विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अनोखा विरोध: कलक्ट्रेट के बाहर 25 रुपये प्रति किलो बेचा प्याज, खरीदारों की उमड़ी भीड़

वरिष्ठ कांग्रेसजन संघर्ष समिति के लोगों ने कलक्ट्रेट के गेट पर महंगाई के विरोध प्याज की सेल लगाई।

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

फर्रूखाबाद

मंगलवार, 10 दिसंबर 2019

दुर्घटनाओं में दो लोगों की मौत से जैतपुर में मचा कोहराम

छिबरामऊ-मार्ग मार्ग स्थित यात्री प्रतीक्षालय में सो रहा ग्रामीण देर रात लघुशंका के लिए उठा और सड़क पार करने लगा। तभी तेजी से आ रहे किसी वाहन ने टक्कर मार दी। इससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।
थाना क्षेत्र के गांव जैतपुर निवासी रामप्रकाश का 40 वर्षीय पुत्र रिंकू शनिवार रात घर के सामने छिबरामऊ-फतेहगढ़ मार्ग स्थित यात्री प्रतीक्षालय में सो रहा था। देर रात वह लघुशंका करने के लिए उठा। वह सड़क पार कर रहा था। इसी दौरान किसी वाहन ने उसे टक्कर मार दी। रिंकू की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।
सुबह परिवार के लोग उठे तो उसे लहूलुहान हालत में पड़ा देखा। इस पर परिजन पास गए और हिलाकर देखा तो उसकी मौत हो चुकी थी। भाई निर्देश कुमार ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने रिंकू के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। निर्देश कुमार ने बताया कि 10 वर्ष पहले भाई रिंकू की शादी हुई थी।
भाई की पत्नी राममूर्ति कुछ दिनों बाद ही उसे छोड़कर चली गई। भाई का एक पुत्र हिमांशु है। भाई मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण करता था। पुलिस को रिंकू की जेब से एक देसी शराब का पौवा भी मिला। रिंकू की मां राधादेवी प पिता रामप्रकाश का रो-रो कर बेहाल हो गए।
उधर, थाना क्षेत्र के गांव जैतपुर निवासी इंद्रपाल सिंह का 30 वर्षीय पुत्र राहुल सिंह दिल्ली में प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। ताऊ श्रीकिशन का देहांत हो जाने पर वह तेरहवीं के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए परिवार समेत गांव आया था। शनिवार रात वह टेंपो से हलवाई को फतेहगढ़ छोड़ने गया था।
लौटते समय बघार नाले के पास टेंपो अनियंत्रित होकर पलट गया। राहुल टेंपो के नीचे दब गया। यह देख उधर से गुजर रहे लोगों ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस मौके पर पहुंच कर टेंपो को सीधा कराया और राहुल को बाहर निकाला। लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।
सूचना पर पहुंचे परिजन शव को गांव में ले गए। रविवार को पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया। राहुल की पत्नी चुन्नी देवी, भाई आदित्य, मां राधा देवी का रो-रो कर बेहाल हो गईं। राहुल का एक माह का पुत्र निमिष मां की गोद में बिलख रहा था।
... और पढ़ें

