बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

खेत में खड़ा केला या फिर बंजर पड़ी जमीन और दिखा दिया धान

Updated Sat, 03 Nov 2018 12:23 AM IST
विज्ञापन
banana tree
banana tree

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
दोआबा के राशन माफियाओं ने अन्नदाताओं के हक पर डाका और सरकारी खजाने को चूना लगाने के लिए नायाब तरीका अपनाया है। शातिरों ने धान बिक्री के लिए कराए गए पंजीकरण में फर्जीवाड़ा किया है। केला, बाजरा आदि की फसल वाले भूमि पर खड़ी धान की फसल को दिखा दिया। राजस्व निरीक्षकों के सत्यापन में फर्जीवाड़े का खुलासा होने पर संबंधित उप जिलाधिकारियों ने 1425 गाटों को निरस्त कर दिया है।
विज्ञापन


अभी तक क्रय केंद्र पर ही रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था थी। केंद्र पर खतौनी के साथ पहुंचने वाले किसान द्वारा बताई गई भूमि और फसल को ही विपणन विभाग सही मानकर समर्थन मूल्य पर उपज खरीद लेता था। इसमें शातिर राशन माफिया खेल कर जाते थे। वास्तविक किसानों को उनकी उपज का वाजिब दाम नहीं मिल पाता था। पर, इस मर्तबा धान किसानों को उपज का बेहतर मूल्य मुहैया कराने के लिए सरकार की ओर से ऑनलाइन पंजीकरण कराया जा रहा है। रजिस्ट्रेशन के लिए किसानों के आवेदन को एसडीएम के जरिए सत्यापन कराया जा रहा है। ताकि, खरीद में फर्जीवाड़ा रोका जा सका। पर, दोआबा के शातिर राशन माफिया इसमें में खेल करने के जुगाड़ में लग गए।


डिप्टी आरएमओ अंशुमाली शंकर के मुताबिक जिले भर में अब तक 5519 किसानों ने 14211 गाटोें में धान की बुवाई का पंजीकरण कराया है। संबंधित उपजिलाधिकारियों ने राजस्व निरीक्षकों के जरिए इनमे से 8324 गाटों का सत्यापन भी कर लिया है। इस दौरान बेहद चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। बताया कि इनमें से 1425 गाटा ऐसे पाए गए जिनमें धान की बुवाई ही नहीं की गई है तो फिर फसल खड़ी होने का क्या सवाल? लेखपालों की जांच में इन गाटों में या तो धान, बाजरा, तिल की फसलें खड़ी मिलीं। या फिर खेत-खलिहान, बाग, तालाब अथवा बंजर पाया गया। लेखपालों की रिपोर्ट पर संबंधित उपजिलाधिकारियों ने ऐसे सभी गाटों का पंजीकरण निरस्त कर दिया है।

मंझनपुर तहसील में सबसे अधिक फर्जीवाड़ा
सदर तहसील में राशन माफिया कुछ ज्यादा ही सक्रिय हैं। इसका खुलासा धान खरीद के लिए कराए गए रजिस्ट्रेशनों के सत्यापन में हुआ है। शातिरों ने यहां के 3852 खातों के 9516 गाटों में धान की फसल दिखाई थी। पर, लेखपालों के सत्यापन में 755 गाटा ऐसे मिले जहां पर धान की जगह दूसरी फसल बोई गई है। या फिर भूमि खाली पड़ी है।


तहसील पंजीकृत खाता पंजीकृत गाटों की सं. सत्यापित गाटा निरस्त गाटा
सिराथू 677 1939 1175 426
मंझनपुर 3852 9516 4881 755
चायल 990 2756 2268 244
--------------------------------------------------------------
कुल 5519 14211 8324 1425
-----------

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us