विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

जानें कौन हैं श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास

राम मंदिर आंदोलन के अहम किरदार रहे अयोध्या के श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास को राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया गया है। जानें, उनके बारे में:

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

चित्रकूट

बुधवार, 19 फरवरी 2020

डेढ़ लाख भीड़ जुटाने का दिया लक्ष्य

भरतकूप/चित्रकूट। मुख्यमंत्री ने भाजपा पदाधिकारियों की बैठक में उन्हें 29 को प्रधानमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों के लिए विशेष दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने प्रधानमंत्री की सभा में एक लाख 50 हजार भीड़ जुटाने का लक्ष्य दिया। कहा कि प्रत्येक पदाधिकारी अपनी जिम्मेदारी को निभाने का कार्य करे।
सेक्टर-बूथ से लेकर मंडल तक के कार्यकर्ता अभी से कार्य में जुट जाएं। गांव-गांव जाकर संपर्क किया जाए। उन्होंने कहा कि बडे़ व छोटे वाहनों का इंतजाम कर लिया जाए। सभा के एक दिन पहले निश्चित वाहन से पहुंच जाए। चित्रकूट जिले के साथ साथ, महोबा, हमीरपुर, बांदा से कार्यकर्ता आने चाहिए।
इस मौके पर बुंदेलखंड के क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह, उत्तर प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री लोक निर्माण चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, सांसद आर के सिंह, विधायक मानिकपुर आनंद शुक्ला, बांदा विधायक प्रकाश द्विवेदी, गो सेवा आयोग के अध्यक्ष कृष्ण कुमार सिंह उर्फ भोले, प्रदेश उपाध्यक्ष रंजना उपाध्याय,जिलाध्यक्ष चंद्रप्रकाश खरे, नगर अध्यक्ष नरेंद्र गुप्ता, कोआपरोटिव बैंक के अध्यक्ष बद्री विशाल त्रिपाठी, पूर्व सांसद भैरों प्रसाद मिश्र, क्षेत्रीय मंत्री अशोक जाटव, जिला उपाध्यक्ष,आनंद प्रताप सिंह, विपुल प्रताप सिंह, युद्धिष्ठिर सिंह, डॉ. रणवीर सिंह, पंकज अग्रवाल, हरिओम करवरिया, महेंद्र कोरी, जिला महामंत्री राघवेंद्र सिंह, राजेश जायसवाल, जिला मंत्री रामबाबू गुप्ता, मुन्ना लाल प्रजापति, मीडिया प्रभारी भागवत त्रिपाठी सहित सांसद प्रतिनिधि शक्ति प्रताप सिंह, जगदीश गौतम, अरविंद रलिहा, कैलाश श्रीवास्तव, रघुनाथ जायसवाल, अंजू वर्मा, रिजवाना परवीन, ममता सिंह, अनीता सिंह, सीमा निगम सहित कई पदाधिकारी मौजूद रहे।
चित्रकूट। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि होने वाली सभा में पानी के पाउच नहीं दिखने चाहिए। उसके स्थान पर मिट्टी के बर्तन से पानी पिलाया जाए। मुख्यमंत्री के कहने के बाद भी बैठक व अन्य स्थल पर प्लास्टिक के पानी के पाउचों की भरमार रही। संवाद
चित्रकूट। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि चित्रकूटधाम व झांसी मंडल में 20 फरवरी से 28 फरवरी तक विशेष रूप से स्वच्छता अभियान चलाया जाए। जिसमें सफाई और् स्वच्छता के लिए जागरूक किया जाए। संवाद
चित्रकूट। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बुंदेलखंड क्षेत्र के गो स्थलों की भी विशेष रूप से साफ-सफाई आदि की व्यवस्था की जाए। संवाद
... और पढ़ें

