बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
गुरुवार को इन चार राशियों की चमकेगी किस्मत, ग्रह-नक्षत्र दे रहे हैं संकेत
Myjyotish

गुरुवार को इन चार राशियों की चमकेगी किस्मत, ग्रह-नक्षत्र दे रहे हैं संकेत

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

यूपी: रात के अंधेरे में आ रही थी बच्चे के रोने की आवाज, ग्रामीण पास पहुंचे तो नजारा देख हैरान रह गए

कानपुर में बिल्हौर के ककवन थाना क्षेत्र में एक बच्चे के साथ अमानवीयता की सारी हदें पार कर दी गईं। बच्चे की हालत देख हर कोई सहम गया। गांव के बाहर पिटाई के बाद उसे सूनसान इलाके में निर्माणाधीन मकान के पिलर से बांधकर रात के अंधेरे में छोड़ दिया गया।

डर की वजह से सारी रात कांपते रहे बच्चे के रोने की आवाज सुनकर ग्रामीण पहुंचे तो उसकी हालत देखकर हैरान रह गए। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने बच्चे को अपनी कस्टडी में लेकर पूछताछ शुरू की। परिजनों का कहना है कि 11 वर्षीय अमन राठौर पुत्र रामप्रकाश राठौर के गुम होने पर उसकी खोजबीन की।

देर रात अमन खेतों पर लगे पिलर से बंधा मिला। पुलिस पूछताछ में अमन ने बताया कि तीन नकाबपोश लोगों ने उसे अगवा किया और पिलर में बांध दिया। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई।
 
... और पढ़ें

हमीरपुर: युवक की संदिग्ध हालात में गोली लगने से मौत, मौके पर तमंचा और मोबाइल मिला

यूपी के हमीरपुर जिले में बुधवार को युवक की मौत का एक सनसीखेज मामला सामने आया है। थाना जरिया के इटैटेलियाबाजा गांव में खेतों में 40 वर्षीय युवक की संदिग्ध हालात में गोली लगने से मौत हो गई। सुबह शव मिलने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया।

घटना की जानकारी मिलते ही संबंधित थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस का कहना है कि प्रथमदृष्टया युवक ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या की है। मौके पर एक तमंचा 315 बोर व 7 जिंदा कारतूस, मोबाइल फोन मिला है।

पुलिस अधीक्षक एनके सिंह ने बताया कि मृतक जयपाल के पिता माधव प्रसाद ने तहरीर दी है, जिसमें कहा कि युवक मंगलवार की रात असहज महसूस कर रहा था। उन्होंने किसी पर हत्या की आशंका नहीं जताई है। मौके पर डॉग स्क्वायड की टीम सहित सीओ द्वारा जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

यूपी: खस्ताहाल मकान, खतरे में कानपुर के आठ हजार लोगों की जान

कानपुर समेत पूरे यूपी में मानसून सक्रिय हो चुका है। ऐसे में कानपुर में जगह-जगह जर्जर मकान आसपास के लोगों के लिए चिंता का सबब बने हुए हैं। नगर-निगम सिर्फ नोटिस तामील कर मगन है। आंकड़ों में करीब 700 ऐसे मकान हैं जो कभी भी आंधी-तूफान और बारिश के बीच ढह सकते हैं।

पुन: आंकलन करने पर ऐसे मकानों की संख्या दोगुनी हो सकती है। इन मकानों में रहने वाले 8 हजार से ज्यादा लोगों की जान पर खतरा मंडरा रहा है। बारिश का मौसम जैसे ही आता है, जर्जर भवनों के मालिकों द्वारा भवनों को गिराने की एप्लिकेशन नगर निगम में आने लगती हैं।

इस बार भी नगर निगम में 500 से ज्यादा आवेदन आ चुके हैं। इस पर कार्रवाई के नाम पर जोनल अधिकारी नोटिस देकर खानापूर्ति कर लेते हैं। इस बार भी नगर निगम 100 से ज्यादा जर्जर भवनों को खुद से गिराने और खाली करने की नोटिस जारी कर चुका है।

