विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

2500 के सॉफ्टवेयर से 40 सेकंड में बुक हो जाते थे 20 टिकट, सुबह तत्काल कोटा खुलते ही हो जाता था 'खेल'

प्रतिबंधित सॉफ्टवेयरों से ई-टिकट की बुकिंग व इसकी कमाई से टेरर फंडिंग का मामला उजागर होने के बाद शुरू पड़ताल में टिकट दलाली से की गई करोड़ों की कमाई की परतें खुलती जा रही हैं।

22 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

हमीरपुर

शनिवार, 22 फरवरी 2020

बाढ़ से नष्ट फसलों के मुआवजे की आई धनराशि, शासन ने 2.91 करोड़ की धनराशि किसानों को जारी की

हमीरपुर। बीते अगस्त व सितंबर माह में यमुना व बेतवा नदियों में आई बाढ़ से 3054 किसान प्रभावित हुए। फसलों को भारी नुकसान हुआ। बाढ़ से 3020 हेक्टेयर जमीन पर खड़ी फसलें नष्ट हो गई। बाढ़ से प्रभावित किसानों को मुआवजा देने के लिए शासन ने 2.91 करोड़ की धनराशि जारी की है। जो किसानों के खाते में भेजी जाएगी।
सदर तहसीलदार राघवेंद्र शर्मा ने बताया बाढ़ से खरीफ की 3020 हेक्टेयर जमीन पर खड़ी फसलें पानी में डूब गई थी। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में हुए नुकसान का सर्वे कर शासन से धन की मांग की गई थी। उन्होंने बताया शासन ने दो करोड़ 90 लाख रुपये की धनराशि जारी की है। बाढ़ से प्रभावित गांवों के लेखपालों के साथ बैठक कर किसानों के बैंक खाते एकत्र किए जा रहे हैं।
मुआवजे की धनराशि किसानों के खाते में भेजी जाएगी। बाढ़ से जिन किसानों की फसलें नष्ट हुई थी। उन्हें 6800 रुपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मुआवजा मिलेगा। एक किसान को अधिकतम दो हेक्टेयर के मुआवजे के रूप में 13600 रुपये मिलेंगे। वहीं मुआवजे की न्यूनतम धनराशि एक हजार रुपये से कम नहीं होगी। तहसीलदार ने बताया बाढ़ से 3054 किसान प्रभावित हुए थे।
... और पढ़ें

एनडीआरएफ टीम ने देखी गांवों की हालत, ग्रामीणों से मिलकर आपदा प्रबंधन का दिया प्रशिक्षण

हमीरपुर। वाराणसी से आई एनडीआरएफ की टीम ने मानसूनी बारिश से प्रभावित गांवों सुरौली, डिग्गी, मेरापुर, भिलांवा, रमेड़ी डांडा, पत्योरा आदि का दौरा किया।
इस दौरान टीम ने ग्रामीणों से बाढ़ के दौरान पानी का स्तर बढ़ने पर होने वाली परेशानियों व आगे किसी आपदा की स्थिति में त्वरित सहायता के मद्देनजर जानकारियां एकत्र की और महत्वपूर्ण स्थानों जैसे अस्पताल व पुलिस चौकी के कर्मचारियों से विचार विमर्श किया। ताकि आपदा के समय जल्द राहत एवं बचाव कार्य सुचारु रूप से चलाया जा सके।
टीम के साथ लेखपाल रमेश चंद्र, प्रधान विजय कुमार मौजूद रहे। एनडीआरएफ टीम के कमांडर अमोल कुमार के साथ टीम टूआईसी मुकेश चौहान, राजेंद्र नेगी, अमित दुबे व जयशंकर रहे। टीम शुक्रवार को कुरारा विकासखंड के यमुना नदी पट्टी में बसे गांव मनकी व अन्य गांवों का दौरा कर ग्रामीणों को आपदा प्रबंधन का प्रशिक्षण देगी।
... और पढ़ें

शैक्षणिक गुणवत्ता खराब होने पर हेडमास्टर निलंबित, तीन स्कूलों के चार शिक्षकों पर भी कार्रवाई के लिए नोटिस जारी

