विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: संक्रमितों की संख्या 100 से ज्यादा, सभी दौरे स्थगित कर लखनऊ रवाना हुए सीएम योगी

देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों से अच्छी और कहीं से बुरी खबरें आ रही हैं। मंगलवार सुबह बरेली में पांच नए मरीज मिले हैं जिनके बाद सूबे में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 102 हो गई है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

फतेहपुर

मंगलवार, 31 मार्च 2020

खचाखच भर कर दिल्ली से आईं बसें

फतेहपुर। लॉकडाउन के चलते दिल्ली और हरियाणा से घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों के लिए लगीं रोडवेज की बसों में भीड़ का रेला दिखाई दिया। रविवार को दिल्ली से दोपहर तक आठ बसें आ चुकी थीं। इनमें करीब साढ़े बारह सौ लोग थे। बांदा और प्रयागराज भेजी गईं बसों में पैर रखने की जगह नहीं थी। यही हाल दिल्ली से लौट रही बसों में भी देखने को मिला। सारी बसों मेें सामाजिक दूरी की बात बेमानी नजर आई।
कोरोना वायरस के बाद प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए लगाई गईं रोडवेज की बसों में भीड़ का आलम रहा। जिसे साधन मिल रहा है उस पर सवार हो रहा है। जिसे नहीं मिल रहा है, वह पैदल ही गांवों की तरफ चल पड़ा है। रविवार को दिल्ली से दोपहर तक आठ बसें आ चुकी थीं। इन पचास सीटर बस में किसी में 80 यात्री सवार थे तो किसी में 90। आपाधापी का माहौल कुछ ऐसा देखा गया कि महिलाएं और बच्चों को नीचे बैठकर यात्रा को मजबूर होना पड़ा। कमोबेश यही हाल बांदा और प्रयागराज गईं रोडवेज की बस में दिखा। इन बसों के लगने के कुछ देर बाद ही चालक को बस स्टाप से गाड़ी निकालनी पड़ गई। भीड़ इतनी बढ़ गई थी कि अंदर कदम रखने को जगह नहीं थी। एक अनुमान के मुताबिक आठ बस में करीब साढ़े 12 सौ प्रवासी मजदूर सवार होकर आए। इस मामले में एआरएम ने बताया कि रविवार की सुबह बांदा और प्रयागराज के लिए मांग के अनुरूप एक-एक बस को दौड़ाया गया। 25 बसें कानपुर भी भेजी गईं। 37 बसें दिल्ली-गाजियाबाद भेजी गई थीं। इनमें से दोपहर साढ़े तीन बजे तक आठ बसें लौट चुकी हैं। साथ ही माना कि सबको जल्दी होने की वजह से सीटिंग प्लान धरा रह गया।
फतेहपुर। कोरोना के खतरे से निपटने की जारी कोशिशों के बीच 270 लोग खाड़ी देशों समेत अन्य स्थानों से लौट चुके हैं। इनमें से दो यात्रियों को शंका के आधार पर ब्लड सैंपल लेकर भेजा गया था। रिपोर्ट निगेटिव रही। 23 यात्रियों ने 28 दिन का एकांतवास पूरा कर लिया है। सेल के प्रभारी डॉ. केके श्रीवास्तव बताते हैं कि जो 50 नाम हमारे लिए चुनौती बने हैं। पासपोर्ट में दिए गए पते के आधार पर खोजबीन की जाती है। कई मोबाइल नंबर ऐसे रहे जो मिलाने पर स्वीच आफ बता रहे हैं।
फतेहपुर। दिल्ली और गाजियाबाद से लौट रहे प्रवासी मजदूरों की जांच का काम रविवार को नऊवाबाग बाईपास पर किया गया। चिकित्सकों की टीम ने शहर की सीमा पर कदम रखने वालों की स्क्रीनिंग की। यहीं से उन्हें हरी झंडी मिलती रही। इस व्यवस्था के लागू होने से सदर अस्पताल के फीवर हेल्थ डेस्क का लोड कम रहा।
--------
... और पढ़ें