अधिकारियों का काम जर्जर भवनों को सिर्फ चिन्हित करने का रह गया है। नगर निगम अगर बिल्डिंग गिराता है तो गिराने का खर्च मकान मालिक को ही देना होता है। वहीं कानपुर में 150 से अधिक जर्जर भवन ऐसे हैं, जिनमें मकान मालिक और किराएदार के बीच कोर्ट में केस चल रहे हैं।

फैसले के इंतजार में कई जर्जर भवन गिर भी चुके हैं। बीते 4 सालों में नगर निगम ने महज 12 भवनों को ही गिराया है। शहर के बेकनगंज, कछियाना, हरबंशमोहाल, टोपी बाजार, मछलीबाजार, नौघड़ा, नयागंज, मनीराम बगिया, बांसमंडी, लाटूश रोड, चमनगंज, लक्ष्मीपुरवा, लाठीमोहाल, सिरकीमोहाल, भन्नानापुरवा, चटाई मोहाल, जवाहर नगर, अनवरगंज आदि क्षेत्रों में जर्जर भवनों की संख्या ज्यादा है।

... और पढ़ें

यूपी: सपा नेता सुभाष पाल छह माह के लिए जिला बदर, डीएम ने जारी किया आदेश

शराब माफिया घोषित समाजवादी पार्टी के नेता सुभाष पाल पर जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव से पहले ही शिकंजा कस गया है । बुधवार को सुभाष पाल को छह माह के लिए जिलाधिकारी ने जिला बदर कर दिया है।

वर्ष 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में बिलग्राम-मल्लावां विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी रहे सुभाष पाल को पुलिस ने शराब माफिया और गैंग लीडर पूर्व में ही घोषित कर दिया था। उनकी और उनके आश्रितों की संपत्ति भी कुर्क की जा चुकी है।

गुंडा एक्ट और गैंगस्टर के तहत भी उन पर मामले दर्ज हैं। इससे संबंधित प्रकरणों की सुनवाई करने के बाद जिला अधिकारी अविनाश कुमार ने सुभाष पाल को छह माह के लिए जिला बदर कर दिया है। इस संबंध में जारी आदेश में डीएम अविनाश कुमार ने कहा है कि छह माह जिला बदर के दौरान सुभाष पाल जहां कहीं भी रहेगा उसकी जानकारी पुलिस अधीक्षक हरदोई को भी उपलब्ध कराएगा।

न्यायालय की अनुमति के बिना जनपद में प्रवेश पूरी तरह निषेध रहेगा। यहां उल्लेखनीय है कि सुभाष पाल को अपमिश्रित शराब बनाने और बेचने के आरोप में नामजद किया गया था और उसके बाद से ही उन पर पुलिस और प्रशासन का शिकंजा कसता रहा है।

सुभाष पाल पर फर्रुखाबाद जनपद के राजेपुर थाना क्षेत्र समेत हरदोई जनपद के अलग-अलग थाना कोतवाली में कुल 22 मामले दर्ज हैं। महत्वपूर्ण बात यह भी है कि समाजवादी पार्टी की ओर से जिला पंचायत अध्यक्ष पद की प्रत्याशी घोषित की गई मुन्नी देवी गौतम सुभाष पाल की बेहद करीबी हैं ।

सपाइयों ने पूर्व में ही जताया था अंदेशा
चंद रोज पहले समाजवादी पार्टी के नेताओं ने सुभाष पाल को जिला बदर किए जाने की आशंका जताई थी । सपा कार्यालय में हुई पत्रकार वार्ता में सपा के जिला अध्यक्ष जीतेंद्र वर्मा जीतू और पूर्व जिला अध्यक्ष पदम राग सिंह यादव पम्मू ने स्पष्ट तौर पर कहा था कि जिला प्रशासन सुभाष पाल को जिला बदर करना चाहता है। सुभाष पाल को जिला बदर करने के बावजूद पार्टी पूरी ताकत से जिला पंचायत अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेगी।
... और पढ़ें
नेता सुभाष पाल नेता सुभाष पाल

कानपुर: कोचिंग बंद होने से परेशान शिक्षक ने लगाई फांसी, परिजनों ने बताई ये बात

कानपुर के श्याम नगर में मंगलवार रात मानसिक तनाव में आकर कोचिंग संचालक वरुण शुक्ला (36) ने कोचिंग सेंटर में ही फांसी लगाकर जान दे दी। वे कोरोना काल में आमदनी बंद होने से परेशान थे। स्वर्ण जयंती विहार निवासी वरुण रामपुर हाउसिंग सोसाइटी में प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग देते थे।

