विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Coronavirus in Uttar Pradesh Live Updates: यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित

यूपी में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को एक ही दिन 14 नए मरीज सामने आने के साथ ही प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 65 हो गई है।

28 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

मेरठ

शनिवार, 28 मार्च 2020

सुबह 10 बजे तक ही खुली मंडी, फुटकर का नहीं हुआ कारोबार

- शनिवार को भी मंडियों में रहा पुलिस और प्रशासन का पहरा फुटकर में सामान खरीदने वालों को नहीं मिला मंडी में प्रवेश - मंडियों में फुटकर का कारोबार बंद होते ही गिरने लगे हैं सब्जियों के दाम मेरठ। लॉक डाउन पर भी एक स्थान पर लोगों की अधिक भीड़ जमाना हो इसको लेकर सख्त कदम उठाए हुए हैं । 2 दिन से मंडी में भी पुलिस व प्रशासन के पहले के चलते हैं भीड़ इकट्ठा नहीं हो रही है। जिसके कारण 10बजे ही मंडियां बंद हो जा रही हैं। साथ ही सब्जियों के दाम भी गिरने शुरू हो गए हैं। शनिवार को भी डिप्टी डायरेक्टर मंडी पुष्पराज सिंह पुलिस क्षेत्राधिकारी और मंडी समिति सचिव नरेंद्र कुमार का नवीन मंडी में डेरा डाला। मंडी के तीनों गेट पर पुलिस तैनात रही। गेट से केवल उन्हीं व्यापारियों को मंडी में प्रवेश दिया गया जो थोक में सब्जी फल और खाद्यान्न खरीदने आए। थोक व्यापारियों की तरफ से ऐसे सभी दुकानदारों को लिखित प्रमाण दिया जा रहा है जो थोक में सामान खरीदते हैं। शनिवार को सब्जी मंडी में शुक्रवार से भी कम भीड़ रही। हालांकि खरीदार अधिक न पहुंचने के कारण काफी सब्जियां बोरों में ही कैद होकर रह गई। इतना जरूर हुआ कि आलू के दामों में भी ₹100 कुंटल तक की गिरावट आ गई। शनिवार को 14 00- 15 00रुपए कुंतल आलू बिका। इसके अलावा टमाटर ₹20 किलो हरी मिर्ची 25 से ₹30 किलो बैंगन ₹15 किलो गोभी ₹15 किलो प्याज 15 से ₹20 किलो लौकी ₹12 किलो भिंडी ₹20 किलो थोक में बिकी। अगर हम शहर में फुटकर में ठेलो पर बेची जा रही सब्जियों के 4 दिन पहले के रेट और अब की बात करें तो काफी अंतर दिखाई दे रहा है। शनिवार को गली मोहल्लों में सब्जी बेचने वालों ने जहां आलू ₹25 किलो बेचा वही टमाटर ₹30 किलो हरी मिर्च ₹50 किलो बैंगन ₹30 किलो गोभी ₹30 किलो लौकी ₹30 किलो और भिंडी ₹40 किलो बेची। --- काफी मात्रा में जमा है मंडी में सब्जी -- नवीन सब्जी मंडी के थोक विक्रेता पदम सिंह सैनी का कहना है कि मंडी में फुटकर में सब्जी ने बेचे जाने के कारण काफी सब्जी जमा है। बाहर से आने वाली सब्जी फिलहाल कम ही मंगवाई जा रही है। क्योंकि हरी सब्जी को अधिक दिन रोका नहीं जा सकता है। शनिवार को थोक में सब्जी खरीदने वाले की संख्या काफी कम रही। --- मंडी में मजदूरों के सामने गैस का संकट - दिल्ली रोड स्थित नवीन सब्जी मंडी और हापुड़ रोड स्थित लोहिया नगर मंडी में 1000 से भी अधिक मजदूर बताए जा रहे हैं। जिनके पास खाने के लिए आटा दाल चावल वह सब्जी आदि सामान तो है लेकिन गैस नहीं है। कारण है कि इनके पास गैस कनेक्शन नहीं है। यह सभी लोग 5 किलो के छोटे सिलेंडर में बाजार से गैस खरीदते रहे हैं। उसी पर यह लोग खाना बनाते थे। अब बाजार में छोटे सिलेंडरों में गैस बेचने वालों की दुकानें बंद हो गई है। जिसके कारण इन लोगों के चूल्हे ठंडे हो गए हैं। इन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि उनके लिए गैस की व्यवस्था कराई जाए। --- इस दौरान छुट्टी पर रहने वाले मंडी के सभी कर्मचारियों को व्यापारी देंगे वेतन -- नवीन गल्ला मंडी एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज गुप्ता का कहना है कि मंडी में कर्मचारियों की भी अधिक भीड़ ने हो इसके लिए सभी दुकानदारों को निर्देश कर दिए गए हैं कि वह अपनी अपनी दुकान पर कर्मचारियों की संख्या फिलहाल घटा दें। किसी को भी नौकरी से निकाला जाए। साथ ही शिफ्ट बार कर्मचारियों को बुलाएं। सभी को वेतन दिया जाए। इनका कहना है कि अगर कोई थोक व्यापारी अपने कर्मचारी को वेतन नहीं देता है तो वह कर्मचारी गल्ला मंडी एसोसिएशन के पदाधिकारियों को सूचना दे सकता है। ... और पढ़ें

