विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

आजम को औरत के आंसुओं की सजा मिल रही है: जयाप्रदा

पूर्व सांसद जयाप्रदा ने गुरुवार को विभिन्न स्थानों पर जनसभाएं कीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि आजम को औरत के आंसुओं की सजा मिल रही है।

18 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

झांसी

शुक्रवार, 18 अक्टूबर 2019

करवा चौथ का पर्व आज मनेगा उत्साह से

करवा चौथ का पर्व आज मनेगा उत्साह से
झांसी। बृहस्पतिवार को करवा चौथ का पर्व उत्साह से मनाया जाएगा। सुहागिन महिलायें निर्जल व्रत धारण करेंगी। शाम होने के बाद शुभ मुहूर्त में शिव पार्वती व चंद्रमा की पूजा-अर्चना कर व्रत पूर्ण करेंगी। इसके बाद चंद्रमा को अर्घ्य प्रदान कर अपने पति की लंबी आयु और सुख समृद्धि की कामना करेंगी। बुधवार को त्योहार को लेकर महिलाओं में खासा उत्साह नजर आया। उन्होंने हथेलियों पर मेहंदी रचाई। शहर के ब्यूटी पार्लरों में भी खूब भीड़ रही।
सुहागिन महिलाओं के लिए करवा चौथ के पर्व का विशेष महत्व रहता है। मान्यता है कि इस त्योहार पर सुहागिन महिलाओं द्वारा उपवास रखने से उनके पति की आयु लंबी होती है। उनका जीवन भी सुखमय रहता है। निर्जल व्रत रखते हुए महिलायें शुभ मुहूर्त में शाम होते ही छत पर पूजा अर्चना के लिए जुटने लगती है। मिट्टी अथवा शक्कर के बने करवा तथा श्रृंगार की सामग्री पूजा में उपयोग करती हैं। चंद्रमा को छलनी से देखकर अर्घ्य देकर पति के हाथ से पानी पीकर व्रत खोलती हैं। आचार्य शांतनू पांडेय के अनुसार करवा चौथ पर चंद्रमा का उदय रात 8:30 बजे होगा। जो शुभ रहेगा।
इधर, श्री संकट मोचन हनुमान मंदिर के ज्योतिषाचार्य राम बिहारी बादल ने बताया कि सनातन धर्म में कार्तिक कृष्ण पक्ष चतुर्थी में अखंड सौभाग्य पाने के लिए सुहागिने व्रत रखती है। उनके अनुसार बृहस्पतिवार को चतुर्थी की तिथि सुबह 5 बजकर 29 मिनट से लग जाएगी। व्रत के पूजन में शिव, पार्वती, कार्तिकेय व चंद्रमा का पूजन होता है। उनके अनुसार करवा चौथ व्रत का उल्लेख वामन पुराण में है।
बाजार में छाई रही रौनक
करवा चौथ के पर्व को लेकर बुधवार को शहर के बाजारों में जबरदस्त रौनक छाई रही। ब्यूटी पार्लरों में सजने संवरने के लिए महिलाओं में खासकर नव विवाहिताओं में खासा उत्साह नजर आया। मेहंदी लगाने वाली आर्टिस्टों की भी बेहद डिमांड रही। इसके अलावा चूड़ियों और साड़ियों के मैचिंग सेंटर पर भी खासी चहल पहल रही। इधर, गिफ्ट सेंटरों में भी कई आकर्षक उपहार लोग खरीदते देखे गये। मानिक चौक स्थित गिफ्ट सेंटर संचालक प्रवीण कुमार अग्रवाल ने बताया कि लव लिखे ब्रसलेट, मैजिक मिरर, मैजिक फोटो फ्रेम और फैंसी कपल्स लोगों ने पसंद किये। इनक ी आकर्षक पैकिंग भी करवायी। बाजार अच्छा चला।
... और पढ़ें

