विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019
Astrology Services

विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

23वां राष्ट्रीय युवा उत्सव 12 से लखनऊ में, 16 तक चलेगा 

23वां राष्ट्रीय युवा उत्सव 12 से 16 जनवरी तक राजधानी लखनऊ में आयोजित किया जाएगा।

22 नवंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

मेरठ

शुक्रवार, 22 नवंबर 2019

रालोद का ऐलान- 25 नवंबर तक ठीक नहीं हुआ सिस्टम तो सड़कों पर उतरकर करेंगे आंदोलन

बागपत में रमाला चीनी मिल के 27 मेगावाट के प्लांट की टरबाइन और शुगर हाउस में खराबी के कारण पेराई सत्र रफ्तार नहीं पकड़ पा रहा है। गन्ना लेकर पहुंचे किसान मुश्किल में हैं। दिल्ली-सहारनपुर हाईवे पर फिर जाम की स्थिति रही। रालोद के पूर्व विधायक वीरपाल राठी ने मिल अधिकारियों से जानकारी ली। एलान किया कि 25 नवंबर तक मिल का संचालन सुचारु नहीं हुआ तो रालोद कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर आंदोलन करेंगे। हाईवे जाम कर दिया जाएगा। वहीं, गन्ना आयुक्त संजय आर भुसरेड्डी ने भी मामले की जानकारी ली। 

बता दें कि सहकारी चीनी मिल रमाला की टरबाइन के पंप की खराबी ठीक नहीं हुई है। इसके अलावा शुगर हाउस में कई समस्याएं हैं। शीरे के टैंक भी पूरी तरह संचालित नहीं है। टरबाइन की खराबी के कारण मिल के लिए बिजली उर्जा निगम से लेनी पड़ रही है। शुगर मिल प्रबंधन का दावा है कि मिल करीब 40 हजार कुंतल की क्षमता से पेराई कर रही है, जबकि किसानों का कहना है कि मिल सिर्फ 10 से 15 हजार क्विंटल गन्ने की रोजाना पेराई कर रही है। रालोद के पूर्व विधायक वीरपाल राठी, रविंद्र मुखिया, डॉ ओमप्रकाश, राजेंद्र सिंह समेत अन्य किसानों ने उत्तम ग्रुप के उपाध्यक्ष प्रोजेक्ट हरनाम सिंह, कार्यवाहक प्रबंधक विनोद अग्रवाल से मिले। टरबाइन और शुगर हाउस का निरीक्षण किया। हरनाम सिंह ने कहा कि 25 नवंबर तक मिल पूरी क्षमता से पेराई शुरू कर देगी। पूर्व विधायक वीरपाल राठी ने कहा अगर तय समय में पूरी क्षमता से संचालन नहीं किया गया तो इसके बाद रालोद और किसान सड़क पर उतरकर आंदोलन करेंगे। चीनी मिल में महापंचायत की जाएगी। रूपेश चौधरी, सहंसरपाल, पुष्पेंद्र फौजी, विजयपाल बूढ़पुर, सुरेंद्र चौधरी, विवेक चौधरी मौजूद रहे।

जीएम प्रबुद्ध चौबे हुए बीमार, विनोद अग्रवाल पहुंचे
मिल के जीएम प्रबुद्ध चौबे ने बीमारी के कारण 24 नवंबर तक का अवकाश लिया है। उनकी जगह फेडरेशन ने लखनऊ से विनोद अग्रवाल को व्यवस्थाएं सुचारु करने के लिए भेजा है। गुरुवार को विनोद अग्रवाल ने ज्वाइन कर लिया और मिल का निरीक्षण किया।
... और पढ़ें

‘स्पेशल 26’ की तर्ज पर ठगी करने वाले गैंग ने उड़ाई पुलिस की नींद, इन खास लोगों को बनाते हैं निशाना

फिल्म ‘स्पेशल 26’ की तर्ज पर मेरठ में एक बदमाशों के गैंग ने मेरठ पुलिस की नींद उड़ा दी है। 10-15 दिन में ये एक वारदात करते और लाखों का सोना लेकर फरार हो जाते। हाल ही में सीसीटीवी कैमरे की फुटेज बदमाश कैद हो गए। 12 लाख रुपये कीमत का सोना मंगलवार को इसी गैंग ने फिर से लूट की और फरार हो गए। व्यापारी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज हुआ। 

