विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

नागरिकता कानून को लेकर यूपी में भी तनाव, अलीगढ़ में जिला प्रशासन ने प्रदर्शन पर लगाई रोक

अलीगढ़ में नागरिकता संशोधन बिल के विरोध और जुमे को लेकर पुलिस-प्रशासनिक स्तर से खासी सतर्कता बरती जा रही है। इसी कड़ी में जिला प्रशासन के स्तर से जिले में देर रात तत्काल प्रभाव से शुक्रवार शाम 5 बजे तक के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। 

13 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

चंदौली

शुक्रवार, 13 दिसंबर 2019

फायर ब्रिगेड के पहुंचने से पहले आग पर काबू पाने के तरीके बताए

पीडीडीयू नगर। दिल्ली स्थित फैक्टरी में आगलगी की घटना में 43 लोगों की मौत के बाद जागे फायर ब्रिगेड की नींद टूटी है। फायर ब्रिगेड ने आग लगने पर अग्निशमन टीम के पहुंचने से पहले कैसे काबू में करें, इसकी ट्रेनिंग देने की शुरूआत की। इसी कड़ी में मंगलवार को अग्निशमन कार्यालय परिसर में भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन और पुलिस महिला प्रशिक्षु कांस्टेबलों को प्रशिक्षित किया गया। मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुभाष सिंह की देख रेख में परीक्षक नरेन्द्र सिंह ने टीम के साथ आग से बचाव के बारे में बताया।
अग्निशमन विभाग ने दमकल पहुंचने से पहले किए जाने वाले उपाय के बारे में प्रशिक्षण देने की शुरूआत की है। मंगलवार को भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड अलीनगर डिपो के कर्मचारी और मुगलसराय कोतवाली में प्रशिक्षु महिला कांस्टेबलों को प्रशिक्षक नरेन्द्र कुमार ने घरों और संस्थानों में लगे अग्नि शमन यंत्रों की पहचान करने, उसका उपयोग करने के तरीके बताए। प्रशिक्षुओं से आग बुझाने का प्रयोग कर भी करवाया। इसके पूर्व सोमवार को भी बीपीसीएल के बीच कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया। प्रशिक्षण टीम में चालक अनिल कुमार प्रसाद, रामजीत सिंह, रजनीश राय, मनोज सिंह, वीरेन्द्र कुमार रहे।
सुभाष सिंह ने बताया कि आग लगने पर दमकल आने के पहले लोग सुझ बूझ से आग को नियंत्रित करें तो धन जन की हानि बहुत हद तक रोकी जा सकती है। कहा कि कोई भी आग शुरूआती दौड़ में बहुत मामूली होती है लेकिन लोगों को तकनीकी जानकारी न होने से आग विकराल हो जाती है। अधिकतर घरों और संस्थानों में आग बुझाने के पर्याप्त साधन होते हैं लेकिन लोग फायरकर्मियों का इंतजार करते हैं।
... और पढ़ें

