विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

IPS बनी गोरखपुर की बेटी एमन, सीएम योगी ने मुस्लिम लड़कियों के लिए बताया रोल मॉडल

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहर की ऐमन जमाल का भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) में चयन होने पर शुभकामनाएं दीं।

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

गाजीपुर

मंगलवार, 10 दिसंबर 2019

आपातकालीन परिस्थितियों से निपटने के तौर-तरीके की जानकारी दी

मरदह। क्षेत्र के माता राजकुमारी देवी शिक्षा वाटिका निकेतन में हिंदुस्तान स्काउट-गाइड के तत्वावधान में तीन दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया। इसमें विद्यालय के छात्र-छात्राओं के सर्वांगीण विकास, राष्ट्र सेवा, रस्सी गांठ बांधना, सेवा, आपदा प्रबंधन, राष्ट्र के संकट काल एवं आपातकालीन परिस्थितियों से निपटने के तौर-तरीकों की जानकारी स्काउट ट्रेनर सुशील कुमार एवं रूपचंद यादव ने दी।
शिविर के मुख्य अतिथि राधेश्याम विश्वकर्मा एवं विशिष्ट अतिथि राजकुमारी देवी ने कैंप का निरीक्षण किया। प्रशिक्षण के दौरान दी गई जानकारी के बारे में पूछा। स्काउट-गाइड के प्रतिभागी बच्चों ने बिना बर्तन के भोजन बनाना, टेंट बनाना, घायलों को बिना स्ट्रेचर के उपचार के लिए ले जाना, ध्वज शिष्टाचार एवं मार्च पास्ट की ट्रेनिंग आदि गतिविधियों को मुख्य अतिथि के सामने प्रस्तुत किया। विद्यालय के प्रधानाचार्य अजीत विश्वकर्मा ने शिविर को बच्चों के लिए लाभदायक बताते हुए कहा कि इससे बच्चों में देश प्रेम की भावना जागृत होगी। जिला संगठन आयुक्त अरविंद कुमार यादव ने स्वच्छता अभियान, जल संरक्षण, पर्यावरण जागरूकता, ट्रैफिक नियम एवं सर्व शिक्षा अभियान आदि विषयों को प्रमुखता से बताया। इस मौके पर अनुज विश्वकर्मा, निकिता विश्वकर्मा, अनुराधा चतुर्वेदी, शमा परवीन, अजय आदि उपस्थित थे।
... और पढ़ें

एक घंटा तक जाम में जूझते रहे राहगीर

गाजीपुर। सड़क पर ठेला-खोमचा वालों का कब्जा, वाहनों को मार्ग पर आढ़ा-तिरछा खड़ा करने और अतिक्रमण की वजह से आए दिन सदर कोतवाली और लालदरवाजा मुहल्ला के बीच लोगों को जाम का सामना करना पड़ रहा है। कभी-कभी आधा तो कभी एक से लेकर डेढ़ घंटा तक लोग जाम में हांफ रहे हैं। इसी क्रम में शनिवार को एक घंटा तक राहगीर जाम की जकड़न में जकड़े रहे। जाम की वजह से लोग समय से गंतव्य तक नहीं पहुंच सके।
मालूम हो कि मिश्रबाजार से नवाबगंज जाने वाला मार्ग शहर का प्रमुख मार्ग है। इसी मार्ग से लोग जिला महिला अस्पताल, कोतवाली, श्मशानघाट सहित विभिन्नों बाजारों-मुहल्लों में आते-जाते हैं। इससे इस मार्ग पर सुबह ही आवागमन का दबाव बढ़ जाता है। सदर कोतवाली के साथ ही महिला अस्पताल के सामने मार्ग पर हर समय ठेला-खोमचा वालों का कब्जा रहने के साथ ही दुकानदारों द्वारा मार्ग पर अतिक्रमण किया गया है। इसके अलावा दुकानों पर आने वाले लोग वाहनों को सड़क पर ही खड़ा कर दे रहे हैं। इसका परिणाम यह हो रहा है कि आवागमन करने वालों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। आमने-सामने से छोटे चार पहिया वाहनों के आने के दौरान एक साथ न निकल पाने की स्थिति में देखते ही देखते अन्य वाहनों की रफ्तार रुकने लग रही है और भीषण जाम लग जा रहा है। यह समस्या रोज उत्पन्न हो रही है। इसी क्रम में शनिवार को करीब दो बजे लालदरवाजा में जाम का झाम शुरु हो गया। कुछ ही देर में अस्पताल, कोतवाली तक भीषण जाम लग गया है। जाम की जकड़न का हाल यह था कि बाइक-साइकिल को एक कदम आगे बढ़ाने की कौन कहे, पैदल वालों का भी निकल पाना संभव नहीं हो पा रहा था। परेशानियों के बीच भीड़ में खड़े लोग आवागमन सुचारू होने का इंतजार करते रहे। मार्ग पर खड़े वाहनों को हटाने को लेकर लोगों में किचकिच के साथ ही तीखी झड़प भी होती रही। परेशान लोग अतिक्रमणकारियों को कोसते रहे। जाम में सबसे पीछे मौजूद लोग इसकी गभीरता को भांपते हुए वाहन को घुमाकर दूसरे मार्गों से निकलते रहे। एक घंटा बाद आवागमन सुचारु होने पर लोगों ने राहत की सांस ली।
... और पढ़ें