उत्तराखंड के सितारगंज निवासी नैतिक अग्रवाल पुत्र गोविंद राम अग्रवाल की सराफ की दुकान सितारगंज में है। मंगलवार को सराफा कारोबारी नैतिक करीब 295 ग्राम सोने के जेवरात नील गली से लेकर वापस लौट रहे थे। घंटाघर पर धार्मिक यात्रा निकले के चलते वह पैदल ही जा रहे थे।

इसी दौरान बाइक पर दो बदमाश आए और उन्होंने खुद को पुलिस के अधिकारी बताकर चेकिंग के लिये रोक लिया था। चेकिंग की आड़ में नैतिक से सोना उड़ाया और फरार हो गए। इस मामले की रिपोर्ट बुधवार को देहलीगेट थाने में सर्राफा कारोबारी गोविंद राम की तहरीर पर दर्ज हुई। मंगलवार को सराफ ने बदमाशों से दहशत बताकर केस दर्ज कराने से इंकार किया था। 
... और पढ़ें

सहारनपुर: बेटे की शादी में मिला दहेज तो पिता ने पेश की मिसाल, बोले हमारे लिए 'दुल्हन ही दहेज'

मेरठ में लोहा व्यापारी की गोली मारकर हत्या, गोदाम में खून से लथपथ मिला शव

मेरठ में हापुड़ रोड पर पीएसी वाहिनी से कुछ ही दूर जमुना नगर कॉलोनी में गुरुवार रात लोहा व्यापारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। कबाड़ के गोदाम में व्यापारी का शव मिला। शव के पास से लाइसेंसी पिस्टल भी मिली है। पुलिस इसे आत्महत्या मानकर चल रही है।

करीम नगर निवासी मो. आजम (40) पुत्र हाजी मो. असलम लोहा व्यापारी था। आजम की गुरुवार शाम जैदीनगर निवासी कबाड़ी जाकिर से मोबाइल पर बात हुई थी। जिसके बाद आजम ने उसे जमुना नगर आने की बात कही। रात को आजम खरखौदा थाना क्षेत्र की जमुना नगर कॉलोनी में जाकिर के कबाड़ के गोदाम में पहुंचा। इस दौरान आजम की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या की सूचना पर एसपी क्राइम रामअर्ज, सीओ किठौर आलोक सिंह और खरखौदा पुलिस मौके पर पहुंची। जहां आजम का शव खून से लथपथ हालत में मिला, जबकि शव के पास ही आजम की लाइसेंसी पिस्टल भी मिली। 

उधर, आजम की मौत का पता चलते ही परिवार के लोगों में कोहराम मच गया। परिजन मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने गोदाम मालिक जाकिर से पूछताछ की। वहीं, आजम के परिजनों और अन्य लोगों ने घटना के खुलासे की मांग की। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसपी क्राइम का कहना है कि जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें: 
युवक की लाश मिलने से सनसनी, परिजनों ने पत्नी व उसके प्रेमी पर जताया हत्या का शक
... और पढ़ें
घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस

जबरन धार्मिक नारा लगवाने का आरोप, शिकायत करने पर चौकी इंचार्ज बोले- तबीयत खराब है सुबह आना

सहारनपुर जनपद के देवबंद में असामाजिक तत्वों ने एक समुदाय के व्यक्ति से जबरन धार्मिक नारा लगवाने की कोशिश की। पुलिस ने मामले की जांच करने की बात कही है।

नगर के मजनूवाला रोड निवासी इरतजा बुधवार रात खाना खाने के बाद टहल रहे थे। इरतजा ने बताया कि सरकारी अस्पताल के निकट बाइक सवार तीन युवकों ने उन्हें ताऊ कहकर संबोधित किया और रोक लिया। तीनों ने उनसे धार्मिक नारा लगाने को कहा। इरतजा ने मना किया तो वे उनका पीछा करते हुए आतंकित करने लगे। सुभाष चौक पर पहुंचने से पहले ही तीनों युवक फरार हो गए। इरतजा ने बताया कि रात में ही वह रेलवे रोड पुलिस चौकी इंचार्ज के पास पहुंचे और शिकायत की। 

