विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: संक्रमितों की संख्या 100 से ज्यादा, दौरे स्थगित कर लखनऊ रवाना हुए मुख्यमंत्री योगी

देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों से अच्छी और कहीं से बुरी खबरें आ रही हैं। मंगलवार सुबह बरेली में पांच नए मरीज मिले हैं जिनके बाद सूबे में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 102 हो गई है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

हाथरस

मंगलवार, 31 मार्च 2020

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 35 लोग गिरफ्तार

संवाद न्यूज एजेंसी, हाथरस।
लॉक डाउन को लेकर पुलिस प्रशासन सख्ती बरत रहा है। पिछले 24 घंटे में पुलिस ने जिले में 34 बैरियर पर चेकिंग कर धारा 188 का उल्लंघन करने पर 2 मुकदमे दर्ज किए और 35 लोगों को गिरफ्तार किया। काफी वाहनों के भी चालान काटे।
लॉक डाउन के चलते पुलिस जिले की सीमाओं से लेकर शहर व देहात में चे किंग अभियान चलाए हुए हैं। स्थान-स्थान पर बैरियर लगे हुए हैं और वहां काफी पुलिस फोर्स तैनात है। पिछले 24 घंटे में पुलिस ने धारा 188 का उल्लंघन करने पर दो मुकदमे दर्ज किए। यही नहीं 35 लोगों को गिरफ्तार भी किया। पुलिस ने कई वाहन भी सीज किए और काफी वाहनों का चालान भी काटा। पुलिस की इस कार्रवाई से खलबली मची रही। शहर में एसडीएम सदर रामजी मिश्र व सीओ सिटी रामशब्द यादव ने वाहनों की चेकिंग की।
पुलिस ने खाने के पैकेट भी बंटवाए
लॉक डाउन के दौरान पुलिस का मानवीय चेहरा भी सामने आया। स्थान-स्थान पर पुलिस खाने के पैकेट आदि बंटवा रही है। पुलिस ने कई स्थानों पर लोगों को अन्य खाद्द सामिग्री भी उपलब्ध कराई। इसके अलावा पुलिस ने कुछ लोगों को वाहनों से उनके निवास तक भिजवाने की भी व्यवस्था कराई।
... और पढ़ें

दिनभर घरों में कैद लोग बच्चों के साथ खेल रहे गेम, परिवार के साथ देख रहे टीवी

संवाद न्यूज एजेंसी, सादाबाद।
लॉक डाउन के बीच बंद बाजार और सन्नाटे के बीच लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं। कोई परिजनों के साथ गपशप कर समय व्यतीत कर रहा है तो कोई बच्चों के साथ विभिन्न प्रकार के खेल खेलकर दिन काट रहा है। कई जगह तो लोग परिवार सहित टीवी देखकर टाइम पास कर रहे हैं। डीडी वन पर शुरू हुए धारावाहिक रामायण को भी पहले दिन काफी लोगों ने टीवी पर देखा।
लॉक डाउन ने आम लोगों की दिनचर्या को काफी बदल दिया है। अब लोग सुबह देरी से सोकर जाग रहे हैं और उठकर अखबार पढने के बाद टीवी देख रहे हैं। बच्चे अपने मनपसंद टीवी प्रोग्राम देख रहे हैं तो बड़े लोगों का पूरा दिन टीवी पर कोरोना की न्यूज देखते ही निकल रहा है। कई जगह परिवार सहित मनपसंद मूवी देखी जा रही है। यही नहीं कई जगह अभिभावक बच्चों के साथ कैरम, लूडो, क्रिकेट खेलते हुए नजर आ रहे हैं। मोबाइल पर सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने का समय भी अब बढ़ गया है। हाथरस रोड स्थित मकान में अपने परिवार के साथ टीवी देख रहे डैनी वार्ष्णेय ने बताया कि क्या करें लॉक डाउन की वजह से व्यापार बंद है, घर पर ही परिवार के साथ टीवी देखकर समय व्यतीत किया जा रहा है। इसी तरह हरीशंकर गिरी एडवोकेट बोले कि टीवी पर रामायण का पहला एपीसोड आया था, परिवार सहित पूरा एपीसोड देखा। इसी तरह समय पास किया जा रहा है। बिसावर मेें भी परिवार के लोग बच्चों के साथ लूडो खेलकर समय पास कर रहे हैं। कई जगह लोग घरेलू कार्यों में भी हाथ बंटा रहे हैं।
... और पढ़ें