19 ओवरलोड वाहनों के खिलाफ हुई कार्रवाई

सुहवल। ओवरलोड वाहनों के संचालन पर सख्ती से रोक लगाने के जिलाधिकारी के आदेश के बाद परिवहन विभाग हरकत में आ गया है। शनिवार को एआरटीओ थाना प्रभारी निरीक्षक के साथ ओवरलोड वाहनों के खिलाफ चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान बालू, गिट्टी और कोयला लदे 19 वाहनों का चालान कर संबंधित थाने को सुपुर्द दिया। जबकि इन वाहनों पर 13 लाख 62 हजार जुर्माना ठोंका गया। इस कार्रवाई से ओवरलोड वाहन चालकों में अफरा-तफरी मची रही।
एआरटीओ राम सिंह ने प्रभारी निरीक्षक संजय वर्मा और पुलिस कर्मियों के साथ शनिवार की भोर से लेकर दोपहर तक अभियान चलाया। इस दौरान ओवरलोड वाहनों के धर-पकड़ का कार्य किया गया। एआरटीओ श्री सिंह ने बताया कि विभिन्न मार्गों पर अभियान के दौरान बालू, गिट्टी और कोयला लदे कुल 19 ओवरलोड वाहनों को पकड़ गया। 15 बालू लदे ट्रकों को सीज करने की कार्रवाई की गई। पकड़े गए वाहनों को संबंधित थाने को सुपुर्द कर दिया गया। वाहनों पर 13 लाख 62 हजार रुपये का जुर्माना ठोंका गया। कहा कि ओवरलोड वाहनों के खिलाफ लगातार अभियान जारी रहेगा। संचालन पाए जाने पर इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उधर इस अभियान के कारण वाहन चालकों एवं उनके स्वामियों में खलबली मची रही। सभी इस कार्रवाई से बचने के लिए जांच टीम का अपने सूत्रों के जरिए लोकेशन लेते रहे। तमाम चालक वाहनों को विभिन्न मार्गों के किनारे खड़ा कर रफूचक्कर हो गए ताकि कार्रवाई की जद में न आ सके। ओवरलोड वाहनों के खिलाफ अधिकारियों के इस कार्रवाई की लोगों में चर्चा होती रही है। चर्चाओं में यह बात प्रमुखता से शामिल रही कि अधिकारी कुछ ही दिनों तक ओवरलोड वाहनों के खिलाफ अभियान चलाते हैं। इससे बात में स्थिति फिर से जस की तस हो जाती है। यदि लगातार ऐसे वाहनों के खिलाफ अभियान चलाया जाए तो शायद ओवरलोड वाहनों के संचालन पर पूरी तरह से रोक लग सकती है।
... और पढ़ें