हमीरपुर। कुरारा ब्लाक के ककरऊ गांव में संचालित बेसिक शिक्षा के तीन विद्यालयों में वित्तीय अनियमितताएं और शैक्षणिक गुणवत्ता खराब पाए जाने पर गुरुवार को बीएसए सतीश कुमार ने प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया है। साथ ही चार शिक्षकों को कार्रवाई के लिए नोटिस जारी की है।
बीएसए सतीश कुमार ने बताया ककरऊ गांव में एक कैैंपस में प्राइमरी विद्यालय, कन्या प्राथमिक विद्यालय व उच्च प्राथमिक विद्यालय संचालित हैं। तीनों विद्यालयों में चंद्रभूषण प्रधानाध्यापक हैं। निरीक्षण में पाया बजट अवमुक्त होने के बाद भी विद्यालय भवनों की रंगाई, पुताई नहीं कराई गई है। न ही विद्यालय परिसर में साफ सफाई और जलभराव की समस्या दूर कराई है।
विद्यालय परिसर में एक बड़ा गड्ढा है जिस पर पानी भरा रहता है। गंदगी रहने से संक्रामक बीमारी फैल सकती हैं। बताया तीनों विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों की शैक्षणिक गुणवत्ता भी बड़ी ही दयनीय मिली है। इसलिए प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही चार शिक्षकों को कार्रवाई के लिए नोटिस जारी किया है।
... और पढ़ें

अच्छी संगति के बिना मनुष्य सत्कर्मी स्वभाव का नहीं बन पाता

हमीरपुर। शुक्रवार को संत निरंकारी सत्संग भवन कुछेछा में क्षेत्रीय आध्यात्मिक संत समागम हुआ। चित्रकूट से आए महात्मा पं. योगेश गौड़ ने कहा कि यह मानव योनि हमें सत्कर्म करने के लिए मिली है। कहा कि बिना अच्छी संगति के मनुष्य सत्कर्मी स्वभाव का नहीं बन पाता। जबकि सत्संग उसको कहते है जहां सतगुरु अपने शिष्यों को प्रभु परमात्मा के सर्वव्यापी, अखंड, अजर, अमर, अविनाशी स्वरूप के साक्षात्कार करा कर भक्तिमय सत्कर्मी जीवन जीने की प्रेरणा देते हैं। महात्मा ने कहा कि सतगुरु निरंकारी माता सुदीक्षा सविंदर हरदेव महाराज के निर्देशन पर करोड़ों मानव प्रभु परमात्मा के सर्वव्यापी स्वरूप के साक्षात्कार कर सत्कर्मी जीवन व्यतीत कर रहे हैं। निरंकारी मिशन के अनुयायी स्वच्छता अभियान चलाकर स्वच्छ आत्मा, स्वच्छ तन, स्वच्छ पृथ्वी के लक्ष्य की ओर बढ़ रहे हैं। सत्संग में कुरारा, सुमेरपुर, बिवांर, मौदहा आदि स्थानों से निरंकारी आए। संचालन जगदीश शंकर ने किया। इस मौके पर नम्रता, विजय लक्ष्मी, राधारानी, राजपाल सिंह, डा सुशील कुमार, राजबहादुर वर्मा व अन्य ने अपने विचार व्यक्त किए। ... और पढ़ें

