विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus Lockdown in UP Live Updates: 15 जिलों के हॉटस्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील, जानिए उनके नाम

यूपी में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों को रात 12 बजे से सील करने का निर्णय लिया है।

8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

जालौन

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

सड़क धंसने से गड्ढे में फंसी पुलिस जीप, बाल-बाल बचे पुलिसकर्मी

कालपी। कस्बे के मनीगंज बजरिया रोड पर जल संस्थान की पाइप लाइन फटने से इंटरलॉकिंग रोड का एक हिस्सा धंस गया। जिसमें गश्त कर रही पुलिस की जीप फंस गई। लेकिन जीप में बैठे पुलिस कर्मी बाल बाल बच गए। जेसीबी की मदद से जीप बाहर निकाली गई। सोमवार सुबह सड़क की खुदाई कर नई पाइप लाइन डालने का काम शुरू कर दिया गया है।
रविवार देर रात कोतवाली पुलिस की जीप नगर में गश्त कर रही थी। इसी दौरान स्टेशन से मनीगंज बजरिया रोड से गुजरते वक्त जीप का पिछला पहिया सड़क में धंस गया। जीप में बैठे पुलिस कर्मी उतरकर पहिया निकालने में जुट गए पर कुछ ही देर बाद सड़क का बड़ा हिस्सा धंसने लगा तो सिपाही जीप छोड़कर दूर जा खड़े हुए, अगले ही क्षण पूरी जीप सड़क में हुए बड़े गड्ढे में समा गई। जिससे आसपास के लोग दौड़े और फिर जीप निकलवाने के लिए जेसीबी मंगवाई गई, तब कहीं जाकर उसे निकाला जा सका। सड़क धंसने का कारण जल संस्थान की पाइप लाइन फटना बताया जा रहा है। जल संस्थान के अवर अभियंता सभापति यादव ने बताया कि सूचना पाकर खुद सोमवार को मौके पर पहुंचे और नई लाइन बिछाने का काम शुरू करा दिया गया है। जल्द ही उसे पूरा भी करा दिया जाएगा।
... और पढ़ें

लॉड डाउन के चलते समाजसेवी पुलिस के साथ समाजसेवी बढ़े आगे

उरई। लॉकडाउन के चलते समाजसेवियों व पुलिसकर्मियों ने मिलकर शहर के मोहल्लों में जरूरतमंद लोगों के घरों में जाकर खाद्य सामग्री वितरित की। खाद्य सामग्री पाकर लोगों के चेहरों में खुशी दिखाई दी।
कोरोना वायरस के चलते शहरों व गांवों को पुलिस प्रशासन ने पूरी से लॉकडाउन करा दिया दिया। जिसके चलते रविवार सुबह सपा नेत्री व विश्व मानवाधिकार परिषद की प्रदेश उपाध्यक्ष एवं अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की महिला जिलाध्यक्ष कुसुमलता सक्सेना और सपा के नगर अध्यक्ष भानुवर्मा, सुरजीत तिवारी, सोनेश्वर यादव, नगर महासचिव वीरेंद्र यादव व जेल चौकी में तैनात कांस्टेबल शकील अहमद समेत कई लोगों ने मोहल्ला चुर्खी रोड साईं मंदिर के पास, जिला परिषद, मामू भांजे मजार के पास स्थित रह रहे जरूरतमंद लोगों को पांच किलो आटा, आधा किलो तेल, दो किलो आलू, एक किलो अरहर की दाल, मसाला के पैकेट समेत अन्य खाद्य सामग्री वितरित की। समाजसेवियों ने बताया कि खाद्य सामग्री वितरण का कार्य रोज 10 दिन तक चलेगा। इस पर लोगों ने इस सराहनीय कार्य की प्रशंसा की।
... और पढ़ें