लूटपाट: बदमाशों ने दस हजार नकदी, मोबाइल और चेन लूटे

करंडा। थाना क्षेत्र के चहारन चट्टी के पास रविवार की रात बाइक सवार चार बदमाशों ने लाठी-डंडे से आतंकित कर युवक के सोने की चेन, मोबाइल और दस हजार लूट लिया। शोर मचाने पर जान से मारने की धमकी दी और लुटेरे मौके से फरार हो गए। पीड़ित की तहरीर पर केस दर्ज कर पुलिस लुटेरों की तलाश में जुट गई।
क्षेत्र के सुआपुर निवासी अखिलेश गुप्ता रविवार को बाइक से अपने ननिहाल जंगीपुर गया था। वह वहां से लौट रहा था, इसी बीच रात में करीब साढ़े आठ बजे चहारन चट्टी के पास लाठी-डंडे से लैश एक बाइक पर सवार चार बदमाशों ने उसे जबरदस्ती रोक लिया। गाली-गलौज करते हुए अखिलेश के गले में पड़ा सोने का चेन, मोबाइल के साथ जेब से दस हजार नकदी निकाल लिया। इसके बाद उसकी बाइक की चाभी भी छीन लिया। शोर मचाने पर जान से मारने की धमकी देते हुए बदमाश फरार हो गए। पीड़ित ने दूसरे की मोबाइल से परिजनों को घटना की सूचना दी। बाद में थाना में मामले की तहरीर दिया। इस संबंध में थानाध्यक्ष दिलीप सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरु कर दी गई है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उधर घटना को लेकर लोगों में चर्चा होती रही। चर्चाओं में यह बाद प्रमुखता से शामिल थी कि करंडा के ब्राम्हणपूरा चट्टी से सोनहरिया के बीच लगातार लूट और छिनैती की घटना हो रही है। इतने दूरा का इलाका डेंजर जोन बन गया है। पिछले महीने भी गाजीपुर शहर निवासी एक युवक से मोबाइल और कुछ नकदी की लूट हुई थी। लगभग एक सप्ताह पूर्व चंदौली के धानापुर निवासी एक युवक से मोबाइल और पर्स आदि की छिनैती हुई थी। चहारन चट्टी पर पिछले छह महीना से बने पुलिस चौकी उद्घाटन के अभाव में बंद पड़ी है। यदि चौकी खुल जाती तो शायद वारदातों में कमी आती।
... और पढ़ें

सिंचाई को लेकर सड़क जाम कर किया धरना-प्रदर्शन

करंडा। चोचकपुर पंप कैनाल पर सोमवार को अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा के नेतृत्व में ब्लॉक के कई युवाओं ने सड़क जाम कर धरना-प्रदर्शन किया। इस मौके पर महासभा के जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने कहा कि पंप कैनाल से संचालित नहर का पानी इस समय पूर्णतया बंद है। गेहूं, चना, सरसों आदि फसल की बुवाई का समय चल रहा है। खेतों में पानी न रहने से हजारों एकड़ फसल की बुवाई बाधित हो रही है।
उन्होंने कहा कि एसडीओ और जेई से बात करने पर वह एक महीने बाद यह चालू करने की बात कह रहे हैं जबकि 15 दिसंबर तक ही गेहूं की बुवाई का अंतिम समय रहता है। अधिशासी अभियंता से बात करने पर नहर की मरम्मत के कार्य का हवाला देते हुए कहते हैं कि इसमें ठेकेदार का नुकसान हो जाएगा। उन्हें ठेकेदलार की चिंता है, किसानों की नहीं है। मौके पर पंप कैनाल के निर्माण का कार्य देख रहे जय विजय कुमार मौके पर पहुंचे। अपने अधिकारियों से वार्ता करने के बाद बताया कि अधिशासी अभियंता अभी बाहर हैं। 14 दिसंबर तक वह आएंगे। इसके बाद नहर चालू कर दी जाएगी। इस पर श्री सिंह ने चेताया कि अगर 15 दिसंबर तक नहर चालू नहीं होती है तो 16 को महासभा के लोग संबंधित गांव के किसानों को लेकर चक्काजाम कर धरना-प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगेञ। इस मौके पर गजेंद्र सिंह, युवराज सिंह, दिव्यांशु सिंह, हैप्पी सिंह, मनीष सिंह, डब्बू सिंह, भैरवनाथ यादव, पुरुषोत्तम सिंह, पुष्कर सिंह, अमित सिंह, दयानंद सिंह, प्रभु यादव आदि उपस्थित थे।
... और पढ़ें