गंगा स्वच्छता को डीएम ने किया नाव से निरीक्षण

अगले माह रामगरिया मेला शुरू होने से पहले जिलाधिकारी ने व्यवस्था चौक-चौबंद करने को खुद ही कमान संभाल ली है। रविवार को उन्होंने साफ-सफाई व्यवस्था का करीब दो किमी तक नाव से निरीक्षण किया। धीमरपुरा नाला सीधे गंगा में गिरते देख उन्होंने संज्ञान लिया और इसके निस्तारण को बैठक करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने एडीएम विवेक श्रीवास्तव, एसडीएम सदर अनिल कुमार, डीपीआरओ अमित कुमार त्यागी व ईओ नगरपालिका रश्मि भारती के साथ पांचाल घाट का जायजा लिया। डीएम ने पहले पुल से श्मशान घाट तक पैदल सफाई व्यवस्था देखी। घाट पर अधजली लकड़ी पड़ी देख सफाई कर्मियों से नाराजगी जताई।
कहा कि शवों के अपशिष्ट यदि गंगा में बहाए गए तो घाट पर शव जलाने पर रोक लगा दी जाएगी। इसके बाद उन्होंने नाव से धीमरपुरा तक गंगा सफाई का जायजा लिया। डीपीआरओ व ग्राम प्रधान को सफाई कार्य जारी रखने के निर्देश दिए। डीएम ने कहा कि 10 जनवरी को मेला रामनगरिया के शुभारंभ से पहले घाटों पर सभी व्यवस्थाएं ठीक कर ली जाएं।
स्नान घाटों पर जंजीर लगवाने को कहा। बनवाई गई नालियों पर एक और जाली लगवाने के निर्देश दिए। इससे गंगा में गंदगी व पॉलिथीन न जा सके। श्मशान घाट के पास पार्किंग के लिए एसडीएम को जगह चिह्नित कराने के निर्देश दिए।
गंगा घाट के किनारे रहने वाले ग्रामीण गंदगी या कूड़ा गली में रखे कूड़ेदान में ही डालें, अन्यथा जुर्माने की कार्रवाई की जाएगी। पुरानी घटिया ठाकुरद्वारा व अमेठी कोहना घाट पर सफाई कराने के निर्देश दिए। ग्राम प्रधान जमील अहमद, ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी, लेखपाल आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

छुट्टी में भी खुलेगा पंचायती राज विभाग कार्यालय

फर्रुखाबाद। ग्राम पंचायतों में कराए जाने वाले विकास कार्यों के चेक या डीडी से भुगतान पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। अगस्त से शुरू पीएफएमएस (पब्लिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट सिस्टम) प्रणाली पांच माह बाद भी पूरी तरह प्रभावी नहीं हो सकी। इससे विकास कार्यों में रोड़ा लग रहा है। इसके चलते निदेशक पंचायती राज ने सभी ग्राम पंचायतों में पीएफएमएस प्रणाली लागू न होने पर डीपीआरओ का अवकाश रद करते हुुए छुट्टी के दिन भी कार्यालय खोलकर काम पूरा कराने के आदेश दिए हैं।
जनपद में 600 ग्राम पंचायतें हैं। शासन से अगस्त में जारी आदेश में कहा गया था कि अब राज्य वित्त व 14वें वित्त से होने वाले विकास कार्यों का भुगतान पीएफएमएस प्रणाली से किया जाएगा। इसके तहत कार्यदायी संस्था व निर्माण सामग्री आपूर्ति करने वाली फर्म के खाते में सीधे भुगतान पहुंचेगा। इससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा सकेगा। विभागीय हीलाहवाली से पांच माह बाद भी मात्र 250 ग्राम पंचायतों में ही इस प्रणाली से भुगतान शुरू हो सका। 350 ग्राम पंचायतों में प्रक्रिया लागू न होने से प्रधानों के मानदेय का भी भुगतान नहीं हो पा रहा है।
इसी को देखते हुए पंचायतीराज निदेशक डा.ब्रह्मदेव तिवारी ने 7 दिसंबर को डीपीआरओ को आदेश जारी किया। इसमें कहा कि पीएफएमएस से संबंधित सभी तकनीकी कार्यों को पूर्ण कराए बिना वह मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे। ग्राम पंचायतों के खातों में प्रियासाफ्ट व पीएफएमएस पोर्टल पर स्कीम मैपिंग, बैंक ब्रांच मैपिंग, डबल एकाउंट करेक्शन, एलजीडी मैपिंग, डीएसएस पंजीकरण व इनीशिएट का काम अभी पूरा नहीं किया गया है। इसके साथ ही ठेकेदार, कार्मिक व अन्य भुगतान भी होने हैं। जब तक यह कार्य पूर्ण कर सभी ग्राम पंचायतों में धनराशि का भुगतान शुरू नहीं हो जाता तब तक डीपीआरओ के सभी प्रकार के अवकाश निरस्त किए जाते हैं। सार्वजनिक अवकाश के दिन भी कार्यालय खोलकर काम पूरे कराए जाएंगे। डीडी पंचायतीराज अभय कुमार शाही ने बताया कि डीपीआरओ को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है।
... और पढ़ें

