विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठें बनवाए फ्री जन्मकुंडली और पाएं समस्त समस्याओं का उचित निवारण
Kundali

घर बैठें बनवाए फ्री जन्मकुंडली और पाएं समस्त समस्याओं का उचित निवारण

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

शहीद सिपाही के पिता को सौंपा एक करोड़ रुपये का प्रमाणपत्र, मंत्री बोले जल्द सलाखों के पीछे होगा विकास दुबे

चौधरी लक्ष्मी नारायण ने दिया शहीद बबलू कुमार के पिता को एक करोड़ का प्रमाणपत्र चौधरी लक्ष्मी नारायण ने दिया शहीद बबलू कुमार के पिता को एक करोड़ का प्रमाणपत्र

कानपुर मुठभेड़ः ऊर्जा मंत्री ने दिया शहीद जितेंद्र के परिवार को भरोसा, सलाखों के पीछे होंगे अपराधी

प्रदेश के ऊर्जामंत्री श्रीकांत शर्मा ने बरारी के शहीद हुए पुलिसकर्मी जितेन्द्र पाल के घर जाकर परिजनों को प्रमाण पत्र देते हुए कहा कि जितेन्द्र का बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा। अपराधी यथाशीघ्र सलाखों के पीछे होंगे। प्रदेश सरकार एवं पुलिस अपराधियों के पीछे लगी हुई है।  

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जितेन्द्र पाल ने कानून व्यवस्था को बनाये रखने एवं अपराधियों से संघर्ष करते हुए अपने प्राणों का न्योछावर किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा एक करोड़ की आर्थिक सहायता दी गई है। जिसमें 50 लाख रुपये उनकी माता रानी देवी और 50 लाख उनके पिता तीर्थपाल को मिले हैं। 

ये भी पढ़ें: विकास दुबे का साथी बताकर ससुर को पहुंचाया हवालात, सच्चाई खुलने पर पुलिस हुई हैरान

जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने अवगत कराया कि 50-50 लाख रुपये का भुगतान ई-पेमेन्ट के माध्यम से छह जुलाई 2020 को किया गया है। जिसका प्रमाण पत्र ऊर्जामंत्री द्वारा उनके माता-पिता को दिया गया है। उन्होंने बताया कि जितेन्द्र पाल बिकरू तहसील बिलौर थाना चौबेपुर कानपुर नगर में बदमाशों से मुठभेड़ करते हुए शहीद हुए थे। उनके बलिदान को सदैव याद रखा जायेगा। 

ये भी पढ़ें: कानपुर मुठभेड़ के बाद पुलिस को आई हिस्ट्रीशीटरों की याद, रिकॉर्ड खंगाला तो मिला कुछ ऐसा कि उड़ गए होश

इस मौके पर विधायक बल्देव पूरन प्रकाश, गोवर्धन विधायक ठाकुर कारिन्दा सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. गौरव ग्रोवर, डिप्टी कलक्टर राजीव उपाध्याय, तहसीलदार सदर नीरज शर्मा, सीओ रिफाइनरी जितेन्द्र सिंह सहित अन्य लोगों ने भी शोक व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की तथा परिवार को सांत्वना प्रदान की। ... और पढ़ें

मथुरा: धारा 307 के मामलों में फर्जीवाड़ा, एसएसपी कर रहे जांच, कई पुलिसकर्मी निशाने पर

मथुरा जिले के थानों में जानलेवा हमले (आईपीसी की धारा 307) के फर्जी मामले दर्ज किए जा रहे हैं। इसकी शिकायतों पर एसएसपी ने जांच शुरू की है। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि मनमानी मेडिकल जांच कराकर मामूली झगड़ों के मामलों में धारा 307 बढ़ाई जा रही है। एसएसपी इस तरह के दो मामलों में एक दरोगा व जांच अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई भी कर चुके हैं।
 
एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने जिले की कमान संभालने के बाद अपराध की स्थिति समझने की कोशिश की तो यह तथ्य सामने आया कि ज्यादातर मामले जानलेवा हमले के दर्ज किए जाते हैं और मामूली झगड़े के मुकदमे कुछ समय बाद धारा 307 में तरमीम किए जाते हैं। ऐसे मामलों की शिकायतें भी बहुत थीं। 


एसएसपी ने गहनता से जांच की तो पता चला कि धारा 307 के नाम पर फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। थाना गोवर्धन में दर्ज धारा 307 के एक मामले में दरोगा प्रदीप कुमार के खिलाफ विवेचना में लापरवाही व मनमानी के आरोप में निलंबन की कार्रवाई की गई। इसी तरह एक अन्य मामले में भी एक जांच अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई। दो दर्जन मामले अभी जांच में हैं, जिन पर शीघ्र कार्रवाई की जा सकती है। 
... और पढ़ें

मथुरा में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, नौ वर्षीय बच्ची समेत दो की मौत, 12 नए मरीज बढ़े

मोस्ट वांटेड हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के पोस्टर
मथुरा में कोरोना का कहर थम नहीं रहा है। सोमवार को दो और संक्रमित मरीजों ने दम तोड़ दिया। इनमें एक नौ साल की बच्ची और दूसरी नरसी विहार निवासी 70 वर्षीय महिला है। जिले में अब मृतकों की संख्या 23 हो गई है।  

