विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Faizabad

किसान मेला

5 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उन्नाव कांडः कांग्रेसियों का बीजेपी कार्यालय के सामने प्रदर्शन, पुलिस ने बरसाई लाठियां, तस्वीरें

उन्नाव कांड की पीड़िता की बीती रात दिल्ली में मौत के बाद परिवार को इंसाफ दिलाने की मांग पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी लखनऊ में बीजेपी कार्यालय के सामने एकत्र होकर प्रदर्शन किया।

7 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

फैजाबाद

शनिवार, 7 दिसंबर 2019

अयोध्या में चप्पे-चप्पे पर पुलिस की निगाह

अयोध्या। 6 दिसंबर को लेकर अयोध्या का सुरक्षा घेरा सख्त हो गया है। शहर के सभी बैरियर पर सघन तलाशी के बाद ही लोगों को अयोध्या में प्रवेश करने दिया जा रहा है।
अयोध्या के मठ-मंदिरों समेत होटल, धर्मशाला व बस, रेलवे स्टेशनों पर पुलिस व खुफिया एजेंसियों के अधिकारी व जवान निगाह रख रहे हैं। सुरक्षा की कमान एसएसपी आशीष तिवारी ने संभाल रखी है। गुरुवार को उन्होंने अयोध्या के प्रवेश मार्गों समेत रामजन्मभूमि जाने वाले सभी रास्तों की सुरक्षा व्यवस्था का आकलन किया।
उच्चतम न्यायालय के निर्णय के उपरांत इस वर्ष 6 दिसंबर को कानून व्यवस्था की दृष्टि से अतिसंवेदनशील मानते हुए जनपद में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये गये हैं। जिसमें संपूर्ण जनपद को 4 जोन, 10 सेक्टर व 14 सब सेक्टर में विभाजित किया गया है।
जोन में अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के 5 अधिकारी, सेक्टर में 10 पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी तथा सब सेक्टर में 15 थाना प्रभारी निरीक्षक अधिकारी को सक्षम मजिस्ट्रेट के साथ तैनात किया गया है।
जनपद में 17 प्रमुख बैरियरों पर उपनिरीक्षक के नेतृत्व में आरक्षी, होमगार्ड व पीएसी व जनपद के 16 आंतरिक बैरियरों पर जनपदीय पुलिस बल की ड्यूटी लगाकर हर आने जाने वाली वाहनों व व्यक्तियों की तलाशी ली जा रही है।
आवश्यकता पड़ने पर किया जाएगा रूट डायवर्जन
जनपद बाराबंकी, गोंडा, बलरामपुर, सुल्तानपुर, अमेठी, रायबरेली, अंबेडकर नगर से डायवर्जन का प्लान तैयार कर लिया गया है। आवश्यकतानुसार तत्काल प्रभावी डायवर्जन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त नगर अयोध्या के 14 तथा अयोध्या फैजाबाद के 9 डायवर्जन पाइंटों को चिह्नित कर 1 उपनिरीक्षक यातायात, 4 मुख्य आरक्षी यातायात, 10 आरक्षी यातायात तथा 35 होमगार्ड को तैनात किया गया है।
78 स्थानों पर बने बंकर
जनपद के 78 स्थानों पर सैंडबैग मोर्चा बनाकर स्वचालित हथियारों से लैस पुलिस बल की तैनाती की गई है। आवश्यकतानुसार संवेदनशील मार्गों पर ड्रम बैरियर, चैनल बैरियर व अन्य मोबाइल बैरियर लगा कर यातायात नियंत्रण के उपाय किए जा रहे है। जनपद के संवेदनशील 269 स्थानों का चिन्हांकन कर पिकेट व मोबाइल ड्यूटी लगायी गयी है। जिनका रूट चार्ट तैयार कर 71 मोबाइल वाहनों से निरंतर भ्रमणशील रह कर कार्यवाही की जा रही है।
... और पढ़ें

