विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: संक्रमितों की संख्या 100 से ज्यादा, दौरे स्थगित कर लखनऊ रवाना हुए मुख्यमंत्री योगी

देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों से अच्छी और कहीं से बुरी खबरें आ रही हैं। मंगलवार सुबह बरेली में पांच नए मरीज मिले हैं जिनके बाद सूबे में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 102 हो गई है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

मेरठ

मंगलवार, 31 मार्च 2020

हैलो! मैं नरेंद्र मोदी बोल रहा हूं... डॉक्टर नीतिश, आप तो मोर्चे पर डटे हुए हैं, अस्पताल में कैसा हाल है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना पीड़ितों की सेवा में लगे स्वास्थ्य कर्मचारियों से फोन पर बात कर हौसला बढ़ा रहे हैं। बागपत जनपद में नगर निवासी डॉ. निर्मल के बेटे डॉक्टर नीतिश गुप्ता दिल्ली के अस्पताल में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की सेवा में जुटे हुए हैं। वह कोरोना यूनिट के इंचार्ज है। पीएम नरेंद्र मोदी ने उनसे बातचीत की और हमेशा आगे बढ़ने की कामना की। पीएम से हुई बातचीत के कुछ अंश: 

पीएम मोदी: नमस्ते डॉक्टर।
डॉ नीतिश: नमस्ते सर। 

पीएम: नीतिश जी, आप तो बिल्कुल मोर्चे पर डटे हुए हैं। जानना चाहता हूं कि अस्पताल में सभी साथियों का मूड कैसा है। 
डॉ. नीतिश: सभी डॉक्टर आशावादी और उत्साही हैं। आपका आशीर्वाद सबके साथ है। अस्पताल के लिए जो मांग रहे हैं, सब उपलब्ध हो रहा है। डॉक्टर एक फौजी की तरह काम कर रहे हैं। सबका एक ही कर्त्तव्य है कि मरीज ठीक होकर घर जाए। 
पीएम मोदी: आपकी बात सही है। ये युद्ध जैसी स्थिति है और आप ही सब मोर्चा संभाले बैठे हो। आपको तो इलाज के साथ- साथ काउंसिलिंग भी करनी होती होगी। 
डॉ. नीतिश: काउंसिलिंग जरूरी है, क्योंकि मरीज यह सुनके डर जाता है कि उसको कोरोना है। इलाज के साथ उनको समझाना होता है कि कुछ नहीं है। अगले 14 दिन में आप ठीक होकर घर जाएंगे। हम अभी तक ऐसे 16 मरीजों को घर भेज चुके हैं।

यह भी पढ़ें: 
लॉकडाउन: दो दिन से भूखे हैं, नींद भी नहीं आती, अमर उजाला ने जाना हाल, दर्द बयां करते भर आईं लोगों की आंखें
... और पढ़ें

लाॅकडाउन के दौरान लापरवाही बरतना सिपाही को पड़ा भारी, गलती की मिली ऐसी सजा, अब पुलिस लाइन में बेचेगा सब्जी

लाॅकडाउन के बीच जहां जनता नियमों का पालन करने में लापरवाही कर रही है। वहीं पुलिस प्रशासन में भी कुछ लोग ड्यूटी को लेकर सर्तक नहीं हैं। सहारनपुर पुलिस लाइन में तैनात एक सिपाही को लापरवाही करना भारी पड़ गया। अब एसएसपी ने आरक्षी को अजीबो गरीब काम सौंप दिया। जी हां एसएसपी के आदेश पर अब यह आरक्षी सजा के तौर पर पुलिस लाइन में सब्जी बेचेगा।

बताया गया कि सहारनपुर पुलिस लाइन में गणना कार्यालय में मुंशी के पद पर तैनात सिपाही द्वारा आरक्षियों की ड्यूटी लगाने को लेकर लापरवाही सामने आई। शिकायत एसएसपी तक पहुंची तो वरिष्ठ पुलिस अधीकक्षण दिनेश कुमार पी. ने उसे अजीबो गरीब काम सौंप दिया।

