विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

जानें कौन हैं श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास

राम मंदिर आंदोलन के अहम किरदार रहे अयोध्या के श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास को राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया गया है। जानें, उनके बारे में:

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

मुरादाबाद

बुधवार, 19 फरवरी 2020

रजा लाइब्रेरी-राज्यपाल

रामपुर। प्रदेश की राज्यपाल एवं रामपुर रजा लाइब्रेरी बोर्ड की अध्यक्ष आनंदीबेन पटेल ने कहा कि रामपुर रजा लाइब्रेरी विश्व का अनमोल खजाना है। लाइब्रेरी में 150 चित्रित पांडुलिपि हैं और यहां के संग्रह के बारे में बताया जाता है कि 205 ताड़पत्र, 3000 कैलीग्राफी, अन्य संग्रहित कैलीग्राफी और सभी पांडुलिपियों का अपना अलग-अलग महत्व है। हम चाहते हैं कि इन पांडुलिपियों और पुस्तकों का गुजराती में अनुवाद हो, ताकि वहां के लोगों को भी ज्ञान के इस सागर का लाभ मिल सके।
राज्यपाल सोमवार सुबह रजा लाइब्रेरी पहुंची। यहां पर उन्होंने प्रदर्शनी का अवलोकन किया और पुरस्कार वितरण समारोह में शिरकत की। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि रामपुर रजा लाइब्रेरी विश्व में एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है और इसके संग्रह से लाभान्वित होने के लिए इधर-उधर से शोधार्थी आते हैं। कहा कि सुमेर चन्द द्वारा लिखित रामायण की प्रतिलिपि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भेंट की थी, जो लाइब्रेरी के लिए गौरवान्वित होने वाली बात है। कहा कि मैंने अनेक स्थानों की लाइब्रेरी को देखा है, लेकिन इतनी भव्य लाइब्रेरी पहली बार देखी है। यहां बहुत ही अद्भूत रचनाएं हैं। उन्होंने कहा कि एशिया की सबसे बड़ी लाइब्रेरी देश की 130 करोड़ जनता के लिए गौरवान्वित होने की बात है।
यहां ऐसे कार्यक्रम भी होने चाहिए, जिसमें छोटे-छोटे बच्चों को लाभ मिले। बहुत से ऐसे लोग हैं, जिन्होंने किताबें लिखने में अपनी जिंदगियां खपा दीं। बोली कि लाइब्रेरी एवं यूनिवर्सिटी का तालमेल होना चाहिए। विद्यार्थियों को दिशा देने के लिए लाइब्रेरी का बहुत महत्वपूर्ण योगदान होना चाहिए। ये बहुत ही खूबसूरत लाइब्रेरी है। यहां समाहित ज्ञान का प्रकाश पूरी दुनिया में फैले। उन्होंने रजा लाइब्रेरी की पुस्तकों और पांडुलिपियों के गुजराती अनुवाद किए जाने की भी इच्छा जताई, जिससे गुजरात के लोगों को भी इसका लाभ मिल सके। कार्यक्रम का संचालन डॉ. जीएस ख्वाजा ने किया। इससे पहले राज्यपाल ने लाइब्रेरी में संग्रहीत रामायण की पेंटिंग एवं दुर्लभ पांडुलिपियों की प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।
... और पढ़ें

हादसे में मारे गए लोगों को देखने जा रहे थे पड़ोसी, ट्रैक्टर की टक्कर से दो की मौत एक घायल

रामपुर के अजीमनगर थाना क्षेत्र में सोमवार को एक भीषण सड़क दुर्घटना हो गई। हादसे में एक महिला सहित चार लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज गया है।

गंज थाना क्षेत्र के काशीपुर गांव निवासी मुकेश और विमल दोनों सोमवार को बाइक पर सवार होकर एक फैक्टरी में मजदूरी करने जा रहे थे। इसी दौरान जौहर अस्पताल और केसरपुर गांव के बीच अचानक उनके सामने एक डंपर आ गया, जिसकी चपेट में आने से दोनों की मौत हो गई।

