विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Coronavirus in Uttar Pradesh Live Updates: यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित

यूपी में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को एक ही दिन 14 नए मरीज सामने आने के साथ ही प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 65 हो गई है।

28 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

झांसी

रविवार, 29 मार्च 2020

सामाजिक दूरी का सही तरह नहीं कर रहे पालन

झांसी। महानगर की घनी बस्तियों में लोग सोशल डिस्टेंसिंग को नहीं मान रहे हैं। कई दुकानों के बाहर निर्धारित स्थान पर खडे़ होने के लिए चिह्न बनाए गए हैं। लेकिन इन चिह्नों पर कोई भी खड़ा नहीं हो रहा है। सब्जी व अन्य खाद्यान्न सामग्री बिक्री स्थल पर लोगों की भीड़ आसानी से जमा हो रही है।
शहर की कई ऐसी पुरानी सघन बस्तियां हैं, जिनमें लोग जमावड़ा बनाए हुए खडे़ नजर आए। शुक्रवार को उनाव गेट अंदर और बाहर, दतिया गेट, बड़ागांव गेट, सागर गेट के आस पास के घनी बस्तियों में लोग भीड़ के रूप में सब्जी व अन्य खाद्य सामग्री खरीदते दिखे। कई दुकानों के बाहर निर्धारित दूरी पर खडे़ होने के लिए चिह्न बने थे। लेकिन उनमें खड़ा होना ही लोग अपनी शान के खिलाफ समझ रहे थे। वहीं, अन्य दिनों की तरह शुक्रवार को भी फुटकर हाथ ठेला विक्रेताओं द्वारा प्याज 30 रुपये, आलू 30 रुपये, टमाटर 30 से 40 रुपये बेचते मिले। समूचे दिन लगभग सभी मुहल्लों में सब्जी व फल के ठेले फेरी लगाते रहे।
... और पढ़ें

राहत: कोरोना के तीन और संदिग्ध मरीजों की नेगेटिव आई रिपोर्ट

झांसी। जिले के लिए राहत भरी खबर है। कोरोना वायरस की संदिग्धता पाए जाने पर तीन मरीजों के सैंपल जांच के लिए लखनऊ स्थित प्रयोगशाला भेजे गए थे। सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अब तक तैंतीस संदिग्ध मरीजों की जांच हो चुकी है। सभी नेगेटिव पाए गए हैं।
देश और दुनिया में मंडरा रहे कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे के बीच झांसी अब तक महफूज बना हुआ है। कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण पाए जाने पर तत्काल संदिग्ध मरीजों को महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया जाता है और इनका नमूना जांच के लिए लखनऊ स्थित प्रयोगशाला भेज दिया जाता है। पिछले दो दिनों के दरम्यान तीन संदिग्ध मरीजों के सैंपल भेजे गए थे। सभी की रिपोर्ट आ गई है। किसी में भी कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं पाया गया।
बुखार पीड़ित महिला को भर्ती कराया
झांसी। महाराष्ट्र से आ रही एक कार को पुलिस ने इलाइट चौराहे पर रोक लिया। कार में सवार एक महिला को तेज बुखार था। इस पर उसे मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया।
प्रतापगढ़ जा रही महाराष्ट्र के नंबर वाली कार इलाइट चौराहे पर दिखी, तो तुरंत उसे रोक लिया गया। कार में पांच लोग सवार थे। कार में बैठी वृद्ध महिला को तेज बुखार था। उसकी सांस फूल रही थी। कोरोना वायरस की आशंका होने पर उसे तुरंत मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। नमूना जांच के लिए भेजा जा रहा है।
... और पढ़ें

