विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उत्तर प्रदेश में कोरोना के 15 नए मरीज मिले, तीन हुए ठीक, 96 पहुंची कुल संख्या

नोवेल कोराना वायरस के प्रकोप के बीच सोमवार को एक अच्छी खबर आई। पहले से अस्पतालों में भर्ती तीन पॉजिटिव मरीज पूरी तरह से स्वस्थ होने के कारण डिस्चार्ज कर दिए गए। इनमें से दो नोएडा और एक आगरा का मरीज है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बस्ती

मंगलवार, 31 मार्च 2020

निजी बस से मुंबई से भानुपर पहुंचे 17 लोग, हुई जांच

निजी बस से मुंबई से भानुपर पहुंचे 17 लोग
मेडिकल टीम ने की सभी की चिकित्सीय जांच
14 दिन तक परिजनों से अलग रहने की हिदायत
भानपुर(बस्ती)। लॉकडाउन के बीच बृहस्पतिवार को भानपुर तहसील क्षेत्र में करीब 17 लोग निजी बस से मुंबई से पहुंचे। मुंबई से कुछ लोगों के आने की सूचना मिलते ही सोनहा पुलिस व मेडिकल टीम उन्हें ट्रैस करने लगी। उनकी चिकित्सीय जांच की गई।
प्रभारी निरीक्षक सोनहा पंकज सिंह व सीएचसी अधीक्षक डॉ. विवेक विस्वास ने बताया कि सोनहा पड़ाव पर छह, भानपुर में आठ व असनहरा पुलिस चौकी के पास तीन लोग बस से उतरे हैं। सभी की जांच की गई। उन्हें 14 दिनों तक घर और परिवार से अलग रहने की हिदायत दी गई है। इस दौरान तबीयत खराब होने पर हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करने के निर्देश दिए गए हैं। एसडीएम आशाराम वर्मा ने बताया कि बाहर से आने वालों की सूचना मिलते ही जांच टीम भेजी जा रही है। उनपर नजर रखी जा रही है।
... और पढ़ें

मंजिल को तय करने के लिए भूल गए प्यास

मंजिल तय करने में भूल गए प्यास
बस्ती। कोरोना को चलते समूचे देश में लॉकडाउन है। रेल यातायात पूरी तरह से ठप है। देश व विदेशी उड़ानों पर भी पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। यही नहीं परिवहन सेवा भी बंद हैं। जिसके चलते दूर दराज के इलाकों, राज्यों व शहरों में रोजी रोटी में जुटे हुए लोगों पर मानों आफत ही आ गई हैं। धंधा पूरी तरह से ठप है, ऐसे में मजदूर व अन्य लोग अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए परेशान हैं, बहुत से ऐसे लोग हैं, जो मंजिल को तय करने के लिए पैदल ही यात्रा कर रहे, तो बहुत से ऐसे हैं, जो बाइक से अपने घरों के लिए सैकड़ों की मील की यात्रा पर निकल पड़े हैं। शुक्रवार को बड़ेवन स्थित टोल प्लाजा के पास चौकाने वाला नजारा दिखा, एक स्कूटर पर सवार तीन युवक तेजी से आते दिखे, रूकने के इशारे पर उन्होंने अपने वाहन को रोका, तीनों युवक काफी परेशान दिख रहे थे, वाहन चला रहे फैजान से बात करने पर उन्होंने बताया कि वे खलीलाबाद में रहकर मजदूरी करते हैं, लॉक डाउन के चलते काम ठप पड़ गया है, ऐसे में वे अपने साथी फहीम व जिशान के साथ मुजफ्फरनगर जा रहे हैं। इन्हें बताया गया कि बस्ती में जिला प्रशासन की ओर से रुकने व भोजन की व्यवस्था की गई है, लेकिन उन्हें सिर्फ अपनों के बीच पहुंचना था, वो भी 10 या 20 किमी नहीं, बल्कि पूरे 866 किलो मीटर की दूर तय कर। इनके जाने के बाद बाइक सवार अन्य दो लोगों को रुकने का इशारा किया गया, इन्होंने भी अपनी बाइक रोकी, बाइक चला रहे पवन व पीछे बैठे संजय निवासी कानपुर ने बताया कि वे सहरसा बिहार से आ रहे हैं। बताते हैं कि सेल्समैन का काम करते हैं, लॉक डाउन के चलते काम ठप है, ऐसे में अपने घर जा रहे हैं। इन्हें भी जिले में रुकने वा भोजन की व्यवस्था के बारे में बताया गया, लेकिन ये भी अपनों के बीच पहुंचने के लिए परेशान थे। इसी बीच बाइक सवार दो और युवक आते दिखे पूछने पर बाइक चला रहे युवक ने अपना नाम मनीष सिंह व पीछे बैठे युवक ने अपना नाम सत्यम शुक्ला बताया। बताते हैं गोरखपुर में रहकर काम करते थे, लॉकडाउन के चलते सभी दुकानें बंद हैं। ऐसे में घर पहुंचना ही विकल्प रहा गया है। दोनों ने खुद को लखनऊ का रहने वाला बताया।
एंबुलेंस में बैठी मिली सवारियां
हाइवे पर बहुत से ऐसे भी एंबुलेंस दिखे, जिसमें मरीज नहीं बल्कि सावारियां बैठी थी। इनके चालकों से पूछने पर बताया कि लोग पैदल चल रहे थे, काफी मिन्नतों के बाद इन्हें बैठा लिया गया है। यही नहीं गैंस सिलेंडर लदी ट्रकों व सब्जियों के वहनों के उपर बैठकर लोगों को यात्रा करते देखा गया।
... और पढ़ें

