थे, लेकिन अफसर मामले की लीपापोती में जुटे रहे। मुख्यालय स्तर पर जब हलचल हुई तो पांचवें दिन टीजी-2 अरविंद कुमार को सस्पेंड कर दिया गया। कार्रवाई के विरोध में टीजी-2 संगठन ने बिना किसी अनुमति के ही चीफ इंजीनियर कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया। दूसरे दिन भी धरना जारी रहा।
मुख्यालय से लगी फटकार के बाद गुरुवार तड़के फिर चेकिंग हुई तो उन्हीं इलाकों में बकाएदारी में कटे और कनेक्शन भी जुड़े पाए गए। चेकिंग में बकायेदार हजियापुर में सुनीता, शोभा, सगीर, माधोबाड़ी में लल्लन और बब्बू के कनेक्शन चालू हालत में मिले। इन पांचों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। उधर, कटे कनेक्शन जोड़ने के मामले में तीन लाइनमैन मंजीत, मो. मियां, आरिफ चिह्नित हुए। इनकी संविदा तत्काल प्रभाव से खत्म कर दी गई है। बकायेदारी में काटे गए कनेक्शन जोड़ने के मामले में छठे दिन एसडीओ राजेंद्र नगर एमए खान को जांच अधिकारी किया गया है।
एक ओर नारेबाजी दूसरी और सहगल
चीफ इंजीनियर कार्यालय परिसर में टीजी-2 धरने पर बैठे थे। इस बीच दोपहर में प्रमुख सचिव नवनीत सहगल का काफिला सर्किट हाउस पहुंचा तो नारेबाजी तेज हो गई। इसे प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। प्रशासनिक अफसरों का कहना है कि बिजली विभाग में यह सब जानबूझकर किया गया।
... और पढ़ें

गलत ब्लड रिपोर्ट देने पर डॉक्टर मेडिकल काउंसिल में तलब

शहर के कपड़ा व्यापारी और उनकी पत्नी की गलत दी थी ब्लड रिपोर्ट
अगस्त 2018 का है मामला, एसीएमओ ने की थी कार्रवाई की संस्तुति
बरेली। पति-पत्नी की गलत ब्लड रिपोर्ट देने के मामले में एक हॉस्पिटल के डॉक्टर की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मेडिकल कौंसिल ने डॉक्टर को 22 जनवरी को सभी जरूरी कागजातों के साथ पेश होने के निर्देश दिए हैं। पेश न होने स्थिति में कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है।
कौंसिल की ओर से अस्पाल के डॉक्टर को भेजे पत्र में कहा गया है कि सीएमओ कार्यालय की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने एक दंपती की गलत ब्लड रिपोर्ट जारी की है। इन दंपती के इलाज से संबंधित सभी कागज और अपने रजिस्ट्रेशन, डिग्री आदि लेकर 22 जनवरी को कौंसिल पहुंचें। बता दें कि राजेंद्रनगर में रहने वाले रेडीमेड गारमेंट्स कारोबारी गिरीश मक्कड़ और उनकी पत्नी का मेडिकल इंश्योरेंस कंपनी की ओर से अगस्त 2018 में हॉस्पिटल में चेकअप कराया गया था। गिरीश मक्कड़ ने शिकायत दर्ज कराई थी कि अस्पताल की जांच रिपोर्ट में उनका ब्लड ग्रुप ‘ओ’ की जगह ‘बी’ कर दिया और पत्नी का ‘ए’ की जगह ‘ओ’ लिख दिया। उनकी शिकायत पर सीएमओ आफिस ने 22 अगस्त 2018 को जिला अस्पताल में उनका ब्लड टेस्ट कराया गया। वहां की रिपोर्ट में गिरीश का ब्लड ग्रुप ‘ओ’ और उनकी पत्नी का ‘ए’ निकला। इस पर जांच अधिकारी एसीएमओ डॉ. रंजन गौतम ने कौंसिल को पत्र लिखकर कार्रवाई की संस्तुति की थी। शिकायतकर्ता गिरीश मक्कड़ ने बताया कि उन्हें भी कौंसिल का पत्र मिला है। इसमें हॉस्पिटल के डॉक्टर को तलब करने के साथ ही उन्हें भी बुलाया गया है। कहा गया है कि अगर वह कुछ और सबूत देना चाहें तो दे सकते हैं।
... और पढ़ें