दोनों की मौत की सूचना मिलने पर गांव में कोहराम मच गया। पास में ही रहने वाले राजेंद्र को जब इसकी सूचना मिली तो उन्हें लगा कि हादसे में उनके किसी रिश्तेदार की मौत हो गई है। इसपर राजेंद्र अपनी चाची और मां को मोटरसाइकिल पर बैठाकर घटनास्थल की ओर जाने लगे। 

मौके पर पहुंचने के कुछ दूर पहले उनकी बाइक सामने से आ रही गन्ने से भरी ट्रैक्टर से टकरा गई। इस हादसे में राजेंद्र और उसकी चाची की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि मां घायल हो गईं। घायल मां को उपचार के बाद घर लाया गया। 

घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस आ गई और चारों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। डंपर और ट्रैक्टर चालक मौका पाकर फरार हो गए हैं।
... और पढ़ें

रामपुर पहुंचीं राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, रजा लाइब्रेरी का किया अवलोकन

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल सोमवार को रामपुर पहुंचीं। वहां एयरपोर्ट पर धूमधाम से उनका स्वागत किया गया। इसके बाद रजा लाइब्रेरी पहुंचकर वहां लगे स्टेचू के बारे में उन्होंने जानकारी ली। राज्यपाल ने रजा लाइब्रेरी में दुर्लभ पांडुलिपियों के साथ ही पेंटिंग के रूप में सरंक्षित रामायण का भी अवलोकन किया । 

इसके साथ ही राज्यपाल रजा लाइब्रेरी द्वारा आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में भी शामिल होंगी। इससे पहले राज्यपाल के पुलिस लाइन में आगमन पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया, इस दौरान राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख, भाजपा जिलाध्यक्ष अभय गुप्ता आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

राज्यपाल आनंदीबेन से शिकायतकर्ता बोला- लेखपाल मांग रहा घूस

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की 40 मिनट की क्लास में अफसरों का होमवर्क काम नहीं आया। राज्यपाल के सवाल सिलेबस से बाहर देख अफसर बगलें झांकते रहे। मंगलवार दोपहर एक बजकर नौ मिनट पर राज्यपाल सदर तहसील के सभागार में पहुंचीं तो अधिकारियों के चेहरे पर इत्मीनान था, लेकिन संपूर्ण समाधान दिवस में आई फरियादियों की शिकायतों पर अफसरों का टालमटोल वाला रुख देख राज्यपाल का रुख सख्त होता चला गया। आखिर में उन्होंने बोल ही दिया कि ये समाधान नहीं है, ऐसे नहीं चलेगा।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने अफसरों एक व्यक्ति ने राज्यपाल से शिकायत की कि एक लेखपाल घूस मांग रहा है। उद्योग विभाग में एक सेवानिवृत्त व्यक्ति के लगातार बैठने और दलाली करने की शिकायत भी राज्यपाल के सामने रखी गई। डीएम ने शिकायतकर्ता को समझाने की कोशिश की, लेकिन वह दस्तावेज लेकर अपनी बात पर अड़ा रहा।

कुछ शिकायतों पर अफसरों के तर्क वितर्क से नाखुश राज्यपाल ने मंत्री और मुख्यमंत्री रहते हुए अपने अनुभवों का जिक्र कर सिस्टम को आइना भी दिखाया। राज्यपाल ने संदेश दिया कि अफसरशाही के तौर तरीकों से वह अंजान नहीं हैं।

उन्होंने कहा, "मैं जब राजस्व मंत्री थी तो कलेक्टर को फोन करने के बाद चिट्ठी लेकर फरियादी को कलेक्टर के बताए समय पर भेजती थी, लेकिन फिर भी फरियादी को बाहर खड़ा करके इंतजार कराया जाता था।