नहर के ओवरफ्लो होने से 200 बीघे से अधिक खेतों में भरा पानी

मौदहा (हमीरपुर)। तहसील क्षेत्र के टीहर गांव में मौदहा बांध की माइनर नंबर 1 ओवरफ्लो होने के साथ ही बंधी के अंदर ही उनके खेतों में इसकी टेल समाप्त होने पर 200 बीघे से अधिक बोई हुई फसलें जलमग्न हो गई। इससे 2 दर्जन से अधिक किसान की फसलें बुरी तरह प्रभावित हुई हैं। इन फसलों के सड़ने से उनकी जीविका का कोई साधन न होने पर इन किसानों ने सिंचाई विभाग से मुआवजे की मांग की है।
टीहर गांव के कृषक संतोष, मुन्ना, साहब सिंह, राज कुमार, रामाश्रय, गंगाराम, अरविंद तिवारी, गोरेलाल, देवीदीन, रमेश, कामता प्रसाद, ओमप्रकाश आदि ने अधिकारियों के दिए गए प्रार्थना पत्र में बताया कि मौदहा बांध के माइनर नंबर 1 से बुरी तरह त्रस्त हैं। इस माइनर के टेल को आगे बढ़ाकर नाले में डालने की मांग करते आ रहे हैं। किसानों ने बताया कि वह बीते 15 साल से इस नहर की त्रासदी से बुरी तरह से परेशान हैं। मांग की है कि यदि इस माइनर को आगे नहीं बढ़ाया जाता तो इसे पूरी तरह बंद कर दिया जाए। जिससे उनकी बर्बाद होने वाली फसलों को बचाया जा सके। किसानों का यह भी कहना है कि इस समय पानी से उनकी बोई हुई फसल लगभग 200 बीघे से अधिक जलमग्न है। किसानों ने दूसरी बार अपनी फसलें बोली थी। अब कटाई का समय होने के बावजूद फसलें भी नहीं बोई जा सकती हैं। ऐसी स्थिति में राजस्व विभाग व सिंचाई विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे किसानों की क्षति की पड़ताल कर उन्हें इसका मुआवजा दिया जाए। यदि उनकी इस समस्या पर ध्यान नहीं दिया जाता तो मजबूर होकर उन्हें सड़कों पर परिवार सहित उतरना पड़ सकता है।
... और पढ़ें