कर्मघाट की कथा को नहीं मिलता कभी विश्राम

चित्रकूट। अयोध्या के महंत नृत्य गोपाल दास महाराज व संत परमानंद की शिष्या साध्वी कात्यायनी गिरि ने पयस्वनी नदी के उद्गम स्थल ब्रह्मकुंड स्थित प्राचीन शनि मंदिर में श्रीराम कथा के दूसरे दिन राम के नाम को कर्तव्य का पूरक बताया। कहा कि गोस्वामी तुलसीदास जी महाराज जी ने कलियुग में भव सागर पार करने का मंत्र राम के रूप में दिया है। वास्तव में इस मंत्र को जपने का आशय यह है कि अपनी बुद्वि को निर्मल रखकर परमात्मा की प्राप्ति करें।
किसी भी ध्येय की प्राप्ति के लिए ज्ञान, भक्ति व कर्म के साथ शरणागति होना होगा। यदि हमें नदी बचानी है। हमें पर्यावरण बचाना है। हमें अपना शहर सुंदर बनाना है तो हमें ज्ञान के साथ कर्म की शरण लेनी पड़ेगी। कर्मघाट में कभी विश्राम नही होता।
उन्होंने कहा कि संशय भरी बुद्वि से विवेक का जन्म नहीं हो सकता। बुद्वि ही मनुष्य को भगवान की पहचान कराने वाली है। बुद्धि श्रद्धा युक्त हो जाए तो वह भगवान को प्राप्त करा देती है। तर्क से भगवान को नहीं पाया जा सकता। केवल कान से कथा नहीं सुन सकते। मन बुद्वि के साथ जब कान एकाकार होते हैं तभी कथा मन के अंदर प्रवेश कर आनंद देती है। जब यह संदेह से युक्त होती हे तो यह परमात्मा से दूर कर देती है। विज्ञान के कारण प्रदूषण बढ़ रहा है। विज्ञान जीवनदायी व विनाशक दोनों है। हमें निर्णय करना होगा कि वास्तव में सही क्या है।
... और पढ़ें

चित्रकूटः आज से बोर्ड की परीक्षाएं होगी शुरू, तैयारियां पूरी

चित्रकूट। उप्र माध्यमिक शिक्षा परिषद हाईस्कूल व इंटरमीडिएट बोर्ड की परीक्षाएं आज से शुरू होगी। परीक्षाओं को नकल विहीन कराने के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई है। जिसके लिए ऑनलाइन निगरानी के लिए प्रत्येक कक्ष में सीसीटीवी कैमरों के साथ वायस रिकार्डिंग सिस्टम का भी इंतजाम किया जाएगा। सचल दल व जोनल सेक्टर व स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की तैनाती की जाएगी। इस बार कुल परीक्षार्थी 24 हजार 135 परीक्षा देंगे।
जिले के 36 केंद्रों में आज से परीक्षा होगी। जिसके लिए जिला विद्यालय निरीक्षक बलीराज राम केंद्रों में जाकर व्यवस्था देखी। सभी परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं। कैमरे अभी से ऑनलाइन कर दिए गए है। तीन सचल दल बनाएं गए है। जोनल, सेक्टर व स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की तैनाती रहेगी। एसडीएम अधिकारी जोनल मजिस्ट्रेट के तौर पर नियुक्ति किए गए। संबंधित प्रधानाचार्य केंद्र व्यवस्थापक के तौर पर कार्य करेंगे। प्रत्येक जगह अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक भी तैनात रहेंगे। इसके लिए राजकीय व सहायता प्राप्त कालेजों के सीनियर शिक्षकों को लगाया जाएगा। नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए संख्त इंतजाम किए गए हैं।
- परीक्षा केंद्र 36
- हाईस्कलू परीक्षार्थी -13642
- इंटरमीडिएट 10493
- कुल परीक्षार्थी 24135
- जोनल मजिस्ट्रेट 14
- सचल दल - 3
चित्रकूट। परीक्षाएं प्रथम पाली में प्रात: 8 बजे से 11 बजकर 45 तक व दूसरी पारी में सायं 2 बजे से 5 बजकर 15 मिनट तक परीक्षा हाेंगी। जिसमें हाईस्कूल की प्रथम पाली में हिंदी प्रारंभिक व इंटर मीडिएट की द्वितीय पाली में सामान्य हिंदी की परीक्षा होगी।
रामप्रकाश बने कंट्रोल रूम प्रभारी
चित्रकूट। डीआईओएस कार्यालय में कंट्रोल रूम खोल दिया गया है। डीएम शेषमणि पांडेय ने डिप्टी कलेक्टर रामप्रकाश को कंट्रोल रूम प्रभारी नियुक्ति किया है। दो स्क्रीन टीवी लगाक र कैमरों को इनसे जोड़ा गया है।
यहां रहेंगे परीक्षा केंद्र
चित्रकूट। कर्वी तहसील में बनाए गए परीक्षा केंद्र चित्रकूट इंटर कालेज, सेठ राधा कृष्ण पोद्दार इंटर कालेज सीतापुर, स्व. लाला भाई पटेल इंका, कपना इटौरा, हनुमत इंका नांदी तौरा, पालेश्वर नाथ पहाड़ी इंका, श्री गंगा प्रसाद जनेसवा इंका, राजकीय बालिका इंका, कर्वी, राजकीय बालिका इंका, राजकीय बालिका इंका, राजकीय इंका, घुरेटनपुर, जेपी इंका, कर्वी रतन नाथ इंका, रसिन बैजनाथ भारद्वाज सरस्वती विद्या मंदिर बेड़ी पुलिया, देश राज कृषक कांडी खेरा, श्री परम विद्या मंदिर इंका, शिवरामपुर, छत्रपति शाहू जी महराज इंक ा, रगौली डा बीआर आंबेडकर इंका बरवारा। राजापुर तहसील में राजकीय बालिका इंका,राजापुर, तुलसी इंका,राजापुर, स्व. नाथू राम चंदेल संकटमोचन इंका, बछरन, धीरेंद्र इंका, राजापुर सरधुवा, स्व. महादेव इंका, नांदिन कुर्मियान, संजय गांधी इंका, हन्ना बिनैका, सिया सिंह इंकॅा खोंपा, भदेदू साहेब, पूरब पताई,हरि मोहन सिंह इंका बछरन। मानिकपुर तहसील मेें त्यागी इंका ऐंचवारा, कृषक इंका भौरी, संत रीता इंका, मानिकपुर। मऊ तहसील में राजकीय इंका बरगढ़, महर्षि वाल्मीकि इंका, खंडेहा, पंडित पुरुषोत्तम द्विवेदी इंका मऊ, बालिका इंका मऊ, पंउित शिव कुमार त्रिपाठी इंका, पूरब पताई चंदेश इंका, बरगढ़ में परीक्षाएं होगी।
... और पढ़ें