राज्यपाल ने कहा कि फरियादी की जगह अधिकारी खुद को उनके स्थान पर रखकर सोचें कि यदि वह होते तो उन्हें कितनी तकलीफ होती। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने नीचे के स्टाफ के साथ प्रोटोकॉल को भूलकर महीने में एक बार जरूर बैठें। राज्यपाल ने संपूर्ण समाधान दिवस में 15 फरियाद सुनीं और ज्यादातर पर वह अफसरों के रवैय्ये से नाखुश दिखीं।

उन्होंने कहा कि सरकार के सर्कुलर में हर प्रश्न का उत्तर नहीं होता। अधिकारी व्यवहारिक रूप से जनता की समस्याओं का समाधान संवेदनशील होकर करें। ताकि जनता के बीच समाज की आबरू बढ़े। बुजुर्गों को फोन करके उनका हालचाल पूछें, इससे सरकार के कामकाज का फीडबैक भी मिलेगा। कई शिकायतों पर अधिकारियों के टालमटोल वाले रवैय्ये पर राज्यपाल ने कड़े शब्दों में कहा कि ऐसे नहीं चलेगा। 
 
... और पढ़ें
उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

यूपी: राज्यपाल के कार्यक्रम में हंगामा, परेशान युवक ने रो-रोकर बताई अपनी मजबूरी

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल अपने दौरे के तीसरे दिन अमरोहा जिले के गजरौला पहुंचीं। यहां जुबिलेंट में हेलीकॉप्टर से उतरते ही कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान, विधायक मंडी धनौरा राजीव तरारा, जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने उनका स्वागत किया। इसके बाद राज्यपाल कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के निरीक्षण के लिए गईं।

इस दौरान कार्यक्रम में गजरौला निवासी एक व्यक्ति ने हंगामा खड़ा कर दिया। यह शख्स अपनी मां की पेंशन बनवाने के संबंध में राज्यपाल से मुलाकात करना चाहता था, लेकिन पुलिस प्रशासन ने राज्यपाल से शख्स को मुलाकात नहीं करने दी। इसके बाद नाराज शख्स ने मौके पर जमकर हंगामा किया। 

हंगामा करने वाला व्यक्ति गजरौला बस्ती के मोहल्ला नईपुरा का रहना वाला है। शख्स का नाम चंद्रसेन भगत है। उसकी मां का नाम राम दुलारी है, लेकिन समाज कल्याण डिपार्टमेंट में तैनात बाबू पेंशन कार्ड बनवाने के लिए रिश्वत की मांग करते हैं। इस वजह से उसका ऑनलाइन फॉर्म रिजेक्ट कर दिया गया है। 

व्यक्ति का कहना है कि वह काफी परेशान है उसकी कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है, इसलिए वह राज्यपाल से मिलने आया था, लेकिन यहां से भी उसे भगा दिया गया है। परेशान चंद्र सेन भगत ने काफी हंगामा किया जिसके बाद पुलिस ने उसको वहां से आगे नहीं बढ़ने दिया। रो रो कर उसने मीडिया कर्मियों को अपनी दास्तां बताई और बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार में ऐसा ही होता है।

उसने रो-रोकर यह भी बताया कि बिना पैसे लिए यहां समाज कल्याण डिपार्टमेंट में कोई काम नहीं होता जिन लोगों के पास सब कुछ है उनके पेंशन कार्ड बने हुए हैं, लेकिन उस गरीब की कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है।
... और पढ़ें

मुरादाबाद में बोलीं उपराज्यपालः पुस्तकें ही इंसान की सर्वश्रेष्ठ मित्र

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा कि पुस्तकें ही मनुष्य की सर्वश्रेष्ठ मित्र होती हैं। इन्हीं से बच्चों को संस्कार भी आते हैं। उन्होंने सर्किट हाउस में ‘पढ़े मुरादाबाद-बढ़े मुरादाबाद’ कार्यक्रम की समीक्षा की। कहा कि सरकारी स्कूलों के शिक्षक समाजसेवियों की मदद से स्कूलों में लाइब्रेरी में किताबों की उपलब्धता बढ़ाएं। बच्चों को उनकी रुचि के हिसाब से अधिक से अधिक किताबें पढ़ने को मिल सकें।