लॉकडाउन के लिए शुरू हुआ रामायण व महाभारत

फतेहपुर। एक दौर था जब दूरदर्शन पर रामायण और महाभारत जैसे एपीसोड के शुरू होते ही चौतरफा खुद ब खुद लॉकडाउन हो जाता था, अब शनिवार की सुबह लॉकडाउन कराने के लिए इसका प्रसारण दूरदर्शन पर शुरू कराया गया है। हालांकि पहले दिन लोग इतने संजीदा नहीं दिखे, क्योंकि कई परिवारों में सीरियल दोबारा प्रसारित किए जाने की सूचना ही नहीं थी। वहीं डीडी-2 पर दोपहर बारह से एक बजे तक महाभारत भी शुरू हुआ।
तीन दशक पहले 1988 तक 74 एपीसोड वाले रामायण के प्रसारण के समय लोग कामकाज छोड़कर टीवी के सामने पहुंच जाते थे। सड़कों पर सन्नाटा खिंचा देखकर लोगों को पता चल जाता था कि सीरियल शुरू हो चुका है। शनिवार को सीरियल का पहला दिन होने के बावजूद काफी घरों में यह उसी दिलचस्पी से देखा गया। 1988 में रामायण सीरियल खत्म होने के बाद महाभारत का प्रसारण शुरू हुआ था। इसे भी दर्शकों ने खासा तवज्जो दिया था।
दोनों सीरियलों की लोकप्रियता को देख इसका उपयोग लॉकडाउन में स्वस्थ मनोरंजन के लिए किया गया है। सीरियल के दोनों समय ऐसे में है, जिनमें बहुतायत लोग सड़कों और बाजारों में दिखाई पड़ते हैं। उधर, चौडगरा में एपीसोड शुरू होने के ठीक समय बिजली कट गई। युवा विकास समिति के जिला प्रवक्ता आलोक गौड़ ने इसकी शिकायत ट्विटर पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से की है। अवर अभियंता कल्लूराम यादव का कहना है कि ग्रामीण इलाकों में 18 घंटे बिजली देने का नियम है। सुबह नौ बजे 18 घंटा पूरा हो जाने से बिजली काटी गई।
... और पढ़ें

विदेश से लौटे पचास लोग अभी भी लापता

फतेहपुर। कोरोना संक्रमण के खतरे को टालने में जुटे स्वास्थ्य महकमे के लिए विदेश यात्रा कर लौटे 50 लोग परेशानी का सबब बने हैं। यह लोग ढूंढे नहीं मिल रहे हैं। इनमें किसी का मोबाइल नंबर काम नहीं कर रहा है तो किसी का पता गलत है। राज्य सर्विलांस इकाई की तरफ से अभी तक जिला सर्विलांस इकाई को विदेश यात्रा से लौटने वाले 266 लोगों की सूची सौंपी है। अब तक की कवायद में 23 यात्रियों ने 28 दिन का घर में एकांतवास पूरा कर लिया है। 164 ऐसे हैं जो एकांतवास के 14 दिन का वक्त गुजार चुके हैं। सेल प्रभारी डॉ. केके श्रीवास्तव बताते हैं कि जो 50 नाम हमारे लिए चुनौती बने हैं। उनमें नौ नाम दूसरे जिलों के रहने वालों के हैं। पासपोर्ट में दिए गए पते के आधार पर खोजबीन की जाती है। कई मोबाइल नंबर स्विच ऑफ बता रहे। ... और पढ़ें