एसएसपी ने इस पर कार्रवाई करते कहा कि अग्रिम आदेश तक आरोपी सिपाही मंडी से सब्जी लाकर पुलिस लाइन में पुलिस के परिवारों को सब्जी बेचने का काम करेगा। बता दें कि आरोपी पर ड्यूटी लगाने में अनियमितता का आरोप सामने आने पर एसएसपी सहारनपुर ने यह फैसला लिया है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: दो दिन से भूखे हैं, नींद भी नहीं आती, अमर उजाला ने जाना हाल, दर्द बयां करते भर आईं लोगों की आंखें

बागपत: निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात से लौटे सभासद के भाई को क्वारंटीन करने पहुंची पुलिस, परिवार के कई सदस्यों को अस्पताल में कराया भर्ती

निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात से बागपत निवासी सभासद के भाई समेत जिले की पुलिस उसके परिवार के कई सदस्यों को क्वारंटीन कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ पुलिस पहुंची है। यह व्यक्ति दिल्ली के निजामुद्दीन दरगाह पर हुई तब्लीगी जमात में शामिल हुआ था।

बताया गया कि पुलिस की टीम जिस व्यक्ति को क्वारंटीन करने के लिए पहुंची थी वह जिले के बिलोचपुर पहुंच गया था। जहां से पुलिस उसे पकड़कर क्वारंटीन करेगी। वहीं पुलिस की टीम  उसके परिवार के अन्य सदस्यों को एम्बुलेंस में ले गई और अस्पताल के अलग वार्ड में क्वारंटीन कराया। 

वहीं मेरठ में एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि निजामुद्दीन में हुई जमात में मेरठ से आठ लोग गए थे। एक जमाती वापस आया जिसे क्वारंटीन कर लिया गया है। बाकी सात लोग अभी दिल्लीमें ही हैं। इनमें मेरठ से सटे सरधना, मवाना, व परीक्षितगढ़ से निजामुद्दीन गए थे।

उधर, बिजनौर प्रशासन ने निजामुद्दीन तब्लीगी जमात में बिजनौर से जाने वाले लोगों को खोजना शुरू कर दिया है। 

कस्बा झिंझाना में त्रिपुरा से आई तब्लीगी जमात के 14 लोगों को दो मकानों में अलग-अलग क्वारंटीन किया गया है। उन्हें 14 दिन तक घर में रहने के लिए कहा गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम सुबह-शाम उनकी निगरानी कर रही है।

कस्बा झिंझाना में मोहल्ले के लोगों ने स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी कि त्रिपुरा से तब्लीगी जमात में कुछ लोग आए हुए है। ये लोग मोहल्ले में घूम रहे है। सूचना पर स्वास्थ्य विभाग ने पुलिस की मदद से जमात में आए सभी 14 लोगों को पकड़ लिया। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सभी की मेडिकल जांच की। फिलहाल जांच में सभी लोग स्वस्थ पाए गए है। स्वास्थ्य विभाग ने सात-सात लोगों को दो मकानों में निश्चित दूरी पर क्वारंटीन में रखा गया है।

मकानों के बाहर पुलिस और स्वास्थ्य विभाग ने पोस्टर चस्पा कर लोगों को सतर्कता बरतने और त्रिपुरा से आए लोगों से संपर्क न करने की सलाह दी गई है। ऊन ब्लाक के चिकित्सा प्रभारी डा. लेखराम ने बताया कि त्रिपुरा से तब्लीगी जमात में आए 14 लोगों को दो मकानों में अलग-अलग कमरों में निश्चित दूरी पर रखा गया है। सुबह-शाम उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है।

फिलहाल सभी लोग स्वस्थ है। बताया गया है कि तब्लीगी जमात 19 मार्च को दिल्ली होते हुए झिंझाना में एक मस्जिद में पहुंची थी। उनके आने की पुलिस प्रशासन को कोई सूचना नहीं दी गई थी। वहां पर कई दिन तक रहने के बाद जमात जब दूसरे मोहल्ले में गई तब जाकर लोगों को उनके बारे में जानकारी हुई।
... और पढ़ें
लॉकडाउन लॉकडाउन