बिजली ने दिया धोखा

झांसी। शुक्रवार को जगह-जगह बिजली आपूर्ति में फॉल्ट होने से शहर की बड़ी आबादी को समस्या उठानी पड़ी। हंसारी ट्रांसमिशन पावर हाउस के स्वतंत्र फीडर में खराबी से भी शहर के 40 से अधिक इलाकों में आपूर्ति प्रभावित हुई। बृहस्पतिवार रात तेज हवाओं की वजह से चरमराई बिजली व्यवस्था से लोग पहले ही परेशान थे। शुक्रवार उन्हें एक बार फिर मुसीबत से दो चार होना पड़ा। लॉकडाउन के चलते अधिकतकर परिवार में सभी लोग घरों पर हैं। इस कारण पानी की खपत भी ज्यादा हो रही है। तापमान में वृद्धि के कारण भी घर-घर पंखे चलना शुरू हो गए हैं। फॉल्ट के चलते हुई बिजली कटौती के कारण लोगों को गर्मी से भी जूझना पड़ा।
हंसारी ट्रांसमिशन पावर हाउस से आने वाले एमईएस स्वतंत्र फीडर लाइन में फाल्ट आने से 40 से अधिक क्षेत्रों की डेढ़ घंटे बिजली गुल रही। इस कारण लोग परेशान रहे। शक्रवार की सुबह करीब 8.30 बजे हंसारी ट्रांसमिशन पावर हाउस से आने वाले एमईएस स्वतंत्र फीडर लाइन में फाल्ट आ गया। इससे एमईएस के साथ ही जेल चौराहा व रानीमहल सबस्टेशन की बिजली भी गुल हो गई। सूचना पर पहुंचे अवर अभियंता अमित सक्सेना की देखरेख में फाल्ट को सुधारने का काम शुरू किया गया, जो दस बजे ठीक हो सका।
वहीं, बिजली न आने के कारण एमईएस, इलाहाबाद बैंक चौराहा, जेल चौराहा, सदर बाजार, इलाइट, पुलिस लाइन, मनु विहार, मधुर विहार, विवेकानंद कॉलोनी, जानकीपुरम कॉलोनी, पुराना स्टेट बैंक कॉलोनी, चेलाराम कंपाउंड, नारायण धर्मशाला, स्टेशन रोड, सिविल लाइन, झोकन बाग, कचहरी चौराहा, राय कॉलोनी, मिनर्वा, रानीमहल, तलैया, छनियापुरा, गांधी रोड, गुसाईपुरा, सिंधी तिराहा, सुभाष गंज, जुगयाना, पंडयाना समेत 40 से अधिक क्षेत्रों के लोग परेशान रहे।
... और पढ़ें

कोई बताएगा...आखिर हमारा क्या कसूर है, हम तो पापा से कुछ मांगते भी नहीं थे

झांसी। बेटे की चाहत में छह बेटियां हो गईं। परिवार बड़ा होता चला गया। खर्चे बढ़ गए। लेकिन लखन की बेटे की चाहत खत्म नहीं हुई। पति-पत्नी में इसे लेकर विवाद होने लगा। बताया जा रहा है कि लखन मानसिक रूप से भी कमजोर हो गया था। यह झगड़ा यहां तक पहुंच जाएगा कोई नहीं जानता था। लखन के गुस्से ने छह बेटियों के सिर से मां-बाप का साया उठा दिया। बेटियों का कहना था कि वह अपने पापा से कुछ मांगते भी नहीं थे, लेकिन फिर भी वह मम्मी से झगड़ा करते रहते थे।
बड़ी बेटी तेरह साल की मुस्कान है जबकि उससे छोटी अमृता, आयुषी, अनन्या, शिवन्या और एक साल की शिवांगी है। बड़ी बेटी प्राइमरी में कक्षा पांच में पढ़ती है जबकि छोटी आंगनबाड़ी केंद्र में जाती हैं। अगर खिलारा गांव के लोगों की मानें तो लखन पहले ऐसा नहीं था। जो छोटी-मोटी खेती है उसे तो करता ही था मजदूरी भी कर लिया करता था लेकिन पिछले कुछ समय से वह परेशान था। आर्थिक स्थिति भी कमजोर थी। छह बेटियों के साथ परिवार में आठ सदस्य थे। एसपी देहात राहुल मिठास का कहना है कि वह गुस्सैल हो गया था। ग्वालियर के किसी अस्पताल में उसका इलाज भी चल रहा था। पति-पत्नी के बीच आए दिन विवाद भी होता था। अब जितना बड़ा परिवार था उस हिसाब से उसकी आमदनी भी नहीं थी। वहीं दंपती की मौत से परिवार में कोहराम है। हर किसी की जुबां पर बस एक ही सवाल था कि इन बच्चियों का क्या कसूर था। अब दादा ही इनका लालन-पालन करेंगे।
अपनी पांच बहनों को गले लगाकर बिलख रही थी मुस्कान
झांसी। तेरह साल की मुस्कान अपनी छोटी बहनों को गले लगाकर बिलख रही थी। सबसे छोटी बेटी को तो कुछ पता ही नहीं था। वह मासूम तो जान भी नहीं रही थी कि उसके मां-बाप इस दुनिया में नहीं रहे। वह मां-मां पुकारती तो मुस्कान उसे चुप करा देती थी। इन पांच बहनों का हाल देखकर हर किसी की आंख भर आती थी।
... और पढ़ें
मऊरानीपुर के खिलारा गांव बच्चियों के सिर से उठ गया मां-बाप का साया। मऊरानीपुर के खिलारा गांव बच्चियों के सिर से उठ गया मां-बाप का साया।

