विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

महंत नृत्यगोपालदास की अगुवाई में राममंदिर निर्माण को तैयार रामालय

जगद्गुरु स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की अगुवाई वाले रामालय ट्रस्ट ने राममंदिर पर बड़ा फैसला लिया है।

20 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

कन्नौज

सोमवार, 20 जनवरी 2020

लोकेशन बदलकर पुलिस को चकमा दे रही बस की मालकिन

कन्नौज। कन्नौज बस हादसे में मुख्य आरोपी बनाईं गईं बस की मालकिन और उसके पति की तलाश में पुलिस टीमों ने कई जनपदों में डेरा डाल दिया है। दोनों बार-बार लोकेशन बदल कर पुलिस को चकमा दे रहे हैं। पुलिस का दावा है कि वह आरोपियों के करीब है। कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है।
बस मालिक और उसके पति की तलाश में कन्नौज की एसओजी और स्वॉट टीम के साथ ही छिबरामऊ थाना प्रभारी के नेतृत्व में टीम लगाई गई है। इसके अलावा फर्रुखाबाद की एसओजी टीम भी तलाश में जुटी है।10 जनवरी की रात छिबरामऊ कोतवाली के घिलोई गांव के पास जीटी रोड पर हुए बस हादसे के मामले में मंगलवार को एआरटीओ कन्नौज संजय कुमार झा ने छिबरामऊ थाने में बस मालिक प्रीती चतुर्वेदी, अज्ञात मैनेजर और एजेंट समेत चार के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बुधवार को पुलिस ने चार एजेंटों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। बस मालकिन और उसके पति के साथ मैनेजर की तलाश पुलिस अभी भी कर रही है। बुधवार को पुलिस टीमों ने फर्रुखाबाद के साथ ही मैनपुरी में भी दबिशें दीं। कोई हाथ नहीं लगा था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक आरोपी लोकेशन बदल रहे हैं। जब तक आरोपियों की लोकेशन पता कर टीम पहुंचती है, वह वहां से निकल जाते हैं।
पुलिस ने अब अपनी रणनीति में बदलाव किया है। इन पर काम किया जा रहा है। इससे जल्द पकड़े जाने की उम्मीद है। एएसपी विनोद कुमार ने बताया कि पुलिस टीमें आरोपियों की गिरफ्तारी का प्रयास कर रही हैं। जल्द गिरफ्तारी हो जाएगी।
... और पढ़ें

छह दिनों में रोडवेज को हुआ 1.76 लाख का फायदा, अवैध बसों के संचालन पर रोक से राजस्व बढ़ा