पसरा रहा मातम, लोगों में रहा आक्रोश

पसरा रहा मातम, लोगों में रहा आक्रोश
झांसी। सीपरी बाजार क्षेत्र की दयाराम कॉलोनी में बुधवार को भी मातम पसरा रहा। पीड़ित परिवार के यहां दिन भर लोगों के आने का सिलसिला बना रहा। बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी ने पीड़ित परिजनों से मुलाकात कर उनको सांत्वना दी और मदद का आश्वासन दिया। इस दौरान परिजनों ने पुलिस की कार्रवाई पर नाराजगी व्यक्त की। वहीं, कई संगठनों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर घटना के शीघ्र खुलासे की मांग की।
सीपरी बाजार क्षेत्र की दयाराम कॉलोनी में रहने वाले जगदीश उदैनिया, उनकी मां कुमुद, पत्नी रजनी और बेटी मुस्कान की आग से जलकर हुई मौत का गम बुधवार को भी क्षेत्र में पसरा रहा। सुबह से ही पीड़ित परिवार का दुख बांटने के लिए लोगों के आने का सिलसिला बना रहा। इस बीच कई बार पुलिस की टीम ने भी मौके पर पहुंचकर छानबीन की। वहीं, यह घटना जनपद में लोगों के बीच चर्चा में बनी रही। सोशल मीडिया पर भी खबर को लेकर मेसेज और वीडियो वायरल होते रहे। हर कोई एक ही सवाल पूछ रहा था कि आखिर एक परिवार के चार सदस्यों को जलाकर क्यों मारा गया?
देर शाम बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री डा. सतीश द्विवेदी ने विधायक रवि शर्मा और जिलाधिकारी शिवसहाय अवस्थी के साथ पीड़ित परिवार से मुलाकात की। मंत्री ने हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी उनकी बात सुनने के लिए हर वक्त उपलब्ध रहेंगे। इस दौरान मृतक जगदीश उदैनिया के भाई दीपक ने पुलिस की कार्रवाई पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि शवों को सड़क पर रखने के बाद ही पुलिस हत्या की रिपोर्ट दर्ज करने के लिए तैयार हुई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी बेहद गंभीर आई है। मगर, पुलिस उसको छिपाने का प्रयास में लगी है। वहीं, ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधिमंडल ने राहुल रिछारिया के नेतृत्व में पीड़ित परिवार से मुलाकात कर ढांढस बंधाया। साथ ही बिगड़ी कानून व्यवस्था पर चिंता व्यक्त की। प्रतिनिधिमंडल में डा. सुनील तिवारी, माबूद चौधरी, पंकज मिश्रा, शेखर नलवंशी, संजय बबेले, सुरेश भार्गव शामिल रहे। अखिल भारतीय वर्षीय धर्म संघ की ओर से जिला धर्माचार्य महंत विष्णु दत्त स्वामी, महानगर धर्माचार्य हरिओम पाठक, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष वंदना पाठक, रवीश त्रिपाठी, जितेंद्र तिवारी, अनिल सुड़ेले, प्रकाश बिदुआ, शीतल तिवारी, रजत गोस्वामी, संजीव शर्मा ने परिजनों से मुलाकात शोक संवेदना व्यक्त की।
लोगों में आक्रोश, उच्च स्तरीय जांच की मांग
झांसी। सीपरी बाजार एक ही परिवार के चार सदस्यों की मौत से लोगों में आक्रोश है।
राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ के प्रतिनिधि मंडल ने जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर उक्त हत्याकांड की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की। इस मौके पर जिलाध्यक्ष ऋषिकेश रावत, सुरेश चंद्र भार्गव, पंकज शुक्ला, पंकज मिश्रा, रमाकांत लिटौरिया, धीरज मिश्रा, रामनारायण शर्मा, गौरीशंकर बिदुआ, राहुल रिछारिया मौजूद रहे। बुंदेलखंड सर्व ब्राह्मण महासभा की बैठक में हत्या करने वालों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की गई। बैठक में अरविंद उपाध्याय, डा. एके व्यास, श्रीराम बुधौलिया, रविशंकर पांडे, संध्या पांडे, राजेंद्र प्रसाद रावत, संजय दुबे, शिवनारायण तिवारी, अमित बुधौलिया मौजूद रहे। इसी तरह, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठक में अरविंद वशिष्ठ, श्रीराम बिलगैयां, पूरन मिश्रा, मेवालाल भंडारिया, दिलीप शाक्या, जावेद खान ने घटना को शर्मनाक बताया।
इधर, बुंदेलखंड मुक्ति मोर्चा की बैठक में केंद्रीय महामंत्री दिनेश भार्गव, अमृत प्रसाद, अखिलेश त्रिपाठी, अनिल पाठक, विजय सिंह साहू, सतेंद्र पटेल, हफीज अहमद, यज्ञपाल सिंह, नरेश बुंदेला ने घटना पर आक्रोश व्यक्त किया।
... और पढ़ें