चित्रकूट: हाईवे पर वाहन की टक्कर से एक की मौत, एक की हालत गंभीर

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

चित्रकूटः बैंक बना कर दान[ कराएं भूसा, पराली

चित्रकूट। डीएम शेषमणि पांडेय ने अन्ना मवेशी की समस्या का निराकरण कराने के लिए सबका सहयोग मांगा है। किसान दिवस पर उन्होनें किसान नेताओं से कहा कि गांवों में भूसा बैंक बनाए और भूसा दान कराएं। पराली आदि का दान करें।
बुधवार को कलक्ट्रेट सभागार में किसान दिवस का आयोजन हुआ। इसमें डीएम ने किसानों से कहा कि गो संवर्द्धन में दो किसानों को सम्मानित किया गया है। इसी प्रकार से मेगा कैंपो में सम्मानित किया जाता है। उन्होंने आवाहन किया कि कम से कम दो पशु बांधें। अन्ना प्रथा समाप्त करने की योजना बनाई जा रही है। जनपद में 29 हजार 700 गोवंश गोशालाओं में है।
मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि 20 से 28 फ रवरी तक स्वच्छता के साथ गौ संरक्षण, एआई को गांववार अभियान चलाएं। जनपद में 53 चारागाह की जमीन चिन्हित कर ली गई है। इसमें मौसमी हरा चारा उगाने का कार्य ग्राम पंचायतें करेंगी। उप कृषि निदेशक किसानों को गोबर से जैविक खाद बनाने किसानों से संबंधित योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जिले में आने के दौरान कई योजनाओं की सौगात दे सकते हैं। अग्रणी जिला प्रबंधक आरके सोनी ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थी केसीसी का लाभ लें। बताया कि तीन लाख रुपए तक की सीमा का कोई प्रपत्र लागू नहीं है। पशु पालकों, मत्स्य पालकों को दो लाख तक केसीसी बनाया जा रहा है। बैठक में सीडीओ डॉ. महेन्द्र कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. केपी यादव, उद्यान अधिकारी रमेश पाठक, एक्सईएन विद्युत प्रथम हाकिम सिंह के अलावा किसान यूनियन के पदाधिकारी मौजूद रहे।
--------
बुंदेलखंड के कलाकारों को मेला में मिले मौका
चित्रकूट। डीएम के नेतृत्व में कलक्ट्रेट सभागार में 21 से 25 फ रवरी तक होने वाले प्रांतीयकृत रामायण मेला की तैयारियों के संबंध में मेला समिति के सदस्यों सहित संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की गई। डीएम ने कहा कि जिन अधिकारियों को जो जिम्मेदारी दी गई है, वह अविलंब पूरा कर मेला सकुशल संपन्न कराएं। उन्होंने मेला समिति के राजेश कुमार करवरिया व करुणा शंकर द्विवेदी से कार्यक्रम की विधिवत जानकारी की। संवाद
... और पढ़ें