कन्नौज। छिबरामऊ के घिलोई में हुए बस हादसे के बाद अवैध तरीके से सवारियां ढो रहीं टूरिस्ट बसों पर लगाम लगने से रोडवेज का मुनाफा बढ़ गया है। हादसे के बाद यानी 11 से 16 जनवरी के बीच छह दिनों में 1.76 लाख रुपये का रोडवेज को मुनाफा हुआ है। इस मुनाफे को अगर महीने के हिसाब से देखा जाए तो यह 52 लाख से ज्यादा पहुंचता है। ऐसे में समझा जा सकता है कि किस तरह अफसरों के रहमोकरम पर चल रहीं टूरिस्ट बसें राजस्व को चूना लगा रही थीं।
कन्नौज डिपो से जयपुर के लिए एक व दिल्ली के लिए आठ बसें प्रतिदिन संचालित हो रही हैं। सवारी न मिलने से बसें तकरीबन खाली जा रही थीं। ऐसा इसलिए था कि टूरिस्ट बसें कम किराये पर ज्यादा सुविधाएं दे रही थीं। टूरिस्ट बसों के अवैध संचालन से रोडवेज की बसों को सवारियां नहीं मिल रही थीं। इससे आमदनी कम हो रही थी। कन्नौज डिपो से संचालित बसों से होने वाली आय के आंकड़े बताते हैं कि हादसे से छह दिन पहले और बाद में काफी अंतर आया है।
जयपुर के लिए प्रतिदिन चलने वाली एक बस से पांच से 10 जनवरी (हादसा भी 10 जनवरी की रात हुआ था) के बीच यानी छह दिनों में एक लाख 86 हजार 503 रुपये की आमदनी हुई थी। यानी प्रतिदिन इस बस से करीब 31 हजार रुपये की आय हो रही थी। इस हिसाब से एक माह में यह रकम नौ लाख 32 हजार 515 रुपये होती है। हादसे के बाद अगले ही दिन यानी 11 जनवरी को रोडवेज की जयपुर जाने वाली बस की आमदनी बढ़ गई। 11 से 16 जनवरी के मध्य यानी इन छह दिनों में इस बस से 45 हजार 767 रुपये की आमदनी हुई। यानी रोजाना 14683 रुपये की आमदनी बढ़ गई। बसों का संचालन अगर ऐसे ही हुआ तो एक माह में रोडवेज को अब चार लाख 40 हजार 485 रुपये मिलने की उम्मीद है। यानी हर माह रोडवेज को अकेले जयपुर रूट पर 440485 रुपये की आमदनी होगी।
इसी तरह दिल्ली के लिए कन्नौज डिपो से आठ बसों का संचालन नियमित किया जा रहा था। इन बसों ने पांच से 10 जनवरी के मध्य छह दिनों में 11 लाख 50 हजार 68 रुपये की आय की थी। टूरिस्ट बसों के बंद होने के बाद 11 से 16 जनवरी के मध्य इन बसों की आय बढ़कर 12 लाख 38 हजार 274 रुपये हो गई। यानी एक दिन में डिपो की बसों को 14 हजार 701 रुपये का फायदा हुआ। जयपुर और दिल्ली रूट से ही कन्नौज डिपो की बसों ने छह दिनों में एक लाख 76 हजार 304 रुपये की ज्यादा आमदनी कर ली है।
छह दिनों में दिखने लगी बसों की आमदनी
एआरएम राजेश कुमार का कहना है कि अवैध तरीके से हो रहे टूरिस्ट बसों के संचालन से परिवहन विभाग को लाखों रुपये का नुकसान हो रहा था। इन बसों के बंद होने से परिवहन विभाग की आमदनी छह दिनों में ही दिखने लगी है। औसत देखा जाए तो कन्नौज डिपो की बसों को ही नौ लाख रुपये का नुकसान इन अवैध बसों के कारण अकेले जयपुर और दिल्ली रूट पर हर माह हो रहा था।
... और पढ़ें

नाबालिग से दुष्कर्म में 10 साल का सश्रम कारावास

कन्नौज। अपर जिला जज प्रथम व विशेष न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट ने दो साल पहले नाबालिग को ले जाकर दुष्कर्म के मामले में 10 साल के सश्रम कारावास व 25 हजार जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना न देने पर तीन माह की अतिरिक्त सजा काटनी होगी। कोर्ट ने वसूले जाने वाले जुर्माने से पीड़ित पक्ष को 12 हजार रुपये देने का आदेश दिया है।
शासकीय अधिवक्ता तरुण चंद्रा के अनुसार थाना इंदरगढ़ क्षेत्र के एक पिता ने बताया कि उसकी 13 वर्षीय पुत्री को 14 जनवरी 2018 को हरदोई क्षेत्र के थाना बेहटा गोकुल खैराहाया निवासी जवाहर घर से बहला-फुसलाकर ले गया। पीड़ित पिता ने आरोपित के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी की तलाश में कई जगह छापामारी की। उसका सुराग नहीं लगा।
जवाहर बेटी को दिल्ली, आंध्र प्रदेश समेत कई जगह घुमता रहा। करीब एक माह की कोशिश के बाद पुलिस ने नाबालिग को आरोपी के पास से तलाश लिया। यहां नाबालिग ने मजिस्ट्रेट के समक्ष आरोपी के खिलाफ बयान दिए। साथ ही दुष्कर्म का आरोप लगाया। पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद आरोपी के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की। शुक्रवार को अपर जिला जज प्रथम व विशेष न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट रामबरन सरोज ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद जवाहर को धारा 363, 366 व पॉक्सो में सात-सात साल की कैद व पांच- पांच हजार जुर्माने की सजा सुनाई। वहीं धारा 376 में 10 साल की कैद व 10 हजार जुर्माने की सजा सुनाई। सभी सजाएं एक साथ चलेंगी। कोर्ट ने आरोपी से वसूले जाने वाले 25 हजार जुर्माने में से पीड़िता को 12 हजार रुपये देने का आदेश दिया है।
... और पढ़ें