सिविल सर्जन सहित पांच सस्पेंड

सिविल सर्जन सहित पांच सस्पेंड
करैरा (मप्र.)। मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिला अस्पताल में एक शव के पांच घंटे तक बेड पर पड़े रहने और शव की आंखों में चीटियां पड़ने के मामले में कलेक्टर अनुग्रहा पी ने सिविल सर्जन सहित पांच लोगों को सस्पेंड कर दिया है। यह कार्रवाई कमिश्नर के निर्देश पर की गई। वहीं, सस्पेंड होने से पहले सिविल सर्जन अचानक बीमार हो गए। जिन्हें उपचार के लिए ग्वालियर रेफर किया गया।
उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों एमपी के शिवपुरी जिला अस्पताल में मानवता को शर्मसार करने वाले हुए घटनाक्रम ने स्वास्थ्य विभाग की संवेदनशीलता की सारी पोल कर दी। मामला सुर्खियों में आने के बाद हरकत में आए शासन व प्रशासन ने सख्ती दिखाई। जांच करने पहुंची कलेक्टर अनुग्रहा पी ने बताया कि कमिश्नर के निर्देश पर सिविल सर्जन डॉ. पीके खरे व इलाज में लापरवाही बरतने पर डॉ. दिनेश राजपूत सहित स्टॉफ की तीन नर्सों को सस्पेंड कर दिया गया है।
उधर इस मामले में कार्रवाई से पहले जिला अस्पताल के सिविल सर्जन अचानक बीमार हो गए और उन्हें अस्पताल के आईसीयू में उन्हें भर्ती कराया गया। बाद में उन्हें ग्वालियर रेफर कर दिया गया। रेफर किए जाने से पहले वह बीमारी की अवस्था में भी एंबुलेंस में लोगों से बतियाते देखे गए।
... और पढ़ें

व्यापारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, परिवार में कोहराम

सीपरी बाजार के आईटीआई सिद्धेश्वर नगर में रहने वाले एक व्यापारी ने बुधवार की रात फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सुबह उनका शव रोशनदान पर लटका मिला। पुलिस ने शव को नीचे उतारा। घटना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।

सीपरी बाजार के आईटीआई सिद्धेश्वर नगर में अखिलेश कुमार शुक्ला अपने तीन पुत्र शरद, दीपक व अनुज के साथ संयुक्त परिवार में रहते हैं। उनके बड़े पुत्र शरद शुक्ला ने क्षेत्र में ही शुक्ला बिल्डिंग मैटेरियल के नाम से कारोबार खोल रखा था। शरद की पत्नी श्यामा, पुत्र वीर  व शिवम हैं। बुधवार की रात शरद ने दूसरी मंजिल के खाली कमरे के रोशनदान पर साड़ी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली।

बुधवार की सुबह परिजनों ने उनका शव फंदे पर लटका देखा तो उनमें कोहराम मच गया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पड़ोसियों की भीड़ लग गई। पुलिस ने शव को फंदे से नीचे उतारा। घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज भेज दिया।

इधर, शरद के छोटे भाई अनुज ने बताया कि घर की दूसरी मंजिल पर निर्माण कार्य के चलते परिवार के सभी सदस्य पहली मंजिल पर बने कमरों पर ही सो रहे हैं। उनके भाई आधी रात के बाद अचानक ऊपर के कमरे में सोने चले गए। सुबह सात बजे दरवाजा खटखटाया, पर उन्होंने गेट नहीं खोला। सोचा की सो रहे होंगे, थोड़ी देर में जाग जाएंगे। सुबह साढ़े आठ बजे जब राजमिस्त्री काम करने आए, तब दोबारा गेट खटखटाया गया।

इस बार भी अंदर से कोई आवाज न आने पर उन्होंने पड़ोसी की छत पर जाकर अंदर कमरे में देखा तो उनके भाई का शव रोशनदान से नीचे फंदे पर लटका रहा था। उन्होंने बताया कि उनके भाई का सामान्य रूप से जीवन चल रहा था। उन्होंने ऐसा कदम क्यों उठाया? किसी की समझ में नहीं आ रहा है। मालूम हो कि, पिछले चार महीने के भीतर सीपरी बाजार क्षेत्र में व्यापारी द्वारा फांसी लगाने की यह तीसरी घटना है।
... और पढ़ें
फांसी फांसी

टीला धंसकने से युवक की मौत

टीला धंसकने से युवक की मौत
रानीपुर। बृहस्पतिवार को घर की पुताई के लिए मिट्टी खोदने गया युवक कगार धंसकने से उसमें दब गया। आस-पास के लोगों ने मिट्टी हटाकर उसे बाहर निकाला और उसे मेडिकल कॉलेज ले गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
मुहल्ला गंज (संकट मोचन) निवासी जगदीश प्रसाद पुत्र कल्लू कुशवाहा बृहस्पतिवार को पर्व के चलते घर की रंगाई पुताई के लिए पूर्वान्ह नगर के बाहर नदी के पास एक टीले से मिटटी खोद रहा था तभी यकायक कगार धंसक गई और जगदीश उसमें दब गया। आसपास लोगों ने दबे युवक को किसी प्रकार बाहर निकाला और उसे उपचार के लिए एक निजी नर्सिंग होम ले गए। जहां हालात खराब होने पर चिकित्सकों ने उसे मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। झांसी पहुंचने पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया गया कि मृतक के दो छोटे बच्चे है। लोगों ने यह भी बताया कि जहां यह घटना हुई इसके पहले भी यहां और घटनाएं हो चुकी है। युवक की मौत की खबर सुनकर परिवार में कोहराम मच गया।
निधन पर शोक
रानीपुर। मुहल्ला गंज निवासी जगदीश कुशवाहा के असमय निधन पर राजनैतिक, संभ्रांत लोगों ने शोक व्यक्त किया। इनमें डॉ.बालचंद्र कुशवाहा, डॉ. नाथूराम, डॉ. बृजलाल, पन्नालाल कुशवाहा, हर प्रसाद, दादा खूबचंद्र, तथा पं. अरुण चौधरी, मंजूर अहमद, रामकुमार बमौरया पार्षद, संतोष सेन प्रमुख रहे।
... और पढ़ें

