विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

जानें कौन हैं श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास

राम मंदिर आंदोलन के अहम किरदार रहे अयोध्या के श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास को राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया गया है। जानें, उनके बारे में:

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

मेरठ

बुधवार, 19 फरवरी 2020

मुठभेड़ में दो लाख का इनामी बदमाश ढेर, कुख्यात ने रची थी दिल्ली के एसीपी की हत्या की साजिश

दिल्ली के एसीपी की हत्या की साजिश रचने वाले सरगना शक्ति नायडू को मेरठ पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। पुलिस ने शक्ति पर दो लाख रुपये का इनाम रखा हुआ था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

बता दें कि कंकर खेड़ा क्षेत्र में मंगलवार को पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस दौरान बदमाशों ने फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने बदमाशों को घेर लिया।फिर पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दो लाख का इनामी बदमाश ढेर हो गया। बताया गया कि कुख्यात नायडू ने अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति कुंदरा से फिरौती भी वसूली थी।

ये था मामला
मेरठ पुलिस ने दिल्ली के एसीपी और मेरठ के इंस्पेक्टर की हत्या की साजिश को लेकर बड़ा खुलासा किया था। दिल्ली निवासी सरगना शक्ति नायडू दोनों की हत्या कराकर पश्चिमी यूपी में अपना नेटवर्क जमाना चाहता था। इसके लिए उसने अपने साथियों के संग मिलकर खौफनाक साजिश रची थी। इंस्पेक्टर और एसीपी की हत्या का दिन मुकर्रर किया लेकिन एन वक्त पर पूरी वारदात पलट गई और बदमाशों में आपस में ही गोलीबारी हो गई। इसमें कुख्यात नायडू के साथी बदमाश चाचा और भतीजे को गोली लगी जिसमें भतीजे की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: 
यूपी: मुठभेड़ में दबोचा गया 25 हजार का इनामी बदमाश, दूसरा साथी चकमा देकर फरार
... और पढ़ें

देवबंदी उलमा बोले- योगी सरकार ने तीन तलाक पीड़िताओं के साथ किया भद्दा मजाक

प्रदेश की योगी सरकार द्वारा पेश किए गए बजट में तीन तलाक पीड़ित महिलाओं को पांच सौ रुपये प्रतिमाह पेंशन का एलान किया है। वहीं देवबंदी उलमा ने इसे पीड़ित महिलाओं के साथ हमदर्दी नहीं बल्कि भद्दा मजाक करार दिया है।

मंगलवार को जारी बयान में जमीयत दावतुल मुसलीमीन के संरक्षक व प्रसिद्ध आलिम-ए-दीन मौलाना कारी इस्हाक गोरा ने कहा कि तीन तलाक पीड़ित महिलाओं को योगी सरकार के बजट में पांच सौ रुपये महीना पेंशन का एलान किया गया है। मैं समझता हूं कि यह महिलाओं के साथ मजाक है। पांच सौ रुपये महीना एक महिला के लिए क्या मायने रखते हैं, यह सोचने पर मजबूर करता है। क्योंकि यह रकम दो दिन के लिए भी कम है। उन्होंने कहा कि योगी सरकार को पीड़ित महिलाओं के लिए कम से कम पांच हजार रुपये प्रतिमाह का एलान करना चाहिए। तभी हमें लगेगा की सरकार इन महिलाओं की हमदर्द है और इनके लिए कुछ करना चाहती है। उन्होंने कहा कि पांच सौ रुपये पेंशन सुनकर भी हैरत होती है। 

यह भी पढ़ें: 
देवबंद: पूर्व विधायक का बड़ा बयान, बोले- भाजपा की पाकिस्तानी आतंकवादियों से फिक्सिंग