पूर्व सांसद छोटे सिंह का डिस्ट्रिक्ट कोआपरेटिव बैंक से अधिपत्य खत्म

फर्रुखाबाद। डिस्ट्रिक्ट कोआपरेटिव बैंक फतेहगढ़ में पूर्व सांसद छोटे सिंह यादव का आधिपत्य समाप्त हो गया। तीन माह पहले उन्हें उपाध्यक्ष पद से हटाया गया था जबकि उनकी पुत्रवधू मनोरमा देवी प्रबंध कमेटी की अध्यक्ष थीं। संचालकों के हटाए जाने से प्रबंध कमेटी का बोर्ड अल्पमत में आ गया। अपर आयुक्त एवं अपर निबंधक/संयुक्त आयुुक्त एवं संयुक्त निबंधक कानपुर मंडल ने बैंक के कार्य प्रभावित होने के चलते अंतरिम कमेटी गठित करने के आदेश दिए। इस पर डीएम की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय अंतरिम प्रबंधक कमेटी गठित कर दी गई।
फर्रुखाबाद डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक की प्रबंध कमेटी पर छोटे सिंह यादव वर्ष 1970 से काबिज थे। सितंबर 2016 में हुए चुनाव के कुल 13 संचालकों का बोर्ड गठित हुआ। इसमें उनकी पुत्रवधू मनोरमा देवी सभापति, वे उपसभापति निर्वाचित हुए थे। इसी के बाद भाजपा नेता विमल कटियार की शिकायतें करना शुरू कर दिया। इसके बाद सहकारी समिति संचालक मुनेश्वर, अरविंद सिंह व ओंकार सिंह को अयोग्य घोषित कर हटा दिया गया। इसके बाद अनियमितताओं में संचालक रामप्रकाश, रईशपाल सिंह, दिगंबर सिंह, प्रेमलता व महेंद्र प्रकाश को बोर्ड से बाहर किया गया। उपसभापति छोटे सिंह यादव के खिलाफ पद के प्रभाव से अनियमितता किए जाने की शिकायत पर वह भी कार्रवाई के दायरे में आ गए। तीन सितंबर को अपर आयुक्त एवं अपर निबंधक/संयुक्त आयुुक्त एवं संयुक्त निबंधक कानपुर मंडल विनय कुमार मिश्र ने जारी आदेश में छोटे सिंह को बैंक के किसी भी पद पर बने रहने या निर्वाचित किए जाने के लिए अयोग्य घोषित करते हुए पद से हटा दिया।
इस आदेश के विरुद्ध पूर्व सांसद ने न्यायालय में याचिका दायर की जो 6 दिसंबर को खारिज कर दी गई। इस पर अपर आयुक्त एवं अपर निबंधक/संयुक्त आयुुक्त एवं संयुक्त निबंधक कानपुर मंडल ने जारी आदेश में कहा कि 13 संचालकों में से नौ के हटने से बोर्ड अल्पमत में आ गया। बैठक के लिए पांच संचालकों होना अनिवार्य है। उन्होंने अंतरिम प्रबंधक कमेटी गठित करने के साथ 6 माह के अंदर प्रबंध कमेटी का चुनाव कराने के आदेश जारी कर दिया। अंतरिम प्रबंध कमेटी में जिलाधिकारी को अध्यक्ष, सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंधक सहकारिता कन्नौज व अपर जिला सहकारी अधिकारी सदर को सदस्य बनाया गया है। कोआपरेटिव बैंक के सचिव व कार्यपालक अधिकारी जगदीश चंद्रा ने बताया कि डीएम की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय अंतरिम प्रबंध कमेटी गठित कर दी गई है।
लंबे समय से काबिज थे पूर्व सांसद
पूर्व सांसद छोटे सिंह यादव डिस्ट्रिक्ट कोआपरेटिव बैंक के वर्ष 1970 में पहली बार अध्यक्ष बने थे। छह वर्ष कार्यकाल पूर्ण करने के बाद बोर्ड में सदस्य पद पर लगातार काबिज रहे। 12 मई 1994 में उन्हें फिर अध्यक्ष बनाया गया, जो 1998 तक कार्यकाल चला। इसके बाद वह सदस्य बने रहने के साथ 28 सितंबर 2016 से तीन सितंबर 2019 तक उपाध्यक्ष पद पर आसीन रहे। पुत्रवधू मनोरमा देवी बोर्ड की अध्यक्ष रहीं।
... और पढ़ें