आज से जानें अंतरिक्ष विज्ञान की बारीकियां

आज से जानें अंतरिक्ष विज्ञान की बारीकियां
झांसी। बुंदेलखंड विश्वविद्यालय और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान की ओर से 18 से 20 अक्तूबर तक तीन दिवसीय विक्रम साराभाई अंतरिक्ष प्रदर्शन का आयोजन किया जा रहा है। बीयू के राजीव गांधी इंडोर स्टेडियम में होने वाली प्रदर्शनी में छात्र-छात्राओं को अंतरिक्ष विज्ञान के संबंध में काफी कुछ जानने व सीखने को मिलेगा।
प्रदर्शनी के संयोजक डॉ. ऋषि कुमार सक्सेना ने बताया कि प्रदर्शनी का प्राथमिक उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले विद्यार्थियों को अंतरिक्ष विज्ञान के प्रति शिक्षित एवं जागरूक करना है, जिससे वे इस विषय में रुचि लें। इसरो का उद्देश्य है कि अधिक से अधिक छात्र अंतरिक्ष विज्ञान के प्रति आकर्षित हों ओर भविष्य में इसरो को अधिक से अधिक संख्या में सुयोग्य इंजीनियर तथा वैज्ञानिक मिल सकें। प्रदर्शनी में लगाए गए मॉडल ऑडियो विजुअल उपकरणों, स्टैटिक पैनल, डिस्प्ले बोर्ड आदि की सहायता से अधिक से अधिक श्रोताओं तक पहुंचने का प्रयास किया जाएगा। इस प्रदर्शनी में 16 मॉडल प्रदर्शित किए जाएंगे। प्रदर्शनी में आर्यभट्ट, भास्कर-1, एप्पल, रीसेट प्रथम, ओसीयन सेटेलाइट आईआरएस व आईएच-4, ओसीयन सेटेलाइट 2 व अन्य कई उपकरण और मॉडल प्रदर्शित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि प्रदर्शनी में उन सेटेलाइट की जानकारी भी दी जाएगी, जो फसल और तूफान की सूचना देने में कारगर हैं। इसरो द्वारा अंतरिक्ष विज्ञान से संबंधित चार लघु फिल्में भी छात्रों को दिखाई जाएंगी। प्रदर्शनी सभी छात्र-छात्राओं तथा आम जनता के लिए खुली रहेगी।
वहीं, बृहस्पतिवार की शाम कुलपति प्रो. जेवी वैशम्पायन ने प्रदर्शनी की तैयारियों का अवलोकन किया। इसरो से आए वैज्ञानिक सतीश राव से प्रदर्शित होने वाले विभिन्न उपकरणों एवं मॉडलों व उनकी उपयोगिता के बारे में जानकारी ली। इस दौरान इं. राहुल शुक्ला, डॉ. संजीव श्रीवास्तव, डॉ. मो. नईम, डॉ. इकबाल खान, इं. बृजेश लोधी, डॉ. धीरेंद्र यादव, डॉ. पीयूष भारद्वाज, डॉ. लवकुश द्विवेदी, अनिल झरबड़े, डॉ. विनीत कुमार मौजूद रहे।
... और पढ़ें