एसडीएम ने रविवार तक मिट्टी गिराने पर लगाई रोक

पीडीडीयू नगर। क्षेत्र के महमूदपुर वार्ड में तालाबनुमा भू-भाग को मिट्टी डालकर पाटे जाने के मामले में मंगलवार की सुबह दो पक्षों में मुगलसराय कोतवाली में बहस हो गई। बाद में पुलिस ने दोनों पक्षों को निर्णय के लिए पीडीडीयू नगर तहसील भेज दिया। मामले को समझने के बाद एसडीएम, नगर पालिका ईओ, जेई समेत लेखपाल मौके पर पहुंचे। निरीक्षण के बाद एसडीएम ने रविवार तक मिट्टी गिराये जाने पर रोक लगा दी और एक पक्ष को तालाब से जुड़े दस्तावेज देने के लिए निर्देशित किया।
मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत महमूदपुर स्थित बस्ती में एक बहुत बड़ा भू-भाग तालाब है। जिसमें क्षेत्रीय लोगों के घरों का पानी वर्षों से गिरता आया है। तालाबनुमा भू-भाग को एक व्यक्ति की ओर उसे निजी भूमि बताकर मिट्टी डालकर पाटा जा रहा था। मंगलवार की सुबह ट्रैक्टर ट्राली से मिट्टी लेकर ठेकेदार वहां पहुंचा तो क्षेत्रीय लोगों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। सूचना के बाद मौके पहुंची पुलिस सभी को कोतवाली ले आई। जहां दोनों पक्षों के बीच बहस हो गई। पुलिस ने दोनों पक्षों को पीडीडीयू नगर तहसील भेज दिया। एसडीएम कुमार हर्ष, ईओ नगर पालिका कृष्णचंद्र, जेई निर्माण विभाग मुरलीधर मौके पर पहुंचे। स्थानीय लोग और वहां मिट्टी डाल रहे लोगों ने अपने कागजात एसडीएम को दिखाया। एसडीएम कुमार हर्ष ने बताया कि दोनों पक्षों की सहमति पर रविवार तक मिट्टी गिराए जाने पर रोक लगा दी गई है। क्षेत्रीय लोगों को तालाब से जुड़े दस्तावेजों को देने के लिए निर्देशित किया गया है।
... और पढ़ें

नाले का पानी खेतों में घुसने पर किसानों ने जताया विरोध

सकलडीहा। विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के चलते नालेे और बाहा की साफ-सफाई नहीं होने से खेतों में घुस रहे गंदे पानी के चलते किसान मंगलवार को भोजापुर स्टेशन मार्ग पर उतर आए। सड़क पर किसानों की भीड़ की सूचना पर भाजपा नेता सूर्यमुनि तिवारी भी मौके पर पहुंच गई। बाद में एसडीएम सकलडीहा भी मौके पर आए और एक सप्ताह में समस्या का हल निकाले जाने का आश्वासन दिया, तब जाकर किसान शांत हुए।
क्षेत्र में नाले व बाहा की साफ-सफाई नहीं होने से उसमें पानी निकासी नहीं हो पा रही है। सिल्ट जमा होने के चलते नाले का पानी खेतों में घुस रहा है। इससे क्षेत्र के पदुमनाथपुर, ओड़वली, चतुर्भुजपुर, बढ़वलडीह, टिकरवा, भोजापुर, तेनुवट दर्जनों गांव की सैकड़ों एकड़ खेत जलमग्न हो गए हैं। शिकायत के बाद भी सफाई नहीं होने पर मंगलवार को किसानों का गुस्सा फूट पड़ा। इसके बाद काफी संख्या में किसान भोजापुर स्टेशन मार्ग पर उतर आए। इस दौरान भाजपा नेता सूर्यमुनि तिवारी भी मौके पर पहुंच गए। इसके बाद उन्होंने एसडीएम विजय नारायण सिंह सिंह को मौके पर बुलाया। मौके पर पहुंचे एसडीएम ने सफाई के बाबत सिंचाई व पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों से वार्ता की। इस दौरान उन्होंने एक सप्ताह के भीतर नाले व बाहा की सफाई के बाबत निर्देशित किया। इस मौके पर कानूनगो योगेश लाल, कोतवाल रहमतुल्ला खां, किसान देवेन्द्र दत्त पांडेय, मृत्युंजय उपाध्याय, राजीव दीक्षित, मोनू पांडेय, जशवतं सिंह, पप्पू सिंह, भानू सिंह, रामजी तिवारी, राणा सिंह, पशराम सिंह मौजूद रहे।
... और पढ़ें

