विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अनोखा विरोध: कलक्ट्रेट के बाहर 25 रुपये प्रति किलो बेचा प्याज, खरीदारों की उमड़ी भीड़

वरिष्ठ कांग्रेसजन संघर्ष समिति के लोगों ने कलक्ट्रेट के गेट पर महंगाई के विरोध प्याज की सेल लगाई।

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

झांसी

मंगलवार, 10 दिसंबर 2019

एंटी फॉग डिवाइस से लैस हुई ट्रेनें

झांसी। कोहरे के दौरान भी ट्रेनों की आवाजाही बिना किसी बाधा और खतरे के हो सकेगी। सर्दियों में धुंध में रेल हादसों से बचाने के लिए ट्रेनों को एंटी फॉग डिवाइस से लैस कर दिया गया है। इससे ड्राइवरों को सिग्नल व क्रॉसिंग की जानकारी आसानी से मिल सकेगी। रविवार तक 300 डिवाइस ट्रेनों में लगा दिए गए हैं।
कोहरे में ट्रेनों के सुरक्षित संचालन के लिए झांसी मंडल को 300 एंटी फॉग डिवाइस ट्रेनों में लगा दिए गए हैं। ड्यूटी समाप्त होने के बाद लोको पायलट डिवाइस को लॉबी में जमा करा देंगे, जिसे बाद में दूसरे लोको पायलट को दिया जा सके। यह डिवाइस जीपीएस सिस्टम से जुड़े हैं। इस डिवाइस के जरिये ट्रेनों का समय संचालन पटरी पर लाने में काफी मदद मिलेगी। झांसी मंडल से तीन सौ से अधिक ट्रेनें निकलती हैं। यहां से निकलनेे वाली शताब्दी एक्सप्रेस, पंजाब मेल, सदर्न एक्सप्रेस, जीटी एक्सप्रेस, तमिलनाडु एक्सप्रेस, यूपी संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, दादर अमृतसर एक्सप्रेस, गोवा एक्सप्रेस, श्रीधाम एक्सप्रेस समेत समेत रात में गुजरने वाली ट्रेनों में यह डिवाइस लगा दिया गया है। इस डिवाइस की मदद से ट्रेन चालकों को कोहरे में भी क्रॉसिंग और सिग्नल की आसानी से जानकारी मिल सकेगी।
डिवाइस से यह फायदा
ट्रेनों के इंजन में लगने वाली फॉग सेफ्टी डिवाइस ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम पर आधारित है। यह रूट की मैपिंग करता है। इस डिवाइड में रूट के सभी सिग्नलों की जानकारी होती है। इस कारण कोहरे में भी ट्रेनों की रफ्तार कम नहीं होती है। इससे सिग्नल के एक किलोमीटर पहले ही डिवाइस का अलार्म बजने लगता है, जिससे लोको पायलट सतर्क हो जाते हैं।
ऐसा करता काम
डिवाइस में यह फीड कर दिया जाता है कि कितनी दूरी पर कौन सी क्रॉसिंग है, कितनी दूरी पर सिग्नल है। क्रॉसिंग या सिग्नल से करीब पांच सौ मीटर पहले डिवाइस लोको पायलट को सतर्क कर देगी। ऐसे में दृश्यता कम होने पर चालक सावधान हो जाएगा और विवेक से काम लेगा। जनसंपर्क अधिकारी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि चालक इंजन में इसको लगाकर सुरक्षित ट्रेनों का संचालन करेंगे। इससे कोहरे में किसी भी प्रकार के हादसे का डर नहीं रहेगा।
... और पढ़ें