राममंदिर ट्रस्ट में निर्मोही अखाड़े को मिले उचित पद : महंत नरसिंह दास

अयोध्या। पंच रामानंदीय निर्मोही अखाड़ा अयोध्या बैठक के पंच महंत नरसिंह दास गुरुवार को अयोध्या पहुंचे और निर्मोही अखाड़े के महंत दिनेंद्र दास से मुलाकात की।
इस दौरान अमर उजाला से पंच महंत नरसिंह दास ने कहा कि राममंदिर ट्रस्ट में निर्मोही अखाड़े को उचित पद मिलना चाहिए। ट्रस्ट में भागीदारी को लेकर हमने प्रधानमंत्री को पत्र भेजा है। हमारे पंचों की सरकार से वार्ता भी चल रही है।
उन्होंने कहा कि रामजन्मभूमि निर्मोही अखाड़ा के पूजा अधिकार में रहा है। राममंदिर के पक्ष में सभी लोग हैं लेकिन मुस्लिमों को पांच एकड़ जमीन देने के निर्णय की समीक्षा होना चाहिए। कहा कि अब मुस्लिम पक्ष द्वारा जो पुनर्विचार याचिका डाली जा रही है वह मामले को लटकाने की कोशिश है, वे हमें भी सोचने पर मजबूर कर रहे हैं।
पक्षकार महंत दिनेंद्र दास बताते हैं कि निर्मोही अखाड़ा एक पंचायती अखाड़ा है। अखाड़े की परंपरा स्वामी बालांनद जी ने शुरू की थी। जिसका इतिहास सन 1528 से है। उनके मुताबिक मंदिर के लिए हमने 77 बार लड़ाई लड़ी है। अयोध्या मामले में 1885 में इसी अखाड़े के महंत ने कानूनी प्रक्रिया शुरू की थी।
इस याचिका में अखाड़े की तरफ से यहां स्थित रामचबूतरे पर छतरी बनवाने की अनुमति मांगी, लेकिन फैजाबाद की जिला अदालत ने उनकी इस याचिका को खारिज कर दिया था। अखाड़ा शुरू से ही राममंदिर के लिए कानूनी लड़ाई लड़ता आ रहा है। हमें ट्रस्ट में क्या पद मिलने वाला है हम इसके लिए संतुष्ट हो जाना चाहते हैं। हमें सुप्रीम कोर्ट व रामजी पर विश्वास है बाकी आगे क्या करना है हमारे पंच ही निर्णय लेंगे।
... और पढ़ें

कुछ ऐसा होगा अयोध्या में बनने वाला राम मंदिर, हर धर्म की धरोहरों को सहजने की तैयारी

रामायण सर्किट योजना बनने के पांच साल बाद अब अयोध्या इसका गेट-वे होगा। यहां से रामायणकालीन स्थलों तक आवागमन के लिए सड़क-वायु व जलमार्ग के साथ विश्वस्तरीय पर्यटन सुविधाएं मिलेंगी। रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के साथ शहर का दायरा 100 वर्ग किमी. बढ़ाने का प्रस्ताव है। धर्मनगरी में चार खास नगर होंगे, जिसमें सरयू से पौराणिक स्वर्गद्वार होकर श्रीरामजन्मभूमि मंदिर तक त्रेतायुगीन रामनगरी का दर्शन होगा तो सरयू किनारे गुप्तारघाट तक सीताझील और ग्रीन सिटी इक्ष्वाकुपुरी का आकर्षण होगा।

जबकि श्रीराम की 251 मीटर ऊंची प्रतिमा के नीचे आधुनिक पर्यटन सुविधाएं विकसित होंगी। नव्य अयोध्या हाईवे के निकट 15 वर्ग किमी. क्षेत्र में होगी, जिसके पहले फेज में दो सौ एकड़ भूमि के अधिग्रहण का प्रस्ताव है। कहि न जाई कुछ नगर बिभूती। जनु एतनिय बिरंचि करतूती।। अर्थात नगर का ऐश्वर्य कुछ कहा नहीं जाता, ऐसा जान पड़ता है, मानो ब्रह्मा जी की कारीगरी बस इतनी ही है। रामचरित मानस में वर्णित यह दृश्य अब नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ सरकार को फिर से जमीं पर उतारने की चुनौती है। सरकार भी पर्यटन सुविधाओं के लिए हाथ खोलकर धन खर्च करने की तैयारी में है।