हर-हर महादेव के जयकारे के साथ गूंजे शिवालय

हमीरपुर। शुक्रवार को जिले भर में महाशिवरात्रि का पर्व धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। पातालेश्वर भगवान के दर्शन करने को लेकर सुबह से मंदिर में भक्तों की लंबी लाइन लगी रही। वहीं संगमहेश्वर मंदिर में दर्शन करने से पहले भक्तों को भिलावां में लगे जाम से निपटना पड़ा। इसके साथ ही मौदहा, सरीला व अन्य कस्बों में बैंडबाजों, ढ़ोल नगांड़ों के साथ शिवबरात निकाली गई। शिवबरात में शामिल झांकियां आकर्षण का केंद्र रही।
मेरापुर यमुना नदी किनारे स्थित संगमहेश्वर भगवान के दर्शन करने के लिए भक्तों को मशक्कत करनी पड़ी। भिलावां में हो रहे नाले के निर्माण की सामग्री सड़क की पटरी पर पड़ी होने व गैस सिलिंडर से भरा ट्रक फंसने से करीब एक घंटे तक जाम लगा रहा। एकलौता मार्ग होने से बाइक सवार, चार पहिया वाहन में सवार लोग फंसे रहे। यातायात व कोतवाली पुलिस के पहुंचने पर जाम खुल सका। मंदिर में भंडारे का भी आयोजन किया गया। सुरक्षा को लेकर महिला व पुरुष पुलिस कर्मी ड्यूटी पर रहे। इसके साथ ही मुख्यालय के अन्य शिवमंदिरों को सजाया गया।
सरीला में शिव की बरात निकाली गई। दूल्हा शिव का राजा हिमाचल के रूप में 151 स्थानों पर टीका किया गया। नगर भ्रमण के बाद देर रात बारात के मंदिर पहुंचने पर वैवाहिक रस्में संपन्न हुई। प्राचीन श्री शल्लेश्वर मंदिर में दूर दराज से आए कांवरियों का तांता लगा रहा। दोपहर से शुरू हुई शिवबरात में नंदी पर सवार शिव स्वरूप बालक बहुत ही मनुहारी लग रहा था। भूतप्रेत, संतों की टोली, पागल, बहुरूपिए सहित विभिन्न प्रकार के स्वांगों व डीजे की धुनों पर लग रहे शिव के जयकारों के बीच रंग-गुलाल उड़ाते युवा चल रहे थे। निर्मोही अखाड़ा, सर्व धर्म समभावना यज्ञ, फूल सिंह आवासीय विद्यालय की सखा सुदामा, शलेश्वर इंटर कालेज की समुद्र पर राम का क्रोध तथा राधा कृष्ण दरबार सरस्वती विद्या मंदिर की राधा कृष्ण की रास लीला, हिमालय पर्वत पर शिव पार्वती आकर्षण का केंद्र रहीं। वीर अभिमंयू, यातायात नियमों का पालन, आईपीएल सरीला, नशा खोरी के दुष्परिणाम, झाकियां सराहनीय रहीं। नेस्ले मार्केट से शुरू हुई बारात के नगर भ्रमण की बाद देर रात मंदिर पहुंचने पर अन्य वैवाविक रस्में भी पूरी की गई। रात में बरहरा रोड, मंदिर परिसर, बड़ी माता मंदिर परिसर, रामजानकी मंदिर के पास सहित विभिन्न स्थानों पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। रामजानकी मंदिर में अनवरत भंडारा चलता रहा। भीड़ के मद्देनजर जरिया, जलालपुर, चिकासी थानों से भारी पुलिस फोर्स तैनात किया गया था।
मौदहा में शिव बरात निकलने के साथ ही कस्बे के कई स्थानों पर कार्यक्रम हुए। कस्बे के फत्तेपुर से भोले शंकर की बरात निकाली गई। थिरकते हुए युवक व महिलाएं हर हर बम बम के जयघोष कर गुजरे। पुलिस ने सुरक्षा की विशेष व्यवस्था की थी। रोहारी गांव स्थित प्रसिद्ध साढ़े बाबा मंदिर की विशेषता यह है कि यह बरगद के भारी-भरकम पेड़ के तने व जड़ों के बीच विशाल शिवलिंग स्थापित है। विशेष कार्यक्रम के तहत स्थानीय लोगों के अलावा आसपास के ग्रामीण इकट्ठा हुए। शिव की बरात निकाली गई। करहिया व कुनेहटा में भी शिव बरात निकाली गई। सायर गांव में प्रधान हरि शरण सिंह ने विशेष कार्यक्रम कराने के साथ ही भंडारे का आयोजन किया। जबकि कस्बे के स्टेशन मार्ग स्थित शिव शक्ति मंदिर में भी सुबह से पूजा-अर्चना का कार्यक्रम शुरू हुआ। शनिवार को इस स्थान पर भोज का आयोजन किया जाएगा। वही धर्मशाला के निकट अन्नी बाबा आदि ने शिव की प्रतिमा स्थापित कराई।
... और पढ़ें

बिगड़े मौसम के मिजाज को देखकर किसान सहमा

भरुआसुमेरपुर। पिछले 24 घंटे से बिगड़े मौसम के मिजाज को देखकर किसान सहम गया है। लगातार पुरवाई हवाएं चलने से दलहनी एवं तिलहनी फसलों में माहू के साथ सूड़ी का प्रकोप बढ़ा है। इससे किसान विचलित होने लगा है।
अर्से बाद इस वर्ष ठीकठाक बारिश होने तथा समयानुसार महावट हो जाने से पिछले वर्षो की तुलना में इस वर्ष रबी की फसलें बेहतर हैं। किसानों को इस वर्ष अच्छे उत्पादन की उम्मीद है। इस वर्ष मटर, चना, सरसों, अरहर के साथ गेहूं की फसल बेहतर है। लेकिन पिछले 24 घंटे से बिगड़े मौसम ने किसानों की धड़कने तेज कर दी है। गुरुवार को शाम से तेज हवाएं चलने तथा शुक्रवार को यह क्रम दिन भर जारी रहने एवं बादलों की आवाजाही को देखकर किसान चिंचित है। किसानों के अनुसार इस समय ऐसे मौसम की नहीं बल्कि तेज धूप के साथ पछुआ हवा की जरूरत है। तभी अच्छे उत्पादन की उम्मीद की जा सकती है। पिछले तीन दिन से लगातार पुरवाई चलने से दलहनी एवं तिलहनी फसलों में माहू के साथ सूड़ी का प्रकोप बढ़ा है। इससे किसानों को क्षति की आशंका है। साथ ही फसलों को बचाने के लिए कीटनाशक आदि छिड़काव की जरुरत पड़ सकती है। कृषि वैज्ञानिक एसपी सोनकर ने बताया कि किसानों को परेशान होने की जरुरत ैनहीं है। कीट पतंगों के पनपने का समय निकल गया है। हवा का रूख बदलते ही धूप एवं गर्मी से यह स्वत: नष्ट हो जाएगी। फसलों में नुकसान की आशंका नाम मात्र ही है।
... और पढ़ें