वो शनिवार की रात थी साहब....ये रविवार की रात है...अब पुलिस नहीं दिखेगी

झांसी। शनिवार की रात को मुख्यमंत्री की मौजूदगी में चप्पे-चप्पे पर फोर्स था। चौराहे ही नहीं मुहल्लों तक में गश्त हो रही थी। पुलिस की सायरन बजाती गाड़ियां कभी इधर जातीं तो कभी उधर। हर कोई खुद को महफूज महसूस कर रहा था। सभी ने कहा भी... अगर पुलिस रोज इतनी एक्टिव रहे तो अपराध खत्म हो जाएं। लेकिन अगली ही रात (रविवार) को जब अमर उजाला टीम सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने निकली तो तस्वीर एकदम अलग थी। चौराहों पर हमें पुलिस नहीं दिखी। पुलिस सहायता केंद्र खाली पड़े थे। आसपास के लोगों और राहगीरों से जब बात की गई तो सभी ने कहा कि हमें तो कहीं कोई चौकसी दिखी नहीं।
समय- रात को 8:20, स्थान बीकेडी चौराहा: यह व्यस्त चौराहा है। ग्वालियर रोड पर सर्किट हाउस के करीब है। यहां सुरक्षा व्यवस्था के नाम पर कहीं कोई पुलिस वाला नजर नहीं आया। हमने जब पास के दुकानदार मनीष ने बात की तो उसका कहना था कि दोपहर को दो बजे तक यहां भारी पुलिस बल था लेकिन उसके बाद से तो कोई दिखा नहीं है। हो सकता है कि देर रात से ड्यूटी शुरू हो। एक अन्य दुकानदार खलीलउर रहमान का कहना था कि दो दिन से तो खूब पुलिस यहां थी। अब हो सकता है कि लगातार रात को जाग रहे हैं थोड़ी देर बाद आएं।
समय- रात को- 8:35, स्थान इलाइट चौराहा: यह चौराहा शहर का सबसे व्यस्त और प्रमुख माना जाता है। महानगर का हर बड़ा रास्ता यहां से होकर गुजरता है। लेकिन सुरक्षा के नाम पर यहां भी खामोशी दिखी। राहगीर राजकुमार यादव ने कहा कि एक घंटे से वह इस क्षेत्र में हैं लेकिन अभी तक तो कोई दिखा नहीं। हो सकता है कि रात को दस बजे से ड्यूटी शुरू हो। चौराहे के पास रहने वाले प्रकाश गुप्ता ने बताया कि वह तो कई दफा यहां से निकल चुके मगर पुलिस नहीं दिखी। हो सकता है कि आसपास में कहीं बैठे हों।
समय- रात को 8:45, स्थान कचहरी चौराहा: यह चौराहा काफी व्यस्त माना जाता है। यहां शाम को सात बजे के बाद से ही सन्नाटा हो जाता है। सुरक्षा व्यवस्था रहनी चाहिए। लेकिन हमें कहीं पुलिस वाले नहीं दिखे। अगर कहीं आसपास बैठे हों तो कह नहीं सकते। एवट मार्केट निवासी कमल ने बताया कि वह सदर बाजार से आ रहे हैं वहां से कचहरी चौराहा तक कहीं पुलिस वाले नहीं दिखे। जबकि मुख्यमंत्री की मौजूदगी में हर जगह पुलिस थी।
समय- रात को 8:50, स्थान बस स्टैंड: इस बस स्टैंड से कानपुर, लखनऊ और आसपास के इलाकों को बसें जाती हैं। यहां जो पुलिस सहायता केंद्र था वह भी खाली पड़ा था। पुलिस भी कहीं नजर नहीं आई। यहां मोंठ निवासी राहुल बस के इंतजार में बैठे थे। राहुल ने बताया कि वह तो एक घंटे से यहां मौजूद हैं लेकिन पुलिस कहीं नहीं दिखी। हमीरपुर जिले के राठ निवासी मोहित गुप्ता भी बस का इंतजार कर रहे थे। उन्होंने बताया कि वह 45 मिनट से यहां मौजूद हैं लेकिन पुलिस नहीं दिखी।
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री से बोले भाजपाई, हमारी नहीं सुनते अधिकारी

झांसी। मुख्यमंत्री जी! अफसर सुनवाई नहीं कर रहे हैं। वे हमारी भी नहीं सुनते, तो जन समस्याओं पर कितना ध्यान देते होंगे, इसका अंदाजा आप खुद ही लगा लीजिए। इससे सरकार की छवि धूमिल हो रही है। कृपया ध्यान दीजिए। कुछ इस अंदाज में मुख्यमंत्री के सामने भाजपा के नेताओं ने अपनी पीड़ा रखी।
सर्किट हाउस में मुख्यमंत्री से मुलाकात के दौरान पार्टी के झांसी, जालौन व ललितपुर के कुछ नेताओं ने सीएम को बताया कि कुछ अधिकारी सरकार की छवि धूमिल कर रहे हैं। शासन के निर्देश के बाद भी वे निर्धारित समय में दफ्तरों में नहीं बैठते हैं। ये अफसर जन समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। कई थानेदारों का भी यही हाल है। छोटे - बड़े किसी भी मामले की वे आसानी से रिपोर्ट दर्ज नहीं करते। पीड़ितों के साथ थाने में अच्छा व्यवहार भी नहीं किया जा रहा है। स्थिति ये है कि किसी पीड़ित की मदद की सिफारिश पर भी वे ध्यान नहीं देते। कुछ नेताओं ने मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भी दिए।
... और पढ़ें