लॉकडाउन: पायन का सच उगल रहा तिरहार

फतेहपुर। लॉकडाउन से उबरने में जिले की बेरोजगारी व विकास के दावों की सही तस्वीर भी सामने आ रही है। खासकर तिरहार के गांवों में महानगरों से पलायन कर आने वालों का मंजर देखते बन रहा है। विभिन्न प्रांतों की सीमाएं सील होने के बावजूद मजदूर, कर्मचारी पैदल ही अपने गांवों को पहुंच रहे हैं। हाईवे किनारे, बस अड्डे पर जमा ज्यादातर लोगों से बस यही कहते सुना गया कि ‘अपने यहां काम मिले तो बाहर जाने की जरूरत ही क्या है’।
बहुआ ब्लाक के गाजीपुर की आबादी करीब सात हजार है। यहां हर चौथे-पांचवे घर का कोई न कोई सदस्य मुंबई और दिल्ली कमाता है। 48 घंटे के दौरान गांव में 35 लोग आ चुके हैं। इसी ब्लाक के एकारी गांव की आबादी पांच हजार है। यहां पर 24 घंटे में ही 50 लोग महानगरों से लौट कर आए हैं। खजुहा ब्लाक के धौरहरा गांव का भी कमोबेश यही हाल है।
कोरोना के संक्रमण को लेकर उठाए जा रहे कदमों के बाद इस गांव की बेरोजगारी की असलियत एक बार फिर सरेआम हो गई। यह ऐसे गांव हैं जहां होली, दीपावली में ही पुरुष नजर आते हैं। बाकी दिनों में बुजुर्ग, बच्चे और महिलाएं ही दिखाई पड़ती हैं। बदले हालात ने इस गांव के मिथक को तोड़ दिया है। बहुआ ब्लाक के ललौली कस्बे के 80 फीसदी लोग मुंबई और सऊदी में काम करते हैं। सोमवार को इस बड़े गांव में 34 लोग दाखिल हो चुके थे।
केंद्र सरकार के सख्त होने का असर सोमवार को शहर की सड़कों पर दिखा। हाईवे पर पुलिस तैनात रही। दो चार के गुट में दिखने वाले लोगों को रोक कर उन्हें स्क्रीनिंग के लिए मुफीद जगह पहुंचाने का काम करती रही। नऊवाबाग समेत सात जगह पर प्रवासी मजदूरों की स्क्रीनिंग की गई। सदर अस्पताल के फीवर हेल्थ डेस्क में पूरी ओपीडी के दौरान लंबी लाइनें लगीं रहीं।
कोरोना वायरस के खौफ ने अपनों के व्यवहार को बदल कर रख दिया है। जो बेटा कमाऊपूत था, अब उसे घर में प्रवेश देने से पहले तरह तरह के सवाल किए जा रहे हैं। कई गांवों में महानगरों से गांव मजदूरों को अंदर घुसने से रोका जा रहा है। इन्हें पहले स्वास्थ्य जांच कराने को कहा जा रहा है उसी के बाद गांव में दाखिला मिल रहा है। कहींलौटने वाले को ट्यूबवेल में रखा जा रहा है तो किसी को गरम पानी से नहलाने के बाद घुसने की इजाजत दी जा रही है।
केंद्र सरकार की सख्ती के बाद जिले की सारी सीमाओं को सील कर दिया गया। इन सीमाओं पर पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती की गई। कई कई थाना का फोर्स लगाया गया ताकि किसी लोगों को समझा बुझाकर लॉकआउट का फालो कराया जा सके। खुद एसडीएम और डीएसपी भी लगातार इन प्वाइंट की हकीकत से वाकिफ होते रहे। जिन लोगों के पास है या एंबुलेंस में मरीज है। इन्हीं को इंट्री दी जा रही है। अगर किसी वाहन में भी मरीज है तो उसे जाने दिया जा रहा है।
... और पढ़ें

