विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

IPS बनी गोरखपुर की बेटी एमन, सीएम योगी ने मुस्लिम लड़कियों के लिए बताया रोल मॉडल

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहर की एमन जमाल का भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) में चयन होने पर शुभकामनाएं दीं।

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

हाथरस

मंगलवार, 10 दिसंबर 2019

हाथरस: परेशान किसानों ने आवारा गोवंश को किया खाली प्लॉट में बंद

परेशान किसानों ने आवारा गोवंश को किया खाली प्लॉट में बंद
गांव कलवारी व आसपास के गांवों के किसान आवारा गोवंश से काफी परेशान
ग्रामीणों का आरोप कि फसल को नष्ट कर रहे आवारा पशु और प्रशासन नहीं दे रहा ध्यान
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
हाथरस। आवारा पशुओं से किसान काफी परेशान हैं। कलवारी व आस-पास के गांवों के किसानों ने आवारा गौवंश को घेर कर कलवारी के निकट खाली पड़े प्लाट में बंद कर दिया। इस बात की सूचना प्रशासन के अधिकारियों को भी दी गई।
कलवारी, शहजादपुर, तरफरा, तेहरा, मीतई कटैलिया के किसान आवारा गोवंश से तंग आ गए हैं, क्योंकि यह किसान की फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं। इन सभी गांवों के लोगों ने एकजुट होकर कलवारी के निकट खाली पड़े एक गेट बंद प्लॉट में आवारा गोवंश को इकट्ठा करने का प्लान बनाया और फिर इसे पूरा करने में लग गए। दो दिन से इन सभी गांवों के लोग आवारा गोवंश को घेर कर ला रहे हैं, अब तक 250 से अधिक आवारा गोवंश को इस प्लॉट में बंद किया जा चुका है।
इसकी जानकारी प्रशासनिक अधिकारियों को भी दे दी गई है। कलवारी के ग्राम प्रधान राजकुमार पौनिया ने बताया कि अभी दो दिन तक तो हमें खुद इन गोवंश के खाने-पीने के पानी की व्यवस्था करनी है, लेकिन दो दिन के बाद जिला प्रशासन द्वारा इनकी खाने-पीने की व्यवस्था की जाएगी। यहां पर शहजादपुर ग्राम प्रधान सत्यवीर सिंह, तरफरा ग्राम प्रधान मेहराजुद्दीन, तेहरा से सतीश, मीतई से दुष्यंत, कटैलिया से राकेश मौजूद थे।
... और पढ़ें

हाथरस: रैली के जरिए कांग्र्रेस बताएगी भाजपा की कथनी व करनी में अंतर

रैली से कांग्रेस बताएगी भाजपा की कथनी-करनी में अंतर
14 को दिल्ली के रामलीला मैदान की रैली में शामिल होने जाएंगे कार्यकर्ता
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
हाथरस। 14 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में भारत बचाओ रैली का आयोजन होगा। रैली का मुख्य उद्देश्य है कि लोगों को यह बताना है कि भाजपा की करनी और कथनी में कितना अंतर है। देश की अर्थव्यवस्था बहुत कमजोर हो गई है और महामारी जैसी स्थिति है। बेटियां सुरक्षित नहीं है और व्यापारी परेशान है। किसान आत्महत्या के लिए मजबूर है। यह बातें उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि के रूप में हाथरस आए पूर्व सांसद चौधरी बिजेंद्र सिंह और दीपक कुमार सिंह ने कांग्रेस शहर कार्यालय पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहीं।
उन्होंने कहा कि नौजवान बेरोजगार है। रोजमर्रा की वस्तुएं इतनी महंगी हो गई हैं कि जो आम आदमी की पहुंच से दूर होती जा रही हैं। प्रधानमंत्री झूठे वादे कर कर देश की जनता को छलने का काम करते हैं।
वार्ता में जिला अध्यक्ष चंद्रगुप्त विक्रमादित्य, रतन सिंह दिवाकर, अनुज कुमार संत, जयशंकर पाराशर, कृष्णा गुप्ता, अविनाश पचौरी, ललतेश गुप्ता, राधेश्याम अग्निहोत्री, गिरिराज सिंह गहलोत, हरिशंकर वर्मा, संजय कप्तान, रीना, दिनेश सिंह, हर्ष यादव, ऋषि कुमार कौशिक, केके ब्रह्मचारी, गोविंद शरण चतुर्वेदी, रॉबिन चौहान, प्रदीप गुप्ता, कपिल नरूला, राजू पाठक, गजेंद्र सिंह, अनुज कुमार आदि थे।
... और पढ़ें