विधान परिषद की प्राथमिक मतदाता सूची तैयार

झांसी। विधान परिषद के इलाहाबाद - झांसी खंड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र की प्राथमिक मतदाता सूची तैयार हो गई है। सूची पर 26 दिसंबर तक दावे और आपत्तियां ली जाएंगी। इनका निस्तारण करने के बाद 16 जनवरी को फाइनल सूची जारी होगी।
अगले साल विधान परिषद की इलाहाबाद - झांसी खंड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव होने हैं। इसके लिए तैयारियां तेजी से जारी हैं। प्राथमिक मतदाता सूची तैयार कर ली गई है, जिसमें क्षेत्र के दसों जनपदों के लगभग एक लाख उनचास हजार मतदाताओं के नाम शामिल किए गए हैं। ये प्राथमिक सूची दस दिसंबर को प्रकाशित की जाएगी। सूची में दर्ज नामों पर किसी को कोई आपत्ति है या किसी का नाम दर्ज होने से वंचित रह गया है, इसे लेकर 10 से 26 दिसंबर तक दावे और आपत्तियां ली जाएंगी। इनका निस्तारण करने के बाद 16 जनवरी को फाइनल सूची प्रकाशित होगी।
पचास हजार मतदाता हो गए कम
प्रत्येक छह वर्ष में होने वाले विधान परिषद के चुनाव के लिए हर बार नई मतदाता सूची तैयार की जाती है। इलाहाबाद - झांसी खंड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र में दस जनपद इलाहाबाद, कौशांबी, फतेहपुर, बांदा, महोबा, हमीरपुर, चित्रकूट, जालौन, झांसी व ललितपुर आते हैं। पिछले चुनाव में उक्त दसों जनपदों के 1.99 लाख मतदाता थे। जबकि, इस बार अब तक 1.49 मतदाताओं के नाम ही जोड़े गए हैं। हालांकि, अब भी मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने का मौका है। एक नवंबर 2019 से तीन साल पहले स्नातक की डिग्री हासिल करने वाला कोई भी व्यक्ति मतदाता बन सकता है।
... और पढ़ें

सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में शुरू हुआ इलाज

झांसी। महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में मरीजों का इलाज शुरू हो गया है। पहले दिन ही दो सौ से अधिक मरीजों ने ब्लॉक में अपना इलाज कराया। ऑनलाइन पंजीकरण और बैठने की बेहतर सुविधा होने की वजह से मरीजों को काफी अच्छा लगा। फार्मेसी से मरीजों को दवाएं भी दी गईं। मरीज कहते सुने गए कि अस्पताल खास है यहां उन्हें रामबाण इलाज मिलेगा।
प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत 150 करोड़ रुपये से बने सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का शुभारंभ रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने किया था। ब्लॉक में नेफ्रोलॉजी, यूरोलॉजी, न्यूरोलॉजी, कार्डियोलॉजी, प्लास्टिक सर्जरी, न्यूरो सर्जरी विभागों को मिलाकर 20 सुपर स्पेशिलिस्ट डॉक्टर हैं।
सोमवार को ब्लॉक में यूरोलॉजी, न्यूरोलॉजी, कार्डियोलॉजी, न्यूरो सर्जरी विभाग के ओपीडी में डॉक्टरों ने मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाएं व जांचें लिखीं। ब्लॉक में बैठने के लिए भरपूर बेंच, पर्चा बनाने की बेहतर सुविधा, फार्मेसी से दवाओं का वितरण होने की वजह से मरीजों ने काफी अच्छा महसूस किया।
ये है ओपीडी चार्ट
ओपीडी दिन डॉक्टर
प्लास्टिक सर्जरी मंगलवार, बृहस्पतिवार डॉ. सुधीर कुमार
न्यूरो सर्जरी सोमवार डॉ. दिनेश कुमार
बुधवार डॉ. दिनेश शुक्ला
यूरोलॉजी सोमवार डॉ. देवाशीश कौशल
मंगलवार डॉ. मनीष जैन
बुधवार डॉ. अनिल सांवल
बृहस्पतिवार डॉ. मनीष जैन
शुक्रवार डॉ. देवाशीश कौशल
कार्डियोलॉजी सोमवार, मंगलवार डॉ. निर्देश जैन
नेफ्रोलॉजी मंगलवार, शनिवार डॉ. एनएस सेंगर
न्यूरोलॉजी सोमवार, शुक्रवार डॉ. अरविंद कनकने
ये हैं सुविधाएं
- 186 जनरल बेड
- 10-10 बेड के छह आईसीयू
- 8 प्री-अप, 4 पोस्ट-अप बेड
- छह मॉड्यूलर व एक माइनर ऑपरेशन थिएटर
- एक कैथ लैब
- 5 लिफ्ट
- 24 वेंटिलेटर व 10 डायलिसिस मशीन
- पूरी बिल्डिंग वातानुकूलित
- अत्याधुनिक सीएसएसडी
- लिक्विड ऑक्सीजन के साथ एमजीपीएस
ये बोले मरीज
.................
अपनी सास को न्यूरोलॉजी विभाग के ओपीडी में दिखाने आया हूं। यहां पर बहुत अच्छी सुविधाएं हैं। देखने से बिल्कुल नहीं लगता कि यह सरकारी चिकित्सालय है। साफ-सफाई की भी अच्छी स्थिति है। - रिजवान खान, गरौठा।
चलने-फिरने में चक्कर आते हैं तो डॉक्टर को दिखाने के लिए आई हूं। यहां पर मरीजों और उनके तीमारदारों के बैठने के लिए अच्छी सुविधा है। पुराने ओपीडी भवन में खड़े रहने से समस्या होती थी। - लक्ष्मी, बिजौली।
न्यूरो संबंधी दिक्कत होने की वजह से पहले निजी अस्पताल में इलाज करा रही थी। वहां काफी पैसे खर्च हो रहे थे। जब सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक खुलने की जानकारी हुई तो काफी खुशी हुई। आज दिखाने आई हूं। - लक्ष्मी, बांदा।
सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में मरीजों के लिए अच्छी सुविधाएं हैं। पहले दिन तो डॉक्टर बैठे हैं। आगे भी पूरा समय ओपीडी में दें तो मरीजों को लाभ होगा। दवाएं भी नियमित मिलती रहनी चाहिए। - सुमन साहू, शहर।
... और पढ़ें

