विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: निजामुद्दीन मरकज में शामिल तीन लोग लखनऊ में मिले, अन्य की हो रही तलाश

देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों से अच्छी और कहीं से बुरी खबरें आ रही हैं। मंगलवार सुबह बरेली में पांच नए मरीज मिले हैं जिनके बाद सूबे में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 102 हो गई है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बदायूं

मंगलवार, 31 मार्च 2020

बदायूं में दोपहर से हुआ सीमाएं सील करने के आदेश का पालन, आवागमन पर लगाई रोक

बदायूं। लॉकडाउन के उल्लंघन व लोगों के पलायन को रोकने के लिए राज्यों व जिलों की सीमाएं प्रभावी रूप से सील करने के निर्देश के बाद भी जिले की अधिकतर सीमा पर सुबह को लोगों की आवाजाही जारी रही, हालांकि दोपहर को सारी सीमाएं सील कर आवागमन रोक दिया गया। बदायूं जिले की सीमा पर शाहजहांपुर, संभल, बरेली आदि जिले आते हैं। अभी तक दिल्ली से बुलंदशहर व संभल होते हुए हजारों लोग बदायूं की तरफ आ रहे थे। शासन प्रशासन की और से ऐसे लोगों को बसों व अन्य वाहनों से उनके घरों को भेजा जा रहा था। अब सरकार ने राज्य और जिले की सीमाएं सील करके किसी को भी आने न देने के निर्देश दिए हैं तथा ऐसा होने पर सीधे डीएम व एसएसपी की जिम्मेदारी तय की है, लेकिन सोमवार को भी जिले की सीमाओं पर सुबह इसका पालन होता दिखाई नहीं दिया। दोपहर में सख्ती शुरू हुई तो सीमाओं को सील कर आवाजाही रोक दी गई। इसके बाद किसी को प्रवेश नहीं करने दिया गया। सारी सीमाओं पर बैरियर लगा दिए गए। ... और पढ़ें

बदायूं में दोपहर से हुआ सीमाएं सील करने के आदेश का पालन, आवागमन पर लगाई रोक

बदायूं। लॉकडाउन के उल्लंघन व लोगों के पलायन को रोकने के लिए राज्यों व जिलों की सीमाएं प्रभावी रूप से सील करने के निर्देश के बाद भी जिले की अधिकतर सीमा पर सुबह को लोगों की आवाजाही जारी रही, हालांकि दोपहर को सारी सीमाएं सील कर आवागमन रोक दिया गया। बदायूं जिले की सीमा पर शाहजहांपुर, संभल, बरेली आदि जिले आते हैं। अभी तक दिल्ली से बुलंदशहर व संभल होते हुए हजारों लोग बदायूं की तरफ आ रहे थे। शासन प्रशासन की और से ऐसे लोगों को बसों व अन्य वाहनों से उनके घरों को भेजा जा रहा था। अब सरकार ने राज्य और जिले की सीमाएं सील करके किसी को भी आने न देने के निर्देश दिए हैं तथा ऐसा होने पर सीधे डीएम व एसएसपी की जिम्मेदारी तय की है, लेकिन सोमवार को भी जिले की सीमाओं पर सुबह इसका पालन होता दिखाई नहीं दिया। दोपहर में सख्ती शुरू हुई तो सीमाओं को सील कर आवाजाही रोक दी गई। इसके बाद किसी को प्रवेश नहीं करने दिया गया। सारी सीमाओं पर बैरियर लगा दिए गए। ... और पढ़ें