आलू 25 व चीनी 40 रुपये प्रति किग्रा की दर से बेंचने का निर्देश

आलू 25 व चीनी 40 रुपये प्रति किग्रा की दर से बेंचने का निर्देश
बस्ती। लॉकडाउन के बाद प्रशासन ने दैनिक उपयोग की वस्तुओं के दाम निर्धारित कर दिए हैं। डीएम आशुतोष निरंजन ने बताया कि वस्तुओं के फुटकर रेट निर्धारित किया गया है। तय रेट से अधिक दर पर सामान देने वाले विक्रेताओं पर भारतीय दंड संहिता की धारा-188 के प्राविधानों के तहत एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। बताया कि निगरानी के लिए प्रवर्तन दल का गठन किया गया है। लॉकडाउन में फुटकर विक्रेता ऊंचे दामों में वस्तुओं की बिक्री कर रहे थे। इसके चलते प्रशासन को रोजमर्रा की जरूरी वस्तुओं के दाम निर्धारित करना पड़ा। इससे लोगों को ऊंचे दामों में वस्तुएं खरीदने से काफी राहत मिलेगी।
25 रुपये किलो मिलेगा आलू
रेट लिस्ट के अनुसार आलू 25 रूपये, गोभी 20 रुपये, टमाटर 40, प्याज 30, हरा मिर्चा 80, अदरक 100, लहसुन 140, कद्दू 25, लौकी 25, भिंडी 60, करैला 60 व पालक 25 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से फुटकर में बेंची जाएगी।
किराना स्टोर का रेट भी तय
उड़द दाल 110, अरहर 94, मसूर 63, चना 66, बेसन 83, आटा 29, सूजी 30, गेहूं 27, मोटा चावल 28, बासमती चावल 55, माचिस पैकेट 11, नमक (सामान्य) 17 व 22 रूपये, राजमा 94, सरसों तेल 119, रिफाइंड 110, हल्दी 165, लाल मिर्च 275, सर्फ 55, गुड़ 44 व चीनी 40 रुपये प्रति किलो की दर से फुटकर में बेंची जाएगी।
सहायता कोष में दें दान
कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता कोष में दान दिया जा सकता है। धनराशि सिर्फ चेक के माध्यम से ही स्वीकार्य की जाएगी। डीएम आशुतोष निरंजन से लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोष में दान करने के लिए धनराशि सीधे बैंक खाते में भी डाली जा सकती है। इसके लिए सेंटल बैंक ऑफ इंडिया कैंट रोड लखनऊ शाखा के खाता संख्या 1378820696, आईएफएससी कोड- सीबीआईएनओ281571 है। दान धनराशि आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80 (जी) के तहत मुक्त है। दानी टेलीफोन नंबर-0522-2226359 पर भी संपर्क कर सकते हैं।
... और पढ़ें