झांसी में शीघ्र दौड़ेगीं इलेक्टिक बसों

झांसी। कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद झांसी में इलेक्ट्रिक एसी बसों के चलाए जाने का रास्ता साफ हो गया है। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत शहर के भीतर 25 इलेक्ट्रिक एसी बसें संचालित की जाएंगी। इन बसों के लिए जगह-जगह चार्जिंग प्वांइट भी बनेंगे। अफसरों ने अगले वर्ष से सिटी बस सेवा आरंभ हो जाने की उम्मीद जाहिर की है।
सोमवार को हुई कैबिनेट बैठक में 14 शहरों में इलेक्ट्रिक एसी बसों के संचालन को मंजूरी मिल गई। इन 14 शहरों में झांसी भी शामिल है। कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद स्मार्ट सिटी मिशन के तहत सिटी बस सेवा का कार्य आगे बढ़ सकेगा। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 28 करोड़ रुपये का इंतजाम किया गया है। अभी यहां सार्वजनिक परिवहन की कोई व्यवस्था नहीं है। टेंपो-टैक्सी ही परिवहन का इकलौता जरिया है लेकिन, अब इस प्रस्ताव के मंजूर होने के बाद झांसी में लोग एसी बसों में सफर कर सकेेंगे। इसके जरिए झांसी के भीतरी इलाकों के साथ ही आसपास के इलाकों को भी जोड़ा जाएगा।
प्रोजेक्ट से जुड़े अफसरों के मुताबिक प्रारंभिक सर्वे में रूट का चयन कर लिया गया है। इन बसों के संचालन के लिए ऐसा रूट तय किया जा रहा जिससे रेलवे स्टेशन, किला, मेडिकल कॉलेज, बस अड्डे को जोड़ते हुए कॉरिडोर बनाया जा सके। इससे पर्यटकों के साथ रोजाना के यात्री भी लाभ उठा सकेंगे। छात्रों समेत आसपास के लोगों की सहूलियत का भी ख्याल रखा जाएगा। ओरछा जैसे पर्यटक स्थल को भी जोड़े जाने की योजना है। कैबिनेट मंजूरी के बाद अब कार्यदायी एजेंसी स्टूप कंसटेल्सी प्राइवेट लिमिटेड काम तेजी से आरंभ करेगी। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के टीम लीडर मानविंदर सिंह के मुताबिक अब जल्द ही कार्य किया जाएगा। उन्होंने अगले वर्ष तक इस सेवा के आरंभ हो जाने की उम्मीद की है।
ये होंगी इन बसों की खूबियां-
- सीएनजी के लीक होने से आग का खतरा रहता है, इलेक्ट्रिक बसों में यह खतरा ना के बराबर रहेगा। इस तरह यात्रा को सुरक्षित बनाया जा सकेगा।
- इलेक्ट्रिक बसों से धुएं का उत्सर्जन न होने से पर्यावरण प्रदूषण नहीं होगा।
- लो-फ्लोर होने की वजह से महिलाएं एवं बुजुर्ग बसों में असानी से चढ़ सकेंगे।
- बस के भीतर सीसी कैमरे एवं पैनिक बटन की सहूलियत होगी।
- अंदर ऑटोमेटिक स्लाइडिंग डोर होंगे, जिसका कंट्रोल ड्राइवर के पास रहेगा।
- बसों के बाहर इलेक्ट्रिक डिस्प्ले बोर्ड होंगे, इससे बस का रूट आसानी से मालूम चल सकेगा।
- बस के दोनों ओर दो-दो सीटें होंगी, अंदर खुला स्थान अधिक होगा।
- चलते समय बस से अधिक आवाज नहीं होगी, जिससे ध्वनि प्रदूषण भी थमेगा
एक करोड़ कीमत की होगी एक बस