नौ बड़ी परियोजनाओं का तकनीकी समिति करेगी सत्यापन

कन्नौज। जिलाधिकारी ने जिले की नौ बड़ी परियोजनाओं के सत्यापन के लिए तकनीकी समिति का गठन किया है। टीम को स्थलीय निरीक्षण कर एक सप्ताह में रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं।
गठित टीम में शामिल ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अधिशासी अभियंता मायाराम वर्मा, लोक निर्माण विभाग पीएमजीएसवाई के सहायक अभियंता व डीआरडीए अवर अभियंता राकेश कुमार को पांच बड़ी परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण कर सत्यापन करने के आदेश दिए गए हैं। ब्लाक तालग्राम व जलालाबाद के डार्क जोन क्षेत्र में सिंचाई परियोजना, इंदरगढ़ के निरीक्षण भवन के पुनरोद्धार की परियोजना, तिर्वा रजबहा के 11.4 से 13 किमी तक सीसी लाइनिंग परियोजना, तिर्वा रजबहा के 26.7 से 27.7 किमी, 34.6 से 36.8 किमी तक सीसी लाइनिंग, ठठिया रजबहा से 1.2 किमी, 8.4 से 11.2 किमी तक सीसी लाइनिंग परियोजना की जांच की जिम्मेदारी सौंपी है। इसी तरह नलकूल खंड के अधिशासी अभियंता हरीश कुमार शर्मा, डीआरडीए के सहायक अभियंता हाकिम सिंह व लोक निर्माण विभाग प्रांतीय खंड के अवर अभियंता को चार परियोजनाओं का सत्यापन करना है। इसमें तिर्वा रजबहा के 2.8 से 4.8 किमी तक तथा 9.5 से 10.5 किमी तक सीसी लाइनिंग, तिलसरा रजबहा से 3.3 किमी तक तथा 9.2 से 10.25 किमी तक सीसी लाइनिंग परियोजना, किशनपुर माइनर के 2.2 किमी से 3.4 किमी तक तथा 3.7 से 4.7 किमी तक सीसी लाइनिंग के अलावा सदर ब्लाक के सैय्यदपुर सकरी में स्थित प्राकृतिक तालाब के संरक्षण व स्मार्टवाटर, वेस्ट वाटर ड्रेनेज परियोजना की हकीकत परखेंगे। अफसरों को एक सप्ताह में जांच कर कार्यालय को रिपोर्ट प्रेषित करने के आदेश दिए गए हैं। इससे परियोजना में अब तक हुए कार्य की हकीकत पता चल सकेगीे। इसमें अगर कोई गड़बड़ी मिलती है तो संबंधित विभाग पर कार्रवाई तय की जाएगी।
... और पढ़ें

सत्यापन के बाद ही न्यायालयों में वकालत कर सकेंगे अधिवक्ता

19 सीएचबीपी 57 सत्यापन के लिए प्रपत्र जमा करते वकील।
सत्यापन के बाद ही न्यायालयों में वकालत कर सकेंगे अधिवक्ता
- वकीलों के वाहनों पर लगेंगे स्टीकर
- सीओपी नंबर, एलएलबी अंकपत्र व आधार कार्ड की कॉपी हो रही जमा
संवाद न्यूज एजेंसी
छिबरामऊ। न्यायालयों में हो रही आपराधिक घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए बार कौंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश तथा उच्च न्यायालय के निर्देश पर अब सभी वकीलों के प्रपत्रों की जांच शुरू कर दी गई है। न्यायालय में वकालत करने वाले अधिवक्ताओं के वाहनों के लिए स्टीकर भी बनवाए जाएंगे।
बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेंद्र श्रीवास्तव जीतू ने बताया कि छिबरामऊ बाह्य न्यायालय, तहसील चकबंदी तथा उप जिला मजिस्ट्रेट न्यायालय में विधि व्यवसाय करने वाले सभी वकीलों के पहचान पत्र बनेंगे तथा सभी वकीलों के वाहनों के लिए स्टीकर बनवाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि सभी वकीलों से उच्च न्यायालय तथा जिला न्यायालय से आए प्रपत्र को भरना होगा। उसमें सीओपी नंबर, एलएलबी अंकपत्र, आधार कार्ड तथा वाहन रजिस्ट्रेशन की कॉपी लगाई जाएगी। फर्जीवाड़ा समाप्त करने तथा सुरक्षा की दृष्टि से बार कौंसिल आफ उत्तर प्रदेश ने कई कदम उठाए हैं। महासचिव ललित प्रताप सिंह ने बताया कि 250 वकील अपने प्रपत्र जमा कर चुके हैं। उन्होंने शेष सभी वकीलों से शीघ्र ही प्रपत्र जमा करने की अपील की।
वकीलों ने घर-घर पहुंच किया जनसंपर्क
तिर्वा। वकीलों के लायर्स बार एसोसिएशन संगठन में चुनावी डंका बजने के बाद प्रत्याशियों ने अपने अपने पक्ष में मतदान कराने के लिए साथियों के घर-घर पहुंच संपर्क साधा। तहसील के लायर्स बार एसोसिएशन की कार्यकारिणी भंग कर दी गई। इसके बाद चुनावी प्रक्रिया शुरू हो गई। नामांकन दाखिल होने के बाद चुनावी सरगर्मी तेज हो गई। अध्यक्ष पद के लिए हरीशंकर राजपूत, राजेंद्र राजपूत, अशोक कुमार राजपूत ने नामांकन पत्र दाखिल किया। इससे चुनाव त्रिकोणीय संघर्ष पर पहुंचा गया। नामांकन होने के बाद अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी की प्रत्याशियों ने मतदाता वकीलों से संपर्क करना शुरू कर दिया। रविवार को अवकाश के चलते अध्यक्ष पद के प्रत्याशियों ने अपने समर्थकों के साथ मतदाता वकीलों के घर-घर जाकर अपने पक्ष में मतदान करने की अपील की।
... और पढ़ें