CM yogi Adityanath Live Update: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कार्यक्रम स्थगित, किसी अन्य दिन जिले में कर सकते हैं औचक निरीक्षण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज मेरठ दौरे की मौखिक सूचना मिलने पर पुलिस प्रशासन अधिकारियों ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी थीं। अभी तक का जो प्रस्तावित कार्यक्रम था। उसके अनुसार सीएम योगी गाजियाबाद में केवल पांच मिनट रुकने के बाद वहां से वापस लखनऊ रवाना हो गए। 

हालांकि सीएम योगी यहां से मेरठ के लिए प्रस्थानकरना था लेकिन आखिरी वक्त पर उनका ये दौरा निरस्त हो गया। सीीएम के दौरे को लेकर मेरठ पुलिस लाइन के गेट पर मीडियाकर्मियों के प्रवेश पर पुलिस ने रोक लगा दी गई थी। पुलिस लाइन के गेट पर एक पोस्टर लगाया गया, जिसमें लिखा था कि प्रेस इलेक्ट्राॅनिक मीडिया का प्रवेश वर्जित है।

यह भी पढ़ें: 
हैलो! मैं नरेंद्र मोदी बोल रहा हूं... डॉक्टर नीतिश, आप तो मोर्चे पर डटे हुए हैं, अस्पताल में कैसा हाल है

सीएम के कार्यक्रम को लेकर कहा जा रहा था कि वह कोरोना वायरस से निपटने की तैयारियों और पश्चिमी यूपी से हो रहे श्रमिकों के पलायन पर बैठक करेंगे। लेकिन आज ऐसा नहीं हो सका। सीएम अब किसी अन्य दिन जिले का औचक निरीक्षण कर सकते है।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार सीएम शहर में पांच स्थानों का दौरा कर सकते थे।  उधर, नोएडा की बैठक में जिस तरीके से अफसरों को फटकार लगाई है, उसे देख अफसरों की नींद उड़ी हुई थीं। सीएम योगी का ये दौरा रद्द होने के बाद पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली।
 
जिन पांच स्थानों को प्रस्तावित दौरे में रखा गया हैए उनमें पुलिस लाइन, कलक्ट्रेट स्थित एनआईसी, कमिश्नरी सभागार, गुरुद्वारा थापर नगर और बागपत रोड पर केएमसी अस्पताल हैं। सिटी मजिस्ट्रेट सत्येंद्र कुमार सिंह ने इन पांचों स्थानों पर सैनिटाइजेशन और सफाई व्यवस्था कराने के निर्देश दिए। 

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

Corona Virus Update: मेरठ में फिर मिले छह नए मरीज, लोगों में बढ़ी दहशत, संख्या बढ़कर हुई 19

मेरठ के लिए फिर से एक बुरी खबर आई है। शहर में कोरोना के छह नए मरीज मिलने से लोगों में दहशत बढ़ती जा रही है। उधर, स्वास्थ्य विभाग में भी हड़कंप मचा हुआ है। जनपद में अब तक कोरोना के मरीजों की कुल संख्या 19 हो गई है। 

बता दें कि सोमवार को 382 टीमों द्वारा 24 क्षेत्रों में 49661 घरों का भ्रमण कर 265189 लोगों की आबादी का सर्वे किया गया। जिसमें पांच संदिग्ध व्यक्तियों को सुभारती मेडिकल कॉलेज और 310 व्यक्तियों को होम क्वारंटीन में रखा गया। सोमवार को कुल 17 सैंपल्स की जांच की गई। जिनमें छह नए केस मिले हैं। अब कोरोना के कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 19 हो गई है।

शहर में लगातार बढ़ रही मरीजों की संख्या से लोगों में दहशत पैदा होने लगी है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग और पुलिस- प्रशासन उन लोगों की तलाश में जुटा हुआ है। जो इन मरीजों के संपर्क रहे हैं।