एक इलेक्ट्रिक बस की कीमत करीब एक करोड़ के करीब आंकी गई है जबकि सीएनजी बस की कीमत 70-80 लाख के करीब बैठती है। वातावरण को नुकसान न पहुंचाने की वजह से देश में इसकी मांग काफी बढ़ गई है। इसके भीतर मोबाइल फोन की तरह चिपटी बैटरी लगी होगी, जिसका वजन करीब 150 किलोग्राम के करीब होगा। इस बैटरी को चार्ज करने में 162 केवीए की बिजली की जरूरत होगी। बैटरी चार्ज होने में करीब ढाई घंटे का समय लगेगा। इसके बाद यह 150 किमी तक चल सकेगी। अभी प्रदेश में लखनऊ में इस तरह की बस संचालित की जा रही हैं।
इनसेट
कोछाभांवर में बनेगा बस अड्डा
नगर निगम ने इलेक्ट्रिक बस संचालन के लिए मेडिकल कॉलेज के पास कोछाभांवर में भूमि नंबर 516 में करीब 1.214 हेक्टेयर (तीन एकड़) जमीन नगरीय परिवहन निदेशालय को उपलब्ध कराई है। इस भूमि में बस स्टॉप के अलावा रात्रि पार्किंग, चार्जिंग प्वाइंट बनाए जाएंगे। निगम अफसरों का कहना है सदन की मंजूरी से यह भूमि हस्तांतरित कर दी गई है।
... और पढ़ें

गोशाला में गोवंश की मौत से मचा हड़कंप

गुरसराय (झांसी)। मड़ोरी गोशाला में सोमवार को कई गोवंशों की मौत होने की जानकारी मिलते ही हड़कंप मच गया। शिवसैनिकों ने गोशाला पहुंचकर हंगामा किया। उनका कहना है कि एक दर्जन गोवंशों की मौत हुई है। वहीं, एसडीएम का कहना है कि चार बछड़े और एक गाय की मौत हुई है।
सोमवार को ग्रामीणों की सूचना पर शिवसैनिक गोशाला पहुंचे। उनका कहना है कि वहां पर एक दर्जन गोवंश मृत पड़े थे। प्रधान जेसीबी से गड्ढा खुदवा कर मृत गोवंशों को दफनवा रहे थे। इसका वीडियो बनाया गया। इसकी जानकारी उप जिलाधिकारी गरौठा धीरेंद्र प्रताप सिंह और खंड विकास अधिकारी बामौर रामवंत को दी गई। सारे फोटो और वीडियो दिखाए गए। जहां पर मृत गोवंश दफनाए गए वहां पर भी दिखाया गया। इसके बाद भी अफसरों का रवैया बहुत लचर रहा। शिवसैनिकों ने रोष जताते हुए प्रधान और गोशाला संचालकों पर कार्रवाई की मांग की। आरोप लगाया कि पशु चिकित्साधिकारी को बुलाकर मृत गोवंशों का पोस्टमार्टम भी नहीं कराया।
वहीं एसडीएम का कहना है कि पोस्टमार्टम के बाद गोवंश को दफनाया गया है। अन्य बीमार गोवंशों का इलाज किया जा रहा है। पशु चिकित्सा अधिकारी और सचिव को रोज गोशाला का निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। अगर इसमें लापरवाही बरती जाती है तो कार्रवाई की जाएगी। गोशाला की सारी व्यवस्थाएं दो दिन में ठीक करा दी जाएंगी।
शिवसेना पदाधिकारियों का कहना है कि गोशाला में अव्यवस्था है। जाड़े में भी खुले में गोवंशों को रखा जा रहा है। गोवंशों को रखने के लिए कोई शेड भी नहीं डाला गया है। वहां पर भूसे और पानी की भी व्यवस्था नहीं है। इस दौरान मंडल प्रमुख मनोज शर्मा कपिल पटैरिया, प्रद्युम्न सुट्टा, संदीप श्रीवास, गौरव ठाकुर, सुमित ठाकुर, अमित कुशवाहा, दीपक राज, नरेंद्र यादव, रवि सिंगार, दिलीप रिछारिया, शिवम उपस्थित रहे।
गुरसराय। सूबे की योगी सरकार गोपालन के लिए तमाम योजनाएं बना रही है और छुट्टा गोवंशाें के लिए बने आश्रय स्थलों पर विशेष ध्यान दे रही है। वहीं नगर में दो-दो गोशालाओं के संचालन के बाद भी गोवंशों की बेकद्री हो रही है। गोविंद जी चौराहे के पास घायल अवस्था में पड़े गोवंश की पीड़ा एक बालिका ने समझी और उसकी घंटो सेवा कर इंसानियत की मिसाल पेश की।
... और पढ़ें

