विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

जानें कौन हैं श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास

राम मंदिर आंदोलन के अहम किरदार रहे अयोध्या के श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास को राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया गया है। जानें, उनके बारे में:

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

गाजीपुर

बुधवार, 19 फरवरी 2020

पांच रातें जेल में बिताकर रिहा हुए सत्याग्रही, चौरी-चौरा से पदयात्रा पर निकले, हो गए थे गिरफ्तार

गाजीपुर जिला जेल में बंद सत्याग्रहियों को रविवार की देर शाम साढ़े सात बजे रिहा किया गया। जेल के बाहर मौजूद कांग्रेस, सपा और बसपा के कार्यकर्ताओं और नेताओं ने सत्याग्रहियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया।

गोरखपुर के चौरी-चौरा से शुरू हुई नागरिक सत्याग्रह पदयात्रा को बीते मंगलवार को बिरनो थाना क्षेत्र के सुल्तानपुर चौराहे के पास पुलिस ने रोक लिया था। यात्रा में प्रियेश पांडेय, अतुल यादव, मुरारी कुमार, मनीष शर्मा, प्रदीपिका सारस्वत, शेषनारायण ओझा, नीरज राय, अनंत प्रकाश शुक्ला और राज अभिषेक शामिल थे। पद यात्रियों का शांतिभंग की धारा में चालान कर जेल भेज दिया था।

पुलिस की इस कार्रवाई से विभिन्न राजनीतिक दलों में पुलिस के प्रति रोष व्याप्त हो गया था। जिला जेल में बंद सत्याग्रहियों की रिहाई की मांग को लेकर बीते शनिवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आस्चीन चढ़ा ली थी। जुलूस निकाला जिसे पुलिस ने बलपूर्वक रोक लिया था।
... और पढ़ें

फर्जी अंकपत्र के आधार पर अध्यापक बनने का लगाया आरोप

मरदह। थाना क्षेत्र के बरही गांव निवासी अंगद सिंह यादव ने जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य को प्रार्थना पत्र दिया। उसमें इन्होंने कहा है कि शांति निकेतन इंटर कालेज बरही में फर्जी अंकपत्र के आधार पर सहायक अध्यापक तैनात है। इसकी जांच कराकर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाए।
उन्होंने पत्र में आरोप लगाया कि फर्जी अध्यापक के विरूद्ध जांच कर कार्रवाई के लिए चार माह पूर्व दिए गए प्रार्थना पत्र को जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा विपक्षी फर्जी अध्यापक के दबाव में दबा दिया गया। विपक्षी की ऊंची पकड़ होने के कारण जिला विद्यालय निरीक्षक दबाव में आकर न कोई जांच और न ही कोई कार्रवाई कर रहे। जबकि इस मामले में पांच नवंबर 2019 को प्रार्थी जिला विद्यालय निरीक्षक, संयुक्त शिक्षा निदेशक वाराणसी, सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद लखनऊ, मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश को प्रार्थना पत्र एवं फर्जी अभिलेखों की छायाप्रति के साथ अवगत करा चुका हूं। इसके बाद भी आज तक कारवाई नहीं हुई। फर्जी अध्यापक के खिलाफ जांच कर उचित कार्रवाई नहीं हुई तो पीड़ित न्यायालय का दरवाजा खटखटाने को बाध्य होगा। इस संबंध में जिला विद्यालय निरीक्षक ओप्रकाश राय ने बताया कि इस मामले में पत्रक मिला है। आरोपी शिक्षक से अभिलेखों की मांग की गई हैं। अभिलेख मिलने के बाद तत्काल जांच-पड़ताल शुरू की जाएगी। जांच में दोषी पाए जाने पर संबंधित के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