बड़ों के साथ बच्चे भी दे रहे मदद

उरई/जालौन। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए समाज के लोग अपने अपने स्तर से सहयोग दे रहे हैं। 12 वर्षीय किशोर ने जरूरत मंदों तक राहत सामग्री पहुंचने के लिए अपनी पॉकेट मनी से 2100 रुपये एसडीएम को सौंपे। इसके अलावा समाजसेवियों ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 10 हजार 200 रुपये की चेक एसडीएम को सौंपी।
कोरोना के खिलाफ जंग में सभी लोग अपना अपना योगदान दे रहे हैं। मदद करने में बच्चे भी पीछे नहीं हैं। जरूरतमंदों को भोजन सामग्री उपलब्ध कराने के लिए मोहल्ला गणेशजी निवासी मनोज गुप्ता के 12 वर्षीय पुत्र प्रथम गुप्ता आगे आए हैं। उन्होंने एसडीएम को अपनी पॉकेट मनी के 2100 रुपये देकर जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री देने की इच्छा जताई। किशोर के इस प्रयास की एसडीएम ने सराहना की है। इसके अलावा समाजसेवी अनिल शिवहरे व मनोज गुप्ता ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 5100-5100 रुपये की चेक एसडीएम को सौंपी।
उधर, बांके बिहारी जन कल्याण समिति ने कोरोना संक्रमण से बचाव के मदद के लिए जिलाधिकारी आपदा राहत कोष में 21 हजार रुपये का चेक सिटी मजिस्ट्रेट हरीशंकर शुक्ला को दिया। इस दौरान समिति के व्यवस्थापक डा. अखिलेश श्रीवास्तव, गोविंद स्वर्णकार, पंकज कनकने आदि रहे। उधर जन उपकार समाजसेवी समिति के अध्यक्ष चौधरी जयकरन सिंह ने आपदा राहत कोष में 11 हजार रुपये डीएम को दिए। इस दौरान नृपेंद्र देव सिंह, कौशल किशोर, राजीव निरंजन आदि रहे।
... और पढ़ें

अंतरिम जमानत पर छोड़े गए 124 विचाराधीन बंदी

उरई। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लिए अपनाए जा रहे उपायों के अंतर्गत जिला कारागार में निरुद्ध अधिकतम सात वर्ष तक की सजा पाने वाले मुकदमों में विचाराधीन 124 बंदियों को आठ सप्ताह की अवधि के लिए अंतरिम जमानत पर छोड़ा गया है।
जिला जज अशोक कुमार सिंह ने बताया सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर शासन स्तर पर गठित हाई पावर कमेटी द्वारा पारित प्रस्ताव का अनुपालन कराया जा रहा है। इस पर जिला स्तर पर गठित अंडर ट्रायल रिव्यू कमेटी की बैठक भी हो चुकी है। इसमें ऐसे विचाराधीन बंदी, जो अधिकतम सात साल तक की सजा वाले मुकदमों में विचाराधीन हैं, उन्हें आगामी आठ सप्ताह की अवधि के लिए अंतरिम जमानत पर छोड़े जाने के संबंध में जिला एवं पुलिस प्रशासन और कारागार प्रशासन के साथ सम्यक विचार किया गया है। इसके अलावा न्यायिक अधिकारियों की समिति प्रतिदिन कारागार जाकर पात्र विचाराधीन बंदियों को उनके व्यक्तिगत बंधपत्र एवं अंडरटेकिंग दाखिल करने पर शर्तों के अधीन जमानत पर छोड़ने का आदेश पारित करते हैं। इनमें कई एडीजे व सीजेएम शामिल हैं।
... और पढ़ें

युवक और किशोर ने फांसी लगाकर जान दी

कोंच/कुठौंद। कोंच और कुठौंद थाने में युवक और किशोर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। कुठौंद में किशोर के शव का अंतिम संस्कार करने के बाद परिजनों ने थाने पहुंचकर आरोप प्रत्यारोप भी लगाए।
कोंच प्रतिनिधि के मुताबिक, कस्बे के भगतसिंह नगर निवासी केशवदास बाल्मीकि के संविदा सफाई कर्मी पुत्र सचिन (32) ने मंगलवार सुबह घर में गले में फंदा डालकर आत्महत्या कर ली। परिजनों ने बताया कि सचिन की पत्नी काफी समय से मायके में है और कई बार बुलाने पर भी नहीं आ रही थी। इससे दुखी होकर उसने आत्महत्या की है। सचिन के तीन छोटी छोटी बेटियां भी हैं।
कुठौंद थाना क्षेत्र के ग्राम हाजीपुर में शिवम (16) पुत्र रामबली का शव मंगलवार को गांव के बाहर फंदे से लटका मिला। वह सोमवार की रात से ही लापता था। परिजनों ने आत्महत्या का मामला मानकर पुलिस को बिना कोई सूचना दिए शव का अंतिम संस्कार कर दिया। इसके कुछ देर बाद परिजन थाने पहुंचे और गांव के ही एक युवक पर शिवम की पिटाई का आरोप लगाकर तहरीर दी। इस पर पुलिस ने जांच कर कार्रवाई की बात कही है। कुठौंद थाना प्रभारी सुधाकर मिश्रा का कहना है कि जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