फीवर ओपीडी में छह-छह फिट की दूरी पर मरीज़, मेडिकल में निजी एम्बुलेंस गेट के बाहर

फीवर ओपीडी में छह-छह फिट की दूरी पर मरीज़, मेडिकल में निजी एम्बुलेंस गेट के बाहर इमरजेंसी के सामने वाला गेट किया गया है बन्द मेरठ। मेडिकल कॉलेज में निजी एंबुलेंस की भरमार रहती थी, इमरजेंसी के सामने लंबी कतारें लगी रहती थी, लेकिन कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद शनिवार को निजी एंबुलेंस के लिए गेट बंद कर दिया गया है। सिर्फ आने जाने के लिए छोटे गेट खुले हुए हैं। एंबुलेंस गेट के बाहर ही खड़ी हुई है। दूसरी तरफ फीवर ओपीडी में मरीजों को छह छह फीट दूर खड़े होने को कहा जा रहा है। उनकी कतारें इसी तरह लगाई जा रही हैं। जिस मरीज में ट्रेवल हिस्ट्री है, कोरोना जैसे लक्षण है उसको जांच के लिए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया जा रहा है बाकी को सामान्य दवाई दी जा रही है। सरकारी अस्पतालों में ओपीडी पूरी तरह से बंद है सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं चालू हैं। इसी तरह निजी चिकित्सक भी क्लीनिक नहीं खोल रहे हैं। अस्पतालों में ही मरीजों को देख रहे हैं। आईएमए ने शुक्रवार को सीएमओ को 85 चिकित्सकों सूची सौंपी थी और कोरोना कि इस महामारी में स्वास्थ्य विभाग की मदद करने का आह्वान किया था। ... और पढ़ें

यूपी: सहारनपुर में तेज बारिश के कारण अचानक भरभराकर गिरी मकान की छत, तीन लोग घायल

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में शुक्रवार रात को हुई तेज बारिश के बाद बड़गाव क्षेत्र में एक मकान की छत अचानक भरभराकर गिर गई। इससे मकान के भीतर बैठे एक ही परिवार के तीन लोग मलबे में दबकर घायल हो गए। धमाके की अवाज सुनकर पड़ोसी मौके पर पहुंचे और घायलों को इलाज के लिए सरकारी एम्बुलेंस से अस्पताल भिजवाया।

बड़गांव ;सहारनपुरद्ध 28 मार्च। जिले के जानकारी के अनुसार शुक्रवार की शाम नूनाबड़ी निवासी गफ्फार पुत्र शकूर, मुज्जमिल पुत्र गफ्फार, तैय्यब पुत्र भूरा अपने मकान में बैठे के कोरोना वायरस को लेकर आपस में चर्चा कर रहे थे। इसी बीच अचानक तेज हवाओं के साथ हुई बारिश शुरू हो गई जिसके कुछ समय बाद उनके मकान की कच्ची छत भरभराकर नीचे गिर गई।

 मकान के अंदर बैठे तीन लोग गंभीर घायल हो गएए घायलों को आसपास के लोगों ने अन्य ग्रामीणों की मदद से देर रात देवबंद के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया जहां सभी घायलों का इलाज चल रहा है।
... और पढ़ें

