विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

85 आईएएस अफसरों को नव वर्ष पर पदोन्नति की सौगात देने की तैयारी, ये बन सकते हैं प्रमुख सचिव

नए साल के पहले दिन करीब 85 आईएएस अधिकारियों की पदोन्नति की सौगात मिलेगी। शासन के नियुक्ति विभाग ने इस संबंध में कार्यवाही शुरू कर दी है।

7 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

मेरठ

रविवार, 8 दिसंबर 2019

यूपी: पांच हजार करोड़ की संपत्ति पर निर्णय आज, सीएम योगी ने बुलाई अफसरों की बैठक

मुजफ्फरनगर में सनातन धर्म डिग्री कॉलेज की 22.7 एकड़ जमीन पर निजी शिक्षण संस्थाओं का निर्माण करने और विद्यालय की जमीन पर एसडी मार्केट का निर्माण किए जाने के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बड़ी कार्रवाई कर सकते हैं। उन्होंने इस मामले में निर्णय के लिए लखनऊ के लोक भवन के चतुर्थ तल के कक्ष नंबर पांच में शुक्रवार यानि आज दिन में दो बजे बैठक बुलाई है। बैठक में सभी संबंधित विभागों के अधिकारी बुलाए गए हैं।

शहर के दक्षिणी सिविल लाइन निवासी श्रीकांत त्यागी ने 12 साल पहले शहर के श्रीकांत त्यागी ने मुख्यमंत्री के यहां शिकायत की थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि सनातन धर्म डिग्री कॉलेज की शासन से अनुदानित जमीन पर एसोसिएशन के लोगों ने निजी शिक्षण संस्थाएं खड़ी कर ली है। उस समय एमडीए के वीसी, एडीएम प्रशासन और मंडलायुक्त ने इस मामले की जांच की थी। तमाम जांच होने के बाद यह मामला कार्रवाई के लिए प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा के यहां लटका हुआ था। कुछ दिन पहले इस मामले को लेकर श्रीकांत त्यागी ने मुख्यमंत्री से मिले थे और उन्हें प्रकरण से अवगत कराया था। 

सीएम ने इस मामले को गंभीरता से लिया और संबंधित विभागों से रिपोर्ट तलब की। बाद में यह पाया गया कि तमाम जांच पहले ही हो चुकी है, अब जांच की आवश्यकता नहीं है, केवल कार्रवाई की जाए। शुक्रवार को होने वाली बैठक में मुख्यमंत्री ने सचिव उच्च शिक्षा आर रमेश कुमार, विशेष सचिव उच्च शिक्षा मनोज कुमार, अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा कृष्णचंद्र, आर्थिक अपराध शाखा के विशेष सचिव, मुख्यमंत्री के तीन सचिव और सचिव बोर्ड ऑफ रैवेन्यू मौजूद रहेंगे। इसी के साथ शिकायकर्ता को भी बैठक में बुलाया गया है।
... और पढ़ें

इंसाफ के लिए तड़प रही दुष्कर्म पीड़िता, एसएसपी दफ्तर के बाहर खुद को जिंदा जलाने की कोशिश, तस्वीरें

पश्चिमी यूपी में खुला पहला एलपीएम म्यूजियम, छात्रों को दी जाएगी इन नस्लों के बारे में जानकारी

मेरठ में सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय में पश्चिमी उत्तर प्रदेश का पहला एलपीएम (लाइवस्टोक प्रोडेक्शन मैनेजमेंट) म्यूजियम खोला जा रहा है। इसमें देशी नस्लों के स्टैच्यू रखे जाएंगे। किसान, पशुपालक व कृषि विवि के वेटनरी छात्रों को भी इन नस्लों के बारे में जानकारी दी जाएगी।

वेटनरी कॉलेज में एलपीएम विभागध्यक्ष डॉ. डीके सिंह ने बताया कि कि अभी तक पश्चिमी उत्तर प्रदेश में खुली डेयरियां व किसानों के यहां हो रहे पशुपालन में अधिकतर देशी नस्लों का ही पालन किया जा रहा है। किसानों व पशुपालकों को देशी नस्लों की देखरेख को लेकर जानकारी न होने से वह इन नस्लों को पालते समय सही से देखभाल नहीं कर पाते हैं। पशुपालक को नस्लों का भी ज्ञान होना बहुत जरूरी है। इस कारण वह अपनी आय को और बढ़ा सकते हैं। विवि का इस म्यूजियम को खोलने के पीछे उद्देश्य किसानों व पशुपालकों की आय बढ़ाने के साथ उन्हें देशी व विदेशी नस्लों के बारे में जानकारी देना है। इस म्यूजियम के तैयार होने के बाद यहां आने वाले किसान व पशुपालकों को म्यूजियम में रखे देशी व विदेशी नस्लों के स्टैच्यू के माध्यम से नस्लों के बारे व उनकी देखरेख को लेकर विस्तार से जानकारी दी जाएगी। 