नीतू हत्याकांड में स्वाट टीम व एसओ को डीजीपी ने किया तलब

फर्रुखाबाद। जुलाई में हुए नीतू हत्याकांड में सूबे के डीजीपी ने जिले की स्वाट टीम व एसओ को सोमवार को तलब किया। खुलासे में जुटी स्वाट टीम ने रविवार को कमालगंज के एक टेंपो चालक को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ में कुुछ महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं। वहीं आरोपियों व वादी के लाई डिटेक्टर टेस्ट को लेकर विवेचक को अनुमति मिलने का इंतजार है।
जनपद मैनपुरी थाना दन्नाहार क्षेत्र के गांव नगला मठिया निवासी नीतू उर्फ मिथुन कुमार (25) पुत्र रक्षपाल 20 जुलाई को कमालगंज थाना क्षेत्र के गांव गांधी नगर भटपुरा में अपनी बहन सुमन के यहां आया था। वह रोज गांव से दौड़ लगाने जाता था। 25 जुलाई को भी वह दौड़ के लिए घर से निकला लेकिन वापस नहीं पहुंचा।
26 जुलाई को युवक के बड़े भाई निरोत्तम ने कमालगंज थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। शाहजहांपुर में पोस्टर लगाने के दौरान वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने फोटो देखकर निरोत्तम को बताया कि इसका शव 27 जुलाई को मिर्जापुर थाना क्षेत्र के गांव रसूलपुर के निकट भट्ठे के पास मिला था। कमालगंज पुलिस ने भाई की तहरीर पर मैनपुरी के बसपा जिलाध्यक्ष समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था। रविवार शाम स्वाट टीम ने कमालगंज थाना क्षेत्र के एक गांव से टेंपो चालक को पकड़ लिया। स्वाट टीम प्रभारी दिनेश गौतम अपनी टीम के साथ व कमालगंज एसओ अंगद सिंह सोमवार सुबह डीजीपी के बुलावे पर लखनऊ रवाना हो गए। सूत्रों के अनुसार पुलिस को टेंपो चालक से पूछताछ में महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं। इसकी जानकारी भी उच्च अधिकारियों को दी गई है। एसओ ने बताया कि आरोपियों व वादी के लाई डिटेक्टर टेस्ट के लिए अनुमति मांगी गई है। जैसे ही अनुमति मिलेगी टेस्ट कराया जायगा।
... और पढ़ें

निकाह का झांसा देकर युवती से कई बार दुष्कर्म

फर्रुखाबाद। युवती को निकाह का झांसा देकर युवक ने कई बार दुष्कर्म किया। बाद में निकाह से इंकार कर दिया। विरोध करने पर युवती को जान से मारने की धमकी दी। आरोप है कि तीन दिन पहले आरोपी ने युवती को जिंदा जलाने का प्रयास किया। पीड़िता ने 112 नंबर पर सूचना दी। मौके पर पहुंचे सिपाहियों के सामने भी गालीगलौज किया। एसपी ने पीड़िता की फरियाद पर एसओ को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया।
कमालगंज थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी युवती का गांव नगला दाउद के युवक से संपर्क हुआ। युवक ने निकाह का वादा किया। इस पर दोनों साथ रहने को राजी हो गए। कुछ दिन के बाद युवक ने निकाह से मना कर दिया। आरोप है कि इस दौरान युवक ने कई बार दुष्कर्म किया।
निकाह से मना करने का विरोध करने पर युवती को जान से मारने की धमकी दी। युवक के घरवाले भी मारपीट पर आमादा हो गए। 7 दिसंबर को युवक व उसके परिजन उसके घर पहुंचे और युवती को केरोसिन डालकर जिंदा जलाने का प्रयास किया। युवती ने 112 नंबर पर सूचना दी। इस पर पुलिस मौके पर पहुंची। तभी आरोपी आ गए। उन्होंने पुलिस के सामने ही उससे गालीगलौज की। थाने में तहरीर दी, पुलिस ने जांच कर कार्रवाई करने का भरोसा दिया। सोमवार को युवती एसपी डॉ. अनिल मिश्रा से शिकायत करने पहुंची। एसपी ने कमालगंज एसओ को युवक व उसके परिजनों खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं।
... और पढ़ें