शांतिभंग के आरोप में सात को जेल, एक को पॉक्सो में धरा

बिल्सी। एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी के निर्देशन में चलाए जा रहे अभियान के तहत कोतवाली पुलिस ने शुक्रवार को सात लोगों के खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई और एक को पॉक्सो अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा है। कोतवाल धर्मेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि नगर के मोहल्ला संख्या पांच निवासी सागर पुत्र सूरजपाल, क्षेत्र के गांव रिसौली निवासी पूरनलाल पुत्र नन्हेलाल, सतेन्द्रपाल पुत्र नन्हेलाल, अमरदीप पुत्र रामआसरे, प्रदीप पुत्र रामआसरे, गांव कटिन्ना निवासी गंगाचरन पुत्र शिवचरन, द्वारिकी पुत्र रामचंद्र को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेजा है। जबकि सूरज उर्फ भीम पुत्र वीरेंद्र कश्यप निवासी ग्राम सराय ब्राह्मण मजरा जुनामई थाना गुन्नौर (संभल) को पॉक्सो अधिनियम एवं किशोरी को बहला-फुसलाकर ले जाने के आरोप में पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर सतेती तिराहे के पास से गिरफ्तार कर जेल भेजा है। ... और पढ़ें

गुटखा सेल्समैन का शव कमरे में लटका मिला, शराब के नशे में आया था घर

बदायूं। शहर कोतवाली की प्रोफेसर कॉलोनी में बृहस्पतिवार रात सेल्समैन का शव संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे में लटका मिला। बताते हैं कि वह बीती रात शराब के नशे में घर आया था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है।
प्रोफेसर कॉलोनी निवासी सुनील चौहान गुटखा कंपनी में बतौर सेल्समैन काम करते हैं। उनका 27 वर्षीय बेटा सुमित चौहान उर्फ सनी भी एक गुटखा कंपनी में सेल्समैन है। बृहस्पतिवार को सुमित दातागंज गया था। शाम करीब साढ़े सात बजे उसने पिता को फोन कर बताया कि दातागंज क्रॉसिंग के आगे उसकी बाइक का पेट्रोल खत्म हो गया है। पिता रात में ही पेट्रोल लेकर पहुंचे। वहां सुमित नशे की हालत में मिला। किसी तरह से पिता उसे घर लेकर आए। रात करीब 12 बजे सुमित का शव कमरे में फंदे से लटका मिला। परिजनों की सूचना पर पुलिस ने रात में ही शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवा दिया। मृतक तीन भाइयों में सबसे बड़ा था। मृतक सुमित अपने पीछे पत्नी राधा, तीन वर्षीय बेटे और तीन माह की बेटी को छोड़ गया है।
... और पढ़ें

हिंदू युवा वाहिनी के नेता और पंकज पाठक समेत तीन को बीस साल कैद

सामूहिक दुष्कर्म में दोषी पाए गए हिंदू युवा वाहिनी के नेता और पंकज पाठक समेत तीन को बीस साल कैद की सजा सुनाई गई है। सजा का आदेश अपर सत्र न्यायाधीश फास्ट ट्रैक कोर्ट श्री कृष्ण चंद्र सिंह ने किया।

थाना सुभाषनगर में घटना की रिपोर्ट पीड़िता की सास ने लिखाई थी। रिपोर्ट में कहा था कि 26 मई 2017 की शाम 7.30 बजे वह और उसकी बहू घर में थीं। तभी खुद को हिंदु युवा वाहिनी का नेता बताने वाले पड़ोस में रहने वाला अंशु उर्फ अविनाश, पंकज पाठक, जितेंद्र शर्मा और अनिल सक्सेना घर में घुस आए। पुरानी रंजिश में बदला लेने की नीयत से अभियुक्तों ने उसकी बहू के कपड़े फाड़ दिए और सामूहिक दुष्कर्म किया।