योजनाओं की जानकारी नहीं देने पर डीएम नाराज

शिकारगंज। क्षेत्र की कुशही ग्राम पंचायत स्थित मुसहर बस्ती के रैन बसेरे में बृहस्पतिवार को जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने जनचैपाल लगाई। इस दौरान उन्होंने लोगों को सरकारी योजनाओं की जानकारी नहीं देने पर अधिकारियों पर नाराजगी जताई। वहीं आयुष्मान योजना का गोल्डेन कार्ड होने के बाद भी क्षेत्र के एक अस्पताल में लाभार्थी से रुपये लेने की शिकायत पर आशा एवं एएनएम को कड़ी फटकार लगाई । मनरेगा में मजदूरों को काम न देने की शिकायत पर डीएम ने रोजगार सेवक को भी फटकार लगाई।
मुसहर बस्ती में जनचैपाल के दौरान मजदूरों ने मनरेगा के तहत काम न मिलने तथा भुगतान न होने की शिकायत की। जिस पर जिलाधिकारी ने भुगतान प्रक्रिया की जाँच करने तथा मनरेगा के रोजगार सेवक बाबू नंदन को कड़ी फटकार लगाई। मुसहर बस्ती में पशुओं को होने वाले गलाघोटू रोग का अग्रिम टीका न लगाने पर डीएम नाराज हो गये तथा उन्होंने पशु चिकित्साधिकारी आरपी भारती पर भी नाराज हुए। सिल्ट सफाई न होने से पिपरखड़िया माइनर का पानी बाधित होने की जानकारी पर जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को माइनर की सफाई तीन दिन में कराकर पानी पहुंचाने को कहा। तीन साल से खाता बंद होने से विकास कार्यों के ठप होने की सूचना ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को दी। जिसपर डीएम ने कहा कि खाता खुलने पर हैंडपंप मरम्मत का पैसा प्रधानों के खाते में दे दिया जायेगा।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डा. अभय कुमार श्रीवास्तव, पीडी सतीश मिश्रा, डीपीआरओ ब्रम्हचारी दूबे, खंड विकास अधिकारी सरिता सिंह, बीईओ चन्द्रशेखर आजाद, सीडीपीओ राकेश बहादुर, जिला समाज कल्याण अधिकारी आरके सिंह, ग्राम प्रधान रणजीत यादव, रेंजर बृजेश पाण्डेय, चिकित्साधिकारी डा. सुजीत कुमार, एडीओ पंचायत अशोक कुमार, ग्राम पंचायत अधिकारी सत्येन्द्र श्रीवास्तव मौजूद रहे।
... और पढ़ें

सड़क पर फैला बॉयो मेडिकल वेस्ट बांट रहा है संक्रामक रोग


पीडीडीयू नगर। जिले में हर वर्ष निजी चिकित्सालय व जांच केंद्रों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है, इसके चलते यहां से निकलने वाला बॉयो मेडिकल वेस्ट भी काफी बढ़ गया है। वेस्ट के निस्तारण के सही इंतजाम नहीं होने से शहर में इस तरह के कूड़े के भरमार हो गई है। वहीं स्वास्थ्य विभाग भी ओर से आंखे मूंदे हुए है। बॉयो मेडिकल वेस्ट का निस्तारण अस्पतालों ओर से नहीं किए जाने के चलते इससे होने वाले संक्रामक रोगों के फैलने की आशंका बढ़ गई है। स्वास्थ्य विभाग भी बेपरवाहों पर कार्रवाई नहीं कर रही है।
जिले में 645 सरकारी, निजी अस्पताल, जांच घर संचालित हैं। यहां से हर रोजाना तकरीबन पांच टन बॉयो मेडिकल वेस्ट निकलता है। जिसमें इस्तेमाल हुई सुई, खून व मवाज से भरी रूई, पट्टी, इस्तेमाल हो चुकी दवाईयों के पैकेट आदि शामिल है। सरकारी अस्पतालों से निकलने वाले बॉयो मेेडिकल वेस्ट के निस्तारण के लिए ठेके पर व्यवस्था की गई है लेकिन प्राईवेट अस्पताल कुछ नहीं कर रहे हैं। निजी अस्पतालों और जांच केंद्रों से निकलने वाले बॉयो मेडिकल वेस्ट को सड़क किनारे फेंक दिया जाता है। हालांकि कुछ अस्पतालों में बॉयो मेडिकल वेस्ट डालने के लिए अलग- अलग कूड़ेदान रखे हुए हैं लेकिन लापरवाह अस्पताल प्रबंधन इसके निवारण की उचित व्यवस्था करने के बजाय सड़क पर ही फेंक दे रहे हैं।
इनसेट
जिले में संचालित हैं सरकारी-निजी अस्पपता एवं जांच घर
जिलेभर में दो जिला चिकित्सालय हैं। जिसमें एक चंदौली में व दूसरा चकिया में स्थित है। वहीं चार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पांच प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 23 नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 30 आयुर्वेदिक अस्पताल, 20 होमियोपैथिक अस्पताल, 248 उप स्वास्थ्य केंद्र दो अर्बन हेल्थ सेंटर समेत 275 प्राइवेट अस्पताल व 88 जांच केंद्र मौजूद है।
फैलती है संक्रामक बीमारी
बायो मेडिकल वेस्ट से कई तरह की संक्रामक बीमारियां फैलती है। इसमें एचआईवी पीड़ित मरीज की सुई या अन्य बीमारी में इस्तेमाल हुई सुई किसी व्यक्ति को चुभ गई तो वह गंभीर बीमारी से पीड़ित हो सकता है। इसके अलावा टीबी, श्वांस, दमा, पेट, फेफड़ा से संबंधित बीमारी फैल सकती है।
कोट..
सरकारी अस्पतालों से निकलने वाले कचरे के निस्तारण की व्यवस्था की गई है, वहीं गैर सरकारी अस्पतालों में भी इसकी व्यवस्था करने के लिए निर्देश दिया गया। जहां यह व्यवस्था नहीं होगी वैसे अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। डॉ. आरके मिश्र, सीएमओ
... और पढ़ें