मेरठ में मिले चार नए कोरोना पॉजिटिव केस, 50 आइसोलेशन वार्ड में भर्ती, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में कोरोना वायरस के चार और नए केस मिले हैं। इससे पहले शुक्रवार को मेरठ मेडिकल अस्पताल में एक व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई थी। अब उसकी पत्नी और तीन सालों को भी कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई हैं। इससे स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। 

बता दें कि शनिवार को मेडिकल की लैब में 25 टेस्ट हुए। जिनमें से 21 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जबकि चार में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई हैं। इसके अलावा 21 सैंपल सहारनपुर, शामली और मुजफ्फरनगर के हैं, ये सभी नेगेटिव हैं।

बताया गया कि 50 को आइसोलेशन में भर्ती कराया गया है। इनमें 35 सुभारती और 15 मेडिकल में भर्ती है। इन सभी के रविवार को टेस्ट होंगे। वहीं मरीज के खिलाफ प्रशासन द्वारा एफआईआर की तैयारी चल रही है।

यह भी पढ़ें: 
CoronaVirus: मेरठ में रह रहे कोरोना पाॅजिटिव में मिले थे ये लक्षण, नमाज से लेकर निकाह में हुआ शामिल, सैकड़ों लोगों को संक्रमण का खतरा
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

मेरठ: कोरोना पॉजिटिव केस मिलने से लोगों में दहशत, डीएम के आदेश पर तीन इलाके 30 मार्च तक सील

मेरठ में क्रॉकरी व्यापारी इकराम उल हसन का कोरोना सैंपल पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप मचा है। जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने एहतियात बरतते हुए तीन इलाकों, मकान नंबर 604 शास्त्रीनगर सेक्टर-13, मकान नंबर 287 सराय बहलीम सोहराब गेट कोतवाली और हुमायूं नगर की हकीमुद्दीन मस्जिद से जमुना नगर रोड जियो टावर के सामने काले दरवाजे वाले घर का एक किलोमीटर का इलाका शनिवार सुबह आठ बजे से 30 मार्च की सुबह आठ बजे तक सील कर दिया है। क्रॉकरी व्यापारी के संपर्क में आने वालों की तलाश की जा रही है।

इंस्पेक्टर नौचंदी के अनुसार कोरोना पॉजिटिव इकराम उल हसन पुत्र अबुल हसन मूल रूप से मोहम्मद शेख साहिबान खुर्जा बुलंदशहर खुर्जा बुलंदशहर का निवासी है, जो अमरावती महाराष्ट्र में क्रॉकरी व्यापारी है। वह 19 मार्च की रात ट्रेन से मेरठ पहुंचा था। सबसे पहले वह शास्त्रीनगर सेक्टर-13 में अपनी ससुराल पहुंचा था। अगले दिन 20 मार्च को वह मेरठ में ही अपने रिश्तेदार की बेटी की शादी में शामिल हुआ था। 26 मार्च को तबीयत ज्यादा खराब होने के कारण उसकी पत्नी और परिवार के लोग उसे निजी डॉक्टर के पास ले गए थे। डॉक्टर ने उसे मेडिकल कॉलेज ले जाने की सलाह दी। इससे पहले इस व्यापारी को तीन निजी अस्पतालों में दिखाया जा चुका था। बाद में मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। पत्नी और परिवार के दो लोगों को वापस घर भेज दिया गया था।

यह भी पढ़ें: 
Meerut Lockdown: भूखी-प्यासी 114 किलोमीटर पैदल चलकर सहारनपुर से मेरठ पहुंची गर्भवती महिला, हालत बिगड़ी तो पसीजा पुलिस का दिल
... और पढ़ें

चीन से लौटे युवकों ने सुनाई आपबीती, बोले- हमने देखा वो मंजर, आप सबक लें और घर में ही रहें

चीन के वुहान प्रांत से कोरोना वायरस दुनिया भर में फैला। इस दौरान वहां कैसा माहौल था, किस तरह के उपाय किए गए, वहां के लोगों का रवैया कैसा था, इस पर अमर उजाला ने चीन से लौटकर आए लोगों से बात की और उनके अनुभव और आप बीती आपसे साझा कर रहे हैं, ताकि आप भी इस गंभीरता को समझें और घर में ही रहें। इन सभी का यही कहना है कि सरकार ने सही समय पर लॉकडाउन कर दिया है, लेकिन लोग इसकी गंभीरता नहीं समझ रहे हैं। 