हाथरस: ओटीएस रजिस्ट्रेशन में हाथरस जिला बना जोन में नम्बर वन 18-08-16

ओटीएस रजिस्ट्रेशन में हाथरस जोन में नंबर वन
माइक के जरिये शहर से देहात तक बकाया जमा करने की कराई उद्घोषणा
अब तक 2,441 उपभोक्ताओं ने कराए पंजीकरण, बाकी का इंतजार
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
हाथरस। एकमुश्त समाधान योजना (ओटीएस) पंजीकरण में हाथरस जिला जोन में नंबर वन बन गया है। माइक के जरिये शहर से देहात तक लोगों से बकाया जमा करने की अपील की जा रही है। अब तक 2,441 लोगों ने पंजीकरण करा दिए हैं। बाकी बकायेदारों के 31 दिसंबर तक रजिस्ट्रेशन करने व बकाया के लक्ष्य को हासिल करने की कोशिशें तेज हो गई हैं।
उल्लेखनीय है कि हाथरस जिले में बिजली महकमे का एक लाख उपभोक्ताओं पर करीब सात सौ करोड़ रुपये का बकाया है। करीब साठ हजार उपभोक्ता ऐसे हैं, जिन पर दस हजार से अधिक का बिजली का बिल बकाया है।
अब बिजली महकमा शत प्रतिशत बकाया हासिल करने के लिए शहर से देहात तक माइक के माध्यम से लोगों से बकाया जमा करने की अपील कर रहा है। सोशल मीडिया और कॉलर ट्यून के माध्यम से भी बकाया जमा करने का संदेश दे रहा है। अब तक जिले के 2,441 लोगों ने ओटीएस में रजिस्ट्रेशन कराने के साथ पहली किस्त बकाया राशि भी जमा कर दी है। इसके साथ जिला जोन में नंबर वन की सूची में शामिल हो गया है।
सीएचसी पर हो रहे मुफ्त पंजीकरण
लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए बिजली महकमे के जिन बिजलीघरों पर बिलिंग काउंटर नहीं है, वहां सीएचसी संचालकों को इस काम पर लगाया गया है। बकायेदारों के फ्री रजिस्ट्रेशन किए जा रहे हैं। साथ ही अधिकारी बकायेदारों से खुद संपर्क बकाया जमा कर छूट का लाभ लेने की बात कह रहे हैं। शहर के खंड में राजस्व वसूली की स्थिति सहीं नही है। खंड द्वितीय तृतीय में राजस्व सहीं आ रहा है। अधीक्षण अभियंता हरिमोहन का कहना है कि 2441 रजिस्ट्रेशन होने के साथ जोन में हाथरस नंबर वन पर पहुंच गया है। बकाया वसूली में खंड द्वितीय व तृतीय की स्थिति सही है।
... और पढ़ें