कड़े मुकाबले में बनारस की टीम ने खिताब पर कब्जा किया

कड़े मुकाबले में बनारस की टीम ने खिताब पर कब्जा किया
झांसी। मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में बृहस्पतिवार को आयोजित प्रदेश स्तरीय सब जूनियर बालक हैंडबॉल प्रतियोगिता का खिताब बनारस ने अयोध्या को हराकर हासिल किया। विजेता टीम के रजनीश यादव, दीपक भारती ने शानदार प्रदर्शन किया। समापन कार्यक्रम में विजेता एवं उप विजेता टीमों को ट्राफियां प्रदान की गईं।
स्टेडियम में खेला गया फाइनल मैच बेहद रोमांचक रहा। वाराणसी ने अयोध्या क ो 28 - 25 से हराया। कडे़ मुकाबले में बनारस के रजनीश यादव ने 15, दीपक भारती ने 13, आदित्य सरोज ने 11 और अभिषेक ने चार गोल किए। जबकि उपविजेता टीम की ओर से निहाल ने 8, सुखदेव ने पांच और शुभम ने 4 गोल किए। इससे पहले सेमीफाइनल मैच खेले गए। इनमें अयोध्या ने अमेठी छात्रावास को 31 - 22 से हराया। अयोध्या के मलकीत और निहाल ने 8 व 7 गोल किए। दूसरे सेमीफाइनल में वाराणसी ने मेरठ को 19 - 18 से हराया। इसमें दीपक भारती ने 5, रजनीश व आदित्य ने 4 - 4 गोल किए।
निर्णायकों में सूरज भान, गोविंद निषाद, विकास उपाध्याय, अमित पांडेय, विजय सिंह, सुरिंदर कौर रहीं। समापन कार्यक्रम में नगर विधायक रवि शर्मा ने विजेता एवं उप विजेता टीमों को ट्राफी प्रदान की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज प्रत्येक व्यक्ति को अपने शरीर के प्रति सजग रहना चाहिए। वह अपने बच्चों को खेल मैदानों में भेजे। इससे शारीरिक और मानसिक विकास होता है। इस अवसर पर प्रभारी क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी सुरेश बोनकर, जिला हैंडबॉल संघ के सचिव राजीव सरावगी, जिला फुटबाल संघ के सचिव अब्दुल सगीर, क्रीड़ा अधिकारी एमएच चौधरी, संजीव सरावगी, मंजू शर्मा, धर्मेंद्र कुमार, चौधरी फिरोज आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

बीयू शिक्षिका समेत चार ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में खेले गए प्रादेशिक सब जूनियर बालक हैंडबॉल प्रतियोगिता के फाइनल में जी
बीयू शिक्षिका समेत चार ने बनाया विश्व रिकॉर्ड
झांसी। मतदाता जागरूकता पर सबसे कम समय में सर्वाधिक बड़ा पोस्टर बनाने पर बुंदेलखंड विश्वविद्यालय की शिक्षिका समेत चार कलाकारों को इन्क्रेडिबल बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड का पुरस्कार मिला है।
बीती 16 अप्रैल को बीयू की ललित कला संस्थान की शिक्षिका आरती वर्मा, स्वतंत्र कलाकार गरौठा निवासी ऋषिकांत शर्मा, संजीव गुप्ता, अमन गुलाटी ने लखनऊ के जीपीओ पार्क में 20 गुणा 24 फीट का विशाल पोस्टर का निर्माण किया। मतदाता जागरूकता पर यह पोस्टर पांच घंटे चौबीस मिनट में बनाया गया। इस पोस्टर को इन्क्रेडिबल बुक ऑफ रिकॉर्ड में राष्ट्रीय रिकॉर्ड के लिए भेजा गया। दस्तावेजों की जांच पड़ताल की गई। इसके बाद पोस्टर को वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए चयनित किया गया है। साथ ही सभी कलाकारों को प्रमाणपत्र दिए गए हैं।
वर्ल्ड रिकॉर्ड वाली खबर में... ऋषिकांत शर्मा।
वर्ल्ड रिकॉर्ड वाली खबर में... ऋषिकांत शर्मा। - फोटो : REPORTERS
... और पढ़ें