गुस्साए किसानों ने पशुओं को विद्यालय में बांधा

सादात। थाना क्षेत्र के कनेरी के किसान छुट्टा घूम रहे पशुओं के आतंक से परेशान हैं। आए दिन पशु उनकी फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। गुस्साए किसानों ने रविवार को सैकड़ों पशुओं को पकड़ लिया। इसके बाद उन्हें गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में बांध दिया।
ग्रामीणों के इस कदम के बाद से अफसरों के बीच हड़कंप मच गया। कुछ ही देर में पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. रविंद्र प्रताप सिंह, एसडीएम अभय मिश्रा, बीडीओ गोपाल यादव, प्रमुख प्रतिनिधि कमलेश सिंह हकाडू, एसओ रविंद्र भूषण मौर्य, सैदपुर के तहसीलदार दिनेश प्रसाद एवं अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए। उच्चाधिकारियों को ग्रामीणों की समस्या से अवगत कराकर मवेशियों के रहने-खाने की वैकल्पिक व्यवस्था की गई। मवेशियों को ट्रकों और पिकअप में लादकर करीमुद्दीनपुर, देवकली एवं सादात के गोवंश आश्रय स्थलों पर भेजा गया। पिकअप में लादकर सादात ले जाते समय एक गाय ने दम तोड़ दिया। प्राथमिक विद्यालय में मवेशियों के बंधे होने के कारण ज्यादातर बच्चे स्कूल ही नहीं आए। 142 में से केवल 48 बच्चे उपस्थित रहे। हेडमास्टर शकुंतला, दो शिक्षामित्र एवं एक सहायक अध्यापक इन्हें बगल में स्थित मंदिर पर बैठाकर पढ़ाते नजर आए। विद्यालय में मवेशियों के बंधे होने के कारण एमडीएम का भोजन नहीं बना जो बच्चे घर से टिफिन लाए थे वह ही खा सके बाकी भूखे पेट ही रहे। सीडीओ के निर्देशानुसार करीब डेढ़ सौ मवेशियों को सादात के गोवंश आश्रय स्थल पर भेजा गया। ईओ संदीप सिंह इतने पशुओं को रखने, खिलाने आदि की व्यवस्था न कर पाने का हवाला देते हुए आनाकानी करते रहे। करीब चार-पांच घंटे के बाद मवेशियों को करीमुद्दीनपुर, देवकली और सादात के गो-आश्रय स्थल पहुंचाने के बाद स्कूल कैंपस को खाली कराया गया।
... और पढ़ें

दो मकानों से नौ लाख के जेवरात और 95 हजार नकदी की चोरी

करंडा। थाना क्षेत्र के करंडा गांव में रविवार की रात चोरों ने दो मकानों को खंगाला। इस दौरान लगभग नौ लाख के जेवरात के साथ ही 95 हजार नकदी पर हाथ साफ कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन की। एक ही रात दो घरों में चोरी की वारदात से ग्रामीणों में भय व्याप्त हो गया।
करंडा गांव निवासी संतोष सिंह के मकान के अगले हिस्से में स्टेट बैंक आफ इंडिया की शाखा है। पिछले हिस्से में परिवार के लोग रहते हैं। रोज की तरह रविवार की रात भी खाना खाने के बाद परिजन अपने-अपने कमरा में सो गए। देर रात चोर किसी रास्ते से मकान में घुस गए। कमरे में रखा बक्सा और अचैटी को तोड़कर उसमें रखे मंगलसूत्र, चूड़ी, सिकड़ी, नथिया, मंगटीका सहित 25 हजार नकदी निकाल लिया। दूसरी अचैटी तोड़ते समय खट-खट की आवाज होने पर रात करीब एक बजे संतोष की मां अरुंधती देवी की नींद टूट गई। उन्होंने देखा कि दो-तीन लोग अटैची को तोड़ रहे हैं। यह देख उन्होंने शोर मचाना शुरू कर दिया। आवाज सुनकर परिवार के अन्य लोग जग गए। घबराए चोर सामान लेकर सीढ़ी से होकर छत पर पहुंच गए और घर के पीछे स्थित नीम के पेड़ से होकर नीचे उतरकर भाग निकले। यहां के बाद चोर करीब 50 मीटर दूर स्थित सरवन यादव के मकान में दाखिल हुए। कमरे में रखे बक्से को तोड़कर लगभग चार लाख के सोने-चांदी के जेवरात तथा दूसरे बक्से में रखे लगभग 70 हजार रुपये लेकर लेकर भाग निकले। पीड़ितों ने घटना की जानकारी डायल 100 पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़ितों से घटना के संबंध में जानकारी लेते हुए मामले की छानबीन की। इस संबंध में थानाध्यक्ष दिलीप सिंह ने बताया कि पीड़ितों की तरफ से तहरीर मिली है। मामले की छानबीन करते हुए चोरों की तलाश शुरू कर दी गई है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर मामले की पर्दाफाश कर दिया जाएगा। उधर एक ही रात दो मकानों में चोरी की वारदात से ग्रामीणों में भय व्याप्त हो गया। लोग आपस में बातें करते हुए कहते रहे कि चोरों के मन में पुलिस का जरा भी खौफ नहीं रह गया है। एक तरफ रात में ड्यूटी के नाम पर जहां पुलिस आराम फरमा रही है, वहीं चोर लोगों के परिश्रम की कमाई उड़ाकर आराम से निकल जा रहे हैं।
... और पढ़ें