सादाबाद के लोगों को अब मिलेगी निर्बाध बिजली

संवाद न्यूज एजेंसी, सादाबाद।
जैतई रोड स्थित बिजलीघर की क्षमता अब दोगुनी हो जाएगी। सादाबाद के लोगों को बार-बार होने वाली ट्रिपिंग और ओवरलोड की वजह से होने वाली बिजली की कटौती की समस्या से राहत मिल जाएगी। बिजलीघर पर पांच एमवीए का एक और नया ट्रांसफॉर्मर सोमवार को पहुंच गया। दो से तीन दिन में इस ट्रांसफॉर्मर को स्थापित कर दिया जाएगा।
गौरतलब हो कि सादाबाद के जैतई रोड स्थित बिजलीघर पर दस एमवीए की जगह सिर्फ पांच एमवीए का ही ट्रांसफॉर्मर लगा हुआ था। इस ट्रांसफार्मर से टाउन टू फीडर को आपूर्ति की जा रही है, जिसमें नगर के भी कई इलाके शामिल हैं। एक ट्रांसफॉर्मर की कमी की वजह से नगर और क्षेत्र के लोगों को बार बार बिजली की ट्रिपिंग और ओवरलोड की वजह से कटौती का सामना करना पड़ रहा था। नलकूप फीडरों को भी पर्याप्त बिजली नहीं मिल पा रही थी, लेकिन अब इन समस्याओं का समाधान हो जाएगा।
स्थानीय बिजली महकमे के अधिकारियों ने काफी समय से पांच एमवीए के एक और ट्रांसफॉर्मर की मांग की जा रही थी, जो सोमवार को प्राप्त हो गया। इस ट्रांसफॉर्मर को तीन से चार दिन में चालू कर दिया जाएगा, जिससे लोगों की बिजली संबंधी उक्त समस्याओं का समाधान हो जाएगा। एसडीओ दुर्गेश गौतम और जेई अमित कुमार ने बताया कि पांच एमवीए का ट्रांसफॉर्मर आ गया है, जिसे तीन चार दिन में स्थापित कर चालू कर दिया जाएगा। इससे सादाबाद क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति व्यवस्था में अच्छा खासा सुधार हो सकेगा। लोगों को बिजली समस्या से राहत मिलेगी।
... और पढ़ें
जैतई बिजलीघर पहुंचा पांच केवीए का ट्रांसफॉर्मर। जैतई बिजलीघर पहुंचा पांच केवीए का ट्रांसफॉर्मर।