यह भी पढ़ें: 
यूपी: बच्चों को पढ़ाकर लौट रहे इमाम से बदसलूकी, दर्जन भर अज्ञात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज, जांच शुरू

चौकी इंचार्ज ने तबीयत खराब होने का हवाला देकर सुबह आने को कहा। सुबह इरतजा ने पूरी बात एक वीडियो में रिकॉर्ड की, जो कि वायरल हो गई। ऐसे में पुलिस व खुफिया विभाग हरकत में आ गया और जांच शुरू कर दी। वहीं एसपी देहात विद्या सागर मिश्र का कहना था कि मामले को दिखवाएंगे।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

यूपी: भाजपा नेता समेत आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, प्लॉट हड़पने का आरोप

बागपत में धोखाधड़ी और जालसाजी कर अधिवक्ता के भूखंड का इकरारनामा कराने के मामले में पुलिस ने भाजपा नेता, उप निबंधक, बैनामा लेखक सहित आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

बड़ा बाजार बागपत निवासी अधिवक्ता जयप्रकाश शर्मा ने बताया कि उन्होंने वर्ष 1983 में शिवचरण से 200 वर्ग गज का प्लाट खरीदा था। इस भूखंड पर उनका कब्जा चल रहा है, जो कि नगर पालिका परिषद में भी उनके नाम से दर्ज है। शिवचरण ने शेष बची 450 वर्ग गज भूमि की वसीयत अपने बड़े बेटे अजब सिंह के तीन पुत्रों संजय, मनोज और सचिन के नाम कर दी। इसके बाद शिवचरण की मौत हो गई। अब तीनों भाई बेईमानी से उनका 200 वर्ग गज का भूखंड हड़पना चाहते हैं। तीनों भाइयों ने देशराज मोहल्ला निवासी भाजपा नेता भूपेंद्र सिंह, मवी कलां गांव निवासी दीपक धामा के साथ मिलकर जालसाजी कर उनके भूखंड का इकरारनामा 23 अप्रैल व 10 मई को भूपेंद्र सिंह के पक्ष में करा दिया। मनोज आदि ने भूपेंद्र सिंह से 15 लाख का चेक भी प्राप्त कर लिया।
... और पढ़ें

लोकसभा में गूंजा अपहृत युवती का मामला, सांसद बोले- मेरठ में चिंता का माहौल, पुलिस पर उठाए सवाल

मेरठ में कंकरखेड़ा से अपहृत युवती का मामला गुरुवार को लोकसभा में भी गूंजा। सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने शून्यकाल में यह मामला उठाते हुए मेरठ पुलिस की कार्यशैली पर सवाल भी खड़े किए। सांसद ने कहा कि युवती को पूर्व निर्धारित योजना के तहत नदीम ने उसका पासपोर्ट बनवाकर वीजा का प्रबंध किया। आशंका जताई कि युवती को नदीम दुबई लेकर गया है। 

स्पीकर से युवती की तलाश कराने की मांग करते हुए उन्होंने सदन को बताया कि क्षेत्र में चिंता का माहौल है। युवती एक प्ले स्कूल में पढ़ाती थी। पाकिस्तान निवासी नदीम युवती के संपर्क में था। चार नवंबर 2019 को ही युवती का पासपोर्ट बना था। आठ नवंबर की सुबह युवती स्कूल के लिए निकली थी, लेकिन घर नहीं लौटी। युवती के पिता ने थाने पहुंचकर सूचना दी पर पुलिस ने न तो तलाशने की कोशिश की और न ही रिपोर्ट लिखी। पीड़िता के परिजनों ने उनसे मुलाकात की। 

यह भी पढ़ें: 
बेबस पिता की गुहार, दुबई में करो तलाश, पाकिस्तानी युवक ने मेरी बेटी को लव जिहाद में फंसाया

इसके बाद मामला मेरठ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में लाया गया। उन्होंने यह भी कहा कि इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई में देरी की है। सरकार से अनुरोध है कि मामले की विस्तृत जांच कराकर युवती को बरामद कराने कराया जाए।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