थरियांव सीएचसी को बनाया कोविड हास्पिटल

फोटो- मॉकड्रिल करता स्टाफ
थरियांव सीएचसी को बनाया कोविड हॉस्पिटल
- लेबल वन श्रेणी के इस हास्पिटल में तीस संक्रमित किए जा सकते हैं भर्ती
- विदेश यात्री या इनके संपर्क में आए शख्स को ही रख कर किया जाएगा इलाज
संवाद न्यूज एजेंसी
फतेहपुर। जिला स्तर पर महामारी से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पूरी तरह से कमर कस ली है। कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए थरियांव सीएचसी (सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र) को अत्याधुनिक संसाधनों से लैस कर कोविड हास्पिटल में तब्दील कर दिया गया है। इस हास्पिटल में कोरोना पॉजिटिव मरीजों को ही भर्ती किया जा सकेगा। सीएचसी के व्यवस्थित संचालन को डॉक्टर, नर्स समेत 50 की संख्या में पैरामेडिकल स्टाफ लगाया गया है। स्टाफ को दो भागों में रखा गया है। इन्हें 14-14 दिन की निर्बाध ड्यूटी करनी होगी।
जिस तरह से कोरोना वायरस फैलता जा रहा है, उससे जिले स्तर पर भी कोविड हास्पिटल तैयार कर लिया गया है। शहर से 24 किलोमीटर दूर स्थित इस कोविड हास्पिटल में फिलहाल 30 कोरोना संक्रमित मरीजों के भर्ती कर उनका इलाज करने की व्यवस्था है। थरियांव में बनी सीएचसी में जगह इतनी है कि यहां पर 60 बेड तक की व्यवस्था आराम से हो सकती है। कोरोना संक्रमित व्यक्ति को 28 दिन भर्ती रखना है, ऐसे में आधा सैकड़ा कार्मिक वाले इस अस्पताल के स्टाफ को दो हिस्सों में बांटा गया है। प्रत्येक हिस्से को 14-14 दिन की ड्यूटी देनी होगी। जिला महामारी विज्ञानी डॉ. अदुल्ल्ला ने बताया कि कोविड हास्पिटल के लिए थरियांव सीएचसी मुफीद रही। इस हास्पिटल में वही रखा जाएगा जिसका रिजल्ट पॉजिटिव होगा। अभी तक जिला सर्विलांस टीम को 270 विदेश यात्रियों के लौटने की सूची आ चुकी है। इनमेें से 41 का पता नहीं चल पा रहा है। एक जर्मनी और एक इंफाल से लौटे युवक का संशय के आधार पर ब्लड सैंपल लखनऊ भेजा गया जो निगेटिव रहा।
इनसेट-
मॉकड्रिल में कोरोना संक्रमित से जूझता दिखा स्टाफ
फतेहपुर। थरियांव सीएचसी में तैयार किए गए कोविड हास्पिटल के स्टाफ को रविवार रिहर्सल कराया गया। जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. केके श्रीवास्तव और जिला महामारी विज्ञानी डॉ. अब्दुल्ला की मौजूदगी में कोविड हास्पिटल के समूचे स्टाफ को पीपीई किट के बारे में बारीकी से जानकारी दी गई। मसलन, किट को किस तरह से पहनना है किस तरह से उतारना। ऐसा करते वक्त सचेत रहने को कहा गया। रिहर्सल के दौरान एंबुलेंस से लाए गए मरीज को बेड तक पहुंचाने से लेकर दवाएं देने का प्रयास काबिलेगौर रहा।
... और पढ़ें