लॉकडाउन का सख्ती से हो पालन - सीएम

झांसी। लॉकडाउन का सख्ती के साथ पालन किया जाए। इसमें किसी तरह की कोई हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं होगी। कोई भी व्यक्ति भूखा न रहने पाए, इसका भी पूरा ध्यान रखा जाए। जमाखोरों के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई की जाए। यह निर्देश शनिवार को वीडियो कांफ्र्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को दिए।
मुख्यमंत्री ने समीक्षा करते हुए 11 कमेटियोें की जानकारी दी, जो लॉकडाउन के दौरान प्रदेश में विभिन्न व्यवस्थाओं को बेहतर तरीके से संचालित करेंगी। उन्होंने जिले में भी कमेटी बनाए जाने के निर्देश दिए। डीएम आंद्रा वामसी ने नगर में लॉकडाउन का सख्त से पालन कराने के लिए क्षेत्रों में भ्रमण किया। हिदायत देते हुए कहा कि सोशल डिस्टेंसी का पालन किया जाए। उन्होंने दुकानों के सामने डिस्टेंसी बनाए रखने के लिए चूना का गोला बनाते हुए निशान लगाने को कहा। डीएम ने अनावश्यक घर से बाहर न निकलने व भीड़ न लगाए जाने का सुझाव दिया। उन्होंने दो पहिया वाहन के संचालन पर भी रोक लगाए जाने के निर्देश दिए। इस मौके पर एसपी सिटी राहुल श्रीवास्तवए, सीएम गुलाबचंद राम, रोहन सिंह मौजूद रहे।
... और पढ़ें

मजदूरों को सहूलियतें मुहैया कराकर रोका पलायन

झांसी। एक ओर लॉकडाउन की वजह से पूरा महानगर थमा हुआ है, परंतु ग्वालियर से कानपुर जाने वाले मार्ग पर दिन भर चहलकदमी बनी रहती है। हालांकि, इस सड़क से गुजरने वाले स्थानीय लोग नहीं हैं, बल्कि दिल्ली से पैदल आने वाले मजदूर हैं, जो झांसी से होकर बुंदेलखंड के विभिन्न हिस्सों की ओर जा रहे हैं। कंपनी मालिकों, ठेकेदारों द्वारा दिल्ली में इन श्रमिकों के लिए सहूलियत उपलब्ध न कराए जाने की वजह से वे पलायन को मजबूर हुए हैं। लेकिन, इससे इतर झांसी के बीडी शर्मा ने एक अलग नजीर पेश की है। उनके द्वारा देश के अलग अलग हिस्सों में ले जाए गए बुंदेलखंड क्षेत्र के लगभग पांच हजार मजदूरों को वापस नहीं लौटना पड़ा। क्योंकि, मजदूर जहां कार्यरत थे, वहीं उनके लिए आवास, भोजन, स्वास्थ्य जैसी व्यवस्थाएं उपलब्ध करा दी गईं। इतना ही नहीं, एक माह का एडवांस भुगतान भी कर दिया गया। ओम शांति नगर निवासी महालक्ष्मी इंटरप्राइजेज के निदेशक बीडी शर्मा ने बताया कि उनकी कंपनी के श्रमिक जिंदल ग्रुप की विभिन्न कंपनियों में कार्यरत हैं। श्रमिकों की सारी जरूरतों को पूरा कर दिया गया है। इससे उनका पलायन रुक गया है। इसमें कंपनी के प्रबंधक राजशेखरन का भी सहयोग मिल रहा है। ... और पढ़ें