परिवार में पत्नी पूजा और एक बेटा है। वरुण के भांजे प्रखर ने बताया कि कोरोना काल में कोचिंग नहीं चल रही थी। जिससे मामा वरुण परेशान थे। मंगलवार की दोपहर को वह घर से खाना खाकर सेंटर के लिए निकल गए थे। रात तक वापस न आने पर परिजनों को चिंता हुई।

जिस पर उन्होंने कोचिंग सेंटर में जाकर देखा तो पंखे के कुंडे के सहारे रस्सी से वरुण का शव लटक रहा था। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल कर शव नीचे उतारा। चकेरी इंस्पेक्टर दधिबल तिवारी ने बताया कि पूछताछ के दौरान परिजनों ने मानसिक तनाव में फांसी लगाने की बात बताई है। मामले में कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें

चित्रकूट: चबूतरे पर कब्जे के विवाद में चली गोलियां, महिला घायल, गांव में फोर्स तैनात

यूपी के चित्रकूट जिले में बरगढ़ थाना क्षेत्र के मनका गांव में चबूतरे पर कब्जे को लेकर दो परिवार के सदस्यों के बीच जमकर विवाद हुआ। जिसमें एक पक्ष ने लाइसेंसी बंदूक से ताबड़तोड़ फायरिंग झोंक दी।  एक महिला के पैर में गोली भी लगी। जिससे वह बेहोश हो गई।

सूचना पर पहुंची थाना पुलिस टीम ने फायरिंग करने वाले आरोपी को बंदूक समेत पकड़ लिया। तनाव को देखते हुए गांव में फोर्स तैनात करा दिया गया है। घटना के पीछे प्रधानी की रंजिश प्रमुख कारण मानी जा रही है। मनका गांव निवासी रामनारायण शुक्ला ने बताया कि परिवार के रामअनुग्रह शुक्ला आदि ने उनके नीम के पेड़ वाले चबूतरे पर कई बार कब्जा करने की कोशिश की।

बुधवार की शाम को दोबारा कब्जा करने का विरोध किया तो रामअनुग्रह घर के अंदर से लाइसेेंसी बंदूक निकालकर गाली देते हुए चार बार फायरिंग कर दी। जिससे अफरा-तफरी मच गई। एक गोली रामनारायण की पत्नी कौशल्या देवी (35) के पैर में लगी और वह वहीं गिरकर बेहोश हो गई।

आरोपी बंदूक लेकर भाग निकला। घायल के परिजनों ने पुलिस को सूचना देकर  उसे मऊ सीएचसी लाये जहां उसका इलाज चल रहा है। घायल महिला गोली चलाने वाली की चाची बताई गई है। थाना प्रभारी रवि प्रकाश फोर्स के साथ गांव पहुंचे और आरोपी की तलाश शुरू की।

कुछ ही देर में आरोपी रामअनुग्रह को बंदूक समेत दबोच लिया और थाने ले गये। आरोपी के परिजनों ने बताया कि प्रधान पद के चुनाव में रामनारायण आदि पक्ष ने कड़ा विरोध किया था इसके बावजूद उनके पक्ष का प्रत्याशी बबलू शुक्ला चुनाव जीत गया। इसी खुन्नस में दूसरा पक्ष अक्सर उन्हें गाली-गलौज करता रहता है। बुधवार को भी दूसरे पक्ष के कुछ लोगों ने उनके घर में पहले पत्थर फेंके थे जिसके बाद विवाद बढ़ गया।
... और पढ़ें

जालौन: मामूली विवाद में महिलाओं के बीच चटकी लाठियां, वीडियो वायरल

जालौन जिले के आटा में मामूली विवाद में महिलाओं के बीच लाठियां चलीं। जिसमें दो बच्चों समेत तीन महिलाएं घायल हो गईं। इस मारपीट का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंची और घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया।

पुलिस का कहना है कि एक परिवार की महिलाओं के बीच का विवाद है। फिलहाल अभी तहरीर नहीं मिली है, दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। बुधवार की देर शाम आटा थाना क्षेत्र के ग्राम कश्मीर में उस वक्त हड़कंप मच गया जब बच्चों के झगड़े के बाद एक ही परिवार की महिलाओं के बीच मारपीट शुरू हो गई।