मेडिकल कॉलेज में दवाओं का टोटा, मरीज परेशान

मेडिकल कॉलेज में दवाओं का टोटा, मरीज परेशान
झांसी। महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में दवाओं का टोटा हो गया है। तीन महीने पहले तक मेडिकल कॉलेज में पांच सौ प्रकार की दवाएं उपलब्ध थीं, जो कि अब घटकर 260 प्रकार की रह गई हैं। इस वजह से ओपीडी में मरीजों को पांच में से दो ही दवाएं मिल पा रही हैं। घंटों धूप में लाइन में लगने के बाद सीमित दवाएं मिलने पर मरीज व उनके परिजन भी आपा खो देते हैं। दवा काउंटर पर हर समय विवाद की स्थिति बनी रहती है।
मेडिकल कॉलेज में झांसी व आसपास के जनपदों के मरीज भी इलाज कराने के लिए आते हैं। पिछले कुछ सालों से प्रदेश सरकार द्वारा भरपूर बजट उपलब्ध कराने से अधिकतर दवाएं मरीजों को मिलनी शुरू हो गईं थी। मेडिकल कॉलेज में तीन महीने पहले तक पांच सौ प्रकार की दवाएं उपलब्ध थीं, लेकिन अब 260 प्रकार की ही हैं। इस वजह से मेडिकल कॉलेज प्रशासन का ज्यादा जोर वार्ड और इमरजेंसी में भर्ती मरीजों को उपलब्ध दवाओं में अधिकतर देने पर है। ऐसे में ओपीडी में दवाओं का जबरदस्त टोटा हो गया है। ओपीडी में मरीजों को पांच में से दो ही दवाएं मिल पा रही हैं। इस वजह से मरीजों को काफी परेशानी हो रही है। उन्हें बाहर से दवाएं खरीदनी पड़ रही हैं।
ये है स्थिति
मेडिकल कॉलेज में कुछ समय पहले तक 25 तरह की एंटीबायोटिक दवाएं अथवा इंजेक्शन उपलब्ध थे। अब 12 प्रकार के ही बचे हैं। उच्च किस्म के एंटीबायोटिक नहीं हैं। सामान्य दवा ही मरीजों को मिल पा रही हैं। दर्द, सूजन कम करने की छह-सात प्रकार की दवाओं में दो प्रकार की ही मिल पा रही हैं। एसिडिटी के लिए चार तरह की दवाओं में अब सिर्फ एक ही प्रकार की उपलब्ध है। ह्रदय रोगों से संबंधित आठ प्रकार की दवाएं पहले मिलती थीं, अब तीन ही किस्में हैं। अन्य रोगों की भी यही स्थिति है।
चिकित्सक भी कम नहीं
शासन का स्पष्ट आदेश है कि मरीजों को जेनरिक फॉर्मूले पर ही दवाएं लिखी जाएं। ब्रांड का नाम कतई नहीं लिखा जाए। इसके बावजूद कई डॉक्टर धड़ल्ले से ब्रांड नाम से मरीजों को दवाएं लिख रहे हैं। जबकि, ओपीडी में उपलब्ध दवाओं की सूची भी चस्पा है। ऑनलाइन दवाएं देखने की भी व्यवस्था है। ब्रांड नाम लिखा होने से कई बार दवा काउंटर पर बैठा फार्मासिस्ट भी समझ नहीं पाता है कि इसका सॉल्ट क्या है। इस वजह से मरीजों को दवाएं नहीं मिल पाती हैं। वहीं, ब्रांड नाम से लिखी अधिकतर दवाएं कॉलेज में होती ही नहीं हैं। मरीजों को बाहर से खरीदनी पड़ती है। इससे कुछ डॉक्टरों को मोटा कमीशन मिलता है। यह बात किसी से छुपी नहीं है।
मरीज का दर्द
...................
कुछ दिनों से खांसी आ रही थी। इस वजह से मेडिकल कॉलेज दिखाने आया था। डॉक्टर ने जो दवाएं लिखी हैं, वह यहां नहीं हैं। बाहर से खरीदनी पड़ रही हैं। - कुंदन सिंह, समथर।
किडनी की समस्या का उपचार कराने के लिए मेडिकल कॉलेज की ओपीडी में दिखाया। सिर्फ बीपी की ही दवा मिली है। खून बढ़ाने व ताकत की दवा नहीं मिली। - सावित्री शर्मा, प्रेमनगर।
कुछ दिनों पहले हार्ट अटैक आया था। मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है। ओपीडी में दिखाने के बाद डॉक्टर ने छह दवाएं लिखी हैं। काउंटर से दो ही मिली हैं। - नरेंद्र सिंह, चिरगांव।
आयुष्मान योजना का पात्र तक परेशान
बबीना निवासी कैलाश का आयुष्मान का गोल्डन कार्ड बना हुआ है। कैलाश ने बताया कि उन्हें चार महीने पूर्व हार्ट अटैक आया था। परिजनों ने उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। आयुष्मान योजना का पात्र होने के बावजूद उनसे दवाओं और जांचों के पैसे लिए गए। कार्ड का उन्हें कोई लाभ नहीं मिला। मंगलवार को वह ओपीडी में दिखाने आए तो डॉक्टर ने पर्चे पर पांच दवाएं लिखीं, जिसमें से दो ही मिली। उन्होंने बताया कि वह बेलदारी का काम करते थे। हार्ट अटैक आने के बाद वह भी छूट गया। पैसे कमाने का कोई साधन नहीं है। ऐसे में बाहर से दवाएं खरीदना उनके बस की बात नहीं है।
अस्पताल में उपलब्ध दवाओं की सूची चस्पा करा दी गई है। वार्ड और इमरजेंसी में भर्ती मरीजों को ज्यादातर दवाएं मिल रही हैं। ओपीडी में मरीजों को पूरी दवाएं दे पाना संभव नहीं है। - डॉ. हरीशचंद्र आर्या, सीएमएस।
... और पढ़ें