कई घंटे तक कस्टडी में रखकर पुलिस व आईटी की टीम ने किया टार्चर

हींग कारोबारी गौरव बंसल के भाई शुभम बंसल का आरोप है कि गौरव को इंदौर में जीआरपी और आईटी की टीम ने कई घंटे तक टार्चर किया और उसकी मौत की जिम्मेदार वहां की पुलिस और आईटी की टीम है। इधर, स्थानीय व्यापारियों ने भी इसके लिए एमपी पुलिस और वहां की आयकर विभाग की टीम को जिम्मेदार माना है।
मृत हींग कारोबारी गौरव के भाई शुभम ने पुलिस और इनकम टैक्स की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं। शुभम का कहना है कि उनके भाई गौरव को आयकर विभाग की टीम ने पूरी प्रक्रिया पर सुबह 6:25 मिनट पर सो कॉज नोटिस दे दिया, लेकिन उसके बाद उनके भाई को शुक्रवार की रात्रि में 1.57 बजे छोड़ा गया। आखिर इतनी देर तक उनके भाई को जीआरपी ने बैठाए रखा। इससे स्पष्ट है कि उनके भाई को टॉर्चर किया गया। उनके भाई को यातनाएं दी गई। इसी के चलते उसने यह कदम उठाया। ऐसे में उनके भाई की मौत के लिए जीआरपी और आईटी की टीम जिम्मेदार है। अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश मंत्री योगा पंडित, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य गोविंद प्रसाद अग्रवाल, जिला अध्यक्ष अशोक बागला, जिला महामंत्री कपिल अग्रवाल ,नगर अध्यक्ष पदम अग्रवाल ने कहा कि गौरव बंसल को जिस प्रकार लंबे समय तक जांच के नाम पर कस्टडी में रखा गया, वह जीआरपी इंदौर एवं इनकम टैक्स विभाग द्वारा सामान्य कार्रवाई नहीं माना जा सकता है। जो परिस्थितियां हैं, उससे स्पष्ट है कि दोनों विभागों ने मिलकर अनुचित दबाव बनाया। अवैध धन की मांग की और मांग पूरी न होने पर मानसिक उत्पीड़न किया एवं अवैधानिक कार्रवाई की है। पूरा मामला अति संदिग्ध है। इसमें दोनों विभागों का कहीं न कहीं कोई गहरा षड्यंत्र है। इसलिए इस मामले में दोषी अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा कायम करा उनकी गिरफ्तारी होनी चाहिए।
डिप्रेशन में आ गया गौरव और उठा लिया यह कदम
मृत गौरव के पिता राकेश बंसल का दूसरे दिन भी अपने निवास पर रो-रोकर बुरा हाल था। उनका कहना था कि उनके बेटे को 19 लाख रुपये के साथ जीआरपी इंदौर ने पकड़ लिया तो कई घंटे तक वहां उसे टार्चर किया गया। आईटी की टीम भी वहां आ गई। उस पर रकम मिलने के बाद जीआरपी ने उनके बेटे को टेररिस्टों की लिस्ट में डालने तक की धमकी दी गई। इससे उनका बेटा डिप्रेशन में आ गया। उसने परिवार के किसी व्यक्ति से संपर्क नहीं किया और खुदकुशी कर ली। उनका कहना था कि अब वह क्या करें। उनका बेटा तो लौटकर नहीं आ सकता।
इंदौर में भी खुदकुशी की कोशिश की थी गौरव ने
हालांकि गौरव की मौत के साथ कई राज दफन हो गए हैं, लेकिन उज्जैन में खुदकुशी करने से पहले गौरव ने इंदौर में भी खुदकुशी करने की कोशिश की। वैसे पूरे दिन इस घटनाक्रम को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं रही। हर किसी की जुबां यही वारदात रही।
यदि पूरे घटनाक्रम को देखें तो गौरव बंसल को शुक्रवार की दोपहर करीब साढ़े तीन बजे इंदौर रेलवे स्टेशन पर जीआरपी ने पकड़ा। शुक्रवार को छह दिसंबर था और सघन चेकिंग भी हो रही थी। ऐसे में गौरव पर तगादे के 19 लाख रुपये थे। जीआरपी उसे थाने ले गई। वहां इतनी धनराशि मिलने के बाद इंदौर रेलवे स्टेशन पर जीआरपी ने इनकम टैक्स की टीम को बुला लिया। इनकम टैक्स की टीम ने उसके काफी पूछताछ की और धनराशि जब्त कर उसे और पूछताछ के लिए अगले दिन 12 बजे आने को कहा। परिजनों का आरोप है कि रात्रि में 2 बजे तक जीआरपी गौरव से पूछताछ करती रही। इसके बाद परेशान गौरव इंदौर के होटल नीलम में रुक गया। वहां भी रात्रि में उसने गले की नस काटकर खुदकुशी करने की कोशिश की। इसका सबूत उसके कमरे में मिले खून के निशान हैं। उसके बाद वह वहां से उज्जैन चला गया। बताते हैं कि वह इस दौरान एक अस्पताल में भी उपचार के लिए गया। वहां मरहम पट्टी कराने के बाद उसने शनिवार की शाम को उज्जैन में महाकालेश्वर के दर्शन भी किए। फिर वह उज्जैन में एक होटल गया। वहां उसके गले पर चोट के निशान देख उसे कमरा नहीं मिला। तदुपरांत उसे उज्जैन में होटल प्रीती में कमरा मिल गया। वहां शनिवार की रात्रि में किसी समय उसने अपने गले को चाकू से रेतकर व गर्दन की नस काटकर खुदकुशी कर ली।
इधर, जब परिजनों को उसके गुम होने की जानकारी मिली तो यह लोग भी उज्जैन पहुंचे। परिजन पीछा करते रहे और गौरव उनके उनसे एक कदम आगे चलता रहा। रविवार को जब परिजनों व परिचितों को यह मालूम हुआ कि गौरव होटल प्रीती में ठहरा है तो यह लोग वहां पहुंचे। तब उन्हें गौरव की रक्तरंजित लाश कमरे में पड़ी मिली। उसका कमरा अंदर से बंद था। बाद में उज्जैन की पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया और शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।
... और पढ़ें