 जाते समय चारों ने पुलिस में शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी। कुछ देर बाद उनका बेटा आया तो वे लोग पीड़िता को लेकर थाने ले जाने लगे। तभी रास्ते में अभियुक्तों ने 15-20 लड़कों के साथ उन्हें घेर लिया और धमकाया।

हंगामे पर मोहल्ले के काफी लोग आ गए और अभियुक्त पंकज पाठक, जितेंद्र शर्मा व अंशु उर्फ अविनाश सक्सेना को पकड़कर वे लोग थाने ले गए। अनिल सक्सेना मौके से भाग निकला। इस मामले में अभियुक्त अनिल सक्सेना की पत्रावली अलग कर दी गई। बाकी तीनों अभियुक्तों का मुकदमा एकसाथ चला। अभियोजन की ओर से सरकारी वकील सुरेश साहू ने कुल पांच गवाह पेश किए।

अदालत ने तीनों अभियुक्तों को दोषी ठहराते हुए उन्हें बीस-बीस साल कैद की सजा सुनाई है। इसके अलावा तीनों पर 29-29 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। कोर्ट ने जुर्माने की राशि हर्जाने के तौर पर पीड़िता को देने का आदेश दिया है।
... और पढ़ें

शौचालय के पास शेल्टर होम, परफ्यूम भी नहीं रोक सका बदबू

जगह के चयन पर प्रमुख सचिव हुए नाराज, निगम अफसरों के हाथ-पांव फूले
बरेली। सेटेलाइट पर शौचालय के पास बने शेल्टर होम में परफ्यूम छिड़कने के बाद भी बदबू दूर नहीं हुई। प्रमुख सचिव नवनीत सहगल रात करीब साढ़े दस बजे यहां पहुंचे तो बदबू का अहसास कर नाराज होने लगे। अफसरों से पूछा कि इसे किसी अन्य जगह पर भी तो बनाया जा सकता था। इस पर अफसरों के हाथ-पांव फूल गए लेकिन वह बिना कुछ कहे गाड़ी में जाकर बैठे तो सबने राहत की सांस ली।
बृहस्पतिवार रात प्रमुख सचिव नवनीत सहगल सर्किट हाउस से शहर में दौरे के लिए निकले तो नगर आयुक्त समेत अन्य अफसर भी साथ थे। निगम अधिकारी उन्हें हरूनगला स्थित शेल्टर होम ले जाने के उद्देश्य से निकले थे लेकिन वह सेटेलाइट पर बने अस्थाई आश्रय स्थल की ओर मुड़ गए। यह देख निगम अफसरों के हाथ पांव फूल गए। वहीं, प्रमुख सचिव को आता देख कर्मचारियों ने वहां जल्दी-जल्दी चादरें बिछाना शुरू किया। यहां प्रमुख सचिव ने वहां बैठे लोगों से पूछा कब से यहां रुके हो। इसी बीच बदबू का झोंका आया तो अफसरों से शौचालय और पेशाबघर के बीच शेल्टर होम बनाने पर नाराजगी व्यक्त की। नगर आयुक्त से पूछा कि इसे किसी अन्य जगह भी तो बना सकते थे। इस पर निगम अफसरों ने उत्तर दिया कि कई सालों से यहीं बनाया जा रहा है। इस पर प्रमुख सचिव कुछ नहीं बोले और अपनी गाड़ी में बैठ गए।
‘किसने बताया इस आश्रय स्थल का पता’
सेटेलाइट के बाद प्रमुख सचिव हरूनगला शेल्टर होम पहुंचे। यहां पूरा माहौल किसी होटल की तरह दिखाई दिया। हर बेड पर एक आदमी लेटा था। साफ कंबल और चादरें ओढ़े 25 से अधिक लोग वहां मिले। इनमें से एक आदमी से प्रमुख सचिव ने पूछा कि कब आए, तो उसने सुबह आने की बात कही। काम पूछा तो एक कंपनी में इंटरव्यू बताया लेकिन कंपनी का नाम नहीं बता सका। उन्होंने पूछा कि शेल्टर होम का पता किसने बताया तो उसने कहा एक होटल वाले ने बताया था। इसके बाद प्रमुख सचिव ने अन्य लोगों से पूछा, सब लोग पास के ही गांव के हो। इस पर वहां लेटे कई लोग उठ बैठे। एक ने लखनऊ से आना बताया तो दूसरे खुद को ठेला लगाने वाला बताया। प्रमुख सचिव ने पूछा पैसा लिया जाता है तो एक अन्य व्यक्ति ने इनकार कर दिया। इसके बाद प्रमुख सचिव मुस्कुराकर वहां से निकल गए।
दिन भर दुरुस्त की गईं व्यवस्थाएं
प्रमुख सचिव के दौरे के पूर्व अमर उजाला की टीम सेटेलाइट पर शेल्टर होम पहुंची तो वहां सुगंध का अहसास हुआ। वहां काम कर रहे कर्मचारी ने बताया कि कोई बड़े साहब आ रहे हैं। उन्हें लेकर तैयारी है। फर्स्ट एडबॉक्स से लेकर कूड़ेदान तक रखे गए हैं। चादर, रजाई के कवर भी बदले गए। साफ टेंट लगाकर अगरबत्ती जलाई गई ताकि कोई कोर कसर न रह जाए। निगम के अधिकारियों ने भी दिन में कई बार वहां का निरीक्षण किया।
... और पढ़ें