माइक के तार में दौड़ा हाई वोल्टेज करेंट, महिलाओं सहित बच्ची झुलसी

दुबिहा। करीमुद्दीनपुर थाने के ताजपुर-मिश्रपुरा में एक मकान में चल रहे शिवचर्चा कार्यक्रम के दौरान सोमवार की दोपहर उस समय अफरा-तफरी मच गई, जब माइक के तार समेत जमीन पर 11 हजार वोल्ट का करेंट दौड़ गया। इस दुर्घटना में पांच महिलाएं सहित एक मासूम झुलस गई। सभी को उपचार के लिए बलिया ले जाया गया। दो की हालत गंभीर बनी हुई है।
क्षेत्र के ताजपुर-मिश्रपुरा निवासी कंचन यादव के घर सोमवार को शिवचर्चा का कार्यक्रम आयोजित था। इसमें लाउस्पीकर बजाने के लिए ट्रांसफार्मर से लाइन खींचा गया था। शिवचर्चा चल रही थी और लगभग दो दर्जन से अधिक महिलाएं बैठकर सुन रही थी। दोपहर करीब डेढ़ बजे अचानक माइक के तार और मशीन में 11 हजार वोल्ट का करेंट दौड़ गया। इससे माइक के साथ ही जमीन में करेंट प्रवाहित होने लगा और वहां अफरा-तफरी मच गई। तमाम महिलाएं जहां चिल्लाते हुए वहां से किसी तरह भागी, वहीं छह महिलाएं सहित एक बच्ची झुलस गई। लोगों ने लाठी--डंडे से मारपीट कर तार तो तोड़ा। घटना में गांववासियों में अफरा-तरफी मची रही। आनन-फानन में लोग करेंट से झुलसी सुमन (18), ललती (60), मायावती (55), सोनिया (35), कलावती (65), उर्मिला (25) और शिवांगी (2 ) को निजी साधन से उपचार के लिए बलिया ले गए। लोगों ने बताया कि सुमन एवं लालती हालत गंभीर बनी हुई है। इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक पवन सिंह ने बताया कि ऐसी किसी घटना की किसी ने सूचना या तहरीर नहीं दी है। यदि ऐसा है तो घटना की छानबीन शुरू की जाएगी।
... और पढ़ें