आवारा गोवंशों की पशु पालन विभाग की टीम ने की टैगिंग

संवाद न्यूज एजेंसी, हाथरस।
गांव कलवारी में एक खाली प्लाट में बंद किए गए गोवंशों की पशुपालन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों ने टैगिंग की। इस मौके पर 82 गायों की टैगिंग की गई। वहीं एसडीएम सदर नीतीश कुमार सिंह ने मौके पर पहुंच कर गोवंशों के स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश दिए। टीम ने कुछ घायल गोवंशों का इलाज किया।
उल्लेखनीय है कि गांव कलवारी, शहजादपुर, तरफरा, तेहरा, मीतई, कटैलिया आदि के किसान आवारा गोवंशों से परेशान चल रहे थे। यह गोवंश किसानों की फसलों को नष्ट कर नुकसान पहुंचा रहे थे। इसी के चलते इन सभी ग्रामों के ग्रामीणों ने एकजुट होकर कलवारी के निकट खाली पड़े गेट बंद प्लाट में सभी आवारा गोवंशों को एकत्रित कर बंद कर दिया। इन गोवंशों के बंद किए जाने की सूचना ग्रामीणों ने जिला प्रशासन को दे दी। गोवंश बंद किए जाने की सूचना पर सोमवार की सुबह पशुपालन विभाग की टीम मौके पर पहुंच गई और इन गोवंशों की टैगिंग की। वहीं टीम ने सभी गोवंशों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। गांव कलवारी में पहुंचकर एसडीएम सदर नीतीश कुमार सिंह ने भी गोवंशों की स्थिति जानी। उन्होंने घायल गोवंशों का इलाज किए जाने के निर्देश दिए। टीम ने कुछ घायल गोवंशों का इलाज भी किया। इस मौके पर 82 गायों की टैगिंग की गई।
... और पढ़ें

7 अधिकारी व 44 कर्मचारी मिले गैरहाजिर, स्पष्टीकरण तलब

संवाद न्यूज एजेंसी, हाथरस।
विकास भवन स्थित कार्यालयों का सीडीओ आरबी भास्कर ने सुबह 10:15 बजे से 10:30 बजे तक औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान 7 विभागीय अधिकारी और 44 कर्मचारी गैरहाजिर मिले। सीडीओ ने सभी गैरहाजिर अधिकारियों व कर्मचारियों का स्पष्टीकरण तलब करते हुए वेतन रोकने के आदेश जारी कर दिए। इस कार्रवाई से विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों में खलबली मच गई।
शासन स्तर से सभी विभागीय अधिकारियों को यह निर्देश हैं कि अधिकारी सुबह 9:30 बजे से 10:30 बजे तक कार्यालयों में उपलब्ध रहकर जनता की समस्याओं को सुनेंगे। इन आदेशों को जिले में विभागीय अधिकारियों ने दर किनार कर रखा है। इसकी बानगी विकास भवन स्थित कार्यालयों में देखने को मिली। सीडीओ ने लघु सिंचाई, सहकारी समिति एवं पंचायतें, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी कार्यालय आदि कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान सहायक अभियंता लघु सिंचाई, लेखा परीक्षा अधिकारी सहकारी समिति एवं पंचायतें, जिला कृषि अधिकारी, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, सहायक आयुक्त, सहकारिता, अधिशासी अभियंता जल निगम, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी गैरहाजिर मिले। वहीं इस मौके पर सहायक आयुक्त सहकारिता में 3, जिला कृषि अधिकारी कार्यालय में 3, जिला कृषि रक्षा अधिकारी कार्यालय में 5, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी कार्यालय में एक, जिला ग्राम्य विकास अभिकरण में एक, सहायक अभियंता लघु सिंचाई में 4, अर्थ एवं संख्याधिकारी में 3, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी में एक, जिला समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय में 3, जिला युवा कल्याण अधिकारी एवं प्राविद कार्यालय में 2, जल निगम कार्यालय में 13, सहायक निदेशक, मत्यस्य कार्यालय में 3, डीपीआरओ कार्यालय में 2 कर्मचारी गैरहाजिर मिले। सीडीओ ने सभी गैरहाजिर अधिकारियों व कर्मचारियों से स्पष्टीकरण तलब करते हुए वेतन रोकने की कार्रवाई की है।
... और पढ़ें