एडीओ पंचायत को आधा किमी घसीटा डग्गामार वाहन ने

मॉर्निंग वॉक के दौरान टाटा मैजिक की चपेट में आकर हुए घायल
बरेली। मार्निंग वॉक को निकले रामनगर ब्लॉक के एडीओ पंचायत करन सिंह को डग्गामार वाहन ने करीब आधा किमी घसीटा। घायल करन सिंह की ओर से वाहन नंबर के आधार पर इज्जत नगर थाने में रिपोर्ट कराई गई है।
वीर सावरकर नगर के निवासी करन सिंह के साथ यह हादसा गुरुवार सुबह करीब छह बजे हुआ। वह रोड की तरह महानगर दिशा में घूमने निकले थे। बताया कि सौ फुटा रोड पर पेट्रोल पंप के पास एक टाटा मैजिक को उसका ड्राइवर लापरवाही से बैक कर रहा था। उन्हें पीछे से टक्कर लगी तो वह सड़क पर गिर गए। शोर मचाया तो ड्राइवर ने भागने की कोशिश में स्पीड बढ़ा दी। उनके कपड़े वाहन के पिछले हिस्से में फंस गए तो वह करीब आधा किमी दूर तक घिसटते चले गए। बाद में स्थानीय लोगों की मदद से उन्हें अस्पताल लाया गया। बताया कि हादसे से उनके एक पैर में हल्का फ्रेक्चर हो गया जबकि शरीर पर कई जगह चोट आई है। पुलिस ने एडीओ का मेडिकल परीक्षण कराया। इसके बाद परिजन उन्हें निजी अस्पताल ले गए। वहां प्राथमिक उपचार कराया गया। एडीओ के घायल होने की खबर सुनकर उनके स्टाफ के कई लोग भी पहुंच गए।
... और पढ़ें