तुष्टीकरण की राजनीति कर रहा विपक्ष : मोहसिन

कन्नौज। नागरिकता संशोधन कानून सभी दलों की सहमति से बना है। इसमें किसी की नागरिकता जा नहीं जा रही है, बल्कि दी जा रही है। विपक्ष लोगों को गुमराह कर तुष्टीकरण की राजनीति कर रहा है। इससे सभी धर्मों के अंतिम व्यक्ति को मुख्य धारा से जोड़कर लाभान्वित किया जा सके। यह बातें अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने कहीं।
रविवार को वह शहर के के के इंटर कालेज स्थित खेल मैदान में राज्य स्तरीय क्रिकेट टूर्नामेंट के मौके पर प्रेसवार्ता में बोल रहे थे। दिल्ली, लखनऊ समेत कई शहरों में नागरिकता संशोधन कानून पर हुए विरोध का जवाब दे रहे थे। कहा नागरिक संशोधन कानून एक दिन में लागू नहीं कर दिया है। सदन में कई दिनों तक चली बहस व सभी दलों के सहमति के बाद पास किया गया है। इसमें सभी दलों का सहयोग प्राप्त है। इस कानून का जो लोग विरोध कर रहे हैं, उन्हें खुद नहीं पता कि वह इसका विरोध क्यों कर रहे हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गरीबों के हित में योजनाएं संचालित कर राष्ट्रहित में काम कर रहे हैं। वह किसी जाति व धर्म के लिए काम नहीं करते हैं। इसमें प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, शहरी आवास योजना, उज्ज्वला, सौभाग्य योजना, शौचालय निर्माण आदि योजना सम्मलित हैं। कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा पार्टी ने 65 साल में जो काम नहीं किया है। वह मोदी सरकार ने पांच सालों में पूरे कर दिए हैं। साल 2022 में चुनाव होने हैं। ऐसे में विपक्ष के पास कोई एजेंडा नहीं बचा है। उन्होंने सपा का नाम लिए बगैर तंज कसा कि इत्र नगरी किसका क्षेत्र था। यहां विकास न होने से यहां के लोगों ने उन्हें छोड़ दिया। यही वजह है कि जनता ने भाजपा सांसद सुब्रत पाठक को विजयी बनाकर संसद तक पहुंचाया। आने वाले समय में यह बदला दिखाई देगा।
इस मौके पर भाजपा सांसद सुब्रत पाठक, भाजपा जिलाध्यक्ष नरेंद्र राजपूत, पवन त्रिवेदी समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहे। इसके बाद राज्यमंत्री का काफिला अब्दुल्ला फारुखी के आवास पर पहुंचा यहां पर समाज के लोगों के साथ वार्ता की और नागरिकता संशोधन कानून पर सपोर्ट करने की बात कही।
... और पढ़ें