चित्रकूट में वन दरोगा से के काम में बाधा पहुंचाई, रिपोर्ट दर्ज

चित्रकूट। मऊ क्षेत्र के वन क्षेत्र में कार्यरत वन विभाग के वन दरोगा ने तीन के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने व धमकी देने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोपियोें पर अनुसूचित जाति जनजाति अधिनियम के तहत भी रिपार्ट कराई गई।
सदर कोतवाली क्षेत्र के खांच का पुरवा निवासी वन दरोगा रामऔतार पुत्र शिवपाल ने बताया कि जब वह अपने कार्य क्षेत्र से गांव लौट रहे थे। रास्ते में कुछ युवकों ने उन्हें धमकी दी। आरोपी वन क्षेत्र में अवैध लकड़ी व पत्थर तुड़ान कराने का दबाव बना रहे थे। जिसका विरोध करने पर उन्हें लगातार धमकी दी गई। जिससे परेशान होकर सदर कोतवाली में मऊ के नरेंद्र कुमार समेत दो अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। कोतवाल अनिल सिंह ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने व धमकी देने समेत अनुसूचित जाति जनजाति अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। उधर इस मामले में आरोपी ने वन दरोगा के आरोप को पूरी तरह गलत बताया है। यह भी कहा कि भ्रष्टाचार करने वाले वन विभाग के कर्मचारियों के खिलाफ आवाज उठाने के कारण उन्हें फर्जी तरीके से फंसाने की साजिश रची गई है। उच्चाधिकारियों को इसकी जानकारी दी जाएगी।
... और पढ़ें

चित्रकूट में पीले चावल बांटकर प्रधानमंत्री की सभा में जुटाएंगे भीड़

चित्रकूट। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 फरवरी को जिले में आ रहे हैं। जिसकी तैयारी के लिए भारतीय जनता पार्टी की बैठक हुई। जिसमें अधिक से अधिक भीड़ जुटाने के लिए मंडल प्रभारी बनाए गए हैं तय हुआ कि आशा से अधिक भीड़ जुटनी चाहिए। नई जिला कमेटी की पहली बैठक में पहले सभी नवनियुक्त व पुराने पदाधिकारियों का फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया। इसके बाद सभी को जिम्मेदारी बांटी गई है।
बैठक में जिलाध्यक्ष चंद्र प्रकाश खरे ने कहा कि हर बूथ से कार्यकर्ता व ग्रामीणों को सभा स्थल पर लाने के लिए मंडल प्रभारी बनाए गए हैं। हर सेक्टर को एक हजार की संख्या का लक्ष्य दिया गया है। गांव-गांव में जाकर पीले चावल देकर आमंत्रित वहां के निवासियों को आमंत्रित किया जाएगा। बैठक में पूर्व सांसद भैरो प्रसाद मिश्र ने कहा कि प्रधानमंत्री की सभा को लेकर गांवों में खासा उत्साह है। सभी वर्ग के लोग प्रधानमंत्री को सुनने के लिए चलने के लिए तैयार हैं। भीड़ जुटाने के लिए मंडल प्रभारी बनाए गए है। जिसमें श्याम नारायण शुक्ला को मऊ मंडल का प्रभारी, संतोष मिश्र को बरगढ़ का, तीरथ तिवारी को रामनगर, महेंद्र कोटार्य को मानिकपुर, मोहन दास मिश्र को ऐंचवारा, युधिष्ठिर सिंह को सरधुवा, पहाड़ी दिनेश सिंह पटेल, गनीवा रामसागर चतुर्वेदी, कर्वी विपुल प्रताप सिंह, शिवरामपुर राजेश्वरी द्विवेदी, भरतकूप मनोज तिवारी को बनाया गया है। इस मौके पर राजेश जायसवाल, मुन्ना लाल प्रजापति, जय विजय सिंह, पंकज अग्रवाल, आलोक पांडेय, ब्रजेश पांडेय, अंजू वर्मा, राजेश्वरी द्विवेदी, महेंद्र कोटार्य, जगदीश गौतम, जगदीश गुप्ता, दिनेश तिवारी,अश्वनी अवस्थी, अभिषेक मिश्रा, रामबाबू गुप्ता, धीरेंद्र सिंह, रिजवाना परवीन, रामसागर चतुर्वेदी,छोटू पांडेय, नीरज गर्ग, ममता सिंह, दिनेश पटेल, निर्मलेंद्र पांडेय, श्याम नारायण, गणेश सिंह, श्रवण पटेल आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