हाथापाई से शुरू हुई मारपीट में देखते ही देखते दोनों पक्ष से लाठियां चटकने लगी। हैरत की बात यह भी थी कि दोनों ही पक्ष से लाठियां चलाने वाली महिलाएं ही थी। जिस वक्त महिलाओं के बीच लाठियां चटक रही थी। तभी किसी ने मारपीट का वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंची और घायलों को अस्पताल व महिलाओं व उनके घरों के पुरुषों को लेकर चौकी आ गई। संकट मोचन चौकी प्रभारी मोहित कुमार का कहना है कि दोनों पक्ष से तहरीर लेकर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

यूपी: सिरफिरे सिपाही से परेशान महिला सिपाही ने दर्ज कराई रिपोर्ट, बोली- शादी के बाद से कर रहा परेशान

महिलाओं के बीच चटकी लाठियां
एक तरफा प्यार का शिकार सिपाही जिले में तैनात महिला सिपाही को लगातार फोन कर परेशान कर रहा है। महिला सिपाही ने आरोप लगाया कि सिपाही ने उसके पति को भी फोन कर उसकी शादी तुड़वाने का प्रयास किया।

आखिर में महिला सिपाही ने अधिकारियों को पूरी बात बताई। इसके बाद महिला सिपाही की ओर से फोन करने वाले सिपाही के खिलाफ कुठौंद थाने में धोखाधड़ी और धमकाने का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है कि मामला अधिकारियों के संज्ञान में है, जल्द ही आरोपी सिपाही पर विभागीय कार्रवाई हो सकती है।

थाने में तैनात महिला सिपाही ने पुलिस को बताया कि उसकी शादी इसी साल कासगंज जिले में तैनात कांस्टेबल से हुई है। शादी के बाद से ही उसके गांव के पास रहने वाला और मेरठ में तैनात सिपाही रविंद्र सिंह उसे फोन कर परेशान करता है। उससे जबरन शादी करने की बात करता है। इतना ही नहीं कई बार उसने फोन पर स्वयं को उसका पति बताकर भी गलत बातें की।

जब उसने विरोध किया तो परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहा है। आखिर में उसने कासगंज में तैनात पति को पूरी बात बताई और फिर अधिकारियों के सामने भी करतूत बयां की। इसके बाद पुलिस ने मंगलवार को सिपाही रविंद्र के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। कुठौंद पुलिस के मुताबिक मामले से मेरठ पुलिस के अधिकारियों को भी अवगत कराया जाएगा।
... और पढ़ें

औरैया: एसटीएफ ने किया फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, इंश्योरेंस के नाम पर करते थे ठगी, दो गिरफ्तार 

यूपी एसटीएफ ने इंश्योरेंस कंपनी के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। सदर कोतवाली पुलिस व सर्विलांस टीम की मदद से दो आरोपियों को नोएडा (गौतमबुद्ध नगर) से गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों के पास से पुलिस ने नगदी, मोबाइल, एटीएम, लैपटॉप, कार समेत अन्य सामग्री बरामद की।

पकड़े गए आरोपियों को पुलिस ने जेल भेज दिया है। औरैया के तुर्कीपुर निवासी फिरोज अहमद ने 10 जून को औरैया कोतवाली में 70 हजार रुपये ठगे जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस मामले में औरैया पुलिस के साथ ही एसटीएफ भी गिरोह पर नजर बनाए थे।

बुधवार को सुराग मिलते ही एसटीएफ टीम से संपर्क कर जिले की पुलिस ने गौतमबुद्ध नगर स्थित एक बिल्डिंग में छापेमारी की। यहां एक कमरे में कॉल सेंटर चलता मिला। दूसरे कमरे में दो युवक खुद को इंश्योरेंस कंपनी का एजेंट बताकर लोगों से ठगी कर रहे थे।

पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। एक आरोपी ने अपना नाम दिलशाद निवासी खोड़ा कालोनी खोड़ा गाजियाबाद बताया। वह मूल रूप से बदायूं का रहने वाला है। जबकि दूसरे ने अपना नाम अर्जुन कुमार निवासी किराड़ी सुल्तानपुर दिल्ली बताया।
... और पढ़ें