आठ लोगों की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आई है। रविवार को भी मिले चार केसों को भी जोड़ लिया गया है। अब इनकी संख्या 12 हो गई है। इससे जिले में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 445 पर पहुंच गई है। नए संक्रमित मरीजों में निजी मेडिकल कॉलेज की चार नर्स हैं।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. संजीव यादव ने बताया कि सोमवार की शाम आठ पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। चार केस रविवार के जोड़े गए हैं। जिनकी निजी लैब से रिपोर्ट आई थी। इन नए केस में गुलाब नगर मंडी चौराहा निवासी व्यक्ति की पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। 
... और पढ़ें

मथुरा में तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमण, फिर भी बाजारों में ऐसा है आलम

कान्हा की नगरी मथुरा में कोरोना संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है। संक्रमित मरीज रोज दहाई के आंकड़े में मिल रहे हैं। संख्या 400 पार कर चुकी है। वहीं, बाजारों में भीड़ को नियंत्रित करने में प्रशासन फेल साबित हो रहा है। लोग न तो सामाजिक दूरी का पालन कर रहे हैं और न ही मास्क लगाए नजर आ रहे हैं। इस स्थिति में संक्रमण फैलने का खतरा लगातार बना हुआ है। 

अनलॉक-2 के दौरान तय दिनों में बाजार खोले जा रहे हैं। लोग खरीदारी करने के लिए बड़ी संख्या में बाजार पहुंच रहे हैं। प्रशासन द्वारा लोगों से सामाजिक दूरी का पालन करने तथा मास्क लगाकर ही घरों से बाहर निकलने की अपील की जा रही है, लेकिन इस अपील का कोई असर दिखाई नहीं देता। 


सोमवार को गोविंद गंज सब्जी मंडी, घीया मंडी, कोतवाली रोड, छत्ता बाजार, भरतपुर गेट के बाजारों में भीड़ रही। भरतपुर गेट क्षेत्र में दुकानों पर महिलाओं की भीड़ थी। दुकानदार ने ग्राहकों को उचित दूरी पर खड़ा करने का कोई इंतजाम नहीं किया था। ग्राहक मास्क भी नहीं लगाए हुए थे। यही हाल गोविंद गंज में रहा। 
... और पढ़ें

लूट के बाद पीड़ित की पत्नी को फोन करना बदमाशों को पड़ा भारी, पढ़िए क्या है पूरा मामला

मथुरा जिले में बदमाशों को लूट के बाद पीड़ित की पत्नी को फोन करना भारी पड़ गया। पत्नी के मोबाइल पर आए फोन नंबर की जानकारी पति ने पुलिस को दे दी। इसके लिए पुलिस ने लूटपाट करने वाले दो बदमाशों को पकड़ लिया। एक बदमाश फरार है। उसकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। 

दो जुलाई की रात करीब 11 बजे पचावर महावन निवासी सूरजपाल अपने साथी बहादुर के साथ सब्जी खरीदकर आ रहा था। इस दौरान पेट्रोल पंप के निकट सूरजपाल की मोपेड की चेन टूट गई। इसी दौरान दो बाइक पर सवार छह बदमाशों ने दोनों को पकड़ लिया। 


बदमाशों ने मारपीट करते हुए सूरजपाल से पांच हजार रुपये, मोबाइल तथा सोने की चेन में लगा ओम और बहादुर से नकदी छीन ली। वारदात के बाद सूरजपाल और बहादुर अपने घर चले गए। अगले दिन घटना से अंजान रिश्तेदारी में गई सूरजपाल की पत्नी ने पति के फोन पर कॉल की। 
... और पढ़ें

एसडीएम ने कोरोना को दी मात, आइसोलेशन वार्ड में लिखी कविता, सोशल मीडिया पर वायरल

‘मैं घिरा हुआ हूं कलयुग से तुम अपना द्वापर ले आओ, इन लाल पत्थरों की रंगत फिर से मुझको लौटाओ, कालिंदी खुद है डूब रही कुछ इसको भी तो सुलझाओ ब्रज तुम्हें बुलाता है फिर से ब्रजराज चले आओ, गोविंद चले आओ...’।  

यह कविता कोरोना संक्रमित होने पर मथुरा के एसडीएम सदर क्रांतिशेखर सिंह ने आइसोलेशन अवधि के दौरान केडी मेडिकल कॉलेज में रहते लाल पत्थर वाले गोविंद देव मंदिर के इतिहास पर लिखी है। यह सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसमें गोविंद देव मंदिर की खूबसूरती और नक्काशी का उल्लेख है। 

कविता के माध्यम से उन्होंने मंदिर की मान्यता को लेकर लिखा है कि गोविंद देव जी का विग्रह अभिमन्यु की पत्नी उत्तरा के कहने पर श्री कृष्ण के प्रपौत्र ब्रजनाभ ने बनवाया था। ब्रजनाभ जी द्वारा ब्रज में स्थापित होने के पश्चात यह विग्रह लुप्त हो गया, जिसे षड-गोस्वामियों में से एक श्री रूप गोस्वामी जी ने 16वीं शदी में पुन: प्रकट किया। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us