बदायूं में दोपहर से हुआ सीमाएं सील करने के आदेश का पालन, आवागमन पर लगाई रोक

बदायूं। लॉकडाउन के उल्लंघन व लोगों के पलायन को रोकने के लिए राज्यों व जिलों की सीमाएं प्रभावी रूप से सील करने के निर्देश के बाद भी जिले की अधिकतर सीमा पर सुबह को लोगों की आवाजाही जारी रही, हालांकि दोपहर को सारी सीमाएं सील कर आवागमन रोक दिया गया। बदायूं जिले की सीमा पर शाहजहांपुर, संभल, बरेली आदि जिले आते हैं। अभी तक दिल्ली से बुलंदशहर व संभल होते हुए हजारों लोग बदायूं की तरफ आ रहे थे। शासन प्रशासन की और से ऐसे लोगों को बसों व अन्य वाहनों से उनके घरों को भेजा जा रहा था। अब सरकार ने राज्य और जिले की सीमाएं सील करके किसी को भी आने न देने के निर्देश दिए हैं तथा ऐसा होने पर सीधे डीएम व एसएसपी की जिम्मेदारी तय की है, लेकिन सोमवार को भी जिले की सीमाओं पर सुबह इसका पालन होता दिखाई नहीं दिया। दोपहर में सख्ती शुरू हुई तो सीमाओं को सील कर आवाजाही रोक दी गई। इसके बाद किसी को प्रवेश नहीं करने दिया गया। सारी सीमाओं पर बैरियर लगा दिए गए। ... और पढ़ें

बदायूं में फिर वही नजर आई सीमाओं की स्थिति, कहीं-कहीं रोका गया

बदायूं। सोमवार को दोपहर सील हुई जिले की सीमाओं की स्थिति मंगलवार को फिर वैसी ही नज़र आई। हालांकि कुछ जगह सख्ती भी रही। दिल्ली मार्ग पर स्थित जरीफनगर के बार्डर से आवागमन दिखाई दिया, जहां दिल्ली से लोग पैदल व बाइकों से आ रहे थे। सीमायें सील होने के बावजूद भी यहाँ किसी डाक्टर की टीम मौजूद न होने के कारण बिना जांच किये ही ये लोग सीमा सीमा पार करते रहे। इधर बिसौली क्षेत्र का दबतोरी - सिरौली रोड बरेली , रामपुर और मुरादाबाद जिले की सीमा से सटा हुआ है और यह ही मुख्य रास्ता है । बरेली सीमा में सिरौली पुलिस तैनात है लेकिन बदायूं की सीमा में पुलिस दिन में तैनात नहीं की गई है। यहां पुलिस रात्रि के समय से गश्त करती है, जबकि बदायूं सीमा क्षेत्र में पुलिस के रुकने के लिए पूर्व में पुलिस ने चैक पोस्ट बनाया है। यहां बाइकों और कारों को रोका जाता है लेकिन दवा या अन्य कोई बात कहकर लोग निकल कर आ रहे हैं। कुछ को वपस लौटा दिया जा रहा है। ... और पढ़ें
जरीफनगर बॉर्डर से निकलते लोग जरीफनगर बॉर्डर से निकलते लोग

सुबह सात से 11 और शाम को चार से सात बजे तक कर सकेंगे खरीदारी, जिला प्रशासन से जारी किए निर्देश

बदायूं। लॉकडाउन के दौरान लोगों लोगों को रोजमर्रा की चीजों के लिए दिक्कत न हो इसके लिए डीएम कुमार प्रशांत ने कुछ दुकानों को खोलने की अनुमति दी है। इन दुकानों को खोलने का समय सुबह सात बजे से पूर्वाह्न 11 बजे तक और शाम चार बजे से सात बजे तक निर्धारित किया है। इसके बाद में केवल चुनिंदा मेडिकल स्टोर ही खुलेंगे। सामान खरीदने के दौरान लोगों को आपस में दूरी बनाकर रखना होगा। डीएम का आदेश जारी होने के बाद सोमवार को पूर्वाह्न 11 बजे के बाद इक्का- दुक्का ठेले वाले सड़कों पर नजर आए, जिन्हें पुलिस वापस भेज दिया।
कोरोना वायरस के चलते समूचे देश में लॉकडाउन है। लोगों घरों में रहने को कहा जा रहा है। लॉकडाउन के बावजूद लोग सड़कों पर निकलने से बाज नहीं आ रहे थे। मौका मिलते ही जरूरी सामान खरीदाने के नाम पर लोग भीड़ जमा करने लगते थे। लॉकडाउन का पूरा पालन कराने के लिए डीएम प्रशांत कुमार ने शहर के हर मोहल्ले में किराने की एक दुकान खोलने की अनुमति दी है। इसके अलावा कुछ सब्जियां और फल बेचने वालों को मोहल्लों में घूमने की अनुमति दी है। डीएम कुमार प्रशांत ने सोमवार से निर्धारित दुकानों से सभी जरूरी चीजों की बिक्री के लिए सुबह सात से सुबह पूर्वाह्न 11 बजे तक फल, सब्जी, पेट्रोल, किराना आदि की दुकानें खोलने के निर्देश दिए हैं। यही दुकानें शाम चार से सात बजे तक खुलेंगी। निर्धारित समय से पहले या बाद में कोई भी व्यक्ति सड़क पर दिखाई दिया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। डीएम के आदेश का असर सोमवार को शहर की सड़कों पर देखने को मिला। पूर्वाह्न11 बजे के बाद बहुत कम लोग ही सड़क पर दिखाई दिए, जिन्हें पुलिस ने वापस घरों को भेज दिया।
मेडिकल स्टोर दिनभर खुलने की छूट
लॉकडाउन के चलते सभी दुकानों के खुलने और बंद होने का समय निर्धारित कर दिया है। हालांकि मेडिकल स्टोरों को दिन में खुलने की छूट दी गई है। जहां पर लोग दवाएं खरीद सकते हैं।
... और पढ़ें