देशी नस्लों के संरक्षण को बढ़ावा
कृषि विवि के वेटनरी कॉलेज में बनाए गए म्यूजियम के प्रभारी डॉ. अमित कुमार चौधरी ने बताया कि सबसे अधिक देशी नस्लों के संरक्षण को बढ़ावा दिया जाएगा। आज गोवंश सड़कों पर आवारा घूमने के लिए मजबूर हैं। देशी गोवंश नस्ल के संरक्षण को लेकर विवि की ओर से गांव-गांव में जन जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा। इस म्यूजियम में गाय, भैंस, बकरी, भेड़ व मुर्गी की देशी नस्लों के स्टैच्यू रखे गए। इसे और भी विस्तार दिया जाएगा।
... और पढ़ें

अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी की बहन का निधन, इस खतरनाक बीमारी से पीड़ित थीं शायमा तमशी

नवाजुद्दीन सिद्दीकी नवाजुद्दीन सिद्दीकी

ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस वे पर कोहरे के कारण टकराए कई वाहन, ट्रक चालक की मौत, दस घायल

बागपत में ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस वे पर शनिवार सुबह कोहरे के कारण छह ट्रक आपस में भिड़ गए। हादसे में एक ट्रक चालक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दस लोग घायल हो गए। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली। पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। 

जानकारी के अनुसार राजस्थान के बूंदा जिला निवासी धर्मराज पुत्र रामकुमार गाजियाबाद से ट्रक लेकर राजस्थान जा रहा था। यहां खेकड़ा क्षेत्र के बड़ागांव के समीप ईस्टर्न पेरिफेरल वे पर उसका ट्रक खराब हो गया। चालक अपने ट्रक को ठीक करने लगा कि तभी पीछे से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी।
... और पढ़ें

अपराधी क्या डरेंगे..., यहां खुद ही भूत-प्रेत से डरती है यूपी पुलिस, पढ़ें आखिर क्या है पूरा मामला

दूल्हे व बरातियों को कमरे में बंद करके पीटा, दुल्हन ने शौहर के साथ जाने से किया इनकार

यूपी के बिजनौर जिले के गांव नांगलजट में बरात देर से आने पर दूल्हे समेत कई बरातियों को कमरे में बंद करने के बाद अर्धनग्न कर बुरी तरह पीटा। वधू को उपहार के रूप में दिए रकम व जेवर भी जब्त कर लिए। 

वर पक्ष की शिकायत पर मौके पर पहुंची पुलिस ने बरातियों को छुड़वाया। धामपुर निवासी एक युवक ने डेढ़ माह पूर्व  मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत क्षेत्र के गांव नांगलजट निवासी एक युवती से बिजनौर में आयोजित समारोह में निकाह किया था। 

ग्रामवासियों के अनुसार, विवाहिता ने अपने ससुरालवालों  से सामाजिक तौर से निकाह की दोबारा रस्म करने की मांग की। दो दिन पूर्व गांव नांगलजट में बरात दोपहर में आनी तय हुई थी लेकिन बरात देर शाम पहुंची। 

बरात देरी से आने को लेकर वर व वधू पक्ष के बीच कहासुनी हो गई। वर पक्ष का आरोप है कि वधू पक्ष के लोगों ने दूल्हे, उसके परिजनों व कुछ बरातियों को कमरे में बंद कर अर्धनग्न कर उनकी जमकर पिटाई की। 
... और पढ़ें

प्रदूषण के बिगड़ते हालातों के बीच ग्रीन कार से पर्यावरण बचाने का संदेश दे रहा मेरठ का यह शख्स

सांकेतिक तस्वीर

पंचायत के फरमान: बंदिशें सिर्फ बेटियों पर, गांव में नहीं रख सकती कदम,...नहीं तो जान से मार देंगे

गांव और अपनों की बात होती है तो मोनी की आंखें बरसने लगती हैं। उन आंखों में अपनी मिट्टी से दूर होने की टीस साफ दिखती है। सिल्लू घरवालों से मिलने गांव चला जाता है लेकिन मोनी वहां कदम भी नहीं रख सकती। उसके जाते ही बवाल हो जाता है। 

सारी बंदिशें उसी के लिए हैं। वह गांव जाएगी तो वहां की लड़कियों को अपनी तरह बिगाड़ देगी। गांव वालों की यही सोच है जिसके आगे मोनी विवश है। बेबस युवती कहती है, कोई किसी को नहीं बिगाड़ सकता। बस, लोग नाम दे देते हैं। उन्हें लगता है, मेरे जाने से गांव का माहौल खराब हो जाएगा। इसलिए पांच साल में चाहकर भी दो किमी की दूरी तय नहीं कर पाई। सिल्लू और मोनी गांव लौटना चाहते हैं पर पंचायत के फैसले के आगे बेबस हैं।
... और पढ़ें