चंद्रशेखर घर आया तो चली गई कमल गौतम की कुर्सी, बसपा सुप्रीमो को मिली थी शिकायत

लोकसभा में गूंजा अपह्त युवती का मामला
भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर का बसपा जिलाध्यक्ष कमल गौतम के घर आना उनकी कुर्सी ले बैठा। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कमल गौतम को पार्टी से निष्कासित कर दिया है और प्रेमचंद गौतम को जिलाध्यक्ष बना दिया है। कमल पर अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगा है। 

यह भी पढ़ें: 
भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर बोले- अपने हक की आवाज उठाने वाले को देशद्रोही करार रही सरकार

मुजफ्फरनगर जनपद में बसपा जिलाध्यक्ष पद पर बीते दो साल से लगातार अदला बदली हो रही है। कमल गौतम जिलाध्यक्ष पद पर थे, लेकिन दो अप्रैल 2018 के दलितों के आंदोलन के दौरान उन्हें जेल जाना पड़ा। उनके जेल जाने के बाद सतपाल को जिलाध्यक्ष बनाया गया। कुछ माह सतपाल के जिलाध्यक्ष रहने के बाद फिर से कमल गौतम की ताजपोशी कर दी गई। इस बीच भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर उन लोगों के घर पहुंचे जो दलित आंदोलन में जेल गए। इसमें वे कमल गौतम के घर भी गए। इसकी शिकायत बसपा सुप्रीमो तक पहुंची, लेकिन बीच के पदाधिकारी कमल गौतम का पक्ष करते रहे। इसी बीच बीते सात अक्तूबर को बसपा के पूर्व जोन इंचार्ज ब्रजेश कुमार लोहड्डा और विकास कुमार के नेतृत्व में कुछ लोगों ने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वता के चलते बसपा कार्यालय पर कमल गौतम के खिलाफ प्रदर्शन किया। इसकी शिकायत भी हाईकमान को हुई। हाईकमान ने कार्रवाई करते हुए कमल गौतम को हटाकर प्रेमचंद गौतम को जिलाध्यक्ष बना दिया है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

पंचायत का फरमान, लड़के पक्ष को छोड़ना होगा गांव, रिपोर्ट दर्ज होते ही निरस्त हो गई थी शादी

मुजफ्फरनगर में एक सप्ताह पूर्व पड़ोसी नाबालिग लड़के-लड़की की शादी को लेकर हुई पंचायत में पंचों ने लड़के पक्ष को गांव से बाहर जाकर रहने की सख्त हिदायत दी है। पंचायत में मौजूद एसओ को भी फैसले से अवगत कराया गया, जिस पर एसओ ने किसी को भी कानून का उल्लंघन नहीं करने की चेतावनी दी है।

एक गांव में एक-दूसरे से सटे मकान में रहने वाले नाबालिग लड़का-लड़की के परिजनों ने 13 नवंबर को शामली ले जाकर गुपचुप तरीके से उनकी शादी करा दी थी। तीन दिन बाद शादी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने पर ग्रामीणों में आक्रोश उत्पन्न हो गया था। लड़की के बाबा ने पौत्री और उनके माता-पिता के खिलाफ भौराकलां थाने पर नामजद तहरीर दे दी थी। बाल विवाह अधिनियम के तहत पुलिस ने मामले में रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद लड़की व उसकी मां तो गांव में ही रह रहे थे, जबकि लड़का पक्ष घर में ताला लगाकर रफूचक्कर हो गया था। 

वहीं गुरुवार को उक्त मामले को लेकर गांव में हुई पंचायत में दोनों पक्षों को भी मौजूद रहने को कहा गया, लेकिन उनमें से कोई नहीं पहुंचा। पंचायत में मौजूद वक्ताओं ने इस शादी को भारतीय संस्कृति के विरुद्ध बताते हुए कहा कि एक गांव में रहने वाले सभी लोग आपस में ताऊ, चाचा व भाई-बहन हैं। हिंदू धर्म में इस तरह की शादी पूरी तरह से नियम विरुद्ध है। गुस्साए ग्रामीणों ने लड़का पक्ष को गांव से बाहर जाकर रहने की कड़ी हिदायत दी। इस संबंध में एसओ विरेंद्र कसाना को भी पंचायत में बुलाकर अवगत करा दिया गया। पंचायत में मुख्य रूप से चौहल सिंह, पूर्व प्रधान सोमपाल, पूर्व प्रधान राहुल, प्रधान बालेंदर, मांगेराम, देवेंद्र, राजवीर, विक्रम व बिजेंदर समेत बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: 
पंचायत का अजीब फरमान, दो सगी बहनों के तलाक की लगाई 20 लाख कीमत, ये है पूरा मामला
... और पढ़ें