मंदिर से पिंड उखाड़ ले गए बदमाश

जमानिया। कोतवाली क्षेत्र के जीवपुर गांव स्थित नेवाजू बाबा मंदिर में स्थापित मूर्ति (पिंड) को अराजतक तत्व उखाड़कर शनिवार की रात किसी समय अपने साथ लेते गए। सुबह इसकी जानकारी होते ही मौके पर ग्रामीणों की भीड़ लग गई। घटना को लेकर लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया। मंझरिया गांव के पास गंगा नदी में पिंड मिला, जिसे पुलिस ने फिर से मंदिर में स्थापित करा दिया। मालूम हो कि जीवपुर गांव में स्थित नेवाजू बाबा मंदिर में स्थापित मूर्ति (पिंड) रविवार की रात किसी समय अराजक तत्व उखाड़ ले गए। रविवार की सुबह जब श्रद्धालु मंदिर पहुंचे तो गायब पिंड देख दंग रह गए। जानकारी होते ही कुछ ही देर में मौके पर दर्जनों ग्रामीण पहुंच गए और घटना को लेकर आक्रोशित हो गए। सब्बलपुर ग्राम निवासी रामबली यादव ने घटना की सूचना पुलिस को दी। जानकारी होते ही देवरिया चौकी प्रभारी राजीव कुमार त्रिपाठी पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंच गए और छानबीन में जुट गए। पता चला कि पिंड चितावनपट्टी मंझरिया गांव के पास गंगा में पड़ा है। इस पर पुलिस के साथ ही ग्राम प्रधान ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंचे। पिंड को पानी से निकालकर मंदिर में लाया गया। इसके बाद दिन में दस बजे विधिवित पूजन-अर्चन के बीच पिंड की स्थापना की गई। इस संबंध में चौकी प्रभारी राजीव कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मंदिर से पिंड उखाड़कर ले जाने की सूचना मिली थी। इस पर ग्रामीणों के सहयोग से उसे बरामद कर मंदिर में स्थापित करा दिया गया है। इस मामले में अभी तक किसी की तरफ से तहरीर नहीं मिली है। फिर भी मामले छानबीन करते हुए अराजक तत्वों की तलाश शुरु कर दी गई है। ... और पढ़ें