मेरठ में ऐसे फैला कोरोना
अधिकारियों का कहना है कि खुर्जा के रहने वाले शख्स द्वारा महाराष्ट्र से आकर मेरठ में रहने के दौरान यह वायरस फैला है। सभी पॉजिटिव मरीजों को अलग वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। पुलिस प्रशासन का कहना है कि उन इलाकों को धीरे- धीरे सील किया जा रहा है जहां- जहां ये मरीज रहे हैं।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

Corona Virus: विदेशी लोगों की जमात ठहराने पर शहरकाजी सहित तीन पर केस, सभी के पासपोर्ट कब्जे में लिए

लॉकडाउन में बिना सूचना दिए विदेशी जमात के दस लोगों को बिलाल मस्जिद में ठहराने के मामले में पुलिस ने शहरकाजी सहित तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। वहीं सभी विदेशी जमातियों के पासपोर्ट पुलिस ने जांच के लिए कब्जे में ले लिए हैं।

पुलिस के अनुसार खुफिया विभाग द्वारा जिले के आला अधिकारियों को जानकारी दी गई थी कि मोहल्ला हीरालाल की बिलाल मस्जिद में विदेशी जमात के 10 लोग रुके हैं। पुलिस टीम सीएचसी प्रभारी डॉ. सतीश भास्कर की टीम के साथ मस्जिद पहुंची तो बाहर ताला लटका था। उसी दौरान एक युवक वहां पहुंच गया। पुलिस के कहने पर उसने ताला खोला। पुलिस को मस्जिद के अंदर से सूडान, अफ्रीका, केन्या निवासी जमाती के दस लोग मिले। टीम ने सभी का स्वास्थ्य जांचा। हालांकि मस्जिद में सभी मॉस्क पहने थे और उचित दूरी पर थे। 

पुलिस के मुताबिक लॉकडाउन के बावजूद उन्हें इस जमात को यहां ठहराने की जानकारी नहीं दी गई। मवाना थाने के एसएसआई नरेंद्र सिंह की ओर से शहर काजी मौलाना नफीस काजमी, डॉ. असलम एडवोकेट, नईमुद्दीन के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मेरठ में कोरोना मरीजों की चेन बनने से हड़कंप मचा हुआ है। शहर में अब तक कोरोना संक्रमित मामले 19 हो चुके हैं। सोमवार को कोरोना संक्रमित छह नए मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन अब शहर में घर घर जाकर कोरोना के संदिग्ध मरीजों का पता लगाएगा।

आज से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की 600 टीमें सड़कों पर उतरेंगी, जो शहरी स्वास्थ्य केंद्रों के विभिन्न क्षेत्रों में सर्च अभियान चलाएंगी। इस दौरान ऐसे मरीजों की सूची बनाई जाएगी जिन्हें पिछले कुछ समय से सूखी खांसी, बुखार और सांस लेने में दिक्कत है। उनकी जांच कराने के बाद यदि उनमें लक्षण दिखाई देते हैं तो उन्हें आइसोलेेशन वार्ड में भर्ती कराया जाएगा। यदि रिपोर्ट पाॅजिटिव आती है तो इलाज शुरू किया जाएगा। अन्यथा घर भेज दिया जाएगा।

कोरोना के लक्षण वाले मरीज की हिस्ट्री यदि विेदश से आने अथवा दूसरे किसी प्रदेश की होगी तो उनकी खास निगरानी की जाएगी। फिलहाल 607 लोगों की स्वास्थ्य विभाग निगरानी कर रहा है। इसके अलावा 26 लोग सुभारती के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती है। इनकी आज शाम तक रिपोर्ट आ जाएगी। इनमें 14 वह लोग हैं जो क्राॅकरी कारोबारी के संपर्क में रहे थे।
... और पढ़ें