एफआईआर दर्ज न होने पर डीएम कार्यालय पर मां-बेटे ने दिया धरना

फर्रुखाबाद। शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव पपियापुर निवासी युवक ने ऋण के लिए बैंक अधिकारियों से परेशान होकर फांसी लगा ली थी। तहरीर के बाद आईजीआरएस पर शिकायत करने के बावजूद पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की। इससे दुखी युवक की मां व भाई ने सोमवार को डीएम कार्यालय गेट पर धरना दे दिया। सीओ ने एफआईआर का आश्वासन देकर उन्हें वहां से हटाया।
गांव पपियापुर निवासी सनी वर्मा व उनकी मां शोभादेवी सोमवार दोपहर कलक्ट्रेट पहुंचे। डीएम के न होने से मां-बेटे गेट पर ही धरना देकर बैठ गए। सनी ने बताया कि उसके छोटे भाई मनीष शर्मा ने प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत पांच लाख रुपये ऋण के लिए आवेदन किया था। सभी कागजात जमा करने के साथ उसे एक माह की ट्रेनिंग भी दी गई। इसके बावजूद ऋण नहीं दिया गया। आर्यावर्त ग्रामीण बैंक के मैनेजर व फील्ड आफीसर से परेशान होकर मनीष ने 26 नवंबर की रात फांसी लगा ली। घटनास्थल पर इंस्पेक्टर को प्रार्थनापत्र दिया, लेकिन मामला दर्ज नहीं किया गया।
29 नवंबर को डाक से प्रार्थनापत्र भेजा। इसके साथ ही आईजीआरएस पोर्टल पर भी शिकायत की, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। फर्जी तरीके से शिकायत का निस्तारण भी कर दिया गया। दो दिसंबर को उसने प्रार्थनापत्र देकर कार्रवाई न होने से नौ दिसंबर को अनशन करने को अवगत करा दिया। इसी क्रम में वह कलक्ट्रेट पहुंचा। वहीं दहाड़े मारकर रो रही मां शोभा देवी कह रही थीं कि उसका जवान बेटा दुखी होकर दुनिया से चला गया, इसके बावजूद पुलिस सुनवाई नहीं कर रही। सूचना पर फतेहगढ़ कोतवाली से दरोगा ने पहुंचकर उन्होंने उठाने का प्रयास किया। बाद में सीओ सिटी ने फोन पर मुकदमा दर्ज कराने का भरोसा दिया। इस पर मां-बेटे डीएम कार्यालय से चले गए।
... और पढ़ें