एसओ के घर डकैती का मामला- टीमों की दौड़ बेनतीजा, सर्विलांस भी खाली हाथ

अपने घर पड़ी डकैती के खुलासे को खुद जुटे एसओ, अपना नेटवर्क भी लगाया
बरेली। अमरिया एसओ के शास्त्रीनगर स्थित आवास में पड़ी डकैती के मामले में पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीमें कई शहरों में खाक छान रही हैं। मगर अब तक कुछ भी पुलिस के हाथ नहीं लगा है। वहीं, पीड़ित एसओ ने अपने घर पड़ी डकैती के खुलासे के लिए अपना नेटवर्क भी लगा दिया है।
मंगलवार शाम साढे़ छह बजे पांच-छह हथियारबंद बदमाशों ने अमरिया एसओ पुष्कर सिंह के घर डकैती डाली थी। बदमाशों ने उनकी पत्नी रुचि, छह साल की बेटी आन्या, किराएदार प्रेमशंकर, उनके बेटे अजय और पत्नी को बंधक बनाकर वारदात को अंजाम दिया था। बुधवार को थाना प्रेमनगर में रिपोर्ट कराई गई। इसमें भी पुलिस ने खेल कर दिया, बदमाशों की संख्या कम करके डकैती को लूट में तब्दील कर दिया। मगर खुलासे के नाम पर पुलिस के हाथ खाली हैं। सांई मंदिर के कैमरे से पुलिस को कुछ धुंधली तस्वीरें मिली हैं लेकिन चेहरे साफ नहीं हैं। इसमें मुंह पर हाथ रखे जा रहे लोगों को बदमाश मानकर पुलिस छानबीन कर रही है। अब तक करीब 35 लोगों से पूछताछ की जा चुकी है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला है।
संदिग्ध नंबर भी नहीं मिले
पुलिस ने घटना के समय शास्त्रीनगर के बीटीएस की रेंज में आए नंबरों की भी गहनता से जांच की पर ऐसे संदिग्ध नंबर नहीं मिले जिनसे सही दिशा मिल सके। अब टीम मान रही है कि दूसरी वारदातों की तरह यहां भी बदमाश मोबाइल साथ में नहीं लाए या फिर स्विच ऑफ रखा। एसओ पुष्कर सिंह बरेली में अशरफ खां, सिविल लाइंस और नकटिया चौकी समेत कई जगह लंबे समय तैनात रहे हैं। उन्होंने अपने स्तर से भी बदमाशों की खोजबीन शुरू की है।
नौकरानी से की गई पूछताछ
एसओ के घर से नौकरानी के निकलने के थोड़ी देर बाद ही बदमाश अंदर घुसे थे। पुलिस को शुरू में नौकरानी पर भी शक था। मगर लंबी पूछताछ में कुछ नहीं सामने आया। बताते हैं कि नौकरानी ने गली में घुसते कुछ संदिग्ध लोगों को देखा था जिनके हुलिये की पुलिस जानकारी जुटा रही है।
... और पढ़ें

पहले पेज के लिए

फिर थी दंगा कराने की साजिश, उत्तराखंड
जम्मू समेत नौ बाहरी लोगों को पकड़ा
बरेली। नागरिकता कानून के खिलाफ बुधवार देर शाम अचानक आजाद इंटर कॉलेज के मैदान पर जुटे लोगों की रात तीन बजे गिरफ्तारी के बाद जो राज सामने आए, उससे पुलिस अफसर भी सन्न रह गए। इनमें से नौ लोग संभल, अमरोहा, प्रतापगढ़ से लेकर जम्मू और मुजफ्फरनगर तक के निकले जो किच्छा (उत्तराखंड) के रिजवान की अगुवाई में बरेली में माहौल भड़काने की फिराक में थे। उनकी गतिविधियाें से दंगा कराने की साजिश का इशारा मिलने के बाद छानबीन भी की जा रही है कि इन लोगों के तार किसी राष्ट्रविरोधी संगठन से तो नहीं जुड़े हैं।
आजाद कॉलेज से पकड़े गए लोग कई दिनों से बरेली में मौजूद थे। पहले इन लोगों ने इस्लामिया ग्राउंड पर चल रहे आईएमसी प्रमुख मौलाना तौकीर रजा खां के धरने में घुसकर वहां माहौल गरम करने की कोशिश की लेकिन शक होने पर आईएमसी के लोगों ने उन पर निगरानी शुरू कर दी। बुधवार शाम जब तौकीर रजा खां ने धरना खत्म किया तो ये लोग आजाद कॉलेज चले आए जहां आनन-फानन में उन्होंने सैकड़ों की भीड़ इकट्ठी कर ली। रात तीन बजे जब पुलिस ने यहां मौजूद लोगों को गिरफ्तार करना शुरू किया तो भगदड़ मच गई। पूछताछ में पता चला कि आजाद कॉलेज में धरना शुरू कराने में रिजवान के अलावा जम्मू, मुजफ्फरनगर, प्रतापगढ़ और संभल के लोगों का हाथ था तो पुलिस चौंक गई। इन लोगों की गतिविधियां भी संदिग्ध पाई गईं जिसके बाद उनका शांति भंग करने के आरोप में चालान कर छानबीन शुरू कर दी गई है। ब्यूरो
... और पढ़ें