हौंसले से लड़ी जा रही कोरोना की जंग

झांसी। कोरोना वायरस को लेकर जहां चौतरफा लोगों में दहशत का माहौल है तो महिला कर्मचारी अपनी-अपनी ड्यूटी कर मिसाल बन रही हैं। वे परिवार से दूर होकर लोगों की सेवा कर रही हैं। सुबह से लेकर रात तक ड्यूटी करना उनकी पहचान बन चुका है। वे लोगों को कोरोना के बारे में जानकारी देने के साथ गलतफहमी भी दूर कर रही हैं। ऐसे शानदार काम करने वाले कर्मचारियों की हर तरफ चर्चा भी है।
नंबर 1
कोरोना से जंग में आगे हैं
इन दिनों अपने कार्यों को लेकर स्टाफ नर्स संध्या चर्चा में हैं। वह पंद्रह दिन से लगातार स्टेशन पर ड्यूटी कर रही हैं। स्टेशन पर हर रोज कोरोना वायरस से दो-दो हाथ कर रही हैं। स्टेशन पर ट्रेनों से उतरने वाले कोरोना के संभावित मरीजों के आने पर उन्हें जागरूक करने और आवश्यक जानकारी देने का कार्य वह हर रोज कर रही हैं। अपने नेक कार्यों के कारण वह नजीर बनी हुई हैं।
संध्या, स्टाफ नर्स
नंबर 2
सुबह से लेकर रात तक ड्यूटी
महिला निरीक्षक अर्चना सिंह की ड्यूटी में देश सेवा का भाव है। एक सप्ताह से वह इलाइट चौराहा पर ड्यूटी कर रहीं हैं। आने-आने वाले लोगों को रोककर समझा रही हैं। सुबह से लेकर रात तक ड्यूटी के दौरान खड़ा रहना पड़ता है। परेशान नजर आने वाले राहगीरों की भी सेवा करने में वह जुट जाती हैं। उनका कहना है कि ऐसे अवसर बहुत कम मिलते हैं जब देश के लिए कुछ करना होता है।
अर्चना सिंह, महिला निरीक्षक
नंबर 3
स्टाफ नर्स शिवानी यादव भी अपने परिवार को छोड़कर ड्यूटी कर रही हैं। यहां आने वाले मरीजों को समझाने और होम आइसोलेशन करने आदि की सलाह को लोग मंत्र की तरह लेकर घर लौट रहे हैं। उनका कहना है कि वैसे तो मैं सदैव पूरी निष्ठा से कार्य करती हूं, लेकिन कोरोना वायरस से मची आपाधापी के बीच यह संकल्प लिया है कि संकट की इस घड़ी में देश के साथ खड़ी रहूंगी।
शिवानी यादव, स्टाफ नर्स
महिलाए कर रहीं मदत--10------अर्चना सिंह
महिलाए कर रहीं मदत--10------अर्चना सिंह
... और पढ़ें