नीली क्रांति की दिशा में चकिया के किसान ने बढ़ाया कदम

चकिया। मत्स्य पालन की नई इण्डोनेशियन तकनीक मछली पालन और उसके व्यापार की दिशा में क्रांतिकारी कदम हो सकती है। विकास खंड के इसहुल गांव के निवासी किसान अश्वनी नारायण सिंह ने इस तकनीक का प्रयोग गांव में करके मत्स्य उत्पादन की दिशा में क्रांतिकारी कदम बढ़ाया है। जो देश में नीली क्रांति की दिशा में बड़ा कदम है।
बायो फ्लोक सिस्टम पानी के तापक्रम एवं आक्सीजन के संयोजन के जरिये तैयार की गई नई मत्स्य पालन तकनीक है। इस तकनीक के माध्यम से किसान छह महीने में लाखों रुपये कमा सकता है।
इस सिस्टम को क्षेत्र में लाने का श्रेय किसान अश्वनी नारायण सिंह को है। उनके अनुसार उन्होंने टंकी में ‘पियासी’ प्रजाति की मछली की अंगुलिकायें (बीज) डाली गई है। इन अंगुलिकाओं को जीवित रखने तथा उन्हें छह माह में एक किलोग्राम तक की मछली बनाने के लिए पानी में गुड़, कैल्सियम कार्बोनेट तथा प्रोवाईटिक मेडिसीन चारे के रूप में दी जाती है। इस तकनीक से मत्स्य पालन के लिए पानी का तापक्रम न्यूनतम 24 डिग्री सेंटीग्रेट से लेकर 26 डिग्री सेंटीग्रेट तथा अधिकतम तापक्रम 34 डिग्री से 40 डिग्री के बीच रखना होता है। जाड़े के दिनों में तापक्रम नियंत्रित करने के लिए पानी में ब्लोअर से गर्म हवा तथा आक्सीजन जेनरेटिंग मशीन से आक्सीजन की सप्लाई पतली पाईप द्वारा की जाती है। तापक्रम नियंत्रित रखने के लिए चमकीली पन्नी का उपयोग टंकी को ढकने वाले करकट के निचली सतह पर किया जाता है।
इनसेट
ऐसे कर सकते हैं इस तकनीक से मछली पालन
इस तकनीक के तहत 10 हजार घन फीट के पानी टंकी का निर्माण किया जाता है। टंकी में 4 फीट की ऊंचाई तक पानी रखा जाता है। पानी भरने के बाद पानी को गर्म करने के लिए तथा आक्सीजन सप्लाई हेतु सिस्टम लगाया जाता है। टंकी को करकट से ढककर रखा जाता है तथा करकट के निचले सतह पर टेम्परेचर मेंटेन के लिए चमकीली पन्नी लगाई जाती है।
इनसेट
छह महीने में कमा सकते हैं पांच लाख
अश्वनी नारायण के अनुसार इस मत्स्य पालन तकनीक में 55 प्रतिशत धन लागत के रूप में प्रयुक्त होता है तथा 45 प्रतिशत का शुद्ध लाभ किसान को छह महीने में मिल जाता है। उन्होंने कहा कि दस हजार घन फीट पानी की दस टंकियां बनाकर मत्स्य पालन करने पर किसान को पांच लाख रुपये तक लाभ छह महीने में मिल सकता है।
कोट..
बायो फ्लोक सिस्टम से मत्स्य पालन किसानों की आमदनी बढ़ाने में सहायक सिद्ध होगा। केंद्रीय मात्सिकी अनुसंधान संस्थान नैनी प्रयागराज में इस तकनीक का प्रशिक्षण किसानों को मिल सकता है। डॉ. एनएस रहमानी, मत्स्य उपनिदेशक, वाराणसी।
... और पढ़ें