चरस रखने पर युवक को पांच साल की सजा

A gowansh die in goshala
झांसी। अवैध चरस रखने का आरोप सिद्ध होने पर विशेष न्यायाधीश (एनडीपीएस एक्ट) अपर जिला जज न्यायालय संख्या पांच अभय श्रीवास्तव की अदालत में नशे के सौदागर को पांच वर्ष के सश्रम कारावास एवं 10 हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई गई।
सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता भान प्रकाश सिरवैया के अनुसार थाना बरुआसागर पुलिस ने विगत 28 फरवरी 2011 को गश्त के दौरान तैदोंल मार्ग पर संदिग्ध अवस्था में एक व्यक्ति को रोका तो उसने भागने का प्रयास किया। पुलिस ने आवश्यक बल प्रयोग व घेराबंदी कर पुलिस ने संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ लिया। पूछताछ में उसने अपना नाम कुंवर लाल पुत्र धनसिंह यादव निवासी ग्राम तैदौंल बताया । तलाशी में उसके पास से चरस बरामद किया गया। पुलिस ने अभियुक्त के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोप पत्र न्यायालय में पेश किया। जहां प्रस्तुत साक्ष्यों के आधार पर उक्त अभियुक्त पांच साल के सश्रम कारावास व 10 हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई गई। जुर्माना अदा न करने पर छह माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा।
... और पढ़ें

गल्लामंडी में मिला युवक का शव

झांसी। गल्ला मंडी क्षेत्र में सोमवार की सुबह एक युवक का शव मिला। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने मेडिकल कॉलेज के पोस्टमार्टम हाउस पर युवक की शिनाख्त कर ली।
नवाबाद थाना क्षेत्र के गल्ला मंडी के पास एक युवक का शव मिलने से हड़कंप मच गया। मौके पर भीड़ लग गई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। इस बीच मंडी में काम करने वाले मोहम्मद समीर ने मृतक को पहचान लिया। मृतक की पहचान तालबेहट के चौबयाना निवासी अब्दुल समद (36) पुत्र शगूर के रूप में की गई। पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज भेज दिया। इधर, परिजन मौके पर आ गए। यहां परिजनों ने बताया कि अब्दुल समद पिछले तीन महीने से घर से लापता चल रहा था।
... और पढ़ें