परेशान न हों, खानपान सामग्री की नहीं होगी कमी, हम हैं न

महिलाएं लड रहीं जंग------------संध्या नर्स
झांसी। लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद वर्ग के लोगों के सामने खानपान की सामग्री की समस्या खड़ी न हो, इसके लिए अमर उजाला की ओर मुहिम शुरू की गई है, जिसके पहले ही शनिवार को कई सामाजिक संगठन और जन सामान्य के लोग इसका हिस्सा बन गए हैं। लगभग दो हजार लोगों को मदद मुहैया कराई गई है। किसी को पका हुआ भोजन उपलब्ध कराया गया, तो किसी को राशन की किट। आगे भी ये सिलसिला लगातार जारी रहने वाला है।
अमर उजाला की मुहिम का हिस्सा बनी जन शिक्षा सामाजिक उत्थान समिति व सेंट उमर इंटर कालेज के स्वयंसेवकों ने संयुक्त रूप से विभिन्न क्षेत्रों में जाकर राशन व पका हुआ भोजन उपलब्ध कराया। इस काम में विद्यालय के प्रबंधक जावेद अहमद, समिति के अध्यक्ष तरुण अरोड़ा, आरिफ रजा खान, मनोज श्रीवास्तव, शाहिद खान, अंजुम जमीर, कोमल शाक्य, पंकज जैन, विवेक शाक्य आदि जुटे रहे।
वहीं, अंसल कॉलोनी के निवासियों ने बस स्टैंड, शिवाजी नगर आदि इलाकों में जरूरतमंदों को खाने के पैकेट वितरित किए। इस काम में अनिल अग्रवाल, योगेंद्र सिंह, रवि पंजवानी, राजेश लोहिया, अशोक लोकरस जुटे रहे। आज सेवा संस्थान के अखिलेश रायकवार, बृजेश कुशवाहा, राकेश रायकवार ने भी लोगों को भोजन वितरित किया। ऑल इंडिया पयाम ए इंसानियत फोरम के कार्यकर्ताओं ने चार टीमें बनाकर अलग-अलग क्षेत्रों में लोगों को खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई। मदरसा इस्लामिया महादुल मुआरिफ की ओर से जीवनशाह पर हाजी नासिर की अगुवाई में सौ जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई गई। युवा महिला विकास समिति के नीरज मनकेले, प्रताप सिंह, संजीव शर्मा, अर्चना दुबे, सपना, भारती शर्मा, अनिल वर्मा आदि ने लहर की देवी मंदिर के पास वंचित वर्ग के लोगों को खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई।
रोटरी क्लब ऑफ झांसी की ओर से निलय जैन, प्रदीप तिवारी, अजय कुशवाहा, नानू आदि ने कई स्थानों पर भोजन का वितरण किया। परमार्थ संस्था द्वारा संचालित की जा रही कम्यूनिटी किचन की ओर से दिल्ली से वापस लौट रहे मजदूरों को भोजन उपलब्ध कराया गया। ग्राम पंचायत डगरवाहा के प्रधान ने गांव के 206 परिवारों को मास्क व साबुन बांटे।
व्यापारियों ने बांटीं राशन किट
झांसी। बिजौली और हंसारी की सहारिया मलिन बस्तियों के 139 परिवारों को व्यापारियों की ओर से राशन किट दी गई। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के बुंदेलखंड प्रभारी राजीव राय की अगुवाई में आटा, दाल, चावल, आलू, प्याज, तेल, मसाले व नमक जरूरतमंदों को दिए गए। इस मौके पर व्यापारी विनोद अग्रवाल, नितिन सरावगी, रोहित मित्तल, डा. नीति शास्त्री आदि मौजूद रहीं।
डीएम को दी एक लाख की चेक
झांसी। कोरोना वायरस से जारी जंग में धन की कमी आड़े न आए, इसके लिए लोग आगे आ रहे हैं। शनिवार को कांग्रेस के प्रदेश महासचिव राहुल राय ने जिलाधिकारी आंद्रा वामसी को एक लाख रुपये की चेक भेंट की। ये धनराशि राहत कोष में जमा की जाएगी।
पूर्व मंत्री भी आए आगे
झांसी। प्रदेश के पूर्व शिक्षा मंत्री रवींद्र शुक्ल भी जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आए हैं। उन्होंने प्रशासन ने अनुरोध किया है कि उनके होटल द मार्वलस का गरीबों के लिए भोजन बनाने व भंडार गृह बनाकर उपयोग किया जाए। इसके अलावा उनके होटल में शनिवार को भोजन पकाकर दिल्ली से लौट रहे मजदूरों को बांटा गया।
... और पढ़ें