सेना के रिटायर्ड कैप्टन की हत्या की कोशिश, नकदी व कीमती सामान ले उड़े बदमाश

मुजफ्फरनगर जिले के गांव हरियाखेड़ा में घेर में सोए सेना से सेवानिवृत्त कैप्टन की गला दबाकर हत्या की कोशिश की गई। कैप्टन के अचेत होने के बाद बदमाश घेर में रखे संदूक के ताले तोड़कर उसमें रखी नकदी व अन्य सामान लेकर फरार हो गए। गुरुवार सुबह घेर पहुंचे परिजनों ने अचेत मिले कैप्टन को अस्पताल में भर्ती कराया।

कोतवाली क्षेत्र के गांव हरियाखेड़ा निवासी रूपसिंह सेना में कैप्टन थे। सेवानिवृत्त होने के बाद वें गांव में रहते हैं। उनका बड़ा बेटा रणवीर सिंह भी सेना में ब्रिगेडियर है। फिलहाल दिल्ली में तैनात है। वहीं, मंझला बेटा नरेंद्र सिंह गांव में ही रहता है, जबकि छोटा बेटा अरविंद सिंह एयरफोर्स में है। बुधवार देर रात कैप्टन रूप सिंह घेर में अकेले ही सो रहे थे। देर रात घेर में घुसे बदमाशों ने कैप्टन रूप सिंह पर हमला करते हुए गला दबाकर उनकी हत्या करने की कोशिश की। हमले में रूप सिंह के कान व नाक से खून निकलने के बाद वे अचेत हो गए, जिसके बाद बदमाशों ने उन्हें मरा समझकर छोड़ दिया और घेर में रखे संदूक को तोड़कर उसमें से नकदी व अन्य कीमती सामान लेकर फरार हो गए। 

यह भी पढ़ें: 
फिल्म ‘दृश्यम’ देखकर रची थी भाजपा नेता की हत्या की साजिश, ऐसे खुला खौफनाक राज, तस्वीरें

वहीं गुरुवार सुबह परिजन घेर में पहुंचे तो रूपसिंह को अचेत देख उनके होश उड़ गए। तत्काल उन्हें गांव में ही एक डॉक्टर को दिखाया गया, जिसने प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें रेफर कर दिया। इसके बाद परिजन उनको अचेतावस्था में ही मुजफ्फरनगर के एक निजी अस्पताल में ले गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। इंस्पेक्टर केपी सिंह का कहना है कि घटना की तहरीर नहीं मिली है। तहरीर आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

बीएचयू विवाद: सामने आई दिल की बातें...शीबा को खुश रखती है 'संस्कृत' तो सुशीला को 'उर्दू' से मोहब्बत

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के संस्कृत धर्म विद्या संकाय में प्रोफेसर डॉ. फिरोज खान की नियुक्ति को लेकर मचे विवाद पर देवबंद की शिक्षिका शीबा परवीन और सुशीला ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि भाषाएं किसी की मोहताज नहीं हैं। इसलिए भाषाओं को धर्म में कभी नहीं बांटा जाना चाहिए। 

कुलसत गांव निवासी सुशीला शर्मा देवबंद स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय नंबर-1 में तैनात है। वह पिछले करीब 23 साल से उर्दू की खिदमत कर बच्चों को उर्दू भाषा का ज्ञान करा रही हैं। उनका कहना कि 1994 में उनकी नियुक्ति हुई थी। उर्दू बीटीसी इंटेंस में उन्होंने जिला टॉप किया था। सुशीला ने बताया कि बचपन से ही उन्हें उर्दू से बेहद लगाव रहा है।

यह भी पढ़ें: 
अधिकारी ने पेश की मिसाल, दहेज में लिया सिर्फ एक पौधा, नवविवाहिता के संकल्प से खुश है परिवार
... और पढ़ें