11 दिन बाद फिर बंद हुआ हमीद सेतु

11 दिन बाद फिर बंद हुआ हमीद सेतु
रोलर बेयरिंग खिसकने से पड़ गई करीब तीन इंच दरार, भारी वाहनों के आवागमन पर रोक
ओवरलोड वाहनों के दौड़ने से फिर पैदा हुआ संकट
संवाद न्यूज एजेंसी
सुहवल। आखिरकार जिसका डर था, वहीं हुआ। ओवरलोड वाहनों का संचालन बदस्तूर जारी रहने की वजह से फिर से हमीद सेतु की सेहत बिगड़ गई और जिलाधिकारी ने अगले आदेश तक भारी वाहनों के संचालन पर फिर से प्रतिबंध लगाने का निर्देश दे दिया। सेतु के तरफ तैनात पुलिस कर्मियों के बैरिकेडिंग कर भारी वाहनों का संचालन पर पूरी तरह से ब्रेक लगा दिया। इससे आवागमन करने वालों की परेशानी बढ़ गई।
मालूम हो ओरलोड वाहनों का संचालन के संचालन से हमीद सेतु क्षतिग्रस्त हो गया था। इससे 11 माह से इस पर भारी वाहनों का संचालन ठप था। सेतु की मरम्मत का कार्य होने पर 11 दिन पहले भारी वाहनों को फर्राटा भरने के लिए हरी मिली, लेकिन पुलिस की मिलीभगत से लगातार ओवरलोड वाहनों का दौड़ने का क्रम जारी रहा। इसका परिणाम यह हुआ कि सेतु के पीलर नंम्बर 6 एवं 5 के मध्य ज्वाइंटर नंबर 12 की रोलर बेयरिंग खिसकने से करीब तीन इंच दरार पड़ गई। वहीं ज्वाइंटर नंबर तीन एवं चार के मध्य पीलर नंबर-एक एवं दो के मध्य स्पैन नंबर दो करीब तीन इंच खिसक गया। सुबह सेतु से गुजर रहे लोगों की नजर पड़ी तो उन्होंने इसकी जानकारी संबंधित विभाग के आलाधिकारियों को दी। सूचना मिलते ही सुबह करीब साढ़े दस बजे जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य के आदेश पर सभी तरह के हल्के चार पहिया वाहनों को छोड़ अन्य सभी तरह के भारी वाहन ट्रक, बस, ट्रेलर, डंपर सहित अन्य सभी भारी वाहनों पर अगले आदेश तक हमीद सेतु से होकर गुजरने पर प्रतिबंध लगा दिया गया। पुलिस ने पुल के दोनों तरफ प्रमुख जगहों पर बैरिकेडिंग कर पुलिस कर्मियों की तैनाती कर दी है। प्रभारी निरीक्षक संजय वर्मा, सदर कोतवाल धंनजय मिश्रा, यातायात पुलिस मय फोर्स के साथ पुल के दोनों तरफ चक्रमण कर खड़े वाहनों को दूसरे मार्गों से होकर जाने का निर्देश देते रहे।
जब तक ओवरलोड वाहनों पर रोक नहीं लगेगी, यह समस्या आती रहेगी। वैसे मौके पर विभागीय इंजीनियरों को भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। - देवराज शर्मा, वरिष्ठ इंजीनियर, एनएचएआई
...और फिर बढ़ गई लोगों की परेशानी
सुहवल। हमीद सेतु के क्षतिग्रस्त होने से लगातार 11 माह तक बड़े वाहन का संचालन ठप था। इससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। यात्रियों को पैदल सेतु के पार करने के बाद टुकड़ों यात्रा करने को विवश होना पड़ रहा था। इसी क्रम में 11 दिन पहले जैसे ही सेतु पर बड़े वाहनों का संचालन शुरू हुआ, लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई थी। लोग इस बात से प्रसन्न हो गए थे कि अब आवागमन में होने वाली दिक्कत से उन्हें छुटकारा मिल गया, लेकिन पुलिस की मेहरबानी की वजह से ओवरलोड वाहनों के दौड़ने से एक बार फिर से सेतु में दरार पड़ने से भारी वाहनों का संचालन पर प्रतिबंध लगा दिया गया। इससे एक बार फिर से लोगों को परेशानियां बढ़ गई। लोग पुलिस को इस बात के लिए कोसते रहे कि यदि उसके द्वारा ओवरलोड वाहनों का संचालन कराने का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ रहा है।
000
इनसेट...
इससे पहले भी क्षतिग्रस्त हो चुका है सेतु
सुहवल। ओवरलोड वाहनों के संचालन की वजह से पहली बार हमीद सेतु के सेहत पर प्रभाव नहीं पड़ा। इससे पहले भी इसकी तबियत नासाज हो चुकी है। एक वर्ष में चार बार सेतु क्षतिग्रस्त हो चुका है। बीते जनवरी माह के प्रथम सप्ताह में पुल के ज्वाइंटर नंबर 14 में खराबी आई थी। इसकी मरम्मत के करीब एक माह बाद मार्च माह के प्रथम सप्ताह में पुन: खराबी आ गई, जिसका मरम्मत कार्य मार्च के अंतिम सप्ताह तक चला था। इसके बाद इंजीनियरों के द्वारा पुल के निरीक्षण के दौरान ज्वाइंटर नंबर चार की रोलर बेयरिंग खिसकने का मामला सामने आया तो उनके होश उड़ गए थे। इसके मरम्मत के लिए गुजरात से आए इंजीनियरों को तत्कालीन जिलाधिकारी के द्वारा वाहनों के डायवर्जन की अनुमति न मिलने से वापस चले गए थे। इसके बाद वाराणसी मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल की पहल पर सेतु के मरम्मत को लेकर वाहनों के रूट डायवर्जन की अनुमति देने के बाद गुजरात से आई इंजीनियरिंग टीम ने 13 नवंबर से शुरू हुए मरम्मत कार्य को एक सप्ताह में पूरा किया था।
सेतु से गुजरने वाले वाहनों की भार क्षमता निर्धारित थी 25 से 30 टन
सुहवल। इस महत्वपूर्ण हमीद सेतु की आधारशिला तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलापति त्रिपाठी ने वर्ष 1974 में रखी थी, जो करीब दस वर्षों के अंतराल के बाद 1984 में बनकर तैयार होने के बाद इसे जनता के लिए खोल दिया गया था। यह सेतु कैंटीलीवर संस्पेडेड पर आधारित है, जो 1100 मीटर लंबा है तथा 12 पीलरों, 26 ज्वाइंटर, 52 रोलर बेयरिंगों पर टिका है। तत्कालीन समय में यह करीब 30 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ था, जो तत्कालीन समय में पुल से होकर गुजरने वाले प्रति भार वाहन क्षमता करीब 25 से 30 टन निर्धारित था, लेकिन पुलिस की मिलीभगत से ओवरलोड वाहन धड़ल्ले से फर्राटा भरते रहे और सेतु के बार-बार क्षतिग्रस्त होने का सिलसिला जारी रहा।
...
... और पढ़ें