आवास योजना में ढिलाई पर सचिवों को लगाई फटकार

नौगढ़। पीएम और सीएम आवास योजना के तहत आवासों का निर्माण कराने में रुचि नहीं लेना ग्राम पंचायत सचिवों को महंगा पड़ सकता है। खंड विकास अधिकारी सुदामा प्रसाद यादव ने बृहस्पतिवार को सचिवों को 25 दिनों में निर्माण कार्य पूरा नहीं करा लिए जाने पर वेतन रोकने की कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। उन्होंने पंचायत सचिवों को गांवों में घूमकर मजदूरों को मनरेगा योजना से जोड़ने का भी निर्देश दिया है। बीडीओ के सख्त तेवर से सचिवों में हड़कंप मचा हुआ है।
बीडीओ ने कहा कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री आवास योजना सरकार की प्राथमिकता में है। इसके बाद भी विकास खंड के लौवारी, चमेलबांध, धनकुवारी, केसार, विशेषरपुर, हरियाबाध, अमृतपुर, मलेवर, जरहर, बिशेषरपुर, देवरा आदि गांवों में तैनात पंचायत सचिव इस योजना में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। नतीजतन कई गांवों में आवासों का निर्माण प्रारंभ नहीं हो पाया है। रिमाइंडर भेजने के बाद भी पंचायत सचिव निर्माण कार्य पूरा कराने में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। सचिवों को हिदायत देते हुए कहा कि किसी भी कीमत पर 25 दिसंबर तक आवासों का निर्माण कार्य पूरा हो जाना चाहिए अन्यथा उनका दिसंबर माह का वेतन रोककर मुख्य विकास अधिकारी को कार्रवाई के लिए रिपोर्ट भेज दी जाएगी।
... और पढ़ें

पार्किंग और पार्सल घर में मिले लावारिस वाहन और पार्सल

पीडीडीयू नगर। स्थानीय रेलवे जंक्शन के पार्किंग और पार्सल घर में लावारिस वाहन और पार्सल मिलने पर रेल अधिकारियों के कान खड़े हो गए। इसका खुलासा तब हुआ जब स्टेशन डायरेक्टर हिमांशु शुक्ला मातहतों संग निरीक्षण पर निकले थे। लावारिस वाहन और पार्सल मिलने से जहां सुरक्षा पर सवाल पर खड़े हो गए वहीं डायरेक्टर ने इसका रेलवे मजिस्ट्रेट के पास विवरण भेजकर इसे नीलाम कराने को कहा है।
स्टेशन डायरेक्टर हिमांशु शुक्ला ने बताया कि बुधवार को वह निरीक्षण कर रहे थे। इस दौरान पार्किंग में 12 मोटरसाइकिल और एक कार ऐसी पाई गई जिसका कोई दावेदार नहीं मिला है। वहीं चेकिंग के दौरान पार्सल कार्यालय में 33 नगर पार्सल पाए गए हैं को काफी दिनों से पड़े थे और जांच पड़ताल में अब तक इसे कोई लेने नहीं आया है। सभी सामानों को कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। साथ ही इसे रेलवे मजिस्ट्रेट से नीलाम करने को कहा गया है।
... और पढ़ें