सड़क दुर्घटना में दो की मौत

झांसी। मऊरानीपुर के रानीपुर क्षेत्र में अज्ञात वाहन की टक्कर से दो लोगों की मौत हो गई। मध्य प्रदेश के चंदेरा थाना क्षेत्र के मैदवारा गांव में दोनों एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए जा रहे थे। इनमें एक के शव का पोस्टमार्टम टीकमगढ़ व दूसरे का झांसी में कराया गया।
मऊरानीपुर के कंचनपुरा खरकासानी निवासी बृजेश रायकवार (30) की बहन मध्य प्रदेश के चंदेरा थाना क्षेत्र के मैदवारा गांव में रहती हैं। आठ दिसंबर को उनकी बहन की पुत्री की शादी थी। रविवार की सुबह बृजेश अपने एक रिश्तेदार ओमप्रकाश (48) के साथ बाइक पर बहन के घर जा रहे थे। साथ में कलश आदि सामान भी लिए थे। रानीपुर से मध्य प्रदेश की सीमा में प्रवेश करते ही उनको एक अज्ञात वाहन ने टक्कर दी। टक्कर लगते ही दोनों गंभीर रूप से घायल होकर सड़क पर गिर पड़े। सूचना पर दोनों के परिजन व रिश्तेदार मौके पर पहुंच गए। ओमप्रकाश के परिजन उसे टीकमगढ़ के अस्पताल और बृजेश के झांसी मेडिकल कॉलेज लेकर आ गए। दोनों चिकित्सकों ने उनको मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम हाउस पर चचेरे भाई छिंग्गे ने बताया कि बृजेश की दो बेटी व एक बेटा है। दस साल से उसका बड़ा भाई भी लापता है। बृजेश मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण करता था।
... और पढ़ें

मऊरानीपुर कोतवाली में लगी आग

मऊरानीपुर (झांसी)। कोतवाली के कंप्यूटर कक्ष में रविवार की रात करीब 12 बजे शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। इससे कक्ष में रखे लाखों रुपये के कंप्यूटर जल गए। दमकल की गाड़ी ने आग पर काबू पाया। गनीमत रही कि दूसरे कमरों तक आग नहीं पहुंच सकी। साथ ही, कंप्यूटर जलने से रिपोर्ट लिखने व सूचनाएं भेजने का कार्य प्रभावित हो गया।
रविवार रात कंप्यूटर कक्ष में धुआं उठने लगा। देखते की देखते धुएं ने आग का रूप धारण कर लिया। आग ने कक्ष में रखे कंप्यूटर व अन्य उपकरणों को चपेट में ले लिया। आग निकलती देख वहां मौजूद कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। आरक्षी हरनाम सिंह ने दमकल को सूचना दी। कर्मचारियों ने अग्निशमन यंत्रों की मदद से आग को बुझाने का प्रयास किया। मौके पर पहुंचे दमकल कर्मचारी ही आग पर काबू पा सके। आग में छह कंप्यूटर, दो डी लिंक, सीसीटीवी राऊटर, दो टैबलेट, एक लैपटॉप, यूपीएस, स्टेपलाइजर, प्रिंटिंग मशीन, फर्नीचर समेत करीब पांच लाख रुपये का सामान जल गया।
पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) राहुल मिठास ने बताया कि मऊरानीपुर कोतवाली में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई थी। थाने में अग्निशमन यंत्र मौजूद थे, जिनकी मदद से आग बुझाने के शुरुआती प्रयास किए गए। इस प्रयास से आग दूसरे कमरों तक नहीं पहुंच सकी। बाद में दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पा लिया। साथ ही, मऊरानीपुर कोतवाली में काम प्रभावित न हो, इसके लिए वैकल्पिक कंप्यूटर की व्यवस्था कर दी गई है। मैंने टोड़ीफतेहपुर, गुरसराय और माेंठ थाने का निरीक्षण कर अग्निशमन यंत्रों की जांच की। इन थानों में उपकरण मौजूद थे। उनमें जो भी कमियां थीं, उनकोे दूर करने के लिए कहा। एक हफ्ते में सभी थानों में अग्निशमन यंत्रों का ऑडिट कराया जाएगा। ऑडिट में जो कमियां सामने आएंगी, उनको दूर करवाया जाएगा।
... और पढ़ें

सड़क दुर्घटनाओं में नौ घायल

झांसी। सड़क दुर्घटनाओं में नौ लोग घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।
सोमवार की सुबह शिवपुरी के करैरा निवासी रामेश्वर अपने दो साथियों के साथ बाइक से जा रहे थे। रास्ते में बाइक अनियंत्रित होकर फिसल गई, जिसमें वह घायल हो गए। ललितपुर के पूरा विरधा निवासी गौरीशंकर (18) बाइक पर जा रहे थे। रास्ते में उनको चार पहिया वाहन ने टक्कर मारकर घायल कर दिया। इसी तरह जखौरा के किशनवारा निवासी रामसिंह बाइक से डीजल लेने जा रहे थे। रास्ते में उनको दूसरे बाइक सवार ने टक्कर मारकर घायल कर दिया। राजघाट क्षेत्र के मैलार गांव निवासी राजेंद्र सुबह के वक्त खेत की ओर जा रहे थे। रास्ते में उनको बाइक सवार ने टक्कर मारकर घायल कर दिया। इसी तरह अन्य घटनाओं में सीपरी बाजार क्षेत्र के केशवपुर निवासी भागीरथ, जालौन के तुलसी नगर निवासी निखिल, गुरसराय निवासी राहुल जैन, अंकित खरे व दीपक घायल हो गए।
... और पढ़ें