लॉकडाउनः प्राइवेट बस स्टैंड के पीछे बना सेल्टर होम, 98 रोके गए

बदायूं। सोमवार को मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिले के बॉर्डर सील कर दिए गए। गैर प्रांतों से आने वाले जो लोग सड़क पर घूमते दिखाई दिए, उन्हें प्राइवेट बस स्टैंड के पीछे सेल्टर होम भेजा गया। अब तक 98 लोग सेल्टर होम भेजे जा चुके हैं।
डीएम कुमार प्रशांत और एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी के निर्देशन में सेल्टर होम की व्यवस्था की गई है। अब तक बरेली, हरदोई, लखनऊ और अन्य जिलों के करीब 98 लोग ठहराए गए हैं। यहां सुबह 11 बजे सभी को भोजन कराया गया। सभी को एक-एक बेड दिया गया है। सेल्टर होम में महिलाओं के ठहरने की अलग व्यवस्था की गई है। यहां व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी लेखपालों और पुलिस को दी गई है। दोपहर के समय स्वास्थ्य विभाग की टीम सेल्टर होम पहुंचकर लोगों को स्वास्थ्य परीक्षण किया।
बरात घर को बनाया सेल्टर होम
इस्लामनगर। एसडीएम बिल्सी संजय कुमार सिंह और सीओ संजय कुमार रेड्डी ने बिल्सी रोड पर स्थित एक बरात घर में सेल्टर होम बनाया है। सीओ ने बरात घर के मालिक से लोगों के ठहरने की उचित व्यवस्था करने को कहा है। वहीं, बरात घर में ही आइसोलेशन वार्ड तैयार किया जाएगा।
... और पढ़ें

कोरोना के कारण जिला कारागार से छोड़े गए 42 विचाराधीन बंदी

बदायूं। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार के निर्देश पर जिला कारागार से 42 विचाराधीन बंदियों को छोड़ा गया है। देर शाम सभी कैदियों को घर तक पहुंचाने की भी व्यवस्था की गई। इनमें अधिकतर बंदी बदायूं जिले के रहने वाले हैं।
सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकारों को निर्देश दिए थे कि सात साल से कम अपराध वाले बंदियों को आठ सप्ताह के लिए निजी मुचलके पर रिहा किया जाए। इस पर प्रदेश सरकार ने प्रत्येक जेल अधिकारियों से ऐसे बंदियों का विवरण मांगा था। जिस पर जिला कारागार में 42 कैदियों की सूची तैयार की गई थी। इनमें अधिकतर बंदी बदायूं जिले के हैं। बाकी कासगंज, संभल और आसपास जिले के बताए जा रहे हैं। सोमवार शाम करीब चार बजे से इन बंदियों को छोड़ने की कार्रवाई शुरू कर दी गई। बताते हैं कि रात आठ बजे तक सभी बंदियों को पैरोल पर छोड़ दिया गया।
सरकार के निर्देश पर 42 बंदियों को छोड़ा गया है। उन्हें घर तक पहुंचाने की भी व्यवस्था की गई है। जिससे बंदी आराम से अपने घर पहुंच सकें और उन्हें रास्ते में लॉकडाउन के कारण कोई परेशानी न हो। - आदित्य कुमार, जेलर
... और पढ़ें

उझानी में डॉक्टर ने होमगार्ड के बीमार बेटे का इलाज करने से किया इंकार, बुलानी पड़ी पुलिस