राज्यपाल के आह्वान पर 11 फरवरी को पढ़े मुरादाबाद बढ़े मुरादाबाद कार्यक्रम आयोजित हुआ था। मुरादाबाद जिले के 462 शैक्षिक संस्थानों (निजी एवं सरकारी) के एक लाख 19 हजार 203 विद्यार्थियों ने अपने कैंपस में सामूहिक रूप से अपनी रुचि का किताबों का अध्ययन किया। जिला विद्यालय निरीक्षक प्रदीप कुमार द्विवेदी ने कार्यक्रम आयोजन का डिजिटल प्रजेंटेशन दिया और आगामी कार्यक्रम की रूपरेखा बताई।

राज्यपाल ने कहा कि भविष्य में आयोजन में विद्यार्थियों और शैक्षिक संस्थानों की संख्या बढ़ाई जाए। स्कूलों में बच्चों में अध्ययन करने की प्रवृति बढ़ाई जाए। स्कूलों में लाइब्रेरी बनाई जाएं। उनमें बच्चों की पसंद और सामान्य ज्ञान की किताबें उपलब्ध कराई जाएं। इसके लिए सामाजिक लोगों की मदद ली जाए। कार्यक्रम में 54 स्कूलों के प्रधानाचार्य और पांच स्कूलों के 15 बच्चे भी शामिल रहे।

राज्यपाल ने बच्चों ने कार्यक्रम के अनुभव पूछे। इस दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक द्वितीय मिथलेश कुमार, जिला समन्वयक माध्यमिक शिक्षा विकास कांत गुप्ता और बबीता मल्होत्रा समेत कई स्कूलों के प्रधानाचार्य मौजूद रहे।
... और पढ़ें