शहर को मिलेगी नई सड़क, यातायात होगा सुगम

 शहर को एक नई सड़क मिलने वाली है। ये सड़क ग्वालियर मार्ग से शुरू होकर पंप हाउस, शिवपुरी रोड, गढ़िया गांव से होती हुई रेलवे वर्कशॉप पर खत्म होगी। इससे उक्त इलाकों के लोगों के लिए यातायात की व्यवस्था सुगम हो जाएगी। साढ़े दस किलोमीटर लंबी इस सड़क का निर्माण झांसी विकास प्राधिकरण अस्सी करोड़ रुपये की लागत से करेगा। इसकी डीपीआर तैयार कर प्रस्ताव शासन को भेज दिया गया है। हरी झंडी मिलते ही टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

झांसी विकास प्राधिकरण ग्वालियर मार्ग से रेलवे वर्कशॉप तक सड़क का निर्माण करने जा रहा है। ये सड़क ग्वालियर मार्ग पर अधूरे पड़े ओवरब्रिज के पास से शुरू होगी, जो पाल कॉलोनी, लहर गिर्द, खोडन, बड़ी खिरक, अठोंदना, खातीबाबा, प्रेमनगर, गढ़िया गांव, नया गांव, बल्लमपुर, ढोंगरी व पठारी से होती हुई रेलवे वर्कशॉप के पास पहुंचकर खत्म होगी। सड़क यहां से गुजरी नहर के दोनों ओर बनाई जाएगी। दोनों ओर की सड़क की चौड़ाई सात-सात मीटर होगी। जबकि, सड़क के दोनों ओर डेढ़-डेढ़ मीटर का फुटपाथ बनाया जाएगा।

इसके अलावा हर दस मीटर की दूरी पर स्ट्रीट लाइट लगाई जाएगी। सड़क के एक ओर से दूसरी ओर जाने के लिए नहर के ऊपर से तीन-चार स्थानों पर पुलिया का निर्माण होगा।
उल्लेखनीय है कि शहर से सटे होने की वजह से उक्त क्षेत्रों की आबादी तेजी से बढ़ रही है। लेकिन, आवागमन के रास्ते वही पुराने हैं। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसका अंदाजा खासतौर पर प्रेमनगर क्षेत्र की स्थिति को देखकर लगाया जा सकता है।

प्रेमनगर की ओर जाने में मुख्य मार्ग गढ़िया फाटक से होकर ही जाता है। रास्ता संकरा व अतिक्रमण होने के कारण यहां अक्सर जाम की स्थिति बनी रहती है। लेकिन, उक्त नई सड़क का निर्माण होेने से प्रेमनगर जाने का यातायात काफी सुगम हो जाएगा। साथ ही, नगर के दोेनों ओर आबादी का भी विस्तार होगा।

सड़क निर्माण के लिए पीडब्लूडी से परीक्षण करा लिया गया है, साथ ही सिंचाई विभाग ने अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया है। डीपीआर तैयार कर शासन को स्वीकृति के लिए भेज दिया गया है। शासन से स्वीकृति मिलते ही टेंडर प्रक्रिया को पूरा कर निर्माण कार्य को शुरू कर दिया जाएगा।
- सर्वेश कुमार दीक्षित, उपाध्यक्ष - जेडीए
... और पढ़ें

चांद का इंतजार, फिर सजना का दीदार

चांद का इंतजार, फिर सजना का दीदार
झांसी। करवा चौथ का त्योहार बृहस्पतिवार को उत्साह एवं उल्लास से मनाया गया। सुहागिन महिलाओं ने पति की लंबी आयु के लिए दिन भर का निर्जल व्रत रखा। मुर्हूत में भगवान शिव, मां गौरी का पूजन किया और चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत का पारायण किया। नवविवाहिताओं में त्योहार को लेकर खासा उत्साह दिखा।
करवा चौथ के पर्व को लेकर सुबह से ही विशेष उत्साह सभी घरों में रहा। अधिकांश घरों में तैयारियां दो-तीन दिन पहले से ही शुरू हो गई। लजीज पकवान बनाए गए। सुबह से ही ब्यूटी पार्लरों में महिलाओं की भीड़ लगी रही
शाम होते ही त्योहार का उत्साह चरम पर पहुंच गया। सुहागिन महिलाओं की निगाहें आसमान में टिक गई। रात 8:30 बजे के बाद चंद्रमा के नजर आते ही उल्लास छा गया। महिलाओं ने चंद्रमा को छलनी से देखा। इसके बाद मां गौरी एवं भगवान शिव का विधि-विधान से पूजन-अर्चन किया और करवा चौथ की व्रत कथा सुनी। पति का पूजन करके उनके हाथों से पानी पिया और व्रत का पारायण किया। परंपरानुसार महिलाओं ने सास को मिट्टी व शक्कर के करवा में लड्डू भरकर दिए और उनसे अखंड सौभाग्यवती होने का आशीष प्राप्त किया।
इधर, सीपरी बाजार के पंजाबी धर्मशाला में पंजाबी समाज ने उत्साह से करवा चौथ मनाया। महिलाओं ने चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत का पारायण किया। इस अवसर पर रेनू भुसारी, गिन्नी भुसारी, स्वीटी भुसारी, सोनू आदि मौजूद रहीं। इसी तरह पंचवटी स्थित ग्रीन वैली रिसोर्ट में आयोजित पटेल समाज के करवा चौथ कार्यक्रम में ऊषा निरंजन, लक्ष्मी निरंजन, दीया, चंदा, अंकिता, प्रियंका, रानी, शशि, रंजना, राजकुमारी, नीलम, ममता, रूबी आदि मौजूद रहीं।
जमकर हुई आतिशबाजी
करवा चौथ की पूजा से पहले और बाद में युवाओं ने जमकर आतिशबाजी की। आसमान में रंग-बिरंगे सितारे बिखरने वाली आतिशबाजी चलाई गई। इसके अलावा चटाई, बम भी फोडे़। कई मुहल्लों में आतिशबाजी के चलते दीपावली सा नाजारा देखने को मिला।
... और पढ़ें