एंबुलेंस खड़े ट्रक से भिड़ी, चालक की मौत

फतेहपुर। औंग थाना क्षेत्र के दुर्गागंज के पास सोमवार तड़के खड़े ट्रक में पीछे से एंबुलेंस जा घुसी। हादसे में एंबुलेंस चालक की मौत हो गई। साथी की हालत गंभीर है।
फरीदाबाद की प्राइवेट एंबुलेंस भोर पहर इलाहाबाद की तरफ से लौट रही थी। एंबुलेंस जैसे ही दुर्गागंज के पास पहुंची फुटपाथ पर खड़े ट्रक के पीछे जा भिड़ी। जोरदार भिड़ंत के चलते एंबुलेंस ट्रक के चेचिस में फंस गई। सूचना पर पहुंची औंग पुलिस ने क्रेन की मदद से एंबुलेंस को बाहर निकलवाया। इसके बाद दोनों घायलों को 108 एंबुलेंस पीएचसी गोपालगंज भेजा गया। हालत गंभीर होने के कारण जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया।
जिला अस्पताल में चालक की मौत हो गई। ड्राइविंग लाइसेंस में चालक का नाम मुकेश(26) पुत्र दिलीप चंद्र निवासी फरीदाबाद लिखा है। घायल की शिनाख्त नहीं हो पाई है। चालक का शव जिला अस्पताल की मर्च्युरी में सुरक्षित कराया गया है। पुलिस ने दुर्घटना की सूचना फरीदाबाद पुलिस को भेजी है। अभी तक परिजन नहीं आए हैं। थानेदार एनके नागर ने बताया कि अभी दुर्घटना से संबंधित जानकारी के लिए किसी ने पुलिस से संपर्क नहीं किया है।
... और पढ़ें

डीएम ने रोजमर्रा की वस्तुओं का तय किए दाम

फतेहपुर। लॉकडाउन में रोजमर्रा की वस्तुओं को कई दुकानदार मनमाने दाम पर बेच रहे हैं। इस पर अंकुश लगाने को डीएम स्तर से जरूरी वस्तुओं के दाम तय कर दिए हैं। इनसे अधिक दाम लेने पर दुकानदारों पर कार्रवाई की जाएगी।
डीएम संजीव सिंह के निर्देश पर अरहर की दाल 90 से 100 रुपये प्रति किलो बेचने को कहा गया है। इसी प्रकार चना की दाल को 65 से 70 रुपये, मूंग की दाल 110 रुपये किलो, मसूर की दाल 65 से 70 रुपये, आटा 28 रुपये प्रति किलो, चावल मोटा 25 रुपये प्रति किलो, पिसी हल्दी, पिसी मिर्च, पिसी धनिया, माचिस की पैकेट, नमक के पैकेट में एमआरपी से अधिक दाम न लेने को कहा गया है। चीनी 38 रुपये किलो, राजमा 90 से 110 रुपये, सरसों का तेल 105 से 110 रुपये किलो, बेसन 100 रुपये, आलू 25 रुपये, प्याज 30 रुपये, टमाटर 25 रुपये किलो, दूध 50 रुपये लीटर, दही 70 रुपये किलो, पनीर 250 रुपये किलो, मैदा 32 रुपये, उरद की दाल 150 रुपये, लहसुन 80 रुपये किलो, अदरक 70 रुपये किलो, हरी मिर्च 100 रुपये किलो, बंद गोभी 30 रुपये, फूलगोभी 40 रुपये, बैंगन 20 रुपये किलो, लौकी 30 रुपये किलो, टमाटर 80 और भिंडी 60 रुपये किलो के फुटकर मूल्य तय किए हैं। डीएम ने निर्देश जारी किया है इससे अधिक दाम में रोजमर्रा की वस्तुओं को बेचने वाले दुकानदारों पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

जेल से 60 बंदी जमानत पर रिहा

फतेहपुर। कोरोना संक्रमण के चलते जिला कारागार प्रशासन ने सोमवार को साठ विचाराधीन बंदियों को आठ सप्ताह के पैरोल पर घर भेज दिया। रिहा किए गए बंदियों में दो बिहार प्रांत के रहने वाले हैं। प्रशासन ने सात साल के अंदर की सजा के प्रावधान वाले 100 बंदियों की पैरोल सूची तैयार की थी। इनमें से शासन ने 60 बंदियों को रिहा करने का आदेश दिया है। रिहा बंदियों में आगरा, लखनऊ, कानपुर नगर, कानपुर देहात, उन्नाव के रहने वाले हैं। जेल अधीक्षक विनोद कुमार सिंह ने बताया कि जेल की क्षमता 690 की है। वर्तमान में 1350 लोग बंद हैं। इनमें सोमवार को 60 को आठ सप्ताह के पैरोल पर रिहा कर दिया गया है। शासन का आदेश मिलने पर वेटिंग सूची में शामिल 40 को रिहा कर दिया जाएगा। ... और पढ़ें