खेत की सुरक्षा बाड़ में फैलाया कंरट, भट्टा मजदूर की मौत

छिबरामऊ। अन्ना पशुओं से फसल की सुरक्षा के लिए खेतों के चारों ओर लगाई गई कटीले तारों की बेरीकेडिंग में दौड़ रहे करंट की चपेट में आकर भट्टा मजदूर की मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
ग्राम नगला भारा निवासी कन्हैयालाल पुत्र कालीचरन ने खेत में खड़ी गेहूं की फसल को अन्ना मवेशियों से बचाने के लिए खेत के चारों ओर कटीले तारों की बेरीकेडिंग कराई थी। रात के समय इन कटीले तारों में करंट रहता था। शनिवार की रात भगवती ईंट भट्टे पर काम करने वाला मजदूर छोटे पुत्र कपूरी मान निवासी अमादाबाद थाना इस्लामपुर जनपद नालंद बिहार, कन्हैयालाल के खेत के पास से गुजर रहा था। तभी वह करंट की चपेट में आ गया। सुबह होने पर परिजनों ने खोजबीन की तो कन्हैयालाल के खेत की सुरक्षा में बिछे कटीले तारों में चिपका मिला। सूचना पर थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह व चौकी इंचार्ज अवधेश राठौर ने घटना की जानकारी ली। थानाध्यक्ष ने बताया कि खेत की सुरक्षा को बिछवाए गए तारों में करंट कैसे फैला, इसकी जांच करवाई जा रही है। इसके साथ ही तहरीर मिलते ही मुकदमा पंजीकृत करवा दिया जाएगा।
तीन वर्षों से कर रहा था भट्टे पर काम
करंट की चपेट में आकर असमय मौत का शिकार हुआ भट्टा मजदूर छोटे तीन साल पहले ग्राम टड़ा रायपुर स्थित भट्टे पर मजदूरी करने के लिए आया था। वह अपनी पत्नी आशा देवी के साथ ईंट पथाई का काम करता था। उसके परिवार में पत्नी आशा देवी के अलावा बेटी देवी (10), बेबी (5), रमन्नती (3) व दीपक (1) हैं, जिनका रो रोकर बुरा हाल था।
... और पढ़ें

एक ही गांव में चोरों ने बनाया पांच घरों को निशाना

छिबरामऊ। क्षेत्र के गांव कुंवरपुर बनवारी में चोरों ने रात के समय पांच घरों को अपना निशाना बनाया। तीन घरों से चोरों ने जेवरात समेत हजारों की नगदी पार कर दी, जबकि दो घरों में चोरी में असफल रहे।
ग्राम कुंवरपुर बनवारी में रविवार की रात किसी समय अज्ञात चोरों ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी मोहम्मद सलीम पुत्र मेंहदी हसन के घर पर धावा बोला। चोरों ने यहां से दो सोने के लॉकेट, एक जोड़ी कुंडल, दो नथनी, अंगूठी, चांदी की चार अंगूठी व जंजीर व नगदी पार कर दी। सुबह जब परिजन सोकर उठे और घर में सामान इधर उधर बिखरा पड़ा देख चोरी की जानकारी हुई। गांव के ही मुकुट सिंह पुत्र सरमन सिंह के दरवाजे की कुंडी काटकर चोर अंदर घुस गए और बक्से में रखी दो अंगूठी, एक जोड़ी तोड़िया सहित आलू बिक्त्रस्ी के 80 हजार रुपये चोरी कर लिए। इसके अलावा श्यामवीर पुत्र रामदत्त मिस्त्री के घर से भी चोरों ने एक जंजीर, अंगूठी, पायल, कमरबंद पेटी व पांच हजार रुपये चोरी कर लिए। इसके अलावा चोरों ने गांव के आदेश पल्लेदार पुत्र फूलचंद्र व बबलू पल्लेदार पुत्र श्रीराम के घर पर धावा बोला। यहां चोरों को कुछ भी हाथ न लग सका। एक साथ पांच घरों में हुई चोरी से पूरे गांव में दहशत व्याप्त हो गई है। ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नाराजगी व्यक्त करते हुए गांव में पुलिस गश्त शुरू करवाए जाने की मांग की है।
4 फरवरी को आनी है सलीम की बेटी की बारात
ग्राम महमूदपुर खास स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद पर तैनात मोहम्मद सलीम ने बेटी सोनम का विवाह ग्राम कुदरेल इटावा से तय किया है। चार फरवरी को घर में बारात आनी है। घर में हुई चोरी के बाद से शादी की खुशियां काफूर हो गई। सोनम सहित अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
फारेंसिक टीम ने जुटाए साक्ष्य
ग्राम कुंवरपुर बनवारी में एक साथ हुई पांच घरों में चोरी की घटना के बाद पहुंचे मंडी चैकी इंचार्ज राजा दुबे ने ग्रामीणों ने चोरी के संबंध में जांच पड़ताल की। मामले को गंभीरता से लेकर पुलिस ने फारेंसिक टीम को मौके पर बुलवा लिया। शाम को पहुंची फारेंसिक टीम के सदस्यों ने चोरी के साक्ष्य जुटाए।
... और पढ़ें