थाने के पास दो दुकानों से तीन लाख का माल पार

डीएम कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे मां-बेटे। संवाद न्यूज एजेंसी
जहानगंज। थाने से चंद कदम दूर ही दो दुकानों में नकब लगाकर घुसे चोर तीन लाख की नगदी व सामान पार कर ले गए। पुलिस रात में कस्बे में गश्त करती रही और चोर आसानी से वारदात को अंजाम देकर चले गए। सोमवार सुबह सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन की। एसओ ने प्रथम दृष्टया घटना को संदिग्ध बताया है।
फतेहगढ़ कोतवाली क्षेत्र के गांव धंसुआ निवासी विशाल कटियार की थाना जहानगंज से कुछ दूरी पर सरदार पटेल इलेक्ट्रानिक व फर्नीचर की दुकान है। विशाल ने बताया कि वह रविवार रात दुकान बंद कर घर चले गए थे। इसके बाद सोमवार सुबह दुकान पर गए तो पता चला चोरों नें दुकान के पीछे दीवार में नकब लगा दी थी। चोर दुकान से 10 एलईडी टीवी, एक सिलाई मशीन, एक मिक्सर जूसर व गोलक में रखे दस हजार रुपये चुरा कर ले गए। विशाल की दुकान के पड़ोस में खुली प्रिया पैथोलॉजी की दीवार में भी नकब लगाई गई।
यहां से भी चोर लैपटॉप, ब्लड की जांच करने वाली मशीन चुरा ले गए। घटना की जानकारी पर पैथोलॉजी संचालक विमलेश निवासी गांव इकडरिया भी मौके पर पहुंचे। दोनों दुकानों में लगभग तीन लाख नुकसान हुआ है। चोरी की सूचना पर एसओ पूनम जादौन पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचीं। उन्होंने छानबीन की। एसओ पूनम जादौन ने बताया कि एग्जॉस्ट को हटाकर चोरों के घुसने का दावा दुकान मालिक की ओर से किया जा रहा है। उस एग्जॉस्ट लगे स्थान की नाप करवाई गई। एसओ ने बताया कि उस स्थान से एक छोटा बच्चा ही अंदर घुस सकता है। कोई बड़ा उस जगह से अंदर नहीं जा सकता है।
नेकपुर में पुल के नीचा होने से बिजली लाइन भी नीची कर निकाली गई। संवाद न्यूज एजेंसी
नेकपुर में पुल के नीचा होने से बिजली लाइन भी नीची कर निकाली गई। संवाद न्यूज एजेंसी- फोटो : FARRUKHABAD
... और पढ़ें

लोहिया अस्पताल में फुंकी केबल, अंधेरे में मरीज

फर्रुखाबाद। डॉ. राममनोहर लोहिया अस्पताल में 24 साल पहले पड़ी इलेक्ट्रिक मुख्य लाइन की केबलें फुंकने से पूरे अस्पताल में अंधेरा फैला है। खुदाई में केबलें पूरी तरह जल चुकी हैं। अब अस्थायी रूप से बिजली चालू करने की कवायद की जा रही है। हालांकि केबल डालने में दो-तीन दिन लगेेंगे। ओपीडी में डाक्टरों को दिन भर अंधेरे में ही काम करना पड़ा। मरीज भी अंधेरे में रहे।
डा. राममनोहर लोहिया पुरुष अस्पताल में 210 बेड हैं। रविवार देर शाम अस्पताल की बिजली गुल हो गई। रात भर बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हुई। रविवार होने की वजह से किसी ने ध्यान नहीं दिया। सुबह जब अस्पताल की ओपीडी खुली, तब भी आपूर्ति ठप थी जबकि इमरजेंसी समेत अन्य वार्डों में बिजली आ रही थी। अस्पताल के इलेक्ट्रिक प्रभारी डॉ. श्रेय खंडूजा ने संबंधित क्लर्क मायापति चतुर्वेदी के साथ लाइनों को चेक कराया। पता चला कि पावर रूम से जो केबलें अस्पताल में आ रही हैं, उनमें ही पावर नहीं आ रहा। इसके बाद ठेकेदार के श्रमिक बुलवाकर खुदाई शुरू करवाई गई। खुदाई में जेनरेटर और बिजली की केबलें राख की तरह निकलीं।
चूंकि यह केबलें 1995 में चालू की गई थीं और उस समय अस्पताल का लोड काफी कम था। अब तमाम मशीनें और एसी लगने से लोड तीन गुना बढ़ गया है। इसी के चलते केबलें फुंक गईं। देर शाम तक केबलों की पूरी खुदाई तक नहीं हो सकी थी। माना जा रहा है कि केबलें अस्पताल के अंदर तक फुंकी हैं। इससे दो-तीन दिन से कम नहीं लगेंगे। हालांकि देर शाम तक अस्पताल की आपूर्ति अस्थायी रूप से शुरू करने की जुगाड़ की जा रही थी।
सिटी मजिस्ट्रेट के हड़काने पर काम ने पकड़ी गति
सिटी मजिस्ट्रेट रत्नप्रिया को सुबह फोन करके बिजली गुल होने की किसी ने सूचना दे दी। इस पर वह करीब सवा दस बजे अस्पताल जा पहुंचीं। उनके पहुंचते ही अस्पताल में हड़कंप मच गया। सिटी मजिस्ट्रेट ने प्रभारी सीएमएस डॉ. एसपी सिंह से वार्ता की। उन्होंने डॉ. श्रेय खंडूजा को बुलाकर मौके पर पड़ताल की। इसके बाद ही काम ने तेजी पकड़ी। वरना अस्पताल प्रशासन चुप्पी साधे था।
‘जेनरेटर और बिजली की केबलें पास-पास पड़ी थीं। लिहाजा दोनों ही फुंक चुकी हैं। उन्हें डालने में दो-तीन दिन लग सकते हैं। अस्थायी बिजली चालू करने का प्रयास किया जा रहा है। काम तेजी से करवा रहे हैं।’
-डा. एसपी सिंह, प्रभारी सीएमएस।
... और पढ़ें