रेलवे ट्रैक पर मिला किसान का शव

भरुआसुमेरपुर। गुरुवार की रात खेतों में खड़ी फसलों की रखवाली करने गए किसान का शव सुबह बांदा कानपुर रेलवे लाइन के ट्रैक किनारे पाए जाने से सनसनी फैल गई। पुलिस ने मौका मुआइना के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। लेकिन अभी तक किसी ने तहरीर नहीं दी है।
देवगांव निवासी जाकिर हुसैन (55) पुत्र सैय्यद्दीन के खेत सुमेरपुर व यमुना साऊथ रेलवे स्टेशन के मध्य रेलवे के गेट संख्या-25 के पास हैं। जाकिर हुसैन पिछले कुछ दिनों से कस्बे में गढ़ी मोहल्ला में परिवार सहित रहने लगा था। गुरुवार की रात वह फसलों की रखवाली करने गया था। उसके पास दस बीघा खेती योग्य जमीन है। सुबह सात बजे उसका शव रेलवे गेट संख्या-25 के समीप रेलवे ट्रैक के नीचे पड़ा पाया गया। किसान का शव रेलवे ट्रैक किनारे पड़े होने की सूचना पर कुछ ही देर में ग्रामीणों का मजमा लग गया। घटना से ग्रामीणों का मजमा लग गया। घटना से ग्रामीणों ने पुलिस को अवगत कराया। सूचना पर थानाध्यक्ष श्रीप्रकाश यादव पहुंचे और घटना का मौका मुआइना करने के उपरांत शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मृतक की पत्नी हसीना ने हत्या की आशंका जाहिर की है। उनका आरोप है कि खेत के आसपास प्रतिदिन अन्य किसान भी रात में साथ रहते थे। लेकिन सभी लोग मौके से गायब थे। इस घटना के बाद पत्नी हसीना, पुत्री खुशबू, काजल का रो रोकर बुराहाल है। मृतक के पुत्रों सद्धाम हुसैन व इमरान हुसैन बाहर हैं। दोनों को घटना की सूचना दी है। मृतक की पत्नी हसीना ने बताया कि पुत्रों के आने पर हत्या की तहरीर दी जाएगी। क्योंकि उसके पति हत्या की गई है। कहा कि पति ने आत्महत्या नहीं की है। पुलिस प्रथम दृष्टया घटना को आत्महत्या ही मान रही है। थानाध्यक्ष ने कहा कि किसान किसी ट्रेन की चपेट में आकर मरा है। परिजनों ने फिलहाल कोई तहरीर नहीं दी है। अगर तहरीर मिलेगी तो जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