रोजगार की संभावनाओं को बढ़ाने पर हुआ मंथन

पड़ाव। कौशल विकास कार्यक्रम को प्रभावी बनाने के उद्देश्य से बुधवार क्षेत्र स्थित एक होटल में चंदौली, वाराणसी और सोनभ्रद जिले के अधिकारियों के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस दौरान भारत सकार के कौशल विकास उद्यमिता के सचिव डा. केपी कृष्णन ने जिले में कौशल विकास कार्यक्रम को प्रभावी बनाने के लिए आवश्यकता अनुुसार क्षमताओं का विकास कर रोजगार के अवसर बढ़ाने पर तीनों जिलों के जिलाधिकारियों के साथ मंथन किया।
कार्यशाला में डा. केपी कृष्णन ने कहा कि जिलों में आर्थिक स्थितियों को अध्ययन करने की आवश्यकता है। इसके लिए डिस्ट्रिक्ट एक्शन प्लान बनाएं और इसी के अनुरूप प्रत्येक जनपद कौशल प्रशिक्षण कराएं । कहा कि ऐसा करने से इससे स्थानीय स्तर पर लोग रोजगार परक होंगे व उनकी आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी। उन्होंने जिलाधिकारियों को सलाह दी कि इसमें विभिन्न ट्रेडों को शामिल किया जाए। कार्यशाला में जनपदों में स्थानीय स्तर पर कौशल विकास के प्रशिक्षण के लिए आवश्यक ट्रेड का चुनाव कर प्रशिक्षण कराए जाने, युवाओं एवं महिलाओं को स्थानीय स्तर पर नियोजित कराने व अवसर प्रदान करने में आ रही समस्याएं व उसके समाधान पर चर्चा की गई। इस दौरान रिटेल सेक्टर, मंदिरों के माला, फूल, वेस्ट मैनेजमेंट, प्रसाद , पर्यटन क्षेत्र समेत कृषि की नई तकनीकों को कौशल विकास से प्रशिक्षित किए जाने पर भी जोर दिया गया। इस दौरान अपर सचिव, कौशल विकास भारत सरकार जूथिका पाटेणकर, मिशन निदेशक कौशल विकास, सेवायोजन कुणाल सिल्कू, जिलाधिकारी चंदौली नवनीत सिंह चहल, जिलाधिकारी वाराणसी कौशल राज शर्मा, जिलाधिकारी सोनभद्र, मुख्य विकास अधकिारी चंदौली डा. एके श्रीवास्तव समेत कई अधिकारी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