मारपीट में घायल रिटायर्ड फौजी की इलाज के दौरान मौत

सेवराई। सैनिकों के गांव गहमर के चिनगी दीवान मुहल्ले में बीते दिनों बच्चों के विवाद को लेकर दो पक्षों में जमकर लाठी-डंडे और ईंट-पत्थर चले थे। मारपीट में दोनों पक्षों के 18 लोग घायल हो गए थे। घायलों में रिटायर्ड फौजी रमाशंकर यादव भी शामिल थे। उनका वाराणसी ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा था। सोमवार की रात इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। परिवार के लोग पोस्टमार्टम कराने के बाद शव लेकर सपा कार्यालय पर पहुंच गए। एसपी कार्यालय पहुंचे सपाईयों ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की मांग की। इसे लेकर जमकर हो-हल्ला भी किया। पुलिस अधीक्षक ने कार्रवाई का भरोसा दिलाया।
बीते रविवार की सुबह गहमर गांव के चिनगी दीवान मुहल्ला में यादव और राजपूत परिवार के लड़कों में किसी बात को लेकर तू-तू, मैं-मैं हो गई थी। इसे लेकर दोनों बिरादरी के दर्जनों लोग आमने-सामने आ गए थे और लाठी-डंडे के साथ ही जमकर ईंट-पत्थर चला था। सूचना पहुंची पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में किया था। इस मारपीट में दोनों पक्षों के 18 लोग घायल हो गए थे। गंभीर रूप से घायल सेवा निवृत्त सेना के जवान रमाशंकर यादव (80) का उपचार के दौरान सोमवार की रात ट्रामा सेंटर वाराणसी में मौत हो गई। परिवार के लोग शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद मंगलवार की देर शाम शव लेकर जिला मुख्यालय पर सपा कार्यालय पर पहुंचे। आक्रोशित सपा कार्यकर्ता जिलाध्यक्ष रामधारी यादव के नेतृत्व में नारेबाजी करते हुए पुलिस कार्यालय पहुंचे। जिलाध्यक्ष ने श्री यादव ने कहा कि अपराधियों के खिलाफ 307, 302 में मुकदमा दर्ज कर उन्हें तत्काल गिरफ्तार किया जाए। मृतक के परिवार को सुरक्षा देने के साथ ही सुरक्षा के लिए तत्काल सत्र लाइसेंसी जारी किया जाए। घर में घुसकर महिलाओं से छेड़खानी हुई है। इस मामले में भी मुकदमा दर्ज किया जाए। कार्यकर्ताओं में मांग पत्र सौंपा। पुलिस अधीक्षक ने ओमप्रकाश सिंह ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का भरोसा दिलाया। एसपी कार्यालय जाने वाले कार्यकर्ताओं में राजेश कुशवाहा, मुन्नन यादव, अरुण कुमार श्रीवास्तव, दिनेश यादव, चंद्रिका यादव, भानू यादव, तहसीन अहमद, कमर अली, छन्नू यादव, राजू श्रीवास्तव, परवेज अहमद, तौसिफ, रामाशीष आदि शामिल थे।
सेवराई। गहमर थाना प्रभारी निरीक्षक विमस कुमार मिश्र ने बताया कि मारपीट के इस मामले में विशुनधारी यादव की तरफ से 17 फरवरी को 17 नामजद और कुछ अज्ञात तथा दूसरे पक्ष मिथलेश सिंह की तरफ से 16 फरवरी को दस लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर दी गई थी। इसके आधार पर संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर मामले की छानबीन शुरु कर दी गई थी। घायल रमाशंकर की मौत के बाद धारा में परिवर्तन किया जाएगा। आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।
... और पढ़ें
गहमर में बीते दिनों हुई मारपीट में रमाशंकर यादव की मौत के बाद पुलिस कार्यालय पर हो-हल्ला करते सपा? गहमर में बीते दिनों हुई मारपीट में रमाशंकर यादव की मौत के बाद पुलिस कार्यालय पर हो-हल्ला करते सपा?

जहर खाकर विवाहिता ने दी जान

नंदगंज । थाना क्षेत्र के रठौली गांव निवासी एक विवाहिता में सोमवार को किसी कारणवश विषाक्त पदार्थ खा लिया। उपचार के दौरान देर रात उसकी मौत हो गई। सूचना पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
थाना में दिए गए तहरीर में मृतका के श्वसुर कुमार बिंद ने कहा है कि मेरे पुत्र जवाहिर बिंद की पत्नी उमावती देवी (40) ने सोमवार को किसी कारणवश विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। इसकी जानकारी होने पर उसे आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया। उपचार के दौरान रात में उसकी मौत हो गई। श्वसुर ने बताया कि मृतका के चार लड़के तथा एक लड़की है। किसी की शादी नहीं हुई है। उधर घटना को लेकर गांववासियों में तरह-तरह की चर्चा होती रही। चर्चा में यह बात प्रमुखता से शामिल थी कि मृतका का पति कोई काम नहीं करता था और शराब का आदी थी। इसको लेकर पत्नी उमावती तनाव में रहती थी। शायद इसी कारण से उसने जान देने का ऐसा कठोर कदम उठाया होगा। इस संबंध में थाना प्रभारी संजय मिश्रा ने बताया कि मृतका के श्वसुर द्वारा तहरीर मिलने पर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मृत्यु के सही कारणों का पता चलेगा।
... और पढ़ें