गोशाला के पास अराजकतत्वों ने फेंके आधा दर्जन मृत मवेशी

भरुआसुमेरपुर। गुरुवार की रात कुछ अज्ञात लोग आधा दर्जन मृत मवेशी ट्रैक्टर ट्राली में लादकर विदोखर मेदनी की गोशाला के समीप इंगोहटा छानी मार्ग किनारे फेंककर रफूचक्कर हो गई। सुबह सड़क किनारे मृत मवेशी देखकर लोगों में आक्रोश पनप गया। सूचना ग्रामीणों ने डायल 112 को दी। डायल 112 के साथ थानाध्यक्ष श्रीप्रकाश यादव, पशु चिकित्साधिकारी डा.पंकज सचान मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों को कार्रवाई का आश्वासन देकर मृत मवेशियों को ग्राम प्रधान के सहयोग से गड्ढा खोदकर दफन कराया।
ग्राम प्रधान ने कहा कि कुछ अराजकतत्व बदनाम करने की गरज से इस तरह की ओछी हरकत कर रहे हैं। जबकि मेरी गोशाला में भूसा, पानी आदि का बेहतर प्रबंध है। पशु चिकित्साधिकारी ने बताया कि चार वृद्ध मवेशियों के साथ दो बच्चों की मौत हुई है। यह स्पष्ट है कि इनको बाहर से लाकर यहां फेंका गया है। इसके सबूत भी मौके पर मिले हैं। सारे घटना क्रम से पुलिस भी अवगत हो गई है। ग्राम प्रधान ममता देवी मिश्रा का आरोप है कि कुछ अराजकतत्व उनके पति की बीमारी का फायदा उठाकर बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं। गोशाला में भूसा, पानी, छाया का पर्याप्त इंतजाम है। उन्होंने पुलिस प्रशासन से निष्पक्ष जांच कर घटना की साजिश के खुलासे की मांग की है।
... और पढ़ें

ताऊ की डांट से नाराज होकर भतीजी ने लगाई फांसी, मौत

हमीरपुर। रास्ते के विवाद को लेकर ताऊ ने भतीजी को डांट दिया, जिससे नाराज भतीजी ने घर के पीछे खड़े नीम के पेड़ पर दुपट्टे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। । मृतक के पिता ने कोतवाली में तहरीर दी है।
स्थानीय कोतवाली के ब्रम्हाडेरा मोहल्ला निवासी रामदास निषाद का अपने बड़े भाइयों जगदीश व रामसजीवन से रास्ते को लेकर पिछले कई वर्षों से विवाद चला आ रहा है। इस पर आए दिन खटपट होती रहती है। शुक्रवार की सुबह करीब छह बजे रामदास की पुत्री पारुल (18) अपनी मां मुन्नीदेवी के साथ पशुबाड़ा में सफाई करने के बाद गोबर फेंकने ताऊ जगदीश के दरवाजे के सामने से जा रही थी। इस पर उसके ताऊ व ताई केशकली ने विरोध कर उससे गालीगलौज करने लगे। पारुल यह बात अपनी बड़ी बहन रश्मि को बताई। रश्मि ने बहन को समझा बुझाकर शांत रहने को कहा। कुछ देर बाद पारुल फिर उसी रास्ते से गोबर फेंकने गई और काफी देर तक न नहीं लौटी, इस पर उसकी तलाश की गई। तब पड़ोसियों ने बताया कि जगदीश के घर के पीछे लगे नीम के पेड़ पर पारुल ने फांसी लगा ली।
मौके पर पहुंचे परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव को पेड़ से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पिता रामदास ने बताया कि रास्ते को लेकर विवाद कई वर्षों से है। कहा कि उसके बड़े भाइयों व उनकी पत्नियों ने उसकी पुत्री के साथ गालीगलौज की, जिससे आहत होकर उसने फांसी लगाई है। पीड़ित ने बड़े भाई व भाभी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने को कहा। कोतवाल श्याम प्रताप पटेल ने बताया कि तहरीर मिली है। जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