मुकदमे की पैरवी में आए किसान की मौत

कायमगंज। सोमवार को एसडीएम कोर्ट में मुकदमे की पैरवी में आए किसान की तहसील परिसर में गिरकर मौत हो गई।
नवाबगंज थाना क्षेत्र के गांव सलेमपुर त्योरी निवासी 70 वर्षीय गजराज सिंह सोमवार दोपहर एसडीएम कोर्ट में टेंपो से मुकदमे की पैरवी में आए थे। कोर्ट से तारीख लेने के बाद वह तहसील परिसर में खड़े हो गए। कुछ देर बाद वह बाथरूम की ओर बढ़े तभी गश खाकर वहीं गिर पड़े। चौकी प्रभारी दिनेश भारती ने लोगों की मदद से उन्हें सीएचसी पहुंचाया।
वहां डॉ. शिवप्रकाश ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूचना पर उनके छोटे पुत्र व अन्य परिजन सीएचसी पहुंचे। पुत्र रिषीपाल ने बताया उनके चाचा ने 4 वर्ष पहले गांव के पास उनके हिस्से की 12 डिसमिल भूमि पर बाउंड्रीवाल बनाकर कब्जा कर लिया है। इसके बाद से भूमि बंटवारे का मुकदमा चल रहा है। गजराज के दो और भाई हैं। गांव के पास उनकी इतनी ही भूमि थी। इस लिए पिताजी परेशान रहते थे। मुकदमे की पैरवी करते हुए वह थक चुके थे। इसी गम में अचानक उनकी मौत हो गई है। यदि कोई सरकारी मुआवजा मिलेगा तो पोस्टमार्टम कराएंगे।
... और पढ़ें

लोहिया की ओपीडी में डाक्टर कम, मरीज ज्यादा

फर्रुखाबाद। डा. राममनोहर लोहिया अस्पताल की ओपीडी में सोमवार को मरीजों की भीड़ रही वहीं डाक्टर के नदारद होने से उन्हें खासी परेशानी हुई। ओपीडी में सिर्फ फिजीशियन डॉ. प्रज्ञा मिश्रा के होने से मरीजों के भीड़ उधर ही मुड़ गई। इससे कई बार धक्कामुक्की की नौबत भी आ गई।
रविवार के अवकाश के दूसरे दिन सोमवार को हर बार ओपीडी में मरीजों की संख्या ज्यादा रहती है। इसी दिन दिव्यांगों के प्रमाण पत्र बनाने के लिए तीन डाक्टरों नेत्र रोग विशेषज्ञ, ईएनटी सर्जन और हड्डी रोड विशेषज्ञ को उस बोर्ड में जाना होता है। कुछ डाक्टर अवकाश पर भी होते हैं। ऐसे में ओपीडी की व्यवस्था चरमरा जाती है। सोमवार को भी तीनों डाक्टरों को बोर्ड में भेज दिया गया, जबकि सीएमएस/वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. अशोक कुमार वीडियो कांफ्रेंसिंग में चले गए। लिहाजा एक साथ ओपीडी में चार डाक्टरों की कमी का खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ा।
सुबह से ही फिजीशियन डॉ. प्रज्ञा मिश्रा के कक्ष में तमाम मरीज आ गए। कई बार धक्कामुक्की की नौबत भी आई। हालांकि बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. एसपी सिंह ने काफी तेजी से मरीजों को देखा और फिर ओपीडी में व्यवस्था देखने चले गए। प्रभारी सीएमएस डॉ. एसपी सिंह ने बताया कि बोर्ड में तीन डाक्टरों को जाना ही होता है। मरीज भी कुछ ज्यादा होते हैं। लिहाजा बचे डाक्टरों पर लोड बढ़ जाता है। मरीजों को कुछ धैर्य से काम लेना चाहिए।
... और पढ़ें