ओवरलोडेड ट्रक सीज, एआरटीओ की जांच से रही अफरा तफरी

सेवराई। शासन के निर्देश पर ओवरलोड ट्रकों के खिलाफ एआरटीओ ने मंगलवार को गहमर थाना क्षेत्र के भदौरा बस स्टैंड के पास चेकिंग अभियान चलाया। इस बीच एक ट्रक को सीज करने के साथ ही तीन ट्रकों का चालान किया गया। करीब एक लाख 70 हजार का जुर्माना लगाया गया। चेकिंग से चालकों में अफरा-तफरी मची रही।
ताड़ीघाट बारा मुख्य मार्ग पर डग्गामार और ओवरलोड वाहनों पर अंकुश लगाने के लिए एआरटीओ राम सिंह ने मातहतों के साथ भदौरा बस स्टैंड के पास मंगलवार की सुबह चेकिंग अभियान शुरू कर दिया। चेकिंग अभियान शुरू होते ही वाहन चालकों में अफरा-तफरी मच गई। जानकारी होन पर तमाम चालकों ने चेकिंग स्थल से काफी दूर वाहनों को खड़ा कर दिए। क्षमता से अधिक यात्रियों को बैठाकर फर्राटा भरने वाले यात्री वाहन चालक भी चेकिंग से परेशान रहे। अधिकारी द्वारा कार्रवाई से बचने के लिए उन्होंने क्षमता से अधिक बैठे सवारियों को उतार दिया। इस संबंध में एआरटीओ राम सिंह ने बताया कि ओवरलोड और डग्गामार वाहनों के संचालन की शिकायत लगातार मिल रही थी। इस पर चेकिंग अभियान चलाया गया। इस दौरान करीब एक दर्जन ट्रकों की जांच की गई। तीन ओवरलोड ट्रकों का कागजात न होने पर उनका चालान किया गया। जबकि एक ट्रक को सीज करने की कार्रवाई की गई। तीन ट्रकों पर कुल 1 लाख 72 हजार का जुर्माना लगाया गया। कहा कि चेकिंग अभियान लगातार जारी रहेगा। चालकों को नियम-कानून की अनदेखी नहीं करने दी जाएगी, जो भी नियम तोड़ता हुआ पाया जाएगा, उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी। उधर एआरटीओ विभाग द्वारा एक महीने में दो बार चेकिंग किए जाने से वाहन चालकों सहित स्वामियों में हड़कंप मचा है।
... और पढ़ें

तीन दिन में बना गए 11 हजार गोल्डेन कार्ड

गाजीपुर। जिले में गोल्डन कार्ड बनाए जाने की धीमी गति को देखते हुए जिलाधिकारी ओपी सिंह की ओर से ग्राम प्रधान और सेक्रेटरी की बैठक कर गोल्डन कार्ड बनवाने का निर्देश दिया। इसके बाद इस काम में तेजी आ गई है। 14 से 18 फरवरी तक विशेष गोल्डेन कार्ड कैंप का आयोजन जिले के 67 गांवों में किया गया। इसमें शुरुआती तीन दिनों में 10740 कार्ड बनाए गए हैं। इस योजना के तहत अब तक कुल 97054 गोल्डन कार्ड बनाए जा चुके हैं।
जिले में कुल 1.12 लाख आयुष्मान भारत योजना के तथा मुख्यमंत्री जन आरोग्य के 11915 लाभार्थी हैं। योजना के तहत, पांच लाख रुपये तक का नि:शुल्क इलाज का प्राविधान है। इसके लिए लाभार्थी के पास गोल्डन कार्ड होना चाहिए। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. जीसी मौर्य ने बताया कि जिले में कुल 34 सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना का लाभ दिया जा रहा है। इसके माध्यम से अब तक 2867 लोगों ने इसका लाभ उठाया है। साथ ही उन्होंने बताया कि गोल्डन कार्ड बनाए जाने के अगले क्रम में 100 गांवों को चिह्नित किया जा चुका है। इनमें 24, 25 और 26 फरवरी को कैंप लगाया जाएगा। कैंप को लेकर आशा, आंगनबाड़ी और इनके ग्राम प्रधानों की एक संयुक्त बैठक कर गोल्डन कार्ड बनवाने में जन सहभागिता निभाने की बात की जाएगी। एसीएमओ डा. डीपी सिन्हा ने बताया कि जिले में कुल 1.12 लाख प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना तथा मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के 11915 लाभार्थी है। इनमें से 97054 गोल्डेन कार्ड बनाए जा चुके हैं। योजना का लाभ सभी को मिले, इसके लिए जोरशोर से काम किया जा रहा है।
... और पढ़ें