प्रदेश में चल रहे सभी बड़े प्रोजेक्ट की हर पंद्रह दिन में समीक्षा करेंगे सीएम

उत्तर प्रदेश में चल रहे विकास के सभी बड़े प्रोजेक्ट की समीक्षा अब हर पंद्रह दिन में स्वयं मुख्यमंत्री करेंगे। इस समीक्षा से पहले शासन की टॉस्क फोर्स जिलों में जाकर सभी प्रोजेक्ट पर प्रगति रिपोर्ट तैयार करेगी।

बुंदेलखंड के विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में इस तरह के निर्देश जारी किए गए हैं। यहां सीएम ने माना कि अफसरों की लापरवाही से विकास की योजनाएं समय से पूरी नहीं हो रही हैं। इनमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश के भी 48 से ज्यादा प्रोजेक्ट हैं जो पांच साल के बाद भी पूरे नहीं हो पाए हैं।

हाईवे चौड़ीकरण, ओवरब्रिज, अंडरपास, नदी और नहरों पर पुल निर्माण, नए बस स्टैंड के साथ ही गरीबों के लिए जो मकान बनाए जा रहे हैं उनके निर्माण की रफ्तार भी बेहद सुस्त है।

अकेले बुंदेलखंड में ही इस तरह के 14 प्रोजेक्ट हैं। कई प्रोजेक्ट तो ऐसे हैं जो 2016 में पूरे हो जाने चाहिए थे लेकिन अभी तक अधूरे हैं। झांसी में ग्वालियर रोड पर सेना की हवाई पट्टी के आगे फ्लाईओवर 13 साल के बाद भी पूरा नहीं हो सका है।

मुख्यमंत्री द्वारा झांसी में की गई विकास कार्यों की समीक्षा में यह सभी लंबित प्रोजेक्ट रखे गए। कई प्रोजेक्ट ऐसे थे जो पेड़ों का कटान न हो पाने के कारण फंसे हैं तो कहीं किसी विभाग द्वारा एनओसी नहीं मिल पाई थी।

माना गया कि अफसरों द्वारा लगातार फालोअप भी नहीं किया जा रहा है। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी बड़े प्रोजेक्ट की हर पंद्रह दिन में समीक्षा होगी। मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक में कहा कि प्रदेश भर में जहां भी लंबित प्रोजेक्ट हैं उन पर समीक्षा की व्यवस्था की गई है।

शासन स्तर पर भी पैरवी नहीं करते अधिकारी
समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री के सामने कई ऐसे प्रोजेक्ट भी रखे गए जिन्हें सांसद और विधायकों ने प्रस्तावित किया था और प्रशासन ने रिपोर्ट भेजी थी। जब मुख्यमंत्री ने अफसरों से पूछा कि शासन स्तर पर इन प्रोजेक्ट की प्रगति रिपोर्ट कभी जानी तो अफसर कोई जवाब नहीं दे सके। मुख्यमंत्री ने यहां कहा कि क्षेत्र का विकास कराना अफसरों की जिम्मेदारी है। जो भी प्रस्ताव शासन स्तर पर भेजे जाते हैं उनके बारे में समय समय पर जानकारी की जानी चाहिए।
..झांसी के लंबित प्रोजेक्ट...
सीपरी बाजार ओवरब्रिज
मऊरानीपुर ओवरब्रिज
लक्ष्मीताल का पर्यटन विकास
ग्वालियर रोड का फोरलेन
बल्लमपुर का अंडरपास
ग्वालियर रोड पर सेना की हवाई पट्टी के आगे फ्लाईओवर
मेडिकल कालेज में पांच सौ बेड का अस्पताल
इन जिलों में सबसे ज्यादा लंबित हैं प्रोजेक्ट
झांसी, ललितपुर, बांदा, कानपुर, महोबा, आगरा, मथुरा, अलीगढ़, बरेली, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, बुलंदशहर, गाजियाबाद, मेरठ, आजमगढ़, बस्ती, फतेहपुर और उन्नाव।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
dhanterash & diwali coupan
dhanterash & diwali coupan
dhanterash & diwali coupan
dhanterash & diwali coupan

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election