डीएम बोले, क्वारंटीन सेंटर से बाहर न जाएं

उरई/मुहम्मदाबाद। डीएम डा. मन्नान अख्तर और एसपी डा. सतीश कुमार ने जहां शहर का निरीक्षण कर लॉकडाउन की स्थिति और डकोर ब्लाक में बने क्वारंटीन सेंटर का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को परखा। इस दौरान उन्होंने सेंटरों में रह रहे लोगों को चेतावनी दी कि वह सेंटरों से बाहर न जाएं।
डीएम और एसपी ने मंगलवार को जिला परिषद कोंच बस स्टैंड चौराहे का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने बेवजह घरों से बाहर निकले लोगों को चेतावनी दी और कहा कि घरों से अनावश्यक बाहर न निकले और लॉकडाउन का पालन करें। उन्होंने जेल रोड स्थित आर्यावर्त बैंक का निरीक्षण कर बैंक कर्मियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के निर्देश दिए। इसके बाद उन्होंने डकोर ब्लाक के बरसार, कोटरा, गोरन आदि जगहों में बने क्वारंटीन सेंटर का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने सूचियों का मिलान किया, साथ ही लोगों को चेतावनी दी कि वह बिना वजह बाहर न जाएं। उधर, एडीएम प्रमिल कुमार सिंह, तहसीलदार कर्मवीर सिंह व कोतवाल बीएल यादव ने मुहम्मदाबाद, कुसमिलिया, डकोर, टिमरो आदि गांवों में बने क्वारंटीन सेंटरों का निरीक्षण कर दिशा निर्देश दिए।
डकोर ब्लॉक के बरसार में शेल्टर होम का निरीक्षण करते डीएम मन्नान अख्तर एसपी सतीश कुमार
डकोर ब्लॉक के बरसार में शेल्टर होम का निरीक्षण करते डीएम मन्नान अख्तर एसपी सतीश कुमार- फोटो : ORAI
... और पढ़ें

मेडिकल कालेज में खुली कोरोना जांच डेस्क

उरई। राजकीय मेडिकल कालेज में मंगलवार को कोरोना जांच डेस्क का उद्घाटन प्रधानाचार्य डा. द्विजेंद्र नाथ ने किया। प्रधानाचार्य ने बताया कि इस जांच डेस्क बनवाने का उद्देश्य मरीज और स्टाफ को संक्रमण से बचाना है। इस जांच डेस्क में मरीज और टेक्नीशियन के बीच कांच का पर्दा रहेगा, जिसमें जांच के दौरान मरीज के खांसने या छींकने पर कोरोना का संक्रमण स्वास्थ्य कर्मियों में नहीं फैलेगा। इसके बाद स्वास्थ्य टीम को इसका प्रशिक्षण भी दिया गया।
इसके बाद प्रधानाचार्य ने कोरोना क्वारंटीन में भर्ती लोगों से मेडिकल कालेज में मिलने वाली सुविधाओं का फीडबैक लिया। यहां तब्लीगी जमात से लौटे या उनके संपर्क में आए चार लोग भर्ती है, उन सभी से बातचीत कर उन्हें स्वच्छता की शपथ दिलाई। भर्ती लोगों ने भी आश्वासन दिया कि वे जांच में सहयोग करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने अन्य वार्डों में भर्ती मरीजों से भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा। इसके अलावा जगह- जगह सूचना इंडीकेटर लगवाने के भी निर्देश दिए। इस दौरान सीएमएस डा. संजीव गुप्ता, डा. मनोज वर्मा, डा. जितेंद्र मिश्रा, डा. पीसी पुरोहित, डा. वीरेंद्र गुप्ता, डा. अरुण अहिरवार, डा. रविंद्र राजपूत, डा. जेएस चौधरी. डा. विद्या चौधरी, डा. छवि जायसवाल, डा. संतोष, मैट्रन सुमन दुबे, कंचन शिखा, शाहमीन खान आदि रहे। उधर जिला अस्पताल और मेडिकल कालेज में मंगलवार को करीब 170 लोग जांच कराने पहुंचे।
... और पढ़ें