आखिर गाजीपुर में क्यों गिरफ्तार हुए सत्याग्रही, क्या देश में गांधी का संदेश फैलाना जुर्म है?

क्या इस देश में शांतिपूर्वक और अहिंसात्मक तरीके से चलकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का संदेश फैलाना जुर्म है? यदि नहीं तो बड़ा सवाल है दो फरवरी से चौरी चौरा से पदयात्रा के माध्यम से शांति, सद्भाव, अहिंसा का संदेश लेकर निकले मनीष शर्मा और उनके 10 साथियों को गाजीपुर पुलिस ने क्यों गिरफ्तार किया?

गिरफ्तार करने का कारण उन पर दंगा फैलाने की स्थिति पैदा करना बताया और प्राथमिकी की कापी नहीं दी गई। एसडीएम ने भी बार-बार के प्रयास के बाद भी कोई संवाद नहीं किया।

क्यों निकाल रहे हैं यात्रा?

मनीष शर्मा और उनके दस साथी राष्ट्रपिता के अहिंसा के संदेश से प्रेरित हुए। मनीष ने अमर उजाला को बताया कि गांधी जी ने चौरी चौरा की घटना के बाद संदेश दिया था हिंसा का रास्ता छोड़कर हमें अहिंसा के रास्ते के  रास्ते पर चलना होगा।

मनीष के मुताबिक वर्तमान परिवेश में वह देख रहे हैं देश की राजनीतिक व्यवस्था हिंदू-मुसलमान, भारत-पाकिस्तान, नफरत फैलाओ राज करो, पक्ष-विपक्ष के आरोप प्रत्यारोप तक सीमित हो गई है।

राजनीतिक दल नफरत फैलाकर जनता के वोट से सत्ता में आ रहे हैं और जनता के लिए जरूरी ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा, समाधान का काम ठप पड़ा है। मनीष का कहना है कि ऐसे में जरूरी है कि लोगों को जागरुक किया जाए। उन्हें सद्भावना, अहिंसा, नागरिकों के कर्तव्य, आपसी मेलजोल, प्रेम, सहयोग, साझीदारी से विकास के बारे में बताया जाए।

इसके लिए उन्होंने गोरखपुर और देवरिया के बीच में स्थिति चौरी चौरा से 02 फरवरी 2020 को पद यात्रा निकालने का फैसला किया। उनके दस साथ दल लोग इस अभियान में जुड़े। प्रदीपिका सारस्वत भी बतौर पत्रकार जुड़ीं।

यात्रा आगे बढ़ी

दो फरवरी को शुरू हुई यात्रा एक गांव से दूसरे दूसरे गांव, लोगों के बीच में संवाद करते हुए, खाते-पीते, उनके साथ समय बिताते हुए आगे बढ़ी। मनीष बताते हैं कि लोगों को सद्भाव समझ में आने लगा। लोग मान रहे थे कि हिंदू मुसलमान, जाति, धर्म में टकराव पैदा करके राजनीतिक दल उनके हितों की अनदेखी कर रहे हैं।

लोग प्रभावित भी हो रहे थे और एक गांव के करीब 60-70 लोग साथ चलकर दूसरे गांव तक छोड़ने आते थे। यात्रा करीब 200 किमी तक की दूरी तय कर चुकी थी, लेकिन 11 फरवरी को गाजीपुर पुलिस ने सभी 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। कारण पूछने पर पुलिस ने बताया कि उनके प्रयासों से शांति भंग होने, दंगा भड़कने की संभावना है।