भारत जैसा कदम चीन उठा लेता तो यह नौबत ना आती
शामली के कुडाना गांव के कई युवक चीन के शहर वुहान में योग का ज्ञान बांट रहे हैं। वहां से लौटे कुलदीप मलिक ने बताया कि वुहान में एक दिसंबर से ही कोरोना वायरस की शुरुआत हुई। 18 जनवरी तक तो उन्होंने भी योग क्लासेस की, लेकिन जब वहां मौतों का सिलसिला बढ़ गया तो 22 जनवरी को वहां लॉकडाउन की घोषणा की गई। सब मुश्किल में फंस गए घर में खाने को ज्यादा सामान नहीं था, जो बचा था दिन में थोड़ा बहुत खा कर पूरा दिन गुजारते थे। मन में इतना डर बैठ गया कि घर में भी मास्क लगाकर रहने लगे। यदि चीन सरकार भी भारत की तरह पहले ही लॉकडाउन का कदम उठा लेती तो ऐसी नौबत ना आती। चीन से आए कुडाना के विकास ने कहा कि हमारे देश की सरकार ने चीन से पहले लॉकडाउन का सही और सटीक निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें: 
CoronaVirus: मेरठ में रह रहे कोरोना पाॅजिटिव में मिले थे ये लक्षण, नमाज से लेकर निकाह में हुआ शामिल, सैकड़ों लोगों को संक्रमण का खतरा
... और पढ़ें

लॉकडाउन का उल्लंघन, पांच साल के बेटे संग चर्च की चोटी पर चढ़ा युवक, पुलिस की पिटाई था नाराज, तस्वीरें

lockdown

लॉकडाउन: रास्तों में फंसे यात्रियों को मिला रोडवेज बस का सहारा, लोगों ने ली राहत की सांस

लॉकडाउन के दौरान काफी समय से ट्रेनें और बसें नहीं मिलने से परेशान और रास्तों में फंसे यात्रियों को रोडवेज बसों का सहारा मिला। सहारनपुर डिपो से 35 बसों का संचालन रास्तों में फंसे यात्रियों के लिए किया गया। शनिवार को दिल्ली, गाजियाबाद, मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहित अन्य जिलों के यात्री यहां से बसों से रवाना हुए। 

दिल्ली के लाल कुआं के वसंत, लाल कुर्ती मेरठ के संतोष, मुजफ्फरनगर के शिव चौक निवासी विष्णु, मोदीनगर के अशोक कुमार, रोहटा (मेरठ) के संदीप सहित अन्य यात्रियों ने बताया कि वे यमुनानगर, जगाधरी और सहारनपुर की फैक्ट्रियों में काम करते हैं। मगर पिछले काफी समय से न तो ट्रेन मिल रही हैं और न ही बसें। वे यहां की सड़कों पर ही इधर- उधर भटकते रहे। उनके कुछ साथी पैदल भी निकले हैं। अब इन बसों से बड़ी राहत मिली। इन यात्रियों को सैनिटाइज कर बसों से निकाला।

यह भी पढ़ें: 
मेरठ में मिले चार नए कोरोना पॉजिटिव केस, 50 आइसोलेशन वार्ड में भर्ती, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

कुछ यात्रियों ने कहा यदि यह व्यवस्था एक सप्ताह पहले हो जाती तो इतनी परेशानी न उठानी पड़ती। इनके अलावा रायबरेली, कानपुर सहित कुछ अन्य जिलों के यात्री भी रहे, लेकिन इन्हें यहां से पहले दिल्ली तक ले जाया गया। रोडवेज एआरएम जगदीश सिंह ने बताया सहारनपुर डिपो की 35 बसों को रास्तों में फंसे यात्रियों के लिए संचालित किया है। ये बसें पहले दिल्ली जाती हैं। इस दौरान रास्तों के यात्रियों को लेकर उनके गंतव्यों तक पहुंचाती हैं। जब तक सभी यात्री कवर नहीं होंगे। तब तक यह सेवा जारी रहेगी।