हेलो...बाहर से आया पड़ोसी खांस रहा है, टीम भेजिए

संवाद न्यूज एजेंसी, सादाबाद।
हेलो...बाहर से आया पड़ोसी खांस रहा है, टीम भेजिए सर, जी हां तहसील सादाबाद के कंट्रोल रूम और स्वास्थ्य शिक्षाधिकारी के मोबाइल पर इस तरह की फोन कॉल्स लगातार आ रही हैं। कोरोना को लेकर दहशत और डर का माहौल बना हुआ है। पड़ोस में किसी भी बाहरी व्यक्ति के आने की सूचना अधिकारियों तक पहुंच रही है। ऐसे में सादाबाद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर दिनों दिन बाहरी शहरों से सादाबाद में आने वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है।
सादाबाद क्षेत्र में लगातार लोगों का बाहरी शहरों से अपने घर लौटने का दौर लगातार जारी है। ऐसे में जो लोग दिल्ली, नोएडा, मुंबई, महाराष्ट्र, पुणे, आगरा आदि शहरों से आ रहे हैं, उनकी सूचना खुद उनके पड़ोसी लोग कंट्रोल रूम को दे रहे हैं। गांव और गली में घुसने से पहले ही उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर जांच कराने के लिए कहा जा रहा है, जिस वजह से बाहरी शहरों से आ रहे लोग घर में घुसने से पहले ही सादाबाद सीएचसी पर पहुंच रहे हैं और अपनी जांच करा रहे हैं। शनिवार को भी सादाबाद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर 164 लोगों ने अपनी जांच कराई। इनमें से तीन लोगों को जिला अस्पताल के लिए रैफर कर दिया गया। एचईओ रविंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को कोरोना नहीं होता। सीएचसी पर जांच के लिए आए काफी लोगों का होम क्वारंटीन किया गया। उनसे कहा गया है कि 14 दिन में बीमारी का कोई लक्षण दिखे तो तुरंत उपचार के लिए अस्पताल जाएं।
... और पढ़ें

बाहर से आने वाले लोगों को किया जा रहा क्वारंटीन

संवाद न्यूज एजेंसी, हाथरस।
लॉक डाउन में जिले की सीमा सील किये जाने बाद प्रशासन के निर्देशों पर बाहरी प्रदेशों व जिलों से ग्रामीण क्षेत्रों में आने वाले लोगों को क्वारंटीन किया जा रहा है। यहां जिले के 7 स्थलों को क्वारंटीन किये जाने के लिए चिह्नित किया गया है। इन स्थलों में 203 लोगों को क्वारंटीन किये जाने की क्षमता निर्धारित की गई है। देर शाम तक इन स्थलों पर 16 लोगों को क्वारंटीन कर दिया गया हैं।
जनपद में कोरोना वायरस के बढ़ती संक्रमण के नियंत्रण के लिए जनपद के ग्रामीण परिवेश में समस्त ग्राम प्रधानों को निर्देशित किया गया है। बाहर से आने वाले व्यक्तियों को गांव से बाहर विद्यालयों पंचायत भवनों या सार्वजनिक स्थलों पर ही रोका जाए। साथ ही लोगों के खाने पीने की उचित व्यवस्था की जाए। डीपीआरओ बनवारी सिंह के निर्देश पर सहायक विकास अधिकारी पंचायतों के माध्यम से पंचायत भवन सलेमपुर विकास खंड सहपऊ , उच्च प्राथमिक विद्यालय मानपुर विकास खंड मुरसान ,प्राथमिक विद्यालय दिसावर, प्राथमिक विद्यालय नगला मियां पट्टी देवरी हसायन में विद्यालय में रुकने की व्यवस्था की गई है।
... और पढ़ें