साक्षी महाराज का तंज: राम मंदिर के लिए खरीदी गई जमीन पर सवाल उठाने वाले पर्ची दिखाकर वापस ले लें चंदा

सांसद साक्षी महाराज ने राम मंदिर ट्रस्ट की जमीन खरीद पर सवाल उठाने वालों पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि आरोप लगाने वाले पर्ची दिखाकर चंदे का पैसा वापस ले सकते हैं। अपने आवास पर सांसद ने पत्रकारों से बातचीत में राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा जमीन खरीद पर सवाल पर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह व सपा के पूर्व विधायक पवन पांडे को आड़े हाथ लिया।

उन्होंने कहा कि जिस पार्टी के मुखिया ने कार सेवकों पर गोलियां चलवाई थी। वहां पर आज राम का भव्य मंदिर बनने जा रहा है। यह बात उन लोगों को हजम नहीं हो रही है। दावा किया कि राम मंदिर ट्रस्ट के चंपत राय ने भगवान राम के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया है।

इसलिए ऐसे व्यक्ति पर आरोप लगाना सर्वथा निराधार है। रही बात चंदे की तो आप के सांसद संजय सिंह ने जो भी चंदा दिया हो तो उसका हिसाब ले सकते हैं या रसीद दिखाकर चंदा वापस ले सकते हैं। सांसद ने कहा कि अखिलेश यादव के जिस व्यक्ति ने आरोप लगाया है वह भी रसीद दिखाकर चंदा वापस ले सकते हैं।

साक्षी महाराज ने कहा कि यह वह लोग हैं, जो राम मंदिर का पुरजोर विरोध करते रहे हैं। वह कहते थे कि राम मंदिर के नाम पर अयोध्या में एक ईंट नहीं रखी जा सकती है। आज उसी अयोध्या में भगवान राम का भव्य व विश्व का सबसे अच्छा मंदिर बनने जा रहा है। इन लोगों की हालत खिसियानी बिल्ली खंभा नोंचने जैसी हो गई है।
... और पढ़ें

उन्नाव की तस्वीरें: दो दोस्तों की मौत के बाद भीड़ ने किया चक्काजाम, पुलिस पर किया पथराव, 15 पुलिसकर्मी लहूलुहान

उन्नाव जिले के अकरमपुर में मंगलवार दोपहर कार की टक्कर से बाइक सवार दो दोस्तों की मौत पर भड़के परिजनों द्वारा सड़क जाम कर हंगामा करने के बाद से ही पुलिस अलर्ट थी। पोस्टमार्टम के बाद शव घर पहुंचने पर मगरवारा चौकी का पुलिस बल घर पर तैनात हो गया। इसके बावजूद पुलिस बवालियों के मंसूबे नहीं भांप सकी। बुधवार सुबह सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण शव लेकर सड़क पर पहुंचे तो पुलिस के होश उड़ गए।

बड़ी संख्या में भीड़ के सड़क पर जाम लगाने और हंगामा करने की सूचना के बावजूद पुलिस बिना बॉडी प्रोटेक्टर के हाथों में डंडा लेकर पहुंच गई। इसका खामियाजा 15 पुलिस कर्मियों को भुगतना पड़ा। सड़क हादसे में राजेश व विपिन की मौत के बाद से परिजनों में गुस्सा था।

वह लगातार कार चालक की गिरफ्तारी और 20 लाख मुआवजा दिलाने की मांग कर रहे थे। मंगलवार को उन्होंने इसी मांग को लेकर उन्नाव-रायबरेली मार्ग पर जिला अस्पताल के सामने जाम लगाया था। उस समय तो पुलिस ने मामला शांत करा दिया था पर शव गांव पहुंचने के बाद कुछ लोगों ने मुआवजा न मिलने की बात कह परिजनों को भड़का दिया।

रात से ही दोबारा सड़क जाम करने की योजना बनने लगी। सुबह 10 बजे मृतकों के गांव देवीखेड़ा के अलावा दयालखेड़ा, बाबाखेड़ा, उमरावखेड़ा व बग्गाखेड़ा के सैकड़ों लोग सड़क  पर पहुंच गए। गांव के सामने शव रखकर जाम लगा दिया। सदर कोतवाली के अलावा, गंगाघाट, अजगैन, माखी, अचलगंज स्वॉट कमांडो व महिला थाना के पुलिस तीन घंटे जाम हटाने के लिए परिजनों को समझाता रहा।
... और पढ़ें