नहीं होगी ट्रांसफार्मरों की दिक्कत

झांसी। लॉकडाउन के दौरान अगर बिजली गिरने, ओवर लोडिंग या अन्य किसी कारण से बिजली का ट्रांसफार्मर फुंकता है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। बिजली विभाग ने ट्रांसफार्मर पहुंचाने के लिए तीन वाहनों की अनुमति जिला प्रशासन से ले ली है।
पिछले 15 दिन में जनपद के अलग- अलग स्थानों पर खराब मौसम के कारण बिजली गिरने, ओवर लोडिंग व अन्य कारणों से 20 ट्रांसफार्मर फुंक चुके हैं। कई जगह ट्रांसफार्मर दो से तीन दिन में बदले जा सके, इस कारण लोग परेशान रहे। महानगर में कई स्थानों पर ट्रांसफार्मर बदलने में 24 घंटे से अधिक का वक्त लग गया। मगर अब ऐसा नहीं होगा। बिजली विभाग ने पर्याप्त ट्रांसफार्मरों का इंतजाम कर लिया है। शासन ने शहरी क्षेत्रों में 24 और ग्रामीण में 48 घंटे में ट्रांसफार्मर बदलने के आदेश दे रखे हैं।
इस संबंध में अधिशासी अभियंता (वर्कशाप) अनीश कुमार माथुर ने बताया कि ट्रांसफार्मरों की पर्याप्त व्यवस्था है। जनपद में किसी भी स्थान पर ट्रांसफार्मर पहुंचाने के लिए तीन गाड़ियों की अनुमति ले ली गई है।
हेल्पलाइन नंबर मददगार
बिजली विभाग का हेल्पलाइन नंबर 1912 उपभोक्ताओं के लिए मददगार साबित हो रहा है। यह नंबर आगरा कंट्रोल रूम से जुड़ा है। इस नंबर पर शिकायत करने पर कनेक्शन नंबर और अन्य जानकारियां दर्ज कर ली जाती हैं। कंट्रोल रूम से शिकायत की जानकारी संबंधित क्षेत्र के अवर अभियंता और ट्रांसफार्मर स्टोर को दी जाती है। सूचना पर अवर अभियंता ट्रांसफार्मर की जांच करा लेते हैं और खराब होने पर उसे बदलने की कार्रवाई शुरू हो जाती है।
... और पढ़ें

जेल से छूटेंगे तीन सौ कैदी

झांसी। जिला कारागार से तीन सौ कैदियोें को छोड़ा जाएगा। इन सभी कैदियों की सूची बनाकर मुख्यालय भेज दी गई है। सोमवार से कैदियों को छोड़ा जाएगा। कोरोना वायरस के चलते कदम उठाया गया है।
कोरोना वायरस की दहशत हर तरफ नजर आ रही है। जेलों में बढ़ते ओवरलोड के चलते कैदियों में भी कोरोना वायरस का डर सताने लगा है। इसे देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जेलों से सात-सात साल की सजा वाले कैदियों को छोड़े जाने का आदेश दिया था। जेल प्रशासन ने सभी की सूची तैयारी कर मुख्यालय भेजी थी। इनमें तीन सौ कैदी हैं, जिनको छोड़ा जाना है। सोमवार से ऐसे कैदियों को छोड़े जाना शुरू कर दिया जाएगा। सभी को निजी मुचलकों पर छोड़े जाने की तैयारी है। इसको लेकर जेल प्रशासन ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है। वर्तमान में जिला कारागार में 1,250 कैदी हैं। क्षमता सिर्फ 450 कैदियों की है।
तीन सौ कैदियों को छोेड़े जाने की जानकारी मिलने के बाद सूची तैयार कर मुख्यालय भेज दी गई है। सोमवार से सभी को निजी मुचलकों पर छोड़ा जाएगा।
- राजीव शुक्ला, वरिष्ठ जेल अधीक्षक
... और पढ़ें