माहौल देखने सड़क पर आ रहे लोग, पुलिस परेशान

माहौल देखने सड़क पर आ रहे लोग, पुलिस परेशान
कप्तानगंज (बस्ती)। लॉकडाउन के दौरान घरों से न निकलने की हिदायत के बावजूद कई लोग सड़क पर घूम रहे हैं। जिससे पुलिसकर्मी भी परेशान हैं। एक पुलिसकर्मी ने बताया कि समझा-बुझाकर जिसे घर भेजा जाता है थोड़ी देर में वही सड़क पर घूमता मिल जाता है।
लॉकडाउन में एक ओर लोग घरों में कैद हैं। दूसरी ओर कुछ मनबढ़ों से कप्तानगंज पुलिस काफी परेशान है। पुलिस का कहना है कि पूछताछ में लोग अजीबोगरीब बहाने बना रहे हैं। कई लोग तो माहौल देखने सड़क पर निकल आते हैं। ऐसे में उन्हें समझा-बुझाकर वापस घर भेजा जाता है। जरूरी वस्तुओं को तरजीह मिलने से लोग काफी राहत महसूस कर रहे हैं। कस्बे के कई दुकान संचालक होम डिलीवरी की सेवा भी दे रहे हैं। सीएचसी पर तैनात सुरक्षा कर्मी महानगरों से घर की लौटने वालों की जांच कर उनके भोजन आदि का प्रबंध भी कर रहे हैं।
... और पढ़ें

टैंकर की टक्कर से ट्रैक्टर-ट्राली पलटी

टैंकर की टक्कर से ट्रैक्टर-ट्रॉली पलटी
विक्रमजोत। फोरलेन पर ब्लॉक मुख्यालय के सामने गैस टैंकर व ट्रैक्टर-ट्रॉली में टक्कर हो गई। जिससे ट्रैक्टर-ट्रॉली पलट गई। इस हादसे में ट्रैक्टर चालक घायल हो गया। दिन में लगभग नौ बजे गोंडा जनपद के हृदयराम पुत्र बेकारू लाल ट्रैक्टर-ट्रॉली से गन्ना लेकर रुधौली जा रहे थे। उक्त स्थान पर पहुंचते ही पीछे से मध्यप्रदेश के बीना से देवरिया जनपद के बैतालपुर गैस पहुंचाने जा रही टैंकर ने वाहन में ठोकर मार दिया। जिससे विपरीत लेन पर ट्रैक्टर-ट्राली पलट गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल को कस्बे के एक निजी चिकित्सक के यहां पहुंचाया, जहां उनका इलाज चल रहा है।
... और पढ़ें