महिला को हुआ डेंगू, जिला अस्पताल में भर्ती

संवाद न्यूज एजेंसी, हाथरस।
एक महिला को प्रथम जांच में डेंगू की पुष्टि हुई। इस पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां पर उसका उपचार चल रहा है। उसे कई दिनों से बुखार आ रहा था। एक पैथोलॉजी पर कराई गई जांच में महिला को डेंगू एस1 एंटीजन रिएक्टिव आया है।
आगरा रोड गांव मीतई निवासी सरिता तिवारी पत्नी देवेंद्र कुमार को पिछले कई दिनों से बुखार आ रहा है। उनका इलाज भी किसी निजी डॉक्टर के यहां चल रहा था। सोमवार को सरिता तिवारी ने डेंगू की जांच कराई। इस प्रथम जांच में सरिता को डेंगू एस1 की पुष्टि हुई है। हालांकि अभी प्लेटलेट्स की स्थित ठीक है। जिसके कारण उन्हें जिला अस्पताल में ही भर्ती कर लिया गया है। जहां पर उनका उपचार जारी है।
दो महीने में 27 को डेंगू व 39 को हुई मलेरिया की पुष्टि
अक्तूबर व नवंबर में हुईं जांचों में डेंगू के 27 और मलेरिया के 39 केस सामने आए हैं। जिनमें अगर मलेरिया के मरीजों की बात करें तो अक्तूबर में 5284 मलेरिया की स्लाइड बनाई गईं, जिनमें से 15 मरीजों को मलेरिया कन्फर्म हुआ। वहीं नवंबर में हुईं 4759 जांचों में 24 को मलेरिया की पुष्टि हुई। इन सभी को उपचार दिया गया और वह ठीक भी हो गए।
... और पढ़ें

होमगार्ड ने भाजपा नेता पर लगाया जूता मारने और जातिसूचक गालियां देने का आरोप

भाजपा नेता बोले, होमगार्ड की वसूली को लेकर की थी शिकायत, इसलिए लगाए झूठे आरोप
संवाद न्यूज एजेंसी, हाथरस।
ट्रकों की शहर में एंट्री को लेकर स्थानीय इगलास रोड पर बखेड़ा हो गया। एक होमगार्ड ने एसपी को दिए प्रार्थना पत्र में एक भाजपा नेता पर उसे जूता मारने और जातिसूचक गालियां देने का आरोप लगाया है। वहीं, भाजपा नेता का आरोप है कि होमगार्ड खुद ही अवैध वसूली में लगे हैं। इसकी शिकायत ट्रांसपोर्टरों ने अपर पुलिस अधीक्षक से की थी। इसलिए यह होमगार्ड गलत आरोप लगा रहा है।
हाथरस गेट कोतवाली क्षेत्र में ड्यूटी कर रहे एक होमगार्ड सत्यवीर सिंह ने एसपी को दिए प्रार्थना पत्र में कहा है कि सोमवार को जब उसकी पीआरडी जवान रामेश्वर सिंह के साथ इगलास रोड बैरियर पर ड्यूटी थी तो बाईपास की ओर से एक 22 पहिया भारी वाहन आया। शिकायत के मुताबिक जब सत्यवीर व रामेश्वर ने उसे रोका तो ट्रक चालक ने कहा कि यह गाड़ी बीजेपी महामंत्री शरद माहेश्वरी की है।
इस पर जब होमगार्ड और पीआरडी जवान ने मना कर दिया तो आरोप है कि कुछ समय बात शरद माहेश्वरी वहां आ गए। आरोप है कि शरद माहेश्वरी ने होमगार्ड से उसकी जाति पूछी और फिर उसे जातिसूचक गालियां देते हुए जूता मारने की कोशिश की। साथ भी यह भी कहा कि मेरे वाहनों को तो तुम्हारा एसपी भी नहीं रोक सकता। इधर, भाजपा नेता शरद माहेश्वरी का कहना है कि यह आरोप पूरी तरह से निराधार हैं। ऐसी कोई घटना हुई ही नहीं है। होमगार्ड आजकल जमकर वसूली कर रहे हैं। तीन दिन पहले वह व कुछ और ट्रांसपोर्टर एएसपी ने इसे लेकर मिले थे। इसलिए यह होमगार्ड उन पर झूठा आरोप लगा रहा है।
- इस तरह की शिकायत होमगार्ड ने लिखित में की है। इसकी जांच सीओ सिटी को सौंपी गई है। जांच के बाद जो भी तथ्य सामने आएंगे। उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
- सिद्धार्थ वर्मा, अपर पुलिस अधीक्षक
... और पढ़ें