उन्होंने एसडीएम और पुलिस अधिकारियों से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन किसी ने एक नहीं सुनी। उन्हें जेल में डाल दिया। 11 फरवरी से 16 फरवरी की शाम तक वह जेल में रहे और देर शाम उन्हें पुलिस ने दो-दो लाख रुपये का निजी मुचलका भरवाकर छोड़ दिया।

17 तारीख को सुबह उनके कुछ साथियों को पुलिस ने जबरन एक गाड़ी में बिठाया और बनारस लाकर छोड़ दिया। बनारस यात्रा का पहला पड़ाव है।

क्यों गिरफ्तार किया?

जो कारण समझ में आता है, वह इस प्रकार है। प्रधानमंत्री अपने संसदीय क्षेत्र बनारस आने वाले थे। समझा जा रहा है कि नफरत, हिंसा और सांप्रदायिकता के खिलाफ संदेश देता हुआ चल रहा यह जत्था प्रशासन की आंख में किरकिरी की तरह चुभ रहा था।

प्रशासन नहीं चाह रहा था कि प्रधानमंत्री बनारस में हों और उस समय गांधीगिरी के रास्ते पर चल रहा यह जत्था वहां पहुंचकर अपना संदेश दे। माना जा रहा है कि इस कारण प्रशासन मनीष शर्मा और उनके सहयोगियों को गाजीपुर में ही गिरफ्तार कर लिया।

16 फरवरी को अपना दौरा पूरा करके जब प्रधानमंत्री दिल्ली लौटे तो उन्हें प्रशासन ने जेल से रिहा कर दिया।

यात्रा तो दिल्ली पहुंचेगी

सत्याग्रहियों का कहना है कि उनकी यह यात्रा दिल्ली पहुंचेगी। वह बनारस में यात्रा का पहला पड़ाव समाप्त करने के दो दिन बाद 20 फरवरी को बनारस से कानपुर और फिर कानपुर से आगे यात्रा का अगला पड़ाव आरंभ करेंगे।

दिल्ली के राजघाट पर पहुंचकर अपनी यात्रा समाप्त करेंगे। इससे पहले इन सत्याग्रहियों ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में अपनी गिरफ्तारी के विरोध में जनहित याचिका दायर की है। जिसकी 19 फरवरी को सुनवाई भी है।

गाजीपुर जिला प्रशान ने नहीं दिया जवाब

गाजीपुर के जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य से संपर्क किया तो पता चला कि उनका सरकारी मोबाइल फोन उनके स्टेनो के पास था। स्टेनो ने कहा कि सभी सत्यागहियों को रिहा किया जा चुका है। वह जा चुके हैं।

गिरफ्तार करने के कारण पर स्टेनो ने बताया कि इस बारे में एसडीएम सदर से जानकारी मिल सकेगी। एसडीएम सदर से कई बार के प्रयास के बाद भी सफलता नहीं मिल पाई।
 