उझानी। कोरोना की दहशत के बीच देशभर में डॉक्टर, नर्स और चिकित्सकीय स्टाफ दिन रात मरीजों की सेवा में लगे हैं। ऐसे में एक नर्सिंग होम के डॉक्टर ने अपने फर्ज से ही मुंह फेर लिया। कोतवाली में तैनात होमगार्ड सोमवार को अपने बीमार बेटे के इलाज के लिए एक नर्सिंग होम में पहुंचे तो घर में मौजूद डॉक्टर ने उसे देखने से इंकार कर दिया। होमगार्ड ने फोन कर पुलिस को भी बुला लिया, लेकिन डॉक्टर तब भी नर्सिंग होम से बाहर नहीं निकले। परेेशान पिता अपने बीमार बेटे को दूसरे क्लीनिक में ले जाने को मजबूर हो गए।
मामला सुबह में करीब नौ बजे का है। कादरचौक क्षेत्र के गांव बमनौसी निवासी यशपाल का सात वर्षीय बेटे को एक दिन पहले बुखार आ गया। उस समय यशपाल कोतवाली में ड्यूटी पर थे। सुबह में वह बेटे को लेकर बदायूं रोड मार्केट स्थित एक नर्सिंग होम पहुंचे। नर्सिंग होम में मौजूद कंपाउंडर से होमगार्ड ने डॉक्टर को बुलाने की गुहार लगाई लेकिन डॉक्टर बाहर निकलकर नहीं आए। सूचना पर दारोगा शिवेंद्र भदौरिया भी नर्सिंग होम पहुंच गए। डॉक्टर ने इस पर भी गौर नहीं किया। नर्सिंग होम पर इलाज नहीं मिलने के बाद होमगार्ड बीमार बेटे को दूसरे क्लीनिक पर ले गए। तब कहीं जाकर बच्चे का इलाज शुरू हो पाया।
... और पढ़ें

दिल्ली से उझानी लौटे दंपती को बच्चों के साथ किया क्वारंटीन

उझानी (बदायूं)। दिल्ली से उझानी के एक पूरे परिवार को क्वारटीन किया गया है। इसकी वजह यह है परिवार दिल्ली में जिस मकान में किराए पर रह रहा था उसका मालिक कोरोना संक्रमित निकला है।
उझानी के मोहल्ला पठानटोला का एक परिवार दिल्ली में किराए पर रहता है। यह परिवार दिल्ली में जिस मकान में रहता है उसका मालिक कोरोना संक्रमित है। रविवार को इस परिवार की महिला और उसके दो बच्चे उझानी लौटे थे। इसका पता लगने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने क्वारंटीन कर दिया था। सोमवार को महिला का पति उझानी लौटा। यहां लौटते ही उसे भी क्वारंटीन कर दिया गया। उझानी सीएचसी के चिकित्साधीक्षक डॉ. सुयश दीक्षित क्वारंटीन किए गए परिवार के लोगों में अभी कोई कोरोना के लक्षण नहीं मिले हैं।
उझानी इलाके में 225 लोग किए गए क्वारंटीन
उझानी। एनसीआर के अलावा पंजाब और हरियाणा से लोगों के लौटने का सिलसिला सोमवार को भी जारी रहा। रविवार शाम से सोमवार शाम तक उझानी सीएचसी क्षेत्र में 225 लोग बाहर से लौटे हैं। इन सभी को क्वारंटीन कर दिया गया है।
दिल्ली, पंजाब और हरियाणा से घर लौटे वालों में सर्वाधिक संख्या दहेमू के लोगों की रही। वहां 112 लोग लौटे हैं। बसंतनगर में 30, फुलासी में 60, रौली में 12, शेखूपुर में चार, अन्नी में दो और अब्दुल्लागंज में पांच लोगों को क्वारंटीन किया गया है। ग्राम प्रधानों से कहा गया है कि बाहर से कोई भी व्यक्ति लौटे तो उसकी सूचना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर दी जाए। हालांकि अभी तक बाहर से लौटे लोगों में से किसी में कोरोना के लक्षण नहीं मिले हैं।
... और पढ़ें