संतो ने बताया है मानव जीवन के कल्याण का मार्ग

गाजीपुर। मानव उत्थान सेवा समिति की ओर से हंसयोग आश्रम में रविवार को सत्संग का आयोजन किया गया। इस मौके पर महात्मा सुकर्मानंद ने कहा कि समय-समय पर महापुरुषों ने अवतार लेकर मानव जीवन के कल्याण का मार्ग बताया है। जो इसे जान गया वह तो संसार रूपी भवसागर को पारकर जाता है। जो नहीं समझा, वह फिर चौरासी लाख के फेरे में पड़कर रह जाता है। यह मानव जीवन बहुत ही दुष्कर है। इसका उपयोग सुमिरन भजन में करना चाहिए। इसके पूर्व भजन कीर्तन किया गया। अंत में आरती के बाद प्रसाद वितरित किया गया। इस मौके पर किशोर यादव, दुखंती समेत बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।
देवकली संवाददाता के अनुसार, गंगा के तटवर्ती क्षेत्र दुवैठा ग्राम में रुद्र महायज्ञ चल रहा है। इस दौरान मानस प्रवचन, कीर्तन, भजन, हवन, रासलीला आदि कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा रहा है। इसके चलते पूरे क्षेत्र में भक्तिमय वातावरण बना हुआ है। संगीतमय मानस प्रवचन में भारी भीड़ हो रही है। रासलीला देखने एवं मानस प्रवचन में आ रहे श्रद्धालुओं की सुविधा को लेकर आयोजक भी सेवा कर्म में लगे हुए हैं। महिलाओं और बच्चों में काफी उत्साह दिखाई दे रहा है। शाम के समय प्रसाद का वितरण किया जा रहा है। सोमवार को विशाल भंडारे के साथ इस कार्यक्रम का समापन किया जाएगा। इस मौके पर धर्मदेव यादव, काशीनाथ यादव, विनोद यादव, उदयनाथ चौबे, हरदेव यादव, श्यामनारायण सिंह, सुनील पांडेय, महेंद्र, धीरेंद्र प्रताप सिंह, सूर्यभान सिंह आदि का योगदान महत्वपूर्ण है।
... और पढ़ें

दो थानेदार लाइन हाजिर, कई इधर से उधर

दो थानेदार लाइन हाजिर, कई इधर से उधर
गाजीपुर। जिले की कानून-व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए पुलिस अधीक्षक डा. अरविंद चतुर्वेदी ने सोमवार को कासिमाबाद प्रभारी निरीक्षक पन्नग भूषण ओझा एवं शादियाबाद के प्रभारी निरीक्षक किशोर कुमार चौबे को लाइन हाजिर कर दिया है। इसके साथ ही अन्य कई थानेदारों की कुर्सी इधर से उधर की है। एसपी की इस कार्रवाई से महकमे में बेचैनी बढ़ गई है।
एसपी ने डीसीआरबी प्रभारी विश्वनाथ यादव को भांवरकोल थाने पर तैनात किया है। शिकायत प्रकोष्ठ प्रभारी सुनील कुमार सिंह को खानपुर थाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। भुड़कुडा थाना प्रभारी अनिल कुमार पांडेय को कासिमाबाद थाने का प्रभारी निरीक्षक बनाया गया है। पुलिस अधीक्षक के पीआरओ विवेक कुमार श्रीवास्तव अब प्रभारी निरीक्षक भुड़कुडा होंगे जबकि पीआरओ पुलिस अधीक्षक सुरेश कुमार सिंह को शादियाबाद की कुर्सी दी गई है। प्रभारी निरीक्षक गहमर राजीव कुमार सिंह को प्रभारी निरीक्षक जमानिया तथा जमानिया के प्रभारी निरीक्षक विमल कुमार मिश्रा को गहमर थाने का थानेदार तैनात किया गया है। इसी क्रम में प्रभारी निरीक्षक बिरनो अब्दुल वसीम को पीआरओ पुलिस अधीक्षक एवं विवेचना सेल के राजू कुमार को थानाध्यक्ष बिरनो की जिम्मेदारी दी गई है।
... और पढ़ें