राज्यपाल की सुरक्षा में चूक, काफिले की गाड़ियां आपस में भिड़ीं

मुरादाबाद। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की सुरक्षा में मंगलवार को चूक जैसी स्थिति बन गई। रामपुर से मुरादाबाद आते वक्त राज्यपाल की फ्लीट में अफसरों की गाड़ियां घुस आईं। इसी आपाधापी में जब ब्रेकर पर फ्लीट की एंबुलेंस ने ब्रेक लिए तो पीछे से आ रही डीएम रामपुर की गाड़ी अपने आगे चल रही एएलएस (एंडवास लाइफ सपोर्ट) में घुस गई। पीछे से एक के बाद एक तीन गाड़ियां आपस में टकराती चली गईं। डीएम की कार काफी क्षतिग्रस्त हो गई। कार मौके पर ही छोड़ डीएम को एसपी की कार में बैठना पड़ा।
नियमानुसार वीवीआईपी फ्लीट में एएलएस के पीछे पुलिस की टेल कार होनी चाहिए। हरे झंडे वाली इस कार में पुलिस कर्मी और पुलिस का पूरा संचार सिस्टम होता है। टेल कार फ्लीट की अंतिम कार होती है और इससे पहले कोई भी कार नहीं घुसनी चाहिए। लेकिन रामपुर में डीएम - एसपी समेत कई अफसरों की गाड़ियां फ्लीट के बीच में घुस गईं। राज्यपाल आनंदी बेन को मुरादाबाद लाने के लिए पूरी फ्लीट मुरादाबाद से ही रामपुर गई थी। मंगलवार सुबह जब राज्यपाल का काफिला रामपुर से मुरादाबाद के लिए निकला तो फलीट हाईवे पर पहुंचने से पहले ही स्पीड ब्रेकर पर एंबुलेंस ने ब्रेक लिया। इसकी वजह से उसके पीछे चल रही एएलएस ने भी ब्रेक लगाया। टेल को पीछे छोड़ते हुए एएलएस के पीछे डीएम रामपुर और एसपी की कार आ रही थी। डीएम की कार एएलएस में घुस गई। जोरदार टक्कर से काफिले में हड़कंप मच गया। डीएम की कार में पीछे से एसपी की कार घुसी और पीछे से टेल कार एसपी की कार में जा घुसी। इन गाड़ियोें से महज तीन कार के फासले पर आगे राज्यपाल की कार थी। काफिले की कारों के आपस में भिड़ने से अफसरों के हाथ पांव फूल गए। डीएम ने अपनी क्षतिग्रस्त कार मौके पर ही छोड़ी और एसपी की कार में बैठकर आगे रवाना हुए। एएलएस भी पीछे से क्षतिग्रस्त हुई है।
मंगलवार की सुबह राज्यपाल का गांधी समाधि पर कार्यक्रम था। उसके बाद उन्हें मुरादाबाद जाना था। मुरादाबाद से फ्लीट भी आ गई थी। गांधी समाधि से जब राज्यपाल का काफिला चला तो फ्लीट की टेल कार ने मेरी कार को तेजी से ओवरटेक किया। सामने स्पीड ब्रेकर था। टेल कार ने ब्रेक लिया तो मेरी कार उसमें टकरा गई। मेरे कार के पीछे चल रही कई कारें आपस में टकरा गईं। हादसे में किसी को चोट नहीं आई। राज्यपाल के काफिले का कोई वाहन नहीं टकराया था और न ही कोई बाहरी कार पलीट के बीच में आई थी।
आंजनेय कुमार सिंह, डीएम रामपुर
... और पढ़ें

आजम खां के बेटे के जन्म प्रमाण पत्र व दो पैन कार्ड मामले में अग्रिम जमानत पर सुनवाई आज

रामपुर सांसद आजम खां, पत्नी डॉ. तंजीन फात्मा और बेटे अब्दुल्ला आजम खां की अग्रिम जमानत पर आज यानी बुधवार को सुनवाई होगी। तीनों लोगों पर दो अलग-अलग मामलों में अग्रिम जमानत के लिए मंगलवार को सुनवाई होनी थी, लेकिन अब यह सुनवाई आज होगी।

भारतीय जनता पार्टी के नेता आकाश सक्सेना ने अब्दुल्ला आजम खां के दो-दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के मामले में आजम खां, डॉ. तंजीन फात्मा और अब्दुल्ला आजम खां के खिलाफ सिविल लाइंस थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले में सपा सांसद आजम खां, अब्दुल्ला आजम और तंजीन फात्मा की ओर से अग्रिम जमानत याचिका दायर की है। 

इसके अलावा पैन कार्ड के मामले में भी सपा सांसद आजम खां और विधायक अब्दुल्ला आजम ने अग्रिम जमानत याचिका दायर की है। इन दोनों मामलों में एमएलए-एमपी स्पेशल कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई मंगलवार को होनी थी। 

सहायक शासकीय अधिवक्ता राम औतार सैनी ने बताया कि मंगलवार को अधिवक्ताओं की हड़ताल के कारण सुनवाई नहीं हो सकी थी। इसके साथ ही पासपोर्ट मामले में भी अग्रिम जमानत पर सुनवाई बुधवार 19 फरवरी को होगी।
... और पढ़ें