ट्रेन की चपेट में आकर छात्र की मौत

सैयदराजा। थाना क्षेत्र के लोकमनपुर रेलवे फाटक के समीप बुधवार की सुबह रेलवे ट्रैक पार करने के दौरान ट्रेन की चपेट में आकर रवि कुमार यादव (19) की मौत हो गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस शव को कब्जे में लेकर थाने ले आई और आवश्यक कार्रवाई के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेज दिया।
नगर पंचायत सैयदराजा वार्ड संख्या चार दीनदयाल नगर निवासी सदानंद यादव का पुत्र रवि कुमार यादव वाराणसी में इंटर की पढ़ाई कर रहा था। मंगलवार को वह अपने मित्रों के साथ शादी समारोह में शामिल होने के लिए डिघवट गांव गया था। बुधवार की सुबह समारोह से लौटने के दौरान लोकमनपुर फाटक बंद होने के चलते वह बाइक सेे उतर गया और पैदल ही रेलवे ट्रैक पार करने लगा। इस दौरान पीडीडीयू जंक्शन की ओर आ रही सुपरफास्ट ट्रेन की चपेट में आ गया और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। इस दौरान आसपास लोगों की काफी भीड़ लग गई। बाद में रवि के दोस्त ने घटना के बाबत उसके परिवार वालों को सूचना दी। इस दौरान सैयदराजा थाने की पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और शव को कब्जे में लेकर थाने ले आई। जहां आवश्यक कार्रवाई के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेज दिया। परिवार वालों ने बताया कि रवि बनारस में रहकर पढ़ाई करता था।
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री का फरमान बेअसर, समय से कार्यालय नहीं पहुंच रहे अधिकारी

पीडीडीयू नगर। जनता की समस्याओं का त्वरित निस्तारण करने के लिए सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जनपदों के अधिकारियों व कर्मचारियों को सुबह साढ़े नौ बजे अपने-अपने कार्यालयों में उपस्थित हो जाने का फरमान जारी किया था। फरमान जारी होने के बाद कुछ दिनों तक तो जिले में अधिकारियों व कर्मचारियों ने इस पर अमल किया लेकिन फिर स्थिति जस की तस हो गई है। हालांकि अभी भी कुछ विभागों के अधिकारी व कर्मचारी इस पर अमल कर रहे हैं लेकिन अधिकांश में इसका ध्यान नहीं रखा जा रहा है। अमर उजाला की टीम ने बुधवार को नगर स्थित जलनिगम व बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता कार्यालय का जायजा लिया। इस दौरान जलनिगम कार्यालय में जहां एक्सईएन व अन्य कर्मचारी 10 बजे तक उपस्थित हो गए थे वहीं बिजली विभाग के दफ्तर मेें एक्सईएन सहित सभी कर्मचारी साढ़े 10 बजे तक नहीं आए थे।
बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता प्रवीन कुमार सिंह के चैंबर बंद था। वहीं अन्य अभियंताओं व कर्मियों के कमरों के बाहर ताला लटक रहा था। बिजली बिल सहित अन्य समस्याओं का समाधान कराने के लिए कार्यालय पहुंचे फरियादी साहब के आने का इंतजार कर रहे थे। केवल बिजली का बिल जमा करने का काउंटर खुला था जहां लोग बिल जमा कर रहे थे। फरियादियों का कहना था कि दफ्तर में अक्सर अधिकारी व कर्मचारी देर से आते हैं। इससे उन्हें उनका देर तक इंतजार करना पड़ता है। इस संबंध में अधिशासी अभियंता ने बताया कि वे सुबह साढ़े नौ बजे विभाग के मुख्य अभियंता एनके अग्रवाल के साथ पड़ाव स्थित विद्युत वितरण उपखंड का निरीक्षण करने गए थे। कार्यालय में अनुपस्थित अन्य इंजीनियरों व कर्मचारियों की जांच की जाएगी।
जलनिगम कार्यालय में सभी रहे मौजूद
जलनिगम कार्यालय में सुबह साढ़े नौ बजे तक सभी कर्मचारी उपस्थित हो गए थे। हालांकि अधिशासी अभियंता एसके सिंह 10 बजे पहुंचे। उन्होंने बताया कि रास्ते में लगे जाम के कारण उन्हें पहुंचने में कुछ देर हो गई है। कार्यालय में एई बलवंत प्रसाद, मुख्य लिपिक राजेंद्र, संगणक रामनंदन, खंडीय लेखाकार कमल सिंह, स्टेनो लोकनाथ सहित चतुर्थ कर्मचारी जोगेंद्र व राजवीर मौजूद थे। एक्सईएन व एई लोगों की पेयजल संबंधी समस्याओं को दूर करने के प्रयास में जुटे थे।
... और पढ़ें