मुजफ्फरनगर में महिला का कत्ल, खेत में मिले घसीटने के निशान, निर्वस्त्र पड़ी थी लाश

मुजफ्फरनगर में भोकरहेड़ी गंगा खादर खोला के जंगल में महिला की हत्या करके शव को गन्ने के खेत में फेंक दिया गया। महिला का निर्वस्त्र शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई। गले में रुद्राक्ष और मोती की माला के अलावा हाथ में कलावा बंधा होने से महिला के साध्वी होने की संभावना है। शव के निकट ही झाड़ियों में सफेद स्विफ्ट कार भी मिली है, जो हत्यारों की हो सकती है। दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर महिला की हत्या करने की आशंका जताई जा रही है। शव को खेत तक घसीटकर ले जाने के निशान मिले हैं। पुलिस ने डॉग स्क्वायड से घटनास्थल की जांच कराकर साक्ष्य जुटाए हैं। 

कस्बा भोकरहेड़ी-लक्सर मार्ग पर सोनाली नदी के निकट से भोकरहेड़ी और हाजीपुर के लिए खोले के बीच होकर कच्चा मार्ग जाता है। पुलिस को सूचना मिली कि खोले के निकट गन्ने के खेत में महिला का शव पड़ा हुआ है। थाना प्रभारी एमएस गिल पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने बताया कि मृतका के एक पैर में गोल्ड स्टार का जूता, ब्राउन कलर के मोजे, गले में दो रुद्राक्ष और तीन मोतियों की माला सहित गले में लाल व पीले रंग का स्टॉल लिपटा मिला है, इसके अलावा मृतका के हाथ में काला धागा और कलावा बंधा मिला। घटनास्थल पर घंटों तक आसपास गांवों के ग्रामीणों से पहचान का प्रयास किया, लेकिन मृतका की शनाख्त नहीं हो सकी। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतका की उम्र करीब 35 वर्ष बताई जा रही है।

यह भी पढ़ें: 
कितने बेखौफ हैं बदमाश, स्कूल संचालक की बेरहमी से हत्या, देखें घटनास्थल की तस्वीरें
... और पढ़ें

शादी समारोह से लौटते वक्त छेड़छाड़, फिर जमकर चले धारदार हथियार, संघर्ष में 12 से ज्यादा घायल

बिजनौर जनपद में विवाह समारोह से लौट रहे परिवार की महिला के साथ छेड़छाड़ के विरोध पर गांव हिदायतपुर टांडा में दो पक्षों में संघर्ष हो गया। संघर्ष में डंडे और धारदार हथियार चले और पथराव किया गया। दोनों पक्षों से 12 से ज्यादा लोग घायल हो गए, जिनमें छह की हालत गंभीर है। 

अफजलगढ़ थाना क्षेत्र के गांव टांडा हिदायतपुर में शाहिद पुत्र अब्दुल सत्तार की पुत्री के विवाह समारोह में काफी लोगों ने शिरकत की थी। एक परिवार जब शादी समारोह में शामिल होकर घर लौट रहा था, तो रास्ते में ही गांव के नसीम पुत्र शब्बीर आदि ने छेड़छाड़ कर दी। विरोध करने पर गाली गलौज हुई, जिसके बाद दोनों पक्षों के लोग आमने सामने आ गए और मारपीट शुरू हो गई। संघर्ष में लाठी- डंडे, धारदार हथियार चले और जमकर पथराव हुआ। 

यह भी पढ़ें: 
बवाल की 12 तस्वीरें... फिर जलने से बचा सहारनपुर, पुलिस पर जमकर पथराव, सीओ समेत कई घायल

बता दें कि संघर्ष में दोनों पक्षों के मोहम्मद उमर, अखलाक, मोहम्मद राशिद, सलमान, नसीम व महबूब गंभीर रूप से घायल हो गए। लगभग डेढ़ दर्जन लोग पथराव के चलते चोटिल हुए हैं। ग्रामीणों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। कुछ ही देर में पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायलों को सरकारी अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया। घायलों में मोहम्मद उमर, अखलाक, राशिद, नसीम, महबूब और सलमान को जिला अस्पताल रेफर किया है। दोनों पक्षों की ओर से पुलिस को तहरीर दी गई है। कोतवाल आशुतोष कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election