थाने में युवक ने पेट्रोल डालकर की आत्महत्या की कोशिश

हमीरपुर। शनिवार को प्रेम प्रसंग को लेकर थाना परिसर में पेट्रोल डालकर आत्महत्या करने की कोशिश करने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार को पुलिस ने उसे शांतिभंग में जेल भेजा है।
शनिवार की शाम बिवांर थाने के पाटनपुर गांव निवासी देवीदीन (26) थाना परिसर पहुंचा। उसने बताया कि वह कानपुर से बीए करने के साथ पुलिस भर्ती की तैयारी कर रहा है। कहा कि फेसबुक से उसका झांसी की एक युवती से प्रेम प्रसंग हो गया। इसके बाद कुछ माह से फोन पर उसकी बातचीत होने लगी। युवती के परिजनों को जानकारी होने पर मोबाइल तोड़ दिया। कहा कि युवती को परिजन कमरे के अंदर बंद किए हुए हैं। इसको लेकर परेशान देवीदीन थाने में आया। पहले से बोतल में लिए पेट्रोल को अपने ऊपर डालकर आग लगाने की कोशिश करने लगा। तभी आरक्षी कुंती देवी व थानाध्यक्ष ने देख उसे दौड़ कर पकड़ लिया। युवक ने कहा कि अपनी प्रेमिका से बातचीत न होने पर उसने आत्महत्या का प्रयास किया है। पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर शांतिभंग में जेल भेजा है। थानाध्यक्ष राजेश कुमार वर्मा ने बताया कि युवक अचानक थाना परिसर में आया और बिना कुछ बताए पेट्रोल डालकर नौटंकी कर रहा था।
... और पढ़ें

सांस्कृतिक कार्यक्रमों से बच्चों ने मन मोहा

भरुआसुमेरपुर। शासन के निर्देश पर परिषदीय विद्यालयों में भी वार्षिक उत्सव की परंपरा शुरू हो गई है। गुरुवार को कस्बे के पूर्व माध्यमिक विद्यालय के वार्षिकोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। चेयरमैन आनंदी प्रसाद पालीवाल व खंड शिक्षा अधिकारी व्यास देव ने कार्यक्रम की शुरुआत की। छात्र-छात्राओं ने सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत पेश किए। चेयरमैन ने कहा विद्यालय के विकास में हर संभव सहयोग किया जाएगा। खंड शिक्षा अधिकारी ने कहा ग्रामीण क्षेत्रों में योजना कायाकल्प लागू की गई है। जल्दी ही सभी विद्यालय को निजी संस्थानों की तरह तैयार कर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करेंगे। प्रधानाध्यापिका पद्मा द्विवेदी, सीमा सिंह, वंदना त्रिपाठी, मंजू गुप्ता, जाकिया बानो, कृष्णा यादव, विनीत द्विवेदी, अमरीश कुमार, सत्यप्रकाश, संकुल प्रभारी हृदेश द्विवेदी, बाबूलाल विश्वकर्मा, मुन्नी लाल अवस्थी आदि मौजूद रहे। संचालन अनुदेशक पुनीत किशोर ने किया।
वार्षिकोत्सव में प्रस्तुत किए रंगारंग कार्यक्रम
बिवांर। प्राचीन प्राथमिक विद्यालय में वार्षिकोत्सव का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन प्रधान प्रतिनिधि रमेश सिंह भदौरिया ने किया। प्रधानाचार्य शक्ति मिश्र सहित स्कूल का स्टाफ व शिक्षा समिति के सदस्य मौजूद रहे। वहीं महेरा गांव के प्राथमिक विद्यालय में भी वार्षिकोत्सव का आयोजन किया गया। जहां बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। प्रधानाचार्य बाबूराम प्रजापति समेत स्कूल का स्टाफ, अभिभावक व बच्चे मौजूद रहे।
वार्षिकोत्सव में बच्चों ने मचाया धमाल
राठ। इटायल गांव स्थित उच्च प्राथमिक विद्यालय में वार्षिकोत्सव समारोह आयोजित किया गया। जवाहर नवोदय विद्यालय की प्रधानाचार्या मंजू लता व बीएनवी के प्रोफेसर सरजू नारायण कुशवाहा ने उद्घाटन किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत अंशिका, क्रांति, दीपा, आराधना, निशा ने सरस्वती वंदना से की। प्रधानाचार्य राजेंद्र कुमारी, रामप्रकाश, राघवेंद्र, आलोक राजपूत, लोक सिंह, जगत सिंह राजपूत, रसूल मोहम्मद, हरिओम सोनी, सुनीता राजपूत, भावना सिंह, जयंती राजपूत, विद्या सोनी आदि रहीं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us