हाथरस: हत्या कर रेलवे ट्रैक पर फेंका गया शव

मृतक के पिता ने दर्ज कराई हत्या की रिपोर्ट
दिल्ली हावड़ा ट्रैक पर मिला था 25 वर्षीय युवक का शव
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
सहपऊ। दिल्ली हावड़ा रेलवे लाइन पर युवक के शव मिलने मामले में मृतक के पिता ने कोतवाली में तहरीर दी है। मृतक गांव धाधऊ निवासी श्याम सुंदर (25 वर्ष) पुत्र मथुरा प्रसाद ने गांव के ही कुछ लोगों के विरुद्ध कोतवाली में तहरीर देकर पुत्र की हत्या कर आत्महत्या दर्शाने लिए उसके शव को रेलवे लाइन पर डालने का आरोप लगाया है।
तहरीर में मृतक के पिता ने बताया कि गांव के ही एक युवक ने उसके पुत्र से 70 हजार रुपये उधार लिए थे। उसने छह दिसंबर को रुपये देने वादा किया था। उसी दिन शाम को करीब छह बजे नामजद चार लोग उसके घर आए और हिसाब करने के बहाने घर से बुलाकर उसे ले गए। जब वह नहीं लौटा तो रात में ही खोजबीन शुरू कर दी लेकिन, उसका पता नहीं चल सका।
दूसरे दिन सात दिसंबर को सुबह साढ़े सात बजे उसके पास कोतवाली से फोन आया कि उसके पुत्र का शव महरारा के पम्मा इंटर कॉलेज के पास रेलवे लाइन पर पड़ा हुआ है। जब वह एवं उसके परिजन घटनास्थल पर पहुंचे तो उसके पुत्र का शव रेलवे लाइन पर क्षतविक्षत पड़ा हुआ था। पिता ने इन्हीं लोगों पर हत्या कर शव फेंकने का आरोप लगाया है।
इधर, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक राज वीर सिंह का कहना है कि श्याम सुंदर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है उसमें कही भी ट्रेन से कटने पहले हत्या का जिक्र नहीं है फिर भी पीड़ित द्वारा दी गई तहरीर की गहराई से जांच की जाएगी। इसके बाद जो भी तथ्य पाए जाएंगे उसके अनुसार ही कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

हाथरस: हरियाणा मार्का छह पेटी शराब के साथ पकड़ा युवक

हरियाणा मार्का छह पेटी शराब के साथ पकड़ा युवक
संदिग्ध वाहन चेकिंग के दौरान कोतवाली पुलिस को मिली सफलता
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
सादाबाद। संदिग्ध वाहन चेकिंग और गश्त करने के दौरान पुलिस ने हरियाणा मार्का की छह पेटी शराब सहित एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया। इसके खिलाफ कोतवाली में उत्तर प्रदेश उत्पाद शुल्क आबकारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है।
कोतवाली प्रभारी निरीक्षक जगदीशचंद्र ने जानकारी देते हुए बताया कि जब वह तथा उपनिरीक्षक अनिल कुमार, उपनिरीक्षक अनिल यादव, कांस्टेबल मानवेंद्र सिंह और अंशू यादव शनिवार की रात को गश्त चेकिंग कर रहे थे तो रात करीब सवा 12 बजे चरण सिंह तिराहे के पास पहुंचे तो अभियुक्त विष्णु दयाल पुत्र लाखन सिंह निवासी मूरगड्डा पोस्ट गहराना थाना निधौलीकला जनपद एटा जो वाहन की तलाश में खड़ा था व हाथ में दो बोरियां थीं, देखकर भागने लगा, जिसे दबिश देकर घेरकर हिरासत में ले लिया गया।
तलाशी पर इसके पास से चार पेटी 48 बोतल चार्ली एप्पल ग्रीन हरियाणा मार्का, 11 बोतल मस्ताना हरियाणा मार्का व एक पेटी 48 पौवा इंपीरियल ब्लू व्हिस्की हरियाणा मार्का सहित कुल छह पेटी शराब बरामद हुई। इस मामले में कोतवाली पर उत्तर प्रदेश उत्पाद शुल्क आबकारी अधिनियम के तहत मुकद्दमा दर्ज कराया गया है।
पुलिस ने दो वारंटी किए गिरफ्तार
सादाबाद। अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत कोतवाली प्रभारी निरीक्षक जगदीशचंद्र और उपनिरीक्षक रामदास पचौरी ने मय पुलिस टीम के साथ सात-आठ दिसंबर को न्यायालय द्वारा जारी वारंट के आधार पर अशोक कुमार पुत्र बलवीर सिंह निवासी गोविंदपुर थाना सादाबाद और अभियुक्त महीपाल पुत्र परसादीलाल निवासी आरती थाना सादाबाद को गिरफ्तार कर लिया।
... और पढ़ें