रोडवेज बस में मिला नवजात बच्ची का शव

फर्रुखाबाद। एक रोडवेज बस में नवजात बच्ची का शव बरामद हुआ। इससे तमाम यात्रियों की देखने के लिए भीड़ लग गई। कादरीगेट चौकी प्रभारी ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा है।
फर्रुखाबाद डिपो की बस दिल्ली से रविवार सुबह दस बजे रोडवेज बस स्टेशन पर पहुंची। परिचालक मेरापुर थाना क्षेत्र के गांव सींगनपुर निवासी विपम कुमार पुत्र प्रकाश चंद्र सवारियों के उतरने के बाद बंदर घुसने से उन्हें भगाने को बस में पीछे की तरफ गए। उन्होंने झांककर देखा, तो पीछे की सीट से आगे तीन सवारी वाली सीट के नीचे काले स्वेटर की पोटली रखी थी।
परिचालक ने खोलकर देखा, तो उसमें एक नवजात बच्ची का शव था। सूचना मिलते ही कादरीगेट चौकी प्रभारी बलराज भाजी पहुंचे। उन्होंने शव पोस्टमार्टम को भेजा। परिचालक ने बताया कि वह दिल्ली से 40 सवारियां लेकर चले थे। एटा में सभी महिला सवारी उतर गईं। फर्रुखाबाद तक 16 सवारियां आईं। इनमें एक भी महिला नहीं थी। माना जा रहा है कि रास्ते में उतरी किसी महिला ने ही ये काम किया है।
... और पढ़ें

सपा ने रेप पीड़िता की आत्मा की शांति को रखा मौन

फर्रुखाबाद। उन्नाव में रेप पीड़िता की मौत के बाद शोक की लहर है। सपा ने दो मिनट का मौन रखकर उसकी आत्मा की शांति को भगवान से प्रार्थना की। अनुसूचित जाति-जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सर्वेश अंबेडकर ने कहा कि देश और प्रदेश शर्मसार है। कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गई है।
आवास विकास स्थित पार्टी कार्यालय पर उन्नाव रेप पीड़िता के निधन पर उसकी आत्मा की शांति के लिए शोकसभा हुई। इसमें सपा अनुसूचित जाति जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सर्वेश अंबेडकर ने कहा, उन्नाव की घटना ने देश व प्रदेश को शर्मसार कर दिया। प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त है। वर्तमान सरकारों ने भय का माहौल बना रखा है। अपराधी बेखौफ और जनता भयभीत है। निवर्तमान जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फारुकी ने कहा कि ऐसी घटनाओं से हम सब बहुत व्यथित व दुखी हैं।
सतीश दीक्षित ने कहा कि ईश्वर पीड़ित परिजनों को असहनीय कष्ट सहने की क्षमता प्रदान करे। वरिष्ठ नेता महेंद्र सिंह कटियार ने कहा कि प्रदेश सरकार घटनाओं को रोकने में नाकाम है। यदि समय से आरोपियों को सजा मिली होती, तो बच्ची को अपना जीवन न गंवाना पड़ता। सभी ने मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजिल दी। शोकसभा में निवर्तमान जिला महासचिव मंदीप यादव, रामानंद प्रजापति, पुष्पेंद्र यादव, रजत क्रांतिकारी, सुनील यादव, खुर्शीद अहमद, कर्मवीर सिंह यादव मौजूद रहे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election