कोराना के चलते टल रहे मांगलिक कार्यक्रम

कोराना के चलते टल रहे मांगलिक कार्यक्रम
बस्ती/गौर। कोरोना वायरस से जहां व्यापार व अन्य कार्य ठहर गए हैं। वहीं लोगों ने वैवाहिक कार्यक्रम भी स्थगित कर दिए हैं। पंचांग के मुताबिक सनातन धर्म में 16 व 17 अप्रैल तथा 25 व 26 को ही वैवाहिक लगन है। जबकि मौलाना अली अहमद ने बताया कि रमजान शुरू होने यानी 24 अप्रैल तक मुस्लिम समुदाय के लोग शादी कर सकते हैं, मगर कोरोना वायरस की बंदी के चलते लोग शादी की तारीखें बदल रहे हैं। अप्रैल माह में बेटे बिटियों के हाथ पीला करने का सपना संजोए परिवार की मुश्किलें बढ़ गई है। शहर के मैरेज हाल के संचालक दीपानंद नवीन ने बताया कि उनका मैरेज हाल पांच अप्रैल को शहर के एक मुस्लिम परिवार की शादी के लिए बुक था, मगर शादी कैंसल करा दिया गया है। कहते हैं कि 25 से 27 अप्रैल तक की बुकिंग को लेकर भी संशय है, हालांकि अभी उन लोगों ने शादी कैंसल नहीं की है, मगर उन लोगों से बातचीत हुई थी वे तिथि आगे बढ़ाने की बात कर रहे हैं। इसी प्रकार शहर निवासी फास्टर ने कहा कि उनके दो भाइयों की शादी तीन व चार अप्रैल को थी, मगर उसे निरस्त कर दिया गया है। पांच अप्रैल को वलीमा था, मगर आपदा के दौर में जब पूरा देश एक साथ है तो मैं भी उसी में शादी व वलीमा निरस्त कर सहयोग कर रहा हूं। क्षेत्र के सरदहा शुक्ल गांव निवासी अब्दुल सत्तार के बेटी की शादी 30 मार्च को थी, मगर उसे स्थगित कर दिया गया। कहा कि हम भी देश के साथ खड़े हैं। आपदा में मेरा छोटा सा सहयोग दिया है। बभनान बाजार के एक मैरज हाल संचालक शंकर महेश्वरी ने बताया कि मार्च और अप्रैल माह मिलाकर लगभग 12 बुकिंग किया गया था, लेकिन कोरोना के चलते शासन-प्रशासन के निर्देश पर सभी बुकिंग स्थगित कर दिया गया है। इसी तरह बभनान बाजार में स्थित मैरिज हाल के संचालक सुनील सिंह ने कहा कि अप्रैल माह में सगाई और शादी के लिए कुल छह बुकिंग था, लेकिन महामारी के चलते बुकिंग कराने वाले खुद ही कार्यक्रम स्थगित कर रहे है। क्षेत्र के माझामानपुर गांव निवासी शिव बिहारी ने बताया कि 19 अप्रैल को लड़की की शादी होना सुनिश्चित था। पांच माह पहले दोनों पक्षों के लोगों ने दिन तय किया। मगर अब महामारी के चलते कुछ भी तैयारियां नहीं हो पाई। जिससे शादी कैंसल करनी पड़ रही है। बैदोलिया गांव के राजन चौधरी ने बताया कि 22 अप्रैल सगाई के लिए मैरेज हाल बुक किया था, लेकिन वायरस के चलते होटल मालिक ने कार्यक्रम स्थगित कर दिया है। बैंड बाजा की बुकिंग करने वाले बभनान बाजार के मस्ताना और गौर के झगरू प्रसाद व ब्यूटी पार्लर संचालक नेहा सिंह ने बताया कि 19, 22, 24 और 29 अप्रैल को शादी-विवाह में बुकिंग मिली थी, लेकिन कोरोना वायरस के चलते सब बुकिंग स्थगित हो गई है। पं. जय प्रकाश द्विवेदी ने बताया कि पंचांग के मुताबिक 16 अप्रैल, गुरु, वैशाख कृष्ण पक्ष. नवमी, धनिष्ठा नक्षत्र 17 अप्रैल, शुक्र, वैशाख कृष्ण पक्ष. दशमी, उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र 25 अप्रैल, शनि, वैशाख शुक्ल पक्ष द्वितीया, रोहिणी नक्षत्र 26 अप्रैल, रवि, वैशाख शुक्ल पक्ष तृतीया, रोहिणी नक्षत्र में सनातन धर्म का वैवाहिक लगन मुहूर्त है।
... और पढ़ें

सीएम योगी से प्रेरित है ये नन्हा बालक, कोरोना की जंग में देश को सौंप दी अपनी खास चीज

कोरोना
कोरोना वायरस की जंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की अपील के बाद देश के कोने-कोने से लोग मदद के लिए हाथ बढ़ा रहे हैं। ऐसे में उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में एक नन्हा बालक जो सीएम योगी से प्रेरित है। उसने अपनी सबसे प्यारी चीज, अपनी गुल्लक जिलाधिकारी को सौंप दी है।

शहर के आवास विकास कालोनी निवासी छह वर्षीय देवेश्वर नाथ ने अपने रोज की जमा गुल्लक डीएम आशुतोष निरंजन को दे दिया। डीएम से उसने इस धन को गरीब व असहायों की सेवा में लगाने की बात कही।

हियुवा के जिला प्रभारी अज्जू हिंदुस्थानी के पुत्र देवेश्वर नाथ योगी आदित्य नाथ से बेहद प्रभावित हैं। शनिवार से ही वे घर में जिद करने लगे कि उन्हें भी दान देना है। घर वालों से समझाया तो उन्होंने अपनी गुल्लक दान करने की बात कह दी।