सड़क पर दौड़ रहे दो युवकों को कार ने कुचला, एक की मौत

बदायूं/बिसौली। बिसौली कोतवाली क्षेत्र के ग्राम कमालपुर और बसेई के बीच एक इंडिका कार ने सड़क पर दौड़ रहे दो युवकों को कुचल दिया। इसके बाद कार खाई में पलट गई। हादसे में एक युवक की मौत हो गई। जबकि दूसरे को बरेली रेफर कर दिया गया है।
ग्राम कमालपुर निवासी गोविंद (19) पुत्र लटूरी और मनोज (18) पुत्र दीपक रोज की तरह सोमवार शाम सड़क पर दौड़ने निकले थे। दोनों दौड़ते हुए बसेई गांव के नजदीक पहुंचे थे कि तभी पीछे से आई एक इंडिका कार ने दोनों लोगों को कुचल दिया। राहगीरों की सूचना पर पुलिस और परिवार वाले मौके पर पहुंचे। परिवार वाले दोनों घायलों को बरेली ले जा रहे थे। जहां रास्ते में गोविंद ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने गोविंद के शव को जिला अस्पताल की मोर्चरी भेज दिया है। हादसे वाली कार स्वास्थ्य विभाग के किसी अधिकारी की बताई जा रही है। संवाद
... और पढ़ें

व्हाट्सएप पर कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने का फर्जी मैसेज किया वायरल, मचा हड़कंप

बदायूं। जिले में अब तक कोराना पॉजिटिव कोई मामला सामने नहीं आया है, लेकिन रविवार रात शिवपुरम के प्रमोद कुमार नाम के युवक ने शहर में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने संबंधी फर्जी मैसेज व्हाट्सएप ग्रुप में चलाकर लोगों की धड़कनों को बढ़ा दिया। देखते ही देखते यह मैसेज कई ग्रुप में वायरल हो गया।
रविवार को बरेली में कोरोना पॉजिटिव का मामला सामने आया था। बदायूं में स्थिति अब भी सामान्य है। इस बीच कई व्हाट्सएप ग्रुप में एक फर्जी मैसेज ने स्वास्थ्य विभाग के साथ प्रशासन और स्थानीय लोगों की धड़कनों को बढ़ा दिया। इस मैसेज में दावा किया गया था कि शहर में एक कोरोना पॉजीटिव मामला सामने आया है। बाद में पता लगा कि यह मैसेज फर्जी है। पुलिस-प्रशासन ने मैसेज करने वाले की तलाश शुरू कर दी। पता लगा कि शिवपुरम के प्रमोद कुमार नाम के युवक ने फर्जी मैसेज किया है। बाद में प्रमोद कुमार ने मैसेज के लिए माफी मांग ली। उसे चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है। कोई कार्रवाई नहीं की गई है। डीआईओ बाबूराम ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव केस मिलने संबंधी मैसेज फर्जी था। मैसेज करने वाले को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है।
... और पढ़ें