... और पढ़ें

महिला के लूट लिए 16 हजार, बैंक में हुई घटना

मुहम्मदाबाद। कोतवाली क्षेत्र के यूसुफपुर स्थित इलाहाबाद बैंक में सोमवार को एक महिला से नोट बदलने के नाम पर एक युवक सोलह हजार रूपये लेकर फरार हो गया। इस मामले में पीड़ित महिला ने कोतवाली में अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने बैंक पहुंचकर सीसीटीवी फुटेज देखा।
क्षेत्र के दौलताबाद गांव के रहने वाले खुर्शीद अहमद की पुत्री सुबी खातून ने इलाहाबाद बैंक की यूसुफपुर शाखा से बीस हजार पांच सौ रुपए निकाला। वह काउंटर पर रुपए गिनने लगी। इसी बीच बगल में खड़े एक युवक ने फुटकर कराने के नाम पर उसके हाथ से सौ की दोनों गड्डी लेकर उसे दो हजार की एक नोट को ऊपर रखकर नीचे सौ रुपये की बीस नोट रखकर दे दिया। लड़की जब तक रुपए गिनती युवक वहां भाग निकला। रुपये गिनने के बाद वह चिल्लाने लगी। महिला की आवाज सुनकर वहां खड़े लोगों का ध्यान भाग रहे युवक की तरफ गया। तब तक वह बाहर निकल गया। पीड़त सुबी खातून ने कोतवाली पहुंचकर अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी। तहरीर मिलते ही पुलिस ने बैंक में पहुंचकर काउंटर पर खड़े लोगों से ठगी करने वाले युवक की पहचान के बारे में जानकारी हासिल किया। पुलिस ने बैंक के सीसीटीवी कैमरे को भी देखा। देर शाम तक उसकी पहचान नहीं हो सकी थी। इस संबंध में पुलिस का कहना है कि जल्द ही युवक की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।
... और पढ़ें

महिला पहुंची एसपी के यहां, कही मार डालेंगे पूरे परिवार को वे लोग

गाजीपुर। नंदगंज थाना क्षेत्र के कुकुढ़ा गांव निवासी संतरा देवी ने सोमवार को पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह और जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य को प्रार्थना पत्र सौंपा। इसमें पीड़िता ने आरोप लगाया कि मेरे पति और देवर के हत्यारों द्वारा अपने पिता के माध्यम से मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। पुलिस द्वारा हत्यारोपी और जान से मारने की धमकी देने वाले को बचाने का प्रयास किया जा रहा है।
पीड़िता ने पत्रक में कहा है कि मेरे पति विजय राम और देवर प्रद्युम्न राम की बीते नौ फरवरी की रात सिरगिथा गांव के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में मेरे भतीजे द्वारा कुकुढ़ा गांव निवासी सूरज यादव तथा सिरगिथा निवासी खुल्ली बिंद के खिलाफ नामजद हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। हत्यारों की गिरफ्तारी के बाद सूरज यादव द्वारा अपने पिता के माध्यम से मेरे परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। कहा जा रहा है कि सूरज के जेल से बाहर आते ही मेरे परिवार के सदस्यों की हत्या कर दी जाएगी। पति एवं देवर की हत्या की जांच भुड़कुड़ा के एक पुलिस अधिकारी को सौंपी गई है। उक्त अधिकारी की ओर से निष्पक्ष जांच नहीं की जा रही है। अधिकारी की तरफ से मेरे परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन देने के बजाए सूरज को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। इससे मेरा परिवार भयभीत है। मेरे परिवार को सुरक्षा दिए जाने के साथ ही मामले की जांच किसी अन्य अधिकारी को सौंपी जाए। पीड़िता ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए आरोप लगाया कि एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि सूरज को मत फंसाओ, तुम लोगों को कुछ नहीं मिलेगा। पुलिस अधीक्षक ने न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया।
... और पढ़ें