12 मार्च के बाद विदेश से आने वाले दें अपनी जानकारी, छिपाने पर होगी कार्रवाई

अपने ही लोगों में परदेसी हो रहे लोग, गांवों के बाहर प्रवेश निषेध के लगे बैनर

संवाद न्यूज एजेंसी, हाथरस।
कोरोना वायरस को लेकर गांवों में बाहर से आने वाले लोगों पर पूरी निगरानी रखी जा रही है। शासन स्तर से 27 मार्च के बाद गांवों व अन्य प्रदेशों व जिलों से आने वाले लोगों की ट्रैवलिंग हिस्ट्री सहित अन्य ब्योरा को हमारी पंचायत पोर्टल पर अपलोड किया जा रहा है। वहीं गांवों के मुख्य द्वार व अन्य प्रवेश द्वारों पर ग्रामीणों द्वारा अन्य जिलों व प्रदेशों से आने वाले लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। इन लोगों के बारे तत्काल ग्रामीण कंट्रोल रूम व स्वास्थ्य विभाग को चेकअप करने के लिए सूचित कर रहे हैं।
कोविड-19 को लेकर जिला प्रशासन ने जिले की सीमाओं को लॉक कर दिया है। सीमाओं को लॉक होने के साथ ही सीडीओ ने गांवों में ग्राम प्रधानों को गांवों की सीमाओं पर लॉकडाउन बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। इन निर्देशों के क्रम में ग्रामीणों ने अपने-अपने गांवों के मुख्य द्वार व अन्य प्रवेश द्वारों पर बैनर लगा दिए हैं, इन बैनरों में कोरोना के प्रति जागरूकता रखने की अपील की है। वहीं ग्रामीणों ने अन्य प्रदेशों व जिलों से आने से पूर्व लोगों को स्वास्थ्य चेकअप की सलाह दी है। स्वास्थ्य चेकअप से पहले ग्रामीणों को गांवों में प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। गांव में अन्य प्रदेशों से आने वाले ग्रामीणों के बारे में लोगों द्वारा कंट्रोल रूम व अन्य अधिकारियों के नंबर पर सूचना दी जा रही है। वहीं शासन स्तर से हमारी पंचायत पोर्टल को तत्काल अपडेट करने के निर्देश दिए गए हैं। इस पोर्टल पर कोविड-19 को लेकर एक नया लिंक शुरू कर दिया गया है। इस लिंक पर 27 मार्च के बाद जिले में अन्य प्रदेशों व जिलों से आने वाले लोगों का ब्योरा अपलोड किया जा रहा है। इस ब्योरा में ग्राम पंचायत का नाम, आने वाले का नाम, पिता का नाम, मोबाइल नंबर, उम्र, आने का दिनांक, आने का साधन, कहां से आए, प्रदेश, जिला, गांव आने पर किसको सूचित किया आदि जानकारी एकत्रित कर अपलोड की जा रही है। पंचायत राज विभाग की ओर से इस ब्योरे को जुटाने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।
सीमा सील होने के बाद जिले में 133 लोगों के अन्य प्रदेशों से आने की सूचना
जिले में अन्य प्रदेशों व जिलों से आने वालों की लगातार मॉनीटरिंग की जा रही है। जिला पंचायती राज विभाग की ओर से गांवों में इसका जिम्मा ग्राम प्रधान, पंचायत सचिवों को दिया गया है। गांव में प्रतिदिन आने वाले का पूरा रिकॉर्ड रखा जा रहा है और अपने ही घर में आइसोलेट किया जा रहा है। पलायन के दौर में जिले की सीमा सील से होने से पहले 3361 ग्रामीणों के आने की सूचना प्रशासन को मिली थी। इसकी सूचना विभाग ने स्वास्थ्य विभाग को दी है। हैरानी की बात यह है कि सीमा सील होने के बाद भी ग्रामीणों के जिले में आने की सूचनाएं प्रशासन को लगातार मिल रही हैं। सीमा सील के बाद जिले के ग्रामीण इलाकों में 133 लोगों के आने की सूचना जिला पंचायती राज विभाग को मिली है। इन लोगों के स्वास्थ्य चेकअप कराए जाने की व्यवस्था की जा रही है।
... और पढ़ें