बेटियों की सुरक्षा को मेरठ के युवाओं ने बनाया ‘रक्षा कवच’, असुरक्षित महसूस करें तो इन्हें करें कॉल

बाइक सवार को बचाने में हुआ बड़ा हादसा, दुकान में घुसी प्राइवेट बस, दो लोगों की मौत

मेरठ के परिक्षितगढ़ में शनिवार को एक प्राइवेट बस बाइक सवार को बचाने में एक ऑटोमोबाइल की दुकान में घुस गई। इस हादसे में एक वृद्ध की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक अन्य युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली। पुलिस ने घायल युवक को तुरंत अस्पताल में पहुंचाया, जहां उपचार के दौरान युवक ने दम तोड़ दिया।  

जानकारी के अनुसार परीक्षितगढ़ नगर के किठौर मोड़ के समीप एक प्राइवेट बस बाइक सवार को बचाने के चक्कर में ऑटो मोबाइल की दुकान में घुस गई। यहां दुकान के बाहर खड़े 60 वर्षीय बाबू खां की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 29 वर्षीय युवक अर्जुन गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली। 

पुलिस ने घायल युवक को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं हादसे में दुकान पर खड़ी तीन बाइक बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। पुलिस बस और क्षतिग्रस्त बाइकों को उठाकर थाने ले आई। मामले में कोई तहरीर नहीं दी गई है। 
... और पढ़ें

ऑनर किलिंग: बहनों के कातिल बन गए राखी वाले हाथ, झकझोर देगी ये घटनाएं

बचपन से भाइयों को घर में खुद से ऊपर पाया। पानी, चाय, खाना सब उनके हाथों में दिया। दोयम होकर भी भाइयों पर प्यार लुटाती रहीं। हर साल बड़ी खुशी से उनकी कलाई पर राखी बांधतीं। उन्हीं राखी वाले हाथों ने बहनों की बेरहमी से हत्या कर दी। जिनके साथ, जिनके बीच रहकर वे पली-बढ़ीं, वही उनके कातिल बन गए। ऐसे कातिल जिन्हें अपने किए का कोई अफसोस नहीं हैं। आम बातों पर बेटियों की हत्या आम हो गई है...

पुरुषवादी समाज के ये वो क्रूर चेहरे हैं जो झूठी आन के नाम पर अपनी बहन-बेटियों की बलि लेते आए हैं। वह तड़पती रहीं, जान की भीख मांगती रहीं पर वे नहीं पसीजे। उनका दम निकल गया पर वे वार करते रहे। इतना निर्मम भी कोई हो सकता है। मुजफ्फरनगर में इसी साल ऑनर किलिंग की दिल दहला देने वाली दो घटनाएं हुईं। जिनकी केस हिस्ट्री झकझोर देती है। परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी है लेकिन लड़ाई लंबी है।

यह भी पढ़ें: 
हत्यारों के न हाथ कांपे न कलेजा, झूठी शान पर कुर्बान हुईं बेटियां, ये था उनका गुनाह
... और पढ़ें

हत्यारों के न हाथ कांपे न कलेजा, झूठी शान पर कुर्बान हुईं बेटियां, ये था उनका गुनाह

बड़ी बेजा थीं वे। इतनी कि उनके अपने तक उन्हें बर्दाश्त नहीं कर सके। दुनिया तो क्या करती। उनका कुसूर भी बहुत बड़ा था। जैसा कि लोग कहते हैं, उनके चरित्र खराब थे। लड़की होकर मर्यादा भूल गईं। जिसके बोझ तले उनका सारा वजूद दबा है, उस मर्यादा को भूलना गुनाह है। उसके बिना आसमीन और सोनम कोई मायने नहीं रखती। इसलिए झूठी आन की खातिर अपनों ने ही दोनों की बलि चढ़ा दी...

बागपत जनपद की दिव्यांग आसमीन और 17 साल की सोनम को मारने वालों का न कलेजा कांपा और न हाथ। सोनम को मारकर उसकी लाश जला दी गई। अवशेषों से उसकी पहचान हुई। घरवालों ने आसमीन की लाश तक को नहीं अपनाया। रिश्तेदारों ने उसे कफन नसीब कराया।

उसकी याद में मातम करने वाला कोई नहीं। उसके मरने से किसी को फर्क नहीं पड़ता। आसमीन की अम्मी भी दुनिया सी सख्त नजर आती हैं। उनकी आंखों में बेटी के नाम के दो आंसूं तक नहीं हैं। वहीं सोनम की अम्मी उसकी तस्वीर देखकर अपनी ममता नहीं रोक पातीं। अफसोस! कि यह ममता उनकी फूल सी बच्ची को बचा नहीं सकी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election