आदमपुर से होकर निकले कई यात्री
यमुनानगर से सहारनपुर पहुंचे यात्री ब्रिजेश, संजीव, अशोक और शुभम ने बताया कि मेन हाईवे पर बार्डर से नहीं आ सकते थे। एक छोटे वाहन के सहारे आदमपुर होते हुए यहां आए, लेकिन पांच दिन से यहां सड़कों पर भटकते रहे। अब पहले स्टेशन आए और फिर बस अड्डे पर।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

Meerut Lockdown: भूखी-प्यासी 114 किलोमीटर पैदल चलकर सहारनपुर से मेरठ पहुंची गर्भवती महिला, हालत बिगड़ी तो पसीजा पुलिस का दिल

लॉकडाउन: चार दिनों से फंसे हैं 36 मेहमान, डीएम से लगाई मदद की गुहार, निकाह में हुए थे शामिल

मेरठ में लिसाड़ी रोड ईदगाह कॉलोनी में लड़की की शादी में आये 36 मेहमान पिछले चार दिनों से फंसे हुए हैं। खाद्य सामग्री खत्म होने के बाद परिवार मुश्किल दौर से गुजर रहा है। परिवार और फंसे मेहमानों ने डीएम मेरठ से मदद की गुहार लगाई है।

ईदगाह कॉलोनी निवासी मौ. अनवार मंसूरी की बेटी मोहसिना की शादी 21 मार्च को जाकिर कॉलोनी निवासी नईम से हुई। अनवार के घर पर अमेठी, रायबरेली और हरदोई से करीब 36 मेहमान आए हैं। जिनमें 10 बच्चे भी शामिल हैं। शुक्रवार को खाद्य सामग्री खत्म होने पर परिवार के सामने राशन की समस्या पैदा हो गयी है। उन्होंने डीएम से मदद की गुहार लगाई है। अनवार ने सभी मेहमानों की लिस्ट जारी कर उन्हें घर भेजने की अपील की है। 

यह भी पढ़ें: 
CoronaVirus: मेरठ में रह रहे कोरोना पाॅजिटिव में मिले थे ये लक्षण, नमाज से लेकर निकाह में हुआ शामिल, सैकड़ों लोगों को संक्रमण का खतरा

विकासपुरी में भी फंसे रुड़की और अलीगढ़ के पांच मेहमान फंसे हुए हैं। ये सभी विकासपुरी कॉलोनी में 21 मार्च को एक शादी समारोह में आए थे। जिसमें एहतेशाम, सुआलेहा सहित तीन महिलाएं शामिल हैं। एहतेशाम का कहना है कि प्रशासन को फंसे मेहमानों के बारे में संज्ञान लेना चाहिए। परिवार के लोग चिंतित हैं। ये सब अभी कब तक चलेगा।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

यूपी: छावनी क्षेत्र में लॉक डाउन तोड़ा तो सेना भी लेगी खबर, बिना पास के नहीं मिलेगी एंट्री 

मेरठ में पुलिस प्रशासन के साथ साथ अब सेना भी लाॅकडाउन को लेकर सख्त हो गई है। मेरठ के छावनी क्षेत्र में यदि कोई बिना पास पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। यही नहीं यदि कोई सिविलियन सड़क पर बिना वजह मिलता है तो सेना उससे सख्ती से निपटेगी।
 
मेरठ कैंट में पुलिस के साथ साथ सेना भी लाॅकडाउन का उल्लंघन करने वालों की खबर लेगी। सैन्य अधिकारियों के मुताबिक सब एरिया हेड क्वार्टर की तरफ से सेना के जवानों को अपनी यूनिट नहीं छोड़ने के आदेश दिए गए हैं। अगर कोई भी कैंट में अपनी यूनिट से बाहर जाता है तो उसे अपने अधिकारी से अधिकृत पास बनवा कर ले जाना होगा।

सेना के जवान के अगर परिवार में कोई बीमार है तो भी वह बिना पास के नहीं जा सकता है। अगर बिना पास के सेना का कोई जवान या अफसर बाहर सड़कों पर दिखा तो उसके खिलाफ सेना कार्रवाई करेगी। इसी के साथ लॉक डाउन में सरकार द्वारा निर्धारित समय को छोड़कर अगर कोई सिविलियन सड़क पर मिला तो सेना उससे सख्ती से निपटेगी। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us