हाथरस: पुतला फूंकने के मामले में सपाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

पुतला फूंकने में सपाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज
पुतले को छीनने की कोशिश में कोतवाल मुरसान भी झुलस गए थे
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
हाथरस। उन्नाव पीड़िता की दिल्ली में हुई मौत के बाद सपाइयों द्वारा किए गए प्रदर्शन के मामले में मुरसान पुलिस ने प्रदर्शन करने वाले सपाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इसमें सपा यूथ बिग्रेड के पूर्व जिलाध्यक्ष सहित 15-20 लोग शामिल हैं।
शनिवार को मुरसान में सपाइयों ने उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को लेकर प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर योगी सरकार का पुतला दहन किया था। पुतला दहन के समय पुतले की छीना झपटी में मुरसान कोतवाली प्रभारी के कपड़े में भी आग लग गई थी। इससे वहां अफरा-तफरी भी मच गई थी। वह झुलस भी गए थे।
सपाइयों के प्रदर्शन कर पुतला फुंकने के बाद मुरसान कोतवाली में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। मुरसान कोतवाली निरीक्षक सत्य प्रकाश का कहना है कि जिले में धारा 144 लागू है। ऐसे में प्रदर्शन करने वाले सपा नेता श्याम सिंह सहित अन्य 15- 20 लोगों के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई की गई है।
... और पढ़ें

हाथरस: क्या आत्महत्या करने के लिए ही इंदौर से उज्जैन गया था गौरव

क्या आत्महत्या करने के लिए ही इंदौर से उज्जैन गया था गौरव
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
हाथरस। उज्जैन में हींग कारोबारी गौरव की संदिग्ध मौत को हालांकि आत्महत्या माना जा रहा है और यह माना जा हा है कि उसने गला रेतकर व नसें काटकर आत्महत्या की, लेकिन शुक्रवार की दोपहर से अगले दो दिन तक जो कुछ उसके साथ हुआ, उससे जुड़ी कई गुत्थियों अभी अनसुलझी हैं। क्या जीआरपी व उसकी बुलाई गई टीम ने वाकई गौरव को इतना टार्चर कर दिया था कि उसे खुदकुशी करने को मजबूर होना पड़ा।
चर्चा है कि उसे इस टीम ने करीब आठ घंटे तक पूछताछ के लिए रोके रखा और वहां उसे यह भी मानसिक रूप से टार्चर किया गया कि यह भी कहा गया कि उसका नाम आतंकियों की लिस्ट में शामिल कर दिया जाएगा, क्योंकि उसके बाद इतनी करेंसी मिली है। इस दौरान आखिर उसने परिजनों से संपर्क क्यों नहीं किया।
लोगों के जेहन में यह सवाल भी कौंध रहा है कि आखिर क्या वह आत्महत्या के लिए इतना मजबूर था कि पहले वह इंदौर में उसने यह कोशिश की और फिर वह उज्जैन तक गया। आखिर यह काम तो वह इंदौर में भी कहीं कर सकता था। आखिर इस पूरे घटनाक्रम के पीछे क्या राज है। लोगों के जेहन में सवाल है कि क्या यह वास्तव में आत्महत्या है या फिर किसी की साजिश है। इन सवालों के उत्तर गौरव के शव के पोस्टमार्टम से मिलेंगे या वहां की पुलिस देगी, फिर यह सब राज ही रहेगा। इसे लेकर भी खासी चर्चा है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election