नारी गरिमा की समृद्ध परंपरा के संवर्द्धन और संरक्षण की शपथ

अमर उजाला अपराजिता मुहिम के तहत गुलाबराय इंटर कॉलेज में शपथ ग्रहण कार्यक्रम
बरेली। अमर उजाला ‘100 मिलियन स्माइल्स’ मुहिम के तहत गुरुवार को नैनीताल रोड पर गुलाबराय इंटर कॉलेज में छात्रों को नारी गरिमा की रक्षा करने की शपथ दिलाई गई। छात्रों ने घर के साथ बाहर समाज में भी बेटियों को सम्मान देने के लिए जागृति फैलाने का संकल्प लेते हुए अपराजिता अभियान के संकल्प पत्र भी भरे। शिक्षकों ने अपराजिता अभियान की जानकारी देते हुए बताया कि अगर छात्र जीवन में ही नारी का सम्मान करना सीख लिया जाए तो समाज की सूरत ही बदल जाएगी और महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों पर खुद ब खुद लगाम लग जाएगी।
प्रधानाचार्य एसपी पाठक के निर्देशन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में कक्षा छह से 12वीं तक के छह सौ से ज्यादा छात्रों ने प्रतिभाग किया। प्रधानाचार्य ने अपराजिता अभियान के संकल्प पत्र की जानकारी देते हुए कहा कि नारी गरिमा की रक्षा के लिए सभी को संकल्पित होना चाहिए। भारत नारी के स्वाभिमान की रक्षा के लिए सदैव लड़ता रहा है। यही परंपरा आगे बढ़ाने का काम युवा पीढ़ी को करना है। इसके लिए सिर्फ पुरुषों को ही सोच बदलने की जरूरत नहीं है बल्कि महिलाओं को भी अपनी सोच बदलनी होगी क्योंकि पुरुष को जन्म देने वाली महिला ही होती है। अगर मां बचपन से ही लड़कों को लड़कियों की इज्जत करना सिखाए तो समाज में महिला उत्पीड़न और शोषण की घटनाएं काफी हद तक थम जाएंगी।

बहनों को सिखाएं आत्मरक्षा के गुर
प्रवक्ता योगेश्वर सिंह यादव ज्ञान ने कहा कि लड़के महिलाओं के प्रति सम्मान का भाव रखें और अगर कोई लड़की बाहर मुसीबत में है तो उसकी मदद करें। अजय अग्निहोत्री, संजय सक्सेना, महेश चंद्र पांडेय, उदय प्रताप सिंह, संजय सिंह, रणधीर सिंह आदि ने भी विचार रखे। कहा, छात्र अपनी बहनों को आत्मरक्षा के गुर सीखने के लिए प्रेरित करें। अगर उनकी पढ़ाई में घर में भेदभाव हो रहा है तो आवाज उठाएं और उन्हें शिक्षित बनाने में मदद करें। इस छोटी सी पहल का बड़ा ही सकारात्मक प्रभाव समाज पर दिखाई देगा।
... और पढ़ें