ट्रेन की चपेट में आए युवक की मौत

कन्नौज। रेलवे लाइन पार करते समय युवक ट्रेन की चपेट में आ गया। इससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने परिजनो को हादसे की सूचना दी।
सदर कोतवाली क्षेत्र के गांव मिश्रीपुर निवासी बेंचेलाल (20) पुत्र जगदीश राजपूत मुंबई में मेहनत-मजदूरी करता है। कुछ दिन पूर्व वह घर आया था। सोमवार सुबह किसी काम से मकरंद नगर आया था। एफएफडीसी के सामने वह रेलवे ट्रैक पार कर रहा था। तभी अप छपरा-एक्सप्रेस की चपेट में आकर उसकी मौत हो गई। मकरंद नगर चौकी पुलिस ने मृतक के जेब में मिले मोबाइल से परिजनों को हादसे की जानकारी दी। पिता ने बताया कि बेटा दो-तीन दिन में मुंबई जाने की बात कह रहा था। हादसे से पूरा परिवार में सदमे में है। वहीं कोतवाल विनोद कुमार मिश्रा ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
... और पढ़ें

पूर्व सीएम और विशेष समुदाय के खिलाफ अभद्र पोस्ट

कन्नौज। बस हादसे के बाद छिबरामऊ सौ शय्या अस्पताल में चिकित्सक को हड़काने के बाद जिले में सोशल साइट पर पूर्व सीएम अखिलेश यादव के खिलाफ सोशल साइट पर बयानबाजी के बाद कुछ लोगाें ने आपत्तिजनक पोस्ट कर माहौल बिगाड़ने का प्रयास शुरू कर दिया। रविवार को दो युवकों ने पूर्व सीएम और एक विशेष समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट की। इससे भाजपाइयों में आक्रोश है और कोतवाली पुलिस को तहरीर दी है। जिसमें कहा कि अगर दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी न हुई, तो समाजवादी पर सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करेंगे।
रविवार को सोशल साइट फेसबुक पर एक युवक ने पूर्व सीएम अखिलेश यादव के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट की। वहीं एक अन्य युवक ने धार्मिक भावनाओं को आहत करते हुए एक समुदाय के खिलाफ भड़काऊ पोस्ट कर दी। सपा नेताओं और पदाधिकारियों में आक्रोश पनप गया। शाम को सदर विधायक अनिल दोहरे के नेतृत्व में सपा नेता नाजिम खान, यशवीर सिंह भदौरिया, कल्लू नेता, शकील अहमद ने सदर कोतवाल विनोद कुमार को तहरीर दी। जिसमें पोस्ट करने वाले दोनों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। सदर विधायक ने कहा कि अगर दोनों आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी न हुई, तो समाजवादी पार्टी सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करेगी। वहीं सदर कोतवाल ने बताया कि मामला दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
धैर्य की परीक्षा न लें भाजपाई
कन्नौज। सोशल साइट पर पूर्व सीएम अखिलेश यादव के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट करने के मामले में सपा नेता नवाब सिंह यादव ने कहा कि अनुरोध के बाद भी कुछ लोग सोशल साइट पर आपत्तिजनक पोस्ट रहे है। ऐसे लोग समाजवादी नेताओं और कार्यकर्ता के धैर्य की परीक्षा न ले, नहीं ठीक नहीं होगा। आपत्तिजनक पोस्ट कर माहौल खराब करने वाले लोगों के खिलाफ तत्काल अधिकारियों को कार्रवाई करनी चाहिए।
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री की बात दूर जिला पंचायत सदस्य भी नहीं होते अखिलेश