यूपी में भीषण हादसा: अनियंत्रित ट्रैक्टर खंती में पलटा, पिता-पुत्र की मौत, दो घायल

हरदोई जिले में अतरौली थाना क्षेत्र के गांव बम्हनौआ पेंग के पास बुधवार को दोपहर अनियंत्रित ट्रैक्टर सड़क के किनारे खंती में पलट गया, जिसमें ट्रैक्टर सवार पिता-पुत्र की मौत हो गई, जबकि दूसरा पुत्र और दामाद घायल हो गए। 

सीतापुर जिले के मछरेहटा थाना क्षेत्र के गांव बरगदिया निवासी राजाराम (55) खेती बाड़ी करते थे। उनकी पुत्री राधिका का विवाह अतरौली थाना क्षेत्र के गांव बम्हनौआ पेंग निवासी प्रमोद (32) के  साथ हुआ है। प्रमोद को अपने खेतों की सिंचाई के लिए पंपिंग सेट की जरूरत थी।

पंपिंग सेट लेने के लिए प्रमोद सोमवार को अपनी ससुराल गांव बरगदिया गया था। बुधवार की दोपहर राजाराम ने अपने ट्रैक्टर के पीछे पंपिंग सेट बांध लिया। राजाराम अपने दामाद प्रमोद व पुत्र धर्मेंद्र (35) और योगेंद्र (13) के साथ ट्रैक्टर से बम्हौआ पेंग जा रहा था।

गांव के नजदीक पहुंचने पर ट्रैक्टर अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खंती में पलट गया। ट्रैक्टर पर सवार चारों लोग नीचे दब गए। सूचना मिलने पर ग्राम प्रधान राम सिंह ने जेसीबी मंगवाकर ट्रैक्टर को खंती से निकलवाया। इसके बाद नीचे दबे चारों लोगों को भी ग्रामीणों की मदद से बाहर निकाला, लेकिन तब तक राजाराम और उसके पुत्र योगेंद्र की मौत हो चुकी थी। धर्मेंद्र और प्रमोद गंभीर रूप से घायल हैं। दोनों को एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भरावन भेजा गया। वहां से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। 
... और पढ़ें

कानपुर: मरे हुए शख्स की आईडी पर बाइकें फाइनेंस कराने वाला गिरफ्तार

मरे हुए शख्स की जगह एक शातिर खुद पहुंच गया। मरे हुए आदमी के दस्तावेजों का इस्तेमाल कर दो बाइकें फाइनेंस करवा लीं। जब किस्तें नहीं चुकाईं तो तफ्तीश शुरू हुई। तब जाकर पूरे मामले का खुलासा हुआ। कर्नलगंज पुलिस ने बुधवार को आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

एसीपी कर्नलगंज त्रिपुरारी पांडेय ने बताया कि सिविल लाइंस फतेहगढ़ फर्रुखाबाद निवासी आशीष कुमार के एक रिश्तेदार महेश चंद्र किदवई नगर में रहते थे। कुछ समय पहले उनकी मौत हो चुकी है। आशीष ने महेश चंद्र के आधार कार्ड पर खुद की फोटो लगाई।

महेश के घर आने वाले जल संस्थान के बिल को भी इसके साथ लगाया। इन्हीं दस्तावेजों पर केटीएल से दो बाइकें फाइनेंस कराईं। जब किस्तें नहीं चुकाईं तो फाइनेंस कंपनी ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस की तफ्तीश में खुलासा हुआ कि महेश की मौत हो चुकी है।

उनके दस्तावेजों पर आशीष ने फर्जीवाड़ा कर बाइकें फाइनेंस कराई थीं। एसीपी ने बताया कि आशीष को जेल भेजा गया है। पता किया जा रहा है कि आशीष ने इस तरह का फर्जीवाड़ा पहले भी किया है या नहीं। अगर मामले पाए जाते हैं तो इसी केस में उनको शामिल किया जाएगा। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us