हाथरस: कोरोना पाजिटिव की फैलाई अफवाह, अब होगा मुकदमा

व्हाट्सएप के माध्यम से रविवार को शहर में एक महिला के कोरोना पॉजिटिव होने की अफवाह फैलाई गई। इससे स्वास्थ्य विभाग से लेकर प्रशासन तक में हड़कंप मच गया। जांच-पड़ताल की गई तो सच्चाई सामने आई। नोडल अधिकारी ने कोतवाली हाथरस गेट में दो लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। नोडल अधिकारी ने संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कराने की बात कही है।

ऑल मेडिकल स्टाफ हाथरस और हाथरस प्लांटेशन नाम के दो व्हाट्सएप ग्रुप हैं। रविवार को इन दोनों ग्रुपों में दो अलग-अलग व्यक्तियों ने एक मैसेज डाला। इस संदेश में लिखा था कि हाथरस में कोरोना का पहला केस सामने आया है।

कोरोना से पीड़ित महिला गोशाला क्षेत्र की है। इससे स्वास्थ्य विभाग से प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। व्हाट्सएप संदेश की जांच-पड़ताल की गई तो पता चला कि मैसेज में जिस महिला को कोरोना पीड़ित बताया है, वह दिल्ली से पिछले दिनों अपने घर आई है।

इसके चलते उसे स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम क्वारंटीन किया गया। इसी को ऑल इंडिया मेडिकल स्टाफ हाथरस वाले ग्रुप में नवीन नाम के व्यक्ति ने उक्त महिला को कोरोना मरीज बता दिया। इसी प्रकार का मैसेज हाथरस प्लांटेशन ग्रुप में विपिन भारद्वाज ने किया है।

नोडल अधिकारी एसीएमओ डॉ. डीके अग्रवाल ने नवीन व विपिन भारद्वाज के खिलाफ सोशल मीडिया से भ्रामक खबरें फैलाने के लिए कोतवाली हाथरस गेट में तहरीर दी है, जिसमें महामारी अधिनियम 1897 (अधिनियम संख्या-3 सन् 1897) की धारा 2 महामारी कोविड-19 विनियमावली 2020 एवं संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करने की बात कही है।
... और पढ़ें

हाथरस: बाबू जी... मेरे पति दिव्यांग हैं, खाना भिजवा दीजिए....

demo pic
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
कलेक्ट्रेट के कंट्रोल रूम में फोन की घंटी बजी। फोन उठते ही उधर से एक महिला कहने लगी बाबू जी मेरे पति दिव्यांग हैं, घर में खाने के लिए कोई सामान नहीं है। खाने के लिए कुछ भी भिजवा दें। महिला के आवाज में दर्द था। उसकी आवाज सुनकर कंट्रोल रूम में तैनात कर्मियों ने तत्काल उस महिला को मदद पहुंचाई।
ओढ़पुरा से आई इस कॉल के बाद तत्काल कंट्रोल रूम में तैनात कर्मी हरकत में आ गए है। महिला का पता पूर्ति विभाग को दिया गया। पूर्ति विभाग ने तत्काल उक्त पते पर खाने के लिए सामान भिजवाया।
विभाग के कर्मी महिला के घर राशन का सामान लेकर पहुंचे और कहा कि अगर कोई मदद चाहिए तो इसी नंबर पर फिर कॉल कर दीजिएगा। मदद पहुंचने के बाद कंट्रोल रूम से फिर उसी नंबर पर कॉल कर यह कंफर्म किया गया कि मदद सही जगह पहुंची है या नहीं। वहीं, उक्त महिला की मदद के बाद से कंट्रोल रूम में और भी कॉल आने लगी है।
... और पढ़ें