जाम लगाने की सजा, सात नामजद, 200 अज्ञात पर केस

जमानिया। बीते दिनों जिला मुख्यालय के रजागंज पुलिस चौकी से जमानिया के पांडेय मोड़ तक बेकाबू ट्रक द्वारा दर्जन भर वाहनों को क्षतिग्रस्त कर लोगों को घायल करने की घटना हुई थी। इस दौरान जमानिया में आक्रोशित लोगों द्वारा सड़क जाम करना महंगा पड़ा गया। पुलिस कोतवाली क्षेत्र के हरपुर गांव के सात नामजद और 200 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर गिरफ्तारी में जुट गई है।
मालूम हो कि बीते 14 फरवरी को नशे में धुत चालक विनोद प्रजापति ने सदर कोतवाली क्षेत्र के रजागंज पुलिस चौकी से जमानिया पांडेय मोड़ तक तेज रफ्तार में ट्रक दौड़ाकर दर्जन भर वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया था। हादसे में आटो चालक की मौत हो गई थी और नौ लोग घायल हो गए थे। ट्रक चालक द्वारा पांडेय मोड़ के पास सड़क किनारे लगे ठेला और वाहनों को क्षतिग्रस्त करने पर आक्रोशित लोगों द्वारा सड़क पर ठेला रखकर एनएच 24 को जाम कर दिया गया था। इस मामले में देवरिया चौकी प्रभारी राजीव कुमार त्रिपाठी की तहरीर पर हरपुर निवासी रुदल यादव, गुड्डू यादव, राकेश यादव, सत्येंद्र यादव, रजनीकांत यादव, चंद्रभाष यादव, तिलेश्वर यादव सहित 150 से 200 अज्ञात के खिलाफ जमानिया कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। इस संबंध में कोतवाल राजीव सिंह ने बताया कि सड़क जाम करने को लेकर सात नामजद और 150 से 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। वीडियो से अज्ञात लोगों को चिह्नित किया जा रहा है।
... और पढ़ें

पीआरवी वाहन में टक्कर मारा, पुलिस ने पीडा कर पकड़ा था,

सुहवल। थाना क्षेत्र के बहलोलपुर गांव में स्थित महुआ बाबा के पास बीते दिनों बेकाबू ट्रक द्वारा पीआरवी 3195 वाहन में टक्कर मारने की घटना हुई थी। इस टक्कर में तीन पुलिस कर्मी घायल हो गए थे। इस मामले में हेड कांस्टेबल ने ट्रक चालक के खिलाफ सुहवल थाने में तहरीर दी। केस दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुट गई।
मालूम हो कि बीते 14 फरवरी को थाना क्षेत्र के बहलोलपुर गांव में स्थित महुआ बाबा के पास दिन में करीब तीन बजे पीआरवी 3195 वाहन खड़ा था। इसी बीच वायरलेस पर सूचना मिली कि एक बेकाबू ट्रक ने रजागंज पुलिस चौकी के पास दो जगहों बैरिकेडिंग और आटो में टक्कर दिया है। आटो चालक विनोद पाल (32) की मौत हो गई है। चालक तेज रफ्तार से ट्रक लेकर भाग रहा है। इस सूचना पर जगह-जगह बैरिकेडिंग कर दी गई। इसी बीच महुआ बाबा के पास मौजूद पीआरवी पर तैनात पुलिस ने ट्रक चालक को रुकने का इशारा किया था तो चालक ने पुलिस के वाहन में टक्कर मार दिया था। पुलिस का वाहन सड़क के नीचे चला गया था। पीआरवी पर तैनात कमांडर/प्रभारी हेड कांस्टेबल नंदलाल (45), कांस्टेबल चालक गिरजाशंकर (48) एवं होमगार्ड रामप्रवेश यादव (43) घायल हो गये थे। यही नहीं इस दुर्घटना के बाद भाग रहे चालक ने अन्य कई वाहनों में टक्कर मारा था। काफी मशक्कत के बाद घटना के दिन ही जमानिया में दैत्राबीर बाबा के पास ट्रक सहित चालक को पुलिस ने दबोच लिया था। इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक संजय वर्मा ने बताया कि पीआरवी के हेड कांस्टेबल नंदलाल की तहरीर पर ट्रक चालक सोनभद्र जिला के रावर्ट्सगंज थाने के लोहरा निवासी विनोद प्रजापति के खिलाफ हत्या के प्रयास सहित अन्य धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। कहा कि वैसे आरोपी ट्रक चालक का पुलिस पहले ही संबंधित धाराओं में चालान कर चुकी है, जो फिलहाल जिला जेल में निरुद्ध है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
DIWALI COOPAN
CHHAT COOPAN

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us