अवैध खनन और शराब बिकने पर नपेंगे थानेदार

जनपद में किसी भी दशा में अवैध खनन नहीं होने दिया जाएगा। अवैध शराब नहीं बिकने दी जाएगी। अगर ये होते पाए गए तो संबंधित थानेदार के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। बुधवार को पुलिस लाइन सभागार में अपराध समीक्षा बैठक के दौरान एसएसपी डॉ. ओमप्रकाश सिंह ने यह बात कही।

उन्होंने थाना प्रभारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आगामी त्योहारों पर पुलिस की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित होनी चाहिए। सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान लोगों को जागरूक किया जाए। सीट बेल्ट न बांधने वालों और हेलमेट न पहनने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। विवेचनाओं में पीछे चल रहे नवाबाद, सीपरी बाजार और मऊरानीपुर थाना प्रभारियों को फटकार लगाई गई। उनको लंबित विवेचनाओं को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए गए।

इसके पूर्व आरक्षियों के सम्मेलन में संचार व्यवस्था को मजबूत बनाने पर बल दिया गया। एसएसपी ने कहा कि सिपाही अपने बीट क्षेत्र से हर मुहल्ले और गांव में पुलिस दस लोगों की सूची बनाकर उनसे संचार संबंध बनाए, ताकि वह वक्त पर पुलिस का सहयोग कर सकें। बैठक में सभी अधीनस्थ अधिकारी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

अयोध्या, अमेठी, मेरठ व वाराणसी सेमीफाइनल में

अयोध्या, अमेठी, मेरठ व वाराणसी सेमीफाइनल में
झांसी। खेल विभाग और उत्तर प्रदेश हैंडबॉल संघ के संयुक्त तत्वावधान में ध्यानचंद स्टेडियम में चल रही प्रादेशिक सब जूनियर हैंडबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच अयोध्या और अमेठी छात्रावास तथा मेरठ व वाराणसी के बीच आज होंगे। साथ ही फाइनल मैच बृहस्पतिवार को होगा। वहीं प्रतियोगिता में झांसी मंडल की टीम का प्रदर्शन निराशाजनक रहा।
बुधवार को हुए क्वार्टर फाइनल मैचों में अयोध्या ने प्रयागराज को 25 - 13 से हराया। विजेता टीम के मलकीत सिंह ने 10, सुखदेव ने 5 ओर मनीष कुमार ने चार गोल किए। दूसरे मैच में अमेठी छात्रावास ने कानपुर को 26 - 17 से हराया। अमेठी के शुभम शर्मा ने 10, कामरान ने 11 गोल किए। तीसरे मैच में गोरखपुर ने मेरठ को 22 - 11 से हराया। मेरठ के रजनीश ने 5, कुणाल ने 6, मनीष ने 3 गोल किए। जबकि चौथे मैच में वाराणसी ने मिर्जापुर को 20 - 18 से हराया। विजेता टीम के अभिषेक सिंह ने सात, दीपक भारती ने चार गोल किए। उधर, प्रतियोगिता में झांसी मंडल की टीम का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। बुधवार को भी प्रयागराज ने झांसी को 16 - 11 से हराया।
निर्णायकों में नफीस अहमद, बैजनाथ यादव, विमलेश ध्रुव, बृजेश, सुधीर कुमार सिंह, सूरज, गोविंद, अमित, सुगम यादव, अप्पू आदि रहे। इस मौके पर प्रभारी क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी सुरेश बोनकर, उप क्रीड़ाधिकारी धर्मेंद्र कुमार, दिनेश कुमार रजक व देवी प्रसाद दीक्षित आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree