विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

IPS बनी गोरखपुर की बेटी एमन, सीएम योगी ने मुस्लिम लड़कियों के लिए बताया रोल मॉडल

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहर की ऐमन जमाल का भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) में चयन होने पर शुभकामनाएं दीं।

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

एटा

मंगलवार, 10 दिसंबर 2019

लोक अदालत के लिए न्यायिक अफसरों ने झोंकी ताकत

एटा। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में 14 दिसंबर को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए जन जागरूकता रैली निकाली गई। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव साधना कुमारी गुप्ता ने जिला न्यायालय परिसर स्थित मीडिएशन सेंटर पर हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया।
जिला न्यायाधीश व प्राधिकरण अध्यक्ष रेणु अग्रवाल ने वादकारियों से आह्वान किया कि वह अपने वादों को राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से निस्तारित कराएं। नोडल आफीसर मनीष कुमार व सचिव साधना कुमारी गुप्ता ने कहा कि अपने-अपने मामलों को सुलह-समझौते के आधार पर निपटवाएं। रैली जनपद न्यायालय से शुरू हुई और गांधी मार्केट, जीटी रोड, जिला चिकित्सालय, मुख्य डाकघर होते हुए जिला न्यायालय स्थित जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में संपन्न हुई। नीलिमा चौहान, रामकुमार, अवधेश कुमार गुप्ता, कन्हीलाल शर्मा, योगेश कुमार सक्सेना, डौली राघव, महेंद्र वर्मन, पूर्णिमा सिंह आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

सर्दी के सितम से गरीबों को बचाने के इंतजाम नाकाफी

एटा। सर्दी का सितम बढ़ता जा रहा है, साधन संपन्न लोग भले ही रजाइयों में चाय की चुस्कियों के साथ मौसम का आनंद लें, पर बेसहारा गरीबों पर यह ठंड सितम ढाने लगी है। दिन-ब- दिन पारा गिरता जा रहा है। ऐसे में नगर पालिका की ओर से गरीबों को सर्दी से बचाव के इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे हैं। रैन बसेरा, कंबल वितरण आदि व्यवस्थाएं भी कागजी दिख रही हैं।
नगर पालिका द्वारा बस स्टैंड पर बनाए गए अस्थाई रैन बसेरा को दो दिन हो गए हैं। अमर उजाला टीम ने इसकी हकीकत परखी तो यहां टैंट-तंबू तो दिखावे के लिए तान दिए हैं, पर हालात ऐसे हैं कि कोई भी यहां रात बिताने से परहेज करेगा। पालिका की ओर से यहां गद्दे, रजाई व कंबल की व्यवस्था नहीं है।
वहीं डूडा के स्थाई बसेरा में भी कोई इंतजाम नहीं किए हैं। रैन बसेर में सिर्फ बेड और गद्दे डाल रखे हैं, इसके अलावा यहां रजाई या कंबल के कोई इंतजाम नहीं हैं। डूडा का दावा है कि इसमें निराश्रित लोगों के लिए खाने की भी व्यवस्था की जाएगी। ऐसे में जब रजाई या कंबल की व्यवस्था नहीं तो खाने की क्या बेमानी है।
रैन बसेरा में ये होनी चाहिए व्यवस्था
- रैन बसेरा स्थाई या फिर चारों ओर से कवर्ड होना चाहिए।
- छत वॉटर प्रूफ होनी चाहिए।
- सोने के लिए पलंग, गद्दा और कंबल या रजाई होनी चाहिए।
- रात में रुकने वालों के लिए हीटर, गर्म पानी, शौचालय का प्रबंध हो।
- आवश्यकता पढ़ने पर लोगों को भोजन का इंतजाम किया जाए।
महिलाओं के लिए नहीं रैन बसेरा
शासन का नियम है कि महिला और पुरुषों के लिए अलग-अलग रैन बसेरा बनाए जाएं, नगर पालिका ने एक ही टैंट तंबू तान दिया है। ऐसे में यहां रात को रुकने वाली महिलाओं के साथ कभी कोई अनहोनी घटित हो सकती है।
अलाव के चार प्वाइंट हो चुके शुरू
शहर में बढ़ती ठंड को देखते हुए नगर पालिका परिषद की तरफ से अलाव जलाने के 4 प्वाइंट शुरू कर दिए हैं। यह चार प्वाइंट महिला थाना, जिला अस्पताल, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन हैं।
20 प्वाइंट हैं अलाव जलाने के
वार्ष्णेय इंटर कॉलेज, अलीगंज चौराहा, नगर पालिका परिषद, हाथी गेट, प्रेम नगर चौराहा, पुलिस चौकी गोदाम, ठंडी सड़क तिराहा, नन्नूमल चौराहा, मेहता पार्क गेट, घंटाघर, वली मोहम्मद चौराहा, पटियाली गेट चौराहा, रैन बसेरा बस स्टैंड, जनता दुर्गा मंदिर, रश्मी लोक तिराहा, सेवा निकेतन मोड़ आगरा रोड, आगरा रोड चुंगी, सेवा निकेतन आगरा रोड, कचहरी चौराहा, कमला नगर डाकखाना, वर्कशॉप पुलिया।
अलाव की है व्यवस्था
नगर पालिका परिषद के ईओ डॉ. दीप वार्ष्णेय ने बताया कि शहर में रैन बसेरा के साथ ही अलाव जलाने की व्यवस्था की गई है। शहर में अलाव जलाने के लिए 20 प्वाइंट बनाए गए हैं। जहां पर लोग अलाव के सहारे सर्दी से बचाव कर सकते हैं। अलाव के लिए लगभग 70 से 80 हजार रुपये का बजट अभी तैयार किया है।
-नगर पालिका द्वारा बस स्टैंड पर बनाए गए रैन बसेरा के केयर टेकर के पास रजाई, गद्दे मौजूद हैं। कोई भी व्यक्ति रात में यहां रुकना चाहता है तो उसे सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी
-डॉ. दीप वार्ष्णेय, अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका।
... और पढ़ें

वरमाला के दौरान दूल्हे के हावभाव देखकर भड़की दुल्हन, शादी से किया इनकार

एटा जिले के थाना मारहरा क्षेत्र में बृहस्पतिवार को बरात लेकर आए दूल्हे को दुल्हन ने बिना फेरे लिए बैरंग वापस भेज दिया। दरअसल दूल्हा शराब पीकर आया था। नशेड़ी दूल्हे के हाव-भाव देख युवती भड़क गई और उसने शादी करने से इनकार कर दिया।

थाना मारहरा क्षेत्र के एक गांव में सोरों क्षेत्र के गांव खेड़ा निवासी बंटी पुत्र खचेरू बृहस्पतिवार की शाम बरात लेकर आया था। वरमाला के स्टेज पर दूल्हा नशे में झूमता दिखाई दिया। इस पर दुल्हन बनी युवती ने दूल्हे को खूब खरी-खोटी सुनाई। 

शराबी के हाथों जिंदगी की डोर सौंप देना दुल्हन के लिबास में सजी संवरी युवती को रास नहीं आया। युवती ने परिजनों को बुलाकर नशेड़ी दूल्हे से शादी करने से मना कर दिया। दुल्हन के इंकार से शादी समारोह में हड़कंप मच गया। 
... और पढ़ें

जिले में जगह- जगह हो रहा खनन , प्रशासन अनजान : फोटो 15

फोएटा। सदर तहसील के गांव कासौन निजामपुर में पिछले दिनों चारागाह की भूमि पर अवैध खनन किया गया था। इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से की गई। मंगलवार को वहां राजस्व की टीम पहुंची उन्होंने वहां पैमाइश कर ठेकेदार पर पेनाल्टी लगाई है, लेकिन अधिकारी इससे अनजान बने हुए हैं। वहीं जिले में जगह- जगह अवैध खनन जारी है।
बागवाला क्षेत्र के गांव कासौन निजामपुर में एक ठेकेदार द्वारा जेसीबी से आठ से दस फुट चारगाह की भूमि पर मिट्टी का अवैध खनन किया गया। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत डीएम सुखलाल भारती से की। जहां उन्होंने जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए। इसी के तहत एक सप्ताह पूर्व वहां टीम गई। उन्होंने भूमि की पैमाइश आदि की और खनन को गलत बताया। वहीं मंगलवार को टीम वहां पुन: पहुंची और एक बार फिर भूमि की नापजोख की। प्रकरण से जिले के अधिकारी अनजान बने हुए है। उन्हें जानकारी ही नहीं है कि मंगलवार को टीम गांव गई थी। उन्होंने किसी पर जुर्माना लगाया है।
... और पढ़ें
गांव नगला निजाम में जेसीबी से हुई खोदाई पर जांच करती टीम। गांव नगला निजाम में जेसीबी से हुई खोदाई पर जांच करती टीम।

कासगंज सामूहिक दुष्कर्म मामलाः आज से शुरू होगा ट्रायल, पुलिस सुरक्षा में कोर्ट जाएगी पीड़िता

कासगंज जनपद में सिढ़पुरा क्षेत्र के एक गांव में अनुसूचित जाति की किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में मंगलवार से अपर जिला जज नवनीत कुमार की कोर्ट में ट्रायल शुरू होगा। पुलिस ने ट्रायल की सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। पहले दिन पुलिस सुरक्षा में पीड़िता को न्यायालय ले जाया जाएगा। पहले दिन पुलिस पीड़िता के बयान दर्ज कराएगी।

चारों आरोपी जेल में हैं। पुलिस चार्जशीट दाखिल करने के बाद चार्ज फ्रेम करा चुकी है। सभी कार्य दिवसों में न्यायालय सुनवाई करेगा। पुलिस की तैयारी है कि पीड़िता को जल्द न्याय दिलाया जाए और त्वरित सुनवाई कर आरोपियों को सजा दिलाई जाए।

न्यायालय में मंगलवार से केस का ट्रायल शुरू होगा। तय तिथि से प्रतिदिन अब इस केस का ट्रायल होगा। पटियाली के सीओ व घटना की विवेचना कर रहे गवेंद्र गौतम पहले दिन के ट्रायल के लिए पूरी तैयारी कर चुके हैं। पीड़िता को पुलिस सुरक्षा व्यवस्था के बीच न्यायालय में पेश करेगी। पुलिस का प्रयास है कि पहले दिन न्यायालय में पीड़िता की गवाही करा दी जाए।
... और पढ़ें