लॉकडाउनः जिले के बॉर्डर सील, घर से निकले तो होगी जेल

बदायूं। लॉकडाउन का पूरा पालन कराने के लिए जिला प्रशासन से सख्ती और बढ़ा दी है। दूसरे राज्यों से पलायन करके घर लौट रहे लोगों को रोकने जिले की सीमाएं सील कर दी गई हैं। सुबह को सीमा पर लोगों की आवाजाही देखी गई, लेकिन दोपहर को आवागमन पूरी तरह रोक दिया गया। बदायूं सीमा पर शाहजहांपुर, संभल, बरेली, कासगंज, रामपुर, फर्रुखाबाद से जुड़ी हैं। अभी तक दिल्ली से बुलंदशहर व संभल होते हुए हजारों लोग बदायूं की तरफ आ रहे थे। भीड़ को देखते हुए मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी जिलों की सीमाएं सील करने के निर्देश दिए थे। इसके लिए डीएम और एसएसपी की जिम्मेदारी तय की गई है। इसके बाद प्रशासन ने लोगों को प्रवेश करने से रोकने के लिए सीमा पर जगह-जगह बैरियर लगा दिए गए।
सीन-1 आंवला-बदायूं सीमा
कुंवरगांव। कुंवरगांव थाना क्षेत्र में सिगोई गांव के पास पुलिस ने बैरियर लगा दिया है। यहां सोमवार सुबह से इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार और एसआई शिशुपाल सिंह पुलिस बल के साथ तैनात रहे। इधर से लोगों के आने- जाने पर पूरी तरह प्रतिबंध रहा। आंवला की ओर से जो भी वाहन आए उन्हें वापस लौटा दिया जाता है। जबकि इधर से किसी वाहन को आंवला की और नहीं जाने दिया जा रहा है। इस दौरान पुलिस ने दो वाहनों के चालान भी किए हैं। संवाद
सीन-2 कासगंज-बदायूं सीमा
कादरचौक। थाना क्षेत्र में गंगापुर के पास कासगंज की सीमा लगती है। यहां सुबह से एसआई हरपाल सिंह तैनात हैं। लॉकडाउन के दौरान वैसे भी इधर से वाहनों की आवाजाही नहीं हो रही है। इसके बावजूद पुलिस बल तैनात किया गया है। स्थानीय लोगों को भी इधर से गुजरने की अनुमति नहीं दी जा रही है। सुबह स्थानीय लोग गुजरते दिखाई दिए थे, लेकिन दोपहर बाद उन्हें भी चेतावनी दी गई है। इधर से आना जाना पूरी तरह बंद कर दिया गया है। संवाद
सीन-3 संभल-बदायूं सीमा
जरीफनगर। इलाके में जरीफनगर और कादराबाद के बीच पुलिस ने बैरियर लगाया गया है। यह सबसे व्यस्तम मार्ग भी है। सुबह से एसपी देहात डॉ. सुरेंद्र प्रताप सिंह और एडीएम प्रशासन ऋतु पूनिया सीाम पर मौजूद रहे। उनके अलावा पुलिस बल मौजूद है। सोमवार को इधर से किसी भी वाहन को आने-जाने की अनुमति नहीं दी गई। पैदल यात्रियों के इधर- उधर जाने पर भी रोक लगा दी गई है। बाहर से आने वाले लोगों के लिए सेल्टर होम में रोकने की व्यवस्था की जा रही है। संवाद
सीन-4 बहजोई-बदायूं सीमा
इस्लामनगर। इस्लामनगर इलाके में बहजोई सीमा पर एसडीएम बिल्सी संजय कुमार और सीओ संजय रेड्डी ने सोमवार सुबह 10 बजे से डेरा जमा लिया। इधर से निकलने वाले सभी वाहनों को चेक किया गया। पास ना होने पर एक टाटा मैजिक और दो बाइक सीज कर दी गईं। सीओ संजय कुमार ने कहा कि किसी भी हालत में लॉकडाउन का पालन किया जाएगा। इसलिए लोग अपने घर से बाहर न निकलें। बॉर्डर पर इंस्पेक्टर जसवीर सिंह भी मौजूद हैं। संवाद
... और पढ़ें

आवारा सांड़ ने हमला कर बुजुर्ग को मार डाला

बदायूं। वजीरगंज क्षेत्र के गांव नदवारी में आवारा सांड़ ने खेत में काम कर रहे बुजुर्ग को हमला कर मार डाला। सांड़ के हमले का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी आवारा सांड़ कई ग्रामीणों को हमला कर घायल कर चुका है। नदवारी समेत आस-पास के गांवों में सांड़ के आतंक से खौफ है। वजीरगंज क्षेत्र के गांव नदवारी निवासी 65 वर्षीय नन्नू राम रविवार को गांव के पास ही अपने खेत पर काम निपटाने गए थे। खेत में काम करते वक्त उनके पास आवारा सांड़ आ गया। नन्नू राम सांड़ से बचने के लिए वहां से भागे। सांड़ ने पीछा कर उनको हमला कर गिरा लिया। इसके बाद सींगों से कई बार हमला किया। नन्नू राम इसमें गंभीर घायल हो गए। खेतों में काम कर रहे ग्रामीणों ने किसी तरह से सांड़ को भगाया। परिवार वालों ने नन्नू राम को अस्पताल में भर्ती कराया। सोमवार दोपहर उनकी यहां मौत हो गई। परिवार वालों का घटना के बाद रो-रो कर बुरा हाल है। गांव के लोगों का कहना है कि आवारा सांड़ अक्सर हमला कर ग्रामीणों को घायल कर दिया करता है। पहले भी कई लोगों को बुरी तरह से घायल कर चुका है। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us