चित्रकूट में दूसरे दिन भी शांतिपूर्ण माहौल में हुई बोर्ड परीक्षायें

फोटो- 9- प्रधानमंत्री की जनसभा के लिए तैयारी बैठक में पदाधिकारियों को जिम्मेदारी बांटते जिलाध्यक?
चित्रकूट। माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं दूसरे दिन बुधवार को भी शांतिपूर्ण तरीके से हुईं। पहली पाली में इंटर के संगीत विषय की परीक्षा में सभी परीक्षार्थी शामिल हुए। वहीं, दूसरी पाली में व्यावसायिक शिक्षा वर्ग के सामान्य आधारिक विषय की परीक्षा में 455 में से 434 परीक्षार्थी शामिल हुए जबकि 21 परीक्षार्थी गैरहाजिर रहे।
इसी तरह चित्रकूट इंटर कॉलेज कर्वी में जिला विद्यालय निरीक्षक बलिराज राम के नेतृत्व में शिक्षा विभाग के सचल दल ने परीक्षाओं का निरीक्षण किया। जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि दूसरे दिन भी बोर्ड परीक्षायें शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न हुई। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार को प्रथम पाली में हाईस्कूल गृहविज्ञान व इंटर चित्रकला, आलेखन/ प्रावैधिक/रंजनकला की परीक्षा होगी। जबकि दूसरी पाली में इंटर भौतिक विज्ञान, भूगोल व वाणिज्यवर्ग बहीखाता तथा लेखाशास्त्र परीक्षा होगी।
उन्होंने बताया कि नकलविहीन परीक्षा कराने और शांति बनाए रखने के उद्देश्य से पूरे समय सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेट अपने-अपने क्षेत्र का भ्रमण कर परीक्षाओं का जायजा लेते रहे। वहीं, शिक्षा विभाग के सचल दल में बीएसए प्रकाश सिंह, डायट उप प्राचार्य रतन सिंह ने भी कई परीक्षा केन्द्रों में औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण दल ने डायट प्राचार्य के साथ हेमसिंह, विमल भाष्कर, आराधना सिंह, शहनाज बानों व बीएसए के सचल दल में वन्दना सिंह, आशा पांडेय, प्रदीप वाजपेई, सूर्यांश पाण्डेय शामिल रहे।
--------------------
गलत प्रश्नपत्र देने शुरु हुई जांच
चित्रकूट। मानिकपुर क्षेत्र में मंगलवार को चल रही बोर्ड परीक्षा में इंटर के विज्ञान वर्ग के परीक्षार्थियों को हिंदी के पेपर की जगह कला का पेपर दिया था। इस पर परीक्षार्थियों ने आपत्ति जताई। इस मामले में जिलाविद्यालय निरीक्षक बलिराज राम केंद्र में जाकर परीक्षा केंद्र प्रभारी से पूछतांछ कर जांच शुरू कर दिया है।
... और पढ़ें

चित्रकूट में कल से शूरू होगा पांच दिवसीय रामायण मेला

चित्रकूट। भगवान श्रीराम की तपोभूमि चित्रकूट की पहचान बने राष्ट्रीय रामायण मेला में अबकी विभिन्न संस्कृतियों की कलाएं दिखेंगीं। 47 साल से यह मेला लगता आ रहा है। इसकी परिकल्पना 1960 में विख्यात समाज सेवी डा. राम मनोहर लोहिया ने की थी। इनके प्रेरणा से 1973 ई में प्रथम रामायण मेला महोत्सव का शुभारंभ हुआ। जो आज भी निरंतर जारी है।
इस मेले में अब तक पूर्व राष्ट्रपति नीलम संजीव रेड्डी, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई समेत कई राजनैतिक हस्तियां मंचासीन हो चुकी हैं। इस मेले को महत्व को देखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे प्रांतीय रामायण मेले का रूप देकर अलग बजट भी दिया है। डा. राम मनोहर लोहिया जब 1960 में चित्रकूट आए तो यहां के साथ संतों के साथ मिलकर रामायण मेला कराने के लिए विचार किया। इसमें कहा कि श्रीराम रामायण हमारे सांस्कृतिक जीवन के और मानवीय मूल्यों के आधार बिंदू हैं। श्रीराम शील सदाचार, नैतिकता, मर्यादा, व सत्य प्रेम एवं मानव धर्म के साक्षत स्वरूप हैं। श्रीराम उत्तर से दक्षिण तक चलकर पूरे देश को एक समग्र राष्ट्र को एक सूत्र में बांधने का कार्य किया है। इसको लेकर धर्मनगरी में रामायण मेला कराने निश्चय किया गया। जिसकी शुरुआत 1973 में स्व. गोपाल कृष्ण करवरिया व स्व. डा बाबूलाल गर्ग के सहयोग शुरू हुई।
रामकथा के साथ होते सांस्कृतिक कार्यक्रम
रामायण मेला में हर साल रामकथा, रामलीला, लोक नृत्य, नारत नाट्यम, कुचिपुड़ी, मणिपुर, आडिसी, जैसे शास्त्रीय नृत्य और श्रीराम कला प्रदर्शनी, किसान मेला का आयोजन किया जाता है।
रामायण मेला नामक स्थल पर ही कार्यक्रम
रामायण मेला जिस स्थान पर होता है, उसका नाम भी रामायण मेला भवन है, जिसमें डा. राममनोहर लोहिया प्रेक्षागृह हैं। इसके अलावा तीन हाल, पंद्रह अतिथि गृह कक्ष है जो आधुनिक सुविधाएं हैं।
राजनैतिक नेताओं का रहा जमघट
इस रामायण मेला में पूर्व प्रधानमंत्री स्व. मोरारजी देसाई, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी समेत कई केंद्रीय मंत्री व उत्त्तर प्रदेश के कई मुख्यमंत्री, मंत्री सहित विख्यात संत आ चुके हैं।
21 से 25 फरवरी तक होगा रामायण मेला
रामायण मेला आयोजन समिति के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश करवरिया ने बताया कि इस बार 21 से 25 फरवरी तक रामायण मेला होगा। इस बार और अधिक भव्य रामायण मेला होगा। जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय व एडीएम जीपी सिंह ने मेले को अधिक आकर्षण बनाने के लिए सभी विभागों से सरकार के जनकल्याण से जुड़ी योजनाओं की प्रदर्शनी लगाने को कहा है।
... और पढ़ें

गुंता बांध जमीन मामलाः किसानों ने प्रदर्शन कर मांगा मुआवजा

चित्रकूट। गुंता बांध निर्माण के दौरान किसानों की भूमि को अधिग्रहीत करने के बाद पूर्ण रूप से उचित मुआवजा न मिलने पर पीड़ित किसानों ने प्रभास महासंघ के लवलेश विराग की अगुवाई में मुख्यमंत्री संबोधित ज्ञापन संपूर्ण समाधान दिवस पर एसडीएम को सौंप कर फ रियाद लगाई है।
मंगलवार को तहसील कर्वी परिसर में संपूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री संबोधित सदर एसडीएम को सौंपे गए ज्ञापन में रैपुरा गांव के ग्रामीण भोल्ली, राजकरन, सुरिजभान, रामशेखन, धर्मेंद्र सिंह, रामचंद्र भारती, रामस्वरूप, राजा, साधना, आनंद, ओमप्रकाश, भोली, रामकेश यादव आदि ने बताया कि गुंता बांध के निर्माण के दौरान जिला प्रशासन ने भूमि अधिग्रहीत किया है। जिसका आज तक मुआवजा नहीं मिला। ऐसे में उनके साथ नाइंसाफ ी हुई है। किसानों की हालत दयनीय बनी है। अधिकांश लोग पलायन कर चुके हैं।
प्रदर्शनकारियों ने बताया कि गुंता बांध में उनकी जमीनें डूब गई। साथ ही अधिक जल स्तर बढ़ने के भय से किसानों ने जमीनें परती छोड़ दिया है। कहा कि महज घर बनाने को दूसरी जगह भूमि मुहैया कराने के अलावा कोई लाभ नहीं दिया गया है। अभी तक पूर्ण रूप से मुआवजा नहीं मिल सका। गुंता बांध से जुड़े किसान भुखमरी की कगार पर है। मांग किया कि डूब क्षेत्र में अधिग्रहीत की गई भूमि का सही मुआवजा दिलाया जाए।
... और पढ़ें

बदला मौसम: चिकित्सकों ने सावधानी बरतने की दी सलाह

चित्रकूट। बदलते मौसम में लापरवाही लोगों के लिए परेशानी का सबब बन रही है। दिन में तेज धूप, सुबह-शाम ठंड पड़ने से सर्दी, जुकाम और खांसी की समस्या बढ़ जाती है। चिकित्सक सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं।
जिला अस्पताल के फि जिशियन डा. बीएस द्विवेदी ने बताया कि सर्दी समाप्त और गर्मी की शुरुआत हो रही है। ऐसे मौसम में सावधानी बरतना बहुत जरूरी है। दिन में तेज धूप के कारण लोग गर्म कपड़े नही पहन रहे है वही शाम को ठंड बढ़ने पर उसी हालत में बने रहते हैं। जिससे लोग अनायास ही सर्दी का शिकार हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस समय बुखार, खांसी और जुकाम के ज्यादा मरीज आ रहे हैं। रोजाना 80 से 150 तक मरीज इसी से संबंधित आते हैं। बाल रोग विशेषज्ञ डा. एचसी अग्रवाल ने बताया कि ठंड से बचने के लिए सुबह शाम जरूर गर्म कपड़े पहने, अत्यधिक ठंडे पानी से न नहाए। भीड़भाड़ वाले स्थानों और धूल से बचें। उन्होंने बताया कि बुखार आने पर तुरंत विशेषज्ञ चिकित्सक से इलाज कराएं। झोलाछाप के चक्कर में कतई न पड़े, क्योंकि सही इलाज न मिलने से परेशानी और बढ़ सकती है। बाल रोग विशेषज्ञ डा. शिव सिंह ने बताया कि रोजाना 40 से 50 बच्चे इलाज के लिए अस्पताल आ रहे हैं। उन्होंने सलाह दिया कि मौसम अनुसार माताएं अपने बच्चों को कपड़े पहनाए। अत्यधिक तेल मसाले वाले खाद्य पदार्थ के सेवन से परहेज करें। सबसे बड़ी बात इस मौसम में आइसक्त्रस्ीम कतई ना खाएं। यह सीधे गले पर असर डालती है , पहले गले में खराश और फि र खांसी शुरू हो जाती है। एक बार खांसी होने पर उसके सही होने में कम से कम एक हफ्ते का समय लगता है। महिलाएं इस मौसम में विशेष ख्याल रखें। क्योंकि यदि मां को सर्दी लगती है तो उससे निश्चित तौर पर उनका बच्चा भी प्रभावित होता है।
... और पढ़ें