हाथरस: सुबह बाजार खुले तो खरीददारी करने के लिए उमड़े लोग

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
रविवार को सुबह सात बजे जब बाजार खुला तो भीड़ खरीददारी करने के लिए टूट पड़ी। लोगों को यह आशंका भी है कि 21 दिन के लॉकडाउन की अवधि आगे भी बढ़ सकती है। ऐसे में लोग जरूरत का सामान कहीं ज्यादा एकत्रित कर रहे हैं। ऐसे में कालाबाजारी भी बढ़ रही। दोपहर 11 बजे के बाद बाजारों में सन्नाटा छा गया। पुलिस ने डंडे के जोर पर काफी दुकानोें को बंद कराया और अनावश्यक घूम रहे लोगों को दौड़ाया भी। इससे कई स्थानों पर खलबली मच गई।
रविवार की सुबह सात बजे से ही भीड़ आवश्यक वस्तुओं की खरीददारी के लिए उमड़ पड़ी। लोगों में परचूनी, जनरल स्टोर, डेयरी, सब्जी वालों के यहां जमकर खरीददारी की। आटा, चावल और दाल की जमकर खरीददारी हुई। लोगों को यह आशंका भी है कि लॉकडाउन की अवधि बढ़ सकती है। ऐसे में लोग जरूरी सामान और ज्यादा एकत्रित कर रहे हैं।
बाजार में जमाखोर भी सक्रिय हैं और इस मौके का जमकर फायदा उठा रहे हैं। ऐसे में लोगों को निर्धारित दरों से काफी मंहगा सामान मिला। इधर, दोपहर 11 बजे के बाद पुलिस भी एकाएक सख्त हो गई। पुलिस ने बलपूर्वक दुकानें बंद कराई और फालतू घूम रहे लोगों को घरों में जाने की चेतावनी दी। ऐसे में बाजारों में सन्नाटा छा गया और सड़कें सूनी हो गई। लोगों ने खुद को घरों में कैद कर लिया।
... और पढ़ें

हाथरस: 3400 लोगों को किया गया होम क्वारंटीन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
दूसरे राज्यों व शहरों से लोगों को हाथरस में आना जारी है, जिन्हें लेकर स्वास्थ्य विभाग ने भी कमर कस ली है। इसके तहत 3,400 से अधिक लोगों को होम क्वारंटीन किया जा चुका है। इसे लेकर तरह-तरह की अफवाहें भी फैलती रहीं। लोग इन अफवाहों से खासे परेशान रहे। अभी तक जिले में कोरोना का कोई भी पॉजिटिव केस नहीं मिला है।
लॉकडाउन के बाद से ही दूसरे राज्यों और शहरों के लोग अपने-अपने घरों के लिए चल दिए हैं, फिर चाहे उन्हें वाहन मिले नहीं मिले, पैदल ही अपने ठिकाने की ओर चल पड़े हैं। इन लोगों के आने से पड़ोस व गांव के लोग परेशानी में आ गए हैं। तभी तो ऐसे लोगों की सूचना लगातार कंट्रोल रूम को दी जा रही है। तभी तो ऐसे लोगों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम क्वारंटीन किया जा रहा है।
गोशाला पर एक महिला व उसके परिजनों को भी इसी के तहत होम क्वारंटीन किया। इसे लेकर कुछ लोगों ने उसे कोरोना होने की अफवाह फैला दी, जिसे लेकर अब जिला प्रशासन द्वारा अफवाह फैलाने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। सीएमओ डॉ. बृजेश राठौर ने बताया कि अभी तक जनपद में एक भी कोरोना वायरस से संक्रमित रोगी नहीं मिला है। जो लोग अफवाह फैला रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
स्वास्थ्य विभाग की टीमोें की भागदौड़ जारी
हाथरस। तरह-तरह की सूचनाओं पर स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार भागदौड़ भी कर रही हैं। टीमों ने फिर की सूचनाओं पर भागदौड़ की और काफी लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया, लेकिन अभी तक इनमें से किसी को कोरोना के संदिग्ध रोगी होने के लक्षण नहीं मिले।
... और पढ़ें