तमाम प्रयास के बाद जब वे नहीं मानें तो पिता अज्जू हिंदुस्थानी रविवार को डीएम आशुतोष निरंजन के पास बच्चे को लेकर पहुंच गए। योगी आदित्यनाथ से प्रेरित बच्चे ने उन्हीं की वेशभूषा भी धारण कर रखी थी।

उक्त की पुष्टि करते हुए जिला प्रभारी ने कहा कि देवेश्वरनाथ ने आम जन को यह संदेश दिया है कि वे अपनी बचत का कुछ हिस्सा इस आपदा में सरकार को भेंट करें, जिससे लोगों की सेवा हो सके।
... और पढ़ें

क्वारंटीन वार्ड में भर्ती बुजुर्ग की मौत

कोरेंटाइन वार्ड में भर्ती बुजुर्ग की मौत
बस्ती। जिले के छावनी थाना क्षेत्र निवासी 75 वर्षीय शख्स की शुक्रवार की देर रात मौत हो गई। कुछ दिन पहले वे दिल्ली से अपने गांव आए थे। शुक्रवार की देर रात सांस लेने में दिक्कत के चलते परिवार वालों ने उन्हें ओपेक चिकित्सालय के कोरेंटाइन वार्ड में भर्ती कराया था जहां इलाज के दौरान उनकी मौत होने के बाद स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। आननफानन में उनका नमूना लेकर केजीएमयू भेजा गया, जहां रविवार की देर शाम निगेटिव रिपोर्ट आई है। रिपोर्ट आने के बाद सभी ने राहत की सांस ली। डॉ. फख्रेयार हुसैन ने वृद्ध के मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि मृतक के नमूने की रिपोर्ट आ गई है जो निगेटिव है।
... और पढ़ें

LockDown: भूखे प्यासे घर की ओर कदम बढ़ा रहे लोग, जो फंसे हैं वो लगा रहे मदद की गुहार

रोकिए नही अभी पांच सौ किमी और चलाना है

रोकिए नहीं, अभी पांच सौ किमी और चलाना है
बस्ती। कोरोना के कहर से पूरा देश थम सा गया है। बिहार दरभंगा के मनोहर कुमार राय और मुकेश कुमार दिल्ली में ठेला चलाकर जीवन यापन करते थे। 25 मार्च को पूरा देश लॉकडाउन होने के कारण उनका जीवन थम गया। वह रोज कमाते और खाते थे। बंद होने के बाद उनकी जेब में न तो पैसे हैं और न ही खाने के लिए राशन लेकिन अपने अपने जीवन को लेकर वे फिक्रमंद जरूर थे। इसलिए 26 को ठेला लेकर दरभंगा के लिए दोनों निकल पड़े।
रविवार को बस्ती पहुंचने पर मनोहर कुमार ने बताया कि दिल्ली में काम बंद हो जाने के बाद कुछ खाने के लिए बचा था। दिल्ली सरकार की सुविधा लेने के लिए वहां का आधार कार्ड मांगा जा रहा था। दिल्ली के बाहर के लोगों को कोई सुविधा नहीं दी जा रही है। हम लोग 24 घंटे ठेला चलाकर यहां पहुंचे। यूपी में आने के बाद लोगों की ओर से खाने पीने को मिल रहा है। कई हजार लोग यूपी बार्डर पर फंसे हुए हैं। साहब भूखे मरने के बजाय अपने परिवार के बीच मरना अच्छा है। कम से कम हमारी लाश को कंधा देना वाला तो कोई होगा। इन लोगों का कहना है कि जिस तरह की स्थिति है, लगता है कि तीन चार महीने पर कोई काम दिल्ली में मिलेगा। वहां रखकर भूख से मरना नहीं चाहते हैं। रोकिए नहीं अभी पांच सौ किमी और ठेला चलाना है।
... और पढ़ें

सीबीएसई की एक अप्रैल से शुरू होगी आनलाइन पढ़ाई...