छिबरामऊ (कन्नौज)। जीटी रोड पर घिलोई गांव के सामने हुए भीषण बस हादसे के बाद घायलों का हालचाल लेने के लिए सांसद सुब्रत पाठक सौ शय्या अस्पताल पहुंचे। वरिष्ठ चिकित्सक डा. डीएस मिश्रा से मिलकर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से हुई वार्ता की जानकारी ली।
रविवार को दोपहर सुब्रत पाठक अपने काफिले के साथ सौ शय्या अस्पताल पहुंचे। वरिष्ठ चिकित्सक डीएस मिश्रा से वार्ता के बाद उन्होंने कहा कि आरएसएस और बीजेपी को अखिलेश जैसे लोग नहीं समझ सकते। उन्हें राजनीति विरासत में मिली है। अखिलेश यादव अगर पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के बेटे न होते तो शायद वह जिला पंचायत सदस्य भी न बन पाते। कहा कि लोकतंत्र में कोई भी छोटा और बड़ा नहीं होता है। सभी को समान दर्जा दिया गया हैं। पूर्व मुख्यमंत्री यह बात कैसे भूल गए कि इन्हीं छोटे लोगों से हम लोग विधायक, सांसद, मंत्री और मुख्यमंत्री बनते हैं। चिकित्सक के साथ अभद्रता पूर्व मुख्यमंत्री की मानसिकता दर्शाती है। जबकि भारतीय समाज में चिकित्सक को भगवान का दर्जा दिया जाता है। कोई भी चिकित्सक कभी भी मरीजों की जातपांत पूछकर इलाज नहीं करता। वह हर स्तर पर मरीज को अच्छा करने की कोशिश में लगा रहता है। चिकित्सक के साथ अभद्रता कर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक सांसद की छवि खराब करने का काम किया है। सांसद होने के कारण वह स्वयं डा. डीएस मिश्रा से माफी मांगते हैं।
इस अवसर पर भाजपा नेता मनोज दुबे, भाजयुमो जिलाध्यक्ष जीतू तिवारी, विपिन द्विवेदी, रजत त्रिपाठी, बृजपाल शाक्य, वीर सिंह भदौरिया, आनंद गुप्ता, भाजयुमो नगर अध्यक्ष विकास त्रिवेदी, अंकित दुबे, रंजीत पांडेय भाजपा नेता ओमकार शाक्य, अंकित दुबे, संदीप दुबे, शिवम, शंभू अग्निहोत्री, संदीप चतुर्वेदी, ब्रजबिहारी दुबे, श्याम चतुर्वेदी व सचिन दुबे सहित कई लोग मौजूद रहे।
वार्ड में भर्ती मरीजों का भी जाना हाल
सांसद सुब्रत पाठक ने सौ शय्या अस्पताल में भर्ती स्लीपर बस हादसे में घायल हुए यात्रियों के अलावा अन्य मरीजों का हालचाल लिया। भर्ती मरीजों से मिलने वाली चिकित्सीय सुविधाओं की भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बस हादसे के सभी घायलों व मृतकों को शासन स्तर से हर संभव मदद दिलवाई जाएगी।
युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं को दी रक्तदान की नसीहत
मोहल्ला ग्रेसीगंज निवासी रामगोपाल (65) पुत्र सियाराम के पेट में गांठ होने के कारण सौ शय्या अस्पताल में उपचार चल रहा था। चिकित्सक के अनुसार उनके शरीर में खून की कमी बताया गया। सांसद सुब्रत पाठक ने मौजूद युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं को रक्तदान की नसीहत दी। उन्होंने रक्तदान से बढ़ा कोई दान नहीं होता क्योंकि इससे किसी मरीज की जान बचती हैं। इसलिए युवाओं को रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए।
... और पढ़ें