सर्द मौसम पढ़ने लगा मासूमों की सेहत पर भारी

एटा। सर्द मौसम बच्चों के लिए खतरनाक होता जा रहा है। जरा सी लापरवाही से बच्चे बीमार पड़ सकते हैं। इस मौसम में बच्चों को बीमारियों से बचाने के लिए सावधानी जरूरी है। अन्यथा उन्हें डायरिया, निमोनिया और वायरल बुखार जैसी घातक बीमारी घेर सकती हैं। इन दिनों जिला अस्पताल सहित नर्सिंग होम में मरीजों में सर्वाधिक संख्या बच्चों की है।
बदलता मौसम बीमारियां तेजी से लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। उल्टी, खांसी, दस्त, निमोनिया और डायरिया से बच्चों की सेहत बिगड़ रही है। जिला अस्पताल से लेकर नर्सिंग होम में बीमार बच्चों की भरमार देखी जा सकती है। सही समय पर लक्षणों की पहचान कर बच्चों को इन बीमारियों से बचाया जा सकता है।
यदि बच्चे की पसली चले, स्तनपान न करे, अंगों में शिथिलता हो तो यह लक्षण निमोनिया के है। बच्चे को बिना लापरवाही किए तुरंत चिकित्सक को दिखाना चाहिए। यदि बच्चे को 24 घंटे में तीन से चार दस्त हों ऐसी स्थिति में वह डायरिया का शिकार हो सकता है। ऐसे बच्चे को तुरंत ओआरएस का घोल देना चाहिए।
कम वजन के बच्चे हो रहे इंफेक्शन का शिकार
सर्दी के मौसम में सर्वाधिक बीमारियों के शिकार कम वजन के बच्चे हो रहे हैं। चिकित्सकों की मानें तो एक वर्ष के बच्चे में दस किलोग्राम का वजन होना चाहिए, लेकिन जिले में यह स्थिति चिंताजनक है। यहां बच्चे सात से आठ किलोग्राम के हैं। इससे उनकी प्रतिरोधी क्षमता पर प्रभाव पड़ता है। जिससे बच्चों में बीमारियां फैल रहीं है।
जिला अस्पताल में सोमवार को पहुंचे 260 बच्चे
जिला अस्पताल में सोमवार को बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. अनंत व्यास ने 260 बच्चों का इलाज किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि 20 फीसद बच्चे निमोनिया व डायरिया के पीड़ित आ रहे है। अधिकांश बच्चे सर्दी, खांसी से ग्रसित हैं।
छह माह तक पिलाएं मां का दूध
चिकित्सकों ने बताया कि नवजात को गंभीर जानलेवा बीमारियों से बचाने के लिए मॉ का दूध जरूरी होता है। इसलिए नवजात को छह माह तक मां का दूध पिलाना चालिए। जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
चिकित्सकों का कहना
बदलते मौसम में बच्चे बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। बच्चों पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है । माताएं अपने बच्चे को छह माह तक स्तनपान कराएं। इसके बाद ही बच्चों को पूरक आहार देें।
डॉ. राजेश सक्सेना, बाल रोग विशेषज्ञ
इस समय बच्चों को सर्दी से बचाना जरूरी है। थोड़ी सी लापरवाही में बच्चे निमोनिया व डायरिया के शिकार हो रहे हैं। बीमारियों से बच्चों को बचाने के लिए ऊनी कपड़ों से उन्हें पूरी तरह ढककर रखें।
डॉ. अनंत व्यास, बाल रोग विशेषज्ञ जिला अस्पताल
... और पढ़ें

थाने-चौकियों में हो रहा मानवाधिकारों का उल्लंघन

एक क्लीनिक पर बच्चे को लेकर बैठी दवा लेने आई महिला साक्षी- संवाद
एटा। हैदराबाद में डॉक्टर बिटिया से दुष्कर्म के आरोपियों के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से एक बार फिर मानवाधिकारों पर बहस छिड़ गई है। यह सही भी है कि मानवाधिकारों के संरक्षण का जिस खाकी वर्दी पर दायित्व है, वही सबसे ज्यादा मानवाधिकारों का उल्लंघन करती है। यहां तक की अपने बचाव के लिए जिले के थाने और चौकियों में शासनादेश के बावजूद मानवाधिकार संबंधी बोर्ड तक नहीं लगाए हैं।
मंगलवार को विश्व मानवाधिकार दिवस मनाया जाएगा। गोष्ठियां और रैलियां निकालकर मानवाधिकारों की दुहाई दी जाएगी और लोगों को अधिकारों का पाठ पढ़ाया जाएगा। लेकिन शहर में सबसे महत्वपूर्ण पुलिस विभाग ही इसके प्रति सजग और संवेदनशील नहीं हैं। पुलिस थानों में ही मानवाधिकारों का सबसे ज्यादा उल्लंघन किया जा रहा है।
अमर उजाला की टीम ने सोमवार को इसकी पड़ताल की तो चौंकाने वाले नजारे देखने को मिले। कोतवाली नगर, कोतवाली देहात और महिला थाना सहित अन्य चौकियों पर धड़ल्ले से मानवाधिकारों का उल्लंघन होते मिला। नियमों की जानकारी तो दूर यहां पर मानवाधिकार संबंधी बोर्ड तक टंगा नहीं मिला। थाने में बोर्ड न लगने की बात जब प्रभारी इंस्पेक्टर देहात कोतवाली सुभाष सिंह बात को टालते नजर आए। कोतवाली शहर में मुंशी लखन ने बताया कि किसी ने वॉल पेंट होने के चलते मिट गया होगा। कई इस बात पर चुप्पी साधते नजर आए।
हवालातों में गंदगी और बदबू
कोतवाली सिटी में हवालात का सबसे बुरा हाल मिला। यहां पर न तो कोई साफ-सफाई है और न ही पानी, शौचालय का इंतजाम है। हवालात में बदबू आ रही है। पीने के पानी का कैंपर हवालात के बाहर रखा मिला, जबकि बंदी के पानी मांगने पर पहरा बोतल में पानी भरकर देता है।
ये हैं मानवधिकार
- प्रत्येक पीड़ित की एफआईआर दर्ज करना पुलिस की जिम्मेदारी है। पुलिस मना नहीं कर सकती है।
- थाने लाए गए किसी भी व्यक्ति के साथ पुलिस अमानवीय व्यवहार या मारपीट नहीं कर सकती।
- पुलिस बिना कारण बताए किसी भी मामले में किसी भी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं कर सकती है।
- गिरफ्तार व्यक्ति को 24 घंटे के अंदर पुलिस को नजदीकी न्यायालय के समक्ष पेश करना जरूरी है।
- पुलिस किसी भी व्यक्ति को हिरासत में थाने लाती है, तो उसे समय पर भोजन देना होता है।
- न्यायालय के आदेश के बिना पुलिस किसी भी आरोप में व्यक्ति को हथकड़ी नहीं लगा सकती।
- किसी भी व्यक्ति की गिरफ्तारी पर पुलिस वालों को इसकी सूचना परिजनों को देना जरूरी है।
- दुष्कर्म पीड़िता से महिला पुलिस की मौजूदगी में ही पूछताछ की जा सकती है।
मानवाधिकार का बोर्ड प्रत्येक थाने में लगाने का प्रावधान है, जांच करके बोर्ड लगवाएंगे। हवालात में भी साफ-सफाई जल्द ही कराएंगे।
- संजय कुमार, एएसपी।
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में 93 जोड़ों हुए एक-दूजे के

एटा। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत सोमवार को जिले में 93 जोड़ों ने एक-दूसरे का हाथ थामा। डीएम ने नवविवाहित जोड़ों को अपने जीवन साथी के प्रति वफादार रहने का संकल्प दिलाया। योजना के तहत 35 हजार रुपये वधू के खाते में डाले गए। साथ ही दस हजार रुपये का सामान उपहार स्वरूप दिया गया।
जिला पंचायत परिसर में सोमवार को एक तरह कुरान की आयतें तो दूसरी तरफ वैदिक मंत्रोच्चारण की गूंज सुनाई दी। कार्यक्रम का शुभांरभ डीएम सुखलाल भारती और भाजपा जिलाध्यक्ष संदीप जैन सहित चारों विधायकों ने किया। इस दौरान 87 हिंदू जोड़े सहित 6 मुस्लिम जोड़ों की शादियां र्हुइं। एडीएम प्रशासन केपी सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत 51 हजार रुपये प्रति जोड़े के हिसाब से खर्च किए जाने का प्रावधान है।
ये रहे मौजूद
कार्यक्रम में सदर विधायक विपिन कुमार डेविड, विधायक मारहरा वीरेंद्र सिंह लोधी, अलीगंज विधायक सत्यपाल सिंह राठौर, जलेसर विधायक संजीव दिवाकर, पूर्व विधायक सुधाकर वर्मा, पंकज चौहान, प्रमोद गुप्ता, एडीएम वित्त एवं राजस्व केशव कुमार, सीडीओ मदन वर्मा, सीएमओ डॉ. अजय अग्रवाल, एसडीएम नंदलाल सिंह, डीडीओ एसएन सिंह कुशवाह, समाज कल्याण अधिकारी रश्मी यादव, बीएसए संजय सिंह, पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी डॉली सिंह, डीपीओ संजय सिंह, क्रीड़ाधिकारी सिराजुद्दीन आदि ने उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

सपा पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है

एटा। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के लिए आयोजित सपा की शोकसभा में नेताओं ने प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए। साथ ही प्रदेश सरकार की बर्खास्तगी की मांग की। जिलाध्यक्ष अशरफ हुसैन ने कहा कि सपा पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। पूर्व सांसद कैलाश यादव ने कहा कि बढ़ते अपराधों से लगता है कि सरकार फेल हो चुकी है।
पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव ने कहा कि बिगड़ती कानून व्यवस्था पर राज्यपाल को संज्ञान लेना चाहिए। पूर्व विधायक अमित गौरव यादव एवं रणीजीत सुमन ने प्रदेश सरकार को बर्खास्त करने की मांग की। वजीर सिंह यादव ब्लाक प्रमुख, परवेज जुबैरी, रंजीत यादव, अनिल सागर, सत्यभान शाक्य, राजू यादव, शशांक यादव, भूपेंद्र प्रजापति आदि प्रमुख हैं।
नहीं दिखा विरोध प्रदर्शन
एटा। सपा के गढ़ में पार्टी का विरोध प्रदर्शन शोकसभा तक सिमट गया। नेताओं, कार्यकर्ताओं ने उपस्थिति भर दर्ज कराई। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने घटना के विरोध में विधानसभा के मुख्य द्वार पर धरना देकर प्रदेश भर में घटना के विरोध के निर्देश दिए थे। लेकिन अपने ही घर में पार्टी का आंदोलन फीका रहा।
उत्तर प्रदेश में जंगल राज : लोधी
एटा। एटा लोकसभा क्षेत्र से पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी नूर मोहम्मद खान के आवास पर उन्नाव रेप पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए चर्चा की गई। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के नेतृत्व लखनऊ में प्रदर्शन कर रहे नेताओं पर पुलिस द्वारा बरर्बता व लाठीचार्ज की कड़ी निंदा की गई। कहा कि भाजपा सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरह फेल हो गई है। जिलाध्यक्ष एकेश लोधी ने कहा कि प्रदेश में जंगल राज कायम हैं। युवा कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष लोधी योगेश राजपूत, प्राचार्य गंगासाय लोधी आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

एटा में दिल्ली जैसी घटना के इंतजार में प्रशासन

एटा। दिल्ली में घनी और सकरी गली में अग्रिकांड में 40से ज्यादा लोगों के मरने की घटना के बावजूद जिले में अफसर सतर्क नहीं हैं। यहां बाबूगंज जैसे सघन बाजार की संकरी गलियों में फायर बिग्रेड की गाड़ी तक जाने का रास्ता नहीं है, ऐसे में यहां कभी अग्रिकांड हुआ तो जनहानि से इंकार नहीं किया जा सकता है। कई अन्य बाजारों की संकरी गलियों में चल रहीं फैक्ट्रियों में लोग जान जोखिम में डालकर मजदूरों से काम करा रहे हैं।
दिल्ली की घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया। स्कूली बैग और अन्य सामान बनाने वाली पंाच मंजिला इमारत में आग से 40 से ज्यादा लोग जलकर ओर दम घुटने से मर गए, जबकि इतने ही लोग घायल हैं। इतनी बड़ी घटना के दूसरे दिन भी प्रशासन में रत्ती भर हलचल नहीं हुई। अफसरान ऑफिसों में बैठकर घटना पर चर्चा तो करते दिखे पर इस बाबत शहर के हालातों का जायजा लेकर जिले में भी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो, इसके लिए न तो कोई ठोस उपाए किए गए और न ही रणनीति बनाई गई।
बाबूगंज सबसे ज्यादा संवेदनशील
शहर का सघन और व्यस्त बाजार है बाबूगंज, यहां परचून से लेकर कपड़ों की दुकान, सब्जी के फड़ सहित अन्य सामानों की दुकानें हैं। तीन से चार मंजिला बिल्डिंग में नीचे दुकान चल रही हैं तो ऊपर लोग रहते हैं या फिर गोदाम और फैक्ट्रियां बना रखी हैं। तंग गलियों के इस बाजार में सुबह सात से रात दस बजे तक लोगों की भीड़ रहती है। ऐसे में कभी यहां आगजनी की घटना हुई तो फायर बिग्रेड की गाड़ी नहीं पहुंच पाएगी, वहीं बाजार में भगदड़ मची तो कई जान जा सकती हैं।
यहां भी तंग गलियों में चलतीं फैक्ट्रियां
में अलीगंज रोड, आगरा रोड, नई बस्ती, विजय नगर आदि इलाकों में कपूर बनाने, दूध से पनीर और मिठाई बनाने की फैक्ट्रियां सहित कारखाने संचालित हैं। इन गलियों में गाड़ी जाने की कोई व्यवस्था नहीं है।
हाथी गेट का बाजार भी असुरक्षित
हाथी गेट का बाजार भी सघन है। यहां भी संकरी गलियों में दुकान, मकान और गोदाम बने हुए हैं। यहां भी यदि कभी आगजनी हुई तो प्रशासन को भारी पड़ सकता है।
बहुतायत में बनती आतिशबाजी
एटा जिला आतिशबाजी के लिए मशहूर है। यहां सैकड़ों घरों में आतिशबाजी और देसी पटाखा बनाए जाते हैं। मिरहची में सितंबर माह में एक मकान में पटाखा बनाते समय आग लगने से पूरा मकान उड़ गया था, इसमें आधा दर्जन लोगों की मौत ने जिले को हिलाकर रख दिया था।
मर चुकी हैं दो बालिकाएं
करीब आठ साल पूर्व कचहरी रोड पर एक मकान में आग लग गई थी, आग इतनी भीषण थी कि पुुलिस और फायर बिग्रेड के पहुंचने से पहले ही दो बच्चियों की जलकर मौत हो गई थी।
होटल-रेस्टोरेंट भी मानक नहीं करते पूरा-
शहर में बने होटल और रेस्टोरेंट में भी आग बुझाने के साधन नहीं है। पिछले माह अग्रिशमन विभाग ने ऐसे होटल और रेस्टोरेंट संचालकों को नोटिस थमाया था, पर कार्रवाई के नाम पर कुछ नहीं हो सका।
बाबूगंज सघन और व्यस्त बाजार है, यहां संकरी गलियों में दुकान और गोदाम हैं। यहां आग लगने वाले स्थानों को चिह्नित कर लोगों को नोटिस दिए गए हैं।
शिवदयाल शर्मा, जिला अग्रिशमन अधिकारी
... और पढ़ें