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में कांग्रेसजनों का धरना

पीडीडीयू नगर। केंद्र में नागरिकता संशोधन बिल पास होने के ख़िलाफ़ शहर कांग्रेस कमेटी के सदस्यों ने बुधवार को ओड़वार स्थित डा. भीमराव आंबेडकर के प्रतिमा के समक्ष धरना दिया। उन्होंने इस बिल को देश के लिए घातक और बांटने वाला क़ानून बताकर नारेबाजी की। साथ ही आरएसएस के विधान की प्रतियां जलाकर नागरिकता संसोधन बिल का विरोध किया।
कार्यकर्ताओं ने कहा कि भाजपा देश में आरएसएस का एजेंडा लागू कर रही है। यह देश के लिए विभाजनकारी साबित होगा। नागरिकता संसोधन बिल संविधान की मूल आत्मा के ख़िलाफ़ है जो बराबरी नहीं बल्कि बंटवारे की बात करता है। कहा कि अंग्रेज, जिन्ना-मुस्लिम लीग और स्वाधीनता संग्राम में भगोड़े रहे आरएसएस- सावरकर चाहते थे कि देश का विभाजन हो। भाजपा भी इसी राह पर चल पड़ी है। उन्होंने केंद्र सरकार से इसे काला बिल बताते हुए तत्काल वापस लेने की मांग की है। धरना देने वालों में रामजी गुप्ता, बृजेश गुप्ता, दयाराम पटेल, विजय गुप्ता, दशरथ चौहान, राकेश सिंह, राकेश चौधरी, संजय जायसवाल, दीपक गुप्ता, दाऊ केशरी, हरिशंकर, गनेशु, संजय, सूरजभान, मुकेश कुमार, सुभाष, चंदन आदि शामिल थे।
... और पढ़ें

लेखपालों का धरना दूसरे दिन भी रहा जारी

सकलडीहा।वेतन विसंगतियों सहित अन्य मांगों को लेकर तीन दिवसीय आंदोलन की घोषणा कर चुके लेखपालों का धरना दूसरे दिन बुधवार को भी जारी रहा। इस दौरान लेखपालों ने के प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध प्रकट किया।
तहसील मुख्यालय पर मांगों को लेकर धरना दे रहे लेखपालों ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार उनसे कई अतिरिक्त दायित्वों की तो अपेक्षा करती है लेकिन उनके हितों के सवाल पर मौन साध लेती है। उन्होंने मांगे पूरी न होने तक आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दी। धरना देने वालों में रामकेश यादव, विरेंद्र यादव, चंदन यादव, केहर सिंह, श्वेतिमा सिंह, रश्मि गुप्ता, पूजा सिंह, सुरेश शर्मा, मानवेंद्र प्रताप, शक्ति कपूर, गुलाबचंद्र भूषण, प्रदीप सिंह, विकास सिंह, अंबरीश सिंह, संजय मौर्या, वंदना, कामायनी श्रीवास्तव, पूजा वर्मा, प्रियंका गुप्ता शामिल थे। संवाद
सकलडीहा। काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट, वाराणसी से संबद्ध चतुर्भुजपुर के बाबा कालेश्वरनाथ मंदिर की जमीन पर अतिक्रमण कर पक्का निर्माण करने वाले मंदिर के पुजारी कमलाकांत पांडेय सहित 15 लोगों को तहसील प्रशासन ने बुधवार को नोटिस जारी की है। नोटिस में कहा गया है कि अतिक्रमणकारी शीघ्र कच्चा व पक्का निर्माण को खुद ध्वस्त कर लें अन्यथा प्रशासन द्वारा ध्वस्तीकरण के बाद आरोपी से सरकारी खर्च जोड़कर जुर्माना वसूल किया जाएगा तहसील प्रशासन ने अवैध कब्जा हटाने की अंतिम तिथि 19 दिसंबर निर्धारित की है। एसडीएम विजय नारायण सिंह ने बताया कि मंदिर के जमीन पर किया गया कब्जा हटाने के लिए नोटिस जारी किया गया है। संवाद
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us