तंजीम अबना-ए-दारुल उलूम के अध्यक्ष मौलाना मुफ्ती याद इलाही कासमी का कहना है कि आज के महंगाई के दौर में पांच सौ रुपये क्या मायने रखते हैं इसका अंदाजा सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके मंत्रियों को भी होगा, लेकिन उसके बावजूद तीन तलाक पीड़ित महिलाओं के लिए पांच सौ रुपये महीना पेंशन का एलान करना सीधे- सीधे उनके साथ एक मजाक है। उन्होंने कहा कि अगर हकीकत में योगी सरकार इन महिलाओं से हमदर्दी रखती है और इनके दुख को बांटना चाहती है तो यह रकम बढ़ाकर 5 से 10 हजार रुपये प्रतिमाह होनी चाहिए।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति से आठ करोड़ लूटने वाले बदमाश का खौफनाक अंत, देखें तस्वीरें

कुख्यात 'नायडू' ने हत्या से इनकार करने पर साथी को दी थी खौफनाक मौत, दोनों हाथ से करता था फायरिंग

शक्ति नायडू का फाइल फोटो शक्ति नायडू का फाइल फोटो

फर्जी योजना के नाम पर ठगी करते थे ये शातिर, अब चढ़े पुलिस के हत्थे, खुद को बताते थे ऑफिसर

सरकार की अनुदान योजना के नाम पर फर्जी तरीके से लोगों को ठगने के पांच आरोपियों को सहारनपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी सहारनपुर और हरिद्वार जिले के रहने वाले हैं। इन ठगों का खेल सामने आने पर सीडीओ प्रणय सिंह के निर्देश पर जिला प्रोबेशन अधिकार पुष्पेंद्र कुमार की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

दर्ज रिपोर्ट में बताया गया कि देवला निवासी सोनी सहित अन्य आवेदकों को अमित कुमार नाम का शख्स मिला था। उसने खुद को नेशनल बुद्धिज्म फाउंडेशन हसनपुर चुंगी दिल्ली रोड का फील्ड वर्कर बताया और उसकी ओर से कहा गया कि 50, 100 और 200 रुपये में पंजीकरण कराने के बाद 50 हजार रुपये से लेकर दो लाख रुपये तक का लाभ लिया जा सकता है। आवेदकों ने आवेदन किया लेकिन लाभ नहीं मिला, बाद में उन्हें शक हुआ और इस बारे में पूछताछ की। लेकिन उनकी ओर से धमकी दी गई। बताया गया कि इस योजना के साथ ही आरोपियों ने सीडीओ के पदनाम का भी गलत प्रयोग किया। उन्हें संस्था का अध्यक्ष बताया गया।

यह मामला संज्ञान में आने के बाद सीडीओ ने जिला प्रोबेशन अधिकारी पुष्पेंद्र कुमार को जांच और रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिए। सदर थाना प्रभारी पंकज पंत ने बताया कि प्रोवेशन अधिकारी की तहरीर पर दर्ज रिपोर्ट के आधार पर पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस जांच कर रही है कि इनके द्वारा कितने लोगों को अब तक ठगा गया है।

यह भी पढ़ें: 
अमर उजाला ने किया करोड़ों के फर्जीवाड़े का पर्दाफाश, प्रॉपटी डीलर ने लोगों को ऐसे फंसाया था जाल में
... और पढ़ें

बसपा के पूर्व जोन कोर्डिनेटर की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, गाजियाबाद से लौट रहे थे घर

सहारनपुर: पुलिस पर फायर झोंककर भाग रहे तीन बदमाश मुठभेड़ में घायल, साथी फरार, बाइक व तमंचे बरामद

नायडू के एनकाउंटर में घायल सीओ दौराला जितेंद्र कुमार

शातिर 'नायडू' का तीन मंजिला मकान पर था कब्जा, शव लेने दिल्ली से मेरठ पहुंची पत्नी, लगाए कई आरोप

मेरठ की वैष्णो धाम स्थित आर्क सिटी में तीन मंजिला मकान पर शक्ति नायडू ने कब्जा कर लिया था। वारदात करता और वहां आकर छिप जाता था। लेकिन मंगलवार को आखिरकार उसकी मौत उसे दिल्ली से मेरठ खींच लाई। पुलिस ने उसे एनकाउंटर में ढेर कर दिया।