सेंटर से भागे आठ लोग, तीन घरों से पकड़े गए

राजकीय मेडिकल में कोरोना जांच डेस्क का उद्घाटन करते प्रिंसिपल डी नाथ
कदौरा (जालौन)। ब्लाक क्षेत्र के हरचंदपुर में ग्रामीण ने पुलिस को सूचना दी कि परिषदीय विद्यालय में बने क्वारन्टीन सेंटर में रह रहे कुछ लोग सेंटर से भाग गए है। सूचना पाकर तुरंत थाना पुलिस व ब्लाक कर्मी हरचंदपुर पहुंचे और ग्रामीणों की सूची का मिलान किया। जिसमें आठ लोग नदारत मिले। आननफानन में उनकी तलाश शुरू कर दी गई। जिसमें पुलिस ने तीन लोगों को उनके घर से पकड़ लिया है। सचिव का कहना है कि जो भी लोग सेंटर से भागे है सभी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी।
बता दें की लॉकडाउन के समय अन्य प्रदेशों से जिले में पहुंचे दिहाड़ी मजदूर व अन्य लोगों को गांव के बाहर स्कूलों में बने क्वारंटीन सेंटरों में रखा गया है। साथ ही उनकी निगरानी की जिम्मेदारी कई लोगों को दी गई है, जिसेलेकर सुबह शाम इन सेंटरों का अधिकारी निरीक्षण कर रहे हैं, लेकिन इसके बाद भी लोग सेंटरों से बिना बताए भागते है। ऐसा ही एक मामला ब्लाक के गांव हरचंदपुर में देखने को मिला। जहां पर किसी ग्रामीण ने प्रशासन को सूचना दी कि गांव के सेंटर में रह रहे कई लोग भाग गए है।
सूचना मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन फानन में सचिव व अन्य कर्मचारी मौके पर पहुंच गए और सेंटर का निरीक्षण किया। जिसमें सूची का मिलान करने पर पता चला कि सेंटर से आठ लोग नदारत है। सभी की गांव में तलाश शुरू की गई, जिसमें पुलिस ने तीन लोगों को उनके घर से पकड़ लिया है। सचिव ने मामले की जानकारी बीडीओ को दी। बीडीओ के निर्देश पर सभी से खिलाफ एफआईआर कराई जाएगी।
ग्राम विकास अधिकारी प्रभात कुमार ने बताया कि क्वारंटीन सेंटर में कुल 31 लोग रुके है, जिनमें आठ लोग नदारत है। ग्राम प्रधान को निर्देश दे दिए गए है सभी की सूची बनाई जा रही है और उनके विरुद्ध मामला दर्ज कराया जाएगा। प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र सिंह ने बताया कि डायल 112 में सूचना मिली थी कि हरचंदपुर गांव के परिषदीय विद्यालय में बने क्वारंटीन सेंटर में रुके लोग वहां नही है मौके पर पुलिस को भेजा था। तहरीर अभी तक नहीं मिली है, तहरीर मिलते ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
... और पढ़ें

जमातियों के संर्पक में आए तीन परिवारों के नौ लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण

कदौरा। हाल ही में गुलौली के मजरा बगिया की मस्जिद में मिले जमातियों के संपर्क में रहे तीन परिवारों के नौ लोगों का मंगलवार को गांव पहुंचकर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने चिकित्सीय परीक्षण किया, हालांकि प्राथमिक जांच में किसी में भी कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए है।
बता देें कि 4 अप्रैल को कालपी तहसील के ग्राम गुलौली के मजरा बगिया में 14 जमाती थे, जिन्हें प्रशासन ने मस्जिद में क्वारंटाइन का दिया था साथ ही उनके संपर्क आए तीन परिवारों को भी घरों में क्वारंटाइन किया गया था। मंगलवार को उपजिलाधिकारी कौशल कुमार के निर्देश पर सीएचसी कदौरा स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक डा. अशोक कुमार के नेतृत्व पांच सदस्यीय टीम ने गांव पहुंचकर सभी तीन परिवारों के नौ सदस्यों का चिकित्सकीय परीक्षण किया। जिसमें सभी लोगों में कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए है। फिर भी सभी को ऐतिहात बरतने के निर्देश दिए गए हैं। एसडीएम ने गांव में दवा के छिड़काव के निर्देश दिए हैं। बता दें कि कुछ दिन पूर्व में जमातियों के भी स्वास्थ्य परीक्षण हुए थे, जिनमें कोरोना का कोई भी लक्षण नहीं पाया गया था।
... और पढ़ें

शेल्टर होम छोड़ने पर होगी कार्रवाई ः एसडीएम

मुहम्मदाबाद। मुहम्मदाबाद, कुसमिलिया, डकोर, गढ़न, हरदोई गूजर के शेल्टर होम का सोमवार को एसडीएम सतेंद्र सिंह ने निरीक्षण किया और सूची से शेल्टर होम में मौजूद लोगों की हाजिरी ली।
उन्होंने निर्देश दिया कि 14 दिन से पहले कोई शेल्टर होम छोड़कर गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। शेल्टर होम में मौजूद लोगों ने खानपान की सामग्री व सुविधाओं को लेकर नाराजगी जताई। तब उन्होंने प्रधान और शेल्टर होम की देखरेख में लगे कर्मचारियों को निर्देशित किया कि शेल्टर होम में रहने वालों को कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। शिकायत मिलने पर कार्रवाई होगी। कुसमिलिया व मुहम्मदाबाद के शेल्टर होम में रहने वालों ने खेती किसानी की परेशानी बताई तो सीओ संतोष कुमार ने कहा कि परिजनों से बात कर अपनी फसल की कटाई व निराई करा लें और 14 दिन तक यहीं रहे। जिससे वह स्वस्थ हो और परिजन भी स्वस्थ रहें।
... और पढ़ें