मवेशियों को भेजा गया करीमुद्दीनपुर गोवंश आश्रय केंद्र

कासिमाबाद। कासिमाबाद तहसील के बड़ौरा कताई मिल स्थित अस्थाई गोवंश आश्रय केंद्र में रखे गए पशुओं को रविवार को करीमुद्दीनपुर स्थित गोवंश आश्रय केंद्र में स्थानांतरित कर दिया गया। पशुओं के स्थानांतरण के बाद रखरखाव में लगे अधिकारियों और कर्मचारी राहत महसूस की है। अब सवाल यह उठता है कि क्षेत्र में घूम रहे छुट्टा पशुओं को प्रशासन कब पकड़कर आश्रय केंद्र भेजेगा।
मालूम हो कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार संचालित होने के बाद से गोवंश के संरक्षण के लिए हर विकास खंड में अस्थाई रूप से छुट्टा आवारा पशुओं के लिए गोवंश आश्रय केंद्र खोलकर उसमें रखने की व्यवस्था की गई थी। दुर्भाग्य से सरकार की सभी व्यवस्थाएं हवाहवाई साबित हुई और गोवंश आश्रय केंद्र में पशुओं के मरने का सिलसिला लगातार जारी रहा। बरसात के मौसम में हालत ऐसी बन गई थी कि कताई मिल में बने अस्थाई गोवंश आश्रय केंद्र के पशुओं के मरने एवं दुर्गंध से लोगों का आना-जाना मुश्किल हो गया था। जिला प्रशासन द्वारा रविवार को अस्थाई रूप से बनाए गए मिल के अंदर गोवंश आश्रय केंद्र को पूर्णरूपेण बंद करने के साथ यहां के 158 पशुओं को करीमुद्दीनपुर स्थित स्थाई रूप से बनाए गए गोवंश आश्रय केंद्र में भेज दिया गया। जिला प्रशासन के इस निर्णय से मिल परिसर में स्थित गोवंश आश्रय केंद्र में लगाए गए अधिकारी-कर्मचारी राहत महसूस कर रहे हैं। वैसे अभी भी पूरे इलाके में छुट्टा पशुओं की भरमार लगी हुई है। इन पशुओं को गोवंश आश्रय केंद्र भेजवाने के लिए किसान कई बार उपजिलाधिकारी से मिलकर अनुरोध किया, लेकिन अभी तक ध्यान नहीं गया है।
... और पढ़ें

बेटियों की सुरक्षा के नाम पर केवल रचा जा रहा ढोंग

मुहम्मदाबाद। उन्नाव रेप के दोषियो को शीघ्र दंड देने एवं प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर रविवार को सपा, राष्ट्रीय लोकदल, कांग्रेस एवं भाकपा माले के संयुक्त तत्वाधान में मार्च निकाला गया। तहसील के मुख्य गेट पर प्रदर्शन किया। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि सरकारों द्वारा बेटियों की सुरक्षा के नाम पं केवल ढोंग रचा जा रहा है।
पूर्व ब्लाक प्रमुख चंदा यादव के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने काली पट्टी बांधकर एवं हाथो में स्लोगन लिखे तख्तियां लेकर सलेमपुर मोड़ से पैदल मार्च निकाला। तहसील मुख्य गेट पहुंचने के बाद मार्च प्रदर्शन में तब्दील हो गया। इस मौके पर पूर्व ब्लाक प्रमुख चंदा यादव ने कहा कि बलात्कार पीड़िता को जिंदा जला देना बहुत ही सर्मनाक है। इससे यह बात स्पष्ट हो रही रही है कि प्रदेश में कानून का राज नहीं, बल्कि अपराधियो का राज है। केंद्र एवं प्रदेश में भाजपा की सरकार है। फिर भी बेटियो की सुरक्षा के नाम पर केवल ढोंग रचा जा रहा है। अन्य वक्ताओं ने कहा कि जिस सरकार में आएदिन लूट, भ्रष्टाचार, बलात्कार, हत्या, छिनैती पर अंकुश नहीं लग रहा है, उसे नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। अंत में रेप पीड़िता की आत्मा की शां ति के लिए दो मिनट का मौन रखकर ईश्वर से प्रार्थना की गई। इस अवसर पर सपा विधानसभा उपाध्यक्ष श्यामनरायन यादव, महेंद्र सिंह यादव, रामजन्म सिंह यादव, राजेंद्र यादव, मुन्ना यादव, सभासद मो. कैफ, मनोज यादव, रामनिवास यादव, ताबिश बिन अनवर, मंगला यादव, संतोष यादव, अमीरचंद्र, अमरनाथ, रामविलास, रामअवध, वकील, श्यामबिहारी, मनीष गुप्ता, रामनिवास, रमेश, रविंद्र आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
DIWALI COOPAN
CHHAT COOPAN

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election