सीबीएसई की पहली अप्रैल से शुरू होगी ऑनलाइन पढ़ाई
बस्ती। कोरोना वायरस के कारण पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है। स्कूल बंद होने के कारण बच्चे घरों में बैठकर ऊब गए हैं। इसको लेकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एनसीईआरटी, सीबीएसई और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग के साथ मिलकर योजना बनाई है, जिसमें एक अप्रैल से नए सत्र की कक्षाएं शुरू हो जाएं। शैक्षणिक बोर्ड से भी प्लान को अपने से संबद्ध स्कूलों तक पहुंचाने के लिए कहा गया है।
यह कक्षाएं स्कूल में नहीं, घरों में ही चलेंगी। जिसे वह टीवी, यू-ट्यूब चैनल, व्हाट्सएप और ऑनलाइन माध्यमों से अटेंड कर सकेंगे। स्कूल की ओर से किस विषय की क्लास कब लगेगी और कौन सा चैप्टर पढ़ाया जाएगा, इसकी जानकारी स्कूल अपने छात्रों को मोबाइल पर मैसेज और ई- मेल भेज कर देगा। साथ ही छात्र-छात्राओं को ज्यादा से ज्यादा पाठ्य सामग्री पहुंचाने में जुटा है। साथ ही फोन-इन प्रोग्राम, स्टूडियो क्लास के माध्यम से आयोजित की जाएगी। स्कूलों की ओर से जल्द ही छात्रों और अभिभावकों को मोबाइल या ई-मेल पर सूचना दी जाएगी। यही नहीं इसके लिए टोल फ्री नंबर भी जारी किया जाएगा। अगर कोई छात्र क्लास अटेंड नहीं कर पाया है तो वह उसे यू-ट्यूब पर देख सकेंगे। कोशिश होगी कि प्रत्येक दिन के क्लास के वीडियो अभिभावकों के मोबाइल पर भेज दिए जाएं। ताकि छात्र बाद में किसी तरह की कठिनाई होने पर उसे देखकर समझ सकें। यह सिर्फ छात्रों को स्कूलों के बंद होने और 21 दिनों तक घरों में बंद होने को लेकर किया जा रहा है।
केंद्रीय विद्यालय के प्रधानाचार्य एसएन तरुण ने बताया कि केंद्रीय विद्यालयों के कक्षा एक से आठ तक के विद्यार्थियों के वार्षिक परिणाम ई-मेल और व्हाट्सएप पर अभिभावक के पास भेज दिया जायेगा। 31 मार्च को कक्षा एक से आठ तक का परिणाम घोषित करने के दिए आदेशित किया गया है। अगर मुख्यालय से आदेश आने के बाद ऑनलाइन कक्षा चलाने की व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी जिससे एक अप्रैल से सत्र शुरू हो जाए।
-----
... और पढ़ें

जलपान, भोजन कराकर घर के लिए किया रवाना

जलपान, भोजन कराकर घर के लिए किया रवाना
वाल्टरगंज(बस्ती)। इलाहाबाद से पैदल चलकर शनिवार को एक व्यक्ति वाल्टरगंज के भिरिया चौराहा पहुंचा। जिसे पुलिस ने जलपान और भोजन कराया। पूछताछ में उसने अपना नाम सोहनलाल निवासी सीतापुर बताया।
दिन में करीब 11 बजे भिटिया चौराहे पर ड्यूटी कर रहे कांस्टेबल दिलीप कुमार पांडेय ने एक अनजान व्यक्ति को अपनी ओर आता देखा। व्यक्ति ने कांस्टेबल से बताया कि वह पिछले चार दिनों से भूखा है। जिस पर दिलीप के सहयोग में लगीं कांस्टेबल ज्योति यादव व दीपिका कठेरिया ने अपने खाने के लिए रखे कुछ बिस्कुट और पानी की बोतल उसे दिया। चूंकि वह कई दिनों से भूखा था तो उसने खाना मांगा। पुलिस ने पास के एक दुकानदार के घर उसे खाना खिलाया। उसने बताया कि वह इलाहाबाद में रहकर मजदूरी करता था। लॉकडाउन के कारण वहां कुछ भी खाने को नहीं मिल रहा है। ऐसे में वह पैदल ही घर की ओर निकल पड़ा। पुलिस कर्मियों व पत्रकारों ने उसे कुछ धनराशि देकर विदा किया। दूसरी ओर सैनिक ट्रेडर्स के बगल में बीमार बुजुर्ग को कांस्टेबल कामरान खान ने फलाहार कराया तथा वृद्धाश्रम भिजवाया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Coupan
Coupan
Coupan
Coupon

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us