चित्रकूट में कैमरे की नजर में शांतिपूर्ण हुई पहले दिन की परीक्षा

चित्रकूट। माध्यमिक शिक्षा परिषद यूपी बोर्ड हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा कड़ी निगरानी के बीच शुरु हुई। हिन्दी प्रश्नपत्र में हाईस्कूल के 798 छात्र परीक्षा से गैरहाजिर रहे। दोनों पालियों में परीक्षा केन्द्रों में कड़ी सतर्कता और निगरानी में परीक्षा हुईं। डीएम ने मऊ के एक परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया। डीआईओएस की टीम ने आठ व बीएसए की टीम ने छह केंद्रों का निरीक्षण किया। डीआईओएस कार्यालय कंट्रोल रूम से सभी केंद्रों की जानकारी सीसीटीवी कैमरे से ली गई।
मंगलवार को सवेरे आठ से हाईस्कूल के हिन्दी विषय की परीक्षा कडी चौकसी के साथ शुरू हुई। 36 परीक्षा केन्द्रों में 13 हजार 618 में 12 हजार 820 परीक्षार्थी बैठे। 798 ने परीक्षा छोड़ी है। जिनमें 524 छात्र व 274 छात्राएं हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक बलिराज राम ने बताया कि डीएम शेषमणि पाण्डेय के निर्देशानुसार नकल रोकने के व्यापक इंतजाम किए गए थे। स्टैटिक मजिस्ट्रेट की निगरानी व कैमरे की नजर में परीक्षाएं हुई। सचल दल दोनो पालियों में लगातार भ्रमणशील रहे। अवांछनीय ततें से निपटने को केन्द्रों में पुलिस बल तैनात थे। सेक्टर व जोनल मजिस्ट्रेट परीक्षा केन्द्रों का जायजा लेते रहे। इसी प्रकार दूसरी पाली में इंटरमीडिएट की परीक्षा सकुशल हुई।
डीएम और बीएसए ने केन्द्र का किया निरिक्षण
मऊ/मानिकपुर। डीएम शेषमणि पांडेय ने मऊ के परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया। उन्होंने केंद्र व्यवस्थापक को निर्देश दिए कि छात्रों को किसी तरह की परेशानी न हो और नकल भी नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा डीआईओएस बलिराज राम ने सीआईसी, पोददार कॉलेज, बेडीपुलिया, कांडीखेरा, भौंरी व मानिकपुर के केंद्र का निरीक्षण किया। बीएसए प्रकाश सिंह ने छह केंद्रों का निरीक्षण किया।
-----------
परेशान हुए छात्र-छात्राएं
चित्रकूट। कई परीक्षा केंद्रों में रोल नंबर के हिसाब से कमरा नंबर ढूंढने में छात्र-छात्राओं को इधर-उधर भटकते देखा गया। कुछ केंद्रों में पहली पाली में रोशनी कम होने की शिकायत रही। इसके बाद में उन कक्षों में लाइट का इंतजाम किया गया।
सामान्य रहा प्रश्नपत्र
चित्रकूट। पहले दिन हाईस्कूल व इंटर के छात्र जब परीक्षा देकर बाहर निकले तो उनके चेहरे में खुशी दिखी। ज्यादातर परीक्षार्थियों ने कहा कि प्रश्नपत्र सामान्य आया था, जिससे खास परेशानी नहीं हुई।
... और पढ़ें

चित्रकूट में ग्रामीणों को लेकर जा रहा टेपों पलटा महिला की मौत, तीन घायल

पहाड़ी(चित्रकूट)। मेला घूमकर लौट रहे ग्रामीणों को लेकर जा रही तेज रफ्तार टेंपो पलटने से महिला की मौत हो गई। वहीं, तीन लोग घायल हो गए।
पहाड़ी कस्बे में चल रहे मेले में खरीददारी कर मंगलवार की शाम को ग्रामीण एक टेपों से गांव लौट रहे थे। देर शाम को कहेटा गांव से पहले अचानक कुत्ते के आने से तेज रफ्तार टेपों का संतुलन नहीं बन पाया और टेंपो पलट गई। हादसे में कहेटा गांव निवासी महिला रनुवा (55) पत्नी गजराज यादव की मौत हो गई। वहीं, घटना होने के बाद चालक टेपों छोड़कर भाग निकला।
मेले से की गई लोहे व पत्थर की सामग्री भी गिरे यात्रियों के शरीर पर लगी। इससे सभी लहुलुहान हो गए। थाना प्रभारी सुशील कुमार ने आस-पास के लोगों के साथ मिलकर घायलों को अस्पताल पहुंचाया। इसमें कहेटा गांव निवासी की मौत हो गई। कहेटा निवासी बुद्दी, सुनीता व देवल गांव का भैरों का अस्पताल में इलाज जारी है। मृतका रनुवा के दो पुत्र व दो पुत्रियां है। दोनों पुत्र दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करते हैं। पति किसान हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Banda + Chitrakoot Ad
Banda + Chitrakoot Ad
Banda + Chitrakoot Ad

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us