लॉकडाउन को लेकर मेरठ में विवाद, पथराव में छह लोग घायल, तीन गिरफ्तार

लॉकडाउन मेरठ
कोरोना वायरस के चलते सरकार द्वारा लॉकडाउन कराने के बावजूद भी कुछ लोग रुक नहीं रहें हैं। लॉकडाउन का पालन कराने को लेकर सोमवार को लिसाड़ी गेट की तारापुरी में मारपीट और पथराव हो गया। जिसमें छह लोग घायल हो गए। पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस के अनुसार तारापुरी में आरा मशीन वाली गली निवासी रहीस पुत्र इकबाल ने बताया कि गली के लोगों ने सरकार द्वारा किए गए लॉकडाउन के आदेश का मजाक बनाया हुआ है। इसी के चलते वह अपनी गली में बल्ली लगाकर लोगों को घरों से न निकलने की हिदायत दे रहे थे। आरोप है कि उसके चाचा सरफराज का साला आबिद जो गली में ही रहता है, वह बल्ली लगाने का विरोध करने लगा। इसी को लेकर दोनों में कहासुनी होने लगी। पड़ोस के लोगों ने आकर दोनो में समझौता करा दिया। 

यह भी पढ़ें: 
Corona Virus Update: मेरठ में फिर मिले छह नए मरीज, लोगों में बढ़ी दहशत, संख्या बढ़कर हुई 19

आरोप है कि थोड़ी देर बाद आबिद अपने साथ करीब 50-60 लोगों को लेकर रहीस के घर पहुंच गया। दोनों पक्षों के बीच मारपीट और पथराव हो गया। एक पक्ष का आरोप है कि दूसरा पक्ष तमंचा लेकर भी आया था। जिसने गोली चलाने का प्रयास किया। गनीमत रही कि तमंचे से गोली नहीं चली। एक पक्ष से आबिद, सरफराज, इमरान और दूसरे तरफ से रहीस व उसका भाई अनीस, राशिद घायल हो गए। पड़ोसियों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके से दानिश, मोनिस और सुल्तान को हिरासत में ले लिया। घायलों को जिला अस्पताल भेजा गया। दोनों ने एक- दूसरे के खिलाफ तहरीर दी। सीओ कोतवाली दिनेश शुक्ला का कहना कि दोनों पक्षों पर कड़ी कार्रवाई होगी।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

लॉकडाउन के उल्लंघन पर पूर्व मंत्री समेत कई नेताओं की गाड़ियां सीज, पुलिस ने कई का चालान भी काटा

लॉकडाउन में नेताओं के वाहनों में घूम रहे लोगों पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया। बिजनौर में सोमवार को पुलिस ने कई नेताओं की कार सीज कर दी, जबकि सपा विधायक मनोज पारस की कार का चालान काट दिया।

सोमवार को एडीएम प्रशासन विनोद कुमार गौड़, एसपी सिटी लक्ष्मी निवास मिश्र, एसडीएम बृजेश कुमार और शहर कोतवाल रमेशचंद्र शर्मा ने जजी चौक पर चेकिंग कराई। लॉकडाउन में बेवजह सड़क पर आए और बिना कागजों वाले वाहनों का चालान कर दिया। चेकिंग के दौरान पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस नेता ओमवती की नेम प्लेट और पार्टी का झंडा लगी कार जजी चौक पर पहुंची। कार में केवल चालक था। पुलिस ने कार सीज कर थाने भिजवा दी। 

यह भी पढ़ें: 
दरोगा को चालान काटना पड़ा भारी, वकीलों ने छीनी चाबियां, फिर निकाली बाइकों की हवा, जमकर हंगामा

चालक का कहना था कि वह खाना बांट रहा है, लेकिन कार में खाने के पैकेट नहीं दिखे। सपा के नगीना विधायक मनोज पारस की कार कुछ देर बाद वहां पहुंची। कार में विधायक के भाई धर्मेंद्र पारस और गनर बैठे थे। पुलिस ने उस कार का भी चालान काट दिया। कार विधायक मनोज पारस की पत्नी के नाम है। 

वहीं, भाजपा नेता राजीव लोचन की कार भी सीज कर दी। कार राजीव लोचन खुद चला रहे थे। राजीव लोचन बिना किसी काम के घूम रहे थे। शहर कोतवाल रमेशचंद्र शर्मा के अनुसार जो बेवजह निकलेगा, पुलिस उसके खिलाफ कार्रवाई करेगी। जनप्रतिनिधि भी इस बात का ध्यान रखें। वे अपने समर्थकों और कार्यकर्ताओं से भी लॉकडाउन का पालन करने को कहें।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस की बड़ी कार्रवाई, छह दिन में चार हजार चालान, 612 गाड़ियां सीज

वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों की कमी नहीं है। पुलिस कार्रवाई के बावजूद लोग हैं कि लॉकडाउन के नियमों के तोड़ने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस कड़ी कार्रवाई कर रही है, लेकिन इसके बावजूद बेवजह घर से बाहर निकलने और सड़कों पर वाहन दौड़ाने वाले लोगों पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। 

बता दें कि लॉकडाउन लागू हुए छह दिन हुए हैं और इन छह दिन के भीतर मुजफ्फरनगर पुलिस कड़ी कार्रवाई करते हुए 727 लोगों के खिलाफ 135 मामले दर्ज कर चुकी है। ये मामले धारा-188 के तहत दर्ज किए गए हैं। 

यह भी पढ़ें: 
लॉकडाउन के उल्लंघन पर पूर्व मंत्री समेत कई नेताओं की गाड़ियां सीज, पुलिस ने कई का चालान भी काटा

बताया गया कि शुरुआती छह दिन में ही पुलिस अब तक 4,182 वाहनों का चालान कर चुकी है। इनसे 10.12 लाख 800 रुपये का भारी-भरकम जुर्माना वसूल किया जा चुका है, जबकि अब तक 612 वाहनों को सीज भी किया जा चुका है। 

एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि आगे भी लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाती रहेगी।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

लॉकडाउन में मकान की छत पर नमाज पढ़ाने वाला हाफिज गिरफ्तार, 20 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

शामली जनपद के कस्बा बाबरी में लॉकडाउन में घर की छत पर 15-20 लोगों को नमाज पढ़ाने के मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। इस मामले में पुलिस ने नमाज पढ़ाने के आरोपी हाफिज को गिरफ्तार कर लिया। 

बाबरी थानाध्यक्ष नेमचंद सिंह ने बताया कि रविवार शाम पुलिस को सूचना मिली कि बाबरी निवासी हाफिज जरीमशाह के मकान की छत पर 15-20 लोगों को एकत्र कर नमाज पढ़वा रहा है। इस सूचना पर पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। सभी लोग छत से कूदकर फरार हो गए। 

थानाध्यक्ष ने बताया कि इस मामले में मकान मालिक को नामजद करते हुए 15-20 अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई। जांच के दौरान नमाज पढ़ाने वाले की पहचान हाफिज आजाद के रूप में हुई। हाफिज को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी अन्य की तलाश की जा रही है।

यह भी पढ़ें: 
लाॅकडाउन के दौरान लापरवाही बरतना सिपाही को पड़ा भारी, गलती की मिली ऐसी सजा, अब पुलिस लाइन में बेचेगा सब्जी
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: भीड़ ने नगर निगम की टीम को घेरा, मारपीट पर हुई उतारू, ये है पूरा मामला

कोरोना वायरस के दौरान आर्थिक संकट से जूझ रहे ठेले व रेहड़ी वालों को सरकार ने आर्थिक सहायता के लिए एक- एक हजार रुपये की सहायता देने की घोषणा की है। जिनकी जांच पड़ताल और सत्यापन करने के लिए नगर निगम के कर्मचारी गली- गली घूम रहे हैं। सोमवार को लिसाड़ी गेट क्षेत्र की शाहजहां कॉलोनी में पहुंची निगम टीम को भीड़ ने घेर लिया और मारपीट पर उतारू हो गई।

निगम अधिकारियों के अनुसार सत्यापन के दौरान ऐसे गरीब लोगों के आधार कार्ड व बैंक की खाता संख्या ले रहे हैं। ताकि इन गरीब पात्रों तक सरकार की एक हजार की मदद पहुंच सके। अधिकांश इलाकों में लोग अपने वार्ड पार्षद और नगर निगम के टैक्स अधिकारी के माध्यम से अपना आधार कार्ड, मोबाइल नंबर और बैंक खाते की फोटो कॉपी उपलब्ध करा रहे हैं। जिनके खाते में यह रकम भेजे जाने की तैयारी शुरू हो गई है। लेकिन कुछ क्षेत्रों में जनता अभिलेख देने को तैयार नहीं है। उल्टा टीम का विरोध भी कर रही है। 