अवैध तरीके से माल ढो रही थीं टूरिस्ट बसें

कन्नौज। इत्र नगरी से रोजाना गैर राज्यों और शहरों तक इत्र, सुगंधीय तेल भेजा जाता है। छिबरामऊ में हादसे के बाद इसका खुलासा हुआ। ट्रांसपोर्ट की जगह कारोबारियों ने निजी टूरिस्ट बसों को परिवहन का आधार बनाकर वाणिज्य कर को लाखों का चूना भी लगाया जाता था। बसों में ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए बस संचालक और चालक यात्रियों की सुरक्षा की बजाय माल परिवहन को अधिक तवज्जो देते है। रात में चलने वाली इन बसों में क्षमता से अधिक यात्रियों को बिठाने के साथ बसों के ऊपर, डिग्गाी, खांचोें और सीटों के आसपास रखकर गैर राज्यों तक सामान पहुंचाने का धंधा चलता था।
10 जनवरी को छिबरामऊ में हादसे का शिकार हुई टूरिस्ट बस में कई सवारियां जिंदा जल गई थी। जिसके बाद से निजी बसों के संचालन की जांच चल रही है। जांच में चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। जिला मुख्यालय, गुरसहायगंज, छिबरामऊ, सौरिख से रोजाना करीब 30 बसे राजस्थान के जयपुर, दिल्ली, हरियाणा, आगरा, मथुरा और अलीगढ़ शहर तक निजी बसें संचालित होती थी। इन बसों में बड़ी मात्रा में लगेज का परिवहन होता था। यात्रियों की सुरक्षा से खिलवाड़ करते हुए मनमर्जी से बसों से इत्र और सुगंधीय तेल भेजा जाता था। बसें कॉमर्शियल सामान बगैर बिल्टी, बिल और मानक से भेजकर व्यापारी वाणिज्य कर विभाग को लाखों चूना लगाते थे। एआरटीओ संजय झा ने बताया कि निजी बसों की चेकिंग की जा रही है। अवैध ढंग से सामान ढोने और संचालित होने वाली बसों को सीज किया जा रहा है।
कन्नौज। कम समय में सुरक्षित माल पहुंचे। इसके लिए उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग ने निजी संस्था को पार्सल की जिम्मेदारी है। जिले में साईं श्रद्धा कार्गो संस्था को परिवहन का टेंडर दिया है। इससे किसी भी शहर में माल भेजने के लिए संस्था की ओर से निर्धारित शुल्क के आधार पर माल को पार्सल किया जाता है। नियम के अनुसार 20 किलो से एक क्विंटल सामान को ही रोडवेज बस से पार्सल किया जा सकता है। संस्थान के कर्मचारी आलोक शुक्ला ने बताया कि नंबर के एक कागज और सामान चेक करने के बाद ही पार्सल किया जाता है। अगर पार्सल की कीमत 50 हजार रुपये से अधिक की है, तो अधिक चार्ज पर जिम्मेदारी के साथ बीमा कर माल को सुरक्षित पहुंचाया जाता है। कन्नौज से जयपुर तक के लिए 20 किलो पार्सल का 300 रुपये, आगरा तक का 200, कानपुर 120 है। जबकि निजी बसों से माल ले जाने का कोई निर्धारण नहीं होता है। चालक और माल मालिक के बीच सहमति होने पर माल भेज दिया जाता है।
--
इसलिए निजी बसों से होता परिवहन
कन्नौज। निजी बसों से बगैर चेक किए कोई भी सामान आसानी गैर राज्यों तक भेजा जा सकता। वाणिज्य कर के अलावा किसी भी विभाग के कागज, बिल की जरूरत नहीं होती है। ज्वलनशील तेल और पदार्थों के परिवहन में रोडवेज बसों में प्रतिबंध होता है। इसके अलावा कम रुपयों में आसानी से कारोबारी और बस संचालक के बीच सेटिंग से अधिकांश वस्तुओं का परिवहन होता है।
हादसों का कारण बनता माल ढुलाई
कन्नौज। लगेज से ओवरलोड चलती ये निजी बसें हमेशा हादसे को निमंत्रण देती है। यात्रियों से खचाखच भरी होने और बस की छत पर क्षमता से ज्यादा लगेज लदा होने के कारण कई बार बस का संतुलन बिगड़ जाता है। लंबी दूरी की बसें होने के कारण ज्यादा स्पीड में चलती है। संतुलन बिगड़ने से हादसा हो जाता है। जिसमें यात्रियों की जान चली जाती है।
पार्सल बुकिंग एजेंटों का फैला नेटवर्क
कन्नौज। निजी बस ऑपरेटर्स की ओर से पार्सल की बुकिंग के लिए भी एजेंट नियुक्त कर रखे हैं। बस संचालकों की ओर से पार्सल भेजने की दर भी मनमर्जी से तय की जाती है। जानकारों का कहना है कि 50 रुपये से कम में कोई पार्सल बुक नहीं किया जाता। कई शहरों और राज्यों तक माल ढुलाई को लेकर इनका नेटवर्क फैला है। इससे बड़ा मुनाफा होता है।
---
निजी बसों से माल ढोने का नहीं प्रावधान
कन्नौज। सुरक्षा मोटर वाहन अधिनियम-1998 प्रावधान के अनुसार निजी बसों से ट्रांसपोर्ट का सामान परिवहन नहीं होगा। इससे यात्रियों की जान को खतरा होने के साथ प्रतिबंधित वस्तुओं की तस्करी होती है। भारी वाहनों के लिए अधिकतम गति सीमा निर्धारण करने के साथ ही बसों की छतों पर कैरियर व पीछे की सीढ़ियां हटाने का आदेश जारी किया गया था।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us