नगर निगम, अयोध्या विकास प्राधिकरण के साथ पर्यटन व संस्कृति विभाग एक साथ अयोध्या के विकास का खाका बना रही हैं। पहली बार केंद्र की सत्ता संभालने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामायण सर्किट योजना के जरिए एक हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की थी, लेकिन अयोध्या में राममंदिर विवाद पर लटके फैसले से तमाम देशी-विदेशी कंपनियों से सर्वे के बाद भी छिटपुट काम के लिए खास समन्वित विकास नहीं दिखा।
... और पढ़ें

हिंदू महासभा ने की रामभक्तों का स्मारक बनवाने की मांग

अयोध्या। अखिल भारत हिंदू महासभा के जिलाध्यक्ष राकेश दत्त मिश्र को शुक्रवार को पुलिस ने उनके घर में ही नजरबंद कर दिया। हिंदू महासभा द्वारा सरयू तट पर 101 दीप जलाकर बलिदानी श्रीरामभक्तों को स्मरण करने का कार्यक्रम रखा था।
राकेश दत्त मिश्र अपने आवास पर पहुंचे जिला पदाधिकारियों से चर्चा करने के बाद अपने आवास पर ही कार्यक्रम आयोजित कर संकल्प पूरा करने का निर्णय लिया।
ज्ञापन में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य एवं दिव्य मंदिर निर्माण के साथ बलिदानी श्रीराम भक्तों का स्मारक बनवाने, 1949 में सिविल जिला न्यायालय में वाद दायर करने वाले हिंदू महासभा के तत्कालीन जिला अध्यक्ष गोपाल सिंह विशारद की स्मृति में सत्संग भवन बनाने, मंदिर निर्माण आंदोलन में बलिदान हुए रामभक्तों को राजकीय अभिलेख में शहीद का दर्जा देने, बलिदानी रामभक्तों के परिवार को आर्थिक पेंशन देने सहित अन्य मांगें की गई।
ज्ञापन देने वालों में वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष रामधन निषाद, कौशलेंद्र सोलंकी, अंकित सोनकर,अधिवक्ता वंदना वर्मा, अधिवक्ता अमर अग्रवाल, अधिवक्ता विनोद कुमार, रिपुदमन तिवारी,अधिवक्ता नेहा, अधिवक्ता पूजा श्रीवास्तव सहित अन्य मौजूद रहे।
... और पढ़ें

शराब ठेकेदार फरार, सेल्समैन गिरफ्तार

हैदरगंज। डिप्टी कमिश्नर आबकारी की टीम ने छापा मारकर हैदरगंज के सरकारी ठेके के सेल्समैन को 67 पेटी शराब के साथ पकड़ा। सेल्समैन व ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सेल्समैन को गिफ्तार कर लिया है।
आबकारी के डिप्टी कमिश्नर एसपी राव ने जिला आबकारी अधिकारी पार्थ रंजन घोष, आबकारी इंस्पेक्टर आलोक कुमार, राजेश यादव, नीरजा सिंह के साथ गुरुवार शाम लगभग पांच बजे हैदरगंज बाजार स्थित देशी शराब के ठेके पर छापा मारा। यहां से गैर जनपद की 67 पेटी शराब को बरामद किया। बरामद शराब अमेठी जनपद की बताई गई है।
जिला आबकारी अधिकारी पार्थ रंजन घोष ने बताया कि छापे मेें 67 पेटी गैर जनपद की शराब के साथ सेल्समैन को पकड़ा गया। थानाध्यक्ष अवनीश कुमार चौहान ने बताया कि सेल्समैन अरविंद कुमार शुक्ला निवासी बासुदेवपुर, पीपरपुर जनपद अमेठी व ठेकेदार सुरेश पांडेय बिभारपुर मोतीगरपुर सुलतानपुर के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। इस मामले में सेल्समैन व ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर सेल्समैन को गिफ्तार कर लिया गया है।
... और पढ़ें

कार्रवाई के लपेटे में 12 ग्राम सचिव, तीन तकनीकी सहायक

अयोध्या। मनरेगा की लेकर की गई समीक्षा मेें 12 ग्राम सचिवों के खिलाफ कार्रवाई की गई। तीन तकनीकी सहायकों का अगले आदेश तक वेतन रोक दिया गया।
मुख्य विकास अधिकारी की समीक्षा के बाद यह कार्रवाई डीसी मनरेगा नागेंद्र मोहन राम त्रिपाठी के स्तर से की गई है। मनरेगा में 38.08 लाख के सापेक्ष अब तक 21.46 लाख मानव दिवस का सृजन हो पाया है। यह कुल का 56 फीसदी है।
श्रमिकों को रोजगार देने में रूचि न लेने को लेकर ग्राम सचिव सुषमा रानी पूराबाजार, जय प्रकाश वर्मा और शुभम शुक्ल बीकापुर को आरोप पत्र जारी किया गया। समीक्षा बैठक में शामिल न होने वाले सचिवों अनिल दूबे, अंजली, भूपेंद्र सिंह तारन और विनोद सिंह हैरिंग्टनगंज का एक दिन का वेतन रोक दिया गया।
इसके साथ ही ग्राम पंचायतों में 60 फीसदी से कम मानव दिवस सृजन कराने वाले ग्राम सचिव मसौधा की ग्राम सचिव मीनाक्षी वर्मा, सोनम गुप्ता, संगीता मयाबाजार, सुनील कुमार पूराबाजार, संदीप कुमार तारून का दिसंबर माह का वेतन रोक दिया गया है।
इसी तरह समीक्षा बैठक में प्रतिभाग न करने वाले बीकापुर और अमानीगंज के तकनीकी सहायक बलबीर सिंह, राम मनोहर गुप्ता और प्रकाश चंद्र मिश्र का मानदेय अग्रिम आदेशों तक रोक दिया गया है। डीसी मनरेगा श्री त्रिपाठी ने कार्रवाई किए जाने की बात कही है। उन्होंने कहा कि मनरेगा में मानव दिवस सृजन की गति धीमी होना ठीक नहीं है।
... और पढ़ें

हत्या की झूठी खबर पर हलकान रही पुलिस, आरोपी गिरफ्तार

गोसाईगंज। छह दिसंबर को लेकर हाई अलर्ट पर रही गोसाईगंज पुलिस हत्या की एक सूचना पर हलाकान हो गई। आननफानन में भारी संख्या में पुलिस बल बताए गए स्थल पर पहुंचा।
आसपास लोगों से पूछताछ के बाद सूचना फर्जी पाए जाने पर पुलिस ने राहत की सांस ली। वहीं, पुलिस ने फोन कॉल के आधार पर फर्जी सूचना देने वाले को गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस को शुक्रवार सुबह करीब 8:45 बजे 100 नंबर पर हत्या के वारदात की सूचना मिली। फोन करने वाले व्यक्ति ने बताया कि थाना गोसाईगंज अंतर्गत तेलियागढ़-महादेव घाट जाने वाले मार्ग पर एक युवती की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई है।
सूचना मिलते ही थाना गोसाईगंज पुलिस, पीआरवी समेत चीता मोबाइल की टीम ने तेलियागढ़ मोहल्ला स्थित गोड़ियाना, महादेव घाट को चारों ओर से घेर लिया। करीब आधे घंटे तक पुलिस घटनास्थल की तलाश करती रही। बाद में स्थानीय लोगों से पूछताछ के बाद घटना की फर्जी सूचना देने की बात स्पष्ट हुई। इसके बाद पुलिस ने सौ नंबर पर आई कॉल को सर्विलांस पर लगाकर उसकी लोकेशन पता की तो पता चला कि उक्त फोन सनी गौड़ निवासी गोड़ियाना तेलियागढ़ का है।
इस पर पुलिस ने सनी को उसके घर से दबोच लिया। कोतवाली प्रभारी राम किशन सिंह राणा ने बताया कि हत्या की झूठी सूचना देने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर उसका चालान कर दिया गया है।
... और पढ़ें

हिंदूवादी नेता मनीष पांडेय घर में नजरबंद

चचेरे भाइयों पर कुल्हाड़ी व धारदार हथियार से हमला

अयोध्या। नगर कोतवाली अंतर्गत उसरू इलाके में आपसी विवाद को लेकर एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के दो चचेरे भाइयों पर लाठी-डंडे, कुल्हाड़ी व धारदार हथियार से हमला कर दिया।
इस हमले में दोनों भाई गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पीड़ित के भाई की तहरीर पर पुलिस ने चार भाई समेत मां पर हत्या के प्रयास समेत अन्य गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया है।
पुलिस को दी गई तहरीर में नगर कोतवाली के उसरू गांव में रहने वाले दिनेश यादव ने बताया कि उनका छोटा भाई राकेश यादव पुत्र स्व. बाबूराम यादव व चाचा का लड़का प्रदीप यादव पुत्र राघवराम यादव मंगलवार की शाम खेत में सिंचाई कर रहे थे, इसके लिए चकरोड पर पाइप लगाया गया था।
इस दौरान गांव निवासी चंद्रजीत यादव ने ट्रैक्टर चढ़ाकर पाइप को फाड़ दिया, विरोध करने पर दोनों में कहासुनी भी हुई। इसके करीब एक घंटे बाद चंद्रजीत अपने भाई बब्बन, अखिलेश, बहन कांति व मां निर्मला देवी के साथ वहां पहुंचा और लाठी-डंडे, कुल्हाड़ी व धारदार हथियार से दोनों भाइयों पर हमला कर दिया।
इस हमले में राकेश व प्रदीप को गंभीर चोटें आईं, शोर मचने पर आसपास के लोगों को एकत्र होता देख सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। घटना की सूचना पुलिस को दी गई, मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। नगर कोतवाल नीतीश श्रीवास्तव ने बताया कि पीड़ित के भाई की तहरीर पर तीन सगे भाइयों, बहन व मां पर केस दर्ज किया गया है, आरोपियों की तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

जिला अस्पताल में ठप हुई कई जांचें

अयोध्या। बजट के अभाव में जिला अस्पताल स्थित क्षेत्रीय निदान केंद्र (आरडीसी) में इन दिनों रोजमर्रा से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जांचें ठप हो गई हैं।
पिछले एक पखवारे से ही रीजेंट्स खत्म हो चुके हैं। जिसका इंतजाम करा पाने में अभी तक अस्पताल प्रशासन नाकाम है। जिम्मेदारों की यह लापरवाही गरीब व असहाय मरीजों पर भारी पड़ रही है।
जिले में हायर सेंटर के रूप में यूं तो चार अस्पताल संचालित हैं। लेकिन मंडल मुख्यालय होने के कारण जिला अस्पताल में प्राय: मरीजों की भारी भीड़ रहती है।
दूरदराज से मरीज विभिन्न समस्याएं लिए यहां आते जरूर हैं, लेकिन इलाज के नाम पर उन्हें लंबी कीमत चुकानी पड़ती है। यहां चिकित्सकों की कमी का रोना पहले से ही है।
मौजूद चिकित्सकों की कमी अखरती है। ऊपर से जांच के नाम पर भी कुछ खास नहीं है। सीटी स्कैन, अल्ट्रासाउंड, डिजिटल एक्सरे सेवा सालों से ठप है। सिर्फ पैथोलॉजी जांचों के अलावा सामान्य एक्सरे ही यहां होते हैं।
पैथोलॉजी जांच क्षेत्रीय निदान केंद्र से कराई जाती है। यहां यूं तो अधिकांश महत्वपूर्ण जांचें होने लगी हैं, लेकिन यह व्यवस्था सतत क्रियाशील नहीं रह पाती है। इन दिनों यहां कई महत्वपूर्ण रीजेंट्स खत्म हो चुके हैं।
जिसकी खरीद के लिए आरडीसी का खाता खाली है, जिसकी वजह से कई महत्वपूर्ण जांचें बंद हैं। ये स्थिति पखवारे भर से है। इसके लिए आरडीसी की ओर से सीएमएस को करीब दो माह पूर्व ही अवगत कराने का दावा किया जा रहा है, जबकि कई बार पत्र भी भेजा गया है।
नहीं हो पा रही ये जांचें
इन दिनों थायराइड की समस्या आम है, जिसकी जांच निजी पैथोलॉजी में करीब छह सौ रुपये में होती है। ये जांच पखवारे भर से ठप है। इसके अलावा बाहर करीब चार सौ रुपये में होने वाली लिपिड प्रोफाइल जिसमें कोलेस्ट्रॉल, एचडीएल, एलडीएल, वीएलडीएल, टीजी व इतने में ही होने वाली एलएफटी, केएफटी, यूरिक एसिड आदि जांचें बंद हैं।
करीब 10 लाख का लगता है रीजेंट्स
आरडीसी स्टोर इंचार्ज संदीप सिंह ने बताया कि अब तक करीब साठ लाख रुपये का बजट जांचों पर खर्च हो चुका है। एक माह में करीब दस लाख के रीजेंट्स की आवश्यकता होती है। बजट खत्म होने से पूर्व ही अवगत कराया गया था। शासन में पत्राचार किया गया है। पैथोलॉजिस्ट डॉ फुजैल अंसारी ने बताया कि पखवारे भर से रीजेंट्स न होने से जांच नहीं हो रही है। बजट के लिए सीएमएस को अवगत कराया गया है, व्यवस्था होने पर जांचें शुरू होंगी।
... और पढ़ें

सर्वधर्म समभाव व विकास दिवस के रूप में मना छह दिसंबर

अयोध्या। रामजन्मभूमि न्यास की कार्यशाला में एकत्र हुए सर्वधर्म के लोगों ने 6 दिसंबर के दिन को सर्वधर्म समभाव व विकास दिवस के रूप में मनाया। यहां एकता का राज चलेगा, हिंदू-मुस्लिम साथ चलेगा का जयघोष हुआ तो रामनगरी की गंगा-जमुनी तहजीब हिलोरे मारती दिखी।
हनुमानगढ़ी के संत पुजारी राजूदास ने कहा कि हमें अयोध्या से ही सौहार्द की सीख लेनी चाहिए। अब हमें 6 दिसंबर को विकास दिवस, सद्भावना दिवस के रूप में मनाने की जरूरत है न कि शौर्य व गम प्रकट करने की।
बबलू खान ने कहा कि हम सभी ने मिलकर 6 दिसंबर को विकास दिवस के रूप में मनाया है। जो काला दिवस मनाने की बात करते हैं उनकी सद्बुद्धि के लिए अल्लाह से प्रार्थना करेंगे। अयोध्या में अब विवाद नहीं विकास की बात होनी चाहिए। 6 दिसंबर नहीं अक्षय दिसंबर का दिन मनाने की जरूरत है।
सरदार अमनदीप सिंह वीसी ने कहा कि राम की नगरी ने हमेशा से मर्यादा, भाईचारा, सौहार्द, सद्भाव का संदेश दिया है। हमारी कामना है कि अब शीघ्र ही भव्य राममंदिर का निर्माण हो और रामलला को टेंट से मुक्ति मिले। महंत बृजमोहन दास बोले कि अब तो सृजन की अमिट छाप छोड़ने की जरूरत है।
विध्वंस की बात पुरानी हो चुकी है। सभी चाहते हैं भव्य राममंदिर बने ऐसा मंदिर बनेेगा जो पूरे विश्व को सद्भाव का संदेश देगा। सरदार चरनजीत सिंह ने जय श्रीराम का उद्घोष किया कि यह सुखद है कि अयोध्या का अब विवाद से नाता टूट रहा है। ये विवाद ही है जिसके चलते अयोध्या की गरिमा धूमिल होती रही, अब राममंदिर भी बनेगा और अयोध्या का अभ्युदय भी होगा। रामसुंदर दास, दीपक दास, मंटू पाठक, सैंकी सिंह सभी सौहार्द की ही बात करते नजर आए।
न्यास कार्यशाला में राममंदिर मॉडल देख कर निहाल दिखे श्रद्घालु
रामजन्मभूमि न्यास कार्यशाला में श्रद्धालुओं का जत्था दिन भर पहुंचता रहा। भारत के कोने-कोने से लोग 6 दिसंबर के दिन अयोध्या पहुंचे थे। श्रद्घालु राममंदिर के मॉडल को निहार कर निहाल नजर आ रहे थे। यहीं मौजूद साकेत महाविद्यालय के प्रोफेसर डॉ. सुधीर राय कहते हैं कि अयोध्या शांति की नगरी है।
हमारी प्रार्थना है कि ईश्वर अयोध्या को श्रेष्ठतम नगरी बनाए। अयोध्या में बनने वाला राममंदिर न सिर्फ आस्था का केंद्र होना चाहिए बल्कि अतुलनीय हो यही हम सबकी कामना है। अब अयोध्या की तरक्की का मार्ग प्रशस्त हो चुका है। महाराष्ट्र के विवेक मदान ने कहा कि राममंदिर बनेगा तो राष्ट्रमंदिर का निर्माण होगा, गुजरी बातों पर ध्यान देने की जरूरत है।
गाजीपुर के साहबलाल यादव ने कहा कि राममंदिर बनेगा तो समाज का हित होगा, देश का हित होगा, हिंदुओं के संकल्प की सिद्धि होगी। महाराष्ट्र के सुरेश राममंदिर के लिए तराशे गए पत्थरों को निहार रहे थे और भावुक हो रहे थे, बोले कि इन पत्थरों ने भी बड़ी तपस्या की अब इनके भी दिन बहुरने वाले हैं क्यों कि राममंदिर जो बनने वाला है। राजस्थान की ज्योति बोलीं कि कैसा छह दिसंबर यहां तो कोई तनाव है हमने अयोध्या आकर खूब पर्यटन का आनंद उठाया है।
... और पढ़ें

मठ-मंदिरों में जले दीप, सरयू की हुई महाआरती

अयोध्या। रामनगरी में छह दिसंबर को माहौल अलग नजर आया। इस बार विहिप ने भी परंपरागत शौर्य दिवस का कार्यक्रम स्थगित कर दिया था। उसके स्थान पर मठ-मंदिरों में दीपक जलाने की योजना थी।
शाम गहराते ही विहिप के आह्वान पर रामनगरी के संत-धर्माचार्यों ने मठ-मंदिरों में दीपक जलाकर खुशी का इजहार किया। खुशी इस बात की है अब राममंदिर निर्माण का स्वप्न शीघ्र पूरा होने वाला है। रामजन्मभूमि न्यास कार्यशाला में भी दीपक जलाया गया। जबकि सरयू की महाआरती में भक्त उमड़े।
विहिप के आह्वान पर शुक्रवार शाम होते ही रामनगरी के मठ-मंदिरों आश्रम पर हजारों द्वीप प्रज्वलित हो उठे तो रामनगरी रोशनी से नहा उठी। दशरथमहल बड़ास्थान, मणिरामदास की छावनी, श्रीरामबल्लभाकुंज, सियाराम किला झुनकी घाट, लक्ष्मण किला, कारसेवकपुरम, दिगंबर अखाड़ा, कनकभवन, हनुमानगढ़ी सहित अन्य मंदिरों में साधु-संतों ने दीप प्रज्वलित कर खुशी का इजहार किया।
वहीं सरयू तट पर महाआरती में जय मां सरयू, जय श्रीराम के जयकारे लोगों के उत्साह को दोगुना कर रहे थे। मां सरयू की महाआरती से सरयू तट आलोकित हो उठा, भक्तों व संत-धर्माचार्यों ने पूरी श्रद्धा से महाआरती उतारी।
मणिरामदास छावनी के महंत नृत्यगोपाल दास ने कहा कि अब शौर्य दिवस मनाने की जरूरत नहीं है, यह दीपक राम के नाम का दीपक है और यह संदेश भी है कि अब शीघ्र ही करोड़ों हिंदुओं के संकल्प की सिद्धि होनी वाली है, राममंदिर का भव्य निर्माण सृजन का नया रास्ता खोलेगा। विहिप ने श्रीरामजन्मभूमि न्यास कार्यशाला में भी सैकड़ों की संख्या में दीप प्रज्वलित किया।
विहिप ने कहा, रामलला के चरणों में अब मनाएंगे शौर्य दिवस
विहिप के प्रांतीय प्रवक्ता शरद शर्मा ने कहा कि अब जब राममंदिर के हक में फैसला आ गया है तो शौर्य दिवस मनाने की जरूरत नहीं है। हालांकि 6 दिसंबर का दिन हमारे स्वाभिमान का दिवस है। हमने मठ-मंदिरों में दीप जलाकर, भगवान की आरती कर यह प्रार्थना की है कि वे शीघ्र दिव्य-भव्य मंदिर में विराजे। अब उनके चरणों में ही हम विजय व शौर्य दिवस मनाएंगे।
... और पढ़ें

नप भदरसा का होगा विस्तार,जुड़ेंगी आठ पंचायतें

मसौधा। अंग्रेजी हुकूमत में 1832 से टाउन एरिया के रूप में नामित और विकसित जिले की प्रथम नगर पंचायत भदरसा के विस्तारीकरण की तैयारी है। इसमें भरतकुंड नंदी ग्राम समेत 8 ग्राम पंचायतों को शामिल करने का मसौदा तैयार कर शासन को भेज दिया गया।
रिपोर्ट में नगर की सीमाओं से जुड़ी राजस्व गांवों की 8 ग्राम पंचायतों के शामिल होने से भदरसा का आकार 50 हजार की आबादी का होगा। इसमें उन्हीं ग्राम सभाओं को शामिल किया जा रहा है, जहां सरकारी जमीनों की उपलब्धता के चलते विकसित योजनाओं को आकार दिया जा सकता है।
विस्तारीकरण में नगर पंचायत भदरसा का वैभव बढ़ाने के लिये भरतकुंड नंदी ग्राम का नाम प्रमुखता से जोड़ा जा रहा है और नगर पंचायत के नाम में भदरसा से पहले भरतकुंड का नाम जुड़ सकता है। ऐसे में नये स्वरूप में नगर पंचायत भरतकुंड भदरसा हो सकता है। हालांकि विस्तारीकरण के बाबत ही नगर पंचायत भदरसा में 9 दिसंबर को बोर्ड की बैठक भी बुलाई गई है।
नगर पंचायत भदरसा के प्रथम चेयरमैन सैय्यद मोहम्मद अकबर हुए। जो काफी समय तक चेयरमैन रहे। इसके बाद उनके बेटे सैयद नासिर मियां चेयरमैन चुने गए। इसके बाद एक-एक कर नगर पंचायत अध्यक्ष के रूप में यहां मुहम्मद अहमद, सुरेंद्र देव, राम बोध सोनी की ताजपोशी हो चुकी है।
मौजूदा समय में स्व. मुहम्मद अहमद की पत्नी यहां की नगर पंचायत अध्यक्ष हैं। नगर पंचायत भदरसा की आबादी करीब 28 हजार है जो जमीनों की अनुपलब्धता के चलते विकास के मामले में पिछड़ी है। स्थानीय लोगों में इसके विस्तार के लिए कवायद तो अरसे से चल रही थीं।
कुछ माह पूर्व तत्कालीन नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना परिवार के साथ भरतकुंड दर्शन को आये और क्षेत्र के जन प्रतिनिधियों ने नगर पंचायत भदरसा के विस्तारीकरण के लिए अपील की। जिस पर मंत्री ने मांग पूरी होने का आश्वासन भी दिया था।
मामले में ज्योति सिंह उप जिला अधिकारी सोहावल ने बताया कि शासन से आये पत्र के अनुपालन में नगर पंचायत भदरसा के विस्तारीकरण को लेकर जिला प्रशासन की ओर से बैठक की जा चुकी हैं। नगर क्षेत्र भदरसा की सीमाओं से जुड़ी ग्राम पंचायतों के लेखपालों की बैठक कर स्थलीय परीक्षण और वस्तु स्थिति की रिपोर्ट समेत सरकारी अभिलेखों की समस्त औपचारिकताओं को संज्ञान में लेते हुए रिपोर्ट तैयार कर शासन को भेज दी गई है।
जिसमें ग्राम पंचायत नंदीग्राम भरतकुंड, पिपरी, नैपुरा, भदरसा बाहर, पिपरा ताल, राजेपुर, दोस्तपुर और बीबीपुर ग्राम पंचायत नगर पंचायत के विस्तारीकरण में शामिल हो सकती हैं। इनके शामिल होने से नगर पंचायत क्षेत्र की आबादी 50 हजार के आसपास होगी।
शासन द्वारा जिला प्रशासन को भेजे गए पत्र और मांगी गई रिपोर्ट के अनुपालन में जिले स्तर पर बीते सप्ताह बैठक हो चुकी है। रिपोर्ट में नगर पंचायत की सीमा से जुड़े 8 राजस्व ग्राम पंचायतों को शामिल किया गया है, जिसमें भरतकुंड नंदीग्राम प्रमुखता पर हैं। इससे नगर पंचायत में विकास कार्य तेज होंगे। विस्तारीकरण के बाबत ही 9 दिसंबर को नगर पंचायत भदरसा में बोर्ड की बैठक बुलाई गई है। शासन को रिपोर्ट भेज दी गई है।
लक्ष्मी चौरसिया, अधिशासी अधिकारी, नगर पंचायत भदरसा
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election