बुधवार दोपहर को मोस्ट वांटेड शक्ति की पत्नी परिवार के साथ उसका शव लेने दिल्ली से मेरठ पहुंची। चिकित्सकों के पैनल द्वारा पोस्टमार्टम कराने के बाद शक्ति का शव उसके परिजनों को सौंप दिया जाएगा। वहीं नायडू की पत्नी ने पुलिस और बदमाश तिलकराज पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। आगे पढ़ें कैसे मेरठ में तीन मंजिला में मकान पर अपना कब्जा जमाए हुए था कुख्यात नायडू: -
... और पढ़ें

एनकाउंटर: कुख्यात नायडू के खौफ का मेरठ में हुआ खात्मा, सिपाही की हत्या कर पुलिस को दी थी खुली चुनौती

अवैध हथियार फैक्टरी का भंडाफोड़, दबोचा गया चर्चित समाजसेवी का सगा भांजा, असलहा बरामद

उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर शहर के बीच मोहल्ला खालापार स्थित मकान में चलाई जा रही अवैध हथियार फैक्टरी का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने चर्चित समाजसेवी के सगे भांजे को गिरफ्तार किया है। मौके से दो पिस्टल, बने अधबने तमंचे व कारतूस, पार्ट्स और हथियार बनाने के उपकरण बरामद किए हैं।

पुलिस लाइन स्थित सभागार में बुधवार को एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि शहर कोतवाली पुलिस ने बुधवार सुबह सूचना के आधार पर मोहल्ला खालापार में माता वाली गली निवासी अखलाक के मकान में दबिश दी। उक्त मकान में अवैध हथियार फैक्टरी संचालित की जा रही थी, जहां से हथियार बनाते कंवर पुत्र अखलाक को रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया। आरोपी छह माह से मकान में तमंचा फैक्टरी चला रहा था। मौके से दो पिस्टल, आठ तमंचे, पांच नाल, एक देशी बंदूक की बट व बॉडी,  सैकड़ों की तादाद में बुलेट व खोखे और तमंचे बनाने के उपकरण बरामद किए गए। 

यह भी पढ़ें: 
ऐसे खुली मेरठ पुलिस की पोल, किरकिरी होने पर एडीजी नाराज, अफसरों को दिए सख्त निर्देश

इंस्पेक्टर अनिल कपरवान ने बताया कि पकड़ा गया आरोपी एक चर्चित समाजसेवी का सगा भांजा है। आरोपी के खिलाफ इससे पहले भी तमंचा फैक्टरी चलाने के साथ ही कातिलाना हमले समेत अन्य संगीन मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी अवैध हथियार तैयार कर उन्हें देहात क्षेत्र में सप्लाई करता था। पूछताछ के बाद आरोपी को जेल भेज दिया गया है। 

एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि जनपद पुलिस को अब अवैध असलाह की धरपकड़ के निर्देश दिए गए हैं। अभियान चलाकर पूर्व में अवैध हथियारों के साथ पकड़े गए आरोपियों पर भी निगाह रखने के लिए भी कहा गया है। फैक्टरी का भंडाफोड़ करने वाली पुलिस टीम में एसआई सुनील कुमार, एसआई विनय शर्मा, कांस्टेबल अमित तेवतिया व मनेंद्र राणा आदि शामिल रहे।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

यूपी: योगी सरकार द्वारा मरीजों की सुविधा के लिए लगाई एम्बुलेंस 108 सरेआम ढो रही सवारियां

स्वास्थ्य संबंधित परेशानियों में या आपातकालीन स्थिति में मरीजों को तुरंत अस्पताल ले जाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही 108 एम्बुलेंस सेवा  सरेआम सवारियां ढो रही हैं।