दुकान के बाहर भीड़ व गंदगी होने पर दुकानदार के खिलाफ एफआईआर

झांसी। जिले में लॉकडाउन के चलते थाना प्रेमनगर क्षेत्र के इलाहाबादी मोहल्ला में मिठाई की दुकान पर भीड़ होने व गंदगी के चलते पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है। इसके अलावा, भीड़ एकत्रित करने वाले कई और दुकानदारों को भी चिह्नित किया गया है।
लॉकडाउन के चलते जिले के बाजार पूरी तरह बंद हैं। कई दुकानों को कुछ समय खोलने की परमिशन मिली है, लेकिन इनमें से कुछ दुकानदार नियमों का उल्लंघन कर दुकानें खोल रहे हैं। जिस पर पुलिस सख्ती भी बरत रही है। बृहस्पतिवार को प्रेमनगर क्षेत्र स्थित इलाहाबादी मोहल्ला में गश्त के दौरान प्रभारी निरीक्षक आशीष मिश्रा को एक मिठाई की दुकान पर भीड़ मिली थी। साथ ही दुकान के बाहर गंदगी का अंबार भी मिला। पुलिस ने लोगों को दौड़ाकर दुकानदार को चेतावनी दी थी। पूरे मामले की जानकारी आलाअफसरों को दी गई थी। अधिकारियों के आदेश के बाद शनिवार को प्रेमनगर पुलिस ने दुकानदार वीरेंद्र सोनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इसके अलावा, प्रेमनगर क्षेत्र के कई ऐसे दुकानदार भी चिह्नित किए गए हैं, जिनकी दुकानों पर चोरी छिपे सामान बेचा जा रहा है। लोगों ने इसकी वीडियो व फोटो भी प्रेमनगर पुलिस को सौंपे हैं। इसके बाद पुलिस ने सख्ती बरतने के लिए चिह्नित कर लिया है।
... और पढ़ें

पत्नी की हत्या के बाद फांसी के फंदे पर झूला

खिलारा (झांसी)। मऊरानीपुर कोतवाली क्षेत्र के खिलारा गांव में शनिवार को एक ग्रामीण ने लोहे के सरिया से हमला करके पहले पत्नी की हत्या की तथा बाद में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। आरोपी ने वारदात को सुबह करीब ग्यारह बजे उस समय अंजाम दिया जब घर के अन्य सदस्य नहीं थे। पुलिस के मुताबिक आरोपी सनकी किस्म का था, इसके दो माह पहले भी अपनी पत्नी पर कुल्हाड़ी से हमला कर चुका था, उस समय वह बच गई थी।
शनिवार को खिलारा निवासी लखन (40) अपनी पत्नी रामकुमारी (38) क े साथ घर पर ही था, इसी दौरान लखन का पिता घनश्याम अपनी नातिनों को लेकर खेत पर चला गया तथा मां कली पूजा करने मंदिर चली गई। इसी दौरान लखन कुशवाहा (40) ने अपनी पत्नी राम कुमारी (38) पर लोहे के सरिया से ताबड़तोड़ तरीके से हमला करके उसकी हत्या कर दी तथा बाद में छत के कुंदे में रस्सी बांधकर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उसकी मां कली घर आई तो देखा कि बहू चारपाई पर खून से लथपथ पड़ी थी। इसकी सूचना उसने गांववालों को दी। इसके बाद कमरे की तरफ गई तो कमरा बंद था। आवाज देने के बाद भी कोई जवाब नहीं मिला। उसने पति को खेत से बुलाया। घनश्याम ने आकर देखा तो बेटा भी फांसी के फंदे पर झूल रहा था। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए मऊरानीपुर अस्पताल भेजा गया।
खिलारा निवासी लखन कुशवाहा मजदूरी करता था। कुछ दिनों से उसका पत्नी राम कुमारी (38) से विवाद चल रहा था। इस पर दोनों में अक्सर लड़ाई होती रहती थी। लखन के पिता घनश्याम कुशवाहा ने बताया कि शनिवार को दिन में 11 बजे उनका बेटा और बहू घर पर काम कर रहे थे। सभी नातिने खेत पर गईं थीं। सास कली ने बताया कि सुबह उठने के बाद सभी ने नाश्ता किया। इसके बाद लखन की सभी बेटियां खेत पर दादा के साथ चली गईं। लखन और उसकी पत्नी रामकुमारी काम करने लगीं। कली भी पूजा करने के लिए मंदिर चली गई। लौटकर घर आई तो रामकुमारी आंगन में चारपाई पर खून से लथपथ पड़ी थी। इसके बाद कली ने गांववालों को सूचना दी। लोगों ने आकर देखा तो रामकुमारी की मौत हो चुकी थी। लखन के कमरे में जाकर देखा तो अंदर से बंद था। कमरे में झांककर देखा लखन भी अंदर फांसी पर लटका था। इस पर कमरे का दरवाजा तोड़कर शव को उतारा गया।
इस दौरान पुलिस उपाधीक्षक डॉ. प्रदीप सिंह, कोतवाली प्रभारी सत्येंद्र सिंह, उपनिरीक्षक नयन सिंह, राजकुमार पांडे, सत्यनारायण तिवारी, भूपेंद्र सिंह परमार ने घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण किया। पुलिस ने बताया कि लखन की छह बेटियां हैं। सबसे बड़ी बेटी 13 साल की है और सबसे छोटी बेटी छह माह की है। इस घटना को लेकर गांव में शोक है। हर किसी की जुबान पर एक ही सवाल है अब इन छह बच्चियों की परवरिश कैसे होगी।
... और पढ़ें