भारी पड़ रहे छूट के चार घंटे

फतेहपुर। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं की पूर्ति को जनता को दी गई मोहलत भारी पड़ रही है। खासकर सुबह छूट के चार घंटे में सामाजिक दूरी बनाए रखने के सारे नियम टूट जा रहे हैं। सब्जी और किराना की दुकानों पर लोग ऐसे जुट रहे जैसे उन्हें मिलेगा ही नहीं।
कोरोना संक्रमण के फैलते जबड़े से जनता को बचाने के लिए 25 मार्च से 21 दिन का लॉकडाउन किया गया है। जनता को रोजमर्रा की जरूरतों के लिए दिक्कत से बचाने के लिए सुबह छह बजे से 10 बजे तक का वक्त सब्जी और किराना खरीदने के लिए तय किया गया है। प्रशासन ने घर पर सामान पहुंचाने की व्यवस्था कर रखी है। गलियों में ठेले भी जा रहे हैं, इसके बावजूद जनता का धैर्य जवाब दे रहा है। कुछ लोग यह समझने की कोशिश ही नहीं
कर रहे हैं कि इस तरह से बाहर बिताया जाना वाला कुछ देर का समय उनके और उनके परिवार के लिए कितना घातक हो सकता है। सोमवार को पत्थरकटा, आईटीआई रोड, लाला बाजार में सब्जी खरीदने के दौरान एक मीटर के खींची गई लक्ष्मणरेखा को हर कोई पार करता दिखा। ऐसा ही हरिहरगंज ओवरब्रिज के नीचे और पीएसी रोड में भी देखने को मिला। लोग, पहले की तरह एक दूसरे से सटकर सब्जी और किराना का सामान खरीदते रहे। तमाम लोग ऐसे भी इस हुजूम में थे, जिन्होंने मॉस्क नहीं पहन रखा था।
फतेहपुर। आवश्क वस्तुओं की पूर्ति के लिए प्रशासन स्तर से 136 दुकानों को खोले जाने की अनुमति दी गई है। इसके बावजूद तमाम दुकानें बिना अनुमति के संचालित हो रही हैं। और तो और जिन दुकानों को आवश्यक वस्तुओं के दायरे में भी नहीं रखा गया है, वह भी सोमवार को खुली नजर आई। दाम भी मनमाने वसूले जा रहे हैं। सोमवार को सिविल लाइंस में फोटोकॉपी, पथरकटा, लालाबाजार, हरिहरगंज में कुछ दुकानों को आधा खोलकर कारोबार किया गया।
जाफरगंज। लॉकडाउन का फायदा दुकानदार उठा रहे हैं। परचून की दुकान का फुटकर सामान दोगुने रेट में बिक रहा है। कस्बा के अलावा मांझेपुर, उमरिहा, डिघरुवा, देवरी, मऊदेव, जोनिहा, सहिबाजपुर, भवानीपुर, फरीदपुर में बाजार लगती है। यहां गृहस्थी के सामान का दाम दोगुना हो गया है।
विजयीपुर। डीएम के निर्देश पर ब्लाक क्षेत्र के प्रधानों ने ग्राम पंचायत में मुनादी कराई। इसमें अन्य प्रांत से आने वाले लोगों को 14 दिन तक घरों में रहने की अपील की। गोदौरा प्रधान शिवपत सिंह, बरौलिया के जगरुप पाल, सरौली के अतुल सिंह, बरैंची के शिवपूजन सिंह यादव, विजयीपुर की विषमा पासवान ने अपनी ग्राम पंचायत में मुनादी कराई है।
----------------------
... और पढ़ें