गलन से ठिठुर रहे गरीब, अफसर कागजी इंतजाम कर मस्त

एटा। सर्द मौसम में खुले आसमान के नीचे रात गुजार रहे गरीबों के दर्द से नगर पालिका को कोई सरोकार नहीं है। ज्यों-ज्यों सर्दी का सितम बढ़ता जा रहा है, पालिका के इंतजाम कागजों में तो दुरुस्त होते जा रहे हैं, पर हकीकत कोसों दूर है। सर्द मौसम में हीटर के आगे बैठ बजट ठिकाने लगाने वाले यह तक देखना मुनासिब नहीं समझ रहे कि उनके कागजी इंतजाम अभी तक धरा पर उतर भी पाए हैं या नहीं। यही हाल अलावों का है। शहर में अभी तक किसी भी स्थान पर अलाव नहीं जलवाए गए हैं।
शनिवार की रात अब तक की सबसे सर्द रात रही। इस रात पारा करीब नौ डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। ऐसे में सबसे ज्यादा दिक्कत उन लोगों को हुई जो किसी न किसी काम से घर से बाहर रहे। गरीब तबके सहित बाहर से आने वाले यात्रियों को कड़ाके की ठंड में पालिका रैन बसेरा में सुविधाएं मुहैया नहीं करा पा रहा है। नगर पालिका और डूडा ने रैन बसेरा बनाकर अपने कर्तव्य की इतिश्री तो कर ली पर हकीकत जानने कोई अधिकारी फील्ड में नहीं उतरा।
अमर उजाला टीम ने शनिवार देर रात बस स्टैंड पर बने रैन बसेरा की पड़ताल की। यहां रैन बसेरा के नाम पर टेंट तो लगा था, पर न कोई कर्मचारी तैनात था और न ही रजाई, गद्दे और कंबल की कोई व्यवस्था थी। बस स्टैंड पर लोग अपने-अपने कंबल ओढ़ कर जमीन पर सोते मिले जबकि, गरीब और असहाय लोग सर्दी से ठिठुरते देखे गए।
यहां भी ठिठुरते मिले
शहर में जिला अस्पताल महिला व पुरुष, सैनिक पड़ाव, शिकोहाबाद रोड, मंडी समिति, आगरा रोड, कैलाश मंदिर, रेलवे स्टेशन, रेलवे रोड आदि स्थानों पर लोग रात में दुकानों के आगे फुटपाथ पर गुदड़ी और कंबलों में रात बिताने को मजबूर दिखे।
अलाव को तरसे लोग
नगर पालिका के दावे थे कि चार स्थानों पर अलाव जल रहे हैं। बस स्टैंड, जिला अस्पताल महिला व पुरुष, रेलवे स्टेशन चारों ही स्थानों पर अलाव नहीं जलाए गए। सबसे ज्यादा दिक्कत बस स्टैंड पर लोगों को उठानी पड़ी। यहां यात्री बसों का इंतजार सर्दी में ठिठुरते हुए कर रहे तो रिक्शा और टेंपो चालक भी सिकुड़ते रहे।
रैन बसेरा के बाहर लोग करते टॉयलेट
बस स्टैंड पर बने रैन बसेरा के आसपास साफ-सफाई नहीं है। यहां तक शौचालय की भी व्यवस्था नहीं की गई है। चलते-फिरते यात्री टेंट के पास ही टॉयलेट कर जाते हैं। ऐसे में कोई भी रैन बसेरा में जाने की कोशिश भी नहीं करेगा, जहां टॉयलेट की बदबू आएगी।
--
अलीगढ़ जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे हैं। ठंड ज्यादा होने की वजह से यहां पर बैठे हैं। रैन बसेरा में रजाई, गद्दे तक नहीं हैं।
- चंद्रपाल, यात्री।
दिल्ली जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे हैं, यहां पर महिलाओं के लिए को रुकने के लिए रैन बसेरा की कोई व्यवस्था नहीं की गई है।
- रज्जो देवी, यात्री।
... और पढ़ें

मैनपुरी: जीटी रोड पर दो ट्रकों की आमने-सामने भीषण भिड़ंत, एक चालक की मौत

मैनपुरी जनपद के कुरावली क्षेत्र में रविवार सुबह जीटी रोड पर दो ट्रकों की आमने-सामने भीषण भिड़ंत हो गई। इस हादसे में एक चालक की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद दूसरा चालक ट्रक छोड़कर मौके से फरार हो गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। वहीं परिवार में इस हादसे की जानकारी मिलने के बाद कोहराम मचा हुआ है।

मैनपुरी के कुरावली क्षेत्र में ग्राम हटऊ व शरीफपुर के बीच रविवार सुबह दो ट्रकों की सामने से टक्कर हो गई। बताया गया है कि ट्रक संख्या एचआर 36 T3659 एटा की ओर जा रहा था।

वहीं ट्रक संख्या यूपी 14FT 5746 एटा से आ रहा था। जनपद एटा की शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव नगला धनी निवासी 30 वर्षीय अजीत कुमार यादव ट्रक चालक था। शनिवार की रात वह ग्वालियर से ट्रक में एक कंपनी के पाइप लेकर इटावा होते हुए एटा के लिए निकला था। 

 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election