हाथरस: आईशोलेट किए गए युवक की पांच दिन में हकीकत आएगी सामने

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
सादाबाद के एक गांव निवासी को जिला अस्पताल में आईसोलेट किया गया है। पांच दिन की स्क्रीनिंग के बाद उसके खून के नमूने को कोरोना की जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग भेजेगा।
उल्लेखनीय है कि सादाबाद के एक गांव निवासी युवक अपनी पत्नी का इलाज कराने के लिए न्यू आगरा थाना क्षेत्र के सार्थक नर्सिंग होम में 26 मार्च को गया था, जहां उसने उस डॉक्टर से मुलाकात की, जो अपने कोरोना वायरस से पीड़ित बेटे का इलाज अपने ही अस्पताल में कर रहा था। इसी के चलते युवक को शनिवार की देरशाम को जिला अस्पताल की आईसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है।
डॉक्टरों की टीम उसकी पल-पल की जांच कर रही है। हालांकि उसमें अभी तक कोरोना वायरस से संबंधित कोई भी सिमटम नजर नहीं आए हैं, अहतियात के तौर पर उसे यहां पर भर्ती किया गया है। सीएमओ डॉ. बृजेश राठौर ने बताया कि युवक में कोरोना से संबंधित कोई लक्षण नहीं है। एहतियात के लिए उसे वार्ड में भर्ती किया गया है। पांच दिन पूरे होने पर उसके खून के नमूने को जांच के लिए भेजा जाएगा।
... और पढ़ें

हाथरस: अब फंसे हुए यात्रियों के लिए चलाई गई रोडवेज बसें, मुफ्त यात्रा करेंगे ऐसे लोग

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
कोरोना की दहशत में बीच रास्तों में फंसे लोगों के लिए राहत की खबर है। अब उन्हें रोडवेज बसों से मुफ्त में नियत स्थान तक पहुंचया जाएगा। निगम के अफसरों को मुफ्त यात्रा कराने का आदेश जारी हुआ है, जिसकी शुरुआत रविवार रात 12 बजे से होगी। हाथरस डिपो के अधिकारी यात्रियों की उपलब्धता के आधार पर बसों का संचालन की कवायद में जुटे हैं।
हाथरस जिले के काफी यात्री बाहर फंसे हुए हैं। वाहनों के अभाव में वह अपने घरों तक नहीं आ पा रहे हैं। अब वह जल्दी अपने घर पहुंचेंगे, क्योंकि परिवहन निगम द्वारा इन यात्रियों को घरों तक पहुंचाने के लिए मुफ्त में यात्रा कराई जाएगी। यात्रा के दौरान इनका नाम, पता और मोबाइल नंबर आदि प्रारूप में अंकित किया जाएगा।
इस प्रारूप के आधार पर प्रदेश सरकार रोडवेज को भुगतान करेगा। इस मामले में हाथरस डिपो की एआरएम शशी रानी का कहना है कि बाहर फंसे यात्रियों को मुफ्त यात्रा कराने का आदेश हुआ है। यात्रियों की उपलब्धता के आधार पर बसों का संचालन किया जाएगा।
... और पढ़ें

हाथरस: दूरदराज क्षेत्रों से आने वाले लोगों का अब नहीं होगा गांव में प्रवेश

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
लॉकडाउन के बाद अपने गांवों व शहरों की ओर से तेजी से शुरू हुए पलायन ने जिला प्रशासन के साथ स्वास्थ्य विभाग और स्थानीय प्रशासन के भी हाथ पांव फुला दिए हैं। 30 मार्च से जितने भी लोग बाहर शहरों से अपने गांव आएंगे, वह सभी गांव से बाहर की रोके जाएंगे और वहां उन्हें क्वारंटीन में रखा जाएगा।
सीडीओ आरबी भास्कर ने यह निर्देश सभी ग्राम प्रधानों व पंचायत सचिवों को जारी कर दिए हैं। उन्होंने कहा हैं कि सभी को गांव से बाहर क्वारंटीन किया जाए और किसी भी ग्रामवासी को इन व्यक्तियों से नहीं मिलने दिया जाए। उनके खाने-पीने की व्यवस्था गांव के बाहर ही की जाए। हाथ धोने तथा सैनिटाइजर की व्यवस्था गांव से बाहर ही की जाए।
व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाएं पाए जाने पर कंट्रोल रूम नंबर 05722 227076 पर तत्काल सूचित किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि इन व्यक्तियों के रहने की व्यवस्था गांव से बाहर पंचायत भवन, विद्यालय आदि में की जाए तथा उनके खाने-पीने की व्यवस्था उनके घर से कराई जाए।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us