अमरोहा में किशोरी को बंधक बनाया, दुष्कर्म की आशंका

जोया (अमरोहा)। निजी स्कूल प्रबंधक के बेटे ने बेहोश कर किशोरी को बंधक बना लिया। होश आने पर किशोरी ने खुद को कमरे में पाया। वह कमरे की जाली पर खड़ी होकर रोने लगी। रोने की आवाज सुनकर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुुंच गई। किशोरी को बंधक मुक्त कराया। किशोरी के साथ दुष्कर्म की आशंका जताई जा रही है। मामले में तहरीर नहीं दी गई है। दोनों पक्षों में समझौते की बात चल रही है। वहीं किशोरी का जाली के पास खड़े होकर रोने का वीडियो वायरल हो रहा है।
यह घटना डिडौली कोतवाली क्षेत्र के एक गांव की है। यहां पर फेरी लगाने वाले मजदूर का परिवार रहता है। उसकी नाबालिग बेटी गांव के एक निजी स्कूल में कक्षा छह की छात्रा है। सोमवार की शाम मजदूर की पत्नी किसी के घर गेहूं लेकर गई थी। किशोरी भी साथ गई थी। इस दौरान वह स्कूल में पहुंच गई। जबकि मां घर लौट आई। यहां स्कूल प्रबंधक का बेटा पहले से मौजूद था। आरोप है कि उसने किशोरी को गिलास में पानी पीने को दिया। इसके बाद वह बेहोश हो गई। आरोपी उसे कमरे में ले जाकर मुंह पर कपड़ा बांधकर उसे बंधक बना लिया। होश में आने पर किशोरी कमरे की जाली के पास खड़ी होकर रो रही थी। रोने की आवाज सुनकर पड़ोसियों की भीड़ जमा हो गई। जानकारी होने पर किशोरी की मां भी पहुंच गई। मां ने 112 डायल पुलिस को घटना की जानकारी दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। किशोरी को कमरे से बाहर निकाला। इस दौरान किशोरी के हाथ में चोटों के निशान भी मिले। दुष्कर्म की आशंका जताई जा रही है।
112 डायल पुलिस को कमरे में किशोरी के बंद होने की सूचना मिली थी। इसके बाद पुलिस ने उसे बाहर निकाला। किशोरी मानसिक रूप से कमजोर बताई जा रही है। उसका मेडिकल कराने के लिए उसकी मां से तहरीर मांगी गई थी, लेकिन उन्होंने कार्रवाई कराने से मना कर दिया है।
शरद मलिक, इंस्पेक्टर, कोतवाली डिडौली
... और पढ़ें

यूपी: राज्यपाल की सुरक्षा में चूक, काफिले में घुसी गाड़ी, डीएम समेत कई अफसरों के वाहन क्षतिग्रस्त

रामपुर दौरे के दूसरे दिन उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की सुरक्षा में बड़ी चूक की खबर सामने आ रही है। मंगलवार को राज्यपाल के काफिले में अचानक एक तेल की गाड़ी जा घुसी। घटना में डीएम रामपुर समेत कई अफसरों के वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। 

मालूम हो कि राज्यपाल सोमवार को ही रामपुर पहुंचीं हैं। यहां पहुंचकर उन्होंने कई कार्यक्रमों में शिरकत किया। रामपुर पहुंचते ही वो रजा लाइब्रेरी के पुरस्कार वितरण व विज्ञान प्रदर्शनी में शामिल हुईं। इसके बाद उन्होंने 'पढ़े रामपुर-बढ़े रामपुर' कार्यक्रम में हिस्सा लिया। 

उन्होंने तमाम स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ बैठक की। वहीं आज सुबह राज्यपाल ने डॉ एपीजे अब्दुल कलाम विशिष्ट अतिथि गृह में एसपी संतोष कुमार मिश्रा के निर्देशन में सलामी स्वीकार की। जिसके बाद वह गांधी समाधि पहुंचीं। 

उन्होंने मनोहरपुर स्थित जूबलैंड एग्रीकल्चर रूरल डेवलपमेंट सोसाइटी प्रशिक्षण केंद्र का निरीक्षण किया। राज्यपाल ने प्रशिक्षण केंद्र में जैविक सब्जियों व औषधियों के स्टॉल भी देखे। 
... और पढ़ें