यह भी पढ़ें: 
हैलो! मैं नरेंद्र मोदी बोल रहा हूं... डॉक्टर नीतिश, आप तो मोर्चे पर डटे हुए हैं, अस्पताल में कैसा हाल है

नगर निगम के टैक्स इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार सोमवार को शाहजहां कॉलोनी में ठेले व रेहड़ी वाले परिवारों का सत्यापन करने के लिए पहुंचे। इंस्पेक्टर के अनुसार इस दौरान भीड़ ने उन्हें घेर लिया। कोई अभिलेख नहीं दिया और चेतावनी दे दी कि अभिलेख मांगने के लिए कॉलोनी में आने की जरूरत नहीं है। यही नहीं, स्थानीय लोग मारपीट पर उतारू हो गए। वार्ड पार्षद भी वहां मौजूद थे। लेकिन भीड़ के विरोध के चलते वह भी कुछ नहीं बोल पाए। टैक्स इंस्पेक्टर ने मुस्लिम बहुल क्षेत्र में हुई उनके साथ अभद्रता की शिकायत सहायक नगर आयुक्त बृजपाल सिंह से की।

इस संबंध में सहायक नगर आयुक्त का कहना है कि जनता को सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए प्रशासन का सहयोग करना चाहिए। हमारा प्रयास है कि प्रत्येक पात्र व्यक्ति के भारत सरकार की योजना का लाभ पहुंचे। ऐसे क्षेत्रों के जिम्मेदार लोगों को आगे आकर काम करना चाहिए।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

लॉकडाउन: जिले की सीमाएं सील, शुरू हुआ ये खेल, 500 रुपये लेकर श्रमिकों को पार कराई यमुना

लॉकडाउन को लेकर केंद्र की सख्ती का असर नजर आने लगा है। बॉर्डर सील कर दिए गए। बाहरी राज्यों से आने वालों को लौटाया जाने लगा है। लिहाजा पलायन करने वालों का आना बंद हो गया है। क्वारंटीन सेंटर खाली हो गए हैं। इस बीच रामड़ा खादर में कुछ लोगों ने ट्यूब लाकर श्रमिकों से यमुना नदी पार कराने पर 300 से 500 रुपये प्रति व्यक्ति वसूली शुरू कर दी। 

शामली में रविवार रात ही पुलिस प्रशासन ने जिले की सीमाएं सील कर सख्ती शुरू दी थी। हरियाणा बॉर्डर पर पुलिस ने बाहरी लोगों को लौटा दिया और ई-चालान किए गए। लोगों का आना जाना बंद हुआ तो कुछ लोगों ने इसका फायदा उठाया। रामड़ा खादर में कुछ लोगों ने ट्यूब लाकर श्रमिकों से मोटी रकम लेकर यमुना नदी पार करानी शुरू कर दी। मजबूरीवश लोग मोटी रकम देकर बॉर्डर पार करने लगे। सूचना मिलने पर कैराना पुलिस ने दबिश दी। पुलिस ने पीछा कर दो युवकों को दबोच लिया। नौ बाइकें बरामद कर ली हैं। पुलिस ने मामौर खादर में छापा मारा तो वहां भी यही सब चल रहा था। पुलिस ने यहां से भी एक युवक को ट्यूब के साथ पकड़ लिया। सीओ प्रदीप सिंह ने बताया कि तीन लोगों को अवैध रूप से सीमा पार कराने के आरोप में पकड़ा है। शाम तक केस दर्ज नहीं हुआ था।

यह भी पढ़ें: 
Corona Virus Update: मेरठ में फिर मिले छह नए मरीज, लोगों में बढ़ी दहशत, संख्या बढ़कर हुई 19
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us