बीते तीन महीना के औसत में आएगा अप्रैल का बिल

फतेहपुर। कोरोना के बढ़ते असर को देखते हुए बिजली उपभोक्ताओं के अप्रैल का बिल बीते तीन माह की औसत खपत के आधार पर बनाए जाएंगे। मीटर रीडर उपभोक्ताओं के यहां रीडिंग लेने नहीं जाएंगे। अधीक्षक अभियंता
आनंद प्रकाश शुक्ल ने बताया कि कोरोना का प्रभाव रोकने के लिए भारत सरकार की ओर से किए गए लॉकडाउन के अनुपालन में अप्रैल में फील्ड रीडिंग का काम स्थगित रहेगा। सभी बिल तीन माह के औसत उपभोग के आधार पर बनाए जाएंगे और उपभोक्ताओं को भुगतान के लिए विभागीय वेबसाइट penergy.in/uppcl पर उपलब्ध होंगे। बिल उपभोक्ता के पंजीकृत मोबाइल फोन पर एसएमएस व ई-मेल पर भी उपलब्ध होंगे। अधीक्षण अभियंता ने कहा है कि उपभोक्ता अपना बिल ऑनलाइन भुगतान करें। उन्होंने कहा कि अप्रैल के बिल नॉट रीडिंग (एनआर) आधारित होंगे और अगले बिलिंग के समय रीडिंग आधारित होगा। पूर्व में जमा बिल स्वत: समायोजित हो जाएगा। बिलिंग एजेंसियों को निर्देश दिए गए हैं कि लॉकडाउन की अवधि में कोई भी मीटर रीडर उपभोक्ता के परिसर पर रीडिंग के लिए नहीं जाएगा।
... और पढ़ें

बाहरी भीड़ उमड़ने पर कंट्रोल रूम के नंबर बढ़े

फतेहपुर। गैर प्रांतों से घर वापसी करने वाले मजदूरों के चलते जनपद के कोने-कोने में भीड़ बढ़ गई है। इससे लॉकडाउन के नियम का पालन हर जगह नहीं हो पा रहा है। जन सुविधाओं को बढ़ाने और आमजन की शिकायतों पर क्विक रेस्पांस के लिए जिला मुख्यालय से विकास खंडों तक तत्काल प्रभाव से कंट्रोल रूम खोलकर उनके नंबर सार्वजनिक किए गए हैं। जिलाधिकारी संजीव सिंह ने बताया कि इससे लोग अपने नजदीकी कार्यालय से मदद मांग सकेंगे। अलग-अलग तरह की परिस्थिति के लिए अलग-अलग तरह के नंबर दिए गए हैं। जो इस तरह से हैं।
कोविड-19 के संबंध में :-
जिला मुख्यालय- 9454417863, 05180-223012
सदर तहसील - 7900429722
खागा तहसील - 9235223822
बिंदकी तहसील - 05180- 257545
नगर पालिका फतेहपुर - 7497960105
नगर पालिका बिंदकी - 9628531537, 8577076026
..............................
खाद्य आपूर्ति के संबंध में :-
जिला मुख्यालय- 9415687740
सदर तहसील - 9454417860
खागा तहसील- 9454417878
बिंदकी तहसील - 9935983621
नगर पालिका फतेहपुर- 9415687740, 8004642454
नगर पालिका बिंदकी- 6393160130, 9415687740
...................................
पुलिस सहायता के लिए :- 9454403359
बाहर से आने वाले व्यक्तियों के संबंध में - 9454417876
..........
कंट्रोल रूम नोडल :-
9454417873, 9839853688, 9415439219, 8299839226, 800464254, 8859825787
.......
अपर जिलाधिकारी - 9454417589
..........
आपदा प्रबंधन से संबंधित - 9721232483, 7800198000
..................................
ब्लाकों के कंट्रोल रूम नंबर
ब्लाक - नंबर
................................................
तेलियानी - 6392791117
हसवा - 7275406330
बहुआ - 9838820439
असोथर - 9452421550
भिटौरा - 7380694269
मलवां - 9307103390
खजुहा - 9005196353
अमौली - 8756284248
देवमई - 9889575206
ऐरायां - 7398232375
हथगाम - 7985392300
विजयीपुर - 7985703018
धाता - 7565066551
.......................................................
नगर पंचायत/पालिका कंट्रोल रूम के नंबर
...................................................................
फतेहपुर - 7497960105
बहुआ - 8957899127
बिंदकी - 9628531537
जहानाबाद - 9125379651
खागा - 9452160280
किशनपुर - 9838909050
हथगाम - 6306689609
==========================
... और पढ़ें