यूपी: रामपुर दौरे के दूसरे दिन गांधी समाधी पहुंचीं राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल मंगलवार को भी रामपुर दौरे पर हैं। आज उन्हें रामुपर के डॉ एपीजे अब्दुल कलाम विशिष्ट अतिथि गृह में एसपी संतोष कुमार मिश्रा के निर्देशन में सलामी गार्ड द्वारा सलामी दी गई। इसके बाद वह गांधी समाधि पहुंचीं। इस दौरान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के साथ वरिष्ठ कांग्रेस नेता बेगम नूरबानो भी मौजूद रहीं।

इसके बाद उन्होंने मनोहरपुर स्थित जूबलैंड एग्रीकल्चर रूरल डेवलपमेंट सोसाइटी प्रशिक्षण केंद्र का निरीक्षण किया। राज्यपाल ने प्रशिक्षण केंद्र में जैविक सब्जियों व औषधियों के स्टॉल भी देखे। राज्यपाल ने गाय के गोबर से कंडे, गमले और जैविक खाद बनाने वाली यूनिट भी देखी। यही नहीं आनंदीबेन राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की ओर से महिला स्वंय सहायता समूह द्वारा लगाए गए स्टॉलों का भी निरीक्षण करने पहुंचीं।  

इस दौरान राज्यपाल ने छात्रों और किसानों के साथ बातचीत भी की। केंद्र के निदेशक दीपक मेंदीरत्ता ने राज्यपाल को केंद्र में जैविक सब्जियों और ट्रेनिंग की जानकारी दी। यह केंद्र 2010 से चल रहा है। यहां कृषि में स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद कृषि में स्वरोजगार अपनाने वाले छात्रों को भारत सरकार की योजना के अंतर्गत ट्रेनिंग दी जाती है। 

ट्रेनिंग के बाद 20 लाख तक का बैंक लोन मिलता है, जिसमें 44 प्रतिशत तक सब्सिडी है। केंद्र में अब तक 2735 छात्रों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है। सालाना 1200 किसानों को भी ट्रेनिंग दी जाती है।
... और पढ़ें

अमरोहा जेल के लिए जमीन फाइनल ः डीआईजी

मुरादाबाद। डीआईजी जेल मुख्यालय लव कुमार सोमवार को मुरादाबाद पहुंचे और उन्होंने जिला कारागार का निरीक्षण किया। वह करीब दो घंटे तक कारागार रहे। इस दौरान उन्होंने जेल का कोना कोना खंगाला। इस दौरान उन्होंने बंदियों की समस्याएं भी सुनीं। इसके बाद उन्होंने बताया कि जेल में 652 बंदियों को रखने की क्षमता है। जबकि वर्तमान 3092 बंदी हैं। मुरादाबाद के अलावा संभल और अमरोहा के बंदी भी इसी जेल में रखे गए हैं। उन्होंने बताया कि अमरोहा में जेल के लिए जमीन फाइनल हो गई है। जल्द ही जमीन की खरीद की जाएगी। सोमवार सुबह उन्होंने अमरोहा में जेल के लिए प्रस्तावित जमीन देखी। उनका कहना है कि जमीन लगभग फाइनल हो गई है। शासन और मुख्यालय को रिपोर्ट सौंपी जाएगी। अमरोहा में जेल निर्माण होने से मुरादाबाद की जेल में बंदियों की संख्या कम हो जाएगी। मुरादाबाद में भी नई जेल के लिए मूंढापांडे के सिरसखेड़ा में जमीन खरीदी गई है। जल्द ही जेल निर्माण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि खाने की गुणवत्ता में सुधार के निर्देश दिए गए हैं। साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिए जाएं। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के 26 जेलों में रेडियो जेल की स्थापना की गई है। रेडियो जेल में केवल गाने ही नहीं, समाचार भी सुनाए जाते हैं। इसके अलावा बंदियों की अनुरोध पर गाने भी सुनाए जाते हैं। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us