अब तय समय पर खुलेंगी कृषि यंत्रों की दुकानें

कोंच। किसानों की समस्या को देखते हुए प्रशासन ने लॉकडाउन की स्थिति में कृषि यंत्रों की दुकानें खोलने की छूट दी है, जिससे कृषि यंत्रों की उपलब्धता आसानी हो सके। हालांकि इन दुकानों के खुलने का शेड्यूल जरूर तैयार किया है। इसमें वर्कशॉप के अलावा कुछ ट्रैक्टर पार्ट्स की दुकानों को रोजाना खुलने की छूट दी गई है, जबकि अन्य ट्रैक्टर पार्ट्स की दुकानों को हफ्ते में सिर्फ एक ही दिन खोलने की छूट दी गई है।
बता दें कि इस समय कटाई का कार्य चल रहे है और ऐसे में लॉक डाउन होने से किसानों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसानों की परेशानी को देखते हुए शासन ने खाद बीज की दुकानें तो खोल दी थी, लेकिन कृषि यंत्र से जुटे उपकरणों की दुकानें न खुलने से किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसे देखते हुए कई किसान नेताओं ने जिलाधिकारी से कृषि यंत्रों से जुड़ी दुकानें खोलने की मांग की थी। मांग को देखते हुए प्रशासन ने यंत्रों की दुकान खोलने की अनुमति दे दी है।
एसडीएम अशोक कुमार ने कस्बे के वर्कशॉप और ट्रैक्टर पार्ट्स विक्रेताओं की पूरी सूची बनाने के बाद दुकानों को खोलने का शेड्यूल बना कर जारी किया है, उसके मुताबिक वर्कशॉप मां पीतांबरा मोटर्स, मेसर्स बालाजी ट्रैक्टर्स, मेसर्स रतन मोटर्स, श्रीराम मोटर्स, अंसारी ट्रैक्टर पार्ट्स हार्वेस्टर, दयाल मशीनरी कृषि यंत्र को प्रतिष्ठान रोजाना खोलने की अनुमति दी है, जबकि कृषि यंत्र की दुकानों में दीपिका एजेंसीज सोमवार, बालाजी ट्रेडिंग कंपनी मंगलवार, बजरंग ट्रेडर्स गुरुवार, आकांक्षा ट्रेडर्स शुक्रवार, प्रकाश मशीनरी शनिवार वहीं ट्रैक्टर पार्ट्स की दुकानों में वंदना ट्रैक्टर्स रविवार, बजरंग ट्रैक्टर्स सोमवार, जय अंबे ट्रैक्टर्स मंगलवार तथा जेपी ट्रैक्टर्स गुरुवार को अपनी दुकानें खोल सकेंगे। साप्ताहिक बंदी बुधवार के दिन किसी भी दुकान को खोले जाने की इजाजत नहीं है। इन दुकानदारों को यह भी बता दिया गया है, कि दुकान पर सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाए। लॉक डाउन की अवधि में सभी दुकानें सुबह 8 से दोपहर 12 बजे तक ही खोली जा सकेंगी।
... और पढ़ें

कालपी विधायक ने निधि से दिए एक करोड़ रुपये

डीएम-एसपी ने क्वारंटीन सेंटरों का निरीक्षण किया

कदौरा। जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर और एसपी डॉ. सतीश कुमार ने नगर पंचायत की ओर से बनाए गए क्वारंटीन सेंटरों का निरीक्षण किया। दोनों अधिकारियों ने गफूर खा महाविद्यालय के अलावा ग्राम छौंक, धमना, बरखेरा, बबीना व उदनपुर स्थित परिषदीय विद्यालयों में बने सेंटरों का भी निरीक्षण किया। अधिकारियों ने देखरेख में लगे लोगों को निर्देश दिए कि सेंटर में रुके लोगों का समय समय पर स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए और उनके खाने पीने का पूरा इंतजाम किया जाए। रोजाना कम से कम दो मर्तबा उनकी गिनती की जाए। सेंटर से बाहर निकलने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। इस दौरान एसडीएम कौशल कुमार व सीओ राहुल पांडे आदि मौजूद रहे। संवाद ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us