कोरोना पर लोगों को करें जागरूक, पाएं पुरस्कार

कोरोना पर लोगों को करें जागरूक, पाएं पुरस्कार
- घर बैठे लो हिस्सा, शिक्षा विभाग आज से कराएगा ऑनलाइन प्रतियोगिता
क्रासर - जूनियर व सीनियर वर्ग में होगी पोस्टर, स्लोगन, भाषण, चित्रकला आदि प्रतियोगिताएं
संवाद न्यूज एजेंसी
झांसी। कोरोना वायरस से सावधान करने और लॉकडाउन की लंबी थकान से बचाने के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग ने आज से ऑनलाइन प्रतियोगिता कराने का निर्णय लिया है। इसमें सभी बोर्डों के विद्यार्थी घर बैठे जूनियर व सीनियर वर्ग में पोस्टर, चित्रकला, कार्टून, भाषण आदि प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेंगे। इसमें विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जाएगा।
कोरोना वायरस से बचाव के लिए भारत सरकार के निर्देश पर 21 दिन का लॉकडाउन है। कोरोना वायरस के प्रति सभी विद्यार्थी जागरूक हाें। इसके लिए विभाग 29 मार्च से ऑनलाइन प्रतियोगिताएं करा रहा है। जूनियर वर्ग में 29 मार्च से 31 मार्च तक पोस्टर, चित्रकला, कार्टून प्रतियोगिता होगी। इसमें विद्यार्थी बचाव के उपायों को चित्र के माध्यम से समझाएंगे। सीनियर वर्ग में एक से तीन अप्रैल तक निबंध प्रतियोगिता होगी। इसमें वह रोग की गंभीरता, सरकारी आदेशों के पालन, सामाजिक दूरी बनाने का महत्व, लॉकडाउन में जन सामान्य की आवश्यकता पर विचार लिखेंगे। स्लोगन प्रतियोगिता 6 से 8 अप्रैल तक होगी। इसमें विद्यार्थी कोरोना से बचाव व जागृति के स्लोगन तैयार कर भेजेंगे। गीत व कविता प्रतियोगिता 9 से 11 अप्रैल तक होगी। इसमें वह कोरोना भगाओ जैसी पंक्ति को 12 लाइनों के साथ पूर्ण करेंगे। 12 से 13 अप्रैल तक भाषण प्रतियोगिता होगी। इसमें विद्यार्थी स्वच्छता, सुरक्षा और संकल्प विषय पर अपने विचार प्रकट करेंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक कोमल यादव ने बताया कि उक्त प्रतियोगिता में प्रतिभाग की प्रविष्टि, फोटो सहित प्रतिभागी का नाम, पिता का नाम, विद्यालय का नाम उल्लेख कर [email protected] पर प्रेषित करें। प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
dhanterash & diwali coupan
dhanterash & diwali coupan
dhanterash & diwali coupan
dhanterash & diwali coupan

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us