जिला अस्पताल के इमरजेंसी के फीमेल वार्ड में महिलाआें ने चोराें को धुना

फोटो - हंगामे के बाद महिलाओं की भीड़।
फीमेल वार्ड में घुसे चोर, महिलाओं ने धुना
- तीन युवक चोरी कर रहे थे सामान, होमगार्ड पहुंचे तो छत से कूदकर भागे
अमर उजाला ब्यूरो
बरेली। जिला अस्पताल में इमरजेंसी के ऊपर बने फीमेल वार्ड में चोरी की नीयत से घुसे तीन युवकों को महिलाओं ने पकड़ लिया। महिलाओं ने उनसे पूछताछ की लेकिन वे जवाब नहीं दे सके तो उनकी जमकर पिटाई की।
बृहस्पतिवार दोपहर करीब दो बजे फीमेल वार्ड में घुसे तीन युवक महिलाओं का सामान खंगाल रहे थे। वहां मौजूद लोगों ने पहले तो उन्हें तीमारदार समझा लेकिन फिर पकड़ लिया। महिलाओं ने पूछताछ शुरू की तो तीनों फंस गए। फिर महिलाओं ने चोर का शोर मचाकर उनकी पिटाई शुरू कर दी। ड्यूटी पर तैनात होमगार्ड ऊ पर पहुंचा तब तक तीनों छत से कूदकर पीछे की ओर भाग गए। बता दें कि इससे पहले दिसंबर में एक चोर बॉयोमेडिकल वेस्ट चोरी करते हुए पकड़ा गया था। जिला अस्पताल चौकी इंचार्ज चमन गिरी का कहना है कि घटना की जानकारी हुई है लेकिन भागे चोरों का अभी कुछ पता नहीं लगा है। महिलाओं और तीमारदाराें से उनका हुलिया पूछकर तलाश की जाएगी।
... और पढ़ें

दीवार पुतवाकर शांति इंडस्ट्रीज का नाम छिपाया, अफसर परेशान.. सहगल साहब न देख लें

बिल्डिंग मैटेरियल वाला सरकारी गोदाम
बरेली। उत्तर प्रदेश उपभोक्ता सहकारी संघ अफसरों ने करोड़ों रुपये की कीमती जमीन पर गोदाम किराए देने के नाम पर कब्जा करा दिया। प्र्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने एक गांव में चौपाल करने का निर्णय लिया तो अफसरों की धड़कनें बढ़ गई। क्योंकि पीलीभीत बाईपास से ही उनका काफिला गुजरना था और इसी रास्ते में कब्जा किया हुआ गोदाम है। इस पर जिला प्रबंधक ने आननफानन में गोदाम पर लिखा कब्जेदार फर्म का नाम पुतवा दिया।
पीलीभीत बाईपास स्थित अनाज समेत अन्य आवश्यक वस्तुओं का भंडारण करने के लिए उपभोक्ता सहकारी संघ का गोदाम है। विभाग ने कुछ समय पहले यह गोदाम एक निजी फर्म को किराए पर दिया था। शांति इंडस्ट्रीज नामक इस फर्म ने जिला प्रबंधक कार्यालय की मिलीभगत से गोदाम के साथ ही इसके परिसर की करोड़ों रुपये की जमीन पर भी कब्जा कर लिया। साथ ही इस फर्म ने अपने कारोबार के प्रचार के लिए गोदाम की दीवार पर अपना नाम लिखवाकर मार्बल, पत्थर बिल्डिंग मैटेरियल का धंधा शुरू कर दिया। इसका खुलासा ‘अमर उजाला’ ने किया तो हड़कंप मच गया। गुरुवार सुबह नोडल अफसर प्रमुख नवनीत सहगल का दौरा था और उन्हें नवाबगंज स्थित मेथी नवदिया गांव में चौपाल कार्यक्रम में भाग लेना था। करोड़ों रुपये कीमत की जमीन और गोदाम पीलीभीत बाईपास पर होने से अफसर परेशान थे कि कहीं सहगल साहब की नजर इस गोदाम पर नहीं पड़ जाए। इसके चलते जिला प्रबंधक ने आनन-फानन में गोदाम की दीवार पर लिखा शांति इंडस्ट्रीज का नाम और कारोबार का प्रचार पुतवा दिया। मगर प्रमुख सचिव का काफिला गोदाम से निकलने के बाद अफसरों को चैन आया। मगर इसके बावजूद भी उपभोक्ता सहकारी संघ ने कब्जेदार पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us