हालांकि पहले भी यह सेवा विवादों के घेरे में आ चुकी है। लेकिन ताजा मामला प्रदेश के बागपत जिले के किशनपुरा सीएचसी का है। यहां मरीजों की सुविधा के लिए लगाई गई 108 एम्बुलेंस सरेआम सवारियां ढोती नजर आई। जानकारी लगने पर नजदीक जाकर पड़ताल की गई तो वहां मौजूद सवारियां हड़बड़ा गईं। दरअसल, यहां सरकारी एम्बुलेंस का दुरुपयोग किया जा रहा है और अफसरों को खबर तक नहीं है। 

मंगलवार को बड़ौत शहर में 108 एम्बुलेंस सवारियों को ले जाते हुए कैमरे में कैद हुई। जब यह पूछा गया कि क्या एम्बुलेंस में चढ़ रहे लोग मेडिकल स्टाफ हैं? तो एम्बुलेंस ड्राइवर सकपका गया और अटेंडेंट भी कुछ जवाब नहीं दे सका। बताया गया कि इससे पहले भी कई बार इस तरह सवारियां लेकर जाते हुए पकड़ा जा चुका है। 

वहीं, जिला समन्वयक हर्ष कुमार से इस संबंध में अवगत कराया तो उनका कहना था कि 108 एम्बुलेंस सेवाओं का केवल आपातकाल में ही प्रयोग किया जा सकता है। किसी भी प्रकार से सवारी नहीं बैठा सकते हैं। यदि ऐसा है तो स्टाफ से पूछताछ की जाएगी। 
... और पढ़ें

दुनिया पर कोरोनावायरस का खौफ, भारत पर स्वाइन फ्लू की मार, मेरठ में एक मौत  

एक ओर पूरी दुनिया में कोरोनावायरस से हड़कंप मचा हुआ है। वहीं, भारत में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। एक जनवरी से अभी तक तमिलनाडु में सबसे अधिक 132 केस सामने आ चुके हैं, जबकि चौथे नंबर पर राजधानी दिल्ली है, जहां 43 मरीज अस्पतालों में भर्ती कराए गए। ये खुलासा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट में हुआ है।



रिपोर्ट के अनुसार, जनवरी में सबसे अधिक दिल्ली में 40 मरीज स्वाइन फ्लू ग्रस्त पाए गए है। इनमें से पांच मरीज ऐसे हैं जो चीन से हाल ही में दिल्ली लौटकर आए हैं। इन्हें कोरोनावायरस की आशंका के चलते भर्ती किया गया था। पुणे स्थित प्रयोगशाला में सैंपल भेजे गए तो इनमें स्वाइन फ्लू पॉजिटिव आया।

नई दिल्ली स्थित डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल के एक वरिष्ठ श्वसन रोग विशेषज्ञ ने बताया कि अब तक आरएमएल में चीन से वापस लौटे 40 लोगों को भर्ती किया जा चुका है। किसी में भी कोरोना वायरस की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन तीन मरीज स्वाइन फ्लू ग्रस्त जरूर मिले हैं। वरिष्ठ हृदययरोग विशेषज्ञ डॉ. आरएन कालरा ने बताया कि मौसम में बदलाव के साथ ही स्वाइन फ्लू का स्ट्रेन भी एक्टिव रहता है। ऐसे में लोग (खासतौर पर दिल के रोगी) को सतर्कता बरतना चाहिए। साकेत स्थित मैक्स अस्पताल के डॉ. विवेक कुमार ने बताया कि स्वाइन फ्लू के मामले सामने आ रहे हैं। इनमें ज्यादातर मामले नियंत्रण में हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, देश में 437 स्वाइन फ्लू ग्रस्त मरीज मिले हैं। इनमें से 10 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा मरीज तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक और दिल्ली में मिल रहे हैं। पश्चिम बंगाल की ओर से स्वाइन फ्लू को लेकर केंद्र तक जानकारी नहीं भेजी जा रही है। उत्तर प्रदेश, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में मरीजों की मौत भी हुई है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us