सीओ दफ्तर के पास सेक्स रैकेट के संचालन की भनक पर छापा

फतेहपुर। सीओ सिटी दफ्तर के पास रविवार दोपहर पुलिस ने एक मकान में सेक्स रैकेट के संचालन की सूचना पर छापा मारा। मौके से दो लड़कियों और दो युवकों को पकड़ा गया। मकान के पीछे की दीवार फांदकर भाग रहे दो लोगों इलाकाई लोगों ने पकड़ लिया, लेकिन दोनों किसी तरह भीड़ के चंगुल से भाग निकले। कोतवाली पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुटी है।
कोतवाल रवींद्र श्रीवास्तव ने बताया कि शहर कोतवाली क्षेत्र के रानी कालोनी रोड पर एक मकान में कई दिनों से सेक्स रैकेट के संचालन की खबर मिल रही थी। इलाकाई लोगों ने भी शिकायत की थी। सटीक सूचना पर रविवार की दोपहर करीब डेढ़ बजे पुलिस ने मकान में छापा पारा। घर के बाहर दो बाइकें खड़ी थीं। पुलिस के मकान में
घुसते ही दो युवक पीछे के रास्ते से निकल रहे थे, लेकिन दोनों को मौके पर जुटे लोगों ने पकड़ कर पीटना शुरू कर दिया। दोनों किसी तरह भीड़ के चंगुल से बचकर भाग निकले। मौके से पुलिस ने दो लड़कियों और दो युवकों पकड़ा। पकड़ा गया एक युवक शहर के मुराइनटोला का रहने वाला है। पूछताछ के लिए पुलिस पकड़े गए लोगों को कोतवाली ले गई है। मोहल्ले के लोगों ने बताया कि यहां काफी दिनों से सेक्स रैकेट फलफूल रहा है। नई उम्र की लड़कियों और लड़कों की आवाजाही बनी रहती है। यह लोग चेहरा छिपाकर आते जाते हैं। कोतवाल ने बताया कि बाइकों को कब्जे में लिया गया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। छानबीन के बाद आगे की कार्रवाई होगी।
... और पढ़ें

प्रसवपीड़िता के लिए आगे आए भाजपा नेता

फतेहपुर। लॉकडाउन के दौरान खून की कमी से जूझती प्रसव पीड़िता की मदद के लिए भाजपा युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष प्रसून तिवारी आगे आए। उन्होंने अपना ओ पाजिटिव ग्रुप का खून दिया।
बिंदकी तहसील के डीघ गांव की रहने वाले जितेंद्र कुमार की पत्नी रूमा देवी को प्रसव पीड़ा के चलते शहर के एक नर्सिंगहोम में भर्ती कराया गया है। कोरोना वायरस के चलते इस वक्त रक्तदान शिविर लगना बंद है। ऐसे में सदर अस्पताल के रक्तकोष तक में खून का अकाल पड़ा है। चिकित्सकीय टीम ने जितेंद्र से रूमा को खून की कमी होने की बात कहकर एक यूनिट ब्लड की व्यवस्था करने को कहा। जितेंद्र काफी भागदौड़ के बावजूद इसे नहीं ला सके तो सर्व फार ह्यूमेनिटी के गुरमीत सिंह उमंग से मिले। जिसके बाद प्रसून तिवारी इस महिला की जान बचाने को आगे आए। प्रसून को देखकर जितेंद्र भी खुद का रोक न सके और बी निगेटिव ग्रुप के